एक्स एक्स बीएफ सेक्सी वीडियो में

छवि स्रोत,लड़का का फोटो सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

अनुष्का सिंह की सेक्सी: एक्स एक्स बीएफ सेक्सी वीडियो में, इसके बाद मैंने मामी जी से कहा- आप अपनी गांड को ढीली रखना, अगर दर्द होने लगे तो बता देना, सिर्फ जरा सा दर्द होगा, जैसा पहली बार चूत चुदवाने में होता है वैसा ही होगा बस.

मामा सेक्सी व्हिडीओ

इतने में मनोहर जोर से मेरी कमर को उठाया और मेरी चूत में पूरा लंड अन्दर घुसा कर बोला- वन्द्या तेरी चूत और तू बहुत ही मस्त है. गूगल सेक्सी पिक्चर दिखाएंमंजू सिसकारियाँ लेने लगी- ओहह…अब मैंने मंजू को बिस्तर में पेट के बल लेटा दिया और मंजू अब मुझे अपने ऊपर खींचने लगी, जाहिर था कि गैर मर्द से चुदाई की बात सुन कर वो भी ललचाई हुई थी.

वो सब बाद में फिर कभी लिखूंगा, मेरे पुराने दोस्त और भाभियां तो मुझे और मेरे बारे में जानते हैं. राजस्थानी की सेक्सी औरतउनके पति एक कंपनी में जॉब करते थे और पूरे दिन भर घर में वो अकेली रहती थीं.

अब मेरा माल गिरने वाला था तो मैंने आंटी की चूत में ही अन्दर डाल दिया.एक्स एक्स बीएफ सेक्सी वीडियो में: मेरी नंगी पीठ पर चुभते उसके नाखून, अब ये बता रहे थे कि वो भी अब पिघलने लगी है.

खैर मैं उस लड़के महेश की बात कर रही हूँ, जो मेरे साथ स्कूल में ही पढ़ता था.वहाँ पर पहले से ही रात की चुदाई का प्रोग्राम सैट था इसलिए कोई बात ना किसी से कह पाई और ना ही सोच पाई.

बुआ भतीजी सेक्सी वीडियो - एक्स एक्स बीएफ सेक्सी वीडियो में

मुझे हैरानी इस बात की भी थी कि उसने मेरी बहन की पैंटी कैसे उतार दी!अब मैंने ये सोचा, तो मुझे भी कुछ होने लगा.मैं यही सोच कर एक दिन पिंकी से बोली कि पिंकी देख तो यह मेल मेरी आइडी पर कहाँ से आई है.

अगली सुबह भाभी को झुक कर झाड़ू लगाते देखा, तो भाभी की उठी हुई गांड देख कर मेरा लंड खड़ा हो गया. एक्स एक्स बीएफ सेक्सी वीडियो में ऐसे ही 14 फरवरी आ गई और मैंने उससे काफी शॉप में मिलने का प्रोग्राम बनाया.

मैंने फोन उठाया तो बोला- क्या रे, तूने फोन किया था?इतना सुनते ही थोड़ी जान में जान आई मैंने कहा- हां कहां मर गया था बे कमीने.

एक्स एक्स बीएफ सेक्सी वीडियो में?

फिर हमने बहुत सारी बातें की।और ऐसे ही रोज़ाना बातें करने का सिलसिला चालू हो गया. झड़ जाने के बाद उन्होंने अपना जिस्म पूरी तरह से मेरे हवाले कर दिया था. भाभी तनिक खुश सी हुईं, उन्होंने थोड़ी सी गहरी सांस ली और कहा- मुझे विश्वास नहीं है कि आपके जैसे हैंडसम को कोई गर्लफ्रेंड नहीं मिली.

उनके मोटे तने हुए चूचे और मोटी गांड देख कर मैं मुठ मार कर काम चलाता था. ऊहह… की आवाज करते हुए मंजू उठने की कोशिश की लेकिन वो फिर पस्त हो गयी. आज तक कई महिलाओं के साथ मेरे शारीरिक संबंध बने लेकिन उन में कोई भी ऐसी नहीं थी, जो मुझे डॉमीनेट करे.

बहुत सालों के बाद कोई जवान छोकरा हाथ आया है, वरना पांच सालों से पड़ोस के बुड्डे से ही काम चला रही हूं. वो फिर बोलेगी कि बड़ी है तब तू मैसेज करके बोलना कि माँ आपका साइज़ बता दो, मैं आपके साइज की ले आऊँगा और ट्रांसपेरेंट टाइप की ब्रा पेंटी लेना।वरुण- अच्छा ठीक है, वैसे मैं आज रात ही जयपुर जा रहा हूँ. तभी मैंने एकदम से पिचकारी छोड़ दी उनके मुँह में जो सीधे उनके गले में उतर गई.

फिर मैंने मनोज के सिर पकड़ कर अपनी चूत पर दबा दिया ताकि वो हिल ना पाए. बापू घुटनों पर ही था और सर ऊपर उठाकर पद्मिनी से कहा- बस अपना यह स्कर्ट ऊपर उठाकर बापू को अन्दर की जाँघ और अपनी पेंटी दिखा दे, मैं बहुत खुश हो जाऊँगा.

अब मेरे मुँह में ही दिनेश का लंड छोटा हो गया, मतलब कि दिनेश झड़ कर पूरा खाली हो गया.

दीदी चिल्लाने लगीं, मैंने उनका मुँह बंद किया और पूरा लंड अन्दर घुसा दिया.

मैंने जब पूरा गिलास एक सांस में खत्म किया तो वह मुझे देख कर हंस ड़ी और मुझे नमस्ते करके मेरे बाजू में बैठ गई. वो कभी मेरा पूरा लंड मुँह में अन्दर तक लेकर बाहर करती, कभी अंडों पर जीभ फिराती, फिर अंडों को मुँह में लेकर चूसने लगती. इन दोनों को थोड़ी देर आराम करने के बाद विक्रम मयूरी के रसीले होंठों को चूसने लगा… रजत ने मयूरी की पास ही पड़ी पैंटी से उसकी चूत को साफ़ किया.

मैं सिंगल की तरफ़ था और अकेला यह सोच के बोर हो रहा था कि न जाने ये बस से मैं कब जामनगर पहचूँगा. मैं पैर फैला कर बुर चटाई का मजा लेने लगी, मुझे बहुत ही मजा आ रहा था. चूंकि आग दोनों तरफ लगी थी, सो मैंने अपनी फ्रेंची उतार कर साइड में रख दी और उसके ऊपर आ गया.

आह… इतने मुलायम और चिकने मम्मे मैंने कभी नही देखे थे, मैं तो बस पागल हो गया और टूट पड़ा दोनों मम्मों पर!उधर दिव्या की सिसकारियां पूरे कमरे में गूंज रही थी।एक हाथ से मैं दिव्या की साड़ी खींचने लगा और उसे उसके बदन से अलग कर दिया.

राजू की एक बहन है, जिसका नाम अनीता (बदला हुआ) है, मैं उनको अनीता दीदी कह कर बुलाता था. मैं 2-3 मिनट तो चाची के ऊपर ही पड़ा रहा, फिर चाची ने मुझे उनके ऊपर से उठने को कहा. मैंने भी अपने हाथ उसकी कमर से नीचे सरकाकर उसके गोल गोल चूतड़ पर फिरा दिए.

मैंने एक गीले कपड़े से पूरी चूत को साफ किया और पीछे गांड को भी अच्छे से साफ कर लिया. पहले तो सुरेश जी फ्रेश हुए और फिर मैंने उनका 2 बार लंड चूस कर पानी पी गया. जब वो अपने दोनों हाथों को ऊपर किए हुए थीं, उस समय आंटी की भरी हुई चुचियां एकदम सामने से दिख रही थीं.

वरुण- दिखाओ?सेल्समैन- मैडम का साइज क्या होगा?वरुण- साइज का तो आईडिया नहीं है, तुम्हें क्या लगता है क्या साइज होगा?सेल्समैन- सर, मेरे हिसाब से 36 आयेगा मैडम को!वरुण- एक काम करो 34 निकाल दो, मैं ट्राई करवा लेता हूँ.

शादी के दौरान जूसी रानी की बहन रेखा और उसके पति शशिकांत से एक बार परिचय तोहुआ था लेकिन शादी की भागमभाग में सब दिमाग से निकल गया था. तो दोस्तो, आप सभी को मेरी चुदाई की कहानी कैसी लगी, प्लीज़ प्लीज़ मेरे को ज़रूर बताना!मेरी ईमेल आईडी है.

एक्स एक्स बीएफ सेक्सी वीडियो में इस सब में मजा तो बड़ा आता लेकिन मैंने कभी भी भाभी के बारे में गलत नहीं सोचा था. उस दिन मैंने साड़ी पहने हुई थी, जो कि साड़ी मैंने नाभि के नीचे से बांधी थी और गहरे गले का ब्लाउज पहना था, जिससे मेरे बूब्स थोड़े बाहर दिखाई दे रहे थे.

एक्स एक्स बीएफ सेक्सी वीडियो में उसने अपना चेहरा हटाया- वाह रे, किस पे प्रैक्टिस की तूने?कीकु बोला- क्यूँ बे प्रभु, तू इसका रूमी है ना?हम सब हँसने लगे. वो भी यदि तुमने मेरे बताए नियमों का पालन किया तो!वल्लिका- नियम बताइए प्रभु.

मेरे हाथ लगते ही उसकी सांसें तेज होने लगी और जोर से आहों की आवाज़ आने लगी.

पिक्चर वाली बीएफ

मैंने कहा- क्यों?बोली- दर्द होगा तो कैसे चुप रहूँगी?मैंने कहा- फिर कैसे होगा?बोली- तुम इस बार मेरी चिंता मत करना, वो तो एक बार दर्द होगा ही. वो जल्दी से अपने कपड़े पहनने लगे तो मैंने उनसे कपड़ों को छीन कर दूर फेंक दिया और बोली- अब क्या छुपा रहे. फिर प्रीति को अपने चूतड़ों पर कुछ महसूस हुआ तो उसने एकदम से मेरे लिंग को एक हाथ से पकड़ लिया और उठ कर बैठ गयी.

उसकी नंगी पीठ, उस पर बिखरे हुए बाल, बड़ी सी परफेक्ट शेप वाली उठी हुई गांड. कुछ कसमसाहट के पश्चात उसने लंड को चूत में एडजस्ट किया और मजे से चुदने लगी। वह आह…. वो बिल्कुल बुड्ढे थे, मैं छोटी सी लड़की थी, वो मुझसे उम्र में लगभग चालीस वर्ष के बड़े थे.

फ़िर भी मुझे सामने चूत दिख रही थी तो कब तक मेरे जैसा जवान खुद को रोक सकता था.

उन दोनों की बातों से पता चला कि मास्टर ने पट्टियाँ लगवाई थीं और मैडम जी को अन्दर ले गए थे. मैंने अपने लिंग और उनकी गांड के छेद पर उनकी सौंदर्य चिकनी क्रीम लगाई और उनकी गांड में अपना लिंग घुसा दिया। दीदी शायद उनके स्खलन के बाद थोड़े समय का अंतराल चाहती थी लेकिन मैं पागलों की तरह उनके शरीर पर टूटना चाहता था।जैसे ही मैंने अपनी सगी दीदी की गांड में अपना लिंग प्रवेश किया, उनकी जोरदार आवाज आह निकल गई. वो अपनी जीभ को मेरी चूत में घुसा दे रही थी जिससे मुझे और ज्यादा उत्तेजना हो रही थी और आखिरकार मैं उसके मुँह में झड़ गई ‘अअआ हहहह उम्म्ह… अहह… हय… याह… हहहह हहह अनुप्रिया अअइइई!फॅच च्च च्चच ख्चच से उसके मुँह में सारा पानी छोड़ दिया और उसने भी बड़े मजे से मेरी चूत का रस पिया।फिर हम दोंनों एक दूसरी के साथ चिपक कर लेट गयी.

उनकी धमकी से मैं बेहद डर गई और चाचा से बोली- ठीक है चाचा पर सिर्फ दो मिनट के लिए ही. थोड़ी देर में मैंने उन्हें थोड़ा सा ऊपर उठा कर उनकी मैक्सी उनके शरीर से अलग कर दी, इसकी बाद वो पूरी तरह नंगी हो चुकी थीं. वो जानबूझ कर पहले बच्ची के होंठों पर किस करती थी और फिर उससे मेरे होंठों पर किस करवाती थी.

आह कितना मज़ा आयेगा इसे भोगने में… देखने से कम उमर की और कुंवारी सी दिखती है … हो सकता है अभी तक सील पैक हो इसकी चूत … या चुद चुकी होगी गाँव में … हावभाव से तो प्यासी सी लगती है, चुद भी चुकी होगी तो ज्यादा से ज्यादा पच्चीस तीस बार चुद ली होगी … इतने से चूत का कुछ बिगड़ता थोड़े ही है. मैंने दीदी की ब्रा को ऊपर उठाया और दोनों कबूतरों को आज़ाद किया, गजब का नशा था.

मैंने सोचा कि चाचा को फोन करके सब बता देता हूँ, लेकिन सोचा कि अभी देखते हैं, जब ज़्यादा ग़लत लगेगा तो चाचा को फोन करूँगा. कहानी का पिछला भाग:मेरे पति का दोस्त मेरा दीवाना-1मगर सच यह था कि मैं उसके लंड को सिर्फ छू कर ही इतनी गर्म हो चुकी थी कि मेरा अभी सेक्स करने को दिल कर रहा था, मगर अभी करती तो कैसे करती।रवि बोला- अरे जादू है क्या, जब तुम इससे प्यार करोगी, तो अपने आप खड़ा होगा, फिर देखना।उसके बाद रवि ने मुझे काफी समझाया. फिर वो मेरे लंड को लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी और सिसकारियां करने लगी.

उसने झट से पहले अपनी उंगलियाँ मयूरी की चुत पर रखी और फिर उसने बिना समय गंवाए अपनी जबान उसमें डाल दी.

अब में सिर्फ़ अपने सुपाड़े को ही धीरे-धीरे उनकी गांड में अन्दर बाहर करने लगा था. हम दोनों उठ कर बैठे, बिना कपड़े पहने और बस एक दूसरे को प्यार से देखने लगे. ये होना नहीं चाहिए था, क्योंकि अब तक का मेरा एक्सपीरियेन्स कुछ और ही रहा था.

फिर क्या था जैसे मैंने उसकी चूत को चाटा था वैसे ही वह मेरी चूत को चाटने लगी और बोली- मेरी जान, तुम्हारी चूत तो बहुत गीली है, क्या मैं इसे साफ कर दूँ?मैंने कहा- हाँ जानू, इसकी गर्मी को भी शांत कर दो!फिर क्या था… वह मेरी चूत को चाटने लगी और करीब 20 मिनट तक उसने मेरी चूत को चाटा. जब पानी निकल गया, तब हम दोनों को होश आया कि कंडोम तो लगाया ही नहीं था.

तो जूही बोली- हाँ अपन अब रोज बैट बॉल खेलेंगे!फिर मेरे को बाद में दोस्तों से पता चला कि वह बैट बॉल का खेल नहीं है वह तो सेक्स है. जेम्स ने रितु को बेड पर लिटाया और उसकी दोनों टाँगें चौड़ी कर उसकी चूत पर अपना मुंह लगा दिया और चाटने लगा. मैं शांत सी हुई तो अंकल ने एकदम से एक ज़ोरदार झटका मार के लंड अन्दर डाल दिया.

xñxxx com

मेरे टीचर मेरी स्कर्ट में हाथ डालकर बोले- वन्द्या, मैं तुम्हें बहुत पसंद करने लगा हूं, तुम बहुत सेक्सी हो.

कुछ ही पलों में लंड ने लावा उगल दिया और सारा पानी भाभी के मुँह में चला गया. मैंने अक्षत के लिए जल्दी से चॉकलेट का पैकेट लिया और घर के बाहर पहुँचने तक उसको दे दिया, जिसको देख कर अंकिता मुस्कुरा दी. क्या कर रहे हो कितना तड़पा रहे हो दामाद जी!मैंने उनके पेटीकोट के नाड़े में अपनी उंगलियां फंसाईं और उसे खींच दिया.

सुजाता 10वीं में थी और मैं 12वीं क्लास में था क्योंकि गाँवों में देर से ही पढाई शुरू होती है. वो पढ़ा लिखा है मगर उसकी किस्मत उसकी शादी के बाद से ही उससे रूठ कर चली गई है. नया सेक्सी दोवो सो रहा था, मैंने उसे जगाया और पूछा कि इस वक्त सो क्यों रहे हो?मेरे पूछने पर उसने बताया कि सब खेत में गए हैं और उसको बुखार था, इसलिए आज वो स्कूल नहीं आ पाया और वो दवाई पी कर सो गया था.

मैंने कहा- उसको चाट लो, बहुत अच्छा लगेगा!वो बोली- दीदी, मैंने कभी चाटा नहीं है, क्या आप चाटती हो?मैंने कहा- हाँ, बहुत अच्छा लगता है।फिर मैं उठी और अनुप्रिया की चूत को खूब चाटने लगी. मैंने कहा- फिर अगर तुमको कोई लंड चूत में लेना ही था तो मुझसे भी बाँट लेती ना.

मैं भी झड़ने के करीब था तो मैंने पूछा कि कहाँ लेगी?तभी निक्की ने कहा- मेरी चुत में लगा दे लंड. मैंने ओके कहा तो उसने मुझसे बोला कि जब तुम ये अन्दर डालो, तो मेरा मुँह बंद कर देना. बापू ने कहा- अरे, मैंने जैसे तेरी पेंटी उतारा था, वैसे ही तू भी उतार ना बेटी.

तुम्हारे भैया शादी के कुछ दिन तक तो करते रहे थे, फिर जॉब के कारण सिर्फ जब आते हैं. बस फिर मैंने थोड़ा सा और धक्का लगा कर अपना आधा लंड उसकी गांड में सरका दिया. मैंने अपना सात इंच का लंड हाथ में पकड़ कर बीवी की चुत के छेद पे रख दिया और लंड को दबाते हुए पूरा लंड चुत में पेल दिया.

मैं नाश्ता करते हुए उन्हें निहार रहा था, अब उनको देखने का मेरा नजरिया बिल्कुल बदल चुका था.

हम दोनों वहीं पर किस करने लगे, उस वक़्त मेरा लन्ड खड़ा हो कर टाइट हो गया. उसने टॉप और ढीला सा लोवर पहन रखा था। मैंने धीरे धीरे उसके टॉप को उतारने की कोशिश की और उतार कर अलग डाल दिया.

तुम वहाँ पर एक मासूम सी लड़की बन कर रहना और अगर कोई अच्छा लड़का तुम्हारी नज़र में हो, तो पहले मुझे बताना. वहां पर दो अफ्रीकन लड़कों ने किराये पर फ्लैट लिया था और उनमें से एक तो पूरा बॉडी बिल्डर था और उसका कद करीब साढ़े छह फुट के आस पास था. अब चूत की परपराहट भी कम होने लगी थी और लंड के प्रीकम से चूत को चिकनाई मिलने लगी थी.

मैंने उससे कहा- तुम बताओ, तुमको मैं पसंद हूँ या नहीं?उसने कहा- अगर पसंद ना होतीं तो मैं अपनी दीदी की इतनी खुशामद ना करता. मेरी टीचर ने मुझे पढ़ाई के बहाने से सेक्स कहानियों की किताब देकर पढ़वाई और फिर मुझे अपनी वासना का खिलौना बनाना चाहा, मेरे मुँह में अपना लन्ड चुसवाया, फिर मैंने खुद गुड्डे गुड़िया की शादी का खेल खेलने के बहाने से अपनी दीदी के बेटे, उसके दोस्त और अपनी मौसी के लड़के से अपनी कामुकता का इलाज करवाने का सोचा, पर मेरे पड़ोस के एक चाचा और उनके दो दोस्तों ने मुझे देख लिया था. आज ही उसकी चूत की सील उसके अपने बड़े भाई ने तोड़ी थी और अब छोटा भाई उसकी चूत में जैसे चटनी कूट रहा था.

एक्स एक्स बीएफ सेक्सी वीडियो में मुझे सबसे ज्यादा अजीब लगा कि दीदी के ससुर मम्मी हाथ पकड़ पकड़ कर मजाक कर रहे थे। दीदी के ससुर की उम्र 43 साल थी, वो हेल्थी आदमी थे, उनकी वाइफ नहीं है, घर में सारे मर्द थे बस मेरी दीदी ही थी उस घर में।रात दीदी ने सबको खाना खिलाया, फिर सब लेटने की तैयारी करने लगे. और आप ने मेरी पिछली कहानीभाभी की चूत की चुदाई करके स्वर्ग का मजा लियापढ़ी ही होगी? नहीं पढ़ी तो जरूर पढ़ें.

इंडियन बीएफ एचडी व्हिडिओ

इससे पहले कि मैं कुछ बोलती, उसने अपने होंठ मेरे होंठों पर रखे और किस करने लगा. थोड़ी देर बाद मनोज आया और बोला- क्या बात है? लगता है आज कुछ उदास हो?मैंने कहा- तुम सही कह रहे हो. फिर मैंने ब्लैक कलर की फैंसी वाली ब्रा पेंटी, जिसमें बॉर्डर पर केसरिया कलर की डोरी लगी थी.

उन्हें इस बात से अब कोई फर्क नहीं पड़ता था कि वो दोनों सगे भाई-बहन हैं. हम एक जंगली की तरह एक दूसरे को चूम रहे थे, जैसे अब कभी हमको यह मौका मिलेगा ही नहीं. हॉलीवुड की हॉट सेक्सी मूवीउसकी दोनों टाँगें उपर कर के उसकी गान्ड पे फिर से अपना लंड सेट किया.

तो क्यों ना इस संबंध का पूरा फायदा उठाया जाए। संबंधों को सेक्स संबंध तथा यारी को याराना बनाया जाए। ऐसा मौका सबको नहीं मिलता। वैसे तुम्हारा मन एकदम से बदल कैसे गया?श्लोक- क्या बताऊं जीजू, मैं अपने मन को दीदी से हटा नहीं पाया.

मैंने अपनी आदत अनुसार उसके शर्ट के अंदर हाथ डाल कर कमर को पकड़ लिया और किस करते करते उसकी शर्ट उतारने लगा. अब मैंने अपने आज के मुख्य लक्ष्य की तरफ़ जाने का फैसला किया यानि कि मामी की गांड मारने की तरफ आ गया.

उस रात तब तक भाभी मेरे लंड को ही चूस पायी थी कि अचानक उसके पति रवि के आवाज लगाने के कारण वह वहां से चली गई और मैं सो गया. इस वक्त मुस्कान ने लाल रंग का सूट पहन हुआ था और वो भी एकदम कसा हुआ. मैं उनको बेड पे ले गया और बड़े ही प्यार से उनके कपड़े निकाल दिए और उनके होंठों को चूमने लगा.

जब मैंने सैमी को देखा, तो मैं घबरा गई और तेजी से मुड़ कर वापिस जाने लगी.

उसे बाद में पता लगा कि वो उन लड़कों को ब्लैकमेल कर रहा था कि जल्दी से पैसे निकालो वरना में पुलिस बुलाता हूँ कि तुम लोगों ने एक मासूम का *** कर दिया है. थोड़ा जंगल जैसा पार्क था और अन्दर जाने के बाद कुछ ही दूर गए होंगे तो झाड़ी के पीछे से ‘अअहहहहह… ऊऊहहह. फिर मैंने कमलेश भाई को पूछा तो उसने बताया कि ये औरत कोई बड़े सेठ की बीवी है और उसका हज़्बेंड उसको संतुष्ट नहीं कर पाता होगा, इसलिए ये महीने में चार बार आती है.

कटरीना कि सेक्सी विडियोइससे मेरी गांड की खुजली और बढ़ जाती, तो मैं उस पेन्सिल को गांड में से निकाल कर चाटता और चूसता. उसने कहा- अभी मुझे कुछ नहीं चाहिए, पर हां जल्दी ही मैं तुमसे जो कुछ मांगूगी.

हिंदी बीएफ देखने वाला

उसने अगले ही पल मम्मों को दबाना शुरू कर दिया और गुलाबी निपल्स को चूसना चालू कर दिया. चूंकि मैंने अपनी सीट ऑन लाइन बुक कर दी थी इसलिए मैं बस में अपनी रिजर्व सीट देखने लगा. क्या प्राब्लम है?मैंने बताया तो कहने लगीं- अगर इसे ऐसे कर रहे हो तो मत करो बल्कि मैं जैसा कहती हूँ, वैसा करो.

मगर बापू क्या उसके रोके रुकने वाला था, उसने चुची को छोड़ कर अपना मुँह पद्मिनी की जांघों पर फेरना शुरू कर दिया. तीनों ने अपना कॉलेज और कोचिंग छोड़कर तब तक घर में रहने का निर्णय लेते हैं जब तक उनके माता-पिता वापिस नहीं आ गए और इस दौरान घर में बस चुदाई ही चुदाई चलती रही. अपने को फिट रखने को जिम जाता हूं, डाइट कन्ट्रोल रखता हूं, बन ठन कर रहता हूं। सब किया है.

मैंने रिसेप्शन पर पूछा- अभिलाषा कहां है?तो मुझे जवाब मिला कि अभिलाषा मैडम तो 6:00 बजे छुट्टी करके चली गई. फिर मैं टाइम देख कर भाभी को लाने बस स्टैंड गया और भाभी को लेकर अपने घर आ गया. कुछ देर बाद वो अकड़ गई और झड़ गई इसके कुछ देर बाद मैं भी झड़ने वाला था.

मैंने अंकल से रूम को किराए पर लेने की बात करते हुए उन्हें अपने बारे में बताया. काफ़ी देर तक इंतजार करने के बाद वल्लिका को बाबा से मिलने का मौका मिला.

नजर लगाएगा क्या?मैंने भी कह दिया- नींबू मिर्च लटका लीजिए अपने जूड़े में, वर्ना पक्का मेरी नजर लग जाएगी.

चुत की आग भुजाने की कहानी आपको कैसी लगी, मुझे मेरे इमेल पर मेल करके बताएं![emailprotected]. सेक्सी खून निकलने वाली वीडियोड्रेस भी ऐसी पहनी कि जैसे ही वो मेरा टॉप खोले तो मम्मे बाहर निकल कर उसके मुँह पर जा लगें. कम उम्र की लड़की के साथ सेक्सीरूबी की चूत आग उगल रही थी, वो अपने बूब्स दबा के आहें भर रही थी, सिसकारियाँ मार रही थी. पम्मी हम दोनों को लंड और चूत चुसाई का मजा लेते हुए देख रही थी कि कैसे जंगली से हम एक दूसरे को चूस रहे थे.

वाह… क्या खुशबू थी… मेरी बहन की चूत की खुशबू ने मुझे और पागल बना दिया, मैंने उसकी चूत को चाटना चूमना शुरू किया और उसके मुँह से ‘आह… उम्म… आह… की आवाज़ की सिसकारियां निकलने लगी.

तो आंटी बोली- मैं क्या अचार डालूं इस चाबी का? चलानी तुम्हें ही है…मैं तो खुशी के मारे पागल हो गया, मैंने स्कूटी को सेल्फ मारी, आंटी मेरे पीछे बैठी और क्या बताऊं दोस्तों क्या फीलिंग थी? आंटी की गांड एक तो बड़ी है, और मैंने भी मस्ती किया, जितना पीछे हो सके उतना बैठा था. मेरी सील पैक चुत को सुहागन बना दिया और अपना वीर्य भर कर मुझे भी एक सुहागन औरत बना दिया है. तब पद्मिनी ने अपने बाँहों से बापू के गले को ज़ोर से जकड़ते हुए आँखें बंद कर लीं और बापू को वह सब करने दिया, जो वह कर रहा था.

अब मैंने उसको बिस्तर पे लेटा कर उसकी ब्रा और पैंटी को आजाद कर दिया. मुझे यूं घूरते देख कर वो बोल पड़ी- इतना घूर कर क्या देख रहे हो? कभी चूत नहीं देखी क्या?मैंने बोला- चूत तो बहुत देखी हैं, मगर सिर्फ पोर्न फिल्मों में ही देखी हैं. धन्यवाद मित्रो! आप सभी को, अन्तर्वासना के सभी रचनाकारों को प्यार औरमेरे सबसे प्रिय रचनाकार जूजाजीको भी प्यार जिनके मार्गदर्शन के कारण मैं अपनी कहानियों को लिख पाया.

सेक्सी गाने बीएफ

इसके बाद मैंने काफ़ी देर तक आंटी के चूचे भी चूसे और उनको चित लिटा दिया. रात को नौ बजे की ट्रेन थी, पर वह ज्यादा बारिश की वजह से रद्द हो गई थी. लेकिन आपके सिवाये मैं किससे ये प्रार्थना करूँ?बाबा ने कुछ देर मौन रखा और आखें बंद कर लीं.

मैंने मुँह खोला तो चाचा ने अपना लौड़ा मेरे मुँह में अन्दर घुसा दिया.

मैंने धीरे धीरे उनकी चूत पे हाथ फेरते हुए अपनी एक उंगली को उनकी चूत में डाल दी, तो वो थोड़ी उचक कर बोलीं- क्या कर रहे हो यार.

’मैं भी लगातार चोदे जा रहा था और उसकी लड़खड़ाती ज़ुबान ने कह दिया था कि उसका निकलने वाला है. उसका बच्चा मोटे होंठों वाला है, वो कहती है कि ये तुम्हारा ही बच्चा है. सेक्सी को चोदा चोदीचाचा लंड चुसवाते हुए इतनी सेक्सी और गंदी गालियां दे रहे थे कि बता नहीं सकती.

उन्होंने मुझे बेड पर अपने नीचे लेटाया और मेरा लंड हाथ में लिए सहलाते हुए मेरे ऊपर आकर उल्टी बैठ गईं. पापा कमाने के लिए मुंबई काम करने चले जाते हैं और आठ दस महीने बाद ही फिर वापिस आते हैं. अब तक इस सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा कि मेरी कामवाली मुझे अपनी पहली चुदाई की कहानी सुना रही थी और उसके ममेरे भाई नेउसकी सील तोड़ दीथी चुकी थी और अब वो उसे दुबारा चुदने के लिए कह रहा था.

उसके मुँह में वीर्य का ख्याल आते ही मैं यक… करते अलग हो गया, मैं अपने ज़ुबान अपने बाजू से साफ करने लगा. एक पल के लिए जरा सा ठिठक कर चाची ने अपनी गांड को उठाकर धक्के लगाते हुए मेरे लंड से मुकाबला करना चालू कर दिया.

एक दिन टीचर्स डे के दिन जब कॉलेज में कार्यक्रम था, तब पूरा संचालन मुझे ही करना था.

आपने मेरी पिछली कहानीदीदी के देवर से चुद गईपढ़कर मुझे जो सन्देश भेजे, उनके लिए मैं आभारी हूँ. लेकिन अब हम दोनों को जब भी चुदाई का मन करता है तो हम खूब चुदाई का मजा लेते हैं. इसके बाद तो जैसा ब्लू-फिल्मों में होता है, हम दोनों ने कई बार वैसे भी किया.

इंग्लैंड की हॉट सेक्सी वीडियो सफ़ाई करते हुए मैं जब अंकित जी के कमरे में गई, तो उन्होंने फिर से वही हरकत की. अब तो हमारा सेक्स चैट करने का रोज का नियम हो गया और फ़ोन सेक्स करने का खेल शुरू हो गया.

वो दोनों ने भी हमारे पास ही कुत्ते कुतिया बन कर चुदाई करना शुरू कर दिया. अब तू सब भूल जा वन्द्या और बिल्कुल बाजारू रांड हो जा, जितनी गंदी गालियां, गंदी बातें बोल सकती है, खुलकर बोल. धकापेल 5 से 7 मिनट तक जोरदार झटके देने के बाद मेरा सारा रस उनकी योनि में ही निकल गया और साथ में ही उनकी योनि से भी रस की धार निकल पड़ी.

हिंदी बीएफ फिल्म दिखाइए

उससे कोई ज़बरदस्ती ना करो, उसे इस रंग में डाल दो कि वो खुद ही लंड की चाहत करे. कुछ देर बाथरूम में मस्ती करने के बाद मैं रचना को अपनी गोद में उठा कर बेड पर ले गया. मुझे सबसे ज्यादा अजीब लगा कि दीदी के ससुर मम्मी हाथ पकड़ पकड़ कर मजाक कर रहे थे। दीदी के ससुर की उम्र 43 साल थी, वो हेल्थी आदमी थे, उनकी वाइफ नहीं है, घर में सारे मर्द थे बस मेरी दीदी ही थी उस घर में।रात दीदी ने सबको खाना खिलाया, फिर सब लेटने की तैयारी करने लगे.

पीयूष ने पहली बार मुझे वन्द्या कहकर बुलाया कि वन्द्या तुम बहुत मस्त लग रही हो. इधर ये सब जान जाने के बाद अब मुझे भी गीता में कोई इंटरेस्ट नहीं रह गया था.

उसने मुझे मेरे मुंह पर एक थप्पड़ मार दिया और कहा- शर्म नहीं आती है? मैं तुम्हारी बहन हूं और तुम मेरे बारे में ऐसा सोचते हो? मैं ऐसा कभी सोच भी नहीं सकती थी! मैं अभी मम्मी को फोन करती हूं! और पापा को भी इंग्लैंड में फोन करती हूँ कि तुम कितने गिरे हुए इंसान हो!मेरे तो सांस ऊपर के ऊपर और नीचे के नीचे रह गए.

अब सब कुछ अपने पूरे शवाब पे था और निक्की मेरा लंड हाथ में लेकर पम्मी को दिखाने लगी और निक्की ने उसको भी बोला कि हाथ में ले कर सहलाओ!पम्मी लंड पकड़ने में थोड़ा झिझक रही थी, तो निक्की ने मेरा लंड चूसना शुरू कर दिया. जाने से पहले गीता यह भी सुनती जाओ कि यह तुम्हारा पति ही रहेगा एक सप्ताह के लिए और तुमको पूरा खर्चा पानी देगा, तुम्हारी चुत में अपना लंड डालने के लिए. मैंने कहा- ठीक है, मैं अपने मम्मी पापा को भी ले आऊंगा, अगर वह आते हैं.

बहुत हॉर्नी फील कर रही होगी तभी तो लड़कों को आंख में आंख डाल के मुस्कुरा के देखती है … इसे पूरी नंगी करके भोगने में कैसा सुख मिलेगा … ये कैसी कैसी कलाबाजियां खाते हुए ये लंड लीलेगी …” ऐसे ऐसे न जाने कितने विचार मुझे मथने लगे. इस कुतिया, हराम की जनी की बातों में आकर एक बार में ही पेल दिया, कितना दर्द हुआ था साले. वो जानती थी कि थोड़ी ही देर में उसका छोटा भाई रजत भी उसकी चूत में चटनी कूटने वाला था, पर इस बात के लिए वो भी बहुत ज्यादा उत्साहित थी.

दो तीन दिनों में उसने मेरी रितु को हेल्लो बोला और कहा- आप बहुत खूबसूरत हैं.

एक्स एक्स बीएफ सेक्सी वीडियो में: उसका इतना बोलना था कि मैं परमानन्द को प्राप्त हुई, अपने शिखर पर पहुँच कर मेरा माल गिर गया और ओर्गास्म के साथ ही मैं मछली जैसे छटपटाने लगी. उधर मैं उसके मम्मों को दबा रहा था, उसको कंट्रोल करना मुश्किल हो रहा था.

उसकी 42 साईज की चूचियां ब्रा के बंधन से आजाद होने के लिए तड़प रही थीं. थोड़ी देर बाद जब वो शांत हुई तो मैंने जोर जोर से उसकी चुत में लंड पेलना चालू किया. उस दिन आंटी लोग के बारे में एक बात समझ आई मुझे कि उनके हस्बेंड आते हैं 2-3 मिनट में पानी गिरा कर सो जाते हैं.

अब मुझ में ऐसी क्या बात है, मैं खुद भी नहीं जानती!यह बात पूरी तरह से सच है कि जितने भी मर्द मुझे देखते हैं, वो चाहे कितने भी क्लोज रिलेटिव हों, चाहे जितने बूढ़े हों सभी के सभी.

मैंने उस दिन के बाद 8-9 बार भाभी को चोदा, फिर मुझे अपना रूम चेंज करना पड़ा. मैंने कमलेश सर के लंड को हाथ में पकड़ा तो बहुत गर्म लगा, बहुत ही गर्म होता है लंड. मेरी मां बड़ी ही सीधी हैं, वह सिर्फ अपने काम से मतलब रखती हैं और कॉलोनी में ज्यादा इधर उधर नहीं जाती हैं.