बीएफ वीडियो english

छवि स्रोत,बड़ा लोड़ा

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी मटका चार्ट: बीएफ वीडियो english, मोटी गांड की चुदाई का मजा लिया मैंने एक भाभी के घर में! मैं और वो दो दिन घर में अकेले रहे और हमने चूत गांड चुदाई का खूब मजा लिया.

सेक्स पोस्ट

फिर मेरा खड़ा लंड देख कर भाभी शर्मा गईं और जल्दी जल्दी नहाकर मेरे घर से चली गईं. मोनालिसा की सेक्सी फिल्मउसने पीछे के रास्ते से मेरे कमरे का दरवाजा खोला और मुझे उसी रास्ते से अपने कमरे में लेकर आ गई.

हॉट चाची की चुदाई कहानी में मैंने कहीं दूर के रिश्ते में लगी चाची को चोद दिया. रतलाम सेक्सहॉट साली Xxx कहानी में पढ़ें कि मेरी बीवी की तबीयत खराब हुई तो उसने अपनी बहन को बुला लिया.

कुछ देर हम दोनों ऐसे ही एक दूसरे से चिपके पड़े रहे और कुछ देर के बाद मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया.बीएफ वीडियो english: चाची सास- हां मैं समझ सकती हूं कि तुम दोनों के ऊपर क्या बीत रही है.

क्योंकि मैं सुबह जल्दी उठ जाता हूं तो नौकरानी सुबह आकर नाश्ता बना कर मेरी टेबल पर रख जाती है और झाड़ू पौंछा करने लगती है.Xxx जिगोलो सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मैंने अपनी गरीबी कैसे अपने कड़ियल जिस्म और लोहे जैसे लंड का इस्तेमाल करके खत्म की.

सेक्सी वीडियो कैटरीना की सेक्सी वीडियो - बीएफ वीडियो english

कभी कभी भाभी और मैं ऑफिस में भी जगह और मौक़ा देख कर जल्दी वाली चुदाई कर लेते हैं.बीच बीच में मैं अन्दर झांकता था तो कभी वो रुक कर अरुणिमा के निप्पल्स चूस रहे होते, तो कभी उसके होंठों को चूम चूस रहे होते और कभी चूत चोद रहे होते.

मैंने उनकी साड़ी को ऊपर करना चालू कर दिया, जो कि पहले से आधी उठी हुई थी. बीएफ वीडियो english वो हांफती हुई बोली- भैया सॉरी, मैंने आपको गाली दी और आपसे अपनी गांड चूत चुदवायी.

मैंने भी दीदी से पूछा कि आज मां ने आपसे मेरे लंड के लिए क्या बात की थी और कैसे की थी?दीदी ने हंस कर कहा- मेरे ब्वॉयफ्रेंड के साथ मैंने और मां ने एक साथ चुदाई का मजा लिया था, जिस वजह से मां मेरे साथ खुली थीं.

बीएफ वीडियो english?

धीरे धीरे उसकी चड्डी उसके जिस्म से अलग हो गई और मैंने पहली बार उसकी चूत के दर्शन किए. चूत में एक अजीब दर्द महसूस हो रहा था जो मन में एक खुशी और आंखों ने आंसू ला रहा था. मैं कमरे में अकेला लेटा था, तभी मेरी बहन पाखी आई और आकर मेरे बाजू में लेट गई.

Xxx अंकल नीस हॉट स्टोरी में पढ़ें कि मेरे भाई भाभी और मेरी पत्नी एक हादसे में हमें छोड़ गये. धीरे धीरे दीदी ने अपनी मैक्सी कमर तक सरका ली और बोलीं- चूत में डाल कर प्यार करो. मैं- आहह प्लीज़ अब रहने दो, ऐसे ही रुक जाओ … प्लीज़ हिलो मत, दर्द हो रहा है.

मेरा लंड भाभी की चूत को चीरता हुआ गहराई में चला गया और भाभी जोर से चिल्ला उठीं. अचानक से मुझे लगा कि मेरी बहन ने मेरी सर्च हिस्ट्री को देख कर ऐसा किया है. कोमल ने मुझे अपनी तरफ बुलाया, फिर हम ऊपर कमरे वाले कमरे में चले गए.

दूध पिलाते पिलाते भाभी मुझसे बात करने लगीं- मैं तो सारे दिन परेशान रहती हूं, डुग्गू को संभालना, घर का काम, इस सब कुछ मैं पूरी पक जाती हूँ और वो हैं कि दस दस दिन घर नहीं आते हैं, बस वीडियो कॉल करके सन्तुष्ट हो जाते हैं. किन्तु एक दिन भैया ने भाभी के मोबाइल ने वो फोटोज देख लीं और हम दोनों पकड़ में आ गए.

मैं बहुत थक गयी थी लेकिन दादा जी का दोस्त रुकने का नाम नहीं ले रहे थे.

एक दिन मैंने चाची से कहा- मैं आपके साथ एक दोस्त के रूप में रहना चाहता हूँ.

भाभी ने मुझसे कहा- ओम … जरा मेरी पीठ को रगड़ दो … मेरा हाथ पीठ तक नहीं पहुंच रहा है. जब उन्होंने मेरा लन्ड देखा तो मुस्कुरा दी क्योंकि उनके हिसाब से बहुत छोटा था. उनकी जांघें उफ्फ़ क्या बताऊं … पूरी मक्खन सी सफेद, सुडौल, एकदम चिकनी चमकीली थीं.

बातों ही बातों में मैंने अपना हाथ उनके कंधे पर रख दिया और धीरे धीरे मसलने लगा. वो बार बार बोले जा रही थी कि बहुत अच्छा लग रहा है प्रवीण … मेरी चुदाई ऐसे ही करते रहो. मैंने कहा- क्यों तेरा पति तुझे चोदता नहीं है क्या?वो बोली- उसका लंड नर्सों की चूत में ही घुसा रहता है.

उनकी गांड दरवाजे की तरफ थी तो मैं भी भाभी के पास आया और उनसे चिपककर सो गया.

तभी मॉम बोलीं- क्या बात है विक्रम, लगता है अंजलि को बहुत मिस कर रहे थे. वाह क्या बूब्स थे, एकदम गोरे और बड़े बड़े मीठे फल से ऐसे लग रहे थे, जैसे पके हुए पपीता हों. अब यार तू बकचोदी न कर … जल्दी से मुझे चोद दे न … और बना ले अपनी रांड.

उसके पापा थोड़े अय्याश किस्म के थे, इस वजह से कोमल के पापा उसके पास न रहकर दूसरे शहर में किसी और औरत के साथ रहने लगे थे. मैं चलते चलते आंटी की गांड को मटकते हुए देख रहा था और इसमें मज़ा भी बहुत आ रहा था. उसने मेरी तरफ मुस्कुरा कर देखा और अपने बैग से एक नाइटी निकाल कर बोली- बस मैं अभी कपड़े बदल कर आती हूँ, फिर आपके लिए जल्दी से कुछ नाश्ता बना देती हूँ.

फिर उसने मुझे दोबारा सीधा लेटाया और मेरे पैर अपने कंधे पर रख कर बुरी तरह चोदने लगा.

रिया के सहलाने से मेरा लंड फिर से कड़क हो गया था और चूत चुदाई के लिए एकदम तैयार खड़ा था. कुछ देर बाद स्वाति नंगी उठकर अल्मारी से दारू की बोतल और सिगरेट उठा लाई.

बीएफ वीडियो english हॉट वाइफ हार्ड सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरी बीवी मेरी मौजूदगी में मेरे चार दोस्तों से चुद गयी. मैं भी जानता था कि जो लड़की दो दिन पहले 55-60 साल के बुड्डे के साथ चुदने आई थी और चुद कर गयी थी.

बीएफ वीडियो english अरुणिमा ने हंस कर हां में सर हिला दिया और मैं ऑफिस के लिए निकल गया. फिर हम नए कपड़े पहन कर तैयार हो गए और होटल से करीब 2:00 बजे को निकल गए.

आंटी ने कहा- अरे बेटा, मेरी चूत को भी तो चख, वो और भी ज्यादा स्वादिष्ट है.

बफ ब्लू पिक्चर

उन्होंने मुझे चुदाई की पोजीशन में सैट किया और अपना लंड डालने को कोशिश करने लगे. दोस्तो, आपने मेरी पिछली सेक्स कहानी पढ़ी होगी, जिसमें मैंजुआ के अड्डे से पोर्न एक्ट्रेसबन गई थी. मॉम ने कहा- बेडरूम में क्यों?विक्रम बोला- आंटी, यहां खुलकर हाथ नहीं चलेंगे और मुझे आपकी खुलकर फ़िजिओ करनी है.

नीतू ने अपने कपड़े निकाल दिए और पार्लर वाली लड़की ने नीतू के पूरे शरीर को साफ करके उसे सुंदर बना दिया. मैंने मां को कुतिया बनाया और उनकी साड़ी ऊपर करके पीछे से अपना लंड मां की चूत में डाल दिया. फिर मैंने उसके रूम के बाथरूम में अपनी यूज की हुई ब्रा पैंटी रखनी शुरू कर दी.

दोस्तो, मैं अपनी चुदाई की कहानी के अगले पार्ट में बताऊंगा कि कैसे मुझे और स्नेहा को चुदाई करते हुए आंटी ने पकड़ लिया और मैंने उनको भी चोद दिया.

मैंने उसी दिन शाम को चाची की चूत चुदाई करने का प्रोग्राम बनाया और मैं चाची के घर कुछ काम के बहाने आ गया. इस बार उसने लेटे लेटे ही एक पैर उठाया और पीछे से ही चूत में लंड पेल दिया. चड्डी के अन्दर मेरा लंड भाभी के सामने एकदम कड़क मुद्रा में फूला हुआ रहा था और भाभी लंड को लालच भरी निगाहों से लंड के पहाड़ को देख रही थीं.

मम्मी पापा के कारण से मैंने पापा को कुछ भी न बताने का तय कर लिया था. उनके आने की खबर सुनकर मामी मुझसे अलग हो गईं और हम दोनों बात करने लगे. मैंने रोकने की कोशिश कि लेकिन उसने मुझे प्यार से किस करके शांत कर दिया.

मैं सलोनी भाभी की बात सुन कर बहुत खुश हुआ कि आज रात मौक़ा मिला तो भाभी की चूत जरूर चोद दूँगा. अगले दिन मैंने उसे ब्वॉय्ज टायलट में पकड़ लिया और उसे बाथरूम में बंद करके हड़काने लगा.

चाची को गले से लगाया और जोरदार तरीके से आपस में एक दूसरे से लिपट गए. मैंने जानबूझ कर तौलिया को ढीला छोड़ दिया था ताकि मेरा लंड दोनों बहन देख सकें. मुझे भाभी पोर्न फोटो और वीडियो भेजती थीं क्योंकि उन्हें पता था कि मैं घर की इज्जत की वजह उन फोटो औरनंगी वीडियोको वायरल नहीं कर सकता.

मुझे पता चल गया था कि दीदी अन्दर से खौल रही थीं, उनको एक मर्द के लंड की सख्त जरूरत थी.

मैं झट से कुतिया बन गयी और जोगी सर पीछे से मेरी चूत पर लंड रगड़ने लगे. मैंने टीशर्ट और लोवर पहना हुआ था जबकि अयाना ने शॉर्ट टॉप और मिनी स्कर्ट पहनी हुई थी जिसमें वो बहुत सेक्सी लग रही थी. तो मैंने ज्योति को चूतड़ों से पकड़ा और अपने लंड से उठा कर रोहित के लंड पर बिठा दिया.

स्मूच करते-करते उसे अपना हाथ मेरे कच्छे के अन्दर डाल कर अचानक से मेरे लंड पर एक चूंटी काट दी. लेकिन वो मेरी कोई भी बात नहीं सुन रहे थे, बस लगातार धक्के लगाने में लगे थे.

अब मैंने उसकी चूत देखी और क्या बताऊं दोस्तो … मैं बस उसे ही देखता रह गया. मैं ऐसे में ही बहुत पैसे कमाने लगा था और सिर्फ कहने के लिए गार्ड की नौकरी करता था।लेकिन मैं था एक जिगोलो।कुछ समय बाद मैंने अपनी बहन की भी एक अच्छे घर में शादी कर दी और अब मैं भी एक अच्छा जीवन जी रहा था।आपको यह Xxx जिगोलो सेक्स स्टोरी कैसी लगी?[emailprotected]. बहन की बातों से मुझे पता चला कि प्रिया अपना रिजल्ट लेने अपने कॉलेज चंडीगढ़ गई है और बाकी के सभी लोग डॉक्टरों की सालाना मीटिंग्स होती है, जो बंगलौर में होती है, तो वहां गए हैं.

हॉट सेक्स डांस

उसी बीच एक मुस्टंडे ने अपना लंड निकालकर मेरी चूत के मुँह पर लगा दिया और तीसरे ने मुझको खड़ा कर दिया.

दस मिनट में मेरी चुत की चमड़ी लटकने लगी और गांड के छल्ले बाहर निकलने लगे. इसी सिलसिले में भाभी ने मुझे और कई औरतों की चूत भी दिलाई जिसमें एक चूत हुसैना भाभी व … और भी कई लड़कियों की चूत चोदने मिली. आंटी के चूचे खरबूजे के जैसे थे और मस्त गांड थी; एकदम दूध सा गोरा बदन और काले लंबे बाल.

मैं- हां पायल, मैं अब तुम्हारा टॉप निकाल रहा हूँ और तुम्हारी चुचियों को ब्रा के ऊपर से ही चूमने लगा हूं. मैंने भी बैठे बैठे अपनी चूत देखी, उसमें भी बहुत सारा झाग और उसमे हल्का खून लगा हुआ था. ब्लू फिल्म की नंगी फोटोमैंने कहा- हां चलो, मैं भी खाना लगाने में तुम्हारी मदद कर देता हूं.

फिर वो मेरी पसंद की सेक्स पोजीशन के बारे में पूछने लगा तो मैंने बताया- एक ही तो पोजीशन होती है … मैं नीचे और वो ऊपर!इस बात पर ऊसको हंसी आ गई और वो समझ गया मैं अभी असल चुदाई से दूर हूँ. फिर दोनों परीक्षक एक दूसरे की तरफ पैर करके लेट गए और लड़की को बोला गया कि वो दोनों लंड एक साथ जोड़कर अपनी चूत में ले.

मुझे दोपहर में खाना खाने के बाद नींद आने लगती है, तो मैं सीधा लेट गया और आंखें बंद करके ऊंघने लगा. गगन मेरे पास आया और बोला- मैडम, तुम तो यार मस्त माल हो, हमारे लंड तो हमेशा ही तुम्हारे जैसे मस्त माल के लिए तैयार रहते हैं. जब सामान लेकर मैं चाची को देने उनके रूम में जा रहा था और रूम का दरवाज़ा खोला, तो चाची नहा कर कपड़े बदल रही थीं.

वो बोली- तुम तो कमाल कर रहे हो निखिल … सच में आज मुझे पहली बार इतना मजा आ रहा है. उनके बार-बार कहने और जोर देने पर मैंने उनका लंड अपने मुँह में लेना शुरू कर दिया. शर्मा अंकल- साले साहब तुम ललिता को जानते नहीं हो, वह कितनी बड़ी चुदक्कड़ है.

मुझे हटा कर खुद अपने हाथ से मेरे लंड को अपनी चूत में घुसाने की कोशिश करने लगी.

मेरा प्यार का नाम प्रिंस है, मैं दिल्ली के पास फरीदाबाद का रहने वाला हूँ. सच सच बोलो, तुम्हें मेरे ये चूचे पसन्द हैं?मैं- नहीं नहीं, ऐसा नहीं है भाभी.

लगभग चालीस मिनट के बाद सबका लंड तन गया था और चोदने के दूसरे राउंड का प्रोग्राम बन गया. मेरा हाथ उसके टेनिस बॉल जितनी साइज की चूची पर आया तो उसने मेरा हाथ पकड़ लिया. वो इतनी तेज़ झटके मार रहा था कि पूरा बेड हिल रहा था और आंटी के आंसू बाहर आ गए थे.

कुछ ही पल में मैं एक बार फिर से गर्म हो चुकी थी और उसका लंड भी दुबारा खड़ा हो गया था. थोड़ी देर बाद वो थोड़ा और आगे आया और उसने अपना लौड़ा मॉम के मुँह में ठूंस दिया. सुबह उठ मैंने एक प्लान बनाया और भाई से कहा- हम दोनों किसी होटल में जाकर सेक्स करें तो किसी को पता नहीं चलेगा.

बीएफ वीडियो english एक दिन संगीता ने ऐसी फ्रॉकनुमा नाइटी पहनी थी कि वीडियो कॉल पर उनकी गोरी चिकनी चूत, जिस पर वालों का नामोनोशान तक नहीं था, मुझे दिख गई. मेरी पिछली सेक्स कहानियों की अच्छी सफलता और आपके प्यार की वजह से मुझसे रुका नहीं गया.

गर्मी गाना

चाची- ओके, तुम अपने होने वाले पति के साथ बात कर रही थी, इसलिए छोड़ रही हूँ. तभी भाभी ने ज़ोर से कहा- आंह नदीम धीरे एयेए से दर्द हो रहा है मुझे … आह एयेए धीरे कर!परन्तु मैं कहां मानने वाला था. कुछ देर बाद चाची भी नीचे से गांड उठा उठा कर मेरे हर शॉट का जवाब देने लगी थीं.

दस मिनट बाद सोनल झड़ गई और उसने मेरे लंड को चूत से निकाला और चूसने लगी. मैं हैरान थी कि अंकल ने सारे कपड़े निकाल रखे थे और वो सिर्फ अंडरवियर में थे।मैंने एक दो बार हाथ हटाया लेकिन अंकल आज मुझे कहाँ छोड़ने वाले थे. मायका सेक्सदोस्तो, न्यूड यंग गर्ल सेक्स कहानी के अगले भाग में आप पढ़िए कि किस तरह से मैंने उस हसीन जवान लड़की की खूबसूरत चूत को अपने फौलाद जैसे लंड से इतनी बुरी तरह से चोदा कि उसे मेरे पैर पकड़ने पड़ गए.

चाची की ये सब अदाएं मुझे पसंद आ रही थीं जिसकी वजह से मुझे चाची से जैसे सच्चा प्यार हो गया था.

दोनों ने अपना अपना लंड बाहर निकाला और अरुणिमा गांड मटकाती हुई बाथरूम में घुस गई. मस्त चुदाई के बाद मैंने भाभी की चूत को लंड रस से भर दिया और नहा कर बाहर आ गए.

मैंने उसके चूचे दबाते दबाते कहा- हां सीख लो जानेमन, कल को तुम भी चूत लंड बोलोगी, तो सेक्स में और ज्यादा मजा आएगा. वो आगे बोले- स्वप्निल भाई, पहले हमारा तेरी इस रांड को चोदने का कोई इरादा नहीं था, पर साली का पल्लू कुछ ना कुछ परोसते हुए बार बार गिर ही जा रहा था. मेरी पहली सेक्स कहानी आपको कैसी लगी, आप मॉम लेस्बो सेक्स कहानी पर कमेंट ज़रूर करना.

इस बार मेरी नजर चूत चोदते हुए उसकी गोरी सी गांड के छोटे से छेद पर टिक गयी.

गुरबचन जी मुझसे बोले- सोच रहा हूँ कि आज रात अरुणिमा रंडी को घर ले जाऊं, आज रात इसे तबीयत से चोद कर सुबह वापस पहुंचा दूँ. ऐसे संकट के समय श्रीमती जी अपनी सहेली को अकेले नहीं छोड़ सकती थीं तो मुझे हुक्म मिला कि मैं जाकर उनकी सहायता करूं. नाश्ते में भाभी ने मुझे एक केला दिया जिसे देखकर मैंने कहा- भाभी, इतना बड़ा केला मैं नहीं खा पाऊंगा.

नोट ओपन सेक्सकुछ मिनट बाद वो घुटनों पर बैठ गई और मेरे खड़े लंड को अपने मुँह में लेकर चूसने लगी. भाभी मादक आवाज में बोलीं- आंह ससस्स नदीम … जल्दी से मेरे आम चूसो जल्दी आह!ये कहकर भाभी ने अपना कुर्ता ऊपर कर दिया और अपना एक दूध मेरे मुँह में घुसेड़ने लगीं.

विश्वकर्मा भगवान की फोटो

मैंने चाची की कई सारी ऐसी नंगी फोटो भी खींची और बाद में मैंने चाची को गोद में उठाकर बेड पर पटक दिया; अपना मुँह सीधा चाची की चूत के ऊपर लगा दिया. कुछ मॉम के मुँह में चला गया और कुछ मॉम के मुँह नाक और आंख पर टपक गया. आप ही तो इस पूरे मोहल्ले में एक ऐसे इंसान हैं, जो मेरी दुख और तकलीफ समझ रहे हैं और मेरी मदद करने आए हैं.

मैंने हमेशा की तरह एक छोटी सी शॉर्ट्स और टी-शर्ट पहनी थी, अन्दर कुछ नहीं पहना था. उसकी सिसकारियों से कमरा गूँज उठा।वो सिसकारियां लेते हुए कह रही थी- आह अर्जुन … ऐसे ही करते रहो, मज़ा आ रहा हैं, ऐसा मज़ा कभी नहीं आया. लगभग एक घंटे तक एक दूसरे के साथ आपस में चुदाई करने के बाद मैं अब बदहवास हो गयी थी.

यह मेरी पहली और एकदम सच्ची प्यासी भाभी पोर्न कहानी है जो मेरी जिंदगी में बीती थी. पायल की उम्र 20 साल की थी, उसके बूब्स 34 इंच के थे और गांड भी बहुत मोटी थी. वो अन्दर आते ही सोफे पर बैठ गईं और अपने साथ लाए हुए सामान में से कुछ निकालने लगीं.

हम सबने मिलकर खाना खाया और फिर मैंने किशोर को कहा- जब खाना प्रिया बना लेती है, तो तुम ऐसा करो, छुट्टी ले लो … और अपने घर हो आओ. वो बोला- मुँह से चढ़ाओ न यार!मैं अपना मुँह टाइट करके होंठों की सहायता से लंड पर कंडोम चढ़ाने लगी.

मैंने कहा- आंटी, तुम्हारी पैंटी पर लंड को रगड़ रगड़ कर इतना लंबा किया है.

उसने अपने खड़े लंड के सुपारे को मेरी गांड के छेद के ऊपर सैट कर दिया. लोकगीत बताएंइसका यही कारण था कि मेरी सगाई उसके चाचा की लड़की के साथ हो गई थी इसलिए वो कभी बोल नहीं पाई. सनी देव महाराजवो बिस्तर के नीचे आ गई और घुटनों के बल बैठ कर बिना सकुचाए मेरे लंड को मुँह में लेकर चूसने लगी. मैं जब तक कुछ समझ पाता, उसने खुद ही मेरा लंड पकड़ कर अपनी चूत पर सैट कर लिया.

वैसे भी विश्वेश्वर जी को ये डर सता रहा है कि तुम तमाशा कर सकते हो और उनके सामाजिक छवि को नुकसान हो सकता है.

फिर उसने मेरी कच्छी थोड़ी सी हटाई और मेरे बुर के दाने को अपने मुँह में लेकर चूसने लगा. आंटी ने भी कहा- आज तो मुझे भी बहुत दिनों में शानदार राइड मिली जिसको मैं कभी भूल ही नहीं सकती. भाभी- अच्छा, एक बात बताओ कि तुम्हारे पास कोई लड़की नहीं है क्या?मैं- नहीं भाभी.

उसकी चूत का नमकीन स्वाद मुझे और भी ज्यादा चूसने पर मजबूर कर देता है. सभी आर्ट ऑफ़ सेक्स सीखने वालों ने आपस में सलाह की और बिल्डिंग में रहने का फ़ैसला आंटी को बता दिया. वो बिस्तर के नीचे आ गई और घुटनों के बल बैठ कर बिना सकुचाए मेरे लंड को मुँह में लेकर चूसने लगी.

मनीषा की चुदाई

शर्मा अंकल- साले साहब तुम ललिता को जानते नहीं हो, वह कितनी बड़ी चुदक्कड़ है. चाची को भी ऐसी घोड़ी बनकर पहले से ही चूत चुदाई में बहुत मजा आता था इसलिए वह एकदम जोरदार मस्ती में आ गईं. वो एकदम से चिल्ला उठीं और बोलीं- आशु, इतना लंबा लंड तो तेरे अंकल का भी नहीं है.

मैंने कमरे में घुसते ही कमरे की कुंडी लगा ली … और अपनी जींस के ऊपर से ही अपनी चूत पर हाथ फेरने लगी.

भाभी की गांड खुली थी, इस वजह से एक बार में ही पूरा लंड अन्दर चला गया.

इसके बाद बेड पर हम दोनों सिर्फ पैंटी में थीं और हम दोनों एक दूसरे के मम्मे टकरा रही थीं. फिर धीरे-धीरे उनकी इच्छा कम होती गयी और हमारा सेक्स रिलेशन सिर्फ़ चाची और भतीजे के रीलेशन पर वापस आ गया. नहाते हुए लड़की की सेक्सी वीडियोमैंने सोनल की टांग उठा कर लंड पेलना चाहा मगर तभी कुछ आवाज से हुई और सोनल मुझसे अलग हो गई.

मैंने दीदी को थैंक्यू बोला और एक डेरी मिल्क चॉकलेट देने का प्रोमिस किया. उन तीन दिनों में मैंने सेक्सी मामी को दसियों बार पेला और उसके बाद अब जब भी मौका मिलता, मैं मामी को पेल देता. मैम ने मेरे नाम से शेयर बाजार में बिजनेस करना शुरू किया और मुझे भी ढेर सारी कमाई करवा दी.

मैंने अपनी पत्नी से बात करके एक नई नौकरानी को खाना बनाने के लिए रख लिया. पुरुष परीक्षकों ने कंडोम पहनकर लड़कों से कहा- आज तुम्हारी गांड फाड़ चुदाई होगी.

प्रकाश- इसकी मां का यार … क्या सुपर माल है, राजेश भाई तूने तो हमारी लाइफ बना दी.

उस वक्त मेरा गला बिल्कुल सीधा था इसलिए पूरा लंड मेरे गले के अंदर जा रहा था. मैंने इण्टरकॉम पर वेटर को तीन कप काफ़ी लाने को बोल दिया और हम बैठ कर बातें करने लगे।मैंने उन दोनों से पूछा- कैसा लगा मुझसे मिल कर? कपल थ्रीसम सेक्स करके?रोहित तुरंत बोल उठा- आपसे मिल कर या आपसे चुद कर?हम हंसने लगे. मुझे सिर्फ 15 दिनों में फर्क दिखने लगा मेरा लंड पहले से एक इंच बड़ा ओर मोटा हो गया.

मराठी झवाझवी पाहिजे मेरी समझ में नहीं आ रहा था कि सोनल कैसे अपनी बहन से बात करेगी, क्या इन दोनों में सब कुछ खुला है!फिर भी मुझे कुछ मजा आया कि नई चूत का स्वाद मिल सकता है तो मैं सोनल की बात से सहमत हो गया. भाभी मुझसे कहने लगीं- बड़ा अच्छा लग रहा है ओम … मेरी पूरी पीठ को ऐसे ही सहलाते रहो, बड़ा अच्छा लग रहा है.

उसकी लेस वाली और ट्रांसपेरेंट पैंटी को मैं हाथ में लेकर अपने लंड पर रखने लगा और लंड हिलाने लगा. मैंने मौका हाथ से जाने नहीं दिया और धीरे-धीरे भाभी से सेक्स को लेकर बात करने की कोशिश करने लगा. तो मैंने उसे अपने लन्ड की अलग अलग एंगल से 3-4 फोटो क्लिक करके भेज दी.

घर का चित्र बनाना सिखाइए

मैं कुछ ज्यादा ही जल्दी गर्मा गया था तो मुझसे रहा नहीं गया और मैं भाभी के मुँह में ही झड़ गया. तो रोहित ने कहा- ठीक है डीयर रवि, हम भी थोड़ा फ्रेश हो लें, फिर एक साथ ही डिनर करेंगे. उससे क्या मजा आएगा?इस पर दीदी मेरी तरफ आशा भरी निगाहों से देखती हुई बोलीं- तो क्या करूं?मैं बोला- क्या मैं आपकी इच्छा पूरी कर सकता हूँ?दीदी कुछ नहीं बोलीं.

गनीमत थी कि सब चूत ही मार रहे थे, किसी ने दोबारा उसकी गांड नहीं मारी. अब मैंने सीधे भाभी को अपनी बांहों में ले लिया और उनके होंठों पर किस करने लगा.

मैं अपने रूम में आ गया।आप मुझे ईमेल करके बताना कि मेरी आपबीती कपल थ्रीसम सेक्स कहानी आपको कैसे लगी, आप नीचे कमेन्ट भी कर सकते हो।आपका दोस्तरवि स्मार्ट[emailprotected].

फिर सोनल मुझे बाथरूम में ले गई और हम दोनों एक दूसरे के अंगों को साबुन लगा कर मसलने लगे और उसी दौरान फिर से गर्मा गए. और तुम भी क्या कह रहे हो यार … तुम्हें मेरे से भी ज्यादा प्यार करने वाली पत्नी मिलेगी. मां ने मेरी चुदास समझ ली और उन्होंने तत्काल झुक कर अपनी साड़ी ऊपर कर दी.

दिन भर उनको अपने काम की पड़ी रहती है और इसी के चलते भैया, भाभी को ठीक से समय नहीं दे पाते हैं. कहानी के पहले भागमेरी कमसिन बीवी को मेरे दोस्तों ने चोदामें आपने अब तक पढ़ा था कि उम्र में मुझसे कई साल छोटी मेरी बीवी एक निम्फो हो गई थी. उन मादक सिसकारियों को सुनकर मुझमें और जोश आ गया और मेरी रफ़्तार और बढ़ गयी.

मैं पागल सा हो गया था उसकी कुंवारी बुर देखकर!उसने मुझे देखते हुए देखा और बोली- आज ये सिर्फ तेरे लिए है, देख आराम से करियो प्लीज़!मैंने उसकी पेंटी उसके मुंह में घुसा दी और एक हाथ उसके मुंह के ऊपर रख दिया ताकि उसकी चीख निकल न पाए.

बीएफ वीडियो english: एक दिन मैंने चाची से कहा- मैं आपके साथ एक दोस्त के रूप में रहना चाहता हूँ. इन पैसों से मेरी पढ़ाई तो जारी रहेगी लेकिन क्या मैं अपनी वासना की आग बुझाने के लिए यह सब करके ठीक कर रही हूँ?आप Xxx कॉलेज स्टूडेंट सेक्स कहानी पर अपनी राय जरूर मेल करें.

दो हुक और खोलने से उसके स्तन लगभग पूरे दिखने लगे थे, केवल निप्पल ही नहीं दिख रहे थे. मैं ये देख कर दंग रह गया और सुप्रिया से बोला- सब कुछ दिख रहा है मैडम जी. कुछ देर सोचने के बाद मैंने गूगल की हिस्ट्री को खंगाला तो मुझे ढेर सारी साइट्स दिखने लगीं.

तेरे चाचा तो हफ्ते दो हफ्ते में ही चोदते हैं और उसमें भी मुझे मजा नहीं दे पाते हैं.

स!इतना सब तो मैं भी बर्दाश्त नहीं कर पाया, मैंने स्पीड से चार पांच झटके एक साथ ज्योति की चूत में लगाए और जोर से लौड़े को बाहर निकाला. मैंने आंटी से कहा- आंटी, अब आपको कुछ चेंज करना है, तो आप लेडीज चेंजिंग रूम में कर सकती हो. उनके पति जब घर पर नहीं होते, तो भाभी के बहुत सारे पुरुष दोस्त घर पर आते थे.