हॉट गर्ल बीएफ

छवि स्रोत,चूत में उंगली डालने वाली सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

इन्डियन सेक्सी विडियो: हॉट गर्ल बीएफ, मेरा लंड अभी भी मुरझाया हुआ था आखिर हो भी क्यों न… रात में सुगंधा इस डर से तीन बार से चार बार चुदवाती है कि कहीं मैं उसकी बहन को न चोद दूँ.

सेक्स सेक्स वीडियो सेक्सी वीडियो

उधर मनोज ने सोनिया के चूतड़ों पर एक चपत लगाई और फिर उसने सोनिया की चूत पे अपना लंड रख दिया. भोजपुरी वीडियो चाहिए सेक्सीमुझे विश्वास ही नहीं हो रहा था कि मैं आज उसे आज चोदने वाला हूँ, बहुत प्यार करने वाला हूँ.

बियर अपना काम कर चुकी थी शायद उसमें शराब या कुछ ऐसा भी मिलाया गया था, जिससे मेरी वासना बढ़ती जा रही थी और मैं उन सबके हाथों का खिलौना बन कर रह गई थी. सेक्सी वीडियो नंगी बताइएउम्र 28 साल, लंड की लम्बाई साढ़े छह इंच और मोटाई तीन इंच है, जो मेरे ख्याल से एकदम परफेक्ट लंड साइज़ है.

मैं अभी कुछ कह भी नहीं पाया था कि दीदी आगे आईं और झट से मेरी पैन्ट को खींच कर नीचे कर दिया.हॉट गर्ल बीएफ: चाह तो दोनों यह रहे थे कि यहीं पर शुरू हो जाएँ लेकिन खुले आम वे दोनों वो सब नहीं कर सकते थे जो वे चाहते थे.

मैंने फिर कहा- अगर तुम्हारे दिल में मेरी जगह है, अगर तुम भी मुझसे प्यार करती हो, तो तुम्हें आना ही होगा.करीब 10 मिनट तक उसने मेरा लंड चूसा फिर मेरे बिना कुछ कहे बिस्तर पर टांगें फ़ैला कर लेट गई और कहने लगी कि सारे मज़े तुम ही लोगे या मुझे भी दोगे?मैं उसके चेहरे पर फुद्दी मरवाने की वासना साफ देख सकता था, उसे चुदने की आग लगी हुई थी.

ब्लू पिक्चर सेक्सी फुल सेक्सी - हॉट गर्ल बीएफ

वो कुछ नहीं बोल रही थीं बल्कि आँखें बंद करके मेरी उंगलियों की हरकत का मजा ले रही थीं.फिर मैंने मॉम को कहा- मॉम मैं आप की चूत चाटूं?मॉम बोलीं- सिर्फ चाटना, उसके अलावा कुछ नहीं करेंगे.

तभी चाचा मुझसे बोले कि प्लीज आरती किसी से मत बताना!और रूम से भाग गये. हॉट गर्ल बीएफ मैं पेशाब उसके मुँह में छोड़ने लगा और समीर उस पेशाब को मुंह में लेता गया मगर उसने पिया नहीं.

मोना को सोच में पड़ी देख नीतू ने उससे पूछा- क्या हुआ दीदी?मोना- कुछ नहीं हुआ.

हॉट गर्ल बीएफ?

मैं मम्मी के पीछे पीछे चल रहा था, चारों तरफ गहरी ओर बड़ी बड़ी सरसों खड़ी थी जिसमें से आदमी ऊपर हाथ करे तो भी नहीं दिखता था, इतनी बड़ी बड़ी सरसों थी. एक साथ चुत और गांड मराने पर, वो भी हवा में जब मेरी सैंडविच चुदाई हुई तो इसमें मुझे सबसे ज्यादा मजा आया. संजय तो टूटे पैर के साथ घर में पड़ा था मगर पूजा के साथ उसकी चुदाई बराबर चल रही थी.

बोलो क्या है ये सब?महेश- अरे दिव्या तुम इतनी टेंशन क्यों ले रही हो. मैं अपनी मम्मी की तरह सेक्सी हूँ मतलब मेरी माँ भी एक बहुत मस्त माल के जैसी हैं. उसके बाद साथ में खाएँगे और उसके बाद फिर तेरी चुत को चाट कर चुदने को रेडी करूँगा.

थोड़ी देर बाद कविता की नजर मुझ पर पड़ी तो उसने लैपटॉप बन्द कर दिया और मेरी तरफ देखने लगी. मैं अपने दोनों हाथ से उनकी एक चुची दबा रहा था और एक चूची के निप्पल को दांत से काट रहा था, जिससे उनको भी बहुत मजा आ रहा था. जैसे ही सुमन भाभी ने मेरे लंड को देखा तो उनका मुँह खुला का खुला रह गया.

वो दिन तो ऐसे ही बीत गया था और हम दोनों दोस्त वापिस आ गए,एक सप्ताह बाद फिर मैं उधर किसी काम से गया तो मैंने मन में सोचा कि क्यों ना आंटी से मिलता चलूँ, शायद कुछ नजारा देखने को मिल जाए!मैंने जैसे ही डोरबेल बजाई, आंटी ने दरवाजा खोला, आंटी मुझे देख कर बहुत खुश हो गईं, उन्होंने मुझे अन्दर बुलाया, अन्दर अंकल को न देख कर मैंने पूछा- अंकल कहाँ पर हैं?उन्होंने बताया कि अंकल काम पर गए हैं. लेकिन उम्र के साथ मामी की वासना बढ़ती ही जा रही थी और मुझ पर बार बार एक से अधिक लड़कों से एक साथ सेक्स के लिए दबाव बना रही थीं.

मैंने तपाक से बोला- आप कहें तो आपके लिए पूरी उम्र यहीं खड़े-खड़े गुजार दें!फिर उसने मुझे स्माइल दी और कहा- गुड नाईट… अब सो जाओ.

जब उसे लगा गोपाल बहुत ज़्यादा गर्म हो गया है, तब उसने नीतू को आवाज़ लगाई थी.

मेरा दिल बहुत तेजी के साथ धड़कने लगा था और मेरी साँसें भी बहुत तेज चलने लगी थीं. उसने बैग रखा और कुर्सी पे बैठ कर मोना को आवाज़ लगाई- मोना कहाँ हो यार. उसकी चुत गीली हो चुकी थी, फिर लंड उसकी चुत पर लगा कर चुदाई की और अपना माल उसके चूतड़ों पर निकाल दिया.

पर आज वो बैक सीट पर न बैठ के फ्रंट सीट पर बैठी महेश के साथ। दोनों सुखना लेक पहुंचे तो हल्का हल्का अँधेरा छाने लगा था, प्रेमी जोड़े लेक के किनारे हाथों में हाथ डाले बैठे थे, कुछ तो एक दूसरे की गोद में थे और कुछ एक चुम्बन करने में खोए हुए थे. मैंने भाभी से कहा- सुमन भाभी आप मुझे बहुत अच्छी लगती हो, रोज़ रात को आप मेरे सपने में आती हो, मुझे आपसे बात करना अच्छा लगता है और आपके साथ रहना अच्छा लगता है. दो युवा बच्चों के बाद भी मेरी पड़ोसन का बदन एकदम मस्त था, जो भी उसको देखता वह उसको चोदने की जरूर सोचता.

कितना दम है मेरे लौड़े में!” कहते हुए अमित ने अपना लंड बाहर निकाल लिया और उस्मान को कुछ इशारा किया, जो माया नहीं देख पाई.

मैं- इसमें शरम वाली क्या बात है आपने मेरी नुन्नू भी तो देखी है तो मैं आपकी क्यों नहीं देख सकता?चाची ने मेरे गालों पर धीरे से चांटा मारा और मुस्कुराकर बोलीं- बड़ी बातें आने लगी हैं तुझे?मैंने चाची को पीछे से पकड़ लिया. ये चुदाई उन दोनों के दसेक मिनट के खेल के बाद खत्म हो गई और अब मेरी माँ मेरी सास बन गई हैं और मेरे ससुर मेरे पापा बन गए हैं. मैं आराम से हुक लगाने की कोशिश कर रहा था, पर दरअसल मैं हुक लगा नहीं रहा था.

आज तुझे उसके घर जाने ही नहीं दूँगा, अभी यहाँ चोद कर फिर मेरे घर ले जाऊँगा समझी? बहनचोद साली तुझे बच्चों के बारे में पूछा तो जवाब क्यों नहीं देती हरामी. आख़िर वो दिन भी आ ही गया दिसम्बर में कम्पनी का शट डाउन आ गया और मेरी बीवी और बच्चे नानी के घर चले गए थे. मौसी धीरे धीरे मेरे लंड को सहलाने लगीं और अचानक ही उन्होंने मेरे लंड को जोर से दबा दिया.

मेरी बात का जवाब दे बेटी, तुझे ऐसे देख कर घर का यह मर्द अपने आप पे काबू कैसे रख सकता है? ऐसा कसा हुआ गोरा जिस्म इतने कम कपड़ों में देख कर मेरी तो हालत मस्त हो रही है बेटी.

वो कुछ देर बाद ऐसे ही लेटी रहीं और फिर धीरे से बोलीं- सुमित?मैं जानबूझ कर कुछ नहीं बोला. वह मेरे पास आकर घुटने के बल बैठ कर मेरी चुचियों को मुँह में लेकर चूस रहा था और दूसरे हाथ से दूसरी चुची को दबाने लगा था.

हॉट गर्ल बीएफ कुछ समय बाद मेरी बड़ी बहन की शादी थी, उसमें वो भी आई थी, लेकिन कोई बात नहीं हुई, केवल एक-दूसरे को देख रहे थे. जैसे जैसे वो मेरा लंड मुँह में अन्दर ले जाती, उसकी जीभ की गर्माहट मुझे अपने लंड पर महसूस होती.

हॉट गर्ल बीएफ चलो तुम्हें अभी आराम दिलाता हूँ, फिर कहना कि दर्द हो रहा है क्या?गुलशन जी ने गर्म पानी से सुमन की चुत को साफ किया उसकी अच्छे से सिकाई की, उसके बाद दोनों बाप बेटी साथ में बैठ कर बातें करने लगे. कितनी हरामी औरत थी यह रूपा जो अपने यार को अपनी नंगी बेटी का जिस्म दिखा कर उसका लंड चूस रही थी.

अब मैंने अंजलि को वहीं पानी की टँकी के बाजू में बिठा लिया और उसकी कमीज को ऊपर करके दोनों चूची ब्रा से बाहर निकाल लीं.

एक्स एक्स सेक्सी ब्लू फिल्म हिंदी

बाज़ार जाकर उन्होंने कुछ सामान खरीदा और इसके बाद मामी एक लेडीज गारमेंट्स की दुकान में घुस गईं. वैसे तो मैं रिच फैमिली से थी लेकिन मेरी मम्मी मुझे कभी आई फोन नहीं दिलाने वाली थीं. वैसे मैं सामान्य डील-डौल का 7 इंच लम्बा लंड धारी भोला भाला नवयुवक हूँ.

जीजू बोले कि मैं इसी ब्रांड वाले कंडोम से तेरी दीदी को भी चोदता हूँ. मैं ठीक उसी तरह से तड़फ उठी जैसे कई दिनों के भूखे के सामने से खाने की थाली हटा ली गई हो. और उस नौकर लड़के की स्थिति तो बस देखने लायक थी, उसका लंड भयानक आकार ले चुका था.

फिर चाची मेरी तरफ घूम गईं और उन्होंने अपनी मैक्सी ऊपर उठाई और अपनी चूत पर हाथ रख कर बोलीं- देख ये है मेरी नुन्नू.

चुदाई के बाद जब वो पप्पू की बांहों में पड़ी थी तो पप्पू ने उसकी बेटियों के बारे में पूछा. घर का सारा काम निपटाकर बुआजी और वंदिता भी अपने अपने बिस्तरों पर आ गईं. मेरा लंड अभी भी पूरा खड़ा था और चड्डी की बगल से थोड़ा बाहर निकल आया था.

दीदी हंसने लगीं तो मैं दीदी के पास गया और दीदी की पैन्टी उतारने लगा. अपनी कमर आगे पीछे करके रूपा पप्पू से चूत में उंगली करवाती हुई उसका लंड मसलते हुए बोली- देख पप्पू, तू गालियाँ दे या जो कुछ भी करे… मुझे कोई प्राब्लम नहीं, पर मार नहीं खाऊँगी. मैंने भाभी से कहा- सुमन भाभी आप मुझे बहुत अच्छी लगती हो, रोज़ रात को आप मेरे सपने में आती हो, मुझे आपसे बात करना अच्छा लगता है और आपके साथ रहना अच्छा लगता है.

मैंने पूछा- यहाँ फिर किसी का वेट कर रही हो क्या?वह बोली- जी नहीं… मैं अपनी तन्हाई दूर करने आई हूँ. आंटी एक दम से बोली- क्या कर रहा है, आराम से कर ना!मैंने आंटी की गांड में तेल लगाने एक बाद उस पर अपना लंड लगा कर सैट किया तो आंटी शाम कर बोलीं- धीरे से डालना.

उनमें से एक मम्मी के सामने आ गया और बोला कि हमने आपसे पूछा कि आप कहां जा रहे हैं लेकिन आपने कोई जवाब नहीं दिया. मैंने उसको बोला कि अगर ऐसा है तो प्रूव कर!उसने बस अपने लिप्स आगे कर दिए और फिर शुरुआत हुई हमारी सेक्स लाइफ की. अभी मैं कुछ सोचती समझती, तब तक वो सब नंगे हो गए थे और गोल घेरा बना कर मुझे घेर लिया.

इस भीड़ में अपने मम्मों पे हाथ पाके रूपा ज़रा घबरा गई और सिर पीछे करके दबे होंठों से पप्पू से बोली- शुक्रिया पप्पू… पर तेरा इरादा क्या है? भीड़ का इतना भी फायदा लेने का… ऐसे? मैं कुछ बोलती नहीं.

हम सब मिलकर चुदाई का मजा करते हैं और वैसे साहिल विक्की और वीरू इनके भी लंड ऐसे ही हैं. पर सख्त थे।मैंने उस को बिस्तर पर लिटाया और अपनी बहन के मम्मों पर टूट पड़ा। मैं उस के मम्मे काफी तेज दबा रहा था. सुमन- नहीं यार, वो मेरे पापा हैं, मैं नहीं देख पाऊंगी, तुम जाकर देख लो.

लड़के ने भी चूत की पूरी इज्जत करते हुए बुर प्रदेश को पोंछ पांछ के चाट लिया. थोड़ी देर बाद कविता की नजर मुझ पर पड़ी तो उसने लैपटॉप बन्द कर दिया और मेरी तरफ देखने लगी.

वो मुझे देख कर बोलते हैं कि मैं कितनी गोरी हूँ, मेरी मक्खन जैसी टाँगें हैं, टाँगें ऐसी हैं तो जाँघें कैसी होंगी और अगर जाँघों का यह हाल है तो अन्दर की जन्नत तो कैसी होगी. मम्मी ने ससुर जी का लंड को हाथ में पकड़ा और बोलीं- आपका तो बहुत मोटा है. फिर मैं उसे किस करने लगा और धीरे से दूसरा झटका मारा, मेरा पूरा लंड अब उसकी चूत में था.

अनुष्का शेट्टी की सेक्सी विडियो

मैंने अपनी जीभ उसकी फुद्दी में अन्दर घुसाई तो उसके मुँह से सिसकारियाँ निकलने लगीं और वो मेरे सर पकड़ कर फुद्दी पर रगड़ने लगी.

मैंने धीरे से अपना एक हाथ उसकी छाती पर रखा दबाने लगा, रागिनी सिसकारियां लेते हुए चुत की वासना के सागर में गोते लगाने लगी. तो अब मैं फ्रीज़ और उसके बीच में फंस गया था और मेरा लंड अकड़ता जा रहा था. वो मेरे पास आई और लंड को हाथ से पकड़ कर मेरे होंठों में होंठ डाल दिए.

अब तक की इस अन्तर्वासना हिंदी सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा कि गुलशन ने अपनी बेटी सुमन के मम्मों पर खूब हाथ फेर लिया था और उसको नींद में ही अपना लंड भी चुसवा दिया था. मम्मी इतने खुले शब्दों से एकदम से शरमा गईं और बोलीं- हमारी शादी के बाद क्या होगा?तो ससुर बोले- सुहागरात होगी!मम्मी हंसते हुए बोलीं- आप सुहागरात मना भी पाएंगे?ससुर जी ने मम्मी से कहा- आज ट्रायल हो जाए?मम्मी भी खुल कर बोलीं- ठीक है. सेक्सी वीडियो ब्लू सेक्सी पिक्चरऔर कुछ देर बाद अंशुल ने मुझसे बात की तो मैंने उसे बताया कि मैं आपके घर के पास ही खड़ी हूँ.

सुमन रोटी बना रही थी और उसकी गांड पीछे को निकली हुई थी, जिसे देख कर पापा जी का मन मचल गया, वो उसके पीछे गए और लंड को लुंगी से बाहर निकाल कर उन्होंने धीरे से सुमन की नाइटी ऊपर की. मैंने भी थोड़ा ऊपर उकसते हुए उसके हाथ को रास्ता दे दिया और उसका मोटी उंगलियों वाला रफ सा हाथ मेरी कमर से होते हुए नीचे मेरी कोमल गांड को दबाने लगा.

अब मैंने फुर्ता से अपने जेब से एक दवा निकाल और विनीता के ड्रिक में मिला दिया. तभी उनकी वीर्य की गरम गरम जोर से पिचकारी छूटी जो मेरी चूत की दीवारों से टकराई. बाद में मैं उनसे अपनी भगनासा के सूजने की बात बताई थी तो मामी बोली थी- कोई बात नहीं… पहली बार तेरे मामा ने भी मेरे बुर को चूस कर बरहल का फल बना दिया था.

मैंने लंड बाहर निकाला और साँस लेते हुए पूछा- निकल गया क्या?उसने कहा- इतनी जल्दी कहाँ बेटा. मैंने फिर से चूत को अपने हाथों से खोला और चूत के भीतर का जायजा लिया. वो कुछ देर और मुकाबला कर लेती तो जंग जीत जाती पर वो थक गई और कुछ धीरे हो गयी.

मैं झट से रुई ले आया और मॉम से कहा- मॉम चादर ऊपर उठा लूँ?मॉम ने कहा- हाँ जल्दी कर खून बह रहा है.

दीपक का लंड फूलकर किसी नाग की तरह चमक रहा था, जिसकी साईज कोई 8 इंच लम्बी और 3 इंच मोटी लग रही थी. वो मम्मी से बोला- आंटी जी आप कहां जा रही हैं?हम गांव जा रहे हैं बेटा, तुम कहां जा रहे हो?”तो उसने कहा- मैं भी गांव जा रहा हूँ.

मेम चुत पसारते हुए कामुक सिसकारी लेने लगीं- अआह ओह्ह्ह मेरे चोदू राजा… चूस ले मेरी चूत को… अह… खा जा साले मेरी चूत को… मैं कई दिनों से प्यासी हूँ. वो हमारी एक गंदी बातों वाली जंगली वल्गर और हिन्दी में मस्त यादगार चुदाई थी. मेरा माल भी उसी समय निकला और उसी लावा के साथ मिल कर मेरे ऊपर फैल चुका था.

दिखने में रूपा अपने नाम के मुताबिक रूपवती थी और उसकी फिगर भी एकदम मस्त थी. पर यहाँ और अभी कैसे?मैं- हाय, वेलकम…जोशना- मुझे लगा कि तुम तो कभी बोलोगे नहीं तो खुद ही बोलने आ गई. लेकिन फिर ये भी सोचा कि अगर लड़की होता तो क्या पता इसके साथ होता या नहीं होता.

हॉट गर्ल बीएफ उसका चुत चूसना ऐसा था कि मैं कुछ ही पलों में झड़ गई और वो सब चुत रस पी गया. इससे तो अच्छा होता कि मैं रिक्शा ले लेती तो इस भीड़ से तो नहीं जाना पड़ता.

मराठी सेक्सी आंटी व्हिडिओ

उन्होंने रेणु का हाथ महसूस किया, रेणु का हाथ पतला था, सो पांचों उंगली को सटाते हुए पूरा हाथ कलाई तक अपने चूत में घुसवा ली. लगभग थोड़ी देर के बाद फिर स्टार्ट हो कर थोड़ी दूर चल कर वापस बंद हो गई. मैंनेचुत में उंगलीडाली और चुत को चाटा, मुझे चुत चुसाई में बहुत बहुत मजा आ रहा था.

वह मजे से चिल्ला उठी और जोर से बोली- चोदो…मैंने उस की कमर पर चढ़े चढ़े उसे चोदना शुरू किया और अपने लटक रहे हाथों से उस के मम्मे जोर जोर से मसलने लगा. आज तुझे उसके घर जाने ही नहीं दूँगा, अभी यहाँ चोद कर फिर मेरे घर ले जाऊँगा समझी? बहनचोद साली तुझे बच्चों के बारे में पूछा तो जवाब क्यों नहीं देती हरामी. एक सेक्सी फिल्म हिंदी मेंजोशना- चूस लो मेरे मम्मों को… आह और जोर से चूस…अब मैं चूचे बदल-बदल कर चूसे जा रहा था और वो कराह रही थी.

मामी ने आज मुझे एक गिलास मलाईदार दूध के साथ एक सेक्स की गोली लेने के लिए दिया.

मैंने उसकी गांड में ठोकर मारते हुए कहा- ले ले रानी मजा, बहुत मजा आएगा…अब तक मनोज और सोनिया अपनी चुदाई बीच में छोड़ कर हमारे पास आ गए थे. साली की गांड थी तो बहुत मस्त लेकिन अभी गांड मारनी नहीं थी, लिहाजा मैंने विनीता की गांड को चूम-चाट कर छोड़ दिया और उसे सीधे लिटा दिया.

मैंने कहा- यार छोड़ दे प्लीज़…वो बोला- ना बेटा आज तो मरवानी पड़ेगी…कह कर वो मेरे ऊपर लेट गया और गांड में उंगली घुमाते हुए पीछे से गर्दन पर किस करने लगा. अब आगे:सुबह जब हमारी आँख तब खुली जब भाभी की ननद अंजलि ने आ कर दरवाजा खटखटाया. उसके पड़ोस में जागरण था और उसको चुदास लगी थी, जो मुझको अब भी रोज चूत चोदने की लगती है.

मैंने बहुत सारा तेल उनकी गांड के छेद में डाला और अपने लंड पर लगा लिया.

तभी मैंने देखा कि विया दीदी मुझे अपनी कातिलाना नज़रों से देख रही हैं लेकिन मैं कुछ समझ नहीं पाया. पसीने से ब्लाउज भी तरबतर होने से उसमें से रूपा की ब्रा दिखाई दे रही थी. उसकी भाभी ने मेरी तरफ देखा- इसे पहली बार देखा, ये कहाँ से है?पूजा ने डरते डरते बताया- ये राहुल कुरुक्षेत्र से है.

शादी सेक्सी व्हिडिओमैंने दर्द से तड़फते हुए कहा- बाहर निकाल लो अपना लंड, बहुत दर्द हो रहा है. वो मेरे साथ इस वक्त ऐसा बर्ताव कर रही थी, जैसे कि हम एक दूसरे को काफी समय से जानते हों और जैसे वो मेरी गर्लफ्रेंड हो.

मराठी सेक्सी बीपी सेक्सी व्हिडिओ

जैसे ही मैंने उसकी चूत को छुआ, तो देखा कि उत्तेजना की वजह से उसकी चूत पूरी तरह से गीली हो चुकी है. मेरा इतना कहते ही उसने मेरे बियर के मग को उठा कर उसमें से एक सिप ले लिया और बोली- अब ठीक है. उस औरत की टाइट साड़ी में लिपटी गांड, पसीने से गीली कमर, ब्लाउज से दिख रही ब्रा और बगलों से दिखते ब्रा में छिपे गोल मम्मे देख के उसकी पैंट में हलचल होने लगी.

मैं आपकी शॉर्ट्स और बनियान पहनूँ?नीता के पास जा कर पप्पू बोला- हाँ, क्यों? कोई प्राब्लम है तुझे? या तुझे इस टावल में ही रहना है नीता?नीता ज़रा सोच कर बोली- पर अंकल… वो मैं… ठीक है दे दो अपनी शॉर्ट्स और बनियान मुझे. अब मैंने अपनी पत्नी को उठा कर उसकी नाइटी निकाल दी और फिर उसके पीछे बैठ के मैंने उसके हाथ ऊँचे कर दिए और उसकी ब्रा का हुक खोल के उसे निकाल फेंका. मामी मुस्कुराईं और शरारत करते हुए रेणु को अपने पास बुलाया और मुझसे बोलीं- थोड़ा दरवाजा बंद कर दो.

उस्मान ने कुछ देर माया के होंठों का रसपान किया और फिर माया के होंठ अपने लौड़े पे दबा दिए. मोहन लाल की पत्नी यानि की इन बच्चों की माँ का देहांत हुए लगभग 7 साल हो चुके थे. रात डिनर लेने के बाद मामा मामी अपने कमरे में और मैं बहन के कमरे में सोने आ गया.

चाचाजी- शाहीन मेरी जान मेरी ख्वाइश कब पूरी करोगी?मैं- कौन सी?चाचाजी- जान, मैं तुम्हें अपनी दुल्हन बनाना चाहता हूँ और हमारी सुहागरात. अब शायद मुझमें और मामा में एक जंग छिड़ी हुई थी कि कौन मामी को अच्छे से निचोड़ेगा.

एक बार तो मम्मी छटपटाईं, लेकिन दूसरे झटके में आधे से भी ज्यादा लंड अन्दर समा गया.

वो जानती थी कि उसकी माँ सुंदर है पर यह नहीं पता था कि मर्द उसे भी छेड़ते थे. सपना चौधरी xnxxमेरा दोस्त उसे रोज रात कुतिया की तरह चोदता था, पर फिर भी वो शायद संतुष्ट नहीं हो पाती थी. जबरदस्ती शायरीचलो तुम्हें अभी आराम दिलाता हूँ, फिर कहना कि दर्द हो रहा है क्या?गुलशन जी ने गर्म पानी से सुमन की चुत को साफ किया उसकी अच्छे से सिकाई की, उसके बाद दोनों बाप बेटी साथ में बैठ कर बातें करने लगे. क्या, सरप्राइज दोगी बिस्तर में? मैं कुछ समझा नहीं बहू बेबी?” मैंने अचंभित होकर पूछा.

अब वो बहुत ही अच्छे से मेरा लंड चूसने लगी और मैं उसकी चुत चाट रहा था.

मैं जब भी मुंबई आऊंगी तो तुझे फोन करूंगी और तू जब भी नागपुर आएगा तो मुझे फोन करना. इसके बाद वो साबुन लगा कर अपने शरीर को रगड़ने लगीं और अपने पैर फ़ैला कर पेटीकोट को जाँघों से ऊपर उठा कर साबुन मलने लगीं. थोड़ी देर बाद वो थोड़ा सा हंस पड़ी और कहा- मेरा कोई बॉयफ्रेंड नहीं है मैंने तो आपको पागल बनाया था.

उसने एक हाथ से राहुल के चेहरे को थाम रखा था और दूसरे से वो राहुल का मूसल लन्ड हिला रही थी. मेरे फ्री होते ही चाचाजी ने मुझे अपनी बांहों में भर लिया और मेरी गरदन होंठ गाल कान सब पे चुम्बनों की बौछार शुरू कर दी. पहली बार तो उसको ये बहुत अजीब लगी मगर धीरे-धीरे इसका टेस्ट सुमन को भा गया.

सेक्सी वीडियो हिंदी बिहार वाला

मैंने उसके सारे कपड़े जल्दी से उतार दिए और उसे बिल्कुल नंगी कर दिया. मेरी कमीनी कुत्ती माँ मेरे पास बैठी अपनी बेटी की चूत फटती देख खीसें निपोर रही थी. मैंने करीब जा कर देखा तो भाभी छत के किनारे जा कर किसी से बात कर रही थीं.

धीरे-धीरे मैं समझ गया कि यह भाभी भी बहुत दिनों से चुदाई की प्यासी है.

फिर धीरे से एक उंगली प्रीति की गांड के छेद में अन्दर-बाहर करने लगा.

मैं अपने हाथ उस के पीछे ले गया पर और उस के सेक्सी चूतड़ों पर फिराने लगा था. वो गर्म हो उठीं और बोलीं- पहले चूत की चाटने की बात हुई थी साले… चुत चूस…मैंने उसकी साड़ी फिर पेटीकोट उतार दिया. कैलेंडर मे सेक्सी वीडियोउस वक़्त सुमन भाभी ने साड़ी पहन रखी थी और उनका ब्लाउज़ पीछे से बहुत खुला हुआ था और उनकी साड़ी भी उनकी कमर से थोड़ी नीचे को बंधी थी.

अब तो मुझसे ज्यादा मेरी साली चुत की आग शांत करवाने का मौके का इंतजार करती थी. लेकिन अब जबसेक्स की ज़रूरतमुझे है तो कोई चुत, कोई मौसी नहीं मिल रही है. एक हाथ से अपने लिंग को योनि द्वार पर लगा के जब हल्का सा अन्दर को धकेला, तो उसके हाथ अपने आप ही मेरे पीठ पर आ टिके.

काफ़ी देर तक चोदने के बाद दूसरी बार मामी झड़ने लगीं, तब मैं भी झड़ने वाला हो गया था. माया को इस खेल में मज़ा आ रहा था कि तभी उसे अपनी चुत में कुछ महसूस हुआ.

शिशिर अपने लंड को मेरे मुँह में अन्दर बाहर करते हुए मेरे मुँह को ही चोदने लगा.

जरा सा रुकने के बाद जय ने एक झटके से अपना पूरा का पूरा लंड बाहर खींच लिया. मासूम कली मेघा दिल कर रहा तुझे पट्टा डालकर अपने पास ही पालतू कुतिया बनाकर रखूँ. लेकिन आप सभी से अनुरोध है कि इस कहानी के बारे में अपने बेशकीमती सुझाव जरूर मेल करें.

बच्चे कैसे होते है फ़िर सलमा ने उसके लंड को पकड़ कर अपनी चुत के छेद पर लगा कर कमर को दबाया तो उसका लंड सलमा की चुत में सरकने लगा. फाड़ दे बहनचोद!मैं भी तेज़ी से झटके देने लगा कुछ देर बाद अर्चना भी गांड उठा उठा कर साथ देने लगी.

बहुत कोशिशों के बावजूद मैं अपना लंड चाची की गांड में घुसाने में असफल रहा. कह कर मैंने पूजा को अपनी बाहों मे लिया और पानी में गिर गया। मैंने और पूजा दोनों ने अपनी सांस रोक रखी थी। पानी भी ज़्यादा गहरा नहीं था, बस 5-6 फीट गहरा था। मैंने पूजा को नीचे तल पर लेटा दिया। हम दोनों की आँखें खुली थी, और हम एक दूसरे को देख सकते थे।मजा आ रहा है जीजा साली की सेक्स कहानी में?कहानी जारी रहेगी. दोस्तो! मेरा चुदाई का एक ही मकसद रहा है कि मुझे मजा आये या न आये परन्तु औरत को मजा आना चाहिए, वह बार बार झरती रहे और मजा लेती रहे और मेरी चुदाई को भूले नहीं.

देवर भाभी सेक्सी विडियो हिंदी में

तभी वो अपनी चुचियों को पेटीकोट से बाहर निकाल कर उन पर भी साबुन लगाने लगीं. पापा- अच्छा, बिना मज़ा आए ही तेरा रस टपक रहा है क्या?सुमन जल्दी से पलटी और अपने पापा को धक्का देकर अलग किया. भाभी को गर्दन से किस करते हुए मैं उनके मम्मों पे आया और उनके मम्मों पर किस करने लगा.

” कह कर चला गया। नीचे जा कर कुछ देर बाद मैंने अपना हिलाया और सो गया।इस तरह अगले दस दिन तक तो उसने खूब पेशाब किया और मुझे पिलाया. कौन था जो हमें देख रहा था??”पूजा कपड़ों की तरफ़ भागी तो उसने एकदम से निकल कर पूजा के कपड़े उठा लिए.

मेरे बाथरूम से बाहर आते ही मामी ने मुझे ऐसे देखा, जैसे वे मुझे पहली बार देख रही हों.

फिर अचानक ही मोहन 10-15 ठापें मारके शांत होने वाला ही था कि शमशेर ने उसे हटा दिया और उसने मम्मी को जमीन पर चित्त लिटाकर मम्मी की दोनों टांगों को ऊपर करके एक बार फिर से लंड अन्दर डाल दिया. कुछ देर सोनिया को ऐसे चोदने के बाद हम दोनों ने सोनिया को घुमा दिया और अब मुझे सोनिया की चूत मिली और मनोज का लंड सोनिया की गांड में था. अब तुम जब भी चाहो मुझे मांग लेना, तुम मेरा जो भी मांगोगे, मैं दे दूंगी.

इधर अमित से भी रहा नहीं गया और उसने माया की चुत पे अपनी जीभ लगा दी. पप्पू भीड़ को पीछे धक्का दते हुए बोला- सॉरी मैडम… लेकिन क्या करूँ? पीछे से इतनी भीड़ का धक्का आता है और आपसे टकरा जाता हूँ, आय एम सॉरी. [emailprotected]कहानी का तीसरा और अंतिम भाग:मेरी जयपुर वाली मौसी की ज़बरदस्त चुदाई-3.

मामा जी अर्चना पर चिल्ला रहे थे क्योंकि उनके ड्यूटी के कपड़े गीले रह गए थे और उनको नाईट ड्यूटी पर जाने के लिए कुछ घंटे रह गए थे.

हॉट गर्ल बीएफ: हर लड़की की तरह मेरी भी एक ख्वाहिश है कि मैं जिसको भी प्यार करूँ, अपनी पूरी ईमानदारी से करूँ. जब मैंने फ़ोन उठाया तो जीजू ने कहा- रोमा, क्या कर रही हो? क्या तुम अपने घर की छत पर आ सकती हो?मैंने उनसे पूछा- क्यों जीजू, क्या हुआ? आप मुझे इतनी रात में छत पर बुला रहे हो, सब ठीक तो है ना?उन्होंने कहा- रोमा, सब ठीक है, तुम छत पर आओ तुम्हारी बहुत याद आ रही है.

लंड को चुत की फांकों ने जकड़ लिया था और मोटे लंड के कारण घर्षण कुछ ज्यादा ही होने लगा था. उसके लंड का सुपारा मेरी बच्चेदानी के मुँह का चुम्बन लेते हुए उसे पीछे की तरफ़ धकेल रहा था. दीपक भैया इन हरकतों से अनजान तैरने में मशगूल रहे और रंजु उन पर पानी की थपेड़े मारती, हम दोनों को देख कर गंदे इशारे करते हुए हंसती रही.

ये चुदाई उन दोनों के दसेक मिनट के खेल के बाद खत्म हो गई और अब मेरी माँ मेरी सास बन गई हैं और मेरे ससुर मेरे पापा बन गए हैं.

सुमन- अच्छा मेरे पापा मैं हार गई, अब बातें ही करोगे या सुहागरात को आगे भी बढ़ाओगे… मेरी चुत बहुत तड़प रही है. चूंकि मैं उस वक्त छत पर था, तो मैंने देखा कि नीचे मौसी नहा रही हैं, उनके बदन पर सिर्फ एक सफेद रंग का पेटीकोट था, जिसे वो अपनी चूचियों तक चढ़ाए हुए थीं और मग्गे से पानी डालते हुए नहा रही थीं, पानी से उनका पेटीकोट भीग कर पारदर्शी हो गया था. अचानक ही उसने अपने कड़क मर्दाना मज़बूत हाथ से मेरी कलाई पकड़ी और एक जवान हसीन देसी हस्बेंड की तरह मुझे खींच कर उसी खंडहर के अन्दर बने एक कमरे में ले गया.