हिंदी मे सेक्स बीएफ

छवि स्रोत,शाहरुख खान का सेक्स वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

वीडियो पे टीवी: हिंदी मे सेक्स बीएफ, फिर कुछ ही देर बाद उसकी बुर मेरा पूरा लंड खा गई और वो कमर उठा कर मेरा साथ देने लगी.

सेक्सी मराठी काकी

अनुप्रिया बोली- दीदी, अब मैं आपके यहाँ जल्दी आऊँगी जिससे कि मैं आपके और आपके सभी चाहने वालों से सेक्स कर सकूँ! खासतौर से आपकी बेटी के साथ सेक्स करूँगी।मैंने कहा- मैं अगर फ्री हुई तो हम दोनों यहीं गुवाहाटी में मिलेंगी किसी होटल में!वह बोली- हाँ दीदी, आप मुझे फोन जरूर करना!और हम दोनों रोज बात करने लगी. चरमसुख सेक्सी वीडियोअबकी बार चूत गीली होने की वजह से और उसके मानसिक रूप से तैयार होने की वजह से मेरी उंगली थोड़ी सी अन्दर चली गयी.

मैंने तुरंत आंटी की दोनों चुचियों को कस कर दबा दिया और बोला- तो पहले क्यों नहीं बताया. मारवाड़ी सेक्सी देसी चुदाईमैं उनकी चूत पर हाथ फेरने लगा उन्हें जैसे करंट सा लगा और उन्होंने मुझे कस कर पकड़ लिया और मुझसे लिपट गयी, मैंने उनकी चूत में अपनी एक उंगली की पंखुरियों को अलग करने की कोशिश की पर वह बहुत टाइट थी.

रात भर मुझे नींद नहीं आई, यह सोच कर करवटें बदलते रहा कि आख़िर चार महीने बाद कल मैं आंटी को बिना रोक टोक के खूब चोद सकूँगा.हिंदी मे सेक्स बीएफ: मैं खुद डॉगी स्टायल में होकर एक हाथ से पेन्सिल अपनी गांड में डाल के उस पेन्सिल को आगे पीछे करता था.

जब मैंने उसके हज़्बेंड से पूछा कि यही मैडम हैं, जिनके लिए मैं आया हूँ?तो उसने बताया कि नहीं नहीं.मुझे अकेले रहने में डर लगता है इसलिए मैं अपने बुआ के लड़के से बात कर रही थी.

काजल अग्रवाल नंगी फोटो - हिंदी मे सेक्स बीएफ

अपनी माशूका का नंगा बदन देख कर मेरे मुँह में पानी आ गया और मैं फिर से उसके स्तन चूसने लग गया.फिर मैंने एक बार और उसी समय उसके साथ सेक्स किया और अबकी बार उसने मेरे लन्ड को भी चूसा था.

कुछ देर बाद रात घिरने लगी, ये सर्दी की रात थी इसलिये सभी लोग अपनी बर्थ खोल कर लेटने की तैयारी करने लगे. हिंदी मे सेक्स बीएफ मैं उससे बोली- मैंने तो शादी से पहले एक बार सोचा था कि क्यों ना रस्सी लगा कर खुद को फाँसी लगा लूँ.

उसने आखें बंद करके बाप के गले लगते हुए उसको हल्के से चूमा और गहरी सांस लेते हुए एक छोटी सी सिसकारी छोड़ी.

हिंदी मे सेक्स बीएफ?

नितिन। उसके शामिल होने पे आप सवाल उठा सकती हैं लेकिन एक मज़बूरी है। मेरे पास कोई सुरक्षित जगह नहीं. दीदी आज मत रोको, तुम तो सच में गजब का माल हो, अनु ने तो फिर भी लंड का मज़ा लिया हुआ था, तुम तो कुँवारी हो दीदी, तुम्हारी चुत की सील तो मैं ही तोड़ूँगा. फिर मैंने केक लेकर उसके चेहरे पर लगाया और उसे फिर से खिलाया, फिर वो चेहरा धोने जाने लगी तो मैंने उसे दीवार से चिपका कर उसके चेहरे अपने होंठों से जीभ से उसका चेहरा साफ किया.

पास आकर उसने मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया और नशीली आँखों से मुझे देखती मेरा सुपारा चूसने लगी. मैंने धीरे से उसका अंडरवियर नीचे किया तो मेरी आंखें फटी की फटी रह गईं. पर मैं ये भी नहीं चाहता था कि मामी को इसका पता चले और काम बन भी जाता!पर मामी की हवस ने सब बिगाड़ दिया.

ये सब जानने के लिए आप प्लीज़ कमेंट जरूर करें!मेरे प्रिय पाठको, आप मुझको मेल करके अपना प्यार देते रहिएगा, जिससे मैं कहानी भी ज्यादा लिखता रहूँगा. दिसंबर 22 को मैंने अपने फ्रेंड के कहने पर एक एप डाउनलोड किया, उसमें गे ब्वॉय्ज की आईडी लोकेशन सहित दिखाई देती है. फिर उसने अचानक मेरा हाथ पकड़ कर अपने लंड पर रख दिया और मैं भी उसका लंड हिलाने लगी.

तो मैं बोला- बोलिए ना अंकल, क्या काम है?वे बोले- देख विकी, मैं घर पर पूरा दिन रहता नहीं हूँ, और मेरे पास कार है. मैं अपना लंड चुत में आहिस्ता आहिस्ता एक लय में अन्दर बाहर करते हुए प्यारी बीवी की चुत चोद रहा था.

वो इस वक्त एक स्वर्ग की अप्सरा लग रही थीं, उनका क्यूट चेहरा आज भी मुझे याद है.

मेरे हां कहते ही उन्होंने अपना हाथ मेरे पीठ पर रख कर मुझे सहलाने लगे.

थोड़ी देर बाद हम दोनों का मुठ झड़ गया और हम लोग ऐसे ही बेड पर पड़े रहे. हाय क्या मजा आता है जब किसिंग करते हुए कोई आपके पूरे शरीर पर हाथ फेरे तो मानो ऐसा लगता है, जैसे कि आसमान में उड़ रहे हों. आधे रास्ते निकल जाने के बाद सोनम ने बोला- पहले मेरी फ्रेंड के रूम पर चलो.

अब सुरेश और मैं एक ही रूम में होने के कारण हर रोज सोने से पहले हम दोनों देर रात तक बातें करते थे. दीदी चिल्लाने लगीं, मैंने उनका मुँह बंद किया और पूरा लंड अन्दर घुसा दिया. बाद में मुझे मेरे लंड में कुछ गर्म एहसास हुआ, मैडम ने अपना लावा छोड़ दिया था.

हम एक हॉलीवुड मूवी देख रहे थे और थोड़ी देर बाद उसमें एक बहुत ही सेक्सी किसिंग सीन आया.

मेरा एक हाथ उसके एक मम्मे पर था, ब्रा के ऊपर से ही उसे मसले जा रहा था. एक दिन मैंने जानबूझ कर रस्सी तोड़ दी, जिससे मेरे कपड़ों के साथ उनके कपड़े भी नीचे गिरे. मैंने उनके लंबे बालों को अपने हाथ में समेट कर उनकी गर्दन को खींचा और उनके बाल पीछे की तरफ खींचते हुए उनकी गांड की कुटाई शुरू कर दी।उनके गोरे चूतड़ों को लाल करते हुए अनायास ही मेरे मुंह से निकल गया- ले बहन की लोड़ी… बना अपने गांड को गोदाम।लगातार 50 झटके मैंने अपनी बहन की गांड में दिए, उनकी गर्दन को बालों से ऊपर की तरफ खींचने के कारण उनके तीखे तीखे स्तन टेबल और हवा के बीच में झूल रहे थे.

फिर मैंने उसे सीधा करके लन्ड सीधे उसकी चूत में डाल कर चुदाई शुरू कर दी।हमें जल्दी थी क्योंकि कभी भी कोई भी आ सकता था. मुझे नहीं मालूम था कि ये छोटी सी लड़की इतना मजा देगी और मेरा 8 इंची लौड़ा इतने आसानी से अपनी नन्ही सी चूत में ले लेगी. उन्होंने फिर से अपने सारे कपड़े निकाल दिए और कहने लगे कि सुनीता तुम्हारे आने से रूम में बहुत गर्मी आ जाती है.

मुझे यूं घूरते देख कर वो बोल पड़ी- इतना घूर कर क्या देख रहे हो? कभी चूत नहीं देखी क्या?मैंने बोला- चूत तो बहुत देखी हैं, मगर सिर्फ पोर्न फिल्मों में ही देखी हैं.

इतनी गंभीरता से इसलिए नहीं देखते हैं क्योंकि उनके नीचे वाले क्लर्क, बाबू लोग सब चैक करके ही साइन के लिए अन्दर भेजते हैं. पूरा लौड़ा घुसाने के बाद जब सोनू ने चोदना शुरू किया तो मैं सातवे आस्मां की मस्ती पर थी, पूरे कमरे में फच फच की आवाज़ हो रही थी और मेरी सिसकारियाँ गूँज रही थी!सोनू- ले साली, और कस के चुद तू आज, आज तेरे इस कामुक बदन की आग बुझा ही दूंगा!मैं- हरामी साले, ये आग सालों की है, इतनी जल्दी नहीं मिटेगी.

हिंदी मे सेक्स बीएफ मेरी चाची की चूत चुदाई की कहानी के पहले भागकामुकता के घोड़े पर सवार चाची को चोदा-1में आपने पढ़ा कि कैसे मैंने अपनी चाची को उसके बॉयफ्रेंड के साथ रेस्तराँ में देखा. तभी 4-5 कर्मचारी बड़ी तेजी से चलते हुए आगे आ रहे थे, मैं देखकर वहीं खड़ा रहा.

हिंदी मे सेक्स बीएफ उसने कहा- अब और मत तड़पाओ!तो मैंने अपना लंड धीरे से उसकी चुत में डाल दिया, उसकी चुत बहुत कसी हुई थी तो लंड अंदर नहीं जा रहा था, फिर मैंने एक ज़ोर से धक्का दिया तो लंड चूत को चीरता हुआ पूरा अंदर चला गया और वो रोने लगी. बाथरूम के पास जाकर वो रूक गयी, उसने मेरे तरफ एक चुदासी नजर डालते हुए आँख मारी और बाथरूम में घुस गयी.

मेरा उसके घर पर आना जाना था, तो रवि की वाइफ मतलब मेरी भाभी से भी मेरी अच्छी दोस्ती हो गई.

बीएफ दिखा दो बीएफ बीएफ

कल छुट्टी है तुम पूनम से कोई बहाना बना कर मेरे घर पर आ जाओ, फिर पूरा मज़े लेंगे. मैंने कहा- आज तक तुमसे मैंने कुछ नहीं छुपाया और तुमको अपनी छोटी बहन मान कर ही सब कुछ बात की है. आगे वल्लिका की भक्ति के दम पर उसने किस तरह से अपने सेक्स के जाल को फैलाया आप समझ सकते हैं.

आपके जिस्म में भला कौन मर्द ना जाना चाहे!वो मुस्काई, बोली- मैंने भी जब पार्टी में तुम्हें देखा तो तुम्हारा चौड़ा बदन देख कर मन मचल गया था. मैं उनकी चूत की दोनों पंखुड़ियों के बीच की दरार में अपनी जीभ नीचे से ऊपर करके चुत चाटने लगा. उसके निप्पल एकदम हार्ड हो गए थे उसके मम्मों को मसलते, चूमते हुए उसके ब्रा का एक स्ट्रिप को कंधे से सरका दिया.

गोरे गुदाज़ बूब्स सुनहरे भूरे निप्पल… उफ़!वो अभी भी होश में नहीं आई थी.

इस सुरेश जी उठकर अपने घुटनों पे खड़े हो गए और मेरी कमर को पकड़ के मुझे डॉगी स्टायल में घोड़ी बना दिया. पिता को पद्मिनी से बहुत प्यार था और अपने दिल के टुकड़े को वो हमेशा अपने साथ रखता था. एक दो बार उसकी गांड में भी लंड डालने की कोशिश की, एक बार लंड घुस भी गया था.

कुछ देर लंड चूसने के बाद मुझे ऊपर आने को कहा, मैंने उसे नीचे लिटाया और उसकी टाँगें फैला दीं, वो भी मेरे लंड का इंतजार करने लगी. फिर बूढ़ा रमेश जाने की तैयारी करने चला गया और रूपा ने हमें खाना खिलाया, खाना रूपा ने बनाया था, तो उसे मैंने रूपा को सौ का नोट उपहार स्वरूप देकर कहा- खाना खाकर मन प्रसन्न हो गया. उन्होंने मेरा नाम पूछा, तो मैंने अपना नाम बताया कि मेरा नाम विकी है.

आपने मेरी पहली वाली कहानीफ़ुटबॉल कोच ने मेरी गांड मारीतो पढ़ी ही होगी. मुझे देख कर वो उठने लगा, मैंने कहा- लगे रहो, मैं जाता हूं!तो देवेश बोला- सर बैठें, देखें कि हम नादाँ ठीक से कर रहे हैं या नहीं!हम सब हंसने लगे.

तब तो सिर्फ जूसी रानी के पेटीकोट में मैं हर वक़्त घुसा रहता था और उसकी बुर के जूस के फुव्वारों में डूबा रहता था. जब से मैंने उनके लंड का स्पर्श महसूस किया था, तब से मेरे मुँह में लंड चूसने की प्यास लग गई थी. आपको डरने की बजाए ऐसा कोई देखना चाहिए, जिस पर आपको विश्वास हो कि उसके साथ सब ठीक रहेगा.

क्या बात है?मैंने उसको बताया कि उसको अभी प्लेन से कहीं जाना था इसलिए छोड़ दिया.

चलिये मेरा पेटीकोट उतारिये, मेरा मुन्ना आज खुल कर देखेगा अलौकिक सुंदरता … आज यह खुल कर जन्नत की सैर करेगा. अनुप्रिया बहुत ही गोरी और मस्त थी, उसके चूतड़ तो बहुत ही गोरे और मोटे थे, देखकर मेरी चूत में पानी निकलने लगा था. उसने अब अपना लंड मेरी चूत पर सैट किया और पेलने की जुगत में हो गया था.

इतनी दूर क्यों बैठी हो जान? शरमा रही हो क्या? व्हॉट्सैप पर कितना बोलती थीं, सामने आजा, फिर देखो तुम्हें ये करूँगी वो करूँगी. मैंने भी मौका देख कर सोचा, इस छोटी सी मुलाकात को आगे बढ़ाया जाए- मैडम, आप जब चाहो मुझे बुला सकती हो.

इस तरह से हम दोनों आपस में डिल्डो की मदद से चुत की चुदास को शांत कर लेते थे. बाप निकल गया, तो पद्मिनी को ऐसा लगा, जैसे उसके बाप ने अभी अभी उसको रात को चोदने को प्रपोज़ किया. इसका मतलब ये हुआ कि निशा उसके लंड को अपनी चुत में लेकर लंड की सवारी गाँठ रही थी.

सनी लियोन का एचडी वीडियो बीएफ

फिर भी मैं कुछ नहीं बोला तो उसने कुछ देर बाद मुझसे हय बोला और बात शुरू की.

रास्ते में मेरा शरीर उसके शरीर से रगड़ खा रहा था, जिससे मुझे बड़ी चुदास भड़क रही थी. पहले कुछ दिनों तक तो दवा ख़ाता रहा, मगर उसके बाद तो उसने दवा खानी भी छोड़ दी और मुझ पर बहुत जुल्म करता था. उसने मुझे गले से लगा लिया और बोला कि मुझे आज तक सच्चा प्यार करने वाला कोई नहीं मिला.

अब मुझे मजे आ रहे थे कि तभी उसने जोर के झटके के साथ लंड को मेरी बुर के अन्दर पेल दिया. मैं भी उसको मना नहीं कर पाया क्योंकि वो साली थी ही इतनी सेक्सी कि कोई बेवकूफ ही होगा जो उसे चोदने से मना कर देता. देसी गर्ल सेक्सी एचडीअब मैं पूरी तरह से झड़ने की चरम सीमा पर थी, मैंने कहा- अनुप्रिया, मैं झड़ने वाली हूँ.

दिनेश का लंड रस बहुत गर्म रस था और एक अजीब सा टेस्ट लगा, पर मस्त था. मुझे नहीं पता कि पिंकी को कितनी ज़रूरत थी मगर मेरी तो बहुत बढ़ गई थी, जब से मैंने उसकी मेल्स पढ़े और लंड के फोटो देखे.

मेरे हाथ उनकी जांघों से होते हुए साइड से उनकी पेंटी के अन्दर चले गए. ” मौसा जी दुखी होते हुए बोले, दो दिन पहले ही उन्होंने उस जगह पर छोटे पौधे लगाए थे।मौसा जी,दो दिन पहले ही आप ने वहाँ पर गुलाब के पौधे लगाए थे ना?” मैं उन्हें याद दिलाते हुए बोली।हाँ बेटा, टहनी हटानी होगी, नहीं तो पौधे मर जायेंगे. और अकेले में होने के कारण मुठ मारने के लिए मेरा दिल बेचैन हो रहा था.

फिर भी उसने बहुत ही प्यार से कहा- बापू, मैं तो उस दिन से आप से इस तरह का प्यार करती हूँ, जिस दिन से आपके बिस्तर पर आप के पास सोने को आयी थी. मेरा भी बहुत मन करता है माँ की चुदाई करने का… पर ये पता नहीं संभव होगा या नहीं. मैंने बहुत सी भाभी और आंटी और लड़कियों के साथ चुदाई की है और हालत ये हो गई है कि मैं अब सेक्स के बिना नहीं रह सकता.

वह बात बात पर रितु की तारीफ कर रहा था और बोल रहा था कि वह बहुत सुन्दर है.

फिर मैंने देर न करते हुए उसकी एक चूची को मुँह में ले लिया और दूसरी को हाथ से दबा रहा था. उन्होंने भी कुछ दूर चलने के बाद कार को एक जगह साइड में ले ली और मुझे अपनी ओर खींचकर गले से लगा लिया.

कॉलेज में सब लोग हमसे जलने लगे थे, शायद कॉलेज के कुछ लोगों को हमारी दोस्ती नहीं पसंद थी. आह आहह आहह…बॉस का लंड स्खलित होने को हो गया लेकिन ललिता मैडम ने लंड चूसना जारी रखा और बॉस की रबड़ी खाने की तैयारी शुरू कर दी. उसके बाद हम जो प्रोजेक्ट बना रहे थे उसको एक तरफ छोड़ कर एक दूसरे के गले लग कर एक दूसरे को किस करने लगे.

कई बार मेरी हरीश से कॉलेज में इस बारे में भी बात होती थी कि मेरे माता पिता तो सिर्फ घर में रहना ही पसंद करते हैं. अब मैंने दोनों हाथों से कमर को पकड़ लिया और निशा को जोर से लंड पे खींचा तो चिकनाई की वजह से पूरा लंड चुत में उतर गया. मैंने भाभी से कहा कि भाभी आपको डोर बेल बजाना चाहिए न!उन्होंने कहा कि तुम दरवाजा बंद क्यों नहीं रखते?उनकी इस बात पे मैं चुप हो गया.

हिंदी मे सेक्स बीएफ फिर धीरे से उनकी टाँगें ऊपर उठा कर मैंने अपनी जीभ उनकी योनि में डाल दी और उनकी योनि का रस पीने लगा. वो किचन में चाय बना रही थीं, दरवाजा खुला था तो मैं सीधे किचन में आ गया और आंटी को कस कर पकड़ लिया.

सेक्सी वीडियो बीएफ बीपी वीडियो

मगर मेरा तौलिया नीचे आ गया और मैं पीछे की तरफ से पूरी नंगी सैमी के सामने हो गई. उन्होंने तुरंत फिर से अपने हाथ से मेरा मुँह बंद किया और अपनी अंडरवियर मेरे मुँह में डाल दी. इस बार पद्मिनी ने अपने बापू का लंड अपने पेट के थोड़ा नीचे चूत के नज़दीक महसूस किया.

इतने राहुल ने अपने होंठ मेरे होंठों पर रख दिए और बहुत ही अच्छी तरह से बड़े प्यार से उनको चूसा. यह कोई सिर्फ कहानी नहीं है, मुझे मेरी मम्मी की कसम, इसका एक एक शब्द सही है. सेक्सी दिखाइए यूट्यूब परजब भी वो बाल्कनी में आतीं तो हम सभी फ्रेंड्स आकर खड़े हो जाते और उनको प्यासी निगाहों से घूरते रहते कि बस एक बार भाभी की मिल जाए.

लगभग बीस मिनट के बाद वो आयी और मुझे कॉल करके पार्किंग एरिया में बुलाया.

थोड़ी देर बाद रजत घर आया तो उसको भी अपने माँ का उतना ही प्यार मिला जितना विक्रम को मिला था. कुछ दिन बाद मैंने उससे उसका फ़ोन नम्बर मांगा तो उसने देते ही बोला- क्या अब आपका भी नंबर मिल सकता है?मैंने कहा- हाँ आज शाम को एक अनजान नंबर से कॉल आएगी, वही मेरा नंबर रहेगा.

मैंने पूछा- क्यों हंस रही हो?तो उसने बताया कि तूने 2000 दिए तो मैं भी 2000 देकर जाऊंगी और मैं जब जाऊं तो मुझे देख लेना कि मैं कैसे जा रही हूँ. सामने से मैं रीना की गांड नहीं देख पा रहा था लेकिन उसके शरीर का आकार महसूस कर सकता था कि जितनी सेक्सी आगे से है पीछे से उतने ही लंड फाड़ सेक्सी होगी. लंड फंसते ही मैंने उसे अपनी ओर खींच लिया, जिससे एक ही झटके में मेरा पूरा लंड उसकी बुर में समा गया.

उसके बाद एक बार मैंने अपने लंड को थोड़ा सा बाहर खींचा और फिर से एक धक्का और लगा दिया.

उसके पति यानी मेरे जीजू को कंपनी के काम से एक महीने के लिए दूसरे शहर जाना पड़ा था, तो वह अकेली रह रही थी. अभी यही सब सोच रहा था कि तभी मेरी हवसी नज़र एक औरत पर पड़ी, जो आने में थोड़ा लेट हो गयी थी. उन्होंने ऑफिस में सबको संबोधित किया और क्योंकि मैं नया था, मुझे अपने केबिन में बुलाया.

गांव की सेक्सी चाहिएशरीर में थोड़े हलके हैं पर शरीर में जान बहुत है, देख के लगता नहीं है कि इतनी जान होगी उनमें!उस दिन इतवार था और पापा बाहर गए हुए थे. मैंने मोबाइल ले लिया, उसने मुझसे मोबाईल का वीडियो कैमरा चालू करने के लिए कहा तो मैंने वीडियो कैमरा चालू कर दिया.

बीएफ डाउनलोड फ्री

मैंने जब पूरा गिलास एक सांस में खत्म किया तो वह मुझे देख कर हंस ड़ी और मुझे नमस्ते करके मेरे बाजू में बैठ गई. उसने मुझे गले से लगा लिया और बोला कि मुझे आज तक सच्चा प्यार करने वाला कोई नहीं मिला. ”अगर आप कहें तो मैं हेल्प करूँ?”नहीं रे, मैं ऐसे ही किसी के साथ कुछ नहीं करना चाहती.

मैंने भी उन्हें कहा- क्या वाकयी में आप शराब पीती हैं?उन्होंने कहा- हां. आंटी जिस जोश से चुदवा रही थीं, उससे ऐसा लग रहा था कि इनके लिए तो दो-तीन लंड भी कम हैं. मामी जी की गांड और मेरे लंड पर तेल लगाने से गांड बहुत ही चिकनी हो गयी थी, जिस कारण गांड लंड आसानी से घुस रहा था.

मैं चाहता था कि जितना हो सके, उतना मेरा बदन उनके बदन पर सटा कर घिसता रहे. जिंदगी दोस्तों के साथ बड़े ही आराम से और भरपूर एन्जॉयमेंट के साथ चल रही थी, कमी थी तो बस चूत की. पर घर में कुछ ऐसा हुआ कि घर में मैं मौसी और दो छोटे बच्चे रह गये मौसी को अकेले डर लगता था तो उन्होंने मुझे अपने पास लेटने को कहा.

’मैंने कहा- रेखा जी जो बातचीत करनी है वह रेस्टोरेंट में नहीं हो सकती… उसके लिए तो कमरा ही चाहिए… रेस्टोरेंट में करनी होती तो वहीं कर लेते न… यहाँ क्यों आपको आनेकी तकलीफ देता. मेरा बस चले तो …”रहने दो पापा जी, यहां कोई बस वस नहीं चलने वाला आपका … बस तो बस स्टैंड से चलती है वहीं चले जाओ.

जब मेरी नयी नयी शादी हुई थी, तब मेरे पास रहने के लिए अपना घर भी नहीं था, उन दिनों हम लोग किराए के मकान में रहते थे, जिसकी वजह से मेरी कमाई का एक बड़ा भाग किराया देने में चला जाता था, परिणाम स्वरूप मैं प्रेमा के लिए ज़्यादा कुछ नहीं कर पाता था.

मैं भी अपने लंड से खेल रहा था और अपनी बीवी को एक गैर मर्द की बांहों में नंगी देख रहा था. लड़की का नहाते हुए सेक्सी वीडियोमेरी उससे ऑफिस के काम को लेकर कई बार बाहर से ही उससे बात भी हुई थी, जिस वजह से आस पास रहने वाले भी इस बात को जानने लगे थे और हमारे मिलने को कुछ गलत नहीं समझते थे. சமந்தா செக்ஸ்मैंने उसके हाथ में हाथ डाल के उसके बूब्स पर मुँह रखा तो वो तुरंत बिचक गयी. भाभी की चूत बहुत प्यारी थी और उसकी खुशबू मेरे अन्दर की कामुकता को और बढ़ाने लगी.

मैंने यू ट्यूब पर देखा तो मुझे प्री स्टिच साड़ी पहनने की विडियो मिल गयी.

मैंने जल्दी से उठ कर बाथरूम में जाकर बुर साफ की और ब्रा पैंटी पहन कर चूचियों को सही से ब्रा में सैट किया. फिर कुछ ही देर में उसने लंड के टोपे को मेरे चूत के अन्दर झटके से डाल दिया, मैं जोर से चिल्लाई ‘आआहहह. मैं उनके मम्मों को दबाता दबाता, नीचे हाथ ले जाकर उनकी चूत को सहलाने लगा.

तू भोली बन रही है, मुझसे शरमाने के बजाए, मेरी प्यारी बिटिया तुमको मुझसे खुल कर सारी बातें बता देनी चाहिए. पर फिर जब हम संचालन कर रहे थे और किसी की स्पीच की बारी आई, तब वो मेरे बाजू में खड़ी हो गई थी. लेकिन मैंने ऐसे ही भाभी को ताबड़तोड़ चोदता रहा और भाभी की कई तरह से चुदाई की.

चुदाई वाली बीएफ चाहिए

ऐसा बोलते ही उसने मेरे हाथ पकड़ कर अपने गाउन के बटन खोल कर अपने मस्त चूचों पर रख दिए. रात की चुदाई में सब कुछ भूल गई और जब सुबह तबस्सुम जाने को निकली तो मैंने उससे अपने दिल की बात कही. तो उसने मेरे को जबरदस्ती टाइट पकड़ लिया और मेरे लिंग को पूरा अपनी योनि में डाल दिया.

अब इस भीड़ भाड़ वाले माहौल में इस अल्हड़ बंजारिन को कैसे चोदा जा सकता है, मेरे मन में यही प्लानिंग चलने लगी थी.

मैंने अपनी नज़र उस पर से हटा कर मोबाइल में लगा ली ताकि उसे यह ना लगे कि मैं अब भी उसे घूरता हूँ; वरना वो अब भाव खाने लगेगी!तो जब मैं मोबाइल चला रहा तो मैंने महसूस किया कि कोई मेरे बगल में आकर बैठा है.

चाचा पूछने लगे- कहां जलन हो रही है?मैं बोली- चूत और गांड दोनों जगह हो रही है. अब मुझ में ऐसी क्या बात है, मैं खुद भी नहीं जानती!यह बात पूरी तरह से सच है कि जितने भी मर्द मुझे देखते हैं, वो चाहे कितने भी क्लोज रिलेटिव हों, चाहे जितने बूढ़े हों सभी के सभी. सेक्सी पिक्चर मराठीमधूनमैंने भी उन्हें जाने दिया क्योंकि कम से कम इन डेढ़ सालों में तो मुझे उनकी वजह से खुशी तो मिल पाई.

दो बजे के बाद मैंने फिर उसे किस किया, वो हटाने लगी और बोली कि उसके पीरियड्स चल रहे है. मैंने जैसे ही अपने लंड को ऊपर खींचा, तो मेरा लंड खून से लाल हुआ पड़ा था. फिर भी उसने बहुत ही प्यार से कहा- बापू, मैं तो उस दिन से आप से इस तरह का प्यार करती हूँ, जिस दिन से आपके बिस्तर पर आप के पास सोने को आयी थी.

कुछ पल सोचने के बाद कहने लगी- क्या आप मुझे सिटी प्लेस तक लिफ्ट देंगे?अरुण- अरे क्यों नहीं. वन्द्या अब तू बता तुझे कैसा लगा?मैं हांफते हुए बोली- मुझे अभी भी कुछ होश नहीं, बिल्कुल पता नहीं कि क्या कहूं कैसे बताऊं? बस आज का ये दिन ये पल कभी नहीं भूलूंगी, बहुत ही मस्त बहुत ही सेक्सी टाइम रहा, मुझे बेइंतहा मजा आया.

फिर देखिये क्या ज़बरदस्त, भेजा उड़ा देने वाला मज़ा वोआपकी लौंडियाचुदाई मेंदेगी.

ये बात पिछले साल की है, मैं जहां जॉब करता था, वहीं पास में एक ब्यूटी पार्लर था. मैंने अब एक हाथ की दो उंगलियों को चाची की चुत के दाने को मींजने में लगा दिया और दूसरे हाथ से उनकी झूलती चूचियों के निप्पल को रगड़ने में लगा दिया. मैं उनके चूचे को देखकर अपने आपको रोक नहीं पाता था और दूध पीती हुई बच्ची के गाल पर किस करने के बहाने अपने मुँह को उनके चूचे के पास ले जाता था.

सनी लियॉन हिंदी सेक्सी वीडियो जब भाभी मुझे कमरे में ले जा रही थीं तब मैंने उनकी हसीन जवानी से चिपकने का भरपूर सुख लिया. कुछ देर बाद मुझे ऐसा लगा जैसे मेरी चूत से कुछ बह रहा है, मैं बुरी तरह से तड़पने लगी, मैंने अपनी कमर से पापा का हाथ हटा दिया और पापा का लंड अपने चूत के नीचे रख कर अपनी चूत उनके लंड से रगड़ने लगी।मैं पूरी तरह से जल रही थी मुझे पहले कभी ऐसा कभी महसूस नहीं हुआ था.

वो मेरे सामने आधी नंगी होकर शर्माने लगी और खुद को चादर में छिपाते हुए बोली- अपने भी तो कपड़े उतारो. मैं उठ के बैठ गया तो मेरे सामने सुरेश जी का सोया हुआ काला लंड दिखाई दिया. मैंने उसके भाई से कहा कि अगर तू अगर मोबाइल छुपा कर लेके आएगा, तो तुझे 50 रूपए और दूंगा.

सेक्सी बीएफ सेक्सी बीएफ हिंदी वीडियो

सब जगह तो किस कर रहा हूँ?तो भाभी बोलीं- अमित यार प्लीज़ अब ऐसे मत कर ना. उसकी बॉडी लैंग्वेज से यही लगता था कि वो किसी मध्यम वर्गीय ग्रामीण परिवार से आयी थी. मुझे देख कर वो उठने लगा, मैंने कहा- लगे रहो, मैं जाता हूं!तो देवेश बोला- सर बैठें, देखें कि हम नादाँ ठीक से कर रहे हैं या नहीं!हम सब हंसने लगे.

खाला चीखने चिलाने लगी- हाआअ… आमिर आईईईईई ईईई दर्द उउउउइई ईईईई हो रहा है! उउउईईईई माँ, आहहहाँ!उनकी चीख से मैं और मदहोश हो गया, मैंने कहा- धीरे से चिल्लाओ खाला, सब सुन कर क्या सोचेंगे!एक बार फिर मैं पीछे हटा और फिर अन्दर की ओर दबाव दिया. मैंने वैसा ही किया, अपने होंठ उसके होंठ से लगा कर एक तेज़ झटका दिया औरपूरा लंड उसकी चूत में डाल दिया.

मैंने उसकी जांघों, चूत और चूतड़ों के बीच लंड को लगाया, मेरा लंड उसके नीचे से होता हुआ पीछे उसके चूतड़ों से बाहर आगया.

तकरीबन 20 मिनट की चुदाई में वो बार झड़ चुकी थी और मेरा भी निकलने वाला था, मैंने उससे पूछा- कहां पे निकालूँ?तो उसने कहा- जहां मन पड़े, वहां निकाल दो. मैं उसके पेट को सहला रहा था, उसकी नाभि में उंगली कर रहा था, उसकी गांड पर लौड़ा घिस रहा था. मयूरी चाहती थी कि शीतल को पूरी तरह से यह लगे कि उसने अपने बेटों के लंड का शिकार खुद किया है और विक्रम और रजत को यह लगे कि वो अपनी माँ की चूत तक खुद अपने बलबूते पर पहुंचे हैं.

कोमल भी अपनी पूरी गांड चला रही थी और मेरा लंड पूरा कोमल की चूत में अन्दर तक जा रहा था. मैं समय से पहुंच कर कुर्सी पर बैठा था कि चाची अन्दर से आईं और बोलीं- अरे पवन तुम कब आ गए?मैंने गौर किया कि चाची को बाल गीले थे. मैंने अब देर न करते हुए उसकी पेंटी में हाथ डाल लिया और उसकी चूत को सहलाने लगा.

वो घर में अकेला था, मैंने उसको खाना खिलाया और उसके खाना खाने तक मैं वहीं बैठ गई.

हिंदी मे सेक्स बीएफ: पापा के न रहने का फायदा पापा के दोस्त उठाते थे, साथ में और भी कुछ लोग थे, वे सब मम्मी की मदद करने के बहाने मेरे घर आते-जाते रहे हैं. तो आंटी बोली- मैं क्या अचार डालूं इस चाबी का? चलानी तुम्हें ही है…मैं तो खुशी के मारे पागल हो गया, मैंने स्कूटी को सेल्फ मारी, आंटी मेरे पीछे बैठी और क्या बताऊं दोस्तों क्या फीलिंग थी? आंटी की गांड एक तो बड़ी है, और मैंने भी मस्ती किया, जितना पीछे हो सके उतना बैठा था.

मैं उनकी पीठ पर हाथ से उनकी नर्म त्वचा को मसलते हुए उनके माथे पर किस कर रहा था. मेरी सास की चुदाई की इस सेक्स स्टोरी के पिछले भागमेरी प्यारी चुदासी सासू माँ-1में आपने पढ़ा कि मैं अपनी सास के मुँह में अपना लंड डाल कर मजा ले रहा था. हमारे पैंट में तने लन्ड देख के वो हँसी, बोली- लड़को… इतने में यह हाल, पूरा देख लिया तो पैंट ना फट जाए?वो अपनी पीठ हमारी तरफ करके खड़ी हो गयी.

मेरे दोनों पैरों के बीच आकर उसने अपने लंड को मेरी चूत पर रखा और लंड से मेरी चूत को सहलाने लगा.

शिवदयाल जी का लंड… असल में यह स्टोरी मेरी माँ और शिवदयाल जी की है और काफी हद तक … काफी हद तक क्यों बोलूँ … बिल्कुल सौ प्रतिशत रीयल है. फिर हम दोनों यूं ही मस्ती करने लगे और ऐसे ही 10 मिनट के बाद हम दोनों गर्म होने लगे और फिर 69 में आ गए. फिर मैंने अपनी चुदास को शांत करने के लिए उससे मेरी मुठ मारने को कहा.