एक्स एक्स भोजपुरी बीएफ

छवि स्रोत,एक्स वीडियो नेपाल

तस्वीर का शीर्षक ,

ओमान का सेक्सी वीडियो: एक्स एक्स भोजपुरी बीएफ, मैंने कुछ ना कहते हुए चुपचाप अपना बैग नीचे रखा और बैठ गया।गाड़ी चल पड़ी.

सेक्सी सेक्स करते हुए वीडियो

और चाचा तुरन्त दीवार फांद कर छत पर बने कमरे के पीछे चले गए। पर अब एक और मुसीबत थी. एक्स एक्स देसी सेक्सीमेरे मोबाइल पर गाने नहीं लग रहे हैं।मैंने देखा तो मेमोरी कार्ड ठीक से इन्सर्ट नहीं हुआ था.

पर कुछ भी कहो दोस्तो, इससे ज्यादा मजा मुझे अभी तक मिल नहीं पाया। मैं फिर से ऐसे मजे की तलाश में हूँ।दोस्तो, मेरी कहानी कैसी लगी मुझे जरूर बताइएगा, मुझे ई-मेल करें. सुंदर लड़कियों की नंगी फोटोफिर मैंने उसको सीधा करके एक उंगली उसकी चूत में डाल दी, वो एकदम से जाग गई.

मेरे साथ बने रहिए!आप ईमेल जरूर लिखिएगा।कहानी जारी है।[emailprotected]पोर्न स्टोरी का अगला भाग :लेस्बो मकान-मालकिन की चूत की प्यास -3.एक्स एक्स भोजपुरी बीएफ: वे घुटनों तक उसे उठाकर घुटने मोड़कर बैठी हुई थीं।इस अवस्था में उनके गाउन का पिछला भाग उन्होंने शायद जानबूझ कर नीचे छोड़ दिया था। जिस कारण उनकी सेक्सी गुलाबी चड्डी साफ़ नजर आ रही थी।मैं उसे गौर देखने लगा.

दूसरे से चादर को जोर से पकड़ रखा था, उसका सर उत्तेज़ना से इधर-उधर हो रहा था।ममता- राजी.मुझसे रहा नहीं गया और मैंने उसे उठाया और उसकी पैन्टी को उतार फेंका।उसकी पैन्टी गीली हो चुकी थी.

मला सेक्स करायचा आहे - एक्स एक्स भोजपुरी बीएफ

पर मेरा ध्यान उन्हीं की तरफ था।सोनिका एक बहुत ही बला की खूबसूरत लड़की थी, उसका बदन तो जैसे अप्सराओं जैसा था मानो बनाने वाले ने उसे बड़ी ही फुर्सत में बनाया हो।बड़ी-बड़ी आँखें.लेकिन दो-तीन महीनों में सही से चलने लगेगी।मैंने कहा- ठीक है होली की छुट्टियों में मेरे मकान मलिक पूरे परिवार के साथ अपने गाँव जा रहे हैं। मैं यही रहूँगा.

मैं जल्द ही आगे का अहसास आपको बयान करता हूँ।बहुत जल्द चुदाई का अगला हिस्सा आपके सामने रख दूँगा।तब तक लंड हिलाते रहें और चूतवालियों अपनी चूत में से उंगली मत निकालना तुको मेरे खड़े लौड़े की कसम।मेरी यह सच्ची चुदाई कथा आपको कैसी लग रही है मेल जरूर कीजिएगा. एक्स एक्स भोजपुरी बीएफ थोड़ी देर बाद मैंने एक और धक्का मारा और उसकी एक जोर की आवाज आई- आह हा … हह ह …उसकी आँखों से आंसू आने लगे.

अब मैं पूरी तरह से झड़ने वाली ही थी कि मैंने कहा- रीतिका, मैं झड़ने वाली हूँ!फिर वह और तेजी से मेरी चूत में उंगली पेलने लगी और साथ में चूत को चाटने भी लगी, वो अपनी जीभ को मेरी चूत में घुसा दे रही थी जिससे और ज्यादा उत्तेजना हो रही थी और मजा आ रहा था.

एक्स एक्स भोजपुरी बीएफ?

वो मेरे बालों पर हाथ फेर रही थी।मैंने मन में कहा- बेटा लोहा गर्म है. फिर से पिंकी ने गुलाबी साड़ी पहनी हुई थी।मैंने पिंकी को अपने पास खींच लिया और दरवाजा बंद कर दिया ‘क्या मस्त लग रही हो जान. थोड़ी दूर चलने के बाद मैंने रेवती से कार रोकने के लिए कहा और जैसे ही रेवती ने कार रोकी, मैंने कार से उतर कर बाहर की तरफ भागते हुए वोमिट कर दिया.

तो मैंने उसके दोनों मम्मे दबाते हुए उसकी चूत पर से हथेली फिराना शुरू किया। हाय. ’उसकी चूत में मेरा लंड आधा चला गया और गीली चूत होने से वो थोड़ी नीचे को हुई और पूरा लंड उसकी गरम चूत में समा गया।अहह. माइक ने एक हाथ से मुनीर की नाइटी को सरका दिया और दूसरे हाथ से तारा की ब्रा का हुक खोल दिया.

मैंने मधु को सोफे पर ही घोड़ी बनाया और उसकी चूत में पीछे से लन्ड डाल कर चुदाई करने लगा. मैंने उसकी गाण्ड को चोदना शुरू कर दिया और इस बार जो मैंने उसकी गाण्ड मारी. उसने मुझे डॉगी स्टाइल में करके अपने लंड का टोपा, मेरी गांड की मोरी पर रख कर धक्का मारा, मेरी चीख निकल गई.

मेरी पिछली कहानी थीकमसिन साली की मस्त चूत चुदाईतो एक बार फिर आपका अपना सरस आपके सामने हाजिर है, एक नई और बेहतरीन कहानी लेकर. अब मुझसे चुपचाप नहीं रहा जा रहा था, मैं समझ नहीं पा रही थी कि मैं क्या करूं … मेरा पूरा जिस्म टूटने लगा और मैं कसमसाने लगी.

मुझे नहीं पता, मगर मेरी चूत मुझ से बहुत कुछ कह रही थी कि काश आज मैं मालती की जगह होती तो यह मज़ा मुझे मिल रहा होता.

’सुनील के मुँह से लगातार ऐसी आवाजें आ रही थीं।फिर मैंने सुनील को उल्टा करके उसके कूल्हों पर काफी आयल लगा कर उसकी गांड की मसाज की जैसा कि अक्सर काफी लड़कियाँ और औरतें मुझ से ऐसा करवाती रहती थीं।इससे सुनील को काफी मज़ा आ रहा था।तभी सुनील भी मेरी चूत में एक उंगली और दो उंगलियाँ मेरी गांड में डाल कर.

दो-तीन बार फोन करने के बाद भी मैं उससे कह नहीं पाया।फिर मैंने पूरा दम लगाकर उसे फोन किया और उसे मैंने बोल दिया- सुमा आई लाइक यू।उसके बाद उसने कुछ जवाब नहीं दिया।मैंने उससे पूछा- क्या हुआ?उसने जवाब नहीं दिया फोन रख दिया।अगले दिन जब वो कॉलेज में आई. दिल करता है गीत को एक साथ मिल कर चोदें और इस साली को दो-दो लौड़ों का मज़ा दे दें. भाभी बाहर हैं और कुछ देर में अर्जुन भी आता ही होगा।सन्नी- अरे भाभी तो चुदवा कर मज़ा ले चुकी है.

तो हम दोनों के जिस्म की आग हम दोनों को जला देगी।मैं लगातार उसको किस कर रहा था उसकी चूची को दबा-सहला और पिंच कर रहा था। उसके जिस्म की थरथराहट से मुझे पता चल रहा था कि वो पल दूर नहीं. दु:ख रहा है।तो वो रुक गया और धीरे-धीरे मेरी गाण्ड मारने लगा। मुझे अभी भी हर धक्के पर दर्द हो रहा था. मैं भी पहले अच्छी थी और परिवार में साधारण तरीके से ही रहती थी लेकिन जब से मेरी चूत ने लंड लेना शुरू कर दिया था मैं अपने परिवार से थोड़ा अलग हो गयी थी.

तो मैं उसे देखता ही रह गया, उसकी उम्र करीबन 18 साल होगी, उसकी अभी मूछों के बाल आने लगे थे और वो एकदम दूध सा गोरा था.

मॉम पूरी नंगी होकर नहा रही थीं, उन्होंने अपने पूरे बदन पर साबुन लगाया और अपने चूचे मसल-मसल कर नहाने लगीं।उनका पीठ पर हाथ नहीं पहुँच पा रहा था. फिर एक दिन मैंने ठान लिया कि आज अपने लंड की तड़प को मिटाकर ही रहूँगा।वो शनिवार का दिन था और मेरे परिवार के सभी सदस्य मंदिर गए थे. मैं चुप रहा तो वो समझ गई कि मैंने सिर्फ उसको न चिल्लाने के लिए यूं ही कहा था कि मेरी बात सुन लो.

मैंने अपना लौड़ा उसकी चूत में पेल कर मैंने उसकी चूत के परखच्चे उड़ाने शुरू कर दिए. आज मेरा भाई परेजू मुझसे मिलने आया और मुझे चोद गया तो मैंने सोचा कि अपने दोस्तों को बताऊँ कि मेरी चूत चुदाई शुरू कैसे हुई. और लंड को चाटने लगीं।लगभग 5 मिनट तक मेरा लंड चूसने के बाद वो मेरे ऊपर फिर लेट गईं.

उसने कुछ न कहा और मेरा साथ देने लगी।फिर उसने कहा- मैं तेरा लंड देखना चाहती हूँ।मैंने कहा- जानेमन सब तुम्हारा ही है।फिर उसने मेरी पैंट खोल दी औऱ मेरे लंड को देखने लगी। लण्ड बड़ा होकर 6 इंच का हो गया था औऱ शायद इसी पल का इंतजार कर रहा था।मैंने उससे कहा- इसे मुँह में लेकर देखो।पहले तो उसने मना किया.

तुमने जितने जोर से मुझे अपनी बांहों में कस कर दबाया, उस तरह से सुहागरात में मेरी बीवी ने भी नहीं कसा, अब इतना सब कर दिया तो अब नाटक बंद कर शर्म झिझक छोड़, अपनी आंखें खोल और जो तेरे अंदर आये वो सब बोल वन्द्या, जितना खुल कर के सेक्सी बातें गंदी बात करेगी और सुनेगी उतना ही जोश बढ़ेगा, उतना ही तुझे मजा आयेगा. थोड़ी देर बाद उसने मुझसे कहा- क्या आप मुझे अपना फोन देंगे?तो मैंने उसे अपना फोन दे दिया.

एक्स एक्स भोजपुरी बीएफ आपको बताना चाहूंगा कि मेरे चाचा की ससुराल भी हमारे गांव में ही है, तो अंतिमा का भी हमारे घर आना जाना लगा रहता था. क्योंकि मेरे लिए तुम एक लड़की ही हो। तुम मेरा लौड़ा चूसो और मैं तुम्हारी गाण्ड की चुम्मियाँ लूँगा.

एक्स एक्स भोजपुरी बीएफ ’ लौड़ा पेल रहा था। कुछ देर बाद पुनीत ने पायल की गाण्ड में पिचकारी मारनी शुरू की. उससे पहले वो खड़ी हुई और हाथ में वो पानी की गिलास लिए हुए मेरे पास आ गई, वो धीरे से नीचे बैठी और कहा- मैं तुम्हें बहुत पसंद करती हूँ और तुम्हारी हर ज़रूरत को पूरा करूँगी।इतना कहते ही उसने वो पानी का गिलास अपने चूचों पर गिरा दिया।मेरी नज़रें उसके उभरे हुए चूचों पर गईं तो मैं दंग रह गया.

और उसने मेरी निक्कर का इलास्टिक खींच कर उसे थोड़ा नीचे किया। मेरी निक्कर वाकयी लूज थी इसलिए वह तुरंत मेरे गोल कूल्हों से नीचे खिसक गई।मैंने भी उसे ऊपर नहीं किया.

डॉक्टर की सेक्सी बीपी

गीत को शायद मेरा इस तरह करना अच्छा लगा। जब उसने कोई प्रतिक्रिया नहीं की. बुआजी ने बताया कि चुदाई का इतना मजा उन्होंने आज से पहले कभी नहीं लिया. हम दो-तीन दिन में आ जाएँगे।’हम दोनों ने हामी भर दी, वो तीनों अपनी गाड़ी से निकल गए।अब घर में मैं और भाई रह गए थे।भाई- ऋतु चलो कहीं घूम कर आते हैं अभी 8 बजे हैं डिनर भी बाहर कर लेंगे।मैं बोली- ठीक जैसा आप ठीक समझें।मेरे ऐसा कहने पर भाई बहुत खुश हुए और बोले- मेरी जान, आज तुमने ऐसा बोल कर खुश कर दिया।मैं- मैंने क्या बोला?भाई- ‘आप’ बोल कर.

इसीलिए किसी ने किसी का मुँह में नहीं लिया।कई दिनों तक ऐसा चलता रहा. दुसरा हेन्ड सम दिसणारा कल्पेश होता बॉडी जीम्नास्तिक होती साला हा मला घोसळून काढेल असे मला वाटून गेले. वैसे मैं मौका देख कर किसी न किसी को पटा लेती हूँ और उससे चुदवा लेती हूँ.

उसने कहा- अगर तुम्हें कभी ठंडा पानी या कुछ और चाहिए हुआ करे तो तुम मेरे घर से ले लिया करो.

जिस पर भरोसा कर सकूँ।मैं- कोई नहीं मिली? कैसी लड़की चाहिए आपको?भाई- बोले तुम बुरा तो नहीं मानोगी।मैं बोली- बोलो भाई. मैंने अपने लण्ड का सुपारा एक हल्के से झटके से भाभी की चूत में पेल दिया।इतने में ही भाभी कराहने लगीं- आह. मेरे मकान मालिक अपने दूसरे मकान में रहते थे, जिस वजह से मुझे वहां परेशान करने वाला कोई नहीं था.

पहले मैंने उसकी पैन्टी के ऊपर से ही उसकी चूत पर चुम्बन किया और फिर अपने मुँह में भर के चूसने लगा।वो पूरी तरह गरम हो चुकी थी. उसने कहा- ये आप क्या कर रहे हो भैया?मैंने कहा- जो तू पूछ रही है, वही बता रहा हूँ. मेरी चीख निकली, पर उन्होंने मेरा मुँह बंद करके एक करारा ज़ोर का झटका दे मारा, जिससे उनका मशरूम जैसा सुपारा मेरी टाइट चूत में घुस गया.

क्योंकि अब कोई और आने वाला नहीं था। मैं अन्दर गया और किरण से पूछा- अब पूजा तो नहीं आएगी न?वो बोली- नहीं अब नहीं आएगी।तो मैंने बोला- ठीक है. अब मेरी दोनों तरफ से चुदाई हो रही थी … मुँह से भी और चूत से भी … इसी तरह दादा पोता ने मिलकर मेरी चूत को करीब 4 घंटे तक चोदा.

आप कौन?तो उसने अपना नाम ज्योति बताया। थोड़ी देर बात करके उसने कहा- तुम अगर किसी से ना कहो. ?’ ये कहते हुए मैंने अपने पैर नीचे कर लिए और दोनों पैरों को छितरा लिया। मेरे ऐसा करते मेरी जाँघ के बीच से वीर्य की एक तीखी गंध आने लगी। मेरी चूत और जाँघें चाचा के वीर्य से सनी हुई थीं।शायद संतोष को भी महक आने लगी, वह बोला- मेम साहब, कुछ अजीब सी महक आ रही है?‘कैसी महक?’‘पता नहीं. जैसे अभी कपड़े निकाल कर मेरे पति के सामने लेट जाएगी।मेरे पति और सौम्या बात करने लगे।ठीक छह बजे फिर डोरबेल ने आवाज दी.

प्रिय अन्तर्वासना पाठकोफरवरी महीने में प्रकाशित कहानियों में से पाठकों की पसंद की पांच कहानियां आपके समक्ष प्रस्तुत हैं…पूरी कहानी यहाँ पढ़िए…पूरी कहानी यहाँ पढ़िए…पूरी कहानी यहाँ पढ़िए…पूरी कहानी यहाँ पढ़िए…पूरी कहानी यहाँ पढ़िए….

मैं सोनी के चूचों को दबाए जा रहा था और अब सोनी मेरे काबू में आने लगी। उसकी कामपिपासा जाग उठी और उसके कंठ से चुदासी आवाजें आने लगीं ‘आआहह. वो दिखने में बहुत सुंदर और सेक्सी है। उसका फिगर 38-26-34 है। हम एक-दूसरे से सब बातें शेयर करते हैं। कॉलेज के सारे लड़के उस पर मरते हैं।हर कोई उसको चोदने के लिए बेताब है. जैसे ही मेरी गांड में लन्ड टच हुआ, मैं पागल हो उठी, मुझे लगा कि बिना देरी किए सीधे घुसा दें … पर बोल नहीं पाई.

इशारों-इशारों में हम दोनों ने ही बात क्लियर कर दी थी कि क्या करना है।फिर मैंने कहा- डोर लॉक कर दो. मुन्ना अंकल राज अंकल से बोले- यार यह लड़की बहुत सेक्सी है, मैं एक पल भी नहीं रह पा रहा हूं.

उससे रहा नहीं जा रहा था। मैं उसे ऊपर से लेकर नीचे तक चूमने लगा। उसने मुझसे कहा- अब बर्दाश्त नहीं होता. मेरा लंड फिर से खड़ा होने लगा और मैंने भाभी की गांड को हल्के से दबा दी. जिसे देख कर मैंने उसकी तरफ देखा तो पाया कि वो पहले से ही मेरी तरफ देख रही थी और वो हँस कर फिर से मूवी देखने लगी।उसकी हँसी ने मुझे और बेचैन कर दिया।जब मूवी में ज़्यादा रोमाँटिक सीन आने लगा.

डब्ल्यू डब्ल्यू एक्स एक्स एक्स हिंदी

तो मैंने उसकी चूत चाट-चाट कर सारा रस साफ कर दिया।ममता के चेहरे पर एक संतुष्टि के भावों को देख कर मुझे उस पर और प्यार आ गया और उसको किस करने लगा।उसकी योनि का रस उसके होंठों पर लग गया.

तो वो भी अपने लौड़े की आग मिटाने पायल के पास चला गया।पायल को पता लगा कि पुनीत आ गया तो उसने सोने का नाटक शुरू कर दिया पुनीत उसके पास आकर बैठ गया।पुनीत- पायल. उसकी चूत अभी काफ़ी टाइट थी। मैंने उसे किस किया ताकि उसकी आवाज़ ना निकले और अपने लण्ड को अन्दर-बाहर करना शुरू कर दिया।वो तड़फ रही थी पर अब मैं उसकी कहाँ सुनने वाला था. परेजू के लंड को मैं महसूस तो कर रही थी और यह भी पता चल रहा था कि वो एकदम लंड तान कर मेरे पीछे खड़ा हुआ है.

तभी विकास के मुँह से डगमगाते हुए शब्द निकले- दा…दा… दादा जी… आआआप…!उफ्फ़ सॉरी सॉरी दोस्तो, मैं आपको अपने बारे में तो बताना भूल ही गयी. कितना मजा आ रहा है मेरी जान!”फिर कुछ और बार के बाद उसने थमने का इशारा किया और अपने फैले हुए घुटनों को आपस में मिला कर पैर सीधे करने शुरू किये. बीपी सेक्सी चालूमैंने बहुत मना किया, लेकिन वो नहीं मानी और जिद से मेरी जेब में डाल दिए.

वो सिर्फ पेटीकोट और ब्लाउज में थीं!मैंने उनको शैम्पू देते हुए मुस्कुराया और मुझे देख कर वो भी मुस्कराईं।मैं शैम्पू देकर अपने घर आ ही रहा था. जब मैं और मेरे पति एक मॉल में कुछ खरीदने के लिए गए थे। वहाँ मुझ पर एक मर्द रीझ गया, बेचारा आधे घंटा मुझे देख देखकर अपनी पैंट पर हाथ फेर रहा था, मेरा तो ध्यान ही नहीं था.

उनकी हाइट 5’5″ है और वो एक बहुत ही सेक्सी लेडी हैं, उनका फिगर 38-30-36 का है, उनकी उम्र 38 साल की है. क्योंकि चार बीवियाँ चोदना बड़ा मुश्किल होता है। कैसे कर पाता होगा जमील ये? तो सोनू ने ये बात जमील मियाँ की एक औरत तस्लीम से पूछी।‘न पूछ सोनू. मगर प्रिया के बारे में जानने के बाद मैं उनके घर आने के लिये इतना उतावला हो गया कि रास्ते में ही मैंने भैया से बोल दिया कि मैं कल ही अपना सामान लेकर यहां आ जाता हूँ.

उसने एक धक्का मारा और उसका सुपारा मेरी गाण्ड में उतर गया। मुझे एक बार दर्द सा हुआ और मैंने गाण्ड हिला कर एड्जस्ट किया।अब उसे बहुत मज़ा आया और उसने कस के एक और धक्का मार दिया। अब उसका आधा लण्ड मेरी कोरी गाण्ड में उतर गया और मुझे बहुत दर्द हुआ। मैं एकदम से बोला- अयाया. मीठानंद भी अपनी बहू को अपनी गोद में लेकर ऐसा अनुभव कर रहे थे मानो उनकी गोद में उनकी सेक्सी प्रेमिका हो. ’‘क्यों होती है?’‘मेरा साढ़े छह इंच का लंड तुम्हारी चूत में लैंड करता है न.

पूजा ये देख कर पहले तो शर्मा गयी, उसका चेहरा लाल हो गया और फिर वो ललचाई आंखों से मेरे खड़े लंड को देखने लगी.

अब वह सिर्फ ब्रा-पैंटी में थी।मैंने उसे गोद में उठा कर बेड पर लिटा दिया। उसके गुलाबी लबों को चूमने लगा. मैंने अपने खड़े और गीले लंड की फोटो लेकर अनु को सेंड कर दीं- कैसा लगा?अनु- ओह.

उसकी गालियों से खुश होकर मैंने उसके चुचे को दबाना शुरू किया तो मधु ने अपने पैर नीचे किए और मुझे पकड़ के अपनी तरफ खींच के गले लगाया और जोर से भींच के अपना पानी छोड़ना शुरू कर दिया. बहुत ही दर्द हो रहा था। वो नरक के दो घंटे में कभी भी नहीं भूल सकती. जैसे ही मैंने अपनी जीभ उसकी चूत पर लगाई, उसकी सिसकारी निकलने लगी और वह उछल पड़ी.

मैं जानता था कि मेरा लंड छोटा है, लेकिन मुझे यह नहीं मालूम था कि मेरे अंदर लड़की वाले गुण हैं. मैंने उसे छोड़ दिया और मीशू अपने हाथ से मेरा लंड हिला कर लंड से पानी निकालने का काम करने लगी. सोने पे सुहागा यह था कि वो जब ये कर रहा था तो उसका लंड मेरी चूत पर रगड़ खा रहा था.

एक्स एक्स भोजपुरी बीएफ हमारे रिश्तेदारों में किसी की शादी थी, ये शादी पास ही के शहर में सम्मेलन था, उसमें होकर होने वाली थी. उसके बाद सुमेर भैया ने सुलेखा भाभी से शादी कर ली, जिससे उन्हें कुशल पैदा हुआ.

मराठी सेक्स साड़ी वाली

मैं और मेरी पत्नी दोनों घर पर ही थे, हम आपस में तीनों हंसी मजाक करने लगे. मैंने भी अब सोचा कि जब प्रिया मुझे इतना मजा दे रही है तो क्यों ना मैं भी प्रिया को मजे देने के साथ साथ खुद भी उसकी चुत के रस का स्वाद ले लूँ. ” नीलम बोली।मैं बातें बनाता नहीं भाभी, बस खूबसूरती देखकर खुद ही मेरी जबान से निकाल जाती हैं.

जो होना था हो गया।पायल जब नहाकर बाहर आई तो उसने बस तौलिया लपेट रखा था, उसके बाल भीगे हुए थे. मैंने भी सोचा कि ‘चलो यार, फ्री में टाइम पास करना चाहती है करने में क्या जाता है. चोदाई विडीयोप्रिया के गर्म गर्म थूक के अहसास से मेरे लंड में भी अब हल्की उत्तेजना सी आ गयी थी.

’ जेठ का लण्ड मेरी चूत में अन्दर-बाहर हो रहा था। मैं ज़ोर से चुदने का मजा ले रही थी ‘आआआ.

मैं रोज रात को भाभी की चूत के बारे में सोच कर मुठ्ठ मारा करता था।एक दिन मॉम और मेरी बहन एक शादी में चले गए. और बिना रुके धक्के मारने लगा।अब मुझे उसका लंड मोटा महसूस हो रहा था.

गाण्ड भी लाल-लाल हो गई थी, उससे उठा भी नहीं जा रहा था, उसके शरीर पर सब जगह वीर्य के धब्बे पड़े थे. थोड़े ही दिनों में जान पहचान हो गयी, पर अभी तक मैंने अपनी न तो तस्वीर को उनके साथ साझा किया था. तो पूछा- भाभी मुझे समझ नहीं आया?तो बोलीं- देवर जी इतने नासमझ न बनो.

अब तक वो भी गर्म हो गयी थीं, क्योंकि वो मुझसे कह रही थीं कि वो मेरा लंड चूसना चाहती हैं.

मानो मेरी योनि को पूर्ण रूप से गीला और चिपचिपा कर देना चाहते हों।मेरी योनि तो शुरू से ही गीली थी. हैलो दोस्तो, अन्तर्वासना के सभी पाठकों को मेरा खड़े लंड से नमस्कार।मेरा नाम प्रेम शर्मा है. मुझे बिस्तर पर औरतों के साथ तरह तरह के एक्सपेरिमेंट करने में बहुत मज़ा आता है.

औरत के साथ सेक्सउसकी नंगी चूचियों को हाथ में लेकर दबाने में अलग ही आनन्द आ रहा था।उसके हाथ मेरे बालों में घूम रहे थे और वो मुझे अपनी चूचियों पर दबा रही थी। मुझे ऐसा लग रहा था कि मैं उन मम्मों को खा लूँ।तभी वो मेरे ऊपर आ गई. अगली फ्लाइट से दिल्ली आ रहा था।अदिति ने मुझे बताया तो मेरी तो फट कर हाथ में आ गई।फिर हम दोनों ने जल्दी-जल्दी कपड़े पहने और उसने मुझे मेट्रो पर छोड़ दिया और खुद अपने पति को लेने चली गई।तो दोस्तो, एक विवाहित लड़की को चोदने का ये मेरा पहला और छोटा सा अनुभव था। उसके बाद की कहानी फिर कभी।आपके मेल का इंतज़ार रहेगा।[emailprotected].

हिंदी वीडियो ब्लू

तो देखा कि दोनों पूरी तरह से नंगी होकर एक-दूसरे की चूत को चाट रही हैं। मैंने अपना मोबाइल निकाला और दोनों की रिकॉर्डिंग करने लगा। जब दोनों का पानी निकल गया. पाँच-सात तगड़े झटकों के बाद मेरा पानी निकल गया और अब ऐसा लग रहा था कि मेरे शरीर में अब और जान नहीं बची है… लेकिन अब भी वो मुझे ठोके जा रहा था. तभी मैंने उनके चुचे दबाने शुरू किए, वो बिल्कुल पागलों की तरह हो गईं.

सच में यह मेरा पहला अनुभव था कि ज़्यादा चिल्लाने से चुदाई में ज़्यादा मज़ा आता है. लेकिन मुझे नींद कहां आ रही थी, कुछ टाइम बाद लगभग रात के 1:00 बजे जब मेरी पत्नी सो गई तो मैंने उसको धीरे से कान में कहा- नीरू, अब तुम्हारी दीदी सो गई है. मैंने उसको चुप रहने को कहा, तो वो बोली कि उसने अपनी सास को पहले ही नींद की गोलियां दे कर सुला दिया है.

मैंने फोन किया किसी लड़की ने फोन उठाया और बोली- कौन?मैंने कहा- विक्की. फिर मैंने उसकी लैगिंग्स उतार दी और पैटी के ऊपर से ही उसकी चुत चाटने लगा. जब पति से चुदकर मेरी चूत को शांति नहीं मिली तो मैं अपने देवर से अपनी चूत शांत करवाने लगी.

थोड़ी देर ऐसे ही रहने के बाद उसने फिर मुझे ऊपर आने को कहते हुए बोली- चल अब चढ़ जा. ऐसा लगता है कि सारी उम्र तुझसे लिपटा ही रहूं। ये तेरे जिस्म की खुशबू मुझे मदहोश कर रही है.

मैं सातवें आसमान पर उड़ने लगी, मैंने अपने चूतड़ ऊपर उठा दिए और नीचे से धक्के मारने लगी।मैं बोली- मोनू इतना मज़ा तो आज तक कभी नहीं आया.

यह मेरी पहली और सच्ची चोदन स्टोरी है अगर कोई गलती दिखे तो माफ कर देना. वीडियो बफ हिंदी मेंशाम को चार बजे तक दो बार और चुदाई हुई।कैसे मेरी ज़िंदगी ने एक और मोड़ लिया मेरी अगली कहानी में लिखूंगा।आशा करता हूँ कि मेरी यह सत्य घटना आपको पसंद आई होगी।[emailprotected]. இங்கிலீஷ் செக்ஸ் ஃபிலிம்ஸ்’ ये कहकर और ज़ोर से खींच रहा था। तभी पिंकी को मेरे लण्ड का एहसास हुआ. ताकि रात में भरपूर मजा उठा सकें। हम इस रात को इतनी यादगार बनाना चाहते थे जितनी कि हमारी सुहागरात… और इसी हिसाब से इंतज़ाम भी किए थे।सारा कमरा अपने महबूब के इंतज़ार में झूम रहा था। भीनी-भीनी इत्र की खुश्बू आ रही थी। मोमबत्तियों का मद्धिम प्रकाश था और एक शानदार गिफ्ट मैंने भी ख़रीदा था.

मोटा लंड अन्दर जाते ही मेरे मुँह से सिसकारियां निकलनी शुरू हो गईं और मैं आहें भरती हुई विकास के लंड से अपनी चुदाई करवाने लगी.

पर नायर ने तुम्हें चोदकर सुख ले लिया और मेरी तुम्हारी चुदाई की पोल भी जान गया।मैं बोली- लेकिन आप यह बात नायर से मत करना कि तुमको भी जानकारी है, आप अनजान बने रहना. हमारे रिश्तेदारों में किसी की शादी थी, ये शादी पास ही के शहर में सम्मेलन था, उसमें होकर होने वाली थी. मैंने पायल की तरफ देखा तो वो सिर्फ वीडियो में सनी लियोनि की चुदाई देखने में मस्त थी.

कुछ देर बाद रेवती खाना लेकर आ गई और मुझे अपने हाथों से खाना खिलाने लगी. जिस पर भरोसा कर सकूँ।मैं- कोई नहीं मिली? कैसी लड़की चाहिए आपको?भाई- बोले तुम बुरा तो नहीं मानोगी।मैं बोली- बोलो भाई. अंकित ने मेरे होंठों पर अपने होंठ रख दिए और मेरे होंठों को जमकर चूसते हुए बोला- वन्द्या मां की लौड़ी साली छिनाल.

बीपी वीडियो पिक्चर

हम दोनों रोजाना चुदाई करते थे और उसके बाद जब भी मौका मिलता है हम उसे गंवाते नहीं हैं। अब चाची को 2 बच्चे भी हो गए हैं. मैंने उसे बिस्तर पर लिटाया और उसकी पेंटी खोली तो उसकी चिकनी चुत देख कर मैं फिर से पागल हो गया और उसकी चुत चाटने लगा. मुझे लगा कि वो जाग रही है और वो कुछ नहीं कह रही थी, तो मेरी हिम्मत और बढ़ गई.

कुछ तो शर्म करो!’‘अब तुमसे कैसी शर्म… अब तो तुम मेरी रानी हो…’ रोहन हँस पड़ा।‘आज रात का क्या प्रोग्राम है.

कहीं कोई आ गया तो सारा मामला बिगड़ जाएगा।पायल- भाई आप सच में नंगे हो रहे हो? मैं समझी मुझसे मजाक कर रहे थे।पुनीत- अरे मजाक क्यों.

मैंने उससे दूर होते हुए कहा- अरे यार इतनी भी क्या जल्दी है … पहले डोर तो लॉक कर दो, कोई देख लेगा. बातचीत में मालूम हुआ कि इस समय उसके पति पूना, जो कि महाबलेश्वर से करीब 150 किलोमीटर दूर है, अपने कारोबार के सिलसिले में गए हुए हैं. ভূতের বই ভূতের বইचलो नीचे कमरे में चलते हैं।फिर चाची नीचे जाने के लिए उठीं और अपने ब्लाउज का बटन बंद करने लगीं।मैंने उनका हाथ पकड़ा- रहने दो ना.

और मेरे चेहरे पर एक कातिलाना स्माइल आ गई।क्योंकि आज मैं पहली बार पी रही थी इसलिए मैंने बहुत थोड़ी सी ही पी और उन्हें भी थोड़ी सी ही पिलाई ताकि मेरा सारा प्लान बर्बाद ना हो।वो बहुत खुश लग रहे थे।उसके बाद मैं उन्हें कमरे में ले गई और उन्हें कपड़े खोलने को कहा। वो यह नहीं जानते थे कि मैं आज क्या करने वाली हूँ. तभी मेरे दिमाग़ की घंटी बजी और मेरे पति की बात याद आने लगी कि ‘विकी मज़ा दे रहा है ना…’ मैंने सोचा जब उनको पता ही है तो मैं क्यों शर्म करूँ; मैंने विकी को बोला कि ऐसा झटका मार कि मेरी चीख निकल जाए. यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !अब मैं उठा और मकान-मालकिन किरण के बिस्तर पर जाकर बैठ गया और उसके मम्मों को दबाने लगा।बोली- आर्यन.

इसलिए मेरे लंड को चूसते हुए प्रिया ने अब अपनी लचीली गर्म जीभ को भी धीरे धीरे मेरे सुपाड़े पर घुमाना शुरू कर दिया. जिससे हम तीनों को सीट मिल गई थी।मैं अपने साथ एक जीके की बुक लेकर आया था जिसे मैं पढ़ रहा था।मुझे पढ़ता देख वो लड़की भी मेरे पास आकर उसी बुक को पढ़ने लगी।इस तरह हमें पढ़ते हुए 1:30 बज चुके थे ट्रेन के अधिकतर लोग सो गए थे और अब हमें भी नींद आने लगी।अब हमने किताब बन्द कर दी थी और आपस में बातें करने लगे। बातों-बातों में मैंने उससे नाम पूछा.

फिर चाची बिस्तर पर बैठ कर मेरी तरफ देख कर बोलीं- इतने सालों से तड़प रही हूँ.

’ कहते हुए उन्होंने सुपारे के चमड़े को अपने हाथ से हौले-हौले पीछे किया।मेरा लाल लाल सुपाड़ा उनकी आँखों के सामने था। लण्ड तो पहले से तना था. अपनी गाण्ड उठा कर ऊपर लौड़े पर धक्का देने लगी।लड़का समझ गया कि अब यह माल मेरा लण्ड खाने के लिए तैयार है।वो धीरे-धीरे अपने कपड़े उतारने लगा। लड़की लण्ड को हाथ में लेकर हिलाने लगी और अपने और खींचने लगी।लड़के ने उसे भी पूरा नंगा कर दिया चूंकि अब अँधेरा हो चला था. सलोनी अपने कमरे में जाकर कपड़े पहनने लगी तो विजय ने उससे कपड़े ले लिए और कहा- अभी कहाँ पहन रही हो.

ब्लू फिल्म हिंदी वीडियो अभी घर में कोई नहीं है और कितने दिनों से मेरे लंड का पानी अन्दर ही सूख रहा है। मेरा लावा अपनी चूत में ले लो मौसी।उन्होंने कहा- प्लीज़. मेरे होंठो को चूसने लगीं।मैं भी उनसे कसकर चिपक गया। अब मैंने भाभी की दोनों टाँगों को फैला दिया और उनकी चूत पर हाथ फेरने लगा।फिर पैन्टी के ऊपर से ही लंड घिसने लगा। मेरा मन तो कर रहा था कि अभी घुसा दूँ पूरा का पूरा.

उसने कुछ नहीं कहा, तो धीरे धीरे मेरी हिम्मत बढ़ी और अब मैं अपने पैर से उसकी गांड को अच्छे से सहलाने लगा. अब हम दोनों बहुत आगे बढ़ चुके थे, हमारे बीच अब ज्यादातर सेक्स की भी बातें ही होने लगी थीं. ’ उन्होंने अत्यधिक गुस्से से कहा।मैं वहाँ रुकता तो मामला और बिगड़ सकता था.

ब्लू पिक्चर सेक्सी दीजिए

वो खाने के लिए बैठ गए।काका ने खाने के साथ ‘जूस’ भी दे दिया।अब वो खाने के साथ बातें करने लगे, जब खाना फिनिश हो गया तो सोने के लिए सब अपने कमरों में चले गए।पायल को पता था. यह कहकर उसने सपना को भगा दिया। उस समय के बाद सपना को मेरे लंड से चुदने का ऐसा नशा चढ़ा कि वो पैसों के इंतज़ाम में लग गई और हर समय मुझसे चुदने के सपने देखने लगी।कुछ समय बाद सपना अपनी एक सहेली की भाभी के साथ एक कंप्यूटर सेंटर पर गई और उन दोनों ने एक कोर्स करने की फीस पता की. यह सोच कर कि वो मुझसे क्या कहेगीं।मैं उनके घर गया और पूछा- जी आँटी.

आज मैंने रेवती को बहुत करीब से अनुभव किया था व उसकी जवानी को निगाहों से होकर निकाला था. पर हमारी फैमिली के उनके साथ बहुत अच्छे संबंध हैं और हम सब फैमिली की तरह ही रहते हैं।चाचा दो भाई हैं.

लेकिन मैं सुन ही नहीं रहा था।बीच में एक बार मैंने अपना लंड बाहर निकाला और अनु को चूसने को कहा.

वो उस स्वाद को महसूस कर रही थी।कुछ पलों के बाद उसने अपनी पकड़ ढीली की. मैंने वी पहले उसकी मोटी जाँघों को सहलाया और फिर अपना हाथ उसकी फुद्दी पर ले गया. विक्रम ने अपनी माँ को पूरी नंगी देखा तो बस देखता ही रह गया लेकिन उसने अपनी उंगली माँ की गांड से निकाली नहीं, बल्कि उसी क्षण अपना एक हाथ पीछे से शीतल की चूची पर रख दिया और उस पर साबुन लगाने के बहाने उसको भी मसलने लगा.

उसकी टाँगों के बीच में आ गया।अब मैंने एकदम से चूत को चाटना शुरू कर दिया और मैं इस बार जोर-जोर से चूत को पूरा मुँह में भर कर चाट रहा था। उसका पानी और चाकलेट का टेस्ट बहुत मस्त लग रहा था। कभी-कभी तो मैं उसकी चूत के दाने को अपने होंठों में दबा कर खींच लेता. मैंने सोनी को नीचे बिठा कर उसके मुँह में अपना लंड डाल दिया और उसके मुँह की चुदाई करना चालू कर दिया।करीब 10 मिनट बाद में मैंने उसके मुँह में ही सारा माल डाल दिया। फिर मैंने सरसों का तेल लेकर अपने लंड पर लगा कर सोनी को लेटा दिया और उसकी चूत पर तेल लगा कर दो उंगलियां अन्दर-बाहर करना चालू किया।सोनी भी अब मस्त होने लगी थी और मेरा लंड भी अब तैयार हो गया था।मैंने सोचा अब देर करना अच्छा नहीं. मुझे तो लगा कोई ने मेरा लण्ड छील दिया। मैंने सोचा ही नहीं था कि पहली बार किसी 45 साल की औरत के साथ सेक्स होगा.

अब वो रोती भी नहीं है, मजे से पूरी गांड उठा कर गांड और चूत मरवाती है.

एक्स एक्स भोजपुरी बीएफ: तो वो बोले- यहाँ कोई नहीं आने वाला और तेरे भाई को मैंने नशे में कर दिया है. तो उन्होंने अचानक मुझे पकड़ लिया और मेरी कमीज़ के अन्दर हाथ देना शुरू कर दिया।मुझे बड़ा अच्छा लग रहा था।फिर उन्होंने मेरी कमीज़ और बनियान उतार दी और मुझसे लिपटने लगीं.

’ की आवाजें आ रही थीं।करीब 15 मिनट की चुदाई के बाद मेरा माल निकलने वाला था।उस दौरान वो दो बार झड़ चुकी थीं, मैंने उनसे पूछा- मेरा निकलने वाला है. जैसे जैसे ब्लू मूवी की चुदाई आगे बढ़ने लगी, मेरी बहन की कामुकता जागती गई. जैसे ही पिंकी का पानी निकला तो मैंने अब पिंकी को नीचे बैठा दिया और उसके मुँह में अपना लंड डाल दिया, पिंकी बड़ी मस्ती से मेरे लंड को चाट रही थी!क्या मजा आ रहा था यारों… ऐसे लगता था कि जन्नत की सैर कर रहा हूँ।फिर मैंने उसके सर को पकड़ा और जोर जोर से झटके उसके मुँह को ही चोदने लगा, करीब 10 मिनट बाद मेरा सारा माल उसके मुँह में ही डाल दिया।अब आगे.

तब होगी अभी तो मैं तुमको चोद कर रहूँगा।यह सुन कर मेरे होश उड़ गए।मैंने बोला- तुम इसलिए यहाँ आए हो?उसने बोला- नहीं यार मैं तुमसे प्यार करता हूँ.

वोव्व्व्व्वो हह्हस्बेण्ड आ जाएंगे।’तभी मुझे लगा कि पति सीढ़ी चढ़ रहे हैं ‘वो आ रहे हैं प्लीज छोड़ो. उसने बताया कि उसके पति को लंड चुसवाना और फुद्दी चूसना बिल्कुल भी पसंद नहीं है. फिर कपड़े बदल कर आ गया और बोला- अब खाने चलें?कीर्ति ने कहा- हाँ चलो.