एक्स एक्स बीएफ हिंदी सेक्स

छवि स्रोत,नंगी पिक्चर देखने

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ नहाने वाली: एक्स एक्स बीएफ हिंदी सेक्स, तो ऐसी ही कोई अपने ब्वायफ्रेंड से चुदी लड़की उनकी बीवी क्यों नहीं हो सकती?”मर्दाने समाज का दोगलापन। खुद शादी से पहले पचासों जगह लंड ठूंस लें लेकिन शादी में लड़की एकदम कुंवारी सीलपैक चाहिये हरामजादों को।”शादी की नौबत आये तो पहले ही परख लेना सामने वाले को.

मराठी बीएफ मराठी बीएफ मराठी बीएफ

शीघ्रपतन भी ऐसी ही समस्याओं में से है। आप को यह जानना जरूरी है कि कहीं न कहीं आपकी बचपन की गलतियों के कारण भी कई ऐसी समस्याएं उत्पन्न हो जाती हैं जिनमें से एक है- हस्तमैथुन।हस्तमैथुन करना एक प्राकृतिक क्रिया है और इसका नुकसान तब तक नहीं होता है जब तक कि हस्तमैथुन करने का सही तरीका और मात्रा आपको पता होता है. बीएफ इंग्लिश पिक्चर इंडियनशबनम ने अपनी टांगों को और फैला लिया और अंकित की पीठ पर उसको रख दिया.

मित्रों मैं राजस्थान के सीकर जिले का मूल निवासी हूँ और मैं जयपुर का हाल निवासी हूं. भोजपुरी गाने वीडियो सेक्सीउनकी गांड भी मारने की कोशिश की, पर उनकी गांड बहुत ज्यादा ही टाइट थी, इसलिए उसे छोड़ दिया.

राजवीर के शब्दों में- तो मेरे प्यारे दोस्तो, अब समय आ गया है श्लोक के मुंह से याराना के चौथे दौर की पहली घटना सुनने का, जब मेरी बीवी रीना मेरे साले श्लोक के साथ अहमदाबाद में थी.एक्स एक्स बीएफ हिंदी सेक्स: फिर जब वो अपने चूचों पर लगे साबुन को धोते हुए पलटी तो उसके दूध से चूचों को देख कर मेरा लंड और टाइट हो गया.

मैं भी चाची के साथ पम्प की नीचे खड़ा हो गया और हम दोनों एक दूसरे के बांहों में आ गए.फिर मैंने अपना तौलिया हटा दिया ताकि उसको गर्म कर सकूं और वो कम से कम मेरे लंड को पकड़ कर हिला दे और मुझे थोड़ा चैन मिल जाये.

सेक्सी ब्लू पंजाबी पिक्चर - एक्स एक्स बीएफ हिंदी सेक्स

मुझे उसकी ये बात सुनकर बहुत गुस्सा आया कि साला मेरी बहन के बारे में क्या बोल रहा है.तुम्हारा ये दूसरा नंबर मेरे पति के मोबाइल में सेव था, तो मैंने अपने मोबाइल में ले लिया.

कम्मो बेटा, मेरा लंड खाकर अब तू लड़की से औरत बन गयी अब तो मजा आ रहा है न मेरे लंड का?” मैंने उससे पूछा. एक्स एक्स बीएफ हिंदी सेक्स गे सेक्स स्टोरी के पहले भागकुलबुलाती गांड-1में आपने पढ़ा कि मैं गांडू हूँ तो मैं गांड मराना चाहता था अपने रूममेट से … लेकिन उसे मुझमें कोई रूचि नहीं लगती थी.

वो जल्दी से कुर्सी पर बैठ गयी, लेकिन वो सेक्स स्टोरी अभी भी उसके हाथ में थी.

एक्स एक्स बीएफ हिंदी सेक्स?

लो अब मुंह खोलो!” मैंने लंड से उसके मुंह पर पटक कर दो तीन बार नॉक किया. शायद संजना ने मुझे उसके घर के अंदर आते हुए देख लिया था और वह मेरा इंतजार दरवाजे पर खड़ी कर रही थी. वह अपने इन मस्त और रसीले होंठों को फेरते हुए मेरी जांघों पर आ पहुंची.

यह देख कर राज का लंड भी उसके शॉर्ट्स में तन कर अलग से दिखाई देने लगा था. फिर मोहिनी और मेरी वाइफ दोनों 69 की पोज़िशन में आ गए … और मैं मोहिनी के पीछे से उनकी गांड चाटने लगा. मैं उसका मुँह देखती रह गई और सोच रही थी कि यह आख़िर मुझसे ही क्यों यह सब पूछ रहा था.

उसने फिर से लंड चूसना शुरू किया और मेरे आंड चाटते हुए उसने मेरी गांड पर ज़ुबान फेर दी. एक दो मिनट तक वो मुझसे कुछ नहीं बोली, बस अपनी बियर पीने में लगी रही. मगर जब भी मैं चुदाई के लिए तैयार होती तो वह मुझे नजर अंदाज कर देता था.

मैंने चूत के दाने को अपने होंठों में भरकर चूसना शुरू कर दिया और हल्के हल्के से अपने दाँत से चुभलाते हुए खींचना और काटना चालू कर दिया. फिर मैंने अपनी पैंट की चेन को खोल लिया और अपने लंड को अंडरवियर से बाहर निकालते हुए चेन से बाहर निकाल लिया.

भाभी बाहर आकर डोर लॉक करने लगी और मुझे कहा- हमारे यहाँ एक ही बेड है.

मैंने उसकी चूत की फांकों को खोल कर अन्दर से गुलाबी रंगत लिए हुए उसकी गीली सेक्सी चूत में अपनी जीभ घुसेड़ दी.

” नीलम ने हाँफते हुए कहा।बेटी क्या हुआ?” महेश ने इस बार दूर से ही नीलम से पूछा।पिता जी मैं थकी हुई हूँ. उसने मेरा हाथ चुत से निकाला और मेरी चार उंगलियां जबरदस्ती अपनी चुत में ठुंसवा लीं. अगर ये सही बात है कि तुझे बिना कुछ किए काम मिल गया है, तो वहां पर मेरी भी नौकरी लगवा दो.

उसने मेरी गांड की चुदाई तो इतनी जबरदस्त तरीके से कर दी थी कि मेरी गांड तो पूरी फट ही गई थी. मैंने अपने अंगूठे से वीर्य को उठाया और चाची की माँग और उनकी चूत की माँग भर दी जैसे सिंदूर से माँग भरते हैं।और बोला- लो मेरी जान … अब हो गई मुझसे और मेरे लंड से तुम्हारी शादी।इसी खुसही में चाची ने मेरा लंड चाट चाट कर साफ किया।चाची मेरे लंड से चुद के पूरी संतुष्ट थीं, वो उनके चेहरे पर नज़र आ रहा था।इसके बाद तो मैं जब चाहे चाची को चोद देता हूँ. उसके बाद मेरे चचेरे भाई ने मेरी चूत पर धक्का दिया और मेरी गीली चूत में अपना लंड घुसा दिया.

जब भाभी जी छत पर आईं और उन्होंने मुझसे क्या मांग की, ये सब मैं आपको अपनी अगली सेक्स कहानी में लिखूँगा.

मैडम बोलीं- चलो इधर सबको डिस्टर्ब करना ठीक नहीं है, बाहर चलकर बात करती हूँ. उसकी सिसकारी सी छूट गई और वो मुझसे लिपटने की कोशिश करने लगी।फिर मैंने उसके होंठों को अपना निशाना बनाया और वहां भी एक सील लगा दी। मैंने प्रीति को वहीं पर किश करना शुरू कर दिया. उस दिन जब भाई ने मेरी चुदाई की तो भाई कहने लगा- तेरे बूब्स और तेरी चूत तो मेरी गर्लफ्रेंड से ज्यादा से मस्त है.

जब मेरी आवाज पर जब कविता बोलती कि ‘यहां कोई नहीं है, पापा मम्मी खेत गए हैं. कब उसने मुझे किस करते करते अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया, मुझे पता ही नहीं चला. राहुल बोला- ऐसे ही बिना कपड़ों के?पिंकी हंसती हुई बोली- हाँ मैं तो चल सकती हूँ.

अब मैंने कहा कि भाबी मेरा होने वाला है … पानी किधर निकालूं?भाबी ने कहा- मेरी चूत में ही झड़ जाओ.

सिर्फ एक दूसरे से प्यार और भरोसे के बदौलत ही हम दोनों ने ये लुत्फ़ उठाया था. मैं खिड़की के और करीब सरक गयी, जहां शीशे के बीच से रशीद और सलमा दोनों दिख रहे थे.

एक्स एक्स बीएफ हिंदी सेक्स उसने लंड के सुपारे पर थूक लगाया और मेरी चूत की फांकों में सुपारा घिसने लगा. मेरी स्माइल देख कर वो धीरे से मेरी तरफ बढ़े, मेरे दिल की धड़कनें तेज हो गयी थीं.

एक्स एक्स बीएफ हिंदी सेक्स मैंने उन्हें समझाया कि किसी को कुछ पता नहीं चलेगा … आप बेफिक्र रहिए. फिर तो सोफे पर, बाथरूम में, किचन में, हर जगह मनोज की चूमा चाटी चलती.

मेरे उत्तेजित लंड का अपने‌ कूल्हों पर स्पर्श पाते ही नेहा के बदन ने झुरझुरी सी ली.

चुदाई वाली बीएफ चुदाई वाली फिल्म

मैंने भाभी की योनि अंदर दो उंगलियों को डालकर अंदर बाहर करना चालू कर दिया तो उनकी योनि से पानी भी निकल आया था और ऊपर दूसरे हाथ से ब्रा के बाहर स्तन निकाल कर चूसना भी चालू कर दिया था. इतने में मैंने एक झटका और दे दिया, जो मेरे लंड को उसके कंठ की जड़ों तक ले गया. अब मैंने उससे कहा- तुम भी अब मेरे लंड को चूसो!तो स्मृति अब मेरा लंड चूसने लगी, मुझे बहुत अच्छा महसूस हो रहा था लेकिन मैं भी उसके चूसने के थोड़ी ही देर बाद उसके मुँह में झड़ गया और थककर उसके ऊपर लेटकर उसके बूब्स को चूसने लगा, उसकी चूत में उंगली करने लगा.

बॉस जोर जोर से अपना लंड मेरी गांड के अन्दर तक घुसा देते और फिर निकाल कर लंड से गांड की छेद पर ठोक दे रहे थे. जिस दिन मोहन भैया को मेरी चूत चोदने के लिए मिलती है, तो वो बहुत खुश हो जाते हैं. उनसे कभी यह तो नहीं सोचा जाता कि जब तक मेरी बेटी की चूत का पूरा इंतज़ाम ना हो जाए, मैं भी लंड नहीं लूँगी.

इतने में भाभीजी नाचते हुए अपना पल्लू नीचे गिरा दिया और मेरे सामने झुक कर अपने स्तन दिखाने लगीं.

मैंने जो उनके लोन का पैसा जमा करा दिया था, वो उन्होंने मुझे वापस किया. मुझसे ये देख कर रह ही नहीं गया और मैंने अगले ही पल पूजा की चुत चाटना शुरू कर दिया. मैं बाथरूम में गई और अपने सारे कपड़े निकाल दिए और उनके दिलाये नये कपड़े पहन लिए।लाल रंग की चड्डी, लाल ब्रा और लाल रंग की छोटी सी फ्राक … फ्राक तो इतनी ही थी कि किसी तरह मेरी जांघों को ढक रही थी। जालीदार होने के कारण मेरा गोरा बदन उसमें से झलक रहा थाजैसे ही मैं रूम में गई तो देखा कि अंकल ने वहाँ बीयर की 2 बोतलें मंगा के रखी हैं.

मैंने भी उनकी जांघें खोल दीं और पेंटी के ऊपर से ही उनकी चूत को रगड़ने लगा. बिना एक भी सेकंड गंवाए उसकी उँगलियाँ इलास्टिक को नीचे खिसका रही थी. लेकिन कल मेरी अन्तर्वासना को टटोल कर उसने मुझे बेशर्म बनाने पर मजबूर कर दिया था.

वो मस्त हो गई और अपनी गांड पीछे धकेलते हुए मेरे धक्कों का जबाव देने लगी. मुकुल राय- बाहर निकाल लूँ?परीशा- नहीं पापा बाहर मत निकालना … यह दर्द तो हर लड़की को जिंदगी में एक ना एक बार तो सहन करना ही पड़ता है.

जब ये कहानी घटी थी, तब से अब तक भी हम जब भी मिलते हैं, खूब चुदाई करते हैं. बिस्तर में आने के बाद मैंने पूजा से पूछा- कहानी कैसी लगी?पूजा- शुरू शुरू में अटपटी सी … लेकिन बाद में मज़ा आया. आंटी अपनी चूत खोल कर मेरे ऊपर बैठ गईं और मेरे सीने पर काटने और चूसने लगीं.

वो अपने ट्रांसफर से पहले सात-आठ बार आया लेकिन दो बार के बाद वो ऋतु को अकेले में ले जाता और उसे चोदता.

शबनम ने अपनी टांगों को और फैला लिया और अंकित की पीठ पर उसको रख दिया. इस पर उसकी पत्नी यानी मस्त भाभी जी हाथ जोड़ कर बोलीं- हमारी इज्जत खराब हो जाएगी. ऐसे करते हुए उन्होंने मुझे इशारा किया कि पीछे से मेरा ब्लाउज खोल दो.

उस दिन जब वो मुझसे मिलने के लिए आया अब मेरे दिल में उसके लिए एक जगह सी थी क्योंकि मैं जानती थी कि मेरे जिस्म के साथ कौन खेलेगा. मैं ओके कह दिया और इसी कारण मैं शाम को करीब आठ बजे उसके घर जाने के निकलने लगा.

मैं इतना अधिक उत्तेजित हो चुका था कि बस 3-4 मिनट में ही मैं झड़ गया. तभी वो अलग हुई और बोली- इससे ज्यादा इधर और कुछ नहीं हो सकता इसी लिए मैं तुमसे अकेले में मिलना चाहती हूँ. फिर दोनों ने एक एक करके दोनों मम्मों को अपने अपने मुँह में लिए और चूसने लगे.

कोलकाता देसी बीएफ

फिर मेरी बीवी ने अपनी पेंटी को एक साइड से सरकाया और अपनी नंगी चुत को खोल कर मेरे मुँह पर रख दिया.

” महेश ज़ोर से सिसकते हुए अपनी बहू को समझाते हुए बोला।नीलम को उस वक़त जैसे होश ही नहीं था. ”हओ… ठीत है गुलुजी।” गौरी ने हंसते हुए कहा।गौरी एक काम तो आज से करो?”त्या?”एक तो ‘हओ’ और ‘किच्च’ की जगह अब ‘यस’ और ‘नो’ बोलना शुरू करो। और अंग्रेजी के छोटे-छोटे वाक्य बोलना शुरू करो जैसे थैंक यू, सॉरी, प्लीज, ओके, वेलकम, स्योअर … आदि।”हओ… सोल्ली… इ. मैं- कैसे भूल सकता हूँ आपको … बोलो कैसे याद किया?भाभी बोलीं- अचानक गायब क्यों हो गए.

और अचानक मेरा वीर्य अंडों से तेज़ी से निकलते हुए लन्ड के रास्ते सीधा उसकी चूत में उतर गया। मैं तब तक उसकी चूत में धक्के मारता रहा जब तक कि मेरे वीर्य की आखरी बूंद उसकी चूत में न झड़ गई. उसने डरते हुए मुंह खोल दिया और सुपारा चाट के मुंह में भर लिया और कोई आधे मिनट तक चूसती रही. चूत वाली ब्लू फिल्मसबके कहानियां पढ़ने के बाद मुझे भी इच्छा हुई कि मैं भी अपनी कहानी आपको बताऊं.

शबनम ने अपनी एक टांग उठा कर अंकित के ऊपर रख दी और उसके और पास खिसक कर अपनी चूत को हल्के हल्के रगड़ने लगी. तो रचना बोली- भैया मैं भी आपके साथ चलूंगी दिल्ली … मुझे मॉडलिंग करनी है.

उसने मेरे अंडवियर को उतार दिया और मेरे लंड को अपने हाथों में भर लिया. मैंने कहा- क्या कर रही हो … आप तो बोल रही थीं कि पीती नहीं हो … और आज तो हाहाकार मचा रही हो. इस तरह से बातें करते हुए वो धीरे-धीरे अपनी बहन की चूत चुदाई कर रहा था.

ये कहते हुए मैंने मोहिनी से कहा- देखो आज की रात भी आपकी बेटी टॉयलेट करने के लिए टॉयलेट जा रही थी. क्योंकि कल तक तो वो मुझे और पिंकी को पकड़ने की फिराक में रहती थी और आज वो खु्द ही मुझे बता रही थी की अगले महीने‌ पिंकी आ रही है।पहले जब मेरे और पिंकी के‌ सम्बन्ध थे, तब मैं पिंकी की भाभी से काफी हंसी मजाक कर लिया करता था जिसको वो कभी बुरा नहीं मानती थी। वो देखने में भी काफी सुन्दर है इसलिये पिंकी के साथ साथ मेरी नजर उस पर भी रहती थी. दीदी का हाथ मेरे सर पर आ गया था और उनके हाथ में एक दबाव सा था, जो मुझे उनकी चूचियों पर लाने के लिए महसूस हो रहा था.

इधर मैं खाना बना रही थी और उधर वो दोनों शराब पीने में व्यस्त थे। सुखविन्दर बार बार मुझे देखे जा रहा था। कई बार मुझे देख मुस्कुरा भी देता तो मैं भी मुस्कुरा कर उनका अभिवादन कर देती.

मैं सकपका गया कि एक अजनबी लड़की इतने खुले रूप में कैसे बोल सकती है। मेरे तो हाथ पैर फूल गये, यह क्या माजरा है, मैं उसकी तरफ प्रश्नसूचक दृष्टि से देखने लगा. मैंने इशारे में पूछा- क्या हुआ?तो उन्होंने इशारे में ही बोला कि कुछ नहीं.

रोहन- ये मेरे लिए बड़े सम्मान की बात है कि आपने मुझे इस लायक समझा … वरना मैं किस क़ाबिल हूँ. समझदार छोरी थी तो मेरा मकसद फौरन समझ गयी और उसने अपने दोनों हाथ मेरी छाती पर टिकाये और कमर को ऊपर उठाया और फिर बैठ गयी; मेरा लंड किसी पिस्टन की तरह उसकी चूत में से बाहर निकला और फिर से वहीं जा छुपा. मैं भी अब तुरंत ही खिसक‌ कर थोड़ा सा नीचे हो गया और अपने गीले होंठों को उसके नंगे पेट पर रख दिया, जिससे वो सिहर सी गयी.

” महेश ने अपनी बहू को देखते हुए कहा।नहीं पिता जी, फिर यह हर रोज़ ऐसा करने को कहेगा. मैं बोली- देखो, ये सब गलत है … प्लीज ऐसा मत करो … तुम तो मजे लेते ही हो और लड़कियों के साथ … मुझे कोई मजे नहीं चाहिए. मेरे लिए ये सब नार्मल था … क्योंकि वो मेरी सबसे अच्छी दोस्त थी और हमारी दोस्ती बहुत समय पुरानी थी.

एक्स एक्स बीएफ हिंदी सेक्स मैं- चाची … क्या हुआ? आपको चलने में तकलीफ क्यों हो रही है?चाची- एक हफ्ते से मैं ऐसे ही चल रही हूँ … और तुझे अब दिखी चाची की तकलीफ!मैं- मैंने तो ध्यान नहीं दिया. ”अरे मेरी जान इसमें शर्म की क्या बात है यह तो भगवान् का एक पवित्र और और नैसर्गिक कार्य है हम तो बस एक माध्यम हैं.

बीएफ चुदाई पिक्चर हिंदी में

किंतु सोने से पहले जब रीना ने अपने सारे कपड़े उतारे तो उसकी गोरी पतली कमर पर चमकदार कुल्हे देख कर मेरा लन्ड हिचकोले खाने लगा। दोस्तो, रीना के शरीर का बखान तो मैं सब ही कहानियों में कर चुका हूं. मैंने उसकी गांड को थाम लिया और फिर उसके चूतड़ों को अपनी तरफ खींचते हुए एक जोर वाला धक्का लगाया तो आधा लंड उसकी गांड को फाड़ता हुआ घुस गया. कुंवर साहब ने कहा- नहीं रसिका बहू, आपको तकलीफ क्यों दूँ, मेरा काम तो देर रात तक चलता है.

चूत के ऊपर हल्के हल्के काले रेशमी किसी आइसक्रीम पर टॉपिंग की तरह लग रहे थे. मैं उसके मम्मों को दबाते हुए गर्म हो रहा था और आलिया भी गर्म हो रही थी. সানি লিওন এক্স এক্স ফটোमैं अधिकतर समय अपने दोस्तों के साथ बिताता हूं या फिर मैं अपने घर में टीवी ही देखता रहता हूं।मेरे पिताजी पुलिस में है और वे मेरी इस आदत से बहुत परेशान रहते हैं। वे मुझे कहते हैं कि बेटा इतनी टीवी मत देखा करो.

फिर ब्रेक फास्ट पर चलेंगे तब तक।वे- रोज दो तीन घंटे करते हो?मैं- जी हां, जब तक फ्री रहता हूं।मामा जी- अच्छी आदत है।वे फिर मेरे पास आ गए- तभी तो तुम्हारी इतनी पतली कमर है।मेरे पेट पर हाथ फेरते बोले- बिल्कुल सपाट रखा है … उस पर ऐसे मस्त कूल्हे!वे फिर मेरे चूतड़ों पर हाथ फेरने लगे, बोले- जिनकी कमर पतली होती है, उनके कूल्हे भी पिचके होते हैं और जिनके कूल्हे बड़े होते हैं उनकी कमर भी मेरी जैसी होती है.

फिर वो सागर की तरफ़ देखते हुए बोली- सागर जी … ज़रा ख्याल रखिएगा मेरी सहेली का … अभी इसकी शादी नहीं हुई है. पर चलिये एक बार और बता देती हूँ।मेरा नाम सुहानी चौधरी है और मैं उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले से हूँ। मेरी उम्र 22 साल है और फिलहाल मैं दिल्ली से बी.

कभी अपने निप्पलों मेरे लंड के सुपारे पर दबाती, कभी उसे किस कर लेती. मतलब हम उस पल इतने करीब हो गए थे, जहां उसके मम्मे मेरे सीने से दबाव बनाए हुए थे. मैंने फ़ौरन उसे वापस पकड़ा और उसके होंठों को चूमते हुए मैंने अपने एक हाथ से अपनी पैंट की जिप खोल कर लन्ड बाहर निकाल लिया और उसके एक हाथ में थमा दिया। उसने मेरा लन्ड मुट्ठी में भर लिया और तेजी से हिलाने लगी। मेरा लन्ड तुरंत खड़ा हो गया.

जब वो मेरी जांघों की मसाज कर रही थी तो मैंने उसका हाथ पकड़ कर अपने लंड पर रखवाने की कोशिश की लेकिन वो साली नहीं मानी और गुस्सा होकर चली गई क्योंकि उसका टाइम खत्म हो गया था.

कुछ देर तक वे दोनों यूं ही घूमते रहे, जब उनको कोई नहीं दिखा, तो थोड़ी देर बाद उस आदमी ने सिगरेट जला ली और लंड सहलाते हुए सिगरेट पीने लगा. जब भी वो बोलती है मैं उसकी जरूरत पूरी करता हूं। उसके साथ रहते हुए मुझे भी काफी अच्छा लगता है. प्रिया की इस अदा पर मुझे बड़ा ही तरस और प्यार आ गया, सही में उसने रात में ही उस बेडशीट की धुलाई की और फिर प्रेस करके उसे सुखा लाई थी.

ब्लू सेक्सी देवर भाभी कीमेरा भाभी के बड़े बड़े मम्मे दबाने का मन करने लगा था, पर अपने नसीब में भाभी के मम्मे नहीं दिख रहे थे. दादाजी बोले- तू मोबाईल कहाँ रखेगी … तेरे घर वाले पूछेंगे कि किसने दिलाया, तो क्या बोलेगी.

सेक्सी बीएफ पिक्चर फुल मूवी

मैंने उसके पैरों से ऊपर होकर उसके मुँह पर किस किया और बोला- देखा कैसा टेस्ट है तेरी चूत का … तूने अपनी चूत को कभी टेस्ट किया है?उसने हंस कर मुँह फेर लिया. धीरज ने उसके मम्मों को ऊपर जाली से ही चूसना शुरू कर दिया और नायरा ने भी उसका लंड उसके बरमूडा से बाहर निकाल दिया और मसलने लगी. वाह, क्या कांटा माल था … एक नंबर की छमिया, भरे भरे मम्मे, गोल गोल चूतड़ आंखें जैसे बोल रही हों कि आओ मुझको चोद दो.

फिर विकी ने मुझे पलटने के लिए कहा और गजन ने सामने से मेरी चूत में लंड को डाल दिया. दो पैग के बाद भी मुकेश बहुत दुखी था और वैसे तो वो 3 से ज्यादा पैग नहीं पीता था. जब उसका दर्द खत्म हो गया तो वो खुद को गालियां दे कर कहने लगी- चोद दो मुझे, फाड़ दो मेरी कमीनी चूत को, दो दिन तक लंड को बाहर मत निकालना.

फिर वो अपनी जगह से हटी और मुझे पानी देते हुए बोलीं- बड़ा प्यासा लग रहा है. उसने हाथ नीचे करके पैंट के ऊपर से ही मेरा लंड पकड़ लिया और मसलने लगी. उसकी खुशी इतनी ज्यादा थी कि वह अपनी आंखों के आंसू छलकने से रोक न सकी.

एक कमरे में … या यूँ कहें कि एक बेड पर मैं और वेरोनिका थे और दूसरे बेड पर एना और हेक्टर थे. मेरे पैरों तले से जमीन खिसक गई, जिसका साथ था, अब वह भी साथ नहीं रहा था.

वो मेरे लंड को चाटती ही रहीं, जिससे मेरा लंड फिर से खड़ा होने लगा था.

अगली सुबह सुबह 5 बजे मेरा मन फिर से कुसुम को चोदने का हुआ, तो मैंने एक राउंड और लिया. बच्चा होने वाला सेक्सीथोड़ी देर तक चूसने के बाद पिंकी खड़ी हुई और खड़े खड़े ही उसने राहुल का लंड अपनी चूत के मुहाने पार रखा और जोर से राहुल से चिपटी. kana सेक्सअब तो कुछ यूं हो गया था कि मैं अपनी सहेली से तो थोड़ी ही देर बात करती थी, मोहन भैया से ही ज्यादा बात करना पसंद करने लगी थी. निश्चित ही नायरा के मम्मे पिंकी से बड़े थे पर जिस स्टाइल से पिंकी ने चुसाई की और करवाई है वो अदा अनोखी थी.

उनका रंग गेंहुआ था, लेकिन कपड़ों के अन्दर रहने की वजह से वो हिस्सा काफी गोरा था.

मेरा बांध भी अब टूटने की कगार पर था तभी वो अपनी टांगें मेरी गांड के ऊपर रख कर दोनों टांगों को लपेट मेरी गांड पर रखते हुए मुझसे चिपकने लगी. एक दिन बिस्तर में मैंने कहा- भाभी, अर्चना को पटाने में हेल्प कर दो. अन्तर्वासना की कामुकता भरी सेक्स स्टोरीज के चाहवान मेरे प्यारे दोस्तो, मेरा नाम कविता है, मैं जयपुर राजस्थान से हूं.

मुझे ये सुनकर आज ही पता चला कि मेरे भाई जैसे दोस्त ने मेरी मम्मी को चोदा था. इसलिए मैंने भी रिश्ते के लिए हां कह दी। उन्होंने भी मुझे पसंद कर लिया था. उन्हीं दिनों दीवाली का त्यौहार आया, तो मैं अपने माता पिता से मिलने गांव आया था.

सन 2021 के बीएफ वीडियो

मैंने देखा कि चाची नहा धोकर तैयार खड़ी थीं- जीशान उठो यार … देखो 9 बज गए हैं. वैसे भी उनकी पीने की आदत थी ही।मैंने उनसे पूछा- मैनेजर कब तक आयेंगे?तो उन्होंने कहा- 7 बजे आयेंगे. वो बोली- इसी लिए लाये थे क्या फ्लैट पर … कॉफी तो जल गयी … ये कॉफी पिलाने लाए थे.

मुझे जैसे मोक्ष प्राप्ति हो गयी हो और जोर ज़ोर से साँसें भरने लगी।आकाश ने दुबारा अपना लंड डाला और आखिरी बार चोदना चालू कर दिया.

”पाप … कैसे?”तुम भी बहुत भोली हो?”सच में मुझे कुछ समझ नहीं आया कि नहाने से पाप कैसे लग सकता है।अरे बुद्धू! हम जब नहाते हैं तो सारे कपड़े उतार देते हैं ना? इससे निर्वस्त्र होने से पाप लगता है। अगर यह काला धागा बाँध लो तो फिर निर्वस्त्र होकर नहाने से कोई पाप नहीं लगता। अब समझी?”हओ”गौरी!”हुम्”वो तुम्हारे लिए उस दिन हम शॉर्ट्स और टॉप लाये थे ना?”हओ”वो पहना या नहीं?”किच्च.

मैंने तो आज मेरी बहन को चोदने का पक्का मूड बना लिया था, इसलिए मैं टीवी की जगह उसे ही देखे जा रहा था. हालांकि अभी नयी शादी है, फिर भी हर रोज योग और जिम उसकी दिनचर्या में है. गुजराती लड़की की चूतवे दोनों दिखने में एकदम काले से थे लेकिन दोनों मुझसे अच्छे से बोलते थे.

मैंने उससे पूछा- कल आप मुझसे बहुत बुरी तरह से बात कर रही थीं, तो आज आप मुझे लिखित में सॉरी दो, नहीं तो मैं आपकी शिकायत आपके अधिकारियों को कर दूंगा. शादी के इतने सालों के बाद भी उसकी चूत के होंठ आपस में बिल्कुल सटे हुए थे। उसकी चूत को देखकर लग रहा था जैसे उसकी बहुत ही कम चुदाई हुयी हो।महेश अब अपना मुंह नीचे करते हुए अपनी बहू की चूत की तरफ बढ़ाने लगा, महेश ने नीचे झुकते हुए अपने होंठों को नीलम की चूत के दाने पर रख दिया।ससुर का एक्साईटमेंट के मारे बुरा हाल था. आज करीब पांच साल बाद अचानक से उन्हीं भाभी का मेरे दूसरे नंबर पर कॉल आयाउन्होंने कहा- हैलो.

स्मृति कहने लगी- ह्ह्ह मेरे राना, फाड़ दो आज अपनी स्मृति की कुंवारी चूत … मसल दो मुझे अपने लंड से … आज पूरा निचोड़ दो मुझे … जी भर कर चोदो मुझे … मेरी फुद्दी के चीथड़े उड़ा दो. उसने आखिरी बार दीदी को 5 बजे चोदा और 20 मिनट तक दीदी के मम्मों से खेल कर चला गया.

मैंने बाथरूम में जाकर रेजर, साबुन, फोम, तौलिया आदि ले लिया और चाची के सामान में रख दिया.

मैं अब दिन रात बस हिना आंटी के बारे में सोच रहा था कि मैं उनकी चुत कैसे चोदूं. लेकिन वो मेरे सामने अपनी हैसियत समझता था, इसलिए मेरी बड़ी इज्जत भी करता था. उसके जाने के बाद सागर ने मुझसे कहा- यह कल सारे ऑफिस में बता कर तुमको कहीं बदनाम ना करे.

मोटा लंड वाली बीएफ दोस्तो, मैं जोया शर्मा!मेरी सेक्स कहानीभाई ने मौका पाकर चोद दियाकई साल पहले प्रकाशित हुई थी. मैंने भाभी की चुत को अपने वीर्य से भर दिया और उसी अवस्था में भाभी पर गिर गया.

मैं झड़ गई थी, लेकिन चुदने का एक ऐसा भूत सवार था कि मैं फिर से तैयार हो गई. मोहन भैया मेरी चूत में पूरी ताकत से धक्के मार रहे थे और मैं बिस्तर पर चित्त हो कर उनसे मजे लेते हुए चुदवा रही थी. उसके शरीर से पसीने और लेडीज परफ्यूम की महक आ रही थी, जो मुझे मदहोश कर रही थी.

बीएफ वीडियो सेक्सी बीएफ बीएफ

फिर मैंने उसे अपनी ओर खींचा और लोवर के ऊपर से ही अपने लंड से उसकी चूत को मिला दिया. आह्ह … बहुत ही मस्त चूचे थे साली के। अब मुझसे रहा नहीं जा रहा था और मैं उसकी चूत मारना चाह रहा था. तो उसने कहा- तुम्हारे भैया सब सिखा देंगे।रवि ने कहा- भैया मुझे कहां सिखाएंगे? आप दोनों ही मुझे कुछ सिखा सकते हो.

मैंने उसके चूतड़ों पर थप्पड़ मार मार कर उसे लाल कर दिया और आगे हाथ करके उसकी चुचियों को दबाने लगा. अब जब बुआ और भाई दुकान सम्भालने लगे, तो भाभी घर पर अकेली रहने लगीं.

उसका दिल आने वाले टाइम के बारे में सोचते हुए ज़ोर से धड़क रहा था।अचानक कमरे का दरवाज़ा खुला और महेश अंदर दाखिल हो गये।बापू आप आ गये, मुझे तो बुहत डर लग रहा है शायद मैं यह सब नहीं कर पाऊँगी.

संजना कहने लगी- जानू, आज तुमको मुझे बस ख्वाबों में ही नहीं चोदना है. इससे उत्तेजित होकर मर्द और ज़ोर से चुदाई का सुख महसूस करते हैं और अपने आपको खुश करते हैं. ड्राइवर और नौकर अपनी दो दो उंगली चुत में डाल कर दीदी का पानी निकाल रहे थी.

फिर वो मुझे लेकर अंदर चला गया। अंदर जाते ही उसने कस कर मुझे अपनी बाजुओं में जकड़ लिया और ताबड़तोड़ किस करने लगा जैसे कि कई वर्षों से कोई मिला ही न हो. मेरी तरकीब काम कर गई और मैं हैरान रह गई, जब मैंने कबीर की गर्दन पर चोट देखी. मैंने अपने लंड को दायें हाथ से पकड़कर उसके बुर के पास लाकर एक ही झटके में उसे अंदर घुसा दिया। प्रत्येक झटके के साथ उसकी चीखें निकल जाती थीं।शुरू-शुरू में तो मेरा पूरा लंड अंदर नहीं जा रहा था … मैंने कहा- कितनों से तुम चोदवाती हो, फिर भी तुम्हारी बुर ढीली नहीं हुई है?वह बोल पड़ी- मुझे आज तक इतना मोटा और लम्बा लंड नहीं मिला है मेहता जी!मैंने कहा- कोई बात नहीं, आज ढीली हो जायेगी.

वह टोन छोड़ते हुए बोली- हाँ, आपको तो रात में ही फुर्सत मिलती होगी, दिन भर तो ऑफिस में रहते होंगे।मैं एक सोफे पर बैठा और वह मेरे ठीक सामने वाले सोफे पर। उसके बालों से शैम्पू की खुशबू आ रही थी … वो अभी-अभी नहाकर लाल और उजले रंग के मिले हुए डिजाइन की साड़ी में थी.

एक्स एक्स बीएफ हिंदी सेक्स: फिर पूजा मेरे लंड को अपने मुँह से निकाल कर बोली- क्यों मेरी गांड के पीछे पड़े हो? तुम्हें चूत का मजा चाहिए था और तुम्हें चूत का मजा मिला. अब मैंने वहां से जॉब छोड़ दी थी और मैंने अपना वो नंबर बंद कर दिया था क्योंकि बहुत हो गया था और अब मैं भाभी से छुटकारा पाना चाहता था.

आपने मुझे सही रास्ता दिखाया है, जिससे घर वालों की तरफ़ मेरी जिम्मेदारी भी बनी रहे और मेरा आत्मसमान भी बना रहे. इसलिए बिमारी पर ध्यान देने की अपेक्षा आप ऊपर बताये गये तरीकों और तकनीकों पर ध्यान दें और हमेशा मन और मस्तिष्क को तनाव रहित रखने का प्रयास करते रहें. भाभी जी के घर से आते समय मैंने उनको देखा और नमस्ते की, तो भाभी जी ने एक मस्त मुस्कान देते हुए मुझसे बाय कहा.

नीलम ने चौंककर जैसे ही अपना सर ऊपर करके देखा वह शर्म से पानी पानी हो गई।महेश भी बिल्कुल नंगा ही बाथरूम में खड़ा नीलम को घूर रहा था।पिता जी आप यहाँ? आपको शर्म नहीं आती?” नीलम ने गुस्से से कहा और उठकर वहां से बाहर जाने लगी.

मेरे मोबाइल से घर पर मैसेज भेज दो कि आज एक्स्ट्रा काम की वजह से ओवर नाइट कंपनी चालू है, मैं कल शाम को घर आऊंगा. इन्सेस्ट सेक्स स्टोरी पर अपने विचार नीचे दिये गये आईडी पर मेल करें. मैंने उसको किस करना शुरू किया तो वो फिर से गर्म हो गयी और मेरे लंड को पकड़ कर अपनी चूत के पास ले गयी.