भाभी की बीएफ सेक्सी फिल्म

छवि स्रोत,स्टूडेंट ऑफ द ईयर फुल मूवी

तस्वीर का शीर्षक ,

हिजड़ा बीएफ सेक्स: भाभी की बीएफ सेक्सी फिल्म, मैं- भाभी में अपना लंड तुम्हारी चूत में नहीं, कहीं और डालूंगा, बोलो डालवाओगी?भाभी- हां, जहां डालना है डालो, जहा घुसाना है … घुसाओ … पर जल्दी.

नहाने सर्दी जोक्स

लेकिन टॉवल से सिर्फ मेरे मम्मों और मेरी चूत के ऊपर का थोड़ा सा हिस्सा ही ढका हुआ था. ऑनलाइन साड़ी बुकिंगमैं उसकी चूचियां रगड़ने लगा तो नीता अपनी गांड उठाकर मेरे लंड पर अपनी चूत रगड़ती हुई बोली- अब नहीं रहा जाता हर्षद … तुम जल्दी से अपना मोटा लंड मेरी चूत में डाल दो.

मैं अपनी चूचियों में साबुन लगा रही थी, पैंटी के ऊपर से चुत की फांकों में उंगली घुसा रही थी. বাংলাদেশbfउसने अपनी ब्रा पैंटी झुक कर उठाई और जैसे ही खड़ी हुई, उसका फिर से फ़ोन बजा.

उसकी सिसकारियां एकदम से तेज हो गईं और वो कसमसाने लगी- उई अम्मी मर गई … आअह इस्स्स्स्श!वो मेरा सिर पकड़ कर अपनी चूत में ऐसे दबाने लगी, जैसे वो मुझे चूत के अन्दर कर लेने की सोच रही हो.भाभी की बीएफ सेक्सी फिल्म: अब मैं भाभी पर लाइन मारने लगा, कभी उनकी खूबसूरती की तारीफ करता, कोई न कोई बहाने से उनको छूने की कोशिश करता.

उन्होंने मुझे बैठाया और बोलीं- तुम नहीं होते, तो पता नहीं कौन हेल्प करता.वो जबरदस्ती पीने को बैठी थी रुचि ने ही वाइन के तीन पैग बना कर सभी के हाथ में दे दिए.

पंजाबी सेक्सी वीडियो सेक्सी वीडियो - भाभी की बीएफ सेक्सी फिल्म

मैंने पूछा- अगर तुम प्रेग्नेंट हो गई तो?उसने मुझे बताया- मैं कभी मां नहीं बन सकती क्योंकि मेरी बच्चेदानी निकली हुई है.[emailprotected]ससुर सेक्स की हिंदी कहानी का अगला भाग:लॉकडाउन में ससुर बहू की चुदाई की मस्ती- 3.

इस बार मैंने सीमा की चूत चोदी और ना जाने क्यों मुझे हमेशा से कहीं अधिक आनन्द आज सीमा की चुदाई उसके पति सामने करने में आ रहा था. भाभी की बीएफ सेक्सी फिल्म मैं जानता था कि दीदी मेरी वजह से ही बालकनी में स्कर्ट पहन कर खड़ी है.

अचानक मम्मी ने दीदी को आवाज़ दी और दीदी तुरंत मेरे लंड को धक्का देकर नीचे चली गयी.

भाभी की बीएफ सेक्सी फिल्म?

उसकी जांघों को जूम करके देखता रहता था, जिसमें 2 तिल भी मस्त दिखते थे. जोर जोर के झटकों से और प्रिंसीपल मैडम की मादक सिसकारियों से पूरा कमरा गूंज रहा था. नीता ने अपना सर मेरे कंधे पर रखकर कहा- मुझे बहुत डर लग रहा है हर्षद.

मैंने अपने भाई के पास जाकर उसको जब सब बताया और मम्मी पापा को बताने की धमकी दी. मेरी आंखें चमक उठीं और मैंने एक पल का समय भी न गंवाते हुए लंड को अपने मुँह में ले लिया. अब मैंने अपने खड़े सनसना रहे लंड पर थूक लगा कर उसके छेद पर रखा और कहा- डाल रहा हूं.

मैंने उसको थोड़ा सा ऊपर उठाकर दीवार के सहारे झुकाकर डॉगी स्टाईल में ही खड़ा किया और उसके शरीर को अपने हाथों में भींचकर चोदने लगा. अञ्जलि की आंखें कुछ देर पहले तक विकराल हो रहे नत्थूलाल पर जम गईं, जोकि मूर्छित होने होने के बाद भी कड़क अवस्था में थे. मैंने गांड उठाते हुए कहा- आंह तू आज चोद ले मेरी बुर … साले कल मैं तेरी गांड मारूँगी.

फिर मैंने पूछा- क्या आप मुझे उस दवा का नाम लिख कर दे सकती हो, जो आपने इंजेक्शन से डाली थी?उसने सवाल करते हुए पूछा- क्या आप यहां पर दोबारा ड्रेसिंग करवाने नहीं आओगे?मैंने कहा कि मुझे 3 दिन के लिए चंडीगढ़ जाना है, इसलिए दवा का नाम पूछा. एकदम गोरी सी दिखने में खूबसूरत, कद साढ़े पांच फुट, लंबे बाल, फिगर 34-30-36 का … थोड़े से बाहर को निकले हुए चूतड़ थे.

वो कहानी अगली बार कहूंगी।दोस्तो ये मेरी सच्ची हॉट बॉयफ्रेंड सेक्स कहानी है। आशा करती हूं आप सभी को पंसद आई होगी।कृपया आप मुझे ईमेल और कमेंट करके बताइये।और कृपया ईमेल में गंदे शब्दों का या फ़ोटो का इस्तमाल न करें।[emailprotected].

अब चुदाई में दीदी को कोई स्वाद नहीं रह गया, जीभ बाहर निकाल वो लगातार रहम की भीख मांग रही थीं.

अगले कुछ पलों में हम दोनों 69 में आ गए और मैं उसका लंड चाटने लगी और वो मेरी चूत चाटने लगा. इसी के साथ में ही मेरे हाथ कभी उसका एक बूब दबाता, तो कभी दूसरा!मैं मस्ती से उसके दोनों मम्मे दबा रहा था. उनके शाम को जाने के बाद मैं बाथरूम में घुस गई और आधा घंटा गर्म पानी से नहाकर अपनी भोसड़ी और गांड को कुछ आराम दिया.

इस तरह के मौकों के लिए मैं तरह तरह की टेबलेट और तेल से अपने लंड की मालिश करता हूँ, जिससे मेरा लंड काफी ताकतवर और लंबी रेस का घोड़ा बन गया है. फिर वो अन्दर आकर बैठे और कुछ देर की बात होने के बाद उन्होंने बोला- बेटा चाय पिला दो, उस दिन तुम्हारे हाथ की चाय बड़ी अच्छी लगी थी. लेकिन मास्टर साला बहुत बड़ा वाला चोदू था, वो अभी भाभी को धकापेल चोदे जा रहा था.

उसने अपनी टांगों से मेरी कमर को जकड़ कर मुझे अपनी ऊपर खींच लिया और कराहती हुई बोली- ओह हर्षद, अब मैं झड़ने वाली हूँ.

रेशमा- चुप करो बदमाश, उस सुअर का नाम लेकर क्यों मजा ख़राब कर रहे हो? ऐसे लौड़े को चूसने के लिए तो मैं इतने दिन से तड़प रही थी मेरे राजा जी, अब देखो कैसे आपको मजा दिलाती हूँ. तभी उसने अपने दूध हिलाए और बोली- बताओ इस वक्त मुझे लेकर तुम्हारी सोच क्या कह रही है?मैंने न जाने किस झौंक में कह दिया- मुझे साफ दिखाई दे रहा है कि तुम एक रंडी हो और चुदी पिटी आइटम हो. सोनाली बोली- वो कैसे?मैंने उसके होंठों को चूमते हुए पूछा- तुम्हारे पीरियड्स कब आए थे?उसने जवाब में कहा- अभी दस बारह दिन हो गए हैं हर्षद.

वो मुझे बिल्कुल नोंचे जा रही थी और मैं भी उसके जोश का जवाब अपने जोश से दे रहा था. ’थोड़ी देर अच्छे से लंड चूसने के बाद सर ने कहा कि मेघा मेरे पास लेट जा, अब चोद लेता हूँ. फिर पहले मैंने अनीशा की चूत में अपना लंड डाला और 5 मिनट बाद जब लंड चिकना हो गया तो मैंने लंड उसकी गांड में पेल दिया.

जब वो अपनी मादक गांड को हिला कर चलती थीं तो मेरा लंड खड़ा होकर सलामी देने लगता था.

सुमैत्री ने कहा- उफ्फ … एक तो मोटा तगड़ा लंड ऊपर से एक्स्ट्रा डॉटेड और रिब्ड कंडोम लगाया हुआ है … क्या जान लोगे मेरी?मैंने बोला- नहीं, आज जान नहीं बल्कि तुम्हारी गांड की मस्ती लेनी है. थोड़ी देर में हस्बैंड को नशा होने लगा और मुझे भी थोड़ी थोड़ी मस्ती चढ़ने लगी.

भाभी की बीएफ सेक्सी फिल्म उसे वह उठा कर लाया और उसे बच्चों की तरह पहना दिया, नाड़ा बांधा, पजामा पहनाया. यह सुनते ही, उसने भी पीछे से मुझे कसके पकड़ा और बोली- क्यों, क्या इरादा है … बहुत जल्दी में हो क्या!उसने जिस तरह से मुझे पकड़ा था, मुझे बिल्कुल भी उम्मीद नहीं थी.

भाभी की बीएफ सेक्सी फिल्म लेकिन लंड बाहर निकालना बेवकूफी थी क्योंकि फिर वो दुबारा से लंड चूत में रखने भी नहीं देती. अब आगे राजस्थानी सेक्स कहानी का मजा लें:वाइन पीने के बाद हम दोनों पलंग पर ही बैठे हुए थे.

अच्छा यह दबा कर रखा है असली माल, अब तो चूसने दो!”इतने प्यार से मुझे आज तक किसी ने नहीं कहा था.

सेक्स बीपी ब्लू पिक्चर

फिर मैंने उसको बोला- थोड़ा रुक कर तू भी डाल देना!अंतत: उसने भी मोटा लंड पेल ही दिया और मेरी धाकड़ चुदाई करने लगा. ‘आह आह ऊईईई ऊईईई धीरे धीरे आह आआऊच आह …’ऐसी आवाज पूरे कमरे में गूंजने लगीं. अचानक मम्मी ने दीदी को आवाज़ दी और दीदी तुरंत मेरे लंड को धक्का देकर नीचे चली गयी.

दोनों मम्मों पर बिल्कुल छोटे छोटे से गुलाबी रंग के उसके निप्पल देख मेरे मन में बस एक ही बात आयी कि इतनी खूबसूरत बीवी को अकेली छोड़कर कौन बेवकूफ विदेश चला गया. अब एक दिन ऐसा हुआ कि मुझे उनके शहर में अपने काम से जाना पड़ा और काम खत्म नहीं हुआ तो रात रुकना पड़ गया. मुझे भाभी की चुत चोदने में ऐसा लग रहा था जैसे मैं किसी कुंवारी लौंडिया को चोद रहा हूँ.

मेरी शादी को हुए 3 साल हो चुके हैं लेकिन अभी मुझे और मेरे पति को बच्चा नहीं चाहिए … इसलिए हम लोग फैमिली प्लानिंग कर रहे हैं.

सुबह हुई तो मैं घर पहुँचा तो देखा कि मुखिया जी मेरे घर पर ही मौजूद थे. वो मेरा लंड पूरा अन्दर तक ले रही थी और लालीपॉप की तरह चूस रही थी, साथ ही लंड हिला रही थी और गोटियां मसल रही थी. मैं सोचने लगा कि ऐसी क्या बात हुई कि आयशा के घर की बिजली नहीं जल रही है जबकि मेरे घर की बिजली आ रही थी.

मैंने इसी तरह खड़े खड़े उसके शरीर को भींचकर जकड़ लिया और पूरी स्पीड से चोदने लगा. मास्टर ने अपनी उंगली चूत से बाहर निकाली और एक झटके में दो उंगलियां भाभी की चूत में घुसा दीं और जोर जोर से अन्दर बाहर करने लगा. क्या मैं आपके बारे में कुछ जान सकता हूँ?उन्होंने अपने बारे में बताया कि वह प्रयागराज की हैं और आजकल लखनऊ में रहती हैं.

वो बोली- अब ये क्या कर रहे हो हर्षद?मैंने कहा- तुम्हारी चूत अन्दर से साफ कर रहा हूँ. मैं कमरे से धीरे से वापिस आ गया और रसोई में से एक कटोरी में सरसों का तेल ले लिया.

मैंने अन्दर से कुंडी भी नहीं लगायी और घर के आंग़न में कपड़े उतार कर नंगी नहाने लगी और पापा का इंतज़ार करने लगी. उसने दोबारा कहा- या फिर संतरा चलेगा?मैं बोला- जो आपको अच्छा लगे, वो दे दीजिए. अब वो मेरी चूत में लंड डाल कर चोदने लगे- आहह इस्स इस्स आआह मेरी रानी बहुत मस्त है तू … बड़ा मजा दे रही है.

मेरी टीम दो दिन में उनके ऑफिस में पहुंची और हमने पूरी जांच पड़ताल की.

वो गांड मटकाती हुई मेरे पास आईं और बोलीं- सर, आज आप अपनी मैडम की प्यास बुझा ही दीजिए. इस तरह दोस्तो, मेरी चिकनी गुलाबी गांड ने बहुत से लंड की ठोकरें झेली थीं. अब मैं अपना दूसरा हाथ भी उसकी चूचों पर ले गया और उसकी चूचियों की मदद से उसके शरीर को अपनी गिरफ्त में ले लिया.

उसने रुक कर लंड को जोर-जोर से अपनी जीभ पर मारना चालू किया और फिर से चूसने लगी. वो और पर्वी दोनों, आपस में बहनों से ज्यादा सहेलियां हैं … इसलिए एक दूसरे की बात किसी से नहीं करती हैं.

कुछ देर बाद मैंने उसे सीधा खड़ा किया और उसकी टांग उठा कर उसकी चुदाई करने लगा. तब दूध वाला बोला- हम तो तबेले पर ही हैं, बोलो तो आ जाऊं क्या?राज और मोनिका बोले- हां कह दे. कुछ देर लंड रगड़ने के बाद उसने अपना एक हाथ मेरे पेट के पास लगाया और मुझे अपनी दूसरी साइड लिटा दिया.

भोजपुरी bf चाहिए

चूंकि मैं सोफे पर बैठा था और उससे नीचे था, तो मुझे उसके अंडर आर्म्स दिख गए.

मुग्धा अपनी बेटी अंगिका को मेरे पास से हटाना चाहती थी।पर अंगिका ने उसकी बात पर ध्यान नहीं दिया. पर दुनिया का सबसे पवित्र मां, बहन, बाप, बेटी?अगर हम इंसान ही ऐसा करने लग जाएंगे, तो जानवर और इंसान में फर्क क्या रह जाएगा!ये मैंने अपनी अंतरात्मा से कहा है, अगर किसी को बुरा लगे तो माफ कर देना. मैंने भी गुस्से से पूछा- क्यों मेरी रांड? मजा आया असली लौड़ा लेकर? कुतिया साली बड़ी आयी थी रांड बनने.

फिर उसने अपना मुँह नीचे ले जाकर पूरा लंड मुँह में भर लिया और केक के साथ लंड को चूसने लगी. मैं छोटे छोटे चूचों और नाभि से होते हुए दोनों मांसल जांघों के बीच उतर आया. बाप बेटा की कहानीपैंटी डोरी वाली थी, वो सिर्फ चुत को कपड़े से ढक लेती और गांड के बीच में उसकी डोरी फंसी रहे.

फिर अपनी कमर ऊपर करके एक जोर के धक्के के साथ पूरा लंड राखी की चूत में पेल दिया. सच में इतना मजा मुझको कभी अपनी वाइफ के साथ भी नहीं आया था और शायद उसको अपने पति के साथ नहीं आया था.

नीता नकली गुस्सा दिखाती हुई बोली- हर्षद बहुत बेरहम हो तुम … इतनी जोर से भी कोई डालता है क्या?मैंने उसकी चूचियां सहलाते हुए कहा- मैंने तो तुम्हें पहले ही कहा था नीता कि पहली बार लंड लेने में तुम्हें बहुत तकलीफ होगी. तो उर्वशी ने बोला- फ्लैट की चाबी ऊपर वाले फ्लोर पर रहने वाले मकान मालिक को दे कर आई हूँ, बाकी मैं वापस आकर बताऊंगी. अर्चना दीदी अपने भाई का आठ इंच का मूसल लंड गटक कर बेसुध हो गई थीं और कराहती हुई रोने लगी थी.

मतलब चूत मारने वाला लंड अब मेरी गांड में घुस गया और गांड मारने वाला मेरी चूत मारने में लग गया. उसे मैंने भाभी की गांड और अपने लंड पर लगाया और लंड गांड के फूल पर रगड़ने लगा. मजा ले ले!मैं घोड़ी बन गयी और विक्की पीछे से मेरी चूत में लण्ड डालने लगा।मुझे दर्द होने लगा, मेरी चीख निकल गयी।विक्की ने लण्ड बाहर निकाल दिया.

आप मेल करें, बताएं कि आपको सेक्सी भाभी Xxx कॉम स्टोरी में मजा आ रहा है या नहीं?[emailprotected]सेक्सी भाभी Xxx कॉम स्टोरी का अगला भाग:दोस्त की साली की चूत की खुजली- 3.

भाभी बोलीं- हां, पहले तो मेरा भी ऐसा ही मन था मगर मैं कर ही नहीं सकी थी. उसने झट से दरवाज़ा बंद किया और मेरे पास आकर मेरे होंठों पर अपने होंठ रख दिए.

उसने अपनी दीदी के दोनों पैर हवा में उठा दिए और अपने हाथों में थाम लिए. अपने हाथों से थोड़ी देर लंड को आगे पीछे करने के बाद मैं रूना के ऊपर लेट गया. तो मम्मी बोली- आंह आह पूरा खा जाओ न!मम्मी की सिसकारी निकल रही थी- आहहहह अहह उफ़्फ़!तभी मम्मी झड़ गईं और निढाल हो गईं.

मेरी सेक्स पार्ट्नर मेरी कामवाली है, वो बहुत ही नमकीन और सेक्सी है. उस दिन ऑफिस जल्दी क्लोज करके हम सबको उनके घर पार्टी में बुलाया गया था. मैंने फिर से बोला- सही बोला ना मैंने कि आपने बहुत दिनों से लंड नहीं लिया है.

भाभी की बीएफ सेक्सी फिल्म फिर अचानक से मुखिया जी का शरीर अकड़ने लगा और उन्होंने 5-6 जोरदार झटके मारे. मुझे भाभी कि ये अदा और भी प्यारी लगी कि मुझे बिना मेहनत के मजा मिल रहा था.

इंडियन सेक्सी बीपी इंडियन सेक्सी बीपी

उन दोनों की एक बहन 22 साल की अर्चना बहुत ही ज्यादा आकर्षक और सुंदर थी. थोड़ी ही देर में मौसी ने अपनी गांड मेरे लंड से चिपका दी और लंड के साथ छेड़छाड़ करने लगी. उर्वशी ने जैसे मेरी बात को सुना ही नहीं; वो बदस्तूर आगे बोलती रही- आमोद, मैं कुछ सामान लेने साकेत आई थी, यहां पर मॉल में भाभी और भैया मिल गए और फिर भैया भाभी मुझे ज़िद करके फरीदाबाद ले आए हैं.

एक्सीडेंट हुए 8 महीने हो गए हैं, पर फिर भी तुम मेरी मालिश उतनी ही लगन से करती हो. मैं ये कह रहा हूँ कि क्या रिश्तों के अलावा कहीं और चुत मिलनी बंद हो गई जो रिश्तों में ही चुदाई करने का काम किया जाता है. गाओं की हिंदी सेक्सीमेरी आंखों में हद से ज्यादा खुशी थी कि सुनीता मेरी इच्छानुसार चुदाई का मजा दे रही थी.

जैसा कि मैंने आपको पहली कहानीसावन की झड़ी में सहकर्मी लड़की के साथमें बताया था कि कैसे मैंने अपनी सहकर्मी के साथ सेक्स किया था.

कुछ ही देर में लंड बिना किसी दिक्कत के रेशमा की तंग चूत में अन्दर बाहर होने लगा और मेरे हर धक्के की गति अब तेज होने लगी. पहले तो मैं हिल गई … मगर मैं भी खेली खाई हूँ तो मैं भी उसका साथ देने लगी.

अब भी बोलो, तो इसकी में से निकाल कर तेरी में डाल दूँ?राकेश फिक्क से हंस दिया. हम दोनों अंदर जाने लगे।तभी मैंने उसका हाथ पकड़ते हुए कहा- तुम्हें डर नहीं लगता ऐसी जगह पर?उसने न में सिर हिलाया. कुछ देर में मैंने उनको नंगा कर दिया और उनके लंड को अपने मुँह में डाल कर चूसने लगी.

उसे शायद अन्दर तक सनसनी होने लगी थी और अच्छा भी लगा था तो वो फिर से चुम्बन देने के लिए राजी हो गई.

आज तक मैंने अपने तन और मन की प्यास और सारी इच्छाएं मन में ही दबा कर रखी थीं लेकिन आज तुम्हें देखकर सारी इच्छाएं फिर से जागने लगी हैं. उसकी गांड का तो मैं अब दीवाना हो चुका था और जैसे ही वो मुड़ कर जाने लगी, मैं फिर से उसकी गांड देखने लगा. मैंने अपनी दोनों उंगलियां उसकी चूत में डाल दीं और साथ में मैं अपने अंगूठे से उसकी चूत के ऊपर वाला दाना सहलाने लगा.

एचडी मराठी सेक्सीवो बोल रही थी कि ये मेरा ड्रीम था कि कोई अच्छे लंड से अपनी सील तुड़वाऊं … और आज ऐसा ही हुआ है. उसके हिचकिचाने की वजह शर्म नहीं थी क्योंकि हम एक दूसरे को अच्छी तरह देख चुके थे.

सेकसि मुवि

फिर आखिर में जोरदार एक झटका मार कर मैंने सारा पानी उसके गले में छोड़ दिया. मैंने उठ कर कहा- क्या हो गया पापा आप जाग क्यों रहे हैं?पापा हड़बड़ाए- नहीं कुछ नहीं, तुम सो जाओ. तो मैं उठा और जैसे ही दरवाजा खोला तो देखा कि वो भाभी तैयार होकर मेरे सामने खड़ी थी.

उसने कहा- दीपक, आज मेरी बीवी को इतना चोदो कि ये हमेशा के लिए तेरे लंड की दीवानी हो जाए. मैंने जब उसकी आवाज सुनी, तो मैं सकपका गयी कि ये अचानक से कैसे आ गया. फिर वो बोली- प्रकाश मजा आ गया यार तूने तो सेक्स करते करते पहली बार मेरा पेशाब निकाल दिया … और साले तूने मेरे मुँह पर मेरा ही पेशाब फेंका.

तभी उसकी एक और कातिल फ़ोटो आई जिसमें वो थोड़ा झुक कर अपने बूब्स के दर्शन करवा रही थी और उसने अपनी बड़ी बड़ी आंखों में से एक आंख दबा रखी थी. मेरे मुँह में पानी आ गया और उसने मुझे देख लिया था कि मैं उसको कामुक नजरों से देख रहा हूँ. करीब बीस मिनट की गांड चुदाई के बाद मैं झड़ने लगा तो मैंने उससे कहा- कहाँ निकलू मेरी जान?मेरे मुँह में!” उसने कहा.

इस पर भाभी बोलीं- जमीन ही तो किसी और की है … हल तो कोई भी चला सकता है और बीज भी बो सकता है. कुछ देर मॉल में घूमने और बात करने के बाद हमने पास में ही एक कैफे में लंच किया.

मित्रो, मैं हर्षद मोटे आपको अपनी सौतेली मां की चुदाई की कहानी में स्वागत करता हूँ.

कुछ मिनट में ही प्रियंका मैडम खड़ी हुईं और मेरे अंडरवियर को मेरे बदन से अलग कर दिया, मेरे लंड को चूसने लगीं. शिवानी का सेक्स वीडियोमैं अपने दोनों हाथों से उसके स्तन, पेट, कमर पर साबुन लगाकर उसे सहलाते हुए नहला रहा था. हिरोईन फोटोशनाया ने मुझसे कहा- मैं एक बहुत अच्छा गिफ़्ट लायी हूँ, तुझे बहुत पसंद आएगा. मैंने उसे विदा कहा और मैं भी दरवाज़ा बंद करके बाथरूम में खुद को साफ करने चली गयी.

कुछ देर बाद भाभी ने भैया के लंड को थोड़ी देर के लिए मुँह में लिया और उसके बाद वो लंड पर बैठ कर उछलने लगीं.

सौतेली मां थी मेरी, मगर मेरी जान, मेरी रखैल, मेरा प्यार सब कुछ थी वो!मेरे पापा की दूसरी बीवी है वो!वो मुझसे सिर्फ नौ साल बड़ी है. तीसरे वाला भी अपना लंड खड़ा करके पजामे के अन्दर से ही पकड़ कर बैठा था. मैंने कहा- तो इसमें क्या बुरा है?वो बोली- अच्छा … एक जवान लड़की से चिपक कर सोने में कुछ बुरा नहीं है?मैंने कहा- हां कुछ बुरा नहीं है.

मैं उम्मीद करती हूं कि आपको ये फ्रेंड वाइफ सेक्स कहानी भी पसंद आएगी. मेरा लंड फूल कर अपनी औकात में आ गया था ये काफी लंबा और मोटा हो गया था. इधर लोग अपनी अन्दर की दबी बातों को सबके सामने बेझिझक रसीले अंदाज में पेश करते हैं.

सेक्सी बीएफ दिखाइए सेक्सी बीएफ दिखाइए

मैंने भी अपना एक हाथ पीछे से उसके लोवर के अन्दर डाल दिया और गद्देदार गांड को दबाने लगा. वो गांव जाकर चुपके से लड़की की बड़ी बहन से मिला; उससे लड़की के जन्म प्रमाण पत्र के लिए उसका मैट्रिक का सर्टीफिकेट ले आया. सेक्स विद फ्रेंड वाइफ की इच्छा उसे देखते ही हो गयी थी मेरी! मैंने उसे लाइन देना शुरू किया तो उसकी प्रतिक्रिया ने मेरी वासना को और भड़का दिया.

सम्मान प्राप्त करके हम दोनों ने रात वहीं एक होटल में रुकने के लिए कमरा बुक किया.

हम दोनों ही एक दूसरे के होंठों को चूमते हुए मस्ती में चूर हो गए थे.

पहले तो माँ नहीं गयी, पर कमला आंटी उन्हें बोली- अब शर्मा मत … आ भी जा!और माँ जाकर मुखिया जी की जाँघों पर बैठ गयीफिर कमला आंटी बोली- तो मुखिया जी, मैं चलती हूँ, आप मजे कीजिये।मुखिया जी- ठीक है जा … पर तुझे पता है ना कि तुझे यहाँ से जाकर क्या करना है?कमला आंटी- जी पता है।यह बोल कमला आंटी माँ से बोली- तो मैं चलती हूँ. तुम्हारे लंड से एक बार जिसने चुदाई करवा ली, वो पुरानी चुदाई भूल जाएगी. देहाती सेक्स सेक्सवो बोली- तुम अपने रूम में अकेले ही रहते हो ना?मैंने कहा- हां, कोई दिक्कत है क्या?वो बोली- नहीं मुझे कोई दिक्कत नहीं है.

मैंने कहा- ये कैसे हो सकता है नीता? और वो भी मेरे साथ तुम्हारे होते हुए?नीता बोली- हां हर्षद. उस समय मैंने ज्यादा कुछ न सोच कर अपना लंड चुसवाना जारी रखा और मजा लेता रहा. मैंने उससे कहा- तुम मेरे अन्दर मत डालना … अपना पानी मुझे पिला देना.

वो बोली- मुझे लगता है कि तुम्हारे रहने से मेरी आजादी में खलल पड़ता है. साथ ही मैंने अपनी नाइटी को कमर तक ऊपर कर दी ताकि उसे मेरी गांड के दर्शन भी हो जाएं.

थोड़ी देर में हमारी जीभें आपस में बातें कर रही थीं और हम दोनों एक दूसरे की लार चाटते हुए मजा कर रहे थे.

उस वक्त मेरे लंड पर त्वचा हमेशा बरकरार रहती थी और इसलिए मैं अपनी सुपारी कभी नहीं देख सका था. मैं उसके सामने खड़ा होकर उसकी तरफ पीठ कर ली और उसकी कलाई पकड़ कर उसकी क्रीम अपनी गांड पर उसकी उंगली रख दी. मैं शाम 6 बजे ऑफिस की पार्किंग में अपनी कार में अनीशा का इंतजार कर रहा था.

गुण मिलान सारणी 2022 अदिति सीधे घुटनों के बल बैठ गयी और आहिस्ता से मेरा लंड अपनी चूत से बाहर निकाला. अब दीदी और नीरजा बहुत खुश थेमैंने उस रात दीदी को एक बार ओर चोदा सो गया.

दिल धक धक करने लगा था मगर साथ ही उत्तेजना से मुँह में और चूत में पानी आने लगा. हालांकि उसकी और मेरी उम्र में ज्यादा अंतर नहीं था लेकिन वो रिश्ते में तो मुझसे छोटा था. अब मैंने कहा- भाभी आपके पास एक और चीज भी है, जो मैंने आज तक किसी के पास नहीं देखी.

बफ पाकिस्तानी

उनकी बातों पर मैंने ज़्यादा ध्यान नहीं दिया और लगातार कुछ मिनट तक उनका रस पीने के बाद मुझे उनकी चूत चोदने का मन करने लगा. मैं जल्दी से उसे नंगी करना चाहता था लेकिन मैंने अपने आप पर कंट्रोल किया. आप मुझे मेल करें कि आपको यह देसी हॉट आंटी सेक्स कहानी कैसी लगी?[emailprotected]आगे की कहानी:.

मम्मी चाची की चूत चाटने लगीं और चाची के कंठ से सेक्सी सिसकारियां ‘आह आह ऊह ऊह हाय आ मजा आ गया आह …’ निकलने लगीं. मैं समझ गया कि किला फ़तेह हो गया है, बस अब फ़ौज को अन्दर बाहर करके धाएं धाएं करना शेष है.

मैं समझ गया कि किला फ़तेह हो गया है, बस अब फ़ौज को अन्दर बाहर करके धाएं धाएं करना शेष है.

मैं उस लड़के के पास गया और पूछा- तुम लोग कहां से हो?लड़के की जगह लड़की ने जवाब दिया- हम दूसरे गांव से हैं और यहां अपने रिश्तेदार के घर रहने के लिए आए हैं. अपने छोटे साहब को खुश करके और अपने चूत की आग और कुछ पैसों की लालच से वीरू से चुदवाने को वो बिल्कुल तैयार थी. जल्द ही मेरा एक हाथ उसके सीने पर जाकर उसके कसे हुए दूध को गाउन के ऊपर से ही सहलाने लगा.

जिसको उसके क्लास टीचर ने देख लिया था और उसको अपने पेरेंट्स को बुलाने को बोला था. मैंने पूछा- रस कहां निकालूं जस्सी?वो बोली- मेरे मुँह में डाल दे अपना वीर्य. लेकिन वो थे तो मेरे ससुर ही … और मैं उनके लिए ऐसी गंदी बात सोच भी नहीं सकती थी.

मेरे निप्पल चूस रही रेशमा का सर पकड़ कर मैंने अपने नीचे धकेलना चालू किया तो उसे भी समझ आ गया कि मैं क्या चाहता हूँ.

भाभी की बीएफ सेक्सी फिल्म: मैंने कहा- ऐसी बात नहीं यार … इतनी देर से तेरी याद में कुछ मस्ती चढ़ गई थी और कुछ नहीं. तभी दीदी जोर जोर की सिसकारी के साथ मेरे मुँह में झड़ गईं और मैंने दीदी का सारा माल पी लिया.

इसके बाद फकीर ने मेरी बीवी के हाथों को छूना चालू कर दिया और बोला कि तुम्हारे हाथ तो बहुत खूबसूरत हैं. घर के काम समेट कर अर्चना दीदी ममेरे भाई बहनों की रातभर चोदम चोद की रिकॉर्डिंग को एडिट कर रही थीं. मैं- अब क्या हुआ?भाभी- भैया मैं जहां खुजली है … उस पर क्रीम लगा रही हूँ, तो वहां पर जलन बहुत हो रही है.

ये कह कर मैंने उसका चेहरा अपनी तरफ किया और सीधे उसके होंठों को चूमना शुरू कर दिया.

मुझे पाकर सविता ने अपने सारे दोस्तों से रिश्ता तोड़ लिया है और अब वो केवल मुझसे चुदती है. बंगाली लड़की लंड देख कर अपना मुँह खोल देती है, मैंने भी खोल दिया और लंड चूसने लगी. जैसे ही वो वाशरूम से बाहर आईं, मैं उन्हें देखते ही स्तब्ध रह गया, ऐसा लगा जैसे जन्नत से कोई अप्सरा उतर कर कमरे में आ गयी है.