ट्रिपल एक्स बीएफ फिल्म

छवि स्रोत,ववव देसी सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

स्टील बोतल: ट्रिपल एक्स बीएफ फिल्म, इस बात से भाभी एकदम से शर्मा गईं … और बोलीं- चलो दूर हटो … अभी मुझे काम कर लेने दो, दिन में होली खेलेंगे.

96 सेक्सी

मैंने घूमना चाहा तो उसने मेरे सर फ्लशटैंक में दबा कर जानवर बना गया. full hd सेक्सीमैंने भी जरा बेशर्म होकर अपना पल्लू ढलका दिया, जिससे मेरी चूचियों की दरार उजागर हो गई.

उसकी दोनों बड़ी लड़कियां कहीं बड़ी कोठियों में घर का काम करती थीं औऱ वहीं पर कोठी के सर्वेंट क्वाटर में रहती थीं. सेक्सी पिक्चर करनाउसने अपनी जवान बेटी की खातिर मीना को दोबारा समझाया लेकिन मीना अपनी दुराचारी हरकतों से बाज नहीं आई.

पांच मिनट बाद वो थक गयी तो मुझे ऊपर आने को कहा और दो मिनट आराम से करने के बाद वो फिर बोलने लगी- थोड़ा जोर से करो!स्पीड बढ़ाते हुए मैंने उससे फिर से पूछा तो बोली- प्लीज और जोर से करो.ट्रिपल एक्स बीएफ फिल्म: क्या लगाती हो आप अपनी गांड के छेद में मेरी रूपा भाभी?भाभी- चल साले लौड़े, हरामखोर, सबको मेरी गांड ही नजर आती है.

वैसे तो मेरी एक कहानी यहाँ बहुत पहले भी प्रकाशित हो चुकी है उसका नामफुफेरी भाभी की चुदाईहै.काम ख़त्म होने के बाद उन्होंने अपने हाथ में कुछ थैले लिए और मेरे पीछे फिर बैठ गई.

सेक्सी चोदी पिक्चर - ट्रिपल एक्स बीएफ फिल्म

मामाजी ने मुझे चाय बना कर पिलाई और मुझे सोने के लिए कहा, लेकिन मैं तो मामी को देख रहा था.उन्होंने अपना हाथ सोनल की चूत के ऊपर से निकाला और सिर नीचे करके रूम के बाहर चले गए.

यह सोच कर कि मेरा दोस्त और उसकी गर्ल फ्रेंड किस तरह से झाड़ियों के पीछे एक दूसरे के साथ मस्ती कर रहे होंगे. ट्रिपल एक्स बीएफ फिल्म फिर मैं जल्दी से चाची के पास गया और चाची की गांड मारने के लिए तैयार हो गया.

उसे घर से बाहर निकलने का बहुत ही कम मौका मिलता था इसलिए वो खूब खुल कर मस्ती कर रही थी.

ट्रिपल एक्स बीएफ फिल्म?

एक दिन उन्होंने मुझे सुबह कॉल किया कि आज बच्चे दादी के घर जा रहे हैं अपने डॅडी के साथ और रात में लौटेंगे. उसने अपनी दोनों टांगें हवा में उठा दीं और मेरी तरफ देख कर बोली- लो मेरी जान कर लो अपने मन की. मगर फिलहाल मेरी चूत में इतनी गर्मी भरी हुई थी कि बस चाह रही थी कोई उसके अंदर लंड को डाल दे, चाहे लंड छोटा हो या बड़ा.

मैं कहना तो ये चाहता था कि तुम्हारी गांड देख कर किसी का खड़ा हो गया, तो प्राब्लम हो जाएगी. मैं 6 बजे शाम में निकल गया और मेट्रो स्टेशन के बाहर इन्तजार करने लगा. चिन्टू हालांकि उसके भाई हरक लाल की बीवी का भांजा था, फिर भी ननकू सोचता था कि यह जवान लड़का उसके भाई के घर में इतना ज्यादा क्यों आता है.

सुबह करीब 4 बजे आंटी का स्टेशन आ गया, तो मैं उनके साथ डिब्बे से बाहर आ गया. उसने 3500 के कपड़े लिए, जिसके पैसे मैंने दिए और उसके 500 भी उसको दे दिए. मैं भाभी की चुत के दाने पर अपनी जुबान लगा कर उससे खेलने लगा और बीच में काटने भी लगा.

हम दोनों शादी से पहले भी बहुत बार चुदाई कर चुके थे, इसलिए हम लोगों में कोई शर्म नहीं थी. मैंने अपनी दो उँगलियाँ उनकी गीली चूत में घुसा दीं, और अंदर बाहर करने लगा.

मैं उसके पास चिपक के बैठ गया और समझाने लगा और उसको जगह जगह टच करने लगा जैसे कि नार्मल हो जाता है.

पर भैया की शादी में जब से देखा, आप दूसरे की हो रही थीं … पर मेरा लंड तो आपकी चूत के लिए एकदम तैयार था.

मैं अब्बा हज़ूर के पास से आ रहा हूँ, कश्मीर वाली नूरी फूफी (मेरी खाला) और तुम्हारे अब्बा भी उनके पास बैठे हैं और सारा वाले मामले के बाद नूरी फूफी (मेरी खाला) कह रही हैं कि सुबह सारा और ज़रीना से मिल कर आयी थी, दोनों बहुत खुश और संतुष्ट हैं. जो भी मैं तुम्हें सिखाऊंगी, तुम्हें अच्छे से सीखना होगा ताकि आगे चल के तुम्हें काम करने में आसानी हो. उसके बाद शिखा ने मेरे अंडरवियर को भी खींच दिया और मेरा लंड उछल कर बाहर आ खड़ा हुआ.

लेकिन जैसा मैंने ऊपर बताया था कि मैं शुरूआत मामी से करवाना चाहता था, इसलिए मुझे थोड़ी राह देखनी पड़ी. शावर से गिरता पानी मामी जी के स्तनों से होता हुआ चूतड़ों तक ओर फिर नीचे चुदाई के साथ लंड से होता हुआ गांड के अन्दर बाहर निकल रहा था, जिससे पच पच पच की आवाजें बाथरूम में गूंज रही थीं. मैं दिखने में स्मार्ट और क्यूट सा बन्दा हूँ, लेकिन मेरा औजार 7 इंच लम्बा और मोटा है.

सोनम की मम्मी ने मेरे पूरे घर का निमंत्रण किया, तो शाम को थोड़ा सा सज धज के मैं मम्मी लोगों के साथ, पड़ोस की भी लेडीज और लड़कियां सबके साथ वहां गई थीं.

वो बोली- हां मुझे तो चुदाई की भूख है, तुम्हारे अंकल को सुगर होने के कारण वे अब मुझे मजा नहीं दे पाते हैं. मैंने एक दो मीटिंग में बहुत अच्छा काम किया था इसलिए मैनेजर सर को मेरे ऊपर काफी भरोसा हो गया था. यह कहानी कुछ 2 साल पहले की है, जब मैं दिल्ली पुलिस की कोचिंग के लिए अपना गांव छोड़कर सोनीपत शहर में अपनी बुआ के घर रहने चला गया था.

मैंने भाभियों और सहेलियों से सुना था, वही मन में आ गया कि अब मामा मुझे चोदेंगे. कुछ पल के बाद उन्होंने साथ में पड़े अपने अंडरवियर को वापस पहन लिया. फिर धीरे से वो निकालता, फिर थोड़ा और अन्दर, फिर बाहर, ना जाने कैसे पर इससे एक सनसनाहट सी पैदा होने लगी और दर्द कम और मज़ा ज़्यादा आने लगा.

आहहहह … क्या मस्त एहसास था वह …फिर उसने मेरे दूसरे निप्पल को अपनी उंगलियों में पकड़कर मसला और अपने दूसरे हाथ से मेरी चुत को गाउन के ऊपर से ही मसलने लगी.

तभी एक दिन बृजेश ने कहा- आज मेरे एक कलीग निकुंज का जन्मदिन है और वो कुछ दोस्त निकुंज के फार्म हाउस पर पार्टी – शार्टी करने वाले हैं तो तू भी चल. पैंटी के ऊपर से ही चूत को किस कर दिया और साथ ही उसकी जांघों पर भी किस करता रहा.

ट्रिपल एक्स बीएफ फिल्म भाभी भी मेरा साथ देने लगी और मैंने उनके गले को चूमते हुए अपने हाथों को पीछे ले जाकर उनकी गांड को दबाना शुरू कर दिया. जब उसकी सहेली सुधा को पता लगा कि उसकी सहेली ममता आयी हुई है तो वह दौड़ी चली आई.

ट्रिपल एक्स बीएफ फिल्म उसके बाद मैंने हाथों को आगे लाकर उनकी एक चूची को एक हाथ से दबाना शुरू कर दिया और दूसरा हाथ उनके सिर के पीछे ले जाकर उनको अपनी तरफ खींचते हुए किस करने लगा. जीवन में उस दिन पहली बार एक हसीना की चूत का रस चाटने के मौका मिला … आआआआ आहहहह हहह!उस समय की मेरी जो मनोदशा थी वह बयान करने के लिए मेरे पास शब्द नहीं है.

जैसे कि ‘अभी क्या पता चलेगा बच्चू, जब दिन भर ऑफिस में क़लम घिसने के बाद रात में बीवी की धान कुटाई करनी पड़ेगी, तब समझोगे.

హిందీ సెక్స్ వీడియో హిందీ సెక్స్ వీడియో

फिर मैंने अपनी बेटी को जहाँ जहाँ किस किया, उसने भी मुझे वहां वहां किस किया. लेकिन अपना माल मेरी चूत में ही निकालना! वादा करो?मैंने भी वादा कर दिया. इस पोज की चुदाई में प्रशांत कई बार नीचे से अपना लंड उछाल कर ठोकर दे रहा था, जिस पर नीना आंख दिखा कर उसे ऐसा करने से मना कर देती.

उन्होंने तुरंत मुझसे पूछा- दो दिन से सोनू तुम्हारे पास आ रही है, तुमने उससे बात की?मैंने भाभी को बताया कि आप मस्त रहो वह कभी भी यह नहीं बताएगी कि हम पिक्चर देखने गए थे, मैंने शॉर्ट में भाभी को बता दिया कि मैंने उसकी चूत में लंड डाल दिया है. अभी बमुश्किल ढाई इंच लंड ही अन्दर गया होगा और उनके पसीने निकलने लगे. सुधा ने ऊपर आते ही ममता के ऊपर प्यार लुटाना शुरू कर दिया जिसका सबूत उनकी चुम्मा-चाटी की आवाजें बाथरूम के अंदर तक आकर दे रही थी.

और दोनों हाथों से उसकी गोल गांड को पकड़ा और लंड को दे दनादन उसकी चूत में पेलने लगा.

मैंने कहा- बेटा, तू इतना डर क्यों रहा है? अब डरने की कोई बात नहीं है. उन्होंने मुझे बताया कि उनके पति ऐसा कभी नहीं करते हैं, बस कुछ झटके लगाते हैं और सो जाते हैं. उसके बाद मेरे दोस्त ने अपनी गर्लफ्रेंड को आंखों से ही इशारा सा किया.

यह कहकर भाभी हंसने लगी।मैंने कहा- नहीं, रियली आप लाल रंग की साड़ी में अप्सरा लग रही हो भाभी जी।भाभी- रहने दो, आप तो ये बताओ कि क्या खाना है?मैं- जो भी आप प्यार से खिलाओ हम तो खा लेंगे। वैसे अभी तो दूध पीने की इच्छा है. जब वह लंड हिला रही थी, तो मेरा भी दिमाग खराब होने लगा और मैंने उसको बिस्तर पर पटक दिया. अब मैंने अपने लंड को उसकी चुत पे सैट करके एक तेज झटका दिया, जिससे मेरा लंड उसकी चुत में सरसराते हुए घुस गया और वो जोर जोर से कामुक आवाजें निकालने लगी- आह ओह मीनूऊऊ … और तेज चोदो … मुझे चोद दो … आह फाड़ दो मेरी चुत को … आह मजा आ गया … मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा है … आह आज तो तुम मेरी चुत का भोसड़ा बना दो.

भाभी मेरे लौड़े को ऐसे चाट रही थी कि वह अभी इसको काट कर खा ही जाएगी।मैंने भी उत्तेजित होकर उनके गले तक पूरा लौड़ा डालकर उनकी सांस को रोक दिया। फिर लंड को बाहर निकाला तो उसके साथ भाभी की लार भी बाहर आई. वह कुछ पल मेरे नंगे बदन पर ऐसे ही पड़ा रहा और फिर उसने जब लंड को बाहर निकाला तो मुझे फिर से जलन सी हुई.

मुझसे अब रहा नहीं गया और मैंने अपना हाथ अपनी सहेली की जांघों पर रखा, उसकी हालत भी बिल्कुल मेरी ही तरह थी. उनकी मादक सिसकारियां बता रही थीं कि मेरी हरकतें उन्हें अच्छी लग रही हैं. जब भी मेरे पति नहीं होते थे राजन मुझसे दूसरे मकान की चाबी ले जाता था.

फिर दीदी की सासू माँ बोलने लगी- क्या चल रहा था वो? और कब से चल रहा है?हम दोनों चुप थे.

मैंने कहा- ठीक है!और रात को अपने कमरे की तरफ से दरवाजा खुला छोड़ दिया ताकि वो जब चाहे खोल कर अंदर आ जाए. जब मैंने उस आदमी से पैसों के बारे में पूछा तो मेरी खुशी का ठिकाना न रहा. थोड़ी ही देर में मम्मी जी फिर से मेरे रूम में आईं, ऐसा लग रहा था, जैसे मुझसे ज्यादा मेरी पहली चुदाई के लिए मम्मी जी उतावली हैं- कल्पना, मैंने इन दोनों से बात की व्हाट्सएप्प पर और बाकी डिटेल्स भी ले लिया है इनसे … अब तू बता किसे फिक्स करूँ तेरे लिए?मैंने एक बार फिर से दोनों लोगों की फ़ोटो को देखा और मम्मी जी के व्हाट्सएप की बातचीत भी पढ़ी.

वह जब सब बता रही थी, तो आपको क्या बताऊं … मेरी चूत का क्या बुरा हाल हो गया था. चार दिन बाद मैंने पानीपत से सुबह की बस पकड़ी और दिल्ली बस स्टैंड आ पहुंचा.

लगभग 10 मिनट की जोरदार चुदाई के बाद मेरा माल भी गिरने लगा और मैं वहीं ढेर होकर उसके पीठ पे लेट गया. अनुष्का वर्मा की गांड फिल्मों में ज्यादा बड़ी दिखाई नहीं देती मगर वह मेरे मोटे लंड को आराम से खा गई. यह कहते हुए उसने अपने मुलायम होंठों की पंखुड़ियां मेरे होंठों पे फैला दीं.

हद बफ हिंदी

मैंने राजन को जाने से रोक लिया और उसको वहीं पर खड़ा रहने के लिए बोल दिया.

भाभी ने अपनी दोनों टांगे चौड़ी की और मेरी तरफ मुंह करके मेरे खड़े लंड को अपनी चूत पर सेट करके मेरी गोदी में बैठ गई, जिससे सारा लंड उनकी चूत में गच्च से बैठ गया. उसकी लम्बाई के अनुसार उसका वजन भी ऐवरेज ही था और उसकी जांघें भी ज्यादा भारी नहीं थी जबकि मुझे मोटी-मोटी जांघें ज्यादा आकर्षित करती हैं जैसी कि संजीव की थी. वो- चाचू के आपने क्या किया … अपना सारा माल अपनी भतीजी की चूत के अन्दर ही गिरा दिया.

मामा का इतना कहना हुआ कि तभी उस जगह पर कोई बुड्ढा सा आदमी अचानक अन्दर आ गया. मेरी कमीज़ में घुसे हुए उनके हाथ से उन्होंने एक चूची को और ऊपर खिसका दिया और चूची पर जड़े मोती जैसे गुलाबी दाने को शर्ट से बाहर निकाल लिया. हिंदी सेक्सी पिक्चर नंगेउसका फिगर ऐसा है कि जो भी उसे देख ले, वह उसे चोदने के ख्वाब देखने लगे.

फिर वो शर्माती हुई अपने कपड़े उतारने लगी।सारा वाकयी में बहुत सुंदर थी।लेकिन मैं अब कहाँ रुकने को था, मेरे लिए इसकी चूत यानि कि मेरी जन्नत का दरवाजा खुल गया था. मेरी सेक्स कहानी के पहले भागजिगोलो बनते ही मिली मजेदार कस्टमर-1में आपने पढ़ा कि कैसे ऑनलाइन एक भाभी से मेरा संपर्क हुआ और उसने मुझे अपने शहर में बुलाया जिगोलो सर्विस के लिए.

दो इंच लंड अन्दर गया और उसकी आंखों से आंसू निकल आये, पर वो भी चुदक्कड़ थी, दर्द सहती रही, पर कुछ कहा नहीं. मैंने उसकी जीन्स के अंदर ही उसकी गांड को सहलाना शुरू किया और वह मज़े से मेरे लंड को चूस रही थी. कुछ देर के बाद भाभी खुद ही अपनी गांड को नीचे से उठा कर मेरे लंड की तरफ धकेलने लगी.

ननकू दो दिन ही घर में रहा, इन दो दिनों में मीना काफी खुश रही क्योंकि उसके तन की भूख को ननकू रात भर पेल कर शांत कर देता था. अपनी कमर और पीठ पर मेरे हाथ का स्पर्श पाकर भाभी और बेचैन सा होने लगीं और मुझसे कसके लिपट गईं. उसको भी शायद इसका अहसास हो गया था; उसने झट से सीधे होकर अपने आप को ठीक कर लिया.

चाय पीते हुए भैया बोले- अमित, मैं और तू मेरे एक दोस्त के यहां होली खेलने चलते हैं, वहीं से दारू पी कर और मूड बना के आएंगे.

स्कूटर पर हेमा भाभी मेरे साथ बेफिक्री से बैठी थी, उनके पट, चुचे और शरीर बार बार मुझसे टच हो रहे थे जिससे मेरा शरीर रोमांच से भर गया था. उसका लिंग मेरी योनि के ऊपर था, जो मुझे पैंट के ऊपर से चुभने सा लगा था.

भाभी नंगी ही अपनी गांड मटकाते हुए उठकर किचन से लिक्विड चॉकलेट का डिब्बा ले आई. आप सभी ने मेरी पिछली कहानीदोस्त की बहन की चूत चोद दीको बहुत पसंद किया और बहुत से पाठकों के मेल भी आए।मैं इस कहानी को अब आगे भी बताना चाहता हूँ. मेरी सारी बातें सुनकर प्रीति संतुष्ट और उत्साहित सी दिखी और अब उसने ठान लिया कि वो अपने पति का मन बदल देगी.

मैं उसके बाद मामी को ऊपर वाले कमरे में ले गया और कमरे को अन्दर से बंद कर दिया. तंग आकर मैंने बॉटली खोली और सोच रहा था कि फिर से दोस्तों की महफ़िल जमाऊं … लेकिन कल का आलम याद करके मैंने वो विचार छोड़ दिया. समय बीतता गया और मैं पढ़ाई के लिए काफी समय से मामा के घर से दूर रहा.

ट्रिपल एक्स बीएफ फिल्म समझी?” उन्होंने गुर्राकर कहा।सर प्लीज़ …” मैंने सहम कर उनकी आँखों में देखा. मैंने रिया से पूछा- कैसा लगा?रिया ने इतना ही कहा- मादरचोद बहुत बड़े लंड वाले थे और बहुत देर तक चोदा … साली गोली का असर भी खत्म हो गया था.

चूत चुदाई चूत

अगले कई मिनट की इस दमदार चुदाई में कब रात के 10 बज गए, पता ही नहीं चला. वो बोली- तुम सिगरेट भी पीते हो?तो मैंने कहा- मैं तो और भी बहुत कुछ पीता हूँ. उसने अपनी चूत पर कोई महक लगाई हुई थी जिससे उसकी चूत को चूसने में मुझे मीठा सा स्वाद मिल रहा था.

अचानक से हुए इस हमले के लिये वो तैयार नहीं थी, उसकी आंखें बाहर निकलने को हो गईं और वो रोने लगी. मैं बोला- पायल तूने मुझे भी पागल बना दिया है, अब मुझसे रहा नहीं जा रहा. शादी की सुहागरात वीडियो सेक्सीजैसे ही मैंने मामा को बांहों में कसा, मामा बोले- बंध्या, तू तो चुदवाने को एकदम पागल हो रही है … तू अब चिंता नहीं करना, मैं सब इंतजाम कर दूंगा.

मैं- हां मामी जी, चली जाएं, सुबह सुबह थोड़ा टहलने से आपको भी अच्छा लगेगा.

मिसेज पाटिल एक हाथ से मेरा लंड भी आगे पीछे कर रही थीं और मैं भी उनकी चुत में उंगली करने लगा था. उसकी चूत में इतना अधिक रस भर गया था कि मुझे अपनी जीभ में नमकीन मलाई सी आती महसूस हो रही थी.

चाची ने मुझे देखा और पूछने लगीं- क्या बात है … आज सुबह सुबह यहाँ कैसे?मैंने भी जवाब दिया- वो चाची … बस जॉगिंग पर जा रहा था कि पैर में दर्द सा होने लगा. अब आगे:मैं उसके मुँह में ही झड़ गया और थोड़ी देर तक मैंने लंड को मुंह में ही रहने दिया और उसने मुझे जोर से धक्का देकर हटा दिया और थोड़ा वीर्य पी गयी मेरी प्यारी बहन. एक दिन मैंने उससे पूछा- कभी किस किया है?वो बोला- नहीं … नहीं किया अभी तक.

ऐसा करने से उसकी चूत बाहर को आ गई तो मैंने भी वक्त बर्बाद न करते हुए लंड को चूत पर घुमाना चालू कर दिया.

फिर मैं उनके मम्मों को दबाने लगा और साथ ही मैं भाभी के गले पे लगातार किस कर रहा था. चाची सुबह सुबह उठ गईं और रोज़ की तरह स्कूल के लिए तैयार होने के लिए बाथरूम में चली गईं. अब रिया केवल पैन्टी में थी, तो जो शूट कर रहा था, वो बोला- रूको … अच्छे से शूट करने दो कि पैन्टी में कैसी लग रही है.

सेक्सी जवानी कातभी अन्दर से सोनम की मम्मी ने आवाज दी, तो सोनम अन्दर अपने आंगन में गई और आशीष को बोली- आप दोनों बात करो भैया, मैं आई. एक दिन हेमा भाभी ने मुझसे पूछा- राज भैया! आपको स्कूटर चलाना आता है?मैंने कहा- जी हां आता है.

सेक्सी फिल्म हिंदी गाना

अब मैं उनका मोबाइल नहीं छूती हूँ। लेकिन तुम लोगों को मिस करती हूँ बहुत रात को।उन्होंने कहा- तू अपने पापा का मोबाइल से किया कर अगर मम्मी ने मना किया है तो?तो मैंने कहा- नहीं यार, पापा से और डर लगता है. मैं जिस जगह पर शुरू में काम करने लगा था वहाँ पर मेरी एक मैनेजर भी थी. उन्होंने एक दिन पूछा- क्या जो गांव में मोहल्ले में चर्चा है … वह सच है?तो मैंने सर झुका लिया.

हमारा स्नानागार ज्यादा बड़ा नहीं था, इसलिए इस तरह से पेशाब करना संभव नहीं था कि वो मेरे पीछे कुत्ते की तरह झुक कर मेरी योनि चाट सके. मेरी चूत पहले से ही गीली हो चुकी थी इसलिए लिंग आराम से अंदर चला गया. उसकी योनि जल्दी ही एक बार फिर काम रस से भर गई, तो उसने कहा- अब और मत तड़पाओ, अब अपना लिंग मेरी योनि में डालो.

मेरा दिल तो भरा नहीं था इस अधूरी चुदाई से, पर वो मना कर रही थी तो मैं कुछ नहीं कर सकता था. इतना कहकर वो अपने घर चली गयी।उन 3 दिनों में मैंने भाभी की गांड भी मारी और अच्छा चुदाई का दौर चला। मुझे अब जब कभी भी मौका मिलता है, मैं भाभी की चुदाई करता हूँ। उनका गुलाम बनकर, कभी सेवक बनकर और कभी कुत्ता बनकर।और जब भी मैं चुदाई करता हूँ भाभी की चूत का गोल्डन रस, मूत जरूर पीता हूँ. पूरी बात जानने के लिए पढ़ें मेरी कहानीभाई की कुंवारी साली की सील तोड़ीआशीष का शक सही था, पर मैंने उससे सब छुपा लिया.

क्यों आप नहीं करते क्या? आपकी उम्र भी तो 55 साल पार ही होगी, ऊपर से आपकी मैडम भी रूप की धनी हैं।घोष बाबू- अरे कहाँ सर, कितने साल हो गए ये सब किये हुए … अब तो बस बिज़नस में ध्यान रहता है।मैं- ये तो बहुत गलत बात है. मैंने तौलिया उठाकर बॉथरूम के बाहर से आवाज लगाई और अपना हाथ दरवाजे के अन्दर ले गया.

खैर … 15 मिनट की धकापेल चुदाई के बाद वो झड़ गई और मेरे सीने पर गिर गई.

ये सब बोलते बोलते उसने मेरा सिर अपनी जांघों से जकड़ लिया और तेज तेज सांसें लेने लगी. सेक्सी वीडियोदेशीमुझे लंड लिए एक महीना हो गया था, तो मुझे थोड़ा दर्द सा हुआ जिसकी वजह से चुत ने लंड को कस लिया. माधुरी दिक्षित की सेक्सी वीडियो दिखाओमैं उसके ऑफर को सुन कर पहले तो दंग रह गया … बाद में यह सोच कर कि हाथ लगी मुर्गी को ऐसे कैसे चला जाने दूँ … और बस उसके साथ अन्दर चला गया. जिस शहर की वो थी, उसी शहर में एक उच्च अधिकारी बनकर आना एक सम्मान की बात है, अब शायद रंग उसकी तरक्की में आड़े नहीं आएगा.

थोड़ी ही दूर चले थे कि एक बड़ी सी गाड़ी बगल से निकली उसमें कुछ लौंडे बैठे थे.

कल्पना भाभी चुदी चुदाई होतीं, तो खुद ही लंड के लिए अपनी चूत खोलकर बैठ जातीं. अब मेरा और मैडम का बदन काफी भारी भारी हो रहा था, तो हमने पहले एक चाय और हल्का नाश्ता किया. मैंने जल्दी से हाथ हटाया, तो उसने बोला- क्या हुआ?मैंने सोते हुए नाटक किया और नींद में बोला कि मेरा हाथ आपके नीचे हो गया था.

मैंने अपना सारा माल उसकी चूत में ही निकाल दिया और ऐसे ही उसके ऊपर लेटा रहा. मैंने प्रोग्राम बनाया, फिर कोमल और मैं उन दोनों के साथ एक वाटर फॉल की ट्रिप पर चले गए. इतना सुनते ही मैंने कंप्यूटर पर ‘तुम मिले …’ फ़िल्म के रोमांटिक गाने लगा दिए.

बीपी फिल्म देखना

अजय जा चुका था, मैं बेड पर बैठ गया और मीना की तरफ देखते हुए उसके सर को सहलाने लगा. आप देविका जी को ले लीजिये, मैं अपनी मिसेज को ले लेता हूँ, हो सके तो शंकर जी और कौशल्या जी को भी ले लिया जाए. कैसा लग रहा है? मतलब कोई दिक्कत तो नहीं है ना?” उन्होंने नितंब पर अपनी पकड़ थोड़ी ढीली करते हुए कहा।जी … नहीं…” मैंने जवाब दिया … मेरी टाँगें काँपने सी लगी थी.

और वो धीरे धीरे लंड के ऊपर नीचे होकर चुदने लगी और आह आहहह उहहह उहह उफ उफफ करने लगी.

अब मैं उसकी चूत के भगनासा को अपनी उंगलियों की बीच में रखकर दबाने लगा.

मैं भी ओकेज़नली पी लेता था इसलिए नवीन के कहने पर मैं भी उनके साथ शामिल हो गया. आपने मेरे बारे में पूछा, मेरा साहस बढ़ाया, तब मुझे लगा कि आप वो शख्स हो सकते हैं जिसको मैं अपना पहला पुरुष मान सकूं, ऐसे में जब आप ने मेरा हाथ पकड़ा तो मैं पिघल सी गई क्योंकि इतने दिनों से अंदर की छिपी भावनाएँ, ज्वालामुखी बनकर सब बाहर आ गया और जब आप पहल करने में हिचकिचा रहे थे तो मुझे आप पर प्यार सा आ गया और बस फिर हो गया. फोटो फोटो फोटो सेक्सीथकहार कर मैंने जाने के लिए ऑटो को आवाज दी, तो मुझे एक अनजान नंबर से कॉल आयी.

मेरा मन कर रहा था कि वो अभी इसी वक्त अपने लंड को मेरी चूत में डाल के मेरी आग को बुझा दे. मैंने भी बेशर्म बनते हुए अपनी पेंट में हाथ डाल कर अपने लंड को एक दो बार मसला. पलट कर देखा, तो वो अपनी रूमाल को कुत्ते की तरह ही झुक कर नाक से टटोल टटोल कर सूंघ रहा था.

उसको मैं भाभी के मुँह से मुँह लगाकर पूरा चाट गया। उनके पूरे शरीर को कुत्ते की तरह चाटने लगा।भाभी- चाट साले कुत्ते, चाट, आह … आह … उह … उह … की आवाजें भाभी के मुंह से निकलने लगी. फिर धीरे धीरे जैसे जैसे मैं मोनिका की चूत को अपने मुँह में भर कर कभी चूसता, कभी दांतों से काटता, वैसे वैसे मोनिका का जो हाथ, मेरे बालों को सहला रहा था, अब वो मेरे बालों को पकड़ कर मेरा सर अपनी चुत मैं डालने की कोशिश कर रहा था.

अपनी बीवी की यह घिनौनी हरकत देख ननकू से रहा नहीं गया और उसने लाठी उठा ली और अपनी नंगी बीवी मीना को खूब पीटा.

उसे सूंघते हुए सुखबीर बहुत खुश हुआ और बोला- और सारिका जी कितनी मादक सुगंध है आपकी योनि से निकलती हर चीज़ की … और करिए न!पर उस एक धार के बाद और नहीं निकल सकी. उसने कहा- मुझे रास्ते से रिसीव कर लेना!फिर मैं गया और उसको मेन रोड से लेकर आया. लेकिन मैं तो ऊपर से लगा हुआ हुआ था पूरी जोश से उसे पेलने में! मेरा लंड जब जोर जोर से भाभी की चुत के अंदर बाहर होता तो इंदु की चूचियाँ हिलती तो मुझे और अधिक आनंद आता.

ट्रक ड्राइवर का सेक्सी वीडियो यहां बैठकर खाने की व्यवस्था थी, तो जहां मैं बैठी थी, आशीष हर सामान मीठा खीर सब मेरी थाली पर ज्यादा ज्यादा डाल रहा था. वह लेडी भी लगभग 30 साल की थी और वह भी बहुत ही सुंदर, गोरी, थोड़े छोटे कद और गुदाज शरीर की थी.

मैं मीना के चुप पड़े होने का कारण उसकी शर्मिंदगी मान रहा था, किंतु वो तो हैंगओवर से परेशान थी. कुछ देर बाद उनको अच्छा लगने लगा और दोनों ने लिप किसिंग करके मेरे लंड की क्रीम को बड़े मज़े से चाटना शुरू कर दिया था. कुछ देर बाद सुदीप ने मुझे नीचे से नंगा करके अपनी गोद में बैठा लिया.

काजल की सेक्सी फिल्म

मैंने उसके होंठों को अपने होंठों में दबा लिया और और अपनी जीभ उसके मुँह में डाल दी. ये बात उस वक़्त की है, जब वो कॉलेज के दिनों में मेरे पास नजदीक आई थी. प्लान के मुताबिन ऊषा को पानी का गिलास लेकर अंदर जाना था और चौखट पर पैर लग कर गिरने की एक्टिंग करनी थी.

गली से बाहर निकलते समय ब्रेकर पर उछलने से मामी ने मुझे पकड़ लिया और अब वो मुझसे सट कर बैठ गईं. पर चपड़ चपड़ की आवाज साफ सुन रही थी मैं।दीदी बुरी तरह तड़पकर लगभग चिल्लाने लगी- जल्दी चोदो मुझे … बर्दाश्त नहीं हो रहा.

कुछ देर तक ऐसे ही चोदने के बाद उसने अपनी मलाई मेरे मुंह में ही छोड़ दी.

मैंने बगैर कपड़ों के अपने फोटोग्राफ उन्हें भेजे और उनसे उनके नंगे फोटोग्राफ मेल करने को कहा. मुझे शक होने लगा और मैं तुरंत उठ कर मामा जी के कमरे की तरफ जाने लगी. मैंने पूछा कि जो आज समझाया था वो समझ आ गया था?तो उसने बतय- पूरा नहीं आया!और स्माइली भेज दी शर्माने वाली.

मेरे पहले चुम्बन का क्या गज़ब का जवाब मिला था मैं तो उसके चूमने की अदा पर ही घायल हो गया था. तभी अचानक से चाचाजी ने मेरी कमर को मजबूती से पकड़ लिया और नीचे से जोर जोर से झटके मारने लगे. उसके बाद हम नंगे ही एक दूसरे की बाँहों में सो गये।उसके बाद तो जब भी मौका मिलता हम अपनी चुदाई चालू कर देते थे। फिर मैंने उसकी गांड भी मारी। उसकी गांड को चोदने की कहानी मैं कभी और बताऊंगा.

अब तो मैंने अपना कमरा खाली कर दिया था और सर के साथ ही उनके रूम में ही शिफ्ट हो गई थी.

ट्रिपल एक्स बीएफ फिल्म: अगले 5 महीने बाद तीन जून को आशीष को सतना आना था … क्योंकि पालिटेक्निक के उसके सेमेस्टर एग्जाम एक जून को खत्म होने थे. फिर उसने मुझे आंख मारते हुए कहा- या शायद कुछ बड़ा सा कांटा चुभ गया होगा.

एक रात मैंने पति से आखिरकार कह दिया- क्यों न आप अपनी कमजोरी के बारे में किसी डॉक्टर को दिखा लेते?इस बात पर पति इतने क्रोधित हो गए और कहने लगे- इतने साल में इस उम्र में तुम्हें अब कमी दिख रही है, दो बच्चे क्या ऐसे ही हो गए?उन्होंने मुझे उल्टा पुल्टा बहुत सुनाया. फिर उसने मुझसे पूछा- ये बताओ तुम अभी कहां पर हो?मैंने कहा- मैं तो अभी काम कर रहा हूँ।उसने कहा- तो एक काम करो, कि मेरे घर पर आ आजो, हम साथ में बैठकर कॉफी पीते हैं और इस बहाने मैं तुम्हारा शुक्रिया अदा भी कर दूंगी. मैंने अपनी सहेली नीलू से भी बात कर ली थी, तो 3 जून को मैं बहुत तैयार होकर मैं और नीलू अपने गांव के बस स्टैंड से बस में चढ़कर सतना पहुंच गए.

पर शर्त एक ही है, जो भी मैं करूँ, तुम मना नहीं करोगी व तुम कभी किसी को नहीं बताओगी कि तुम अब भी मेरे कमरे में आती हो.

मेरी चुदक्कड़ बीवी की चूत का जायजा लेने के लिए प्रशांत ने अपनी दो मोटी-मोटी उंगलियों को अन्दर डाला, तो वह कसमसाकर कर उसके सीने से चिपक गई. और तुम संकोच मत करो, ये तो सिर्फ इमेजिनेशन है जिससे मुझे कोई ऐतराज नहीं।वो थोड़ी सकुचा कर धीमी आवाज में बोली- आज मैंने सेक्स वीडियो में एक महिला को एक कम उम्र के लड़के के साथ सेक्स करते देखा था. जी करता था कि बस सारा जीवन इस मदमस्त कर देने वाली उंगली को चूसते चूसते ही बिता दूँ.