बीएफ सिनेमा हिंदी में

छवि स्रोत,ब्लू फिल्म देखना है मुझे

तस्वीर का शीर्षक ,

गली दिसावर डॉट कॉम: बीएफ सिनेमा हिंदी में, मैंने उसको छोड़ा नहीं, अपने आपको पूरा उसके ऊपर लेटा दिया और लंड उसकी चूत में रगड़ने लगा.

गाना के साथ सेक्स वीडियो

मैं उस की पीड़ा समझते हुए थोड़ा रूक गया, पर मैंने लंड बाहर नहीं निकाला. घोड़े के साथ सेक्सरूपा थकान की वजह से यंत्रवत अपनी जीभ बाहर निकाल कर पप्पू का लंड चाटने लगी.

जब सुमन से बर्दाश्त नहीं हुआ तो उसने दूसरा दांव खेला, जो गुलशन जी के लिए भी फायदेमंद साबित हुआ. ब्लैकेड सेक्स डॉट कॉमजब वो चलती हैं तो उनकी गांड ऊपर-नीचे होती है और चुचे थिरकने लगते हैं.

रुस्लान ने तेज धक्कों से शुरुआत करते हुए पूरा लंड चूत में घुसेड़ना शुरू कर दिया.बीएफ सिनेमा हिंदी में: वो लोग किसी शानदार रूसी लड़की यानि पोर्न एक्ट्रेस की खोज में थे, जो एनल सेक्स में एक्सपर्ट होने के साथ-साथ गजब की सुन्दर भी हो!जिस दोस्त ने मेरा रुस्लान से परिचय कराया था, वो थोड़ी देर बाद हम लोगों से क्षमा मांगते हुए विदा हो गया और रुस्लान संग हम दोनों बियर की चुस्कियां लगाते रहे.

पूरी चुदाई के बाद मैं उसको अपने पास लिटाकर प्यार करने लगा और वो आई लव यू बोलकर मेरी बांहों में आ गई.तय कार्यक्रम के अनुसार जॉय और ममता किसी शादी से शहर से बाहर गए, आपको याद है ना मैंने बताया था उनको शादी में केरल जाना था.

बीपी सेक्सी श्रीलंका - बीएफ सिनेमा हिंदी में

उस पूर्व-रस के स्वाद और तरुण द्वारा मेरी योनि तथा भगनासे को सहलाने एवं मसलने के कारण मेरी उत्तेजना में बहुत वृद्धि हो गयी जिस कारण मेरा शरीर अकड़ने लगा.मैं बोला- आंटी आप ने अपनी चुत में कब से लंड नहीं लिया?वो बोली- पूरे 40 दिन हो गए.

उसको मैंने सोफे पर बिठाया और उसकी बुर को देखने लगा उसकी चूत उसकी चड्डी के अन्दर से ही काफी उभर के ऊपर को दिख रही थी. बीएफ सिनेमा हिंदी में लेकिन जैसे जैसे रवि मेरे पास आ रहा था मुझे ऐसा कोई बीज नज़र नहीं आ रहा था.

मैंने भी जितना अन्दर जा सकता था, उतना लंड चुत में अन्दर तक गड़ाने लगा.

बीएफ सिनेमा हिंदी में?

दूध पी कर मुझे फिर जोश आ गया और मैंने वैशाली को फिर से बेड पर लिटा लिया और उसकी टांगों के बीच में बैठ कर टांगों को घुटनों तक मोड़ कर, लंड अंदर पेल दिया. धीरे धीरे मेरे कुरते के अंदर उनके हाथ प्रवेश कर गए, मेरे नंगे जिस्म पर मरदाना हाथों का स्पर्श… ‘उफ्फ…’ मैं बयां नहीं कर सकती उस सनसनाहट का आपसे!मेरी ब्रा की स्ट्रिप में रुके हाथों ने एक बार टटोला और फिर ब्रा के हुक को खोल दिया. सुमन खुलकर बोल नहीं सकती थी कि मेरी चुत को चाटो, वहां बेचैनी हो रही है और गुलशन जी अच्छी तरह जानते थे कि उनको कहाँ चूसना है.

फिर मैंने सोचा मोनिका को बाहर किसी होटल में ले चलता हूं, जहाँ हम दिल खोल कर जितना टाइम चाहें, मिल सकें. मैं उनकी बुर के अन्दर ही झड़ गया और थोड़ी देर बुर में लंड डाले लेटा रहा. मैंने पानी की बॉटल उठाई और आगे झुकने पर उसकी गांड का जो हिस्सा दिख रहा था, उसके अन्दर मैंने पानी डाल दिया.

तभी उस की शादी हुई और एक महीने के बाद वो ऑफिस आई तो वो मुझे खुश नहीं लगी. निकाह के बाद हम दोनों शहज़ाद के परिवार में नहीं रहेंगे और घर से दूर शहर में अलग मकान ले कर रहेंगे. कविता ने रीना को फोन करके ये सब बताया और समझाया कि पिता के आने की स्थिति में उसका अपने फ्लैट पर रहना ही ठीक होगा.

वो नहीं जानता था कि मैंने उसके भैया को ब्रांच मैनेजर कैसे बनवाया है. मुझे उसकी गांड मारने में चूत मारने से भी ज्यादा मजा आया और उस दिन मैंने उसकी तीन बार गांड मारी और उस दो बार बुर की चुदाई की.

उसकी जींस पर बीयर गिर गई थी, या उसने जानबूझ कर गिरा ली थी, मणि ने जींस गीली होने के बहाने से उतार दी.

मैंने ना आव देखा ना ताव, उसकी शार्ट गिराई और उसका अच्छा खासा मोटा लंड अपने मुँह में घुसा लिया।तभी मैंने रिया की आहें सुनी। शायद उसका पानी निकल गया था.

फिर मैंने दूसरा झटका दिया और मेरा पूरा लंड उनकी फुद्दी में चला गया. दरवाजा खोलते ही वो अन्दर आ गई, मैं इससे पहले में कुछ कहता वो अन्दर आते आते सपना-सपना. वहां आप लगा देते हो, बाकी यहाँ तो दवा मैं भी लगा सकती थी मगर आपको मेरी चूत को टच करने का बहाना चाहिए था, इसी लिए आप ये सब कर रहे हो ना.

उसने कहा- आप क्या करते हैं?मैंने उसे बताया कि मैं एक एमएनसी कंपनी में सीनियर मेनेजर हूँ।वह बड़ी इम्प्रेस हुई और बोली- फिर आप मुझे कब गाइड कर सकते हैं?मैंने उसे कहा- तुम कब चाहती हो?तो उसने कहा कि वह 11. और गांड भर गई है, लगता है तेरा बाप रूपा की गांड में पेलता होगा ज्यादा. दोस्तो, बाद में मैंने उसभाभी को काफ़ी बार चोदाऔर काफ़ी बार फ्री में भी चोदा.

जीप में बैठते हुए रिया ने पूछा- निकी, ये क्या था? एक साथ तीन टकीला?मैंने कहा- आज तक एक साथ कभी इतने लड़कों से नहीं चुदी हूँ यार! आज कम से कम तीन से तो पंगा ले ही लूंगी.

एकदम गोरा रंग गुलाब की जैसे गुलाबी होंठ, मेरे लंड में तनाव आने लगा. चुत चाटते समय मैं कुत्ते की तरह चुत पर जीभ लपलपा रहा था, जी भर के चुत चाट रहा था. मेरे लोहे की रॉड जैसे लंड को देख कर वह घबरा गई और कहने लगी- इससे नहीं करना है.

सुमन- आप इतनी खुश क्यों हो रही हो इतना बड़ा जाएगा तो जान नहीं निकल जाएगी?टीना- तू पागल है तुझे कुछ नहीं पता. अभी तक आपने पढ़ा कि रवि के साथ उसी के घर पर मेरीदूसरी सुहागरात… यार के साथहुई जिसमें उसने मेरी गांडफाड़ चुदाई की. मुझे समझ में आ गया कि लंड इस तरह से इसकी चुत के अन्दर नहीं जा सकता है.

घर में सिर्फ मैं और वो जिसे मैं पहले भी कई बार चोद चुका हूं… ‘नहीं अब और नहीं…’ उफ्फ्फ हे भगवान् क्या करूं लगता है मैं पागल हो जाऊंगा.

मैंने उससे दूध बर्तन ले कर रसोई में उबालने के लिए ले गई, तब वह भी मेरे पीछे आ गया और पूछने लगा- सरिता, कल दिन तथा रात में जो हुआ उससे तुम नाराज़ तो नहीं हो. वो भी उत्तेजना में मेरा लंड चूसने लगी और थोड़ी देर बाद में भी झड़ने लगा.

बीएफ सिनेमा हिंदी में मैंने बोला- संगीता तुम ऐसा करो, मेरा रूम पास में ही है, तुम वहाँ चलो. जिस चूत को मैंने उसकी छोटी निक्कर में ढके हुए देखा था अब वही चूत मेरे सामने पाव रोटी की तरह फूली हुई, गुलाबी रंगत लिए, एकदम नंगी थी.

बीएफ सिनेमा हिंदी में मैंने आवाज़ लगा कर पूछा कि मॉम मेरा पर्स कहाँ रखा है?वो बोलीं- अलमारी से पैसे ले लो. जब होंठों को किस करने की बारी आई तो मेरे ठोड़ी पे किस किया और कंधे की तरफ बढ़ने लगा.

मेरी बहन की चुत बहुत ही गोरी थी, जिस पर छोटी-छोटी झांटों के सुनहरे बाल उगे हुए थे.

इस्नोफीलिया क्यों होता है

तभी वो चिल्लाने लगी- बस सन्नी… अह… अब और नहीं… निकाल दो मेरे अन्दर… मैं पूरी टूट चुकी हूँ… आह… मेरा निकल जाएगा आआह… अब मुझसे नहीं होगा. ’मैंने टीचर की गांड को खूब मसला और उनकी चुत को पेंटी के ऊपर से ही अपनी नाक से रगड़ा तो टीचर गनगना गईं. मैंने उसके सारे कपड़े उतार दिए,उसने बोला- तुम भी तो अपने कपड़े उतारो.

”मैं लंड को यूं ही उसकी गांड में फंसाए हुए उसके हिप्स सहलाता और मसलता रहा; बीच बीच में पीठ को चूम कर मम्में दबाता रहा. मैं उससे हाय बोल कर घर चला गया और रात भर मुझे सोच-सोच कर नींद नहीं आई कि मैं कल आंटी के साथ क्या क्या करूँगा. रोज रात को हम एक दूसरी को नंगी करती और एक दूसरी के बोबे और चूत चूस चूस कर लाल कर दिया करती.

एक दिन मैं अपने कपड़े सुखाने के लिए अपनी छत पर गई तो वो भी अपनी छत पर ही अकेले खड़ा फोन पर बात कर रहा था.

चल आजा सामने से मेरे राजा, पहले तू मेरी चुत का बाजा बजा, फिर मेरी गांड का सत्यानाश कर, आज तुझे खुली चुत है. मगर हमारा अनुभव कहता है कि मर्दों को हल्फ नंगी लड़कियों से ज्यादा अधनंगी लड़कियां भाती हैं. मैंने अपनी आँखें खोलकर देखा तो वो अपनी टंग से मेरे मम्मों को चाट रहा था.

मुझे तो नींद नहीं आ रही थी, आज क्या-क्या होगा केवल वही सोच कर मेरा लंड एकदम खड़ा था. खाने के बाद फ्लॉरा अपने पापा के कमरे में गई और उन्हें देख कर मुस्कुराने लगी. कंडक्टर की बात से मुझे भी हंसी आ गयी, मैं स्लीपर से नीचे उतरा और वो ऊपर चढ़ गई, मेरे वापस स्लीपर पर आने से पहले वो बोली- कितनी देर से लेटे हैं आप, पूरी सीट गर्म कर दी.

फिर हम अलग हुए और मैंने एक-एक करके उसके पूरे कपड़े उतार कर उसे बिस्तर पे लिटा दिया. घर में सब कुछ था मगर ना था तो मेरा प्यार, मेरी जवानी की बातें, जिसे याद कर जी पाती.

दोस्तो, मैं सोच में पड़ गया क्योंकि सुमन की सेलरी सिर्फ़ 8000 रूपए थी. तभी मेरी पीठ के पीछे लगा हुआ सपोर्ट हटा जिससे मुझे लगा कि मेरा राजकुमार मेरे पीछे से हट चुका है और कहीं जा रहा है, मेरे पैरों के नीचे से ज़मीन खिसक गयी ‘हे भगवान! कहाँ ढूंढूंगा अब उसे…यही सोचता हुआ फटाफट मैंने इधर उधर देखा, वो मुझे जाता हुआ दिखाई दे गया, उसको देखता हुआ उसकी तरफ़ जाने लगा लेकिन मैं उसके पीछे नहीं बल्कि उससे दूर रह कर उस का पीछा कर रहा था. सुमन कुछ देर तो डरते-डरते लंड को छू रही थी मगर थोड़ी देर बाद वो खुल गई और सीधे लंड को पकड़ लिया और जैसे ही गुलशन जी का अज़गर उसके हाथ में आया, उसकी साँसें ऊपर-नीचे हो गईं और होती भी क्यों नहीं.

उसके बाद तरुण बहुत ही तीव्रता से संसर्ग करने लगा और जैसे ही उसके लिंग से वीर्य रस स्खलित होने का समय आया तो उसका लिंग और भी अधिक फूल गया.

सुमन- रात को अकेली कहाँ से आती और कॉल के लिए मोबाइल भी होना चाहिए ना. काफ़ी देर तक उसके साथ खेल खेलने के बाद मैंने धीरे-धीरे उसके जिस्म को टच करना स्टार्ट किया. मैंने जोश में था तो थोड़ा कस के धक्का मारा और आधा लंड भाभी की चूत में घुसेड़ दिया.

मैं- क्यों क्या हुआ जीजू नहीं आए क्या?दीदी- अरे यार उनकी छुट्टी रद्द हो गई हैं. फिर थोड़ी सी माज़ा पीकर बाकी में मैंने गोली को मिला दिया और माजा लेकर कमरे में आ गया.

उसने मेरे सिर को जोर से अपनी चूत पर दबा दिया और दोनों जांघों से जकड़ लिया. मैं जाकर पास बैठ गया और वो मेरे सिर में तेल लगा कर मालिश करने लगीं. मुझे ऐसा लग रहा था, जैसे मैं किसी आग की भठ्ठी में उंगली डाल रहा हूं.

नेपाली हॉट सेक्सी

मेरे जिस्म के बारे में कहते हैं कि कितनी गोरी और मक्खन जैसी टाँगें हैं, टाँगें ऐसी हैं तो जाँघें कैसी होंगी और अगर जाँघों का यह हाल है तो अन्दर की जन्नत तो कैसी होगी? वो यह भी बोलते हैं कि नीता की बहन और माँ भी एकदम मस्त हैं, इन तीनों को एक साथ नंगी करके मस्ती करनी चाहिये.

तेरे साथ ज़्यादा कुछ कर भी नहीं सकता, तू जाग गई तो बहुत बड़ी गड़बड़ हो जाएगी. फिर मैंने सोनिया को कहा- डार्लिंग, हम दोनों मिल कर साली को थोड़ा ओपन करते हैं. आशीष पूरा लंड निकल कर एकबारगी अंदर तक डाल देते मेरे न चाहते हुए भी चीख निकल जाती ‘उईइइ ईई ई ई ई आह्हः उफ्फ ओह्ह्ह आ…शी…ष.

यह सुन कर विनय थोड़ा उदास सा हुआ कि रीना आज रात उसके पास नहीं सोएगी, पर वो उन दोनों की रिलेशनशिप को समझता था. अब मैं उसके मम्मों को चूसने लगा, संगीता की अभी भी आँखें बंद थीं और वो ज़ोरों से सिसकारियां भर रही थी. हद मूवी एरियाइसके बाद मैंने अपनी स्पीड बढ़ाई और दोनों हाथों से उसकी छोटी-छोटी चूचियां मसलने लगा.

जॉय जब फ्लॉरा को लेकर घर आया, तो फ्लॉरा को खुजली होने लगी मगर जॉय ने उसे मना कर दिया कि रूको ऐसे मत करो. रूबी दूसरे कमरे में गई और एक बहुत ही सेक्सी झालर सी कमर पर बांध कर आई जिसमें झिलमिल सितारे से लगे थे.

उनके पति मार्केटिंग सेक्टर में जॉब करते थे इसलिए ज़्यादातर वो शहर से बाहर ही रहते थे. मेरी टीम के सभी लड़के किसी ना किसी को लाइन मारते थे, लेकिन मेरे को श्रुति और एक और लड़की थी, बस वही पसंद आती थीं. जॉय- प्लीज़ बेटा बात को समझो, अगर जल्दी ठीक होना है तो कुछ दिन ऐसे ही रहो.

मेरी नींद सुबह तब खुली, जब रागिनी मुझे जगाने आई- गुड मॉर्निंग!मैंने भी सुप्रभात कह कर तौलिया लपेट लिया. दोस्तो, आप मेरी इस चुदाई की सेक्सी कहानी का मजा लें और कमेंट्स करें. दोस्तो, आप समझ ही गए होंगे सुमन ने टीना को सब झूठ बताया कि उसने कैसेपापा का लंडदेखा है.

ऐसे सीधे भी अगर मुझसे पूछती, तो मैं ‘हाँ’ कह देता क्योंकि मेरा खुद का बड़ा मन करता है कि कभी ऐसा मौका मिले कि ग्रुप चुदाई हो.

मैं एक हाथ की दो उंगलियाँ उसकी चूत के अन्दर-बाहर कर रहा था और आज मैं हरमीत की गांड भी मारना चाहता था. खाना खा कर नलकूप पर बर्तन साफ़ करे तथा झोंपड़ी की साफ़-सफाई करने के बाद बेटे को ले कर हवेली वापिस आ गयी.

और उसने मेरे मुँह को अपने स्तन पे पूरी ताकत से दबा दिया।मैंने कहा- रजनी बहना, ऐसे बोबे पहले खा छुपा के रखे थे?उसने कहा- हमेशा से तुम्हारे सामने थे, तुमने ध्यान ही नहीं दिया, कब से इस दिन का इन्तजार था।मैं उसके स्तनों को कभी मसलता, कभी नोचता, कभी उसके निप्पल को काटता. वैसे भी वो किसी लड़के से चुदवा लेती लेकिन पप्पू का लंड देख कर उसे यकीन हुआ कि उन लड़कों में किसी का भी लंड पप्पू अंकल जितना नहीं था. आज भी पढ़ाई के बहाने जॉन उसे अपने कमरे में ले आया और जब उसके मॉम-डैड सो गए, तो उसने वही सुबह वाला खेल शुरू कर दिया.

प्लीज़ अब जैसे मम्मी को चोदा था वैसे मुझे चोदो, अब मुझसे रहा नहीं जा रहा. उसकी हर एक सांस पर मम्मों के उठते गिरते देख कर मुझे रहा ही न गया और मैं उसके मम्मों को चूमने लगा. मेरे पीछे पीछे तरुण नलकूप से धुले कपड़े ले कर आया और उन्हें बरामदे में बंधी रस्सी पर सूखने के लिए फैला दिए.

बीएफ सिनेमा हिंदी में किस करते हुए उसने अब मुझे बेड पे लिटा दिया और मेरे टॉप को ऊपर खींच कर मेरे मुँह के ऊपर ला कर रोक दिया. अब मुझे मजा आने लगा तो मैंने मेहता को खूब जोश दिला दिला कर चुदवाना शुरू कर दिया.

सेक्सी मराठी सेक्सी व्हिडिओ

मांग में सिंदूर, गले में मंगलसूत्र, चूत पर झाँटे, बड़ी बड़ी चूचियाँ, आँखें बंद किए खड़ी वो साक्षात काम की देवी लग रही थी. ”मैंने उसके दोनों पैर मेरे कंधे पर रखे, फिर मैंने उसकी ऐसी धुनाई की कि साली चुदक्कड़ को नानी याद आ गयी. उम्म्ह… अहह… हय… याह… ऊऊऊ ओहोहह… ऊओह्ह्ह… और चोदो मेरे राजा… आआह्ह्ह… ऊऊइईई… मरर्रर गयी मेरे बलमा… मुझे अपनी रानी बना लो… मेरी जान चोदो बहुत मजा आ रहा है… ऑऊईईई ऊईईई माँ… मेरी चूत को फाड़ दो मेरे साजन… बहुत मजा आ रहा है.

सुमन ने पहले जीभ से सुपारे को चाटा और फिर धीरे से अपने मुँह में लेकर चूसने लगी. मुझे मेरे लंड पर उनकी कसी-कसी गरम चुत की दीवारों का स्पर्श होने लगा. ब्लू पिक्चर बपअंकल… पर आपको बताना पड़ेगा कि आपने मम्मी को बस में कैसे छेड़ा था और फिर माँ कैसे आपसे चुदवाने के लिए तैयार हुई.

सबसे आखिर में उसने मुझे नीचे लिटाया और फिर अपनी चूत को मेरे मुँह से लगाकर मुझे अपनी चूत चाटने को कहने लगी.

कुछ देर लंड चुसवाने के बाद मैंने अपना लौड़ा उसके मुंह से निकाला और साली को अपनी गोद में आने का इशारा किया. उनका हाथ मेरे सिर की बड़े प्यार से मालिश कर रहा था कि अचानक वो कुछ लेने के लिए झुकीं, तो उनकी चूचियां मेरे मुँह से टच हो गईं.

लंड चुसवाने में मुझे इतना मजा आ रहा था कि मैं उसको मुंह में लंड पेलने लगा; उसके मुंह में भी मुझे खूब मजा आ रहा था. मैंने फिर पूछा कि क्या हुआ है तो उन्होंने बताया कि उनका पति 20 दिन से घर नहीं आया था, और अब कल आया तो उनके साथ लव नहीं किया. वो बियर और नमकीन लेकर आ जाएगा और बाकी खाने का विक्की और साहिल देख लेंगे.

आज तक अन्तर्वासना पर सफर में सेक्स की बहुत कहानी पढ़ी हैं, पर ये सब मेरे साथ कभी होगा, सोचा नहीं था.

मेरी पिछली कहानीट्रेन में मिली एक नवविवाहिता की कसी चूतमें आपने पढ़ा कि कैसे मैंने अपनी भानजी के सामने एक नवविवाहिता लडकी की बुर ट्रेन में मारी. सैर करते करते उसने पूछा कि आपने बताया नहीं था कि आपको कैसे पता लगा कि हम भी घर आए हुए हैं?मैंने बोला- वो तो मैंने यूं ही बोल दिया था. मैं और मेरी फूफीजान की लड़की शाफीना जो कि मुझसे एक साल छोटी है, हम दोनों साथ ही में मेरे कमरे में बैठ कर पढ़ते थे.

থ্রি এক্স ফিল্মइससे उन्हें अब मज़ा आने लगा, मैं भी जोश में आकर अपने एक हाथ से उनकी चुत को रगड़ने और सहलाने लगा. मैं होश खो बैठी… उफ्फ्फ्फ़ आअह्ह्ह आह की मंद सिसकारियाँ हम दोनों को उत्तेजित कर गई.

लड़की को पटाने वाली शायरी

एक दिन मुझे पता चला कि वो सारी ब्लू पिक्चर किसी दोस्त के लिए नहीं बल्कि खुद के लिए लेती थी. फिर उसने बड़ी बेताबी से मेरा ट्राउज़र खींच कर उतारा और साथ ही अंडरवियर भी उतार दिया. सुमन उठ कर बैठ गई और उसने एक जोरदार अंगड़ाई ली और अपने पापा से लिपट गई- पापा, आप कितने अच्छे हो.

मैं गर्म हो गई थी और समर्पण भी कर चुकी थी, मेरे को अब कुछ और चाहिए था; जी हाँ कुछ और…फिल्म खत्म हुई तो मैं उनसे नज़र नहीं मिला पा रही थी. अगले 5 मिनट तक मैं ऐसे ही लेटा रहा, फिर धीरे से अपना शरीर चाची के शरीर से चिपका दिया. मैंने उसकी चूत पे हाथ फेरते हुए कहा- अगर ये कमीनी साली सामने हो, तो बदमाशी भी इसे दिखानी पड़ती है!हम दोनों हंसने लगे.

किसी कपड़े से मत पोंछना, डॉक्टर ने टिशू पेपर्स बताए हैं उन्हीं का यूज करना है. इतना कहते हुई रागिनी मेरे को अपने चुत पर चढ़ाने के लिए ऊपर खींचने लगी. वहां आप लगा देते हो, बाकी यहाँ तो दवा मैं भी लगा सकती थी मगर आपको मेरी चूत को टच करने का बहाना चाहिए था, इसी लिए आप ये सब कर रहे हो ना.

काकू ने अब कविता से पलटने को कहा तो कविता ने टॉवल से अपने को लपेटे हुए करवट ली और टॉवल अपने मम्मों के ऊपर बाँध लिया. और अचानक एक सैलाब उसकी चूत से उमड़ा, जैसे कोई गर्म पानी का फव्वारा चालू हो गया.

वो मेरे लंड को बाहर से ही पकड़ कर बोली- हाय बता तो तेरा लंड कितना मोटा है?मैंने कहा- बाहर निकाल कर तो देखो डार्लिंग.

हो सकता है कि कोई मुझे अपनी बीवी और ज्यादा दिनों के लिए देने के लिए तैयार हो जाये. गंदे वॉलपेपरकुछ व्यस्त रही लेकिन आपके प्यार भरे मेल लगातार आते रहे उसके लिये आपको बहुत बहुत शुक्रिया. पवन सेक्सउसने रीना के निप्पलों पर गोली सी बनाते ही मालिश की तो रीना मुस्कुरा दी. फ्लॉरा तो अपनी हरकतें वैसे ही करती रही और जॉय ने अपना कंट्रोल बनाए रखा.

गर्दन, कान, लब, निप्पल हर जगह मैंने उनको चूमा, चाटा, काटा; वो सिसकारी भरते रहे और मैं जंगली होती गई… मैंने उनका शार्ट और जॉकी दोनों ही उतार दिया.

वैसे उनके पास तो बीवी की कमी नहीं थी मगर सुमन पर इस हादसे का बुरा असर पड़ा. कविता कुछ सकुचाई तो रीना बोली- ये तो साड़ी पहन कर मसाज कराएगी कमीनी. मैंने उनकी पेंटी को खींचते हुए अलग कर दिया और चूत पर एक जोरदार चुम्मा ले लिया.

वो बस मेरे सामने देखती ही रही और मैंने अपने होंठ उसकी गीली आँखों पर लगा दिए और उसके आँसू पी गया. उसके बाद मैंने एक जोरदार धक्का मारा तो मेरा लंड उसकी चुत में पूरा घुस गया. मैंने लोअर टांगों से निकाल दिया और लंड को उसकी चुदासी चूत में डाल दिया.

bp इंग्लिश

हमेशा से जिसे सपनों और तस्वीरों में नंगी देखा था आज वो जन्मजात नंगी मेरी नजरों के सामने खड़ी थी. उनका हाथ मेरे सिर की बड़े प्यार से मालिश कर रहा था कि अचानक वो कुछ लेने के लिए झुकीं, तो उनकी चूचियां मेरे मुँह से टच हो गईं. नीता से लंड सहलवाते हुए पप्पू अब नीता की शॉर्ट्स में हाथ डाल कर उसजवान लड़की की नंगी गांडमसलने लगा.

दोस्तो ये सिलसिला अब शुरू हो गया था जॉन को जब भी मौका मिलता, वो फ्लॉरा को लंड चुसा देता और फ्लॉरा भी उसके लंड चूसने की आदी हो गई.

उस दिन शनिवार था और मैं अपने कमरे में बैठ कर किताब पढ़ रहा था कि अचानक कुछ गिरने की आवाज़ आई.

मैंने कहा- ठीक है कोई मसला नहीं, अगर खुली हुई बोरी से थोड़ी चीनी चख लो तो कोई फ़र्क नहीं पड़ता. मौसी ने कहा- अब तुम अपनी दो उंगलियां मेरे यहाँ डालो और वैसे ही सूँघो. लंड डालते हुएमैं थोड़ी सी डर गई और बोली- छोड़ो मुझे!लेकिन वह नहीं माना, मैंने जैसे तैसे करके अपने आप को उससे छुड़ा कर जाने लगी.

फिर कुछ मिनट में मेरे लंड ने दीदी के मुँह के अन्दर ही पानी छोड़ दिया. ममता और मैंने एक-दूसरे को चुदाई के बहुत मौके दिए और आगे की कहानी में मैंने कैसे ममता को रात में रूम पर बुलाकर चोदा और कैसे उसकी मालिश करके तेल लगाकर उसकी गांड मारी. मैं अपनी चूत की चुदाई करवा कर बहुत खुश थी क्योंकि मुझे अपनी चूत में लंड लिए बहुत दिन हो गए थे.

हम लोग एक दूसरे से लिपट कर ऐसा कर रहे थे… उसे बस मेरे चूतड़ मसलते हुए ही लगभग आधा घण्टा हो गया था लेकिन ना तो वह मेरी गांड छोड़ने को तैयार था और ना ही मैं उसकी छाती।मैंने उसके डोलों शोलों को भी चाटना शुरू कर दिया। उसके फूले हुए कसरती भुजाओं को ऊपर नीचे करते हुए चाटने लगा. उसने कहा- मेरे राजा एक बार और चोदेगा क्या?मैंने कहा- साली तुझे तो आज पूरी रात चोदूँगा.

मैं बोला- धीरे से गेट खोलना और बंद करना, जिससे मम्मी-पापा की नींद न टूटे और जल्दी से मेरे रूम में आ जाओ.

मेरा हाथ अभी भी जड़ था तो उन्होंने मेरी हथेली को अपनी हथेली में पकड़े पकड़े, अपने लौड़े पर ऊपर नीचे करना शुरू कर दिया. मैं उसे सिखाने के बहाने कभी-कभी उसके मम्मों को टच भी कर लिया करता था. मैं शाम को सोने जाने लगा तो चाची ने आवाज दी और कहा- आज हमारे रूम में ही सो जाओ क्योंकि तेरी मम्मी भी आज मेरे रूम में ही सो रही हैं.

पोर्न स्टार वीडियो और मैं उसकी चूत की तरफ मुँह ले गया और उसकी नाभि को चूमा, फिर पेडू को (चूत से ऊपर का और नाभि से नीचे का हिस्सा) चूमा और जैसे ही अपना मुँह और नीचे ले गया तो उसने अपनी दोनों जाँघों को भींच लिया. मैंने अन्तर्वासना पर बहुत पढ़ा था कि चूत चाटने से लड़की ज्यादा गर्म हो जाती है.

मैं 8:15 पर घर पहुंचा और जाते ही चाची ने मुझे गले लगा कर मेरा स्वागत किया फिर पानी ऑफर किया. इसमें क्या है?फ्लॉरा- पापा, आप मॉम का क्या करोगे?जॉय- क्या मतलब मॉम का क्या करोगे?फ्लॉरा- पापा वो मेरे फ्रेंड हैं. धीरे धीरे मुझे उसके बारे में सब पता चला कि उसका कोई बॉयफ्रेंड नहीं है.

पंजाबी सेक्स गर्ल्स

मैं उठा और चाची के पास गया पर कुछ करने से पहले मैं ये सुनिश्चित कर लेना चाहता था कि चाची पूरी तरह सो चुकी हैं या नहीं. फिर उसने मेरी पैन्टी उतार कर मुझे नीचे से पूरी नंगी कर दिया और मेरी चूत को थोड़ी देर देख कर उस पर किस कर लिया. आज पहली रात को मेरा ये हाल है तो आगे नौ दस रातें कैसे गुजरेंगी?न जाने क्या सोच कर मैंने अपनी टी शर्ट और लोअर चड्डी के साथ उतार कर दीवान पर फेंक दिए और पूरा नंगा हो गया.

हम दोनों काफी देर तक चुप बैठे रहे, जो कुछ हम कर चुके थे उसका मुझे तो कोई मलाल नहीं था, आशीष का पता नहीं!घड़ी में दो बज रहे थे. शायद मॉर्निंग वाली चुदाई का असर था कि लंड आराम से चुत में जा रहा था.

कुछ देर ऐसे ही लंड चूसने के बाद मैं अब सिर्फ रोस्टन का लंड चूस रही थी और सिंडी परीक्षित और चिंटू के लंड को चूस रही थी.

क्या बला थी ये? कहीं मैं किसी साजिश का शिकार तो नहीं हो रहा? मेरे मन में भय भी था और एक जवान लड़की की चूत मिलाने की आस भी…मैंने क्यों. सुमन जब घर गई तो उसका खिला-खिला चेहरा देख कर पापा जी ने उसे रोक लिया- आ गई मेरी राजकुमारी. हम दोनों के बीच में हमारे रिश्ते को लेकर काफी बातें भी हुईं जिसमें नतीजा यह निकल कर आया कि वो अपनी सेक्स की प्यास बुझाने के लिए मेरे साथ भले ही दोस्ती जैसा रिश्ता निभा रहा था लेकिन उसके दिल में मेरे लिए एक सॉफ्ट कॉर्नर भी था जिसको वो अपने मुंह से स्वीकार नहीं करना चाहता था.

फाड़ दे मेरी फुद्दी…मैंने भी फटाफट कंडोम निकाला और लंड पर चढ़ा कर चूत के ऊपर रख कर एक जोर का झटका दिया तो मेरा आधा लंड दीदी की चूत में घुस गया. मैं ना-नकुर करने लगा क्योंकि मुझे वहां उंगली करने में बहुत ही गंदा लग रहा था. उसने मुझे बिना कोई मौका दिए ही अपना पूरा का पूरा लंड बाहर खींच लिया और फिर एक झटके वापस मेरी गांड में घुसेड़ दिया.

उसके बाद मैं अपना लंड उनकी चुत पे रगड़ने लगा, जिससे वो तड़प उठीं, मौसी बोलीं- करण प्लीज़ अब ज़ल्दी से इसे मेरी चुत में डाल दो, वरना मैं मर जाऊंगी.

बीएफ सिनेमा हिंदी में: अब आगे:जैसे ही हम बार की तरफ से निकले मैंने रिया को रोका और बार पे जाकर एक के पीछे एक करके टकीला के तीन शॉट पी गयी और वापस आकर रिया के साथ हो ली. फ्लॉरा नहा कर बाहर आई तो उसके जिस्म से पानी टपक रहा था, जिसे देख कर जॉय बस देखता ही रह गया.

उस धक्के के लगते ही तरुण का आठ इंच लम्बा लिंग मेरी योनि की जड़ तक पहुँच गया और मेरे गर्भाशय में घुसने का प्रयास करने लगा. मैं जीवन भर उस समय को न तो आज तक भूल पाई हूँ और न ही भविष्य में कभी भूल पाऊंगी. फिर भाभी ने मुझे अपनी बाहों में ले कर हग कर लिया, भाभी की चूचियां मेरी छाती पर दब गई, मेरे तो रोंगटे ही खड़े हो गए और मन ही मन में ख़ुशी भी हो रही थी कि आज मैं भाभी की चुदाई करूंगा.

पापा- नहीं मेरी जान ऐसे नहीं पहले तू मेरी झांटें साफ कर, फिर कमरे में जाकर आराम से तेरी चुत को चाटूँगा.

क्योंकि उसने मुझसे कहा था मेरा साथ होना उसको चुदास महसूस करवाता है. काकू ने खुद ही अपना लोअर और टॉप उतार दिया और अब उसने प्याले का सारा तेल अपनी छाती और लंड पर डाल लिया और अहिस्ता से बिना अपना वजन डाले रीना के ऊपर लेट सा गया और ऊपर नीचे होने लगा. मुझे नीचे झुके हुए देखते-देखते काफ़ी देर हो गई, तो इतने में उसने दुकान से बाहर देखा और बोला- क्या मेमसाब… क्या देख रही हो?मैं एकदम से हड़बड़ा गई, बोली- कुछ नहीं…बोला- क्या कर रही हो नीचे?तो मैं ऐसे ही बोली- जरा नस चढ़ गई.