सलमान खान के बीएफ

छवि स्रोत,ओपन का सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

देसी सेक्स वीडियो दिखाओ: सलमान खान के बीएफ, तभी नीरू ने सविता से पूछा- पहले तेरी चूत में डलवा दूँ या थोड़ा प्रैक्टिकल करके तुझको हम दोनों दिखलाएं कि चूत में लंड किस तरह घुसाया जाता है?सविता ने कहा- नहीं, पहले आप दोनों करो, आपको देख कर मैं भी मजा लूंगी.

सेक्सी सेक्सी पंजाबी सेक्सी वीडियो

थोड़ी देर आराम करने के बाद नेहा मैडम फिर से मेरे लंड से खेलने लगीं. सेक्सी वीडियो देहाती डांसमैं खड़ी हो गयी और सोनू ने अचानक से दो रसगुल्ले लेकर उन्हें हाथों से दबा के मेरी पैंटी में डाल दिए.

अब क्या हो गया है? देखो मैं अपनी चूत खोलकर लेटी हुई हूँ, अब आओ और मुझे रगड़कर एक रंडी के तरह चोदो. सेक्सी अनुफिर बोला कि जो सच था वो मैंने बोला कि आप बहुत अच्छी है आपके पति बहुत अच्छे हैं.

अंत में जब मेरी टांगों पे ज्यादा अकड़न होने लगी तो मैंने खुद ही कह दिया- इतने में ही कर लो.सलमान खान के बीएफ: फिर मैं धीरे-धीरे झटके मारता गया, भाभी ‘हाँ हाँ… जोर से… जोर से…’ बोलती रही, मैं झटके मारता गया.

नीरू ने सविता से पूछा- बहन, अब तो दर्द नहीं हो रहा?सविता ने कहा- नहीं नीरू, अब मुझे मजा आ रहा है!तभी नीरू सविता के पीछे आ गई और उसकी चूत में मेरे फंसे हुए लंड को देख कर मस्त होकर बोली- सविता, तू भी मेरी तरह पूरी औरत बन गई है.मैं क्या करूँ?अब करना तो मैं भी चाहता था … लेकिन ये टाइम सही नहीं था.

हिंदी में सेक्सी दिखाओ सेक्सी - सलमान खान के बीएफ

माइक ने अपनी रफ्तार बढ़ानी शुरू कर दी, पर वो अपने लिंग को उतना ही अन्दर घुसा रहा था, जितना अभी तक अन्दर गया था.उसने बुर्का पहन रखा था, तो वो बेफिक्र मेरे कंधे पर हाथ रख कर बैठ गयी.

अब तक अंधेरा हो गया था, पर दिल्ली की सड़कें इस वक्त मुझे बहुत प्यारी लगा रही थीं. सलमान खान के बीएफ इसके बाद मैंने उनको फिर से नीचे जमीन पर लिटा दिया और उनके ऊपर आ गया.

इस मासूम सी सेक्स कहानी में आगे जब आपको मजा आएगा जब आप मेरी बहन की चुदाई को मेरे लंड से होते पढ़ लोगे.

सलमान खान के बीएफ?

छोड़ मुझे … कोई देख लेगा … छोओओड़ …”मुझसे छुड़ाने की कोशिश करते हुए प्रिया ने‌ कहा, मगर मैं कहां मानने वाला था. मैंने लंड बाहर निकाला तो दी झट से घोड़ी बन गईं और मैंने पीछे से लंड पेला और चोदना चालू कर दिया. पतली कमर, बड़े बड़े चुचे, भारी भरकम चूतड़, मोटी मोटी जांघें … मतलब उनकी बड़ी मस्त जागीर है.

बातों-बातों में पता चला कि दीमा अब जर्मनी में रहता था, लेकिन गर्मियों की छुट्टियाँ बिताने के लिए रूस आया हुआ था और इस वक़्त मास्को में ही था. कुछ कुछ बोले जा रही थी, उसे होश नहीं था। कभी कहती- आशु आई लव यू … ऐसे ही करते रहो। लव मी मोर!कभी कहती- मैं पागल हो जाऊंगी। मैं उड़ रही हूँ. कुछ देर में उसने दीमा के लंड को भी अपने मुंह की ओर लाना शुरू कर दिया और फिर चाटना!दीमा इतना उत्तेजित हो गया था कि उसका लंड रह-रह कर झटके मार रहा था.

मुझे लग रहा था कि पूजा की चूत और ज़्यादा देर तक मुझे चोद नहीं पाएगी और जल्दी ही अपना पानी छोड़ देगी. मुझे लगा कि अब सब खत्म हो गया और मैंने भी महसूस किया कि मैं खुद उन्हें देख कर कितनी उत्तेजित हो गयी थी. उनकी ट्रेन जाने के बाद स्टेशन पे ही मैं और मेरी सास मोहिनी एक दूसरे को देखने लगे.

इस तरह की आवाज जगत अंकल जोर जोर से निकालने लगे और फिर मुझे कस के पकड़ कर बोले- वन्द्या मेरी बीवी. वो चिल्ला उठी उन थप्पड़ों के प्रहार से- हाँ, मैं रंडी हूँ! मुझे चोदो!मैं- किससे।सुशीला हाथ उठाकर- इससे।मैं- नाम बताओ।सुशीला- लंड से!मैं- हाँ … थोड़ा आकर मेरे लंड को चूस साली रंडी … प्यार कर अपने यार को!मानसी सारा खेल देख रही थी.

अब चलो मेरी बगल में अपने पैरों को फैलाकर लेट जाओ, मैं तुम्हारे ऊपर चढ़कर तुम्हें चोदता हूँ.

उसने अपने दोनों हाथ से अपने पैन्ट को पकड़ लिया और नीचे जाने से रोकते हुए मुझे मना करने लगी.

वो पानी को मुँह में रख कर सोनाली के पास गई और किस करते हुए सोनाली के मुँह में मेरा लंड रस दे दिया. अब तक आपने पढ़ा था कि शादी के बीच में लाइट चली जाने से मेरे कजन निहाल ने मेरी चूत में आग लगा दी थी और उसके बाद किसी एक और ने मेरी गांड भी गरम कर दी थी, तभी लाइट आ जाने से मैं चुदासी कुतिया से लंड ढूँढने में लग गई थी. मेरा मन तो कर रहा था कि आंटी की गांड में पूरा लंड एक ही झटके में पेल दूं.

मेरी बड़ी चाची का नाम किरण है, उनकी उम्र 55 साल की है, लेकिन देखने में वो 40-42 की ही लगती हैं. मैं- मुझे तो लंड चुसवाना पसंद है, आप तो बताओ आपको किस में मजा आता है?मीतू- जब घोड़ी बना के पीछे से चोदता है ना. उसमें कपल ही ज्यादा थे, मैंने उसका हाथ पकड़ा तो उसने अपना सर मेरे सीने पर रख दिया.

जैसे ही उसने चार-पांच मिनट तक चूत में अन्दर-बाहर करते हुए उंगली को रगड़ा कि मेरे अन्दर कुछ कुछ होने लगा था.

मैंने कहा- हां सासू माँ, आज तो मैं आपकी और मेरी दोनों की हर इच्छा पूरी कर दूँगा. तय समय के अनुसार हम सभी कलकत्ता जाने के लिए स्टेशन पहुंच गए और ट्रेन के आते ही उसमें बैठ गए. उस दिन हम लोग कॉलेज से बंक मारते हैं और तुम मेरे साथ मेरे घर पर चलना, फिर वहां तुमको सब बताऊंगी.

मैं वहीं खड़ा उनको देखता रहा थोड़ी देर में वो लेट गईं और लाइट बंद कर दी. उसके बाद मैंने 5 मिनट तक सोनाली की गांड भी मारी औऱ मैं सोनाली की गांड में झड़ गया. मैं धीरे धीरे नीचे आया और सुशीला की चूत चाटना शुरु कर दिया। उसके मुँह से भी सिसकारियां निकलने लगी। वो मानसी से भी जोर जोर से सिसकारियां छोड़ रही थी.

अंत के दृश्य में मैं और भी हैरान रह गयी, जब मैंने दोनों का वीर्यपात देखा.

मेरा लन्ड से मीता की चूत में भरा प्रेमरस बहता हुआ चादर पर फैल गया था. रेवती के चेहरे पर हल्की सी मुस्कान थी और मेरी तरफ गंभीर मुद्रा में देखते हुए रेवती बोली- माफी क्यों मांगते हो सरस.

सलमान खान के बीएफ उसने कहा- बताओ न?मैंने कहा- इसे मुँह से बता नहीं सकते, करके बता सकते हैं. मैं वापस कमरे में आया और शहद की बोतल खोल कर उसके चुचे पे थोड़ा शहद डाल कर उसकी चूची चूसने लगा.

सलमान खान के बीएफ ”प्रिया? तुम दवा कहां से ले आईं? सुलेखा भाभी ने प्रिया की तरफ देखते हुए कहा, जिससे प्रिया थोड़ा घबरा सी गयी और प्रिया ने हकलाते हुए कहा- व्वव. तब मुनीर ने कहा कि भारत में ऐसा बहुत कम दिखता है, पर विदेशों में खासकर फिलीपीन्स, थाईलैंड जैसे देशों में आम बात है.

मेरी उम्र 21 साल की है और मैं बाकी लोगों की तरह झूठ नहीं बोलूंगा, पर मेरे लंड महाराज का साइज 8.

एचडी मे बीएफ

इस पर वो बोली कि कई लोग तो खुल्लम खुल्ला अपने पार्टनर को किस करके सेक्स करते हैं?अब मैंने सोचा बेटा पूरा बात बता दे. फिर मैंने उनकी पेंटी को धीरे धीरे नीचे सरका दिया और भाभी की मखमली गांड पर हाथ रख कर हल्का हल्का दबाना चालू कर दिया. सब कान खोल कर सुन लो, जो मैं करने के लिए बोलूं, वो उसी वक़्त होना चाहिए.

वो बेचारी तकरीबन गिड़गिड़ाती सी बोली- प्लीज मुझे ये दे दो ना अभी… मिलने फिर कभी चले जाना. फिर खुद पर काबू करके उसने खुद को अलग किया- यह मौका सही नहीं है मैडम. कभी उसके चेहरे पर एक अजीब सी खुशी, एक अजीब सी चमक आ जाती प्यार के नाम से और साथ ही अगले पल हमारे रिश्ते को बेअंजाम पाकर दर्द उभर पड़ता.

प्रिया ने कराहते हुए एक बार फिर से मुझे अब रोकने की कोशिश की, मगर मैं अब रूका नहीं और अपनी पूरी तेजी और ताकत से लंड से धक्के लगाता रहा.

तो मैंने भी बात को दूसरी तरफ मोड़ते हुए उससे पूछ लिया कि आप कौन सी कक्षा में हो?तो उसने बताया कि 12वीं में हूँ. लेकिन एक शर्त है, पहले की तरह कोई भी बात कभी भी किसी को भी, चाहे जो घर पर हो. मैं जाग रही थी, आते ही वह रजाई में घुस कर मुझसे चिपक गया। रजाई में घुसने पर उसको पता चल गया कि मैं नंगी हूँ, वह अपने हाथ मेरे ऊपर फिराने लगा। वह मेरे मम्मों को टटोल रहा था.

उसकी पीठ छूते ही मेरा लंड और तन गया, जो मेरे जीन्स में साफ दिखाई दे रहा था. राज अंकल ने मुझसे वादा किया था कि तुम्हारी मम्मी को मैं तुम्हारे सामने चुदते हुए दिखाऊंगा. इस सत्य घटना को पढ़कर मुझे मेल जरूर कीजिए, अभी इस सिस्टर सेक्स स्टोरी में आगे बहुत सारे सच आपके सामने रखूँगा.

इस तरह नीचे मेरा लंड मयूरी भाभी की चूत की खाज मिटा रहा था और मैंने ऊपर एकता भाभी की चुत चाट ली. मीता की आहों कराहों से पूरा कमरा गर्म हो गया था, पूरे बिस्तर पर चादर पर सलवटें पड़ गयी थी.

मयूरी कुछ बोल भी नहीं पाती क्योंकि विक्रम उसके मुँह में ताबड़तोड़ चुदाई कर रहा होता है और अपना लंड उसके गले तक पेल रहा होता है. कुछ और दिन कोशिश की क्रीम लगा कर, तेल लगा कर… लेकिन उसके दर्द के आगे मैं हार जाता था क्योंकि मैं उसे चोट नहीं पहुंचाना चाहता था. थोड़ा रुक कर सर ने आधा लंड निकाल फिर से घुसा दिया, ऐसा तीन चार बार करने से मुझे थोड़ा सुकून मिला.

खाना के बाद मैंने सिगरेट सुलगाई तो उन तीनों ने भी सिगरेट का मजा लेना शुरू कर दिया.

आप सोचती हैं … बहुत सोचती हैं, जिससे आपकी आधी ज़िन्दगी अन्दर से बर्बाद है. मैंने उसके बारे में पूछा तो उसने बताया कि वो मैरिड है दो बच्चे हैं उसके एक 5 साल का बेटा और 2 साल की बेटी. थोड़ी देर बाद ही वो मुझे हाथ में प्लास्टिक की थैली लेकर आती दिखी जिसमें बियर और एनर्जी ड्रिंक था.

लेकिन आज आप इतनी खूबसूरत लग रही हैं कि एक पुरुष वाली जो भावनाएं एक खूबसूरत लड़की को देखकर जागृत होती हैं न. मैंने मन ही मन सोचा … साली देख कैसे रुला रुला कर चोदता हूँ। पराया मरद कहाँ … उस पुजारी को छोड़कर मेरा आठ इंच का लंड एक बार ले ले, फिर इसका गुलाम बन जाएगी।मैं- वो कमरे का किराया बहुत ही ज्यादा है.

मैंने उनके दोनों हाथ कस के पकड़ लिए और उनके निचले होंठ को दांतों के बीच में पकड़ लिया. नशे में धुत प्रीतम ने एक एक करके मेरे कपड़े उतारे और मेरी जवानी देख प्रीतम भी आपा खो बैठा. मैंने अपनी निक्कर धीरे से पैरों से निकाली और उसकी चड्डी की इलास्टिक में हाथ डाल कर उसे भी उसके चूतड़ों से नीचे को सरकाया। अब मेरे मामा की बेटी यानि मेरी ममेरी बहन के कूल्हे नंगे हो गए और मेरे हाथ उसकी भरी हुई टाँगों पर आ गए.

एक्स एक्स एक्स देसी हिंदी बीएफ

मैंने उसको उठा के बेड पर गिरा दिया और उसके कमल की पंखुरी के जैसे होंठ चूसने लगा.

चुदाई के बाद वो मुझसे लिपट गई और कहने लगी कि मुझे तेरे साथ ही पहला सेक्स करना था. इतना कह कर मैंने अपने एक हाथ से पूजा की चुत में अपनी एक उंगली पेल दी और धीरे धीरे अन्दर बाहर करने लगा. साथ ही मैं पाठकों से यह भी जानना चाहता हूँ कि आपको मेरी यह पहली कहानी कैसी लगी.

तभी ऊपर से हिमांशु मुझसे लिपट गया और लंड पेलता हुआ बोला- वन्द्या तेरी चूत इतनी टाइट कैसे है … तू तो बता रही थी कि तू बहुत बार लंड ले चुकी है, फिर भी बहुत टाइट चूत है. वह जांघों को चूमने लगा और बोला- महेश भाई, ये लड़की बहुत चिकनी माल है. ढोंगी साधु सेक्सीदस धक्के के बाद उसने मुझे घोड़ी बना दिया और मैं बिस्तर पर ही चौपाया होकर घोड़ी सी बन गयी थी.

मेरा इतना कहना था कि सोनू ने मुझे सीधा किया और मेरे ऊपर लेट के सीधा अपना लौड़ा मेरी चूत में पेल दिया. मैंने एक हाथ से आंटी की चूत में उंगली की और दूसरे हाथ से मैं अपने लंड के सुपाड़े को सहला रहा था.

यह मेरी पहली सेक्स कहानी है, अगर मुझसे कोई गलती लिखने में हुई हो तो मुझे माफ कर देना। अन्त में अन्तर्वासना की सभी चूतों को मेरे खड़े लंड का सलाम।आप सभी को मेरी कहानी जैसी भी लगी हो, कृपया मुझे मेल करके जरूर बतायें। मैंने अपनी गोपनीयता बनाये रखने के लिए यह दूसरी इमेल आईडी बनाई है।[emailprotected]धन्यवाद. मैंने सोचा कि जो भाभी थोड़ी देर पहले तक नानुकुर कर रही थीं, वही अब जल्दी चुदने के लिए विनती कर रही हैं. ठाकुर साहब ने मुझसे कहा- वन्द्या तू इस गाड़ी में बैठ जा … मैं तेरा नाश्ता यहीं भेज रहा हूं.

मेरी चूत तो बहुत गीली थी, तो उसमें तो एक ही झटके में हिमांशु का लंड घुस गया. कुछ पल बाद उसने कहा- प्लीज़ अब मुझसे और नहीं रहा जा रहा … जल्दी से अपने मोटे लंड से मेरी चूत फाड़ दो और इसकी प्यास बुझा दो. मेरा एक हाथ रेवती के जिस्म के सबसे बेहतरीन भाग उसके मम्मों पर जा टिका और उनका मर्दन करने लगा.

मैं सोचने लगी कि अरे इनके अलावा और भी है कोई क्या?तभी मैंने देखा दो अंकल और लगभग 65 साल के आसपास आए.

माइक मेरी इस हरकत से समझ गया कि अब उसके रास्ते में कोई रुकावट नहीं है. कुछ देर बाद मैंने लंड बाहर खींच लिया और उनको पूरा नंगा करके उनको चित्त लिटा दिया और उनकी चूत में अपना लंड रगड़ने लगा.

अब मैंने धीरे धीरे करके उनकी नाइटी को पीछे से ऊपर करना चालू किया और कुछ ही देर में उनकी नाईटी को उनके कमर तक कर दिया. छोड़ मुझे … कोई देख लेगा … छोओओड़ …”मुझसे छुड़ाने की कोशिश करते हुए प्रिया ने‌ कहा, मगर मैं कहां मानने वाला था. मैंने उठने की कोशिश करते हुए कहा- आप कुछ लोगे क्या?वो बोले- जो मांगूंगा मिलेगा क्या?मैंने बनते हुए कहा- हाँ … क्या बनाऊं … चाय काफी?जीजू- अपने नशीले नैनों से दो घूँट पिला दो.

मुझे श्यामा ने बताया कि अब हर शुक्रवार को ऐसे ही कार्यक्रम चलेगा और रविवार का तो तुमको पता ही है. मेरा लंड भी अब बुरी तरह से अकड़ गया था और मुझे लंड की जड़ में हल्का हल्का सा दर्द होने लगा था. मुझे अलग-अलग चूतों को चोदने में बहुत मज़ा आता है, मैं जिगोलो बनना चाहता हूँ, इसलिए मैं पाठकों से पूछना चाहता हूँ कि मुझे जिगोलो बनने के लिए क्या करना होगा, जिगोलो बनने के पीछे मेरा मकसद सिर्फ चूत मारना नहीं है, चूत मारने के साथ-साथ कुछ आमदनी भी हो जाएगी.

सलमान खान के बीएफ मैंने करीब 20-25 मिनट तक उन्हें अच्छे से चोदा और वो भी मज़े लेकर चुदवाती रही. मैंने अकेले में पूछा- अब बात कब तक नहीं करनी है?उसने कहा- जब तक आप नहीं बताते तब तक!मैंने बोला कि मैं तेरा भाई हूँ, मैं तुझे ये बातें नहीं बता सकता.

बीएफ चुदाई पंजाबी

मैंने तब अपनी जीभ निकालकर पूजा की चूत को ऊपर से चाटना शुरू किया और धीरे धीरे अपनी जीभ को पूजा की चूत के अन्दर डालना चालू किया. सेक्स स्टोरी का मजा लेने के लिए मेरे साथ बने रहें और मुझे ईमेल करें. जबकि दूसरे ब्वॉयफ्रेंड के साथ अभी तक केवल चूमाचाटी का मजा ही किया था.

नशे में धुत प्रीतम ने एक एक करके मेरे कपड़े उतारे और मेरी जवानी देख प्रीतम भी आपा खो बैठा. उसके जाने के बाद मैंने दीदी की नाईटी पहनी और दरवाज़ा हल्का सा बन्द करके दीदी के कमरे में कंबल ओढ़ कर लेट गई. चोदने वाला सेक्सी भोजपुरीफिर धीरे धीरे उसे सहलाने शुरू हुआ, तो मेरी पत्नी ने बिस्तर की चादर को कचोटना शुरू कर दिया.

यह कह कर वो शेविंग किट, जो उसने अपनी झांटों को बनाने के लिए लिया हुआ था, लेकर आई और मेरी चूत पर अच्छी तरह से फोम लगा कर सेफ्टी रेजर से चूत की हजामत बना दी.

जब पूरी चूत साफ़ कर दी तो बोली- जाओ, इसे धोकर आओ और शीशे में देखना कि चूत कैसे लगती है. फिर उसने मेरी टांगें फैला बीच में बैठ अपने होंठ मेरी नर्म कुँवारी गुलाबी चूत पर टिका दिए औऱ चूत चूसने लगा.

फिर 3-4 मिनट तक ऐसे ही संभोग करने के बाद मैंने लिंग बाहर निकल लिया और बेड की बैक से टेक लगा कर बैठ गया. मुझे बस सुलेखा भाभी के सोने का ही इन्तजार था मगर साथ ही ये भी डर था कि कहीं प्रिया ही ना सो जाए. मेरे बारे में जानने के बाद कुछ पाठक यह भी सोच रहे होंगे कि मेरे इस काम में तो मैंने कई औरतों के साथ सेक्स किया होगा तो यही कहानी क्यों लिख रहा हूँ.

तो मैं दोनों तरफ टांगें डाल कर बाइक पर बैठ जाती थी, जिससे मेरी चूचियां उसकी पीठ से टकरा कर रगड़ जाती थीं वो भी मेरी चूचियों का मजा लेने के लिए बार बार अपनी बाइक के ब्रेक मार कर मुझसे चूची रगड़ने का सुख ले लेता था.

उसके चेहरे को पढ़ते हुए मेरे दिल में भी उसके लिए अजीब सा अपनापन महसूस होने लगा और उसकी बातों को सुनते हुए उसकी आँखों में देखते हुए कब मेरा हाथ उसके हाथ को जकड़ गया, ये ना उसे पता लगा और ना ही मुझे. मैं अपने कमरे में वापिस आ गया और सोचने लग गया कि इतने ख़ुशमिज़ाज चेहरे पर आंसू क्यों. विक्रम की बात सुन लेने के बाद ख़ुशी से अपने दोनों भाइयों का लंड अपने एक-एक हाथ में भरते हुए मयूरी बोली- हाँ मेरे भाइयो… मुझे पता था… तुम दोनों मेरी जवानी की प्यास को ऐसे तड़पने के लिए नहीं छोड़ोगे… मुझे पता था कि तुम मेरी राखी का कर्ज जरूर उतारोगे.

नंगा खुला सेक्सीउस दिन के बाद आज का दिन है ‘वो है … उसकी याद है … उसके साथ गुजारे पलों की यादें अब भी ताज़े गुलाब के जैसी ही ताज़ा हैं. उसने मुझे तब तक नहीं छोड़ा, जब तक उसका लंड अपना माल मेरी चूत में ना निकाल चुका.

मोटी मोटी औरतों की बीएफ सेक्सी

उन्होंने मेरी तरफ़ तिरछी नजरों से देखा और कहा- आपका क्या पीने का इरादा है?जवाब में मैंने भी उनकी आँखों में झाँक कर कहा- आप जो भी पिलाएंगी, मैं पी लूँगा. दोस्तो, मेरा नाम रोहित है। मैं एक छोटे से गांव में रहता हूं। कद-काठी, रंग जानने की आवश्यकता नहीं है, बस इतना जान लो कि लौड़ा 7 इंच का है।सीधे कहानी पे आता हूं। दोस्तो, मेरी सेक्स कहानी यूं ही कुछ 1-2 महीने पहले की है। मैं और मेरे भैया मवेशियों (पालतू जानवर) को लेकर जंगल की ओर चल दिए थे. प्रिया का जवाब सुनकर मैं चौंक गया और तुरन्त प्रिया की तरफ देखने लगा.

उसने हाथ आगे किया तो मैंने उसका हाथ पकड़ लिया और उठी, पर मैंने पांव नीचे नहीं लगाया. चुपचाप चूस मेरा लौड़ा … वरना कल तेरी लाश पड़ोस वालों को मिल जाएगी!” मैंने फिर भूत की नकल करके कहा. जिसके कारण में पढ़ाई में अब ठीक ठाक सी ही रह गई, पर गेम पर मेरा ध्यान ज्यादा रहता था.

लेकिन आप कहोगे तो जरूर मान जायेंगे।”फिर थोड़ी देर के लिये हमारे बीच में खामोशी छा गयी और मैं उसकी तरफ करवट लिये उसे देखता रहा।किसी ने तुम्हारी चूत चाटी कभी।”नहीं. उसके मुँह से निकल गया- तू भी …!मैंने पूछा- क्या तू भी?वो धीरे से बोली- मेरा मतलब तू भी मानेगा नहीं …मैं हंस दिया और कहा- आज मजा लेने का मन है. मैंने चड्डी की इलास्टिक को पकड़ कर नीचे को खींचा तो आंटी की चूत पर एक भी बाल नहीं दिखा.

इस सेक्स कहानी के पहले भागमन्जू की चूतबीती-1में आपने मेरी चुदाई की शुरुआत, मेरी सुहागरात और मेरे ननदोई से मेरी चुदाई के बारे में पढ़ा. पहले तुम्हारी चूत की इन झांटों को साफ़ करना पड़ेगा ताकि हीरा जंगल से बाहर निकल आए.

मगर जब तक हमने खाना खाया, तब तक सुलेखा भाभी ऐसे ही मुझे घूर घूर कर देखती रहीं.

मैं बड़ी चाची के बारे में बोल बोल कर छोटी चाची को चोदने लगा- काश … आपकी तरह मुझे बड़ी चाची की चूत चोदने का सौभाग्य प्राप्त हो जाता. नंगी सेक्सी वीडियो कॉलेजइस बीच मैंने उसकी कई बार हेल्प की उसके घर के कामों में और उसके कोर्ट केस में भी. 12 साल की सेक्सी वीडियो पिक्चरमैंने उनसे फिर से लंड अन्दर डालने का कहा, तो जीजू ने मेरी कमर को पकड़ कर अपना लंड मेरी चूत में एक झटके में ही पूरा पेल दिया और मुझे चोदने लगे. मैं कामदेव को याद करता हुआ आगे बढ़ा और मैंने पहली बार किसी औरत की चूत को हाथ लगाया था.

वो बोले- कौन सा रंग पसंद है मैडम … जो आप बोलेंगी … हम अभी पहना भी देंगे.

मगर उस दिन खाली खाली घर को देखकर मेरा वहां से भाग जाने को दिल कर रहा था. कुछ देर बाद वह फिर से मेरे लंड को चूसने लगी और मैं उसकी चूत सहलाने लगा. उसने भी उत्तेजना के आधिक्य में नताशा के सिर को थाम लिया और सटाक-सटाक गहरे धक्के लगाता हुआ अपने लंड को मेरी बेचारी धर्मपत्नि के मुंह का जबरदस्त चोदन करने लगा.

माइक इधर मुझे बातें करने लगा, उसने पहले तारा की तारीफ करनी शुरू कर दी. उसके दोनों बेटे भी उसकी चूचियों से धीरे-धीरे खेल रहे थे और उसकी जांघों को सहला रहे थे. 30 में सोनू की नींद खुली और उठते के साथ उसकी नज़र मुझ पर पड़ी, उसने आंखें बड़ी की और मेरी गोरी गोरी जांघों को निहारने लगा.

बीएफ सेक्सी हिंदी भाई बहन की

यह मेरी सच्ची आपबीती है … मैं आशा करता हूँ कि आप सभी को भी पसंद आयी होगी. यह सुन कर उस लड़की ने मेरे पास आ कर मेरे मम्मे दबाने चालू किए और बोली- वाह क्या बात है. सविता बोली- हां नीरू, अब मेरा भी करा दे … मैं बर्दाश्त नहीं कर पा रही हूं, मेरे शरीर में कुछ कुछ हो रहा है.

दोनों औरतों को चोदने के बाद वे दोनों मेरे आजू बाजू में लेटी थीं और मेरे लंड से खेल रही थीं.

थोड़ी देर रब करने के उनकी खांसी कम हो गयी तो मैं उनके पास ही बैठ गया.

लम्बे से डाइनिंग टेबल के एक तरफ मयूरी खड़ी थी और उसके बगल में उसके पापा और बाकी सारे लोग टेबल के दूसरी तरफ खड़े थे मयूरी के एकदम सामने. उसका गेट स्टोर वाले ने खोला और अंकित को बोला कि पहले तुम अन्दर जाकर पीछे बैठ जाओ. मारवाड़ी सेक्सी वीडियो चोदनेमैंने उसका हाथ पकड़ कर अपने लंड के ऊपर रखा और वो पेंट के ऊपर से मेरा लंड सहलाने लगी.

उसकी चीख निकल गयी तो मैंने उससे चुप रहने का इशारा किया और धकाधक चोदने लगा. बस कॉलेज के बाद दो तीन घंटे ही काम होगा और पैसे भी खूब मिलेंगे।अमीषा बोली- कल क्यों, मैं तुम्हें अभी जवाब दे देती हूँ। मुझे पैसे की कोई चिंता नहीं … मगर हाँ अगर नये नये लंड मिलेंगे तो मैं तैयार हूँ।जवाब सुनकर सुमन बोली- ठीक है … आज से या अभी से?अमीषा बोली- लंड लेना चूत के लिए बहुत शुभ काम है और शुभ काम के लिए आज और अभी से ही!उसने कहा- ठीक है।यह कहानी जारी रहेगी. मेम ने बोला कि 22 को दोपहर के ढाई बजे की फ्लाइट है, तो डेढ़ बजे एयरपोर्ट पे मिलते हैं.

जब मैं पहले दिन यहां आया था तो तुमने उसे पहना हुआ था … मगर अब उसे पहनना क्यों बन्द कर दिया तुमने?” मैंने पूछा. तभी वे मेरी एक गाल में हाथ रखकर बोले- मेरी तरफ देखो, यह मेरा घर है, इसे तुम अपना समझो.

मैं चुपके से देखता था कि वो क्या कर रही है, कब बालकनी में आती है और कब छत पर जाती है.

उसने मुझे चूमने के साथ ही मुझे अपनी ओर जोर से बांहों में खींच कर मुझे भर लिया. और ये याद आते ही मैं उनसे अलग हो गई और शर्माते हुए साईकल पकड़ निकल आई. मैं बोला- यार वो तो ठीक है लेकिन नेहा क्या मेरे साथ करने को मानेगी.

पूरी नंगी सेक्सी चुदाई नमस्कार दोस्तो, जैसा कि आप सभी ने मेरी पहली कहानीपड़ोसन भाभी की कुंवारी गांड की चुदाई की गंदी कहानीमें पढ़ा था कि कैसे मैंने अपनी एक पड़ोसन भाभी की गांड मारी और उसके बाद कई और बार भी उनके साथ चुदाई का लुत्फ़ लिया. उसकी ये बात सुनकर मैं तभी से तुमको पटाने की कोशिश कर रही थी, पर तुम हो कि सर नीचे किये ही चले जा रहे थे.

और हम लोगों ने 6 दिन तक दारु और चोदने के अलावा और कोई काम नहीं किया. मुझे समझ नहीं आ रहा था कि कौन चोदने आया था और कौन चुद रहा है?अब मैं चूत चुदाई चाहता था. मैंने जो कभी बिल्कुल भी नहीं सोचा था, न प्लान किया था कम्मो के संग वही कर बैठा था मैं.

चंडीगढ़ की बीएफ सेक्सी

वो मेरे गालों को पकड़ कर चूमने लगा मेरे मुँह को खोल कर मेरी जीभ को चूसने लगा. नीरू भी अपनी चुदाई का पूरा मजा ले रही थी, उसे देख कर ऐसा नहीं लग रहा था कि वह पहली बार चुदाई करा रही है. अब मुझे इतना भरोसा तो हो ही गया था कि इसको बता सकूँ कि इसे क्या बोलते हैं.

आह दीदी, बहुत मज़ा आ रहा है, ऐसे ही करती रहो।तकरीबन 15-20 मिनट लंड हिलाने के बाद उसका लंड फूल गया. क्योंकि अपने पति को अच्छा दिखाने और उनके जैसा बनने में आप अपने आपको खो चुकी है.

वो अंकल ने मेरी कमर पकड़ कर और जोर से लंड पेला, तो उनका पूरा लौड़ा मेरी गांड में अन्दर घुस गया.

रजत अपनी माँ से बिना पूछे ही उसकी भीगी चूचियों की मसलने लगा जो साबुन से भीगी हुई थी और इसी कारण वहां बहुत ज्यादा फिसलन भी थी. जब मेरी शादी फिक्स हो गयी और मैं अपने बॉस के घर किसी काम से गया, तो तब उसे पता चला कि मेरी और उसकी ऐज लगभग बराबर ही है. मगर मेरे दिमाग़ में अभी भी उनका गिरा हुआ पल्लू और बाहर झाँकते दूध और निकली हुई गांड चल रही थी.

उनकी तरफ से जब कोई प्रतिक्रिया नहीं हुई तो मैं धीरे धीरे आंटी के सारे शरीर को चूमते हुए चाटने लगा. उनकी खुरदरी जीभ का अहसास पाते ही मैं उछल पड़ी और गरम होकर मुन्ना अंकल का लौड़ा ढूंढने लगी. जब मैं इस बात से कन्फर्म हुआ कि कोई नहीं है तो मैं सबा को बस स्टॉप के पीछे की साइड ले गया.

मैं ब्रीफ वाला फ्रेंची अंडरवियर पहनता हूँ तो उसमें वो अलग ही पता चल रहा था और शीतल बस उसे ही देख रही थी।फिर मैंने अपना अंडरवियर उतार कर अलग कर दिया और लिंग चूसने के लिए कहने लगा.

सलमान खान के बीएफ: अब मेरी पत्नी ने नीरू से पूछा- नीरू, बतलाओ मेरी बहन, अब कैसा लग रहा है?नीरू बोली- दीदी, अब दर्द कुछ कम हुआ है!मेरी पत्नी ने पूछा- अब तुझे कोई दिक्कत तो नहीं हो रही है?उसने कहा- नहीं दीदी, अब ज्यादा दिक्कत नहीं है. अब वो मम्मी के गाल पर किस करने लगीं और मम्मी की लाल रंग की पेन्टी को थोड़ा साइड में करके उनकी चूत में उंगली करने की कोशिश करने लगीं.

थोड़ी देर में उसके मुँह से अस्स अस्स की आवाज़ निकली, बोली- मैं गयी!इधर मैं भी चरम पे था और आह करते हुए उसके अंदर ही अपना वीर्य छोड़ दिया और नीता के ऊपर ही गिर गया।5 मिनट बाद जब थोड़ा होश आया तो मैंने उसके माथे पे चूमा और उसके ऊपर से उठ के साइड में आया. मैंने वैसा ही किया, एक जोरदार धक्का लगाया तो मेरा लंड नीरू की चूत को चीरता हुआ आधा अंदर तक जा समाया. फिर मैंने बैठे बैठे ही उसे अपनी तरफ खींचते हुए अपनी जांघों पर बिठा दिया.

तभी पापा ने मेरा हाथ पकड़ लिया और मुझे रोक दिया- नीतू बेटा, अच्छी बच्ची हो ना तुम, ऐसा कोई बोलता है अपनी मम्मा को, से सोरी टू हर, आगे से ऐसी गलती मत करना!पापा मुझे गले लगाते हुए शांति से बोले तो मेरा गुस्सा थोड़ा कम हुआ।सॉरी मम्मा सॉरी डैड, अब आगे से ऐसा नहीं होगा.

बस मीना और मोनिका ने बाय बोलते हुए जाने का कहा और दम साध कर एक तरफ को खड़ी हो गईं. मैंने उससे पूछा- तू क्या कॉल गर्ल बन गई है?तो उसने बोला- नहीं यार, मैं कॉल गर्ल नहीं बनी … मैंने एक सेक्स क्लब जॉइन किया है वहां पर रोज नए नए लोग आते हैं और अपनी पसंद की लड़की के साथ मजा करते हैं. उन्हें चोदने के मेरे बहुत से क़िस्से हैं … वो मैं आपको अगली कहानी में बताऊंगा.