बीएफ लड़का लड़की

छवि स्रोत,ब्लू पिक्चर के चित्र

तस्वीर का शीर्षक ,

चुदाई वाले वीडियो: बीएफ लड़का लड़की, ज्योति के मुँह से सिसकारियां छूट रही थीं- आआआह … उम्मह उम्मह मेरे बोबों को पी ले महेंद्र राजा.

राजस्थानी भाई बहन सेक्स वीडियो

गांव में घर में शादी भी थी, इसलिए मुझे इस कारण कुछ दिन रुकना भी था. ट्रिपल एक्स सेक्स मुव्हीजमैं और संजय हम दोनों ने एक दूसरे को किस किया और उसके बाद मैं घर का काम करने लगी.

वो हल्के से कराह गई, लेकिन जब लंड नहीं घुसा, तो वो मुझे गुस्से से देखने लगी, जैसे मुझे अनाड़ी कहने की कोशिश कर रही हो. देहाती लड़की की चुदाई वीडियोउसका एक 4 साल का बेटा है। वो देखने मे ज्यादा सुन्दर नहीं थी लेकिन अच्छी है। रंग सांवला है, कद 5 फ़ीट 4 इंच हैं, चुचे का साइज 30″ और गांड का 32″ है।शिवानी और मेरी दीदी दोनों अकेले रहने के कारण अच्छी सहेलियां बन चुकी हैं.

क्या तुम मुझसे दोस्ती करोगी?पायल ने कोई जवाब नहीं दिया और वहां से बाहर चली गई.बीएफ लड़का लड़की: उसके ऐसा कहते ही मैंने मामी को अपनी बांहों में भर लिया और उसके होंठों को जोर से चूसने लगा.

मैंने चाची से कहा- ये आप क्या रही हो?वो बोलने लगीं- ये भी मालिश करवाने के लिए खड़ा हो गया था, तो सोचा कि इसकी भी मालिश कर दूँ.घर पहुंच मैं उसको अपने कमरे में लाया और उसे बेड पर बिठा कर पानी के लिए पूछा.

पोर्न वीडियोस हद - बीएफ लड़का लड़की

मैंने झट से कहा- हां, इसमें इतना शरमाने की क्या बात है! मैं तुम्हारा दोस्त हूं.मैंने थोड़ा सा सरक कर मैडम के करीब आते हुए अपना हाथ उनके मम्मों पर रख दिया.

इसी तरह कुछ कदम चलते ही वो फिर सोफ़े पर बैठ गयी और बोली- अब नहीं चला जा रहा है … और गर्मी भी बहुत लग रही है. बीएफ लड़का लड़की हर बार उसका सुपारा मेरी बच्चेदानी को ऐसे छू कर आता, जैसे झूले में झूलता हुआ कोई किसी को चूम कर वापस जाता और फिर आता और फिर चूमता.

मेरा लंड तन कर उस प्यासी औरत के जिस्म में घुसने को बेताब होता जा रहा था.

बीएफ लड़का लड़की?

मैंने साहब को मां से कहते हुए सुना- आपकी बेटी तो बहुत अच्छा काम करती है. ये तो मर्द और पुरुष की अलग अलग विशेषता होती है, इसलिए मुझे सुरेश से कोई शिकायत नहीं थी. कुछ देर उसको फिर से चूमने चाटने के बाद मैंने फिर से झटका मारा, तो इस बार मेरा पूरा लंड अन्दर चला गया.

बोलो झांटें साफ़ करवाने के लिए क्या लगवाओगी?श्वेता- क्या लगवाओगी से क्या मतलब है?मैंने कहा- मतलब बाल साफ़ करवाने वाली क्रीम से झांटें साफ़ करवाना है … या रेजर से चुत की शेविंग करवानी है?श्वेता अपनी चुत को अपने हाथ से सहलाते हुए बोली- तुमको ही मेरी चूत चोदना है … जैसे भी अच्छा लगे … वैसे साफ़ कर दो. अब मैं अपने दोस्त की जगह ले लेता हूं और बिना किसी देरी के कहानी को शुरू कर रहा हूं. सुरेश- तो सबको बताने कौन कह रहा … सब छुप कर करते हैं, तुम भी छिप कर करो.

मैं बाथरूम के पास जैसे ही गया, मैंने देखा कि पूरा गेट खुला हुआ था और मैम पूरी नंगी खड़ी थीं. वैसे तो हमारी सोसाइटी में सब कुछ पास ही था, पर कुछ जरूरत पड़ती थी, तो ही सुनील हमारे यहां आ जाता. दोस्त के जाते ही उसने फ्लैट का दरवाजा बंद किया और मुझे पकड़ कर मेरी चूची मसलने लगा.

अंत में दोनों शांत हो एक दूसरे को बांहों में समेट कर हांफते हुए लेट गए. मेरी तरफ बढ़ाते हुए मुझे गिलास देने लगी तो मैंने कहा- पहले आप ले लो.

जैसे ही खिड़की खोल कर वो पीछे की तरफ मुड़ी तो मिहिर पीछे खड़ा था और उर्वशी के उरोज मिहिर की छाती से टकरा गये.

मौसी ने मुझे देखते हुए कहा- देखा … जो बोला था, वही किया न … अब रास्ते का कुत्ता भी तेरी बीवी को बिना चोदे छोड़ेगा नहीं.

हम भाई-बहन की चुदाई में मुझे इतना मजा आयेगा मैंने कभी नहीं सोचा था. कल्पना ने बहुत शर्माते हुए अपनी सेक्स फेंटेसी बताई कि उसका बहुत मन है कि वह किसी औरत के साथ लेस्बियन सेक्स करे. इतना कहते हुए वे मेरे ऊपर चढ़ बैठे और दीवार में बने आले में रखी तेल की शीशी उठा ली.

कई बार तो मैंने उसके हाथ को अपने तने हुए लंड पर लगाने की कोशिश की लेकिन मैं कामयाब नहीं हो पाया. उसकी लम्बाई 5 फुट 5 इंच थी और उसका 34-28-34 का फिगर बड़ा ही शानदार था. उस रात में मैंने मैडम को चार बार चोदा और वैसे ही हम दोनों किस करते हुए कब सो गए, पता ही नहीं चला.

कजरी बोली- याद आ गया है … तो क्या हुआ … आप भी तो यहीं हैं … थोड़ा प्यार हमें भी करा देना बाबू जी.

उसने मुझसे पहुंचने का टाइम पूछ लिया था और कह दिया था कि मैं लालघाटी पर उतर जाऊं. उसका चुम्बन करने का तरीका साफ़ बता रहा था कि ये सच बोल रही थी कि कोई बॉयफ्रैंड नहीं रहा होगा इसका. पठान ने दीदी की चिल्लपौं पर ध्यान ही नहीं दिया और वो दीदी को धकापेल चोदने में लग गया.

दोस्तो, मेरा नाम रवीश कुमार है, मैं राँची का हूं, मैं 25 साल का हूं. मैं उनके मम्मों को दबाने लगा, आज मैंने उनसे फिर से दुपट्टा हटाने का बोला, तो उन्होंने फिर से मना कर दिया. मैंने बहुत कोशिश की कि ये सब बात मेरे मन से निकल जाएं पर हो ही नहीं पा रहा था.

मॉम भी उसके सामने नहाने लगीं, जिससे उनके बड़े बड़े चूचे पेटीकोट से चिपक कर दिखने लगे.

इस समय मम्मी एक मासूम गुड़िया सी लग रही थीं, जिसे कल्लू जैसा पहलवान धमाधम चोद रहा था. उसने मुझसे बात करके पूछा- केवल क्रॉस ड्रेस करते हो या कुछ और भी?मैंने कहा- किया तो कुछ नहीं … मगर मन है करने का!तब उसने कहा- ठीक है, संडे शाम को मिलो होटल में!फिर उसने मेरा मोबाइल नम्बर माँगा, मैंने दे दिया.

बीएफ लड़का लड़की मैं बार बार अपने चूतड़ों को उछालने लगी, पर सुरेश ने जैसे दबा रखा था, मैं ज्यादा नहीं उठ पाई. मामी ने मुझे एक दिन अपने घर बुलाया कि मामी कि चूत चुदाई करनी है तो अभी आ जाओ.

बीएफ लड़का लड़की मैंने रोनिता से कहा- मुझे नहीं पता है कि तुम इसके बाद क्या सोचोगी … लेकिन मैं तुम्हें लाइक करता हूँ. इतना बोलते ही वो मोनिषा आंटी को जोर जोर से भंभोड़ने करने लगा … जोर जोर से उनके दूध दबाने लगा और उनके कपड़े उतारने लगा.

राजशेखर ने मेरी योनि चाटनी शुरू कर दी, मैं तो पहले से ही काफी उत्तेजित थी और अब तो लगने लगा कि मैं पानी छोड़ दूंगी.

बीएफ उड़ीसा बीएफ

यही हाल मेरा भी था … और क्या बताऊँ … जब बिस्तर का हाल देखा, तो मैं दंग रह गयी. मैंने पीछे से अपना लंड रीता की चुत की फांकों में सैट किया और बिना कोई इशारा दिए मैंने पूरी ताकत से लंड को पेल दिया. आंटी सिसकारियाँ ले रही थी।अब मैं दिन की तरह ये सब करने में टाइम वेस्ट नहीं करना चाहता था क्यूंकि दिन में थोड़ी देर में ही मेरा पानी निकल गया था।आंटी ने कहा- तुम लेट जाओ, एक और सरप्राइज है तुम्हारे लिए!मैं लेट गया.

उसे चूचे चुसवाने में बहुत मज़ा आ रहा था और मुझे टाइट बूब्स चूसने में. मैं जैसे तैसे भागती हुई एक कोने में सिमट गई और साड़ी उठा कर उससे अपना शरीर ढकने का प्रयास करने लगी. ब्लैक सलवार कुर्ता, हाथों में कंगन, बाल बनाये हुए, हल्का सा मेकअप किया हुआ था.

एक बात और आपको बता दूं कि मैं घर पर भी कपड़ों के अंदर से ब्रा या अन्य प्रकार का कोई कपड़ा नहीं पहनती थी.

करीब 20 मिनट बाद पूजा ने बोल ही दिया कि तुम दोनों के बीच क्या चल रहा?मैं कुछ बोलता, उससे पहले संध्या ने बोल दिया कि वही … जो आप दोनों के बीच चल रहा है. मेरी सबसे छोटी बहन सलोनी की उम्र 21 साल है और उसने अभी ग्रेजुएशन कॉलेज के फाइनल में प्रवेश किया है. मामा जी ने उसे मेरी जांघों पर बिठा दिया- नखरे नहीं … पेल दे … ये तैयार है और तू बहाने कर रहा है?उसने तेल की शीशी उठाई, लंड पर चुपड़ा और लंड को मेरी तड़पती गांड पर टिका दिया.

अब मुझे भी लगा कि भाभी को भैया की जरूरत नहीं … बल्कि लंड की जरूरत है. तब उसने मुझे अपना लिंग चूसने को कहा और निर्मला को अपने मुँह के ऊपर बिठा कर खुद उसकी योनि चाटने लगा. बस क्या था … गरम वीर्य की एक पिचकारी पड़ी कि मेरी बच्चेदानी के मुँह में आकर रुकी, वो चीज फुर्ती से छूटने लगी.

बहन बोलीं- भाभी आप भी इसमें शामिल हैं? आपको शर्म नहीं आती ये सब करते हुए?फिर मैंने अपनी बहन से कहा- चुप रह रंडी … बाहर के लड़के से चुदवाने में कोई प्रॉब्लम नहीं है … मेरे लंड में क्या कांटे लगे हैं. उधर से अन्दर के उस कमरे का सीन दिख रहा था, जिधर अपर्णा उन पांच गुंडों के साथ मजा ले रही थी.

वो भी सिसकारियां भरते हुए मेरा पूरा साथ दे रही थी और मेरी पैंट के ऊपर से ही मेरे लंड को सहला रही थी. फिर उसने मुझे पीछे धकेल दिया और मैंने उसको अपने करते हुए अपना लंड उसके हाथ में दे दिया. वो बोली- क्यूं, नींद क्यों नहीं आ रही है?मैंने कहा- किसी की याद आ रही थी.

उसके बाद उसने मेरी पैन्ट का हुक खोला और पैन्टी सरका कर मेरी चूत में उंगली करने लगा.

हम लोगों ने रात में कुछ देर एक दूसरे से फ़ोन पर बात की और उसके बाद मैं रात का खाना खाने के बाद सो गयी. एक दिन फेसबुक पर मैंने उसे फ्रेंड रिक्वेस्ट की तो …दोस्तो, मेरा नाम रोहित है. एक में मेरी मां और मौसी ठहरे हुए थे और दूसरे में मैं और मेरी बहन व अन्नु रुके हुए थे.

हमारे कुछ लौंडेबाज शिक्षक भी हमारी चिकनी गुलाबी छोटे छेद वाली गांड में अपना मूसल सा लम्बा मोटा लंड पेल देते थे. आपको चुदक्कड़ सेक्सी पंजाबन भाभी की चूत चुदाई कहानी पसंद आई? तो अपने विचार इस कहानी के बारे में जरूर बतायें.

बातों से पता चला कि मेरी गर्लफ्रेंड सेक्स की प्यासी है, उसे अपने पति से पूरी संतुष्टि नहीं मिलती. एक बार मेरा दिल किया कि प्रीति को पकड़ कर चोद दूं, फिर सोचा नई नई जॉब है, जिंदगी का सवाल है. लेकिन आंटी की वासना बढ़ रही थी तो मैंने अपने एक दोस्त से उन इंडियन सेक्सी आंटी को चुदवाया.

बबीता बीएफ

उनका एक हाथ मेरे लंड पर चलने लगा और वो मेरे शॉर्ट्स से लंड को बाहर निकाल कर आगे पीछे करने लगीं.

मिहिर ने एक अच्छे मेहमान की तरह आगे बढ़ कर उर्वशी की जीभ को लपक लिया, मानो दोनों ही एक दूसरे के अंदर समा जाना चाहते हों. अब तक भाभी 2 बार झड़ चुकी थी और अब मैं भी झड़ने के करीब था तो मैंने तेज तेज झटके लगाने शुरु कर दिये और भाभी ने तो अपना चेहरा तकिये में दबा लिया था और उनके मुख से गूँ-गूँ की आवाजें आ रही थीं।कुछ ही देर में हम दोनों अपने चरम पे पहुँच गए और झड़ गए. उसे देख कर मुझे पूजा याद आ गई, लेकिन ये कमसिन उससे भी ज्यादा खूबसूरत थी.

फिर सोमेश भैया ने कुछ स्टेप बताते हुए दीदी को पीछे से कस कर पकड़ किया और बोले- अब आगे की तरफ ताकत लगाओ. मुझे मेरी बीवी की चुदाई की गंदी कहानी सुनकर लग रहा था कि अब इसकीचूत की आगकैसे बुझेगी. पोर्न सेक्सी विडियोउसका टेस्ट कुछ अजीब सा नमकीन सा था लेकिन हवस की आग में सब अच्छा लग रहा था.

जॉयश बोली- क्या बात है … अब लग रहा है कि हम सब नए जमाने की औरतें हैं. प्रमिला आंटी कहने लगी- कितने साल बाद आज मुझे इतना प्यार मिला … इसलिए थोड़ा भावुक हो गयी।मैंने भी उनके गालों को दोनों हाथों से पकड़ा और कहा- अब मैं आपको कभी निराश नहीं करूंगा।तो दोस्तो, यह थी मेरी पहली सच्ची मोहब्बत के साथ पहली चुदाई।हम दोनों दो साल तक ऐसे ही मौके मौके पर चुदाई करते रहे। अब अंकल का ट्रांसफर हमारे शहर में हो गया है.

चिकनाई हो जाने से मैं जोर जोर से चुत में उंगली चलाने लगा और उसका पानी निकल गया. वक्त के साथ मैं भी समझ गया कि जितनी मेरी माँ चुदक्कड़ है, मेरी बहन की वासना भी उससे कम नहीं है. मेरा मेल आईडी है[emailprotected]कहानी का अगला भाग:प्यासी टीचर चूत चुदाई ने मुझे चुदक्कड़ बनाया-4.

मैंने उसकी टांगों को फैला दिया और भाभी की चूत की फांकों को अपने दोनों हाथों से खोलते हुए उसकी चूत में झांक कर देखने लगा. जब बुआ नहाने जाती थीं, तो मैं बाथरूम के छेद से चुपके से उन्हें नहाते हुए देखता रहता था. बस 3-4 मिनट में ही मैं कंपकंपाती हुई झड़ने लगी और सुरेश को पकड़ कर उसके होंठों को चूमने लगी.

उसको देखकर मुझे उसी दिन से कुछ कुछ हेनू हेनू सा होने लगा था, जिस दिन से वो कॉलेज में आयी थी.

मेरा मन कर रहा था कि जाकर उसको आइ लव यू बोल दूं लेकिन मेरी हिम्मत नहीं हुई. मैंने पीछे से अपना लंड रीता की चुत की फांकों में सैट किया और बिना कोई इशारा दिए मैंने पूरी ताकत से लंड को पेल दिया.

मैं करीबन 5 साल से एक वयस्क साइट की सदस्य हूँ और ये मैंने जाना कि कौमार्य अब कोई मायने नहीं रखता. तन्वी की चीख निकली- मम्माह उम्म्ह … अहह … हय … ओह … मर गई!मेरी कजिन बहन की सील पैक बुर में लंड गया तो मजा आ गया. मामी के मोटे चूचे वीडियो में हिलते हुए देख कर मैंने तेजी से अपने लंड पर हाथ चलाना शुरू कर दिया.

इसलिए वह कभी किसी का चेहरा पकड़कर उसके होंठों को चूस रहा था और कभी किसी के मम्मे दबा रहा था चूस रहा था और किसी की गांड में उंगली घुसा रहा था और किसी की गांड पर चांटे लगा रहा था. जॉयश ने जो सुझाव दिया, उससे पूरे माहौल में करंट सा दौड़ गया, उसने कहा- अब फर्स्ट प्राइज उसे दिया जाएगा जो इन दोनों में से अपनी पेंटी और ब्रा को जल्दी जल्दी से उतारेगी. मेरी कमर की गति देख कर मामा जी बोले- ये हैं गांड फाड़ू झटके।उससे पूछा- लग तो नहीं रही?वह मुस्करा दिया.

बीएफ लड़का लड़की एक बार बहाने से मैंने चाची को गर्म कर दिया और …मेरा नाम आर्यन है और मैं बिहार के जमुई जिले के पास में झाझा का रहने वाला हूं. मगर उसके लिए मुझे मामी को यह बताना होगा कि मैं उसकी चूत को चोदना चाहता हूं.

कुत्ते वाली बीएफ सेक्सी

मिहिर की नजरों में एक प्यास, एक हवस सी देख कर उर्वशी ने अपनी नजरें नीचे कर लीं और पीछे हटने लगी लेकिन पीछे दीवार थी. वो मुझ पर गुस्सा होने लगीं कि किसी और कि निजी सामग्री तुम्हें नहीं देखनी और लेनी चाहिए. फिर मैंने कहा- रुको … अगर मैं झड़ गया तो मुझे तुम्हारी चुत चूसने में उतना मज़ा नहीं आएगा.

अब मैंने अपना हाथ उसकी पैंटी के अन्दर डाल दिया और आहिस्ता आहिस्ता बुर की दोनों फांकों को सहलाने लगा. उसके बाद उसने फिर से दीदी के सिर को पकड़ा और दोबारा से उसके मुंह में लंड को देकर चुसवाने लगा. भोजपुरी चोदा चोदी सेक्सी वीडियोवो तेजी से मुंह से मच-मच की आवाज करते हुए मेरी दीदी की चूत को चाट रहा था.

ऊपर से ही उर्वशी के जिस्म की खुशबू उसकी उत्तेजना को और भड़का रही थी.

कम्पयूटर का सारा सेटअप करने के बाद मैंने अपने दोस्त को बाय बोला और उसके घर से तुरंत अपने आपको अनइन्सटॉल कर लिया. सुबह जाने के वक्त में उसके पास गया और पूछा- चलोगी?उसने कहा- नहीं … मुझे मज़ा आ रहा है … मैं 3 महीने में यहां ही रहूंगी.

कैसे मैंने अपने छोटे भाई से चुदाई करवा के अपनी वासना की आग बुझाई। ये सब अगली कहानी मैं बताऊंगी। तब तक के लिए विदा।[emailprotected]. मुझे भी मजा आ रहा था … मैंने उसकी चूत दस मिनट तक चाटी, फिर वो झड़ गयी. आपने अब तक सेक्स स्टोरी तो बहुत पढ़ी होंगी … पर ये स्टोरी नहीं है, एक ऐसी लड़की की सत्य घटना है जो काली, मोटी, भद्दी सी है.

मैंने कहा- मैंने भी इन महीनों में कई रात तुम्हारे चुदाई के ख्वाब देखे, ये भी देखा कि तुम मेरा लंड चूस रही हो … और जब आंख खुलती, तो लंड गीला होता.

उसने नीचे से पैंटी पहनी हुई थी लेकिन उसके चूतड़ बहुत ही गद्देदार थे जिनको दबाने में मुझे गजब का मजा आ रहा था. शायद वो भी ये बात समझ गई थीं कि मुझे उनके चूचों की नाली देख कर मजा आता है, इसीलिए वो मुझसे और भी चिपक कर बैठ जातीं और मुझे पढ़ाने लगतीं. मेरी बहन ने आगे बढ़ कर उसके लंड को मुंह में ले लिया और उसको चूसने लगी.

बूब प्रेसआह्ह … प्रकाश … चोद मुझे … आहह्ह चोद दे मेरी चूत को आईई … आह्हह …प्रकाश ने अपने होंठों को मेरे होंठों पर कस लिया और फिर तेजी के साथ मेरी चूत को चोदने लगा. मैंने पति पत्नी के बीच में बोलना सही नहीं समझा और चुपचाप सोफे पर बैठा रहा.

हिंदी बीएफ टीवी चैनल लाइव टीवी meaning

एक दिन मैं स्कूल गया तो मैंने चौकीदार और माँ की चुदाई का नजारा देखा. उसने उठ कर मेरे शॉर्ट्स को नीचे कर दिया और फिर मेरे अंडरवियर को खींच कर नीचे मेरे पैरों में बैठ कर मेरे लंड को हाथ में भर लिया. मैं जान बूझ कर अपने लंड में झटके देने लगा ताकि उसको मेरी उत्तेजना की प्रबलता का आभास हो सके.

दोनों औरतें खड़ी खड़ी सोचती रही कि क्या करें?लेकिन बाकी सब औरतें उन्हें उकसा रही थी. चूंकि घर से सेंटर दूर था तो वो एक दिन पहले ही हमारे कमरे पर आ गई थी. वो अपने घूंघट को ठीक करने लगी तो मैंने कह दिया कि ऊषा ज्यादा परेशान होने की जरूरत नहीं है.

मैं भाभी के गोरे गोरे पैरों को देख रहा था … क्या गज़ब की टांगें लग रही थीं. दोस्तो, मेरा नाम रवीश कुमार है, मैं राँची का हूं, मैं 25 साल का हूं. भाभी ने मुझे देखा और कुछ न कहते हुए वे उठकर पेशाब करने के लिए बगल में चली गईं.

कुछ देर तक मैंने उसकी चूत में जीभ को अंदर बाहर किया तो वो इतनी गर्म हो गई कि मुझे अपने ऊपर खींचने लगी. मैं क्लास से बाहर जा ही रहा था कि मैम ने मुझे और प्रियंका को इशारे से रोका और पूछा- क्या चल रहा है … तुम दोनों के बीच क्या चल रहा है?मैंने कहा- कुछ नहीं वंदना.

और मेरी बहन की गांड उसमें अलग ही हमले करती है दिलों पर।मेरी कुँवारी रसीली बहन की चुदाई कहानी जारी रहेगी.

सुबह करीबन 5 बजे मेरे बदन पर भारीपन महसूस होने लगा और मेरी नींद खुली. चुची का फोटोमैं पहले ही समझ गया था कि ये पहले चुदी है … क्योंकि शुरू से ही मेरी उंगली आसानी से उसके अन्दर आ-जा रही थी. এক্স এক্স বইलेकिन जब उसने बताया की विनर को बॉम्बे डाइंग का टावल सेट गिफ्ट मिलेगा तो सब तैयार हो गयी. ”उसने अपना लंड थोड़ा बाहर निकालकर फिर से मेरी चूत के अन्दर डाल दिया.

यह जानते ही मैं एकदम खुश हो गई और अपनी टांगों से संजय की कमर को जकड़ कर उससे मस्ती से चुदवाने लगी.

मेरे परिवार के बारे में जान कर आपको मेरी उम्र का अंदाजा भी हो ही गया होगा. लेकिन वो फिर से एक बार बोली- क्या बोला था … फिर से बोलो न?मैंने अपनी बात फिर से दोहराई- भाभी आपको अकेले में डर नहीं लगता क्या?वो बोली- तुमने मुझे भाभी बोला?मैं बोला- हां. मेहनत का फल ये मिला कि जब भी मैडम को कोई काम होता था मुझे बुला लेती थीं.

मैंने सोचने लगा कि मैंने गुस्से में जो बात भाभी से कह दी थी, वो गलत कह दी थी. मैं ये सब बात जानकर हिल सी गयी और डरने लगी कि सरस्वती को पता चल गया, तो क्या सोचेगी. वो भी सिसकारियां भरते हुए मेरा पूरा साथ दे रही थी और मेरी पैंट के ऊपर से ही मेरे लंड को सहला रही थी.

सेक्स बीएफ पिक्चर चुदाई

उनकी बातों से उनकी आंखों में लगता था, जैसे वो माँ को अच्छी निगाह से नहीं देखते थे. ठीक वैसे ही आकार का लम्बा और मस्त मोटा मलंग किस्म का मेरा लंड फुंफकार मारने लगा था. कुछ दिनों बाद मैंने उसको उसके घर पर जाकर भी चोदा और गांड भी मारी, जिसकी हिंदी सेक्स कहानी मैं बाद में लिखूंगा.

उसे मज़ा आ रहा था, उसके चहरे की रंगत बता रही थी कि उसकी चूत भी गीली हो रही है.

उसमें से सुनील से हमारी थोड़ी बहुत पहचान हो गई, उन तीनों की शिफ्ट में जॉब थी, इसलिए तीनों का एक साथ मिलना मुश्किल था.

दीदी को प्रपोज करने के बाद दीदी की हां कहते ही, वो तो दीदी पर जैसे टूट पड़े और दीदी को उनके होंठों पर कस के किस करने लगे. मैं बहुत सीधा लड़का था मगर मेरी एक टीचर ने मुझसे अपनी अन्तर्वासना का इलाज करवाया. नंगी चूत वीडियोफिर वो मेरे से लिपट गयी ओर बोली- सावन, आज मुझे चोद दो, बहुत दिनों से मन हो रहा था, प्लीज़ आज आये हो तो चोद कर ही जाना!इतना बोल कर उसने मेरे लंड को एक हाथ से पकड़ लिया और हिलाने लगी.

भाभी ने कहा- जब तुमने जानबूझकर फिसलने का नाटक करके मेरी चूची को दबाया था, मैं तभी समझ गई थी कि मेरे प्यारे देवर को मेरी चूत चोदने का मन है. उनकी सास ने बोला- हां देख लो … बेचारी सुबह से अकेले ही परेशान हो रही है. वो बोली- इतना बड़ा है तुम्हारा? यह मेरे छोटे से छेद में कैसे जायेगा?मैंने कहा- तुम उसकी चिंता मत करो मेरी जानेमन, बस मजा लो.

नीचे से मैंने चाची की साड़ी को खोल दिया और उसके पैटीकोट का नाड़ा खोल कर उसे नीचे किया तो उसकी पैंट पर हाथ जा लगा. फिर मैंने उसकी ओपन गाउन की चेन को खोलते हुए उसके मोटे मोटे बूब्स को ब्रा के ऊपर से ही दबोच लिया.

मैंने उसको वापस से नीचे लेटाया और उसकी टाइट कुंवारी चूत में जीभ दे दी.

मैं अपने लंड को सहलाते हुए कजरी के ख्यालों में खो गया कि आज अगर बात बन गई, तो कजरी की कजरारी चुत के दीदार हो जाएंगे और उसे चोदने में अलग ही मज़ा आएगा. कुछ समय गालों को चूमने के पश्चात मैंने अपने होंठों को उसके लाल-लाल रसीले होंठों पर जमा दिए. मैंने बात का मर्म समझते हुए कहा- ठीक है … पर आप भी किसी को कुछ नहीं बताना.

एक्स एक्स सेक्सी एक्स मैं मजे से अपनी आंखें बंद करके अपने लंड को पूरी मस्ती से अपना लंड चुसवा रहा था. उसने मेरी टांगों को फैला कर अपना लंड मेरी चूत के ऊपर रख दिया और मेरे ऊपर लेट कर अपना लंड मेरी चूत में पेल दिया.

तुम अभी छोटे हो … लेकिन तुम्हें देखती हूं … तो मेरा ब्वॉयफ्रेंड मुझे याद आ जाता है. लगभग दो साल बाद मैं अपने अन्दर रोमांच महसूस कर रही थी और आंखें बंद करके लेटी हुई थी. मैं और भी जोश में आ गया और जोर जोर से मोनिषा आंटी की चूत को चूसने लगा.

बिलो सेक्सी बीएफ

जब वो उठ कर मेरा स्वागत करने लगी तो उसकी चूचियां भी साथ में उठ कर हिलने लगीं. इतना बोलते ही उसने मेरा कंडोम चढ़ा लंड अपने मुँह में भर लिया और चूसने लगी. एक एक कड़ियां खुद जोड़ने लगी, क्यों मैं सरस्वती और सुरेश पर ज्यादा ध्यान देती थी, क्यों विमला से उनके बारे में सुनना चाहती थी, क्यों एक समय के बाद मुझे सरस्वती से जलन सी होने लगी थी.

मैंने कहा- जानू अभी तो आधी ही अन्दर गयी है … अभी तो मैं इसमें पूरा हाथ भर का अपना अन्दर डालूँगा. यार एक बनियान पहनने के बावजूद भी क्या गोल चूचियां थीं … मतलब गज़ब की गोल और नर्म.

मैं भाभी की बहुत सम्मान करता था और मैंने उनको शुरुआत में कभी मैली नजर से देखा ही नहीं था.

अगर किसी को मेरी मदद की जरूरत होती थी तो मैं कभी मना भी नहीं करता था. ऐसे ही चूत में लंड को धकेलते हुए अब वो मस्ती में मेरी चूत की चुदाई करने लगा. सुरेश बोला- सरस्वती, अब हम चुदाई करने जा रहे हैं … और देखना हमें, देख कर ही तेरा पानी खुद निकल जाएगा.

मैं- वे 5 औरतें कौन कौन हैं?सुरेश- पहली मेरी पत्नी, दूसरी एक कामवाली थी हमारे घर पर, तीसरी एक लड़की थी दफ्तर में, चौथी सरस्वती और पाँचवीं तुम. उसने मुझे कुछ कहा ही नहीं … बस सीधा मेरी चूत में अपना लावा निकाल कर मेरे ऊपर ढेर हो गया. मैंने उल्टा उसी से पूछा- अब बताओ मेरा गिफ्ट कहां है? मैं आपको अपनी गोद में यहां तक ले आया हूँ.

समय नोट किया तो पता चला कि एकता और कल्पना का टाइम एकदम बराबर था यानि कि मुकाबला टाई हो गया था.

बीएफ लड़का लड़की: सुरेश- अरे नहीं यार … ये तो जरूरत थी, मेरी पत्नी सेक्स में उतनी अच्छी नहीं थी, पर कभी मना नहीं करती थी. इतना बोलते ही उसने मेरा कंडोम चढ़ा लंड अपने मुँह में भर लिया और चूसने लगी.

आगे बढ़ते हुए मैंने ब्रा के स्ट्रिप को खोल कर एक साइड फेंक दी, जबकि गाउन अभी भी उसकी गांड और कमर तक था. इस बार तो वो और जोर से चिल्लाई उम्म्ह … अहह … हय … ओह … क्योंकि उसकी सील इस झटके के वक़्त टूट गई थी. मैंने सोचा ये मौका अच्छा है, मैंने चुपके से अपना मोबाइल निकाला और उन दोनों की फोटो खींच ली.

विभोर मेरी चूची को चूसने लगा और मेरी चूची को दबाने लगा और साथ में वो गाल को कभी कभी अपने दांतों से काट रहा था.

आख़िर में मेरे घर वालों ने मुझे भी उसके साथ जाने को बोला- उससे गाड़ी नहीं चल पाएगी. लेकिन मेरा लंड मोटा होने की वजह से घुस ही नहीं पा रहा था।उसका दर्द देख मैंने ज्यादा कोशिश ना करने का निश्चय किया और मैंने कुछ टाइम उसके नंगे बदन से खेल कर बिताया और अपने घर वापस आ गया। घर आकर मुठ मारी और सो गया. मैं जब भी विभोर के साथ कहीं बाहर घूमने के लिए जाती हूँ तो और विभोर के परिवार के लोग भी उसको कुछ नहीं बोलते.