ब्लू बीएफ बीएफ ब्लू

छवि स्रोत,राठी सेक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

देहाती गर्ल इमेज: ब्लू बीएफ बीएफ ब्लू, इस पर उन्होंने मेरा सिर नीचे कर के अपना पूरा का पूरा लंड मेरे मुँह में दे दिया.

तमिळ सेक्स तमिळ सेक्स

यह कहानी मेरी और मेरी कस्टमर की है, जिसने मुझे मसाज के लिए ही बुलाया था. सेक्सी वीडियो पिक्चर सेक्सी पिक्चरमेरा इस समय बस चलता तो मैं उसकी चूचियों को मुँह में भर लेता, पर मेरे मुँह का छेद इतना बड़ा नहीं था कि उसकी चूचियां उसमें समा जाएं.

मैं एक चादर लपेट कर बाथरूम में गई तो मेरी टांगें बहुत दर्द कर रही थीं. हिनदी सेकसी कहानीयूं तो मेरी और सुधा, दोनों की अंतरंग होने की ना तो कोई इच्छा होती, ना ही भरे-पूरे घर में ऐसा करने का कोई मौका होता लेकिन फिर भी वसुन्धरा का हम पति-पत्नी के बीच में बार-बार ऐसे काबिज़ होना तो अव्वल दर्ज़े का क़ाबिले-ऐतराज़ कुकर्म था.

मैंने कहा- ठीक है, जब तक तुमको मुझ पर भरोसा नहीं हो जाता मैं तुम्हारी तरफ देखूंगा भी नहीं.ब्लू बीएफ बीएफ ब्लू: जीजा ने मेरे बालों और कंधों को पकड़ लिया और तेजी के साथ मेरी चूत को पेलने लगे.

मैंने हैलो किया तो वहाँ से आवाज आई- सर, मैं मनमीता बोल रही हूँ, प्रिया की सहेली.तकरीबन 6 साल तक मैं एक क्रेन ऑपरेटर हूँ … इसलिए एक जगह अस्थायी नहीं रहता हूँ.

पीले दांत को सफेद कैसे करें - ब्लू बीएफ बीएफ ब्लू

हेतल के चूचों को थामते हुए मैंने उसकी गांड को वहीं दरवाजे के बाहर ही चोदना शुरू कर दिया.जैसे खलहड़ से हल्दी पीसते हैं ठीक उसी तरह वो मेरी बुर की पिसाई करने लगा.

जैसे ही मेरे लंड का सुपारा भाभी की चुत में घुसा, तो उनके मुँह से आह निकल गई. ब्लू बीएफ बीएफ ब्लू मैंने भी अपनी उंगलियों को आराम देना उचित नहीं समझा और नम्रता की गांड की सुराख में घुसेड़ने लगा.

उनके चूचों के निप्पल को मैंने बहुत काटा, जिससे उनको दर्द होने लगा, पर उनको मजा भी बहुत आ रहा था.

ब्लू बीएफ बीएफ ब्लू?

मैंने पिन को उसके एक निप्पल पर धीरे से चुभो दी, तो वो आहें भरने लगी. खाना खत्म करते ही उसने मेरे होंठों पे होंठों जड़ दिए और किस करने लगी. मगर ऐसा हो पाना अभी तो संभव नहीं था न, मैं बस दूर से ही देख कर उसकी चूत को चोदने की कल्पना करने के सिवाय और कुछ नहीं कर सकता था.

मगर उसने मेरे होंठों को चूसना शुरू कर दिया और मेरे मुंह में जीभ डाल कर मेरी लार को पीने लगी. मैं हल्की सी चीख़ पड़ी- आऽऽऽह …फिर भाई ने मुझे गोद में उठाया और कमरे के बेड पर लिटा दिया और मुझे किस करते करते मेरी चूत तक आ गया. मैंने कहा- लेकिन 5 लोगों के साथ कैसे कर पाऊंगी?सर बोले- परेशान मत हो तुम्हें भी मजा आएगा.

जब मामी का ध्यान बंटा, तब मैंने जोर का झटका दिया, जिससे मामी की चीख निकल गई- आहहहह आहहह … मर गई …मेरा आधा लंड मामी की चुत में चला गया. मैंने एकदम से उनसे दूर जाना चाहा, पर उन्होंने मुझे कमर से पकड़ लिया. रवि ने अपना लंड अंडरवियर से निकाला और थोड़ा सा थूक अपने लंड पर लगा कर मेरी चूत में डाल दिया.

मैं उसकी इस बात पर हैरान हो रहा था कि आज तो खुशी का दिन है और ये रो रही है. मैंने उसको गले से लगाया और उसके लंड को पकड़ कर उसको लिप किस कर दिया.

मेरा लंड तो पहले से ही तनना शुरू हो गया था इसलिए अंदर की हवस ने ज्यादा कुछ सोचने का मौका नहीं दिया.

अब मैंने डॉली से कहा- चार घंटे का समय कैसे गुजरेगा, चलो पिक्चर देखते हैं.

काफी देर बाद अपनी कुंवारी चूत चुदाई का मज़ा लेते लेते मुझे मेरी चूत के अन्दर कुछ अहसास हुआ. उनको जो भी देखता है, उसके सोये हुए अरमान जाग जाते हैं कि वो मेरी बुआ को चोद कर अपना लंड शांत करवा लें. मेरी बुआ मेरे ताऊ के लंड की दीवानी सी लगी मुझे और ताऊ का मूसल लंड भी बुआ की चूत चोदने के लिए हमेशा तैयार मालूम होता था.

यह कहकर भोला ने मेरी चूत में अपना लंड जड़ तक घुसा दिया और फिर पूरा लौड़ा अंदर-बाहर करते हुए आवाज निकालने लगा. मैं नम्रता के ऊपर लेट गया और नम्रता ने मुझे चिपका लिया, मेरा लावा बहते हुए नम्रता की चूत को गीला कर रहा था और उसका लावा मेरे लंड को गीला कर रहा था. जब कुछ देर तक मूवी देखने के बाद मुझे बोरियत होने लगी तो मैंने अदिति से कहा कि इस मूवी को देख कर तो नींद आ रही है.

कारें तो कई खड़ी थी लेकिन समस्या ड्राईवर की थी, ड्राइवर कोई नहीं था.

इस पर उन्होंने मेरा सिर नीचे कर के अपना पूरा का पूरा लंड मेरे मुँह में दे दिया. इस तरह मेरे विवाह के लगभग बीस साल बाद मैंने किसी परपुरुष का लण्ड अपनी चूत में लिया था. मैंने उसको भरोसा दिलाया कि जैसे ही लंड का इंतजाम हो जायेगा मैं उसकी चूत को चुदवा दूंगी.

तय कार्यक्रम के अनुसार शनिवार को सुबह सात बजे मैं और डॉली लखनऊ के लिए निकल पड़े, रास्ते में चाय नाश्ता करने के बाद लगभग नौ बजे डॉली के सेन्टर पहुंच गये. एक बार फिर से मानसी जीजू के लाल रसीले होंठों को चूसते हुए उनकी छाती पर लेट गई और उसके चूचे जीजू की छाती से जा सटे. जीजा ने मेरे बालों और कंधों को पकड़ लिया और तेजी के साथ मेरी चूत को पेलने लगे.

दूसरा हाथ मेरी गर्दन से लिपटा हुआ मेरे मुंह को उसके मुंह से दबाए हुए था.

मेरी आंखें कामुकता के नशे में बंद होने लगी थीं और मैं अपने भाई के मर्दाना हाथों के मज़े ले रही थी. मैंने थोड़ी नानुकर के बाद नीचे बैठ कर उसके लंड को एक किस किया और टोपे पर जीभ घुमायी.

ब्लू बीएफ बीएफ ब्लू मैं नीचे आया, तब अंकल ने कहा- अरे उस्मान, तुम एक मिनट देर से आए हो, मैंने अभी चुदाई खत्म की है, तुम होते तो लाइव देखने को मिल जाती. दिल ही दिल में मैं चाह तो रहा था कि उसके साथ कुछ टांका फिट हो जाये.

ब्लू बीएफ बीएफ ब्लू आकर कहने लगी- जो तेल तुम लेकर आये उससे मेरी मालिश कर दोगे क्या? आपके दादा जी ने इसी तेल से मालिश करने के लिए कहा था. पानी छोड़ने की वजह से चुत तो अभी भी गीली ही थी पर लंड को फिर से गीला करना पड़ा.

मैंने कहा- ठीक है, लेकिन मेरी भी एक शर्त है कि तुम मेरी बहन के साथ कुछ नहीं करोगे.

बीएफ एक्स एक्स एक्स बीएफ मूवी

थोड़ी देर टीना आंटी के होंठों का रसपान करने के बाद मैंने आंटी का गाउन उतार दिया और आंटी की लाल ब्रा को खोल कर साइड में डाल दिया. लेकिन फिर एक दिन जब सौरव मुझे चोद कर मेरे घर के पीछे छोड़ने आया, तो मेरे पापा ने मुझे सौरव के साथ देख लिया. पेन ड्राइव समाप्त होकर पुन: चल पड़ी तो बेबी बेड से उतरी, अपनी चूत को सहलाया और बाथरूम चली गई.

मैं मौसी को देख कर बेबसी का दिखावा कर रहा था … पर मज़ा मुझे भी आ रहा था. मैंने बोतल बेबी को पकड़ाई और बाथरूम की तरफ इशारा करते हुए कहा- बाथरूम इधर है. नीना बड़े प्यार से अपनी दीदी की चूत को ऐसे चाट रही थी जैसे कुत्ता कुतिया की चूत चाटता है.

नम्रता ने भी लेकर अपना मुँह खोल दिया और मैं अपने सुपारे के ऊपर ही बियर गिराने लगा, जो सीधा नम्रता के मुँह में जा रहा था.

मैं उसकी चूत को देख कर अपने आप पर कंट्रोल नहीं कर पा रहा था और मैंने अपने सारे कपड़े उतार दिये. फिर हम दोनों ने लेस्बियन सेक्स के साथ एक दूसरे की सेक्स की चाहतों को शेयर किया तो मालूम हुआ कि वो भी बड़ी चुदक्कड़ थी. उसने मुझे अपने दोनों हाथों से ज़ोर से दबाया और मुझे बिस्तर पर गिरा दिया.

कई बार मेरा मन भी डोल जाता कि पति से चुदे हुए हफ्ता भर हो गया, चलो कोई नयी कहानी बना लें. तो वे बोलीं- तो तुम यहाँ पर आए क्यों?मैं बोला- एक काम करो, लगे हाथ दर्शन कर लो और पाँच बजे की ट्रेन से वापस चलते हैं. मैं बड़े प्यार से उनको निवाला खिलाता रहा और वो मेरे होंठों से निवाला ले कर खाती रहीं.

फिर उसने ओकले को हटाया और खुद मेरी गांड में लंड सैट करके शुरू हो गया. फिर अपने को संयत करते हुए बोली- लेकिन जान आज मुझे तुम्हारी गांड चाटने में मजा आया.

अभी थोड़ा सा ही लंड अन्दर डाला था कि वो चीखने लगीं ‘आआय यीईई आह्ह्ह ओह्ह … मर गयी!’मैंने उनकी चिल्लपों पर ध्यान नहीं दिया. फिर मैंने उसकी बाजुओं और फिर हाथों को चूमा और उंगलियों को चाट लिया. मिलिट्री से अर्ली रिटायरमेंट लेकर शिमला में ही सरकारी ठेकेदारी में जम कर पैसे कूट रहे थे.

दस मिनट तक उसकी चूत को जम कर रगड़ने के बाद उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया और ढीली पड़ गई.

मुझे ऐसा लगता था कि वो मुझे पसंद करता है क्योंकि वो जब भी मेरे घर आता था तो मुझे ही देखता रहता था. लेकिन फिर एक दिन जब सौरव मुझे चोद कर मेरे घर के पीछे छोड़ने आया, तो मेरे पापा ने मुझे सौरव के साथ देख लिया. दोस्तो, एक अकेली औरत अपने आपको कब तक चुदाई से रोक सकती है, जब वो घर में अकेली रहती हो … उसके बच्चे भी साथ न हों, तो खाली दिमाग शैतान का घर होता है.

मैंने जीजा का फोन लेकर आशीष को लगाया और कहा- तुम कहां पर मिलोगे?वो बोला- मैं तुम्हें सतना बस स्टैंड पर मिलूंगा. वह ‘गड़क… गड़क…’ की आवाज करने लगी।मैंने लण्ड बाहर निकाला तो वो बोली- मार डालोगे क्या? इतना बड़ा लण्ड गले तक मत डालो … मैं मर जाऊंगी।महेश खड़ा होकर सब देख रहा था।मैंने फिर आराम से उसको अपना प्री-कम छोड़ रहा ‘प्रीतम’ लौड़ा चूसने को कहा.

काजल के करीब जाने का एक यही मौका था मेरे पास जिसे मैं किसी भी हाल अपने हाथ से जाने नहीं देना चाहता था. मामी- हां चोदो मेरे जानू चोदो … अपनी मामी को … मैं कब से इस दिन का इंतजार कर रही थी. भाबी भी मस्त हो कर अपनी टांगें चौड़ी करके अपना टाइट भोसड़ा मुझसे चुदवा रही थीं.

बीएफ कुत्तों की

जब मैंने अपनी पैंटी पर हाथ लगा कर देखा तो मेरी पैंटी भी गीली हो चुकी थी.

उसने हाथ में थोड़ा तेल लिया और एक हाथ गांड की दरार के बीच में घुसा दिया और मेरी चुत तक तेल लगाने लगा. अब उन्होंने होंठ चूसते चूसते मेरी सलवार का नाड़ा भी खोल दिया और मेरी पेंटी में हाथ डाल कर मेरी कुंवारी बुर मसल दी. बुआ ने बोला- पागल … अब तो मैं पूरी तेरी हूं … जो मर्जी कर … लेकिन मुझे बुआ मत बोल, शायना बोल.

अब विक्की को मेरा सहारा मिल गया था, तो उसने निहारिका का लोअर उतार दिया. मैं उसको जल्दी से नंगी कर देना चाहता था ताकि उसकी चूत में अपने लंड को डाल सकूं लेकिन मैंने सब कुछ धीरे-धीरे करना ही ठीक समझा ताकि उसका विश्वास मुझ पर बना रहे. पंजाबी देसी सेक्समेरा हाथ उसकी चिकनी जांघों पर फिसलते हुए सीधा उसकी पेंटी तक पहुंच गया.

अपने इसी स्वभाव के चलते वो मेरे साथ और मेरे पति के साथ भी मजाक करने लगे. मगर जैसे-जैसे चुदाई आगे बढ़ रही थी वैसे-वैसे अब वो बहुत आक्रामक लगने लगा था.

एक लड़का मेरी बहन पूनम के बूब्स पकड़ कर दबा रहा था और दूसरा उसकी जांघों को सहला रहा था. सुमिना उसके लंड के झुक गई और मैंने देखा कि मेरी बहन की गांड पीछे की तरफ उठ गई और उसका मुंह उस लड़के की गांड के आगे की तरफ उसकी जिप वाले हिस्से में चलने लगा. मुझे चुदाई का बहुत शौक है और जवानी भी मुझे इस बात के लिए मजबूर कर रही थी कि कोई चूत मिल जाए तो बस चोद दूँ.

उन्होंने कपड़े पूरे पहने हुए थे लेकिन उनके मुंह से आह्ह … स्स्स … आह मानसी … हम्म … जैसी कामुक आवाजें निकल रही थीं. भाबी ने ये कहा और लंड को दबाते हुए मुझे छेड़ा- देखो तो कितना रॉड की तरह तना हुआ खड़ा है. मगर जब मैं देखने तो गई तो दूसरे केबिन में मुझे कोई भी नजर नहीं आया.

पार्टी में बहुत सारे लोगों को आना था, तो मैं सज धज कर जाने के लिए तैयार होने लगी.

मैंने इवेंट के लिए साड़ी और हाफ स्लीव का ब्लाउस पहना था और मेकअप भी अच्छा किया था. मैं तुरंत कैंची लेकर आया और चाची के चूत के लम्बे बालों को काटने लगा.

लेकिन उसके बाद उसने मेरी चूचियों को दबाना शुरू कर दिया और जल्दी ही मेरी चूत का दर्द कम होना शुरू हो गया. उसकी मादक सिसकारियों से पता चल रहा था कि अब वो लंड लेने के लिए तैयार है. अब मैं आंटी की ड्रेस पर ध्यान दिया तो उसकी नाईटी तो एकदम ट्रांसपैरेंट थी.

राजे आज तू यह रबड़ी मेरे दूधों पर रख के खाएगा … देख कितना मज़ा आएगा मादरचोद … तू भी क्या याद रखेगा कि क्या रबड़ी खायी थी. मैंने बोला- अच्छा जी … सही है और बताइये क्या प्लान है?वो बोली- मेरा कोई प्लान नहीं है, मैं तो फ्री हूँ. ”रात की बेड की बात तो मैं समझ सकती हूँ … मगर ये बाथरूम में डिल्डो कहां से आया?”हहहहहा …” करके सरला हंस पड़ी.

ब्लू बीएफ बीएफ ब्लू मैंने हाथ उसकी पीठ पर रख कर दूसरी तरफ घुमाया और फोर्थ फ्लोर की तरफ चल दिया। वो वैसे ही नंगी हाथ पीछे किये हुए मेरे साथ चलने लगी. मगर मां को ये अहसास नहीं होने दिया कि मैं आंटी की तरफ आकर्षित हो रहा हूं और उसको चोदने का प्लान बना रहा हूं.

देसी बीएफ सेक्सी वीडियो एचडी

भाभी ने मेरे लंड को अपने हाथ में पकड़ लिया और मैंने भाभी के होंठों को चूसना शुरू कर दिया. उसने एक नीले रंग का गाउन पहन रखा था जिसमें से उसके उरोज ज्यादा तो नहीं दिख रहे थे मगर हल्की सी घाटी यह जरूर बता रही थी अंदर और भी गहराई है. मैं- उस बेचारे की कोई गलती नहीं है, तुम्हारी गांड और चूत से जो गर्म हवा निकल रही है, वो ये बर्दाश्त नहीं कर पा रहा है.

मेरा जिस्म बहुत अच्छा है और मेरी चूची और गांड का आकार भी बड़ा सेक्सी एंड हॉट है. हमने एक दूसरे को अपना फोन नंबर दिया और फिर धीरे धीरे लेट नाइट चैटिग चालू हो गई और फिर बाद में आगे बढ़ने लगी. करीना कपूर न्यूड फोटोइस पर दिलिया ने कहा- तो कर लेना, आओ तो सही, मैं चैलेंज देती हूँ तुम हार जाओगे.

मैंने फट से गिलास नीचे रखा और उसके करीब होते हुए उसके कंधे को सहलाते हुए बोला- मैं सच में तुमसे बहुत प्यार करता हूँ अदिति.

”हमारी डॉक्टर ऐसे नहीं देखती, सब खोलिए … पूरी नँगी!”ऐसे तो कहीं नहीं होता?”जल्दी करिए नहीं तो मैं करूँगी. सफ़ेद रंग का पारदर्शी गाउन, उसमें से चमकता उनका दूधिया बदन, लाल रंग की जरा सी ब्रा और पतली पट्टी जैसी पैंटी साफ़ नुमाया हो रही थी.

इसके लिए आप अपने मत और सुझाव मुझे मेल के जरिये जरूर भेजिए, जिससे मैं अपनी कहानी को और रोमांटिक तरीके से आपके सामने पेश कर सकूं. मैं अपने नंगे बदन को चादर से ढकने की कोशिश कर रही थी लेकिन चादर नीचे दबी हुई थी. उसके बाद नीचे वाले लड़के ने अपनी उंगलियाँ निकाल लीं और मेरी बगल में खड़ा होकर अपने कपड़े उतारने लगा.

मुझे लग रहा था कि उसको भी मजा आ रहा था और वो बार-बार मजे लेने के लिए ब्रेक मार रहा था.

मैं उन चारों के पीछे-पीछे कभी काजल को देख रहा था और कभी आस-पास की दुकानों पर नज़र घुमा कर टाइम पास कर रहा था. मैं जोर से चीख पड़ी- उई माँआह … मर गई … अंकल छोड़ दो … उम्म्ह… अहह… हय… याह… मैं आपके हाथ जोड़ती हूँ. ”हां और तुमने मास्टर को फॉलो नहीं किया, इस लिए तुम्हें पनिश (दण्डित) किया जाएगा.

सेक्सी वीडियो जंगलरिदम ने अपना एक हाथ मेरे हाथ पर रख दिया और मेरे हाथ को मसलने लगा और उसके बाद वो मेरी चूचियों तक अपना हाथ ले गया और मेरी चूची को दबा दिया. बलवन्त बिना रुके जोर जोर से मेरी गांड मार रहा था और मैं दर्द से कराहते हुये रो रही थी.

बीएफ वीडियो सेक्स बीएफ

वैसे तो मुझे भी गरबा और डांडिया खेलने का शौक है और मुझे डांडिया खेलना आता भी है. मैंने अपने बेटे को अपने जवान जिस्म के कुछ जलवे दिखाए और उसके साथ शिमला घूमने जाने का कार्यक्रम बना लिया. तभी मैंने उसकी टाँगें उठा कर अपने कंधे पर रखी और उसकी चुत पे लंड टिका कर जोर का धक्का चुत पे मारा.

”फ़िर बड़ी वाली ने छोटी बहन की कमर में हाथ डालकर उसे झुकाया और जीभ से उसकी चूचियां चाटते हुई बोली- लो अब चोदिये इसकी चूत को पापा. काफी देर तक और अच्छे से मालिश करने के बाद उसने गप्प से लंड को अन्दर लिया और अपनी दोनों हथेलियों को मेरे सीने पर रखते हुए धक्के लगाने लगी. मेरे खड़े लंड को देख कर वो एकदम से मचल गई और मेरी टांगों की तरफ से बेड पर आकर मेरे लंड को आंटी ने अपने मुँह में भर लिया.

कुछ देर की गांड चुदाई के साथ मैंने मौसी की चुत में उंगली करना शुरू कर दी. मैंने पीछे पलट कर देखा तो वह खड़ी हो गयी और एकदम से मुझे अपनी बांहों में भर कर मुझसे लिपट गई. कई बार मेरा मन भी डोल जाता कि पति से चुदे हुए हफ्ता भर हो गया, चलो कोई नयी कहानी बना लें.

हम कभी लड़ते झगड़ते नहीं थे, हमें बस प्यार के अलावा दूसरा कोई शब्द याद ही नहीं था. वो बोला- अब तू लाइन में आई है, फिर पहले इतना नाटक क्यों कर रही थी? चल तुझे मैं अब फुल मजे दे देता हूं.

मैंने माँ से कहा- माँ, मैं आपको बहुत पसंद करने लगा हूँ और आपके साथ सेक्स करना चाहता हूं.

अजय ने गिलास रखा और मेरे बाल पकड़ के ज़ोर से खींचा और बोला- साली तू तो बहुत गर्म है … तेरी गर्मी निकालनी होगी, साली आज हम दोनों रंडी की तरह तेरी चूत चोदेंगे. इंडियन डॉग सेक्स वीडियोआज जीजा जी भी मुझे उन दोनों का सेक्स दिखाने के लिए जोर से आवाजें निकाल रहे थे. टीवी चैनल दिखाइएनीचे से उसकी चूत की फाँकों को मसलते हुए ऊपर से मैं उसकी चूची को चूस रहा था जिससे अब कुछ ही देर में मोनी की चूत ने कामरस उगलना शुरू कर दिया. मैं मानता हूँ कि मेरा लंड ज्यादा बड़ा नहीं है, पर इतना दमदार ज़रूर है कि किसी भी लड़की या औरत को खुश कर दे.

मैंने उनके पूरे बदन को, यहां तक कि उनको औंधा लिटाकर उनकी गांड की दरार और गांड के छेद को भी बहुत चाटा.

इतने में मेरे दोस्त की मम्मी ने हमें खाना खाने बुला लिया और हम जाने लगे. इसी क्रम में मुझे एक पाठिका सोनम सिंह का मेल मिला जिसमें उन्होंने मेरी कहानियों की तारीफ़ के साथ साथ अपने बारे में भी बहुत कुछ बताया. उनके इस कदम से मैं सिहर उठी और मेरी एक हल्की सी आह निकल गई ‘आईई …’उन्होंने तुरंत अगला कदम ले लिया और टी-शर्ट को मेरे मम्मों तक चढ़ा दिया.

थोड़ी देर बाद नम्रता ने मेरा हाथ पकड़ा और अपनी चूत पर रखकर उसको मसलने लगी. यह कह कर मैंने झट से उसका पूरा लंड मुँह में ले लिया और पूरे जोश से चूसने लगी. मैं उनसे छूटने की पूरी कोशिश कर रही थी मगर उनकी ताकत के सामने मैं कुछ भी नहीं थी.

बीएफ 18 साल लड़की का

उसने अपने पैरों को मेरी कमर में फंसा दिया और मैंने उसके मम्मे को अपने मुँह में लेकर बारी-बारी से चूसने लगा. उसका लंड मेरी गांड में अन्दर बाहर हो रहा था, उसके गोल-गोल अखरोट मेरी चूत पर घिस रहे थे. यदि अब बाहर किसी और से अगर हम दोनों एक साथ सेक्स करें, तो क्या वह हमारी चूत को एक ही समय में संतुष्ट कर पायेगा?जवाब: मीना जी, पॉर्न वी़डियो में जो भी लोग काम करते हैं वो एक व्यवसायिक कलाकार होते हैं.

उससे बात होने के बाद हम दोनों उनके रूम में गए और बैठ कर बातें करने लगे.

फिर उसने अपना लंड मेरी चुत पर सैट किया और मैं लंड ले कर ऊपर नीचे होकर मज़े लेने लगी.

फिर दिशा बेड से खड़ी होने कोशिश करने लगी, लेकिन घमासान चुदाई के वजह से वो एक पल के लिए लड़खड़ा गई. पति- सॉरी यार, अगर मुठ नहीं मारता, तो मैं शांत नहीं हो सकता और वादा करता हूं कि घर आने पर तुमको बहुत खुश कर दूंगा. कुत्ता औरत का सेक्सफिर हम दोनों तैयार हो गये और मैं उसको स्टेशन पर छोड़ कर वापस घर आ कर सो गया.

मुझे देखकर उठ कर खड़ी हो गयी और घर में जाने का मेन गेट खोल के मुझे भीतर आने का इशारा किया. रात के दस बज चुके थे, गुप्ताइन ने कहा- चलो बेबी हम लोग चलें, अब अंकल को सोने दो. मेरी तरफ से कोई विरोध होता न देख कर उन सभी को समझ आ गया कि मैं उनसे क्या चाहती हूँ.

जब भी कोई छोटा सा गड्डा आता, तो वे मेरी पीठ पर अपनी चूचियों को कुछ ज्यादा ही रगड़ देती थीं. या फिर चलो दोनों लोग एक साथ ही मूतने चलते हैं, मैं तुम्हें मूतते हुए देख लूंगी और तुम मुझे.

मेरी आंखों से आंसू निकल गए, मेरी बुर फट चुकी थी और झिल्ली फटने से खून बहने लगा था.

वो चीख निकालती, इससे पहले मैंने उसके मुँह की तरफ जाकर अपना लंड उसके मुँह में अड़ा दिया. शुरूआती समय में कुछ दिन तक तो मेरा ध्यान सिर्फ अपनी एक्सरसाईज पर होता था और एक्सरसाइज पूरी होते ही मैं रूम पे आ जाता था. जब तक मैंने शर्ट उतारी तब तक अंजलि ने मेरी पैंट का हुक खोल दिया और मेरा कच्छा भी नीचे कर दिया.

सेक्सी फिल्म हिंदी में बताओ तभी मुझे पता नहीं क्या हुआ, मैं दिशा के पास को हुआ और उसे भी सोनल के पास खींच कर लिटा लिया. तभी भाबी ने मुझे इतनी गंभीरता से खिड़की से नीचे झांकते हुए देखा, तो कहने लगीं- क्या हुआ देवर जी … तुम नीचे क्या देख रहे हो?मैं उनसे कुछ कहता, इससे पहले भाबी मेरे सिकुड़े हुए लंड की तरफ इशारा करते हुए कहने लगीं- और अपने इस औजार को तो देखो, कैसा चूहे सा सिकुड़ गया है.

फिर मैंने दिशा को लेटाकर बिना देरी किये अपना लंड एक जोरदार धक्के के साथ घुसेड़ दिया … जिससे दिशा कराह उठी. मानसी की टांगों को चौड़ी करके वो उसकी टांगों के बीच में बैठ गये और उसका टॉप उतारने लगे. दोस्तो, भले ही मैं चाहती थी कि अंकल मेरे साथ ये सब करें फिर भी अंकल को ना रोकना … किसी बात पर विरोध न करना मुझे महंगा पड़ा और मैंने अपनी बुर एक ऐसे व्यक्ति से फड़वा ली, जिससे शायद मैं कभी सपने में भी ऐसा करने की सोच नहीं सकती थी.

आदिवासी बीएफ चोदा चोदी

तीसरे दिन उसका फोन आया- आज मेरे पापा आ गये हैं, मैं नहीं आ पाऊंगा, तू आ सके तो आ जा. अआअ धीरे … धीरे … करो बॉस!! आपकी उंगली चूत में लगती है … आह आह्हह्ह!” मैंने मजे में बोल रही थीवो अपनी उंगली से मुझे चोदने लगा. वो एक बड़े गहरे गले का टॉप पहने हुए थी जिसमें से उसकी दूध घाटी मेरे लंड को खड़ा किए जा रही थी.

मानसी ने जीजू के निप्पलों को चूसना जारी रखा और फिर जीजू ने उठते हुए अपनी शर्ट को पूरी तरह से निकाल दिया. इस बारे में मैं आगे खुलासा करूंगा, आप मेरी कहानी पढ़ते रहिये और मजा लीजिये.

मानसी ने जीजू को अपनी बाहों में भर लिया और उनकी कमर पर हाथ फिराते हुए उनके होंठों को चूसने लगी.

मैं एक बार तो सोचने लगी कि इतना मोटा लंड मेरी छोटी सी चूत में कैसे जाएगा, पर मुझ पर तो चुदने का भूत सवार था, तो मैंने सोचा कि जो होगा देखा जाएगा. भैया बोले- हां मेरी रानी … आ जा लेट जा बिस्तर पे, मैं तेरी मालिश कर देता हूँ. जिन्होंने नहीं देखी, उन्हें मैं बता दूं कि ये एक सॉफ्ट कोर पोर्न मूवी जैसी है.

जब मेरा लंड 5″ तक अन्दर घुस गया, तो दर्द के मारे भाभी का बुरा हाल होने लगा … लेकिन उन्होंने मुझे रोका नहीं. ये मेरा पहला अवसर है इसलिए मुझसे कोई ग़लती हो जाए तो प्लीज़ माफ़ कर देना. बयालीस वसंत पार कर चुकी खूबसूरत, विवाहिता, दो बेटों की माँ, सभ्रांत और बैंक अधिकारी महिला के साथ सेक्स करने का का वो अनुभव भी कमाल का रहा; पर वो सब बातें मेरी कहानी का विषय नहीं हैं.

फिर उसने मेरे कंधों से मुझे पकड़ कर ऊपर उठाते मुझे अपने ऊपर गिरा लिया.

ब्लू बीएफ बीएफ ब्लू: फिर मैंने वीर्य गिरे हुए ही उसकी गांड के तीन-चार फोटो अपने फोन में निकाले. अब उसने मुझे नीचे लिटाया और वो अपनी नाइटी अलग करते हुए मेरे ऊपर चढ़ गई.

भाबी की चुत एकदम क्लीन थी … और उसमें कोई मस्त सुगंध लगाईं हुई थी, जिस वजह से मैं भाबी की चुत को अच्छी तरह चाटने लगा. कहानी की मांग तो उत्तेज़क और कामुक होना होती है, अश्लील होना तो क़तई नहीं. उसके किस करते ही मेरे मुँह से आवाज़ निकलना बंद हो गई और मैं भी चुदाई का मज़ा लेने लगी.

उसके शरीर से हल्के हल्के पसीने की महक आ रही थी, जो मुझे बहुत सेक्सी फील करवा रही थी.

थोड़ी ही देर में दोनों ने एक दूसरे का अच्छे से चाटकर साफ कर दिया और उसके बाद एक दूसरे से चिपक गए. तुम अपनी दीदी की चिंता मत करो, बस इन पलों का मजा लो मेरी जान!कहकर जीजा ने मुझे फिर से चूसना शुरू कर दिया. तो मेरा जबाब यह है कि बंदानवाज़ … दरअसल काम-कथा में अश्लीलता का होना लेखक के संकुचित दृष्टिकोण और एक लेखक के तौर पर उस के सीमित सामर्थ्य को दर्शाता है, ऊपर वाले की मेहरबानी है कि मुझ पर ऐसा कोई आरोप नहीं.