बीएफ सेक्सी चूत हिंदी

छवि स्रोत,डब्लू डब्लू सेक्सी डॉट कॉम

तस्वीर का शीर्षक ,

देसी बीएफ पिक्चर बीएफ: बीएफ सेक्सी चूत हिंदी, कुछ देर बाद मैंने लण्ड को बाहर निकाला तो बिल्दु की चूत से वीर्य बाहर आकर उसकी गांड को भिगोते हुए बेड पर टपकने लगा.

20 साल की लड़की

शेफाली और मैंने देखा कि आज तो पूरा इंस्टीट्यूट खाली खाली लग रहा था. रतिरहस्य मराठी”उसे मैंने घोड़ी बनने को कहा, उसकी चूत पर पीछे से लंड रख कर जोर का धक्का मारा.

फिर कुछ देर के इलाज के बाद डॉक्टर ने बोला कि इसको अभी एड्मिट करना पड़ेगा. अंतर्वसना सेक्सजहां अंधेरा ही था … पर वहां रोशनी के लिए बिजली के दिए लगा रखे थे … और धीमी रोशनी जला रखी थी.

उसके मुँह से एक ही आवाज आ रही थी ‘आआहह … यस्स … आई लवव … इट … किस मी हार्ड!मीता की आंखें आनन्द में बंद हो गई थीं.बीएफ सेक्सी चूत हिंदी: अपनी चूत को उसके मुंह पर आगे पीछे और ऊपर नीचे मसलते हुए वो सिसकारने लगी- कमॉन, लिक माई पुसी, यू ब्लडी डॉग। (चल चाट मेरी चूत को, साले हरामी पिल्ले, चाट कुत्ते)श्लोक ने वीना को उठा दिया और फिर एक दूसरे को 69 की मुद्रा में समायोजित किया.

पर साली जी अपनी ही धुन में अपनी चूत आगे पीछे करती हुईं खुद चुदने लगी और मैं उसकी पीठ चूमते चाटते कभी दूध मसलते मजे लेने लगा.पता है जिस दिन तुम हल्की स्काइ ब्लू जींस और टी शर्ट में ऑफिस को जा रहे थे, उस दिन मैं तुम्हें देख रही थी.

इंग्लिश चुड़ै - बीएफ सेक्सी चूत हिंदी

ऐसे ही एक दिन मैं शर्मिष्ठा को डॉक्टरनी के पास चेकअप करवाने ले कर गया था.नेहा लौड़े के साइज का अंदाजा लगा कर मेरी और हैरानी से देखने लगी और उसे सहलाने लगी.

वो मेरे पीछे से स्पूनिंग पोजीशन में आ गया, उसने अपने लंड को मेरी चूत में डाल दिया और मेरी चूचियों को मसलते हुए मुझे चूमने लगा. बीएफ सेक्सी चूत हिंदी उस दिन हम लड़कों बदल बदल कर पांचों पुलिस वालियों की चुत में लंड पेला और हम सबने अपना अपना पानी उनकी चुत में ही निकाल दिया.

यह बात आज से तीन साल पहले की है जब मैं अपनी परीक्षा देने के लिए भोपाल गया था.

बीएफ सेक्सी चूत हिंदी?

मीता लगातार छटपटा कर मेरी पकड़ से दूर जाना चाह रही थी, पर वो मर्द ही क्या … जो कुंवारी चूत को लंड के नीचे से निकल जाने दे. [emailprotected]insta id- funclub_badदोस्त की वाइफ की चुदाई कहानी का अगला भाग:वाइफ शेयरिंग क्लब में मिली हॉट माल की चुदायी- 3. अब प्रतिभा मेरे लंड के सुपारे को ही चूसने चूमने लगी, लंड के नीचे गोलियों को सहलाने लगी.

नेहा बोली- आपका आज जन्मदिन है, बताओ आपको क्या गिफ्ट दूं मैं?मैंने कहा- सब कुछ तो है, मुझे कुछ नहीं चाहिए. मैं अब अपनी मां की चुत को सहलाने लगा था और वो भी आंख बंद कर मस्त हो रही थीं. मैंने अपने झटकों की ताकत बढ़ाई और स्पीड भी … और भाभी को जोर जोर से चोदने लगा.

कल फिर मिलता हूँ, मेरे गांडू भाइयों आपकी गांड में चुनचुनी हो रही होगी. मैंने भी उसे पूरी नंगी कर लिया और …हैलो साथियो, आपने मेरी इस रॉंग नम्बर वाली लौंडिया की चुदाई की अन्तर्वासना की कहानी में अब तक पढ़ा कि उसने मुझे मिलने के लिए बुलाया और मेरा लंड चूस कर मुझे गरम करके वापस भेज दिया. पर अनिकेत पता नहीं क्यों, केवल टोपे को ही अन्दर बाहर कर रहा था और मेरी चूत के ऊपर वाले हिस्से को सहला रहा था.

मैंने पहले उसकी चुत पर हाथ लगाया और उसके चुत की फांकों को मसल दिया. इसके बारे में मैंने आपको पिछली एक कड़ी में बताया था और इसके लिए नेहा को खुशी की फटकार भी सुननी पड़ी थी.

कुछ देर चुचियों को चूसने के बाद मैंने उसकी सलवार की डोरी पकड़ी और खींचने को हुआ.

वे उस समय ब्रा पैंटी में थी।भाभी मना करने लगी लेकिन भैया नहीं माने और किस करने लगे.

अरे जब अपना खुद का दूध उबाल पर हो तो गैस पर रखा दूध किसे याद रहता है।वो मेरे दूधों से मैक्सी के ऊपर से ही खेल रहा था। उसके दोनों हाथ दूध से फिसलते हुए मेरी उठी हुई गोल गांड पर आकर रुक गए. फिर रॉबर्ट ने मुझसे कहा- कल तुम मेरे दूसरे पार्टनर से चुदने के लिए रेडी रहना … कल ठीक शाम 7 बजे होटल आ जाना. ममा के पास डस्टर गाड़ी है, तो ममा ज्यादातर अपनी गाड़ी से ही जाती हैं.

बस थोड़ी देर होंठ की चुसाई हुई थी कि वो अलग होकर मेरे पैंट की ज़िप खोलने लगी और अंडरवियर में हाथ डाल कर मेरे लंड को जो लगभग खड़ा ही हुआ था, बाहर निकाल कर सहलाने लगी. इस समय भले में कहने को ही चिकना नहीं हूँ, पर उस वक्त मैं सही में चिकना लौंडा था. फिर उसने मेरे मम्मों को काटना बन्द किया … लेकिन अब भी वो बुरी तरह से मेरे दूध चूस रहा था.

रमेश ने उसे पकड़ कर ऊपर उठाया और उसके बालों से पकड़ कर उसे खींचता हुआ सोफे पर ले गया.

उन दिनों की उन घटनाओं को गहराई से सोचा तो बात जंच गई और उन्हीं सब बातों को लेकर यह कहानी गढ़ने की शुरुआत की. मेरी इच्छा तो नहीं थी, पर वो सुरक्षा से समझौता नहीं करना चाहती थीं. कॉलेज गर्ल की नंगी चूत की कहानी का पिछला भाग:कभी कभी जीतने के लिए चुदना भी पड़ता है-1सुनील ने बिना डरे कहा- मुझे जेल पहुंचा के तुम ट्रॉफी तो नहीं जीत पाओगी.

लेकिन फिर उसने मम्मी के दोनों हाथों को पकड़कर जोर से साइड में किया और फिर से उनके ऊपर लेट करने जोर जोर से किस करना शुरू कर दिया. फिर उसने मेरे लंड को जोर से दबा कर मेरी तरफ कातिल अदाओं के साथ देखा, जैसे पूछ रही हो कि क्यों अंकल मज़ा आया क्या?‘आह उह्ह. दरअसल एक बार तो लण्ड कुछ अंदर तक भी जाने लगा था जिससे बिन्दू ने मेरी छाती पर हाथ लगा कर रोक दिया और बोली- अभी नहीं, बाद में कर लेना.

अगली बार अपनी चुत में जेठ जी का साढ़े सात इंच का लंड कैसे लिया और मेरी चुदाई के बाद मेरी क्या हालत हुई.

फिर मैं वापस आने लगा तो उसने कहा- अब कहां जा रहे हो? यहीं रुक जाओ यार … आज अकेली हूँ घर में कोई नहीं है. थोड़ी देर के बाद शिवानी भाभी ने फिर से मेरे सोये हुए लंड को मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया.

बीएफ सेक्सी चूत हिंदी चुदाई का खेल चरम रोमांच पर था, लंड को पहले मैं चूत के मुहाने तक खींचता था, फिर उसी तेजी से जड़ तक समाहित कर देता था. उसे पता नहीं क्या जोश चढ़ा, उसने अपनी जांघों को कस दिया और मेरी नाक अपनी चूत में दबा ली.

बीएफ सेक्सी चूत हिंदी करीब पांच मिनट के बाद दोनों का मौसम बन गया, तो मैंने इस बार उसे घोड़ी बना दिया और पीछे से लंड पेल दिया. श्रीनगर पहुंचने पर मैंने होटल में रूम लिया और फिर मैंने विन्नी को कॉल की.

उसने फिर से मेरे होंठों को उसी तरीके से चूसा और नज़रें नीचे करके मुस्कुराने लगी.

आर्केस्ट्रा बीएफ सेक्सी

जहाँ रमेश उसके कोमल हुस्न को देख कर पागल हुआ जा रहा था वहीं रश्मि लंड की लंबाई और चौड़ाई का अहसास कर पानी-पानी होने लगी थी।रमेश- अपने कपड़े उतारो।उसने जैसे फ़ैसला सुनाकर कहा. रात को दो बजे में अचानक मेरी नींद खुली तो मैंने देखा कि अदिति ने मेरी शॉर्ट्स नीचे खिसका दी थी और लंड चूस रही थी. मैं उस बरसात में आंधी तूफ़ान की तरह बाइक दौड़ाता वहीं जा पहुंचा और दवा लेकर वैसी ही स्पीड से वापिस अस्पताल आया इसके बाद भी आने जाने में मुझे सवा घंटा के करीब लग गया.

फिर मुझे गोदी में उठाकर अनिकेत ने मेरी चुत पर जीभ रख दी, जिससे मेरे जिस्म में सिरहन सी दौड़ पड़ी और मैं पैर हिलाकर उसकी मजबूत पकड़ से आजाद होने की कोशिश करने लगी. उसके चूचे मीडियम से थोड़े बड़े … एकदम गोरी चुचियां और उन पर मटर के दाने जैसे भूरे कड़क निप्पल … आह … मज़ा आ गया. फिर उसने नाइटी को पूरा निकालना चाहा लेकिन मम्मी ने मुस्कुराते हुए उसको रोक दिया.

कुछ ही देर के बाद मेरी प्यारी नेहा एक पराये मर्द के सामने नंगी होने वाली थी.

मैं नंगा ही अपने कपड़े उठाकर सीढ़ियों से होता हुआ अपने कमरे में चला गया. रिया- पीछे भी चाहिए तो बीस हज़ार और ऊपर फ्री।रत्न ने फिर कुछ जवाब दिया. उन्होंने लड़के के चूतड़ के दो तीन चुम्बन ले डाले और बोले- जाओ बाहर बैठो.

चूंकि पार्क में अंकल टाइप के लोग सायं के समय घूमने के लिए अक्सर आते हैं इसलिए पार्क मेरी पसंदीदा जगहों में से एक होती थी. इसका कारण बिन्दू की मम्मी सरोज का बेरुखा और झगड़ालू स्वभाव था, अतः कोई भी उनके बीच में नहीं पड़ना चाहता था. सही कहता हूँ ना अदिति, हर्षद?तभी मां मेरी तरफ देखते हुए बोलीं- हां ठीक है … कल नौ बजे तक हम दोनों सतारा के लिए निकल चलेंगे … चलेगा ना!पिताजी बोले- हां ठीक है.

मैं महाराज राज बिलासपुर छत्तीसगढ़ से आप लोगों के सामने फिर एक सच्ची घटना लेकर आपके सामने आया हूँ. मेरी पिछली सेक्स कहानीमौसी के घर में गर्लफ्रेंड को चोदानामक सेक्स कहानी को बहुत पसंद किया गया था.

रश्मि की गांड का छेद बहुत छोटा सा था जो एकदम से सिकुड़ कर चिपका हुआ था. ”क … कौन सानू?”मैं स … सानिया हूँ सल!”लग गए लौड़े!!ओह … अरे … सॉरी … हाँ … बोलो सानू? मैंने पहचाना नहीं मैं नींद में था. चुदाई हो तो कैसे हो? मैं उसके कमरे में जा नहीं सकती थी और उसे अपने कमरे में ला नहीं सकती थी.

मैं अपने भाई की ससुराल में वापस आकर लेटा लेटा उसी के बारे में सोच रहा था कि कब उसकी चुत चुदाई का अवसर मिलेगा.

अब ट्रेन में आगे की तरफ चार लड़के थे और बीच में हम दोनों ही रह गए थे. मैंने चुदाई और तेज करते हुए कहा- फिर अब क्यों रहम की भीख मांग रही हो?उन्होंने कहा- यार पहले तो तुम्हारा लंड बड़ा और मोटा है, दूसरा तुम्हारी स्टेमिना बहुत ज्यादा है. मैंने उसकी चूत में धीरे धीरे लंड को चलाते हुए धक्के लगाने शुरू किये.

मेरा बांध जब फटने को हुआ, तो पता नहीं उसे क्या महसूस हुआ कि उसने ‘फ्च्च्च्छ. नेहा का पेट, धुन्नी और उसकी चूत के बालों वाली जगह बहुत ही सुंदर और चिकनी सपाट थी.

इस बार मेरी चूत को खोलते हुए उसका लंड आधे से ज्यादा मेरी चूत में घुस गया. मैंने नीचे एक ब्लैक स्कर्ट पहन ली, जो कि सिर्फ मेरी कमर से मेरी चुत तक ही आ रही थी. ”सुहाना ने फिर मेरी ओर कातर नज़रों से देखा- आप सच बोल रहे हो ना?”हाँ बेबी … मेरा विश्वास रखो … बस एक बार!”मुझे बहुत डर लग रहा है.

सेक्सी सेक्स सेक्स बीएफ

मैंने कहा- नेहा पता नहीं आगे मौका मिले या ना मिले? तुम मेरा थैंक्यू गीला कर दो.

असल में वो अपने लंड में उठी सुरसुरी को कन्ट्रोल नहीं कर पाता था … शुरू होते ही झड़ जाता. तो मैंने इसी शहर के अपने एक दोस्त से किसी स्पोर्ट्स की दुकान से चार कूदने वाली रस्सी, जो बहुत पतली हों, पर मजबूत हों … और एक चॉकलेट सीरप की शीशी पैक करवा के मेरे होटल के कमरे में छोड़ने को कहा. भाईसाब ने मुझे सम्भालते हुए कुछ ऐसा किया कि मैं उनकी गोद में बैठ गया.

मैं करने के लिए उस मशीन पे चली गयी।अर्जुन मुझे छूने का कोई मौका नहीं गंवाना चाहता था. जैसे ही तू सोई, तेरे पति ने चुपके से मुझे गोद में उठाया और मेरे बेडरूम में ले गया. पल्लवी शर्मासमय गुजरता रहा, शाम हुई शाम से रात हो गयी शर्मिष्ठा की प्रसव पीड़ा बढ़ती जा रही थी.

कुछ देर चूत चाटने के बाद अंकुश ने अपना लंड शेफाली की चूत में डाल दिया तो शेफाली और तड़पने लगी. उसके बाद से लेकर और आज तक रश्मि ने फिर कभी अपनी चूत में लंड नहीं लिया था.

मेरा लंड अब भी मामी की चुत में था और मामी की मादक सिसकारियां चीखों के मानिंद निकल रही थीं. कुछ देर बाद शालिनी ने मुझे रोका और मेरे गाल पर एक किस करके वो मुझे सो जाने का इशारा करने लगी. मैंने ड्रेसिंग टेबल से क्रीम की शीशी और कॉण्डोम का पैकेट निकाला और अपना लोअर उतार दिया.

मैंने पूछा- ये काहे की गोली है?उसने कहा- बाजी, कल आपके अन्दर ही निकल गया था न … कोई लफड़ा न हो जाए, इसलिए ये गोली खा लो. तो फ्रेंड्स यह थी मेरी चुदाई की कहानी दो अफ्रीकन हब्शियों के साथ चुद कर कैसे मैंने अपने बिजनेस को बचाया. तुम अपनी मम्मी को यह विश्वास दिलवा दो कि बाहर तुम्हारा किसी के साथ भी कोई रिलेशन नहीं है.

उसकी भूख ऐसे मिटानी थी कि विन्नी को मज़ा भी पूरा आये, भूख भी मिट जाए लेकिन आगे के लिये भी उसकी भूख फिर से बढ़ जाए.

जोश में आकर मैं भी उसकी चूचियां जोर जोर से चूसते हुए उस पर थप्पड़ से मार दे रहा था. दोस्तो, मैं प्रकाश फिर से अपनी बिहार वाली सेक्सी भाभी की देसी चुताई कहानी को आगे बढ़ा रहा हूँ.

आस-पास नहाने वाले मेरे मोहल्ले के हमसे बड़ी उम्र के लड़के तालाब में नहाने वाले या घाट पर बैठे लड़के फौरन आ जाते और हमें तैरना सिखाने के बहाने हमें पानी में पीछे से पकड़ लेते और कहते कि हाथ पैर चलाओ. लंबे मोटे लंड को पूरा ग्रहण कर प्रतिभा मजे और दर्द से कराह उठी … और चुदाई का दौर चल पड़ा. उधर या तो फोन काट दिया जाता था या उठाया ही नहीं जाता था।25 जुलाई को उसने घर वाले पुराने नम्बर से खुद ही फोन किया.

मेरा लंड खड़ा होने के कारण लुंगी में तंबू बन गया था, तो मैंने लंड को नीचे दबाया और ऊपर अखबार लेकर पढ़ने का नाटक करने लगा. मैंने उससे उसकी शादी के बारे में पूछा तो उसने कहा- मेरे और वैभव के घर वाले पुराने परिचित हैं. फिर मैं घुटनों के बल चलती हुई उसके लन्ड के पास आई और बगल में रखा हुआ साबुन लेकर उसके लन्ड पर रगड़ने लगी.

बीएफ सेक्सी चूत हिंदी इस बार मेरी चूत को खोलते हुए उसका लंड आधे से ज्यादा मेरी चूत में घुस गया. क्योंकि ये क्लब शुरू मैंने ही शुरू किया था, तो जो माल मुझे भा जाती थी, मैं उसके साथ चुदायी का नंगा नाच खेल लेता था.

बीएफ एक्स एक्स एक्स वीडियो हिंदी

”वो … उसने मेरी जानकारी के बिना ये फोटो ले लिए थे।”पर वह इन फोटोज और वीडियोज के साथ तुम्हें ब्लैकमेल भी कर सकता है?”सुहाना किमकर्त्तव्यविमूढ़ बनी मेरी ओर देखती रही।चलो कोई बात नहीं जवानी में अक्सर ऐसी भूल हो जाती है। तुम चिंता मत करो … मैं तुम्हारी इस परेशानी को भी दूर कर सकता हूँ. बिन्दू पहली बार झड़ी थी, उसे नहीं मालूम था कि झड़ने में इतना मजा आता है. मैं- तो क्या हुआ?वो- क्या हुआ! तुम जो भी किए … चलो किए … जब तुमने वहां हाथ लगाया तो जैसे मुझमें बिजली सी दौड़ पड़ी थी.

अब मुझसे रहा नहीं जा रहा था और मेरा 7 इंच लम्बा लंड अब तनकर पूरा खड़ा हो गया था।अंकल मुझे किस करते हुए मेरे लंड को पकड़कर आगे-पीछे कर रहे थे. देसी भाभी की चूत स्टोरी में पढ़ें कि मेरे पति अब मुझे नहीं चोदते थे. ब्लू फिल्म चोदने वाली वीडियोअब वो तेल और थूक से लसड़ी उंगली प्रकाश भाईसाब ने मेरी गांड में डाली.

दोस्तो, मेरी पिछली दो कहानियोंसाले की टीनऐज बेटी की मस्त चुदाईक्लासफेलो लड़की की सील तोड़ कर चुदाईको आपने बहुत ही पसंद किया.

मेरे लम्बे नागिन से काले घने बाल, मेरी गांड तक लहराते हैं मेरी चूत भी हल्की गुलाबी सी है. तभी मुझे नीचे से किसी के ऊपर आने की आवाज आई, तो मैं झट से पीछे होकर सीढ़ी के नीचे छिप गया.

रात को खाना खाने के बाद मैं टहलने निकलता तो पंजाबन के घर के इर्दगिर्द टहलता ताकि दीदार हो जायें. मैंने कहा- प्लीज सर आप यह बात किसी को मत बताना कि आपने मुझे चोदा है और रोहन को खासकर … वरना मेरी बहुत बदनामी होगी. मम्मी मुस्कुराती हुई बोली- आप यह क्या कर रहे हैं?तो वो अंकल हंसते हुए बोले- वही जो एक आदमी को एक औरत के साथ करना चाहिए! और क्या?मम्मी बोली- मैं तो आपके दोस्त की बहन हूँ ना … तो आपकी भी तो बहन ही हुई ना? हम दोनों के बीच ये गलत है।तो वो बोला- साली कुतिया … ये क्या नाटक कर रही है?मम्मी हंसने लगी.

रही बात मुँह दिखाने की, तो कुदरत ने चूत को ऐसा बनाया है कि जब तक लड़की या औरत न चाहे, तब तक कोई भी मर्द उसको समझ नहीं सकता.

उसके दोनों पैर फैला कर उसकी पैंटी से ढकी चूत के ऊपर अपना लंड पेंट के साथ से ही रगड़ दिया. उन दिनों की उन घटनाओं को गहराई से सोचा तो बात जंच गई और उन्हीं सब बातों को लेकर यह कहानी गढ़ने की शुरुआत की. ‘ओह्ह रीता … आह्ह … यस्स आआ … आहह … यस्स ओह्ह’ करते हुए उसने सारा माल रीता की गांड में गिरा दिया.

ब्लू वीडियो ब्लू विडियोअब मैं उठ गया और खुद पर काबू करते हुए आंसू पौंछे और नेहा से कहा- अगर तुम्हारा काम हो चुका हो तो तुम जा सकती हो. मैं फ्रेश होने लखन के साथ लोटा लेकर दूर खेतों में जाता, फिर हम दोनों दातुन करने लगते.

40 साल बीएफ

अब तक की मेरी इस सेक्स कहानी में आपने पढ़ा कि हम सभी चिकने चिकने लौंडे गर्मियों की छुट्टियों में नहाने के लिए तालाब पर तैरना सीखने जाते थे. थॉमस ने मुझे बेड पर लेटा दिया और खुद भी मेरे ऊपर आ गया और मुझे इधर उधर चूमने लगा. फिर वो बोली कि हमें एक रोल प्ले करना चाहिए जिसमें मैं वो तरीके अभी आज़माकर देख सकता हूं.

उसने कहा- वैसे तो मेरी किसी दिन छुट्टी नहीं होती है, मैं छुट्टी लेती भी नहीं हूँ … क्योंकि में अकेली रहती हूँ. मैंने पूछा- किधर?आया ने बताया कि वे मुझे स्कूल के अन्दर वाले प्रार्थना हॉल में बुला रहे हैं. नेहा ने अपनी मम्मी को बोल दिया कि वह रोहित से नफ़रत करती है और अब उससे कभी बात नहीं करेगी.

क्यों? उसमें तो तुम बहुत ही खूबसूरत लगती हो?”हओ”पता है तुम्हें उस ड्रेस में देखकर मेरे मन में क्या आया?”क्या?”मैं सच कहता हूँ तुम्हें उस ड्रेस में तुम इतनी खूबसूरत लग रही थी की मेरा मन तुम्हें बांहों में भरकर चूम लेने को करने लगा था. क्या मैं जो समझ रही हूँ … वो सही है?मैंने कहा- मुझे नहीं पता कि तुम क्या समझ रही हो. मेरी चूत से उबलती हुई पानी की धार मेरी मोटी जाँघों से होकर नीचे फ़र्श तक जा रही थी।मैं बीच बीच में चूत से उंगली निकाल कर अपने मुख में लेकर पानी का स्वाद ले लेती। इन्ही सब के दरम्यान लगभग 10 मिनट बाद उसने अपने धक्कों की स्पीड बहुत ही तेज कर दी और जोर जोर से आहें भरने लगा।अब मैं समझ गयी कि उसका माल निकलने वाला है.

जंघाओं पर गांड पर पीठ पर कंधे पर सभी जगह लंड की सैर कराते हुए मैं प्राची भाभी को और बेचैन कर चुका था. मैंने लंड को वापस खींच लिया और एक ही झटके में पूरा लंड भाभी की चूत में दे मारा.

मुझे जो चाहिए होता है, वो सामने से आ जाता है … एक बार फिर ये बात सिद्ध हो चुकी थी.

मैं उसको अपने भार से दबा कर उसकी चूची को चूसने लगा और चूसता ही चला गया. गंदी शायरी सुनाओमैंने जुनैद की आंखों में देखा, तो उसकी वासना से भरी लाल आंखें मेरी सीलपैक बुर पर ही लगी थीं. किन्नरों की चुदाईमुझे तेरी गांड में लंड डालते ही पता लग गया था साले कि तू कहीं से अपनी गांड मरवा कर आ रहा है … उससे फड़वा कर आया था और मादरचोद दोष मुझे दे रहा है?प्रकाश भाई की कड़क आवाज सुनकर नसीम चुप हो गया और दांत निपोर कर बेशर्मी से हंसते हुए ‘भाई साहब … भाई साहब. ये कहते हुए उसने मुझे इशारा किया तो मैंने दो पैग बना कर जाम टकराए और दारू अन्दर कर ली.

वो बोली- पहले घूम कर आ जाते हैं उसके बाद ये सब करने के लिए सारी रात पड़ी हुई है.

पर मुझे वो न तो वो मजा दे पाया, जो मैंने उम्मीद की थी … और न ही मैं पिछले डेढ़ सालों में मां नहीं बन सकी थी. गरीब परिवारों में बेचारी लड़कियों की भावना के बारे में कोई नहीं सोचता बस किसी तरह पैसा आना चाहिए।अगर तुम्हें सौ रुपये और मिल जाएँ तो तुम क्या करोगी?”मैं तो बल्गल और आलू की टिक्की खाऊँगी और साथ में पेसपी (पेप्सी) पीउंगी. अमन मेरे मोटे लन्ड को पकड़ कर हिलाते हुए नीरा की चूत में फिर से डालने लगा.

उनके घर से निकल कर थोड़ी दूर जाकर मैंने बाइक रोकी और गुड़िया को फोन करने लगा कि उसको बता दूं कि अब जा रहा हूँ. प्यार हो तो पति काचूत हो तो स्त्री कीऔर ठुकाई हो तोअनिकेत के लंड कीअब आगे की सेक्स कहानी अनिकेत की कलम से पढ़िएगा. मैंने उन्हें पटा लिया और अम्मी की चुत गांड दोनों चोद कर मजा ले लिया.

सेक्सी बीएफ चाहिए हिंदी में सेक्सी बीएफ

वो कुछ सेकेंड रुका और एक जोरदार झटके से अपना पूरा का पूरा लंड मेरी चूत के अन्दर उतार दिया. मैं अपने पति के सामने एक गैर मर्द के सामने चुदने में काफी ज्यादा उत्तेजना महसूस कर रही थी और चिल्ला चिल्ला कर चुत में लंड ले रही थी. मुझे पूरा यकीन है कि इस सेशन के बाद जब तुम उससे मिलोगे तो वो ऐसे ही रिएक्ट करेगी और तुम्हारी सारी सेक्स इच्छाएं पूरी हो जाएंगी.

मैंने लंड चुत से खींचा और उनकी चूत पर लगी हुई चॉकलेट को धीरे धीरे चाटना शुरू कर दिया.

रश्मि ने हां में अपनी गर्दन हिलाई और रमेश का हाथ उसके टॉप के निचले छोर को पकड़ कर ऊपर उठाने लगा.

हुआ यूं कि मेरी सास की तबियत अचानक खराब हुई और मेरी पत्नी एक सप्ताह के लिए मायके चली गई. चूंकि वहां पर ट्रेन से माल भी उतर कर ट्रकों से शहर जाता है, तो शायद उन्हीं माल को उतारने वाले मजदूर थे. रानी सेक्सीभाभी ने अपनी नाजुक उंगलियों से मेरे अंडरवियर को जैसे ही नीचे किया, मेरा 8इंची लम्बा मोटा लौड़ा झटके से बाहर निकल कर मेरे पेट पर लगा.

सुना था कि पहले बच्चे के साथ स्त्री का दूसरा जन्म होता है, मुझे भी वही लग रहा था. इस बार जब मैं पीछे से शाजिया की चूत में लंड पेल रहा था, तब शरद सामने से उसके होंठ को चूम रहा था. मुझे जो चाहिए होता है, वो सामने से आ जाता है … एक बार फिर ये बात सिद्ध हो चुकी थी.

ऐसा बोलते ही मेरे एक हाथ ने लंड को हिलाना शुरू कर दिया और मेरे मुँह से मादक सिसकारियां निकलने लगीं. मेरा लंड अब भी मामी की चुत में था और मामी की मादक सिसकारियां चीखों के मानिंद निकल रही थीं.

नेहा की चुदाई करते हुए मैं बार बार घड़ी की और भी देख रहा था लेकिन साथ ही मैं यह भी चाहता था कि नेहा की पहली बार में ही ऐसी चुदाई कर दूं कि वह मेरे लंड की दीवानी बन जाए.

दोस्तो, आपको मेरी यह X स्टोरी इन हिंदी कैसी लगी मुझे मेरी ईमेल आईडी पर मेल करके जरूर बताएं. ’ करते हुए मेरे मम्मों को मसलने लगा, जिससे मैं और ज्यादा उत्तेजित होने लगी. फिर अंकल ने लंड मम्मी की गांड से बाहर निकाल कर चूत में डाल दिया और जोर से धक्के मारने शुरू कर दिए.

त्रिवेणी घाट उसके लिए तुम्हें अभी आना होगा चुदवाने।मैंने कहा- नहीं, सेमीफिनल के बाद करूंगी।सुनील ने कहा- नहीं सॉरी, या तो अभी … वरना मैं तो पढ़ ही रहा हूँ कल जीतने के लिए।मैंने सोचा चुदवाना तो अब भी है और कल भी. फिर उसकी गांड को तेजी के साथ चोदते हुए अपने माल से उसकी गांड को भर दिया.

इसके बारे में मैंने आपको पिछली एक कड़ी में बताया था और इसके लिए नेहा को खुशी की फटकार भी सुननी पड़ी थी. मैंने पेंटी उतार कर देखा, तो उसकी चूत पर हल्के काले बाल उगे हुए थे. मैं उसके लंड को हिलाए जा रही थी और बीच बीच में उसके टोपे को चूस भी रही थी.

एक्स एक्स एक्स बीएफ दिखाएं वीडियो में

कभी उसकी जीभ लंड के अगले हिस्से पर घूमती तो कभी नीचे उसकी गोलियों पर।निशांत के मुंह से आह … आहह … करके सिसकारी निकल रही थी. अगर मेरी बात का बुरा लगे तो माफ कर देना।मैंने कहा- नहीं अंकल, आप कहिए तो सही. उसके बाद थॉमस ने मुझे बेड पर लेटा दिया और मेरी नाइटी के बटन खोल कर मेरी नाइटी उतार कर रोहन के ऊपर फेंक दी.

मैं तो यही सोच रही थी कि बस … मगर 10-11 मिनट में तुमने क्या क्या कर दिया … पूछो ही मत!मैं- क्यों?वो- क्यों क्या … घर आने के बाद में 10 मिनट तक बैठ कर यही सोच रही थी कि तुम कहां कहां क्या क्या कर रहे थे … मेरे गले पर सीने पर … और तुमने वहां भी हाथ लगा दिया था. मेरी चूत अपने रस की बौछार कर बैठी थी जोकि मेरे चूत के साइड में बचे थोड़ी जगहों से पूरा जोर लगा के बाहर निकली.

वे हंस पड़े- सलीम से … सच कहना अन्दर डाल पाया था या नहीं … उसने डाला भी था?मैं चुप रहा तो वे बोले- चोरी पकड़ी गई न … तो तेरा ये पहली बार है, तभी तो इतनी परेशानी आ रही है.

मुझे बहुत मजा आ रहा है … मैं अपनी जिंदगी पहली बार इतने मजे ले रही हूँ. मैंने खड़े खड़े ही लण्ड को भाभी की चूत पर लगाया और भाभी को उनके चूतड़ों से पकड़ कर लण्ड अंदर डाल कर चोदना शुरू किया. नेहा ने कहा- माना कि आप भावुक इंसान हैं, पर नासमझ तो बिल्कुल नहीं हैं.

आप भी आरूषि जैसी बहुत सारी हॉट वेबकैम मॉडल्स के साथ सेक्स चैट का मजा ले सकते हैं. मगर अब शायद इसको पता लग गया है कि मेरा इमो हैक है तो अब ये 1 हफ्ते से इमो नहीं चला रही है क्योंकि एक दिन गलती से मुझसे इमो में वॉयस कॉलिंग की बटन दब गयी थी मैंने तुरन्त काट दिया था. फिर मैंने भी कंट्रोल खो दिया और मेरे लंड से वीर्य की पिचकारी उसकी चूत में लगने लगी.

कुछ ही देर में मेरा लंड फिर से ताव में आने लगा साथ ही मैं निष्ठा की गांड का छेद लंड से टटोलने लगा.

बीएफ सेक्सी चूत हिंदी: इस बीच मुझे याद आया कि राजू ने बताया था कि वो रोज रात को ख़ुफ़िया रास्ते से हॉस्टल में आता है. इतनी देर में हमारे एक साथी ने उनके उतारे हुऐ कपड़े इकठ्ठा किया और दूर भाग गया.

पर लौंडा अगर माशूक हो, नमकीन हो, गांड मराने का हुनर भी आता हो, तो सोने में सुहागा जैसा होता है. मैंने उसका और अपना नाम लिखवा दिया क्योंकि इससे अच्छा मौका और नहीं मिलने वाला था चूत को शांत करने का। मैंने उसे भी पूरी प्लानिंग बता दी। वो भी बहुत खुश हुआ।अब हम दोनों मेरठ पहुंच गए तय दिन में … एक गेस्ट हाउस में हमारा कमरा बुक था। 5 दिन की ट्रेनिंग थी औऱ हमारे पास बहुत समय था अपने जिस्म की प्यास बुझाने के लिए। हम शाम को पहुँच गए। थोड़ी देर हमने आराम किया. शादी के एक महीने बाद ही मैं प्रेग्नेंट हो गई थी और प्रेगनेंसी के 2 महीने बाद मैं यहां मम्मी के पास आ गई थी.

अब पोजीशन ये थी कि भाभी की दोनों जांघों के बीच सीट का हैंडल था और उनके दोनों हिप्स मेरी जांघों में फिट थे.

चूंकि बगल में ताऊ जी की लड़की लेटी थी, तो मैं ज्यादा खुल कर कुछ नहीं कर पा रहा था. मामी ने मुझसे इशारे में एक तरफ आने के लिए भी कहा, मगर न जाने मेरी सारी चंचलता किधर घुस गई थी. मेरे एक दोस्त ने मुझे वीडियो चैट सेशन पर लाइव वीडियो सेक्स ट्राई करने का सुझाव दिया ताकि मेरे अंदर का संकोच दूर हो जाये और मैं अपनी ऑफिस सहकर्मी को पटा सकूं.