बीएफ वीडियो सॉन

छवि स्रोत,ಸೆಕ್ಸ್ ವೀಡಿಯೊ ಮೂವೀಸ್

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ वीडियो ब्लू सेक्सी: बीएफ वीडियो सॉन, ऐसे मोनू भी झड़ गया।अब हम सभी झड़ चुके थे।हम सभी अब बैड पर आकर बैठ गये.

सेक्सी कहानियां फोटो सहित

फिर हमने ये प्लान बनाया कि पहले मैं तेरे लंड को अपनी चूत में लूंगी और वो भी तुझे बिना बताये हुए. हिंदी ब्लू पिक्चर सेक्सी नंगीआह्ह … उम्म … ओ … आमिर … आह्ह … मजा आ रहा है बहुत!कुछ ही पल के बाद जूली की चूत से एक बार फिर उसकी मलाई मेरे लंड पर फैलकर उसको चिकना कर गई.

वो अब मुझसे कई तरह की बात करने लगी थी और अपनी और उस लड़के की मुलाकात के बारे में और उस लड़के के बारे में भी बताने लगी थी. दीपिका पादुकोण सेक्सी वीडियोसभैया घर में अकेले थे तो मैं वापस अपने घर आने लगी तो भैया मुझसे बोले कि तुम अकेले में मुझसे बात नहीं करोगी क्या?उनकी यह बात सुनकर मैं भैया के घर रुक गयी और हम दोनों बात करने लगे.

जब उसने दुबारा पूछा तो मैंने हल्की मुस्कुराहट से उसे हां कहा और अपना बैग उठाकर अपनी गोद में रख लिया.बीएफ वीडियो सॉन: मैं सीधा लेट गया और पूनम ने मेरे सोये हुए लंड को अपने मुंह में भर कर फिर से चूसना शुरू कर दिया.

फिर मैंने एक और जोरदार झटके के साथ पूरा लंड उसकी चुत में घुसा दिया.मैंने उसकी गांड अपने लंड की तरफ खींच कर उसके पैरों को उसके पेट से चिपका दिया.

पान बेचने वाली एक जाति - बीएफ वीडियो सॉन

मैंने उसकी सलवार नीचे करके उसकी पैन्टी को भी नीचे कर दिया और पहली बार उसकी चुत के दर्शन हुए.इसके लिए अल्ट्रा साउंड, एक आर आई और कैट स्कैन करवाना पड़ेगा जो दिल्ली में होता है.

लेकिन जितने विश्वास के साथ मैं आगे कदम बढ़ा रहा था मोनी मेरे उस भरोसे को पीछे धकेल देती थी और वह शायद नहीं चाहती थी कि मैं उसकी चूत को भी हाथ लगाऊं. बीएफ वीडियो सॉन फिर उसने अपनी पैंटी धीरे से उतार कर उसी से अपनी बुर को पोंछ लिया और अपनी पैंटी को अपने हैंड बैग में रख लिया.

मैंने फिर कहा- रश्मि बोलो न … क्या मैं तुम्हारी चूत में अपना लंड डाल दूँ?वह थोड़ा खीजती हुई बोली- जो भी करना है … जल्दी करो.

बीएफ वीडियो सॉन?

घर आकर पढ़ने बैठ जाता और फिर शाम को स्कूल का पढ़ाई का काम खत्म करने के बाद कुछ देर क्रिकेट खेल लिया करता था. उसने एक हाथ से मेरे लंड को सहलाना और दबाना जारी रखा जिससे मेरा लौड़ा पूरा तन गया और मेरे अंदर की हवस का शैतान जाग गया. जब मैं थक गया, तो मैंने मानसी को बोला- बेबी, तुम हॉर्स राइडिंग करने आ जाओ.

बाथरूम से बाहर आकर मेरी बिटिया ने कहा- पापा, आज मैं मम्मी की शादी की साड़ी पहनूंगी और आज रात हम सुहागरात मनाएंगे. तब मम्मी और पापा किसी काम से बाहर जाने वाले थे तो घर पर मैं अकेला रहने वाला था। मम्मी पापा के जाने के बाद फिर मुझे मम्मी का कॉल आया कि साना भाभी आ रही है. एक बार गांड मरवाने के बाद तो जैसे फिर रह पाना बहुत मुश्किल हो जाता है.

मैं एक पल के लिए असमंजस में थी कि अब थॉमस का लंड मुँह में लूं या ना लूं … क्योंकि अगर रोहन ये देखते, तो उन्हें यह लगता कि मैं यह सब अपनी ख़ुशी से कर रही हूँ. जब उसके दिल में तुम्हारे लिए जगह बन जाए, तब शादी के लिए उसकी सहमति लेना उचित रहेगा. अगर दीदी ने मुझे शिखा के साथ उसके कमरे में सोते हुए देख लिया तो शामत आ जाएगी.

मेरी नाक को कस कर दबाते हुए बोली- पहले अपना ही दूध पिलाउंगी, फिर ये दूध हम दोनों मिलकर पिएंगे. कुछ ही देर में कमरे की लाइट बंद हो गई और वह लड़की नीचे आकर बाहर खड़ी हो गई और बार-बार मेरी बालकोनी की तरफ देखने लगी.

सूसू से फ़्री होकर गुड्डी रानी ने दुबारा से कहा- मुझे तो बड़ी भूख लगी है कुछ मंगाएं खाने को?बेबी रानी ने भी कहा- हाँ हाँ … मेरे पेट में भी चूहे दौड़ रहे हैं.

सुधा ने झट से लहंगा उठाया और मैं उसकी चूत में लंड पेल कर उसे चोदने लगा.

रितेश मीरा की चूचियों को चूसने लगा और मीरा भी अपने हाथों से रितेश के लंड को मसलने लगी. उसके बाद उन्होंने अपनी लुंगी की गांठ खोल दी, उन्होंने अन्दर कुछ भी नहीं पहना था. दी ने महसूस किया कि मेरा लंड एकदम सख्त हो गया है तो उसने मेरी पैंट की जीप खोलकर लौड़ा बाहर निकलने की कोशिश की पर वो कामयाब ना हो पाई क्योंकि मैंने अंडरवीयर पहना हुआ था.

बार-बार मैं सीढ़ी के पास जाकर देख रहा था कि बसंती आ रही है या नहीं. जब उठ कर बाहर आया तो माँ ने कहा कि मुझे चांदनी भाभी के साथ उनके घर जाना है कुछ सामान लाने के लिए, माँ ने मुझे जल्दी तैयार होने के लिए कह दिया. हॉल में देखा तो जीजू वहां पर सो रहे थे और उनके खर्राटों की आवाज जोर से सुनाई दे रही थी.

भाभी मुझसे बोलीं- क्यों … घर क्यों नहीं आ रहे हो?तो मैंने कुछ नहीं कहा.

चुत के मसल्स किसी इलास्टिक की तरह खुल रहे थे और लंड को अपनी बांहों में कस कर पकड़े हुए थे. दोस्तो, आपको मेरी यह चुदाई की कहानी पसंद आई या नहीं, जरूर मेल करना. अचानक ऑटो में पानी के कारण कुछ खराबी आ गई, बहुत कोशिश के बाद भी ऑटो स्टार्ट नहीं हुई.

एक तो पीछे से मैं ज़ोर से उसकी चुत चुदाई कर रहा था और आगे से उसकी चुत के चने को मसल रहा था. मैं एक 30 साल का नौजवान आदमी हूँ और एक इंश्योरेंस कम्पनी में जयपुर में काम करता हूँ. उसकी तरफ देखते हुए बोला- यार तुम्हारा गर्म-गर्म पानी पीने का भी अपना मजा है.

वो मेरी चूची को हल्का हल्का दबा रहा था, जिससे मुझे बहुत कामुकता वाली फीलिंग आ रही थी.

डॉली ने मेरे पापा से यह वादा भी लिया कि इस बात का जिक्र वे कभी किसी से नहीं करेंगे ताकि उसके घर पर किसी को कुछ पता न चले. मैं तुम्हारे जिस्म के एक-एक हिस्से को अपनी जुबान में, अपने दिल में और अपने दिमाग में महसूस करना चाहता हूँ.

बीएफ वीडियो सॉन ”मैं- मैं क्या करूं?मेरी आंखों में देख मेरे गाल पर प्यार से थप्पड़ मार कर बोली- कुछ नहीं. मुझे बिस्तर पर बिठा कर वो किचन में जाकर केसर वाला दूध लेकर कमरे में आया, मैं सुहागसेज पर दुल्हन बनी बैठी थी.

बीएफ वीडियो सॉन मैं जो भी कहानी यहाँ पर भेजूँगी अपनी ही जिंदगी की भेजूँगी … हमेशा बिल्कुल सच्ची घटना!आज आपको पहले मैं अपने बारे में बता दूँ, मैं बहुत एक सामान्य परिवार से हूँ. उसकी चूत की फांकों के बीच एक गैप था, जिससे उसका भगनासा साफ-साफ दिखाई दे रहा था.

पहले मैं पाठक था मगर अब अपनी स्वयं की कहानी लिखने के काबिल हो गया हूँ.

रिश्तों में chudai

लेकिन जब मैंने घर पर बोला कि ऐसे मुझे बाहर जाना है काम से दो दिन के लिये … तो मेरी पत्नी भी मेरे साथ जाने के लिये तैयार हो गयी. अब उसने मुझे घोड़ी बनाया और मेरी गांड को चाट कर पूरा गीला किया और अपने लंड पर खूब सारा थूक लगा लिया. हम दोनों मां बेटे अब पति पत्नी बन कर एक दूसरे के जिस्म का रसपान कर रहे थे.

अनिता की चूत एक बार झड़ चुकी थी तो मुझे उसे फिर से चुदाई के लिए तैयार भी करना था. मूवी खत्म होने से थोड़ी देर पहले मैंने अपने आपको ठीक किया और हम घर निकल गए. झड़ने के बाद वो मीरा के बाजू में बेड पे लेट गया और अपनी सांसें काबू में करने लगा.

उसकी चूत के लबों को फैला कर मैंने वहां अपना लण्ड रगड़ना शुरू किया तो बोली- अब देर न करो, मुन्ने को मुन्नी के घर जाने दो.

मुझे वो मैगजीन दिखाते हुए बोली- तू ये सब गंदी किताबें कब से पढ़ रहा है?मैं- बहुत दिन हो गये. दोस्तो, मेरी चाची और उसकी बहन की चूत चुदाई की कहानी आपको कैसी लगी मुझे मैसेज करके बताना. चूची देख नहीं रहे हो, खरबूजे जैसी बड़ी हो चुकी हैं और मेरे निप्पल भी तुम्हारी गांड को भी टच नहीं कर पाएंगे.

मैं भी उसके पीछे पीछे बाथरूम में हो लिया।शुभ्रा वॉश बेसिन में झुकी हुई थी और मेरी बहन की गोल-गोल गांड का उभार मेरी तरफ था और उसकी गांड मुझे आकर्षित कर रही थी। मेरे हाथ बिना किसी देरी के शुभ्रा के कूल्हों को मसलने लगे. प्रिंसीपल सर ने कहा कि वे अपने दोस्त से इस बारे में बात करके देखेंगे. भैया की तबियत अचानक बिगड़ती ही चली गई और 15 दिन बाद भैया की मृत्यु हो गयी.

मेरी सिसकारियां सुन कर प्रिंसीपल सर को और ज्यादा जोश आ गया और वो मेरी चूत के बालों को नोचते हुए मेरी चूत के छेद में अपनी जीभ से लपलपाने लगे. उसकी आँखों से आंसू की धार निकल रही थी। एक हाथ से उसने नीचे बिछे चादर को कस कर पकड़ लिया और दूसरे हाथ से मेरा लन्ड एकदम जोर से पकड़ा हुआ था।उधर मेरा भी यही हाल हुआ पड़ा था, मुझे भी बहुत दर्द हो रहा था.

मगर उसकी चूत की मदहोशी ऐसी थी कि पता नहीं कब मेरी जीभ उसकी चूत पर चलने लगी. कुछ किस्से मेरे साथ भी यात्रा के दौरान घटित होते हैं, जिसको मैं आपके सामने कहानी के रूप में लेकर आता हूं. मौसी मेरी तरफ देखकर फिर से मुस्कुराईं और मेरे कान की तरफ अपना मुँह करते हुए धीरे से बोलीं- अभी मेरे जाने के 10 मिनट बाद पीछे वाले कमरे में जहां कबाड़ रखते हैं.

पता किया तो मालूम हुआ कि वो प्लांट में प्रोसेसिंग का काम सीखने आई है.

भाभी बोली- क्या मैं आज रात को तुम्हारे कमरे में सो सकती हूँ? मुझे अपने रूम में बहुत डर लग रहा है. वो घर आते ही मुझे अकेला पाते ही किसी न किसी बहाने से वो मुझे छेड़ता था. मैं कुछ ज्यादा ही सोच रहा था कि तभी शुभ्रा की आह-ओह, सी सीईई ईई की आवाज़ से मेरी तंद्रा भंग हुई तो मैंने देखा कि शुभ्रा भी आंखें बन्द किये हुए मेरी जीभ का मजा ले रही थी, जबकि उसकी सलवार और पैन्टी अभी भी कमर के नीचे थी.

मैं काफी देर तक इस गाउन को पहन कर खुद को देखती रही और अपनी चूचियों को सहलाते हुए, अपनी चूत को रगड़ने लगी. असली सुहागरात तो आज मनी है मेरी … आह्हह मेरे राज… मैं तो तेरी दीवानी हो गयी रे!अंत में वह फिर झड़ गई और बेड पर पसर गई परंतु मेरा तो अभी भी छूटने का नाम नहीं ले रहा था.

मेरे भीगे हुए अंडरवियर में मेरे लंड ने आकार लेना शुरू कर दिया था लेकिन चाची ने अभी मेरे लंड पर ध्यान नहीं दिया था. तब मैंने एक हाथ शलाका की चूचियों के अंदर डाल दिया और उसकी संतरे जैसी चूचियों को सहलाने लगा. हाई सोसाइटी में उठने बैठने के कारण, मेरे पति ने मुझे अपने बिजनेस में खूब इस्तेमाल किया था.

मेरा सेक्स वीडियो

मेरी इन सब हरकतों की वजह से मौसी की हालत खराब होने लगी, मतलब उनका खुद को कंट्रोल कर पाना मुश्किल हो रहा था.

जैसे ही नम्रता लेटी, मैंने उसकी बुर में जीभ लगा दी और उसके उस कैसेले स्वाद से भरी हुई चूत को चाटने लगा. उसके बॉयफ्रेंड के साथ उसका ब्रेकअप। हवा के झोंके से उसके बाल उसके चेहरे पर आ रहे थे।मैंने बालों को उसके चेहरे के ऊपर से हटाया और उससे पूछा- क्या हुआ?वो मेरी तरफ देख के मुस्कुरायी और बोली- कुछ भी तो नहीं. हम तीनों ही एक बार झड़ चुके थे।अब हम दोनों ने फिर से सुमन को कमरे के बीच में ले आए और किसी भूखे कुत्ते की तरह उसके बदन से चिपक गए.

और वो इतना कह कर चले गए।मैं अकेली बैठी सोच रही थी कि क्या करूँ? मन में आया कि चली जाऊँ और मैं उठ के कपड़ों के पास गई. पढ़ाई के समय मैंने एक बॉयफ्रेंड बना लिया, खुशी ने भी एक बॉयफ्रेंड बनाया पर सुमन इन चीजों से दूर रही थी. प्रिया सॉफ्टवेयरमैंने अपने भी फटाफट कपड़े जिस्म से अलग किए और नंगा उसके सामने आ गया.

हरकेश झड़ने के बाद उसके ऊपर से उठा और उसकी जगह मैंने ले ली और अपना लंड उसके मुंह में डाल दिया. उस पर नम्रता ने हाई हील सेन्डिल भी पहन ली थी और कैटवॉक कमरे में करने लगी.

लेकिन मुझे याद है पाँचवें दिन जब मैं सुबह उठा तब मैंने देखा कि दी आज कुछ अलग दिख रही हैं. मैंने गुस्सा होकर कहा- इतनी रात को आप घर नहीं जाइएगा, चोर बदमाश सब घूमते हैं. फिर मैंने उसकी कान की लौ को जैसे ही चूमा, तो अदिति की आंखें एकाएक सिहरन से बंद हो गईं और उसके मुँह से ‘इस्स अस्स …’ की आवाज़ आने लगी.

दोस्तो, यह कहानी एक मित्र ने मेरी कहानियां पढ़ने के बाद मुझे भेजी है और गुज़ारिश की है कि उसके इस अनुभव को मैं आपके सबके साथ शेयर करूं. आज भी अकेले में मैं लड़कियों के कपड़े पहनकर अपनी इच्छा पूरी करता हूँ. साथ ही में मैं उसके होंठ चूसने लगा और इसी अवस्था में लंड थोड़ा सा बाहर निकाल कर एक जोरदार धक्का मारा.

हमें इस तरह लटक कर चोदते देख डॉक्टर जूली की भी हालत ख़राब हो रही थी.

बिन्दू- लेकिन आप प्लीज ये दोनों ही बातें मेरी मम्मी को नहीं बताना वर्ना वो मेरी जान निकाल देगी. मैं विक्की एक बार फिर से हाजिर हूं आप लोगों के लिए अपनी एक नयी कहानी के साथ.

उसके बाद जब तक चांदनी भाभी नॉर्मल नहीं हो गयी मैं उसको किस करता रहा. फिर उसी रात को चैट पर बात करते समय उसने पूछ लिया- आपको मैं कितनी हॉट लगती हूं?एक बार तो मन किया कि सीधा बोल दूं- लण्ड खड़ा हो जाता है तुम्हें देख कर। फिर सोचा इतनी जल्दी नहीं करनी चाहिए. अब सब सो चुके थे, पर मेरी आंखों में नींद कहां थी … बस गुड़िया को चोदने की तरकीब सोच रहा था.

उसने दोनों टांगों को कंधों पर सैट किया और अपना लंड मेरी चुत की फांकों पर सैट कर दिया. इसलिए मुझे शादी से पहले ही लंड-चूत और सेक्स के बारे में पूर्ण ज्ञान हो गया था. काजल बोली- क्या है पैकेट में?तो मेरी वाइफ बोली- खुद ही खोल कर देख लो.

बीएफ वीडियो सॉन तो वंश ने मुझे देख कर हग कर लिया और मुझे किस करते हुए बोला- तो चलने को रेडी है न मेरी गर्लफ्रेंड?मैंने भी उसको अपने सीने से चिपका कर हां कहा और हम दोनों मुस्कुराते हुए घर से निकल गए. यह काम की वासना से लिप्त दास्तां आपको कैसी लग रही है इसके बारे में अपनी राय देते रहें.

मोटा लंड की सेक्सी

उस पर अंकल की दी हुई गोलियां काम करती हैं, पता चलने पर मैं फिर से बिंदास हो कर अंकल के नजदीक जाने लगी. मैंने उसको चुप कराया और समझाया- जानू, तुम अपने घर वालों के कहने पर उधर शादी कर लो, जहां वो चाहते हैं. फिर मैंने अपना हाथ नीचे ले जाकर उनकी साड़ी ऊपर करना चाहा, तो मौसी ने मेरा हाथ पकड़ लिया और मेरी तरफ देखकर इंकार में अपना सर हिलाया.

नेहा का टॉप उसकी बड़ी बड़ी छातियों के ऊपर से तना हुआ था जिसमें से उसका नंगा सुंदर चिकना पेट दिखाई दे रहा था. ”नीतू इधर तुम अपनी जवानी के जलवे बिखेर कर मुझे सता रही हो और उल्टा मुझे ही कह रही हो कि मत सताओ. bf सेक्सी videoहमने टीवी देखते हुए खाना खाया। फिर वो मेरी गोद में आकर बैठ गयी। मुझे किस किया और मेरे सीने में अपना सिर छुपाने लगी। मुझे ऐसे ही गले लगाये हुए वो टीवी देख रही थी।कुछ देर बाद मैंने उससे कहा- चलो कहीं बाहर घूमने चलते हैं।उसने सिर मेरे सीने में छुपाये वैसे ही पूछा- कहाँ?मैंने कहा- वो बाद में डिसाइड करेंगे.

मेरा कमरा बेड के चरमराने और लण्ड की चूतड़ों पर थाप की आवाजों से गूंजने लगा.

”आपको क्या लगता है, मेरे पास एक ही पैंटी है?”अच्छा बाबा माफ करो, पर स्कर्ट और पैंटी उतारने दे रही हो या नहीं?”पर मेरी एक शर्त है, उन्हें उतारने पर मैं आंखें बंद कर लूंगी … मुझे शर्म आ रही है. ”ओह …”क्या हुआ?”पर उसमें तो बहुत दर्द होता है?”हाँ पहली बार में थोड़ा तो जरूर होता है पर बाद में बहुत मज़ा भी आता है।क्या तुमने पहले कभी किसी के साथ किया है?”मैंने मधुर के साथ एक बार कोशिश की थी पर बीच में ही हमें रुकना पड़ा था.

फिर कुछ देर टीवी देखने के बाद मां बोलीं- चलिए मैं खाना लगाती हूँ … नौ बज गए हैं. जब निखिल ने रीमा को चोदा और इसके बाद रितेश मीरा निखिल और रीमा इन चारों ने ग्रुप सेक्स का मजा लिया. लेकिन मैं सेक्स के लिए अपनी बेस्टफ्रेंड को चोट नहीं पहुंचाना चाहती थी.

और उसने अपने पैर मेरी कमर में लपेट दिए साथ ही अपनी भुजाओं में मुझे कस लिया.

उसने अपने दोनों हाथों को पीछे की तरफ लाते हुए उनकी माला बनाकर मेरी गर्दन के पिछले हिस्से पर डाल दी. मौसी की बात सही थी, अगर कोई उधर आ जाता, तो सच में प्रॉब्लम हो जाती. रमेश- हां, क्यों नहीं जान … तुम्हारी गांड और खीर की मिठास ने मिल कर सब कुछ मीठा कर दिया है.

ब्लू पिक्चर लंगा सेक्सी”उनका हाथ अब मेरी पैंटी पर आ गया था, मेरी मदनमणि को वो मेरी पैंटी के ऊपर से सहलाने लगे. भाभी ने कहा- पहले मुझे पूरी नंगी करो … लेकिन धीरे धीरे और मुझे चूमते हुए.

बुर चोदने वाला सेक्सी

जब मुझे कुछ भी उपाय न सूझा तो मैं उठ कर जीजा की छाती पर जाकर बैठ गई और अपनी चूत को उनके मुंह पर लगा दिया. पर एक बार किसी चीज की आदत लग जाती है, तो फिर जल्दी से छूटती नहीं, कॉलेज में रहकर भी मन अंकल के ख्यालों में ही डूबा रहता. फिर मैंने भाभी की चूत में ही अपना पानी निकाल दिया और कस के भाभी से चिपक गया.

हम दोनों को पुरानी बातें याद आ गयी थीं। जब हम पिछली बार यहाँ आये थे, हालाँकि इतनी आजादी नहीं थी क्योंकि हम काफी छुपते-छुपाते आये थे।मेरे दिमाग में उस दिन का पूरा सीन घूम गया. लंड को चूत में जाने में आसानी हो गई थी और लंड धकापेल उसकी चूत के अन्दर बाहर होने लगा था. उधर संजना भी अब तक संभल चुकी थी और उसने मेरे पीछे आकर मुझे पकड़ लिया.

आपको मेरी हॉट सेक्स स्टोरी इन हिंदी कैसी लगी, मुझे आपकी मेल का इंतज़ार रहेगा. मैंने जीजा को कस कर पकड़ लिया तो जीजा बोले- जब इतना मन था तो तूने मुझे पहले इशारा क्यूं नहीं किया. कभी वह अपनी गर्म गर्म, मुखरस से तर जीभ टोपे पर घुमा घुमा के चाटती और कभी वह दुबारा जीभ को मोड़ के नोक लंड के छेद में घुसा के एक तेज़ करंट मेरे बदन में फैला देती.

” उसने झुंझलाते हुए से कहा।ओह … सॉरी जान … अगर तुम पेट के बल होकर लेट जाओ तो बड़ी आसानी होगी. मेरी इज्जत जो मेरी चूत के साथ ही नंगी हो गयी थी अब मैं कुछ नहीं कर सकती थी क्योंकि मेरी चूत को तो उस ठरकी प्रिंसीपल ने देख ही लिया था.

फिर मैंने चाची से पैसे लिए और रिचार्ज करवाने दुकान पर गया। रिचार्ज करवा के मैंने मेरे दोस्त को फोन किया जिससे मैंने वो सैक्स वीडियो क्लिप ली थी। उसने मुझे काफी सारे वेबसाइट के बारे में बताया.

रात को नींद लेने के बाद अब सेक्स करने के लिए फिर से नई ताकत आ गयी थी. इंडियन सेक्सी फिल्म चुदाईमैंने कहा- आपने जवाब नहीं दिया?तो बोली- मैं क्या कहूँ?मैंने कहा- शरमाइये नहीं. नई दुल्हन की चुदाई सेक्सी वीडियोउस वक्त तो मुझे बस उसकी चूत का स्वाद चखना था जो मेरा लंड उसकी चूत में जाकर मुझे उपलब्ध करवाने लगा था. काम निपटाकर आज रात बीवी को फिर पकड़ा और अच्छे से उसको चूमा-चाटी करके मजा लेने लगा.

मैंने कहा- हां कहो ना … कुछ तुम कहो कुछ मैं कहूँ, तभी तो ये रात यादगार होगी.

मैं चेंजरूम में चली गई और चेंज करके उसे अन्दर बुलाने के लिए आवाज दी. मैंने गिलास उठाया और बोतल में से एक पेग उसके लिए भी बनाया और उसको देने लगी. मैंने उनका गाउन उतार दिया और भाभी मेरे सामने ब्रा और पैंटी में आ गई थीं.

इसलिए अब मैं भी जल्दी करने में मूड में आ गया और तुरंत अपना पैंट और चड्डी नीचे करके लंड बाहर निकाल लिया. यह समस्या वंशानुगत भी होती है अर्थात यदि मां में सेक्स ज्यादा रहा है तो बेटी में भी होगा. लेकिन वो बिना बोले मेरी कुर्ती में हाथ डालकर मेरी चूचियों को ब्रा के ऊपर से मसलने लगा.

इंग्लिश में एक्स एक्स एक्स वीडियो

मेरी पिछली कहानी थीपड़ोस का यार चोदे दमदारमेरी यह कहानी एक औरत की कामुक कहानी है जो कि एकदम से सत्य घटना है. मैं जब अपने कपड़े निकाल रही थी तो भार्गव मुझे एसे ताड़ रहा था … मानो आज मुझे खा ही जाएगा. फिर पूनम की नजर मुझ पर पड़ी पर उसने शर्ट सही नहीं किया बल्कि मझे देखकर एक कुटिल सी हंसी हंस दी.

मैं किस पर विश्वास कर सकती हूँ?मेरे मुंह से निकल गया- मुझ पर!चांदनी- तुम पागल हो गये हो क्या? मेरे पति तुम्हारे इतने अच्छे दोस्त हैं और तुम मेरे बारे में ऐसा सोच रहे हो? भाभी ने गुस्से भरे लहजे में कहा।मेरी बोलती वहीं पर बंद हो गई.

मैं रात भर सो नहीं पाती, पर किसके साथ करूं … मुझे ये समझ में नहीं आता.

उसके होंठों को जोर से किस करने लगा और फिर एक झटके में अपना पूरा लिंग उसकी योनि में प्रवेश करा दिया।उसकी आंखों से आंसू चल कर बाहर गिरने लगे। फिर मैं उसी अवस्था में उसके ऊपर लेट गया। लगभग दो मिनट के बाद मैंने धीरे-धीरे धक्का लगाना शुरू कर दिया। मेरे धक्कों से धीरे-धीरे उसको मजा आने लगा और वह भी मेरा साथ देने लगी. तभी साली जी ने खड़े होने की कोशिश की पर तुरंत ही कमर पकड़ कर बैठ गयीं. बांग्ला सेक्सी फिल्म वीडियोजिस परिस्थिति में वो मुझे मिली थी उसे काफी प्यार की जरुरत थी। उसके अधूरे सपने पूरे हो रहे थे। उसे खुश देख के मुझे अच्छा लग रहा था।मैंने गाड़ी चलाते हुए उसे एक बार देखा.

मैं किस पर विश्वास कर सकती हूँ?मेरे मुंह से निकल गया- मुझ पर!चांदनी- तुम पागल हो गये हो क्या? मेरे पति तुम्हारे इतने अच्छे दोस्त हैं और तुम मेरे बारे में ऐसा सोच रहे हो? भाभी ने गुस्से भरे लहजे में कहा।मेरी बोलती वहीं पर बंद हो गई. पर मुझे यह नहीं पता था कि मेरी इस पोजीशन का अंकल को फायदा ही होने वाला है. मैंने अपना खड़ा लंड माँ चुत पर रखा और अन्दर डाला, तो मेरा लंड माँ की चुत में सट से चला गया.

मैं उनकी बात सुनकर हैरानी से उनकी ओर देखने लगी और सोचने लगी कि कहां मैं दूसरे स्कूल में धक्के खाने की सोच रही थी, यहां तो मुझे चूत के बदले में प्रमोशन भी फ्री मिल रहा है. यह बात सुन कर रितेश ने भी जोश में आकर मीरा के चूतड़ों पर दो थप्पड़ लगाए और पीछे से मीरा की रस छोड़ती चुत में अपना लंड ठांस दिया.

मेरी पड़ोस में बहुत सारी सहेलियां हैं और वो लोग भी मुझे पसंद करती हैं.

अगली सुबह मैं साढ़े चार पर ही उठ गई और फ्रेश होकर नहा भी ली और सलवार कुरता दुपट्टा डाल के मैं तैयार हो गई, ब्रा और पैंटी पहनने का मन ही नहीं हुआ. मैं- आपका तो हो गया … पर मेरा?यह कहते हुए मैंने मौसी के हाथ को पकड़ पर अपने लंड पर रख दिया, जो काफी टाइम से अकड़ा हुआ था. मैंने अपना हाथ मौसी के ब्लाउज में डाल कर उनके चूची को मुट्ठी में भर लिया और उससे खेलने लगा, कभी चूची को दबा देता तो कभी मसल देता और बीच बीच में निप्पल को भी मसल देता.

सेक्स स्टोरी भाई बहन लंड को खुजलाते हुए वो मेरे करीब आये और मेरे कंधे पर हाथ रख कर अपने हाथ से मेरे कंधे पर सहलाने लगे. प्रतिभा की बात सुनकर मुझे लगा कि खुशी और मेरी वार्तालाप को मैं ही समझ सकता था, प्रतिभा केवल सुनी हुई बात जानती थी.

उसके बाद मैंने दीपाली के कान में धीरे से उससे पूछा- दीपाली क्या मैं तुझे चोद दूँ?उसने सिसकारी लेते हुए कहा- हां मेरे राजा … जल्दी से चोद दे … मैं मरी जा रही हूँ … तेरे लंड से अपनी चुत की प्यास बुझाने के लिए … जल्दी अपना लंड मेरे चुत में डाल के मुझे अपनी रंडी बना ले. मैं डर रहा था कि कहीं ये मामी को मनीषा और मेरी चुदाई के बारे में बता न दे. फिर रंजना ने मेरा लिंग पकड़ा और तेजी के साथ सहलाने लगी। उसके हाथों द्वारा मेरे लिंग को सहलाने से मुझे और जोश आने लगा.

मां बेटे की सेक्सी वीडियो इंग्लिश

मैं बोला- बस? लेकिन मजा तो इसी में है ना।वो बोली- अगर मजा इसी में है तो फिर लोग पेशाब नाली में क्यों करते हैं? फिर तो मुंह में ही कर देना चाहिए?वो मुझसे बहस करने लगी।मैं झल्लाते हुए- अरे यार, ये सब मुझे नहीं मालूम, मगर जो मालूम है उसमें चूत चटाई और लंड चुसाई होती है. कामवासना से जलती मेरी बिटिया की नंगी टांगें फैलाकर मैंने उसकी कोमल और कुंवारी चूत में अपना लंड अन्दर घुसाना चाहा लेकिन उसकी चूत बड़ी टाईट थी इसलिए मेरा लंड फिसल गया. मैं और माणिक, हम दोनों जब भी घर में अकेले रहते थे तो हम एक दूसरे से खूब बातें करते थे.

सोनल की बात सुनकर दोनों बहनें एक-दूसरे के पास आ गईं और एक दूसरे के मम्मे मसलने लगीं. रात में जब मैं भाभी की तरफ मुड़ा, तो उनकी सुडौल गांड मेरी ही तरफ थी.

इस बार मैंने उसकी बुर में अपने लंड को बड़ी हिम्मत करके घुसाया और उसे चोदने लगा.

मैंने चाची को अपनी गोद में उठा कर बेड पर पटक दिया और उनके ऊपर चढ़ कर उन्हें किस करने लगा. मैंने सोनल को अपनी गोद में बिठा लिया था और उसकी नंगी पीठ पर हाथ घुमाने लगा. फिर धीरे से उन्होंने अपनी जीभ को मेरी गांड के छेद के नीचे रखा और उसे चाटना शुरू कर दिया.

मैंने फोन में मेसेज और फोटो देखी तो …अब आगे की कॉलेज गर्ल सेक्सी कहानी:मैं बंगलुरु ट्रेनिंग के प्रोग्राम के बारे में सोचने लगा। साली यह किस्मत भी अजीब है जिन्दगी झंड हो गई है। एक बेचारा दिल और चार राहें। अजीब इत्तेफाक है चारों दिल फरेब हसीनाएं सामने खड़ी MPK(मुझे प्यार करो) बोल कर जैसे ललचा रही हैं।मैं अभी अपने ख्यालों में खोया हुआ ही था कि मोबाइल की घंटी बजी. भाभी ने अपनी झांट थोड़े दिन पहले ही साफ की थीं, इस कारण थोड़े थोड़े बाल थे … लेकिन क्या कमाल की चूत थी. दो हफ़्ते बाद उसका मैसेज आया कि वो मिलना चाहती है और कुछ बात करनी है.

उधर दूसरी तरफ- मेरी रानी आह-आह, क्या आह-आह खूब खूब गांड है तुम्हारी.

बीएफ वीडियो सॉन: मैंने लुंगी में हाथ डालकर जांघिया को नीचे कर दिया … और लंड को आजाद कर दिया. लेकिन जैसे ही मैंने वसुन्धरा को पीछे घूम कर देखा तो पाया कि वसुन्धरा की चुनरी, वसुन्धरा की पीठ की ओर से लँहगे के अंदर फंसी हुई थी.

उस दिन अंकल जी से मिल कर घर लौटी तो सारे दिन दिल धक् धक् करता रहा कि अब क्या करूं क्या न करूं. जब वो चूत सहलाने पर भी शांत रहीं, तो मैंने उनकी साड़ी ऊपर कर दी और उनकी चूत को नंगा करके उसमें एक उंगली डाल दी. मैंने उसे खींच कर चोरी चोरी बस में ले गया और वहां बैठ कर हम दोनों बातें करने लगे.

वो तड़पने लगी, बोली- आराम से करो!मगर मैंने उसकी ना सुन कर एक और धक्का मार दिया और पूरा लण्ड उसकी चूत में डाल दिया और बिना रुके उसे चोदने लगा.

दो चार मिनट ऐसा ही चलता रहा, फिर मैंने ही अंकल को जोर से पीछे धकेला और खांसने लगी. उसने मुझे कमर से पकड़कर उलटा घुमा दिया … और पीछे से अपना लंड मेरी गांड में डालने लगा. अनिल भैया ने अपने लंड को जब तक रगड़ा, जब तक उनके सुपारे को मेरी गांड पर लैंडिंग के लिए सही पोजीशन न मिल गयी.