सेक्सी फुल बीएफ एचडी

छवि स्रोत,गुड़िया कैसे बनाते हैं

तस्वीर का शीर्षक ,

लड़की लड़की का रोमांस: सेक्सी फुल बीएफ एचडी, रात में 10 बजे के बाद मुझे तू वहीं मिलना, चल अब जा तू!फिर माँ ने अपने कपड़े पहने ओर वहाँ से चली गयी.

ब्यूटी प्लस कैमरा डाउनलोड करना है

पापा लंड चूत से निकाल कर मम्मी के मुँह पर ले गए और हाथ से पकड़ कर लंड हिला रहे थे. देहाती सेक्सी भेजोतू रोज मेरे साथ इसी रूम में सोया कर!मैंने कहा- फिर दीदी?मम्मी बोली- वो भी यहीं सो जायेगी.

चाय देती हुई मुस्कुराकर बोली- कोई तकलीफ तो नहीं हुई ना देवर जी?मैंने उसको आंख मारते हुए कहा- कुछ भी तकलीफ नहीं हुई भाभी जी. तमिल सेक्स वीडियोउनके पति का 2 मिनट में ही भाभी के मुँह में पानी निकल गया और वो भाभी के बूब्स चूसने लगे.

उसकी आंखों में देखते हुए मैं बोला- यार कितना कोमल हाथ है तुम्हारा, छोड़ने का मन ही नहीं करता.सेक्सी फुल बीएफ एचडी: लेकिन वीर्य की हर बूंद हर बार उसने अपनी चूत में ही डलवाई क्योंकि वो कोई रिस्क नहीं लेना चाहती थी.

फिर उसने मेरी लुंगी निकाल कर साइड में रख दी और मेरा लंड अपने मुँह में भर लिया.सुमन सिहरने लगी और गांड उठा उठा कर अपनी चूत चटवाने का मजा लेने लगी.

सेक्सी मूवी हिंदी में सेक्सी - सेक्सी फुल बीएफ एचडी

दोस्तो, आप ससुर सेक्स की हिंदी कहानी अगले के भाग में पढ़कर जानिए कि कैसे ससुर जी ने 3 महीने के लॉक डाउन में चोद चोद कर मेरी हालत खराब कर दी और कैसे हमने एक दूसरे को चुदाई का मजा देते हुए एक दूसरे की जरूरत को पूरी किया.वो बोली- क्या गुपचुप बातें चल रही हैं?नंदा बोली- तुम्हारे ही बारे में.

वह Xxx देसी भाभी बार बार अपनी चूत को शीशे में देखतीं और उस पर हाथ फेर रही थीं. सेक्सी फुल बीएफ एचडी मेरी पिछली कहानीहॉस्पिटल में गॉर्ड के साथ किया सेक्स कहानीको आप लोगों ने बहुत पसंद किया और मेल भी भेजे.

रास्ते में उसने कॉल किया और बताया- आज मेरी जिंदगी की सबसे मस्त चुदाई हुई, जिसको मैं कभी नहीं भूलूंगी आपने आज मुझे एक औरत होने का असली सुख दिया है.

सेक्सी फुल बीएफ एचडी?

फिर जरा गांड हिलाकर लंड सैट किया तो सुपाड़ा अन्दर चला गया और मैं जम कर बैठ गया. बलदेव हांफने लगा पर दूसरे वाले ने मेरी चूत में लंड घुसा दिया और तेज़ तेज़ झटके देने लगा. मैंने मार्किट से मैनफोर्स का पान फ्लेवर का बड़ा पैकेट ख़रीदा क्योंकि वह एक्स्ट्रा डॉटेड और एक्स्ट्रा रिब्ड कंडोम है.

मेरे निवास पर एक गांव का लड़का झाड़ू पौंछा, बर्तन कपड़े धोने व साफ सफाई के लिए आता था. उसने बिना किसी शर्म के मेरे सीने को चूमते हुए नीचे हाथ बढ़ाकर मेरे लंड को थाम लिया और सहलाने लगी. गांड मारते हुए वो गुर्राया- अबे साले टांगें चौड़ी कर … थोड़ी फैला ले भोसड़ी के ढीली करे रह.

दोनों नंगे ही बाहर आए तो मैंने अदिति से कहा- आज हम दोनों दिन भर ऐसे ही बिना कपड़ों के ही रहेंगे. मैं भी उनको चोदने की सोचने लगा लेकिन बीवी के होते हुए मौका नहीं मिल रहा था. उसे डर था कि कहीं मैंने अबकी बार फिर से 40 मिनट लिए तो उसकी हालत खराब हो जाएगी.

लेकिन गनीमत ये रही थी कि उसके टीचर ने अभी प्रिंसिपल से नहीं बोला था और बात ज़्यादा उठी नहीं थी जिस वजह से अभी मेरे भाई का नाम नहीं कटा था. उनके पति भी बोले- हां दीपक, इनको बताओ कि इतना ही सबका खड़ा होता है.

मैं उससे खुलकर बोला- मैं कभी किसी के बारे में किसी से कुछ नहीं बोलता.

उसने बहुत प्यार से खाना खिलाया और बाद में कहा- बैठो, मैं चाय बनाती हूँ.

फिर रात में दारू पीने और खाना खाने के बाद उन दोनों ने शायद दवा खा ली थी. पापा ने सीधा चूत पर लंड टिकाया और जोर से धक्के देकर लंड अन्दर डाल दिया. एक लंड अन्दर जा रहा था और दूसरा बाहर आ रहा था, कभी दोनों एक साथ बाहर आ रहे थे.

[emailprotected]स्कूल स्टूडेंट सेक्स लाइफ का अगला भाग:मेरे गांडू जीवन के कुछ यादगार पल- 2. वह पानी का गिलास पकड़ कर बोली- ये तो ठंडा है, मुझे गर्म पानी चाहिए. मैं- भाभी आपकी बॉडी तो एकदम कयामत है … पर मैं कहने में शर्मा रहा था कि कहीं आपको बुरा ना लग जाए.

उन्होंने काफी ना नुकुर के बाद मुझे आइंदा ऐसा न करने के लिए हिदायत दी.

लड़की धीरे धीरे खुल सी रही थी, उसने बताया कि उसकी लव मैरेज हुई थी, मगर वो इस शादी से खुश नहीं है. अगले कुछ धक्कों में ललिता भाभी की चूत ने रसधारा छोड़ दी और लंड गीला हो गया. पापा ने लैगी कुर्ती सबके लिए बोल दिया था तथा ये भी कहा था कि कम से कम खाने और पहनने की आजादी तो सबको होना चाहिए.

सामान्यतया कोई बीवी अपने पति का लंड किसी और को देती नहीं है, पर मेघा का स्वार्थ था … क्योंकि वह खुद पराये मर्दों से चुदवाना चाहती थी. बातों ही बातों में मैंने उससे पूछा कि तुम जयपुर से ही हो या बाहर से?उसने बताया कि वो झुंझुनू से है. अच्छा हुआ कि आप पTकिस्तान में नहीं हैं और भारत के लोगों ने अभी तक आप को देखा नहीं, नहीं तो kश्मीर के बाद भारत और पTकिस्तान के लिए जंग का मुद्दा आप ही बन जातीं.

अब महंत की बारी थी क्योंकि अर्चना और हम दोनों एक बार स्खलित हो चुके थे और महंत ने अपना आठ इंच लंबा हब्शी लौड़े को अर्चना के मुँह में चुसवा कर तैयार कर लिया था.

कोई एक मिनट की मशक्कत के बाद मेरा पूरा लंड उसकी चूत को फाड़ चुका था. मैंने एक हाथ से लंड पकड़ा और उसका सुपारा विलास की गांड के छेद पर रख कर जोर का धक्का दे दिया.

सेक्सी फुल बीएफ एचडी रोज रोज वही लंड, वही चुदाई, वही लौड़े का चूत में आना जाना … धीरे धीरे मैं बोर होने लगी. वो गर्म होती गयी और उसकी कामुक सिसकारियां निकलने लगीं ‘आह हहह उमंह उह उम्म आह हह …’फिर मैंने अपना लंड उसकी चूत पर रगड़ना शुरू कर दिया.

सेक्सी फुल बीएफ एचडी एक जोरदार झटके में अपना पूरा लंबा लंड उसके गले तक डाल दिया और झटके देने लगा. दीदी को देख कर मैं हैरान हो गया क्योंकि थोड़ी देर पहले दीदी सलवार और कमीज़ पहनी थी लेकिन अब सलवार के बदले नीचे स्कर्ट पहनी हुई थी.

उसने मेरी टांग अपनी टांगों के बीच में फंसाई और अपनी चूत को मेरी टांग से मसलने लगी.

एक्स एक्स एक्स बीएफ फिल्म एचडी

मैंने भी हाजिर जवाबी होते हुए कहा कि और मर्दों का तो पता नहीं, लेकिन सारी औरतें इतनी दिलकश हसीना नहीं होतीं कि नजर हटाने का मन न करे. जब मैंने की-होल में से झांकने की कोशिश की तो मेरी पैर के नीचे से जमीन खिसक गई. मैं कसम खाता हूं कि आपकी चूत में उंगली के अलावा और कुछ नहीं डालूंगा.

मैंने भी पलंग से ही उसके हाथ को अपने हाथ में ले लिया और अपना हाथ नीचे ले जाकर उसकी टांगों में डाल दिया. मैंने उससे कहा- अब जब तुम राजी हो ही गई हो, तो अपनी गांड में कुछ कुछ डाल कर उसे ढीली करके मेरे लंड के लिए तैयार कर लो. थोड़ी हिम्मत करके पास बेसुध पड़े अमरचंद को झकझोर कर तसल्ली की कि लाइन क्लियर है.

मैंने भीगी हुई पैंटी उसके मुँह में घुसेड़ दी जिससे अब वो कुछ नहीं बोल पा रही थी.

मेरी इस हरकत से वो और उत्तेजित हो गया, उसने अपना हाथ मेरी चड्डी के ऊपर से ही लन्ड पकड़ लिया. अब आगे स्कूल मास्टर सेक्स कहानी:फिर सर ने 69 में आकर मेरे मुँह में लंड दे दिया, मैं मजे से लंड चूसने लगी. आंटी आज भी मुझसे चुदवाती हैं और हम दोनों का राज अब अन्तर्वासना के पाठकों को मालूम है.

मैं उनकी गांड का भार अपने ऊपर महसूस कर पा रहा था और उनकी बड़ी गांड और मोटी मोटी जांघें मेरे सामने थीं. लंड पर गर्म बुर रस महसूस कर मैंने भी अपने वीर्य को बुर में खाली कर दिया. लेकिन मास्टर नहीं माना और उसने अचानक से भाभी की गांड में लौड़ा घुसा दिया.

फिर तय समय पर मैं उसके बताए पते पर पहुँच गया और उसके दरवाजे की डोरबेल बजाई. मैं अपनी गर्लफ्रेंड शलाका को बहुत बार चोद चुका था व उसी से शादी भी करना चाहता था पर मेरी गर्लफ्रेंड के घर वाले नहीं माने और उसका कहीं और रिश्ता कर दिया.

तभी मम्मी ने दोनों हाथ से सिर में लगा तकिया पकड़ लिया और पापा लंड को हिलाने लगे. उसने मेरा जोरदार चुम्बन लिया और मेरे होंठ ही दांतों से चबा लिए, मुझे एकदम से जकड़ लिया, फिर ढीला पड़ गया. ठीक 8 बजे हमने तीनों ने मिलकर केक काटा और मैंने भाभी जी को गिफ्ट दिया.

अब मैंने उससे आगे कहा- देखो रीतिका, अब सबसे पहले हमें एक दूसरे के निजी अंगों को देखने की जरूरत है.

मैं सोचने लगा कि दोनों कितने खुश रहते थे और ऐसा क्या हुआ कि उनका तलाक हो गया. उसको पूरी तरह से नंगी करने के बाद मैंने भी अपना अंडरवियर उतारकर फैंक दिया और हम दोनों पूरी तरह नंगे एक दूसरे से लिपट गए. मैंने मानसी से कहा कि अब से तुम्हें जब भी चुदना हो, मेरा लंड तुझे चोदने के लिए तैयार है.

कहानी के तीसरे भागअजनबी लड़की के घर में सेक्स का मजामें अब तक आपने पढ़ा था कि हम दोनों नंगे थे और बिस्तर पर चुदाई की तैयारी कर रहे थे. वो घर पर बहाना बनाकर मेरे घर के लिए निकल आई कि आज मालकिन ने उसे घर बुलाया है.

ऑफिस में जो मेरा इंटरव्यू ले रहे थे, उन्होंने मुझसे ऐसे ही पूछ लिया कि आपके साथ जो लड़की आयी है, वो आपकी क्या लगती है?मैंने उन्हें कहा- सर वो मेरी होने वाली पत्नी है. भाभी लगातार आंह आंह की आवाज़ निकाल रही थीं- आह बाबू आज मेरी चूत का सारा पानी निकाल दो. मैंने कहा- बताओ चाची आपके मन में क्या है?चाची बोलीं- मुझे अपनी चूत में तेरा लंड चाहिए.

देवर भाभी की सेक्सी विडियो

मैं बीस मिनट तक ऐसे ही गांड मारता रहा, फिर उसकी चुत में लंड पेल दिया.

वो भी जीभ घुसेड़ कर मेरी बुर चाट रहा था और मैं भी बीच बीच में सिसकारने लगी. उसका गधे जैसा लंड चूत की फांकों को रगड़ते हुए मुझे झड़ने को मजबूर कर दे रहा था. उनके मम्मों को मैं जोर जोर से भींच रहा था और चुदाई का मजा ले रहा था.

मैंने उसके मम्मे को पकड़ लिया और वो मजे से मुझसे अपने दूध मसलवाने लगी. मेरी बीवी काफी मोटे जिस्म की थी और सेक्स में उसकी बिल्कुल भी रुचि नहीं थी. मुंडा चार्टतभी वह बोला- कैसा लगा मेरा औजार छोटी मेमसाब?यह इतना अचानक से हुआ कि मैं तो एकदम हक्का बक्का रह गयी.

मैं आज आपको अपने किरायेदार की उन्नीस साल की बेटी रेखा के साथ हुई अपनी चुदाई की कहानी सुना रहा हूँ. अमन- चाची, तेल कहां तक लगाना है?मैं- मेरी सारी टांगें दुखती हैं इसलिये सारी टांगों पर ही तेल लगा दो.

फिर थोड़ी देर बाद मम्मी ने मेरी कमर को पकड़ कर अपने ऊपर खींच लिया और बोली- मेरे बेटे, तूने तो आज मुझे खुश कर दिया. वो भी ताव में आ गया और मेरे मम्मों से खेलने लगा और दोनों थनों को बारी बारी से जोर जोर से चूसने लगा. पहले तो वो नखरे कर रही थी पर …साथियो, मैं चन्दन सिंह!मेरी पिछली कहानीबहन की चुदक्कड़ जेठानी को खूब पेलामें आपने मेरी बहन की विधवा जेठानी नंदा की चुदाई की घटनाएँ पढ़ी.

मुझे तो बार बार थ्रीसम सेक्स की ही याद आ रही थी तो उसी चक्कर में और उन दोनों की मेहनत से जल्दी ही मैं फिर से उत्तेजित हो गयी. दो दो पराये मर्दों को नंगा देख रही हूँ, उनके लण्ड देख रही हूँ, उनके लण्ड चाट रही हूँ, उनसे अपनी बुर चटवा रही हूँ। और क्या चाहिए एक बुर चोदी बीवी को? आज मैं बिल्कुल रंडी बनकर इन दोनों लण्ड का मज़ा लूंगी।इन सब बातों से माहौल में और ज्यादा गर्मी हो गयी।मैंने आनंद की बीवी नेहा की बुर में पेल दिया और चोदने लगा. मैं अपनी तरफ से दो लड़कों के नाम लिख रही हूँ जो हकीकत में हैं नहीं, पर मन कर रहा है कि वो दोनों मेरे साथ एक मिलकर सेक्स करें.

इतना कहते ही उसने फिर से एक जोरदार झटका लगाया और उसका करीब 8 इंच का लौड़ा मेरी गांड फाड़ते हुए अन्दर तक चला गया.

मेरे निप्पल चूस रही रेशमा का सर पकड़ कर मैंने अपने नीचे धकेलना चालू किया तो उसे भी समझ आ गया कि मैं क्या चाहता हूँ. तो मैंने पूछा- इसका क्या करना है … मैं तो आज तुम्हारी गांड मारूंगा.

स्टेप मॉम सेक्स कहानी के पिछले भागलम्बे अरसे के बाद सौतेली माँ की चूत चोदीमें अब तक आपने पढ़ा था कि मेरी मां अदिति ने अपनी कामुक हरकतों से मुझे सोते से जगा दिया था. अभी उनके बीच यह बातें चल ही रही थीं कि मैं दरवाजे पर खड़ा सुन रहा था. इस बीच वो भी अपने लंड को सहला रहा था, जिससे वो भी दो बार झड़ चुका था.

मैंने उससे कहा- अभी तुम नए साइज की ब्रा मत खरीदना … क्या पता बाद में वो भी छोटी पड़ने लगें. उस दिन मैंने उसको अन्दर जाते समय देखा था तो सच में यार राखी के क्या चूतड़ थे … उफ्फ … मेरे लंड को तो मार ही डाला था जालिम ने!पहली ही नजर में मुझको लगने लगा था कि अभी के अभी इसको पटक कर चोद दूँ. उसके ये कहते ही मैं उसके होंठ चूमने लगा और वो और तेज़ धक्के लगवा कर चुदवाने लगी.

सेक्सी फुल बीएफ एचडी शैली मामी धीमी-धीमी आवाज में कंट्रोल करती हुई चेतना को अपने आगोश में दबा कर रखने की कोशिश कर रही थीं. श्रुति का ध्यान करते ही मैंने इस बारे में शनाया से बात करने की ठान ली.

बीएफ सेक्सी एडल्ट वीडियो

फिर जल्दी से नंदा ने अपने गिलास में पैग बना कर रखा ही था कि रुचिका एक थर्मस में आइस के छोटे पीस के साथ आ गई. जैसे ही मैंने चूत के पूरे इलाके में केक लगाया तो फ़लक से रहा नहीं गया और उसने मेरे सर को पकड़कर मुझे ऊपर उठा दिया. मेरे बात पर खिलखिलाकर हंसती हुई रेशमा बोली- वीरू जी, वो कहावत तो सुनी होगी आपने … लंगूर के हाथ में अंगूर?मैंने भी उस बात पर हंसते हुए उसकी गांड को सहलाना चालू कर दिया.

मैंने उससे पूछा- क्या तुम मेरे साथ मूवी देखने चलोगी?उसने हां बोला और हम दोनों अगले दिन मूवी देखने गए. मैंने जब ये सुना तो मैं समझ गया कि मेरी बहन की चूत में काफी पहले से ही आग लगी थी और ये खुद ही मेरे लंड से चुदने मचल रही थी. अंग्रेजी पिक्चर वीडियो सेक्सीबहुत ही प्यारे बबले थे उसके!वो जोर जोर से बोले जा रही थी- ओह्ह आर्यन मैं कब से प्यासी हूँ … आंह चोद डालो मेरी इस चूत को.

मैंने विलास से कहा- कितने बजे बर्थ-डे सेलिब्रेट करने का है?वो बोला- सात बजे तक करेंगे.

उसके बाद मैंने फिर से चूस चूस कर दोनों बाबाओं का लौड़ा खड़ा किया और अब एक बाबा 69 पोजीशन में आ गया. मेरी पिछली कहानी थी:सात साल बाद मिला लंडआप सभी की एक शिकायत रहती है कि मैं आपके द्वारा भेजे गए मेल का जवाब नहीं देती.

उसके घर में जाने का एक ही रास्ता था, नीचे जाकर भैंस वाले कमरे की साइड से गेट खोलकर बाहर निकलना है. वो भी ‘आह ऊंह आह्ह ऊंह उम्म्म …’ की मादक आवाज निकालती हुई गांड हिला हिलाकर चुदवाने लगी. कुछ ही पलों में वो इतनी ज्यादा उत्तेजित ही गई थीं कि उनके पैर कांपने लगे और उनकी चूत झड़ने लगी थी.

वो- हर्षद मेरी और एक तमन्ना है … क्या तुम पूरी करोगे?मैंने कहा- बोल कर तो देखो जान.

मैं- बिल्कुल भाभी, वो कयामत हैं, उनको देख कर मेरी जान निकल जाती है. बाप का लंड मेरी चुत में घुसने से डर रहा था और मां ने मुझे अनिकेत भैया या विवेक से चुदने को मना किया हुआ था. काफी देर ऐसे ही लंड चुसवाने के बाद पापा सोफे पर बैठ गए और मम्मी से कहा- आओ लंड की सवारी करो.

सेक्सी पिक्चर फुल एचडी में हिंदीवो पूछने लगे- कैसा लगा टेस्ट?मम्मी बोलीं- पति का रस मेरे लिए अमृत है … मुझे बड़ा मस्त लगा. पहली बार लेने में जरा दर्द होता ही है नीता, बस तुम जरा सहन कर लेना.

एक्स एक्स एक्स वीडियो इंडियन बीएफ

उनके 36 के भरे हुए उरोज, बलखाती और मटकती हुई 30 की कमर … और 38 इंच की भरी हुई गांड देखकर इधर मेरे लंड महाराज ने पैंट के अन्दर से ही सलामी देनी शुरू कर दी. मेरे साथ साथ मेरे मोहल्ले का एक लड़का, जिसका नाम शिराज था, वो भी मेरे ही कॉलेज में पढ़ रहा था. लगभग नौ बजे मेरी नींद खुली तो मुझे प्यास लगी तो मैं उठ कर पानी पीने आ गया.

मैंने अञ्जलि के कान के नजदीक पहुंच धीरे से कहा- अगर आप साथ दोगी तो एक घंटे बाद हम दोनों एक दूसरे को …उसने सवाल भरी नजर से मुझे देखा. मैंने चाची से पूछा- अन्दर ही निकल जाऊं या बाहर ही निकलूं?चाची बोलीं- अब तू मेरे मुँह में आ जा. खटर-पटर की आवाज से खाट हिल रही थी इसलिए उसने दोनों टांगों को कंधे पर रख मेरे बाजू पकड़ लिए और मैंने उसे अपने लंड पर टांग नीचे फर्श पर लिटा दिया.

स्कूल के बाद हमारी बातें अब एक-दूसरे से कम होते होते एक ऐसा टाइम आया, जब हमारे बीच बातें बंद ही हो गईं. मैं उनसे छूटने के लिए जोर लगाने लगी और बोली- ये क्या कर रहे है आप पापा जी … छोड़िये ये सब गलत है. उस हिजड़े की लुल्ली चूसते चूसते तुझे पता ही नहीं है कि लौड़े को चूसना किसे कहते हैं.

वो खुश हो गया और बोला- अपनी भाभी से पूछ ले, उसे मजा आया कि नहीं?मोनिका मुझसे बोली- भाभी बड़ा केला खाने से पेट भरा या नहीं?मैं बोली- हां यार … पर और एक बार हो जाए तो सही से मजा आ जाएगा. मैंने उससे कहा- जान, इस बार मैं तुम्हें पीछे से भी चोदना चाहता हूँ.

मैंने कहा- ठीक है चला जाऊंगा, लेकिन इस वक़्त तुम्हारे फ्लैट पर, यहां के शायद दूसरे रूम वाली तुम्हारी फ्लैट पार्टनर आ गई है.

अब तक हम दोनों काफी देर हो गई थी लेकिन पता नहीं उसका लंड झड़ने का नाम ही नहीं ले रहा था. इंडियन सेक्स वीडियो फिल्मउसे मैंने रुपए दिए और कहा- मैं फ्रेश वहीं स्टेशन पर हो लिया था, अब मैं निकलता हूँ. सेक्सी वीडियो बुद्धितभी फकीर को पता नहीं क्या सूझी, उसने मेरी बीवी का हाथ पकड़ा और सीधे लंड के ऊपर रख दिया. वो बोली- तो मुँह दिखाई नहीं दोगे?मैंने अपनी जेब से एक अंगूठी निकाल कर उसकी उंगली में पहना दी.

मुझे पता चल गया कि हॉट सीन का उस पर भी असर हो रहा है और वो उत्तेजना महसूस कर रही है.

एक दिन मैं उसके चूतड़ पकड़ कर उसे कुतिया की तरह चोद रहा था और वो तेज़ तेज़ चिल्ला रही थी. मैंने उससे पूछा- शर्मा क्यों गई हो?वो मेरी तरफ देख कर बोली- आज किसी ने पहली बार मुझसे डार्लिंग कहा है. मैंने झट से अपनी पैंट उतारी और उसकी तरफ मुठ मारते मारते आगे बढ़ने लगा.

फिर भाभी आप कोई और काम करोगी क्या?भाभी- भैया मैं पढ़ी लिखी तो ज्यादा हूँ नहीं … तो कौन मुझे काम देगा?मैं- मैं दूंगा आपको काम!भाभी- आप मुझे कौन सा काम दोगे?मैं उसकी उभरी हुई चुचियां देख कर बोला- अरे भाभी, आप तो सभी काम करने लायक हो. मैं कुछ समझ पाता कि तभी भाभी ने बेझिझक मेरे नजदीक आकर मेरे पैंट पर हाथ रख दिया. सीमा मेरी उंगली की चुदाई से काफ़ी उत्तेजित हो चुकी थी तो मैंने अपनी जीभ ले जाकर उसकी चूत पर लगा दी और उसे जोर जोर से चाटने लगा.

सेक्सी वीडियो देहाती बफ

उसने भी अपने हाथों की मदद से मेरी जींस की ज़िप खोल दी और मेरा लंड बाहर निकाल दिया. रेखा ने मेरे गले में अपने दोनों हाथ डालकर प्यार से कहा- क्या और कोई इंतजार कर रहा है तुम्हारा? या मां डांटेगी कि इतना लेट क्यों हो गए?मैंने कहा- ऐसी कोई बात नहीं रेखा. दस बजे के लगभग हम लोग पूरी बोतल खत्म कर चुके थे और बहुत नशे में थे.

झांटों के बाल साफ़ होने के बाद इतनी सुन्दर चिकनी चूत दिखने लगी थी कि वह खुद उस पर हाथ फेर कर बार बार शीशे से देख रही थीं और मुस्कुरा रही थीं.

मैं अपनी तरफ से दो लड़कों के नाम लिख रही हूँ जो हकीकत में हैं नहीं, पर मन कर रहा है कि वो दोनों मेरे साथ एक मिलकर सेक्स करें.

मैं ठहरा पक्का हरामी … बस बात शुरू होते ही मैं उसे चोदने की सोचने लगा. कोई एक मिनट की मशक्कत के बाद मेरा पूरा लंड उसकी चूत को फाड़ चुका था. गुजराती भाषा में सेक्सीइस बार मैं जल्दी झड़ने वाला नहीं था क्योंकि दिन में एक बार लंड झड़ चुका था और अब दवा का असर उसे खड़ा ही रखे हुए था.

कुछ दिनों तक मैं ऐसी कोई भी हरकत नहीं की क्योंकि मेरे अन्दर काफी डर समा गया था. मैंने उससे कहा- मैं तुम्हारे हाथ बांध देता हूँ, चलेगा न तुझे!वो बोली- तू जैसे बोलेगा, वैसे मैं करूंगी. उसने थोड़ा तेल मेरे लंड पर लगाया और थोड़ा सा अपनी सहेली की चूत पर लगाया.

कहानी के पहले भागगांडू लड़के से चुद गयी शादीशुदा लड़कीमें अब तक आपने पढ़ा था कि गांव के खेत में नंगे होकर हम कुछ लौंडे नहा रहे थे. मैं ऐसे ही कभी लेट जाता, कभी छत घूमने लगता … पर टाइम ही नहीं कट रहा था.

मैं मटकती हुई अन्दर गई तो आज वो अभी बैठा फोन पर भोजपुरी गीत सुन रहा था.

शिराज ने भी उसका हाथ गांड पर ले जाते हुए उस लड़के का माल हाथ में भर लिया और जीभ बाहर निकाल कर चाटने लगा. मैं ज़ोर से उनके उरोज को दबा दिया तो उनकी आंह की चीख मेरे होंठों में ही दबकर रह गयी. डिब्बी खोल कर एक उंगली में वैसलीन भर कर रुचिका की गांड पर हल्के हल्के फिराने लगा.

सेक्सी वीडियो हीरोइन सेक्सी वीडियो कुछ पल बाद उसने अपने दोनों हाथों से मेरे सर को अपनी चूत पर दबा लिया और तब तक दबाए रखा, जब पानी नहीं छूट गया. मेरी चूत के आसपास और गोरी जांघों पर उनका मिश्रित वीर्य बहने लगा था.

मैं उस दिन रात को 11:30 बजे वाली ट्रेन से अपनी ससुराल के लिए निकल गया था. यह सुनते ही, उसने भी पीछे से मुझे कसके पकड़ा और बोली- क्यों, क्या इरादा है … बहुत जल्दी में हो क्या!उसने जिस तरह से मुझे पकड़ा था, मुझे बिल्कुल भी उम्मीद नहीं थी. फिर उन्होंने मुझसे कहा कि अब आप जाइए, एक हफ्ते बाद आपको ज्वाइनिंग लैटर मिल जाएगा और अगर ना मिले, तो हमारे हैडक्वार्टर पर कॉल कीजिएगा.

जंगल वाली बीएफ हिंदी में

बीस मिनट बाद जब मेरा वीर्य निकलने को हुआ और वह थक गई तो अपने मुँह में लौड़े को ले लिया और लंड चूस कर मुझे डिस्चार्ज करने में लग गई. कुछ क्षणों तक उस लड़की ने अपनी नजरों से नत्थूलाल को देखा और अपने मुँह से हाथ हटाया. मैं रेखा के पीछे खड़ा होकर उसके स्तन सहलाने लगा और रेखा अपनी गांड की दरार में मेरा लंड रगड़ने लगी.

सेक्सी मेड के खड़े खड़े चूचे चूसते हुए वीरू ने अपनी गदरायी हुई शब्बो चाची को अपने बिस्तर पर लिटाया और खुद उसके ऊपर लेट गया।40 साल की गदरायी हुई औरत के नंगे जिस्म की गर्मी उसको और खूंखार बना रही थी. मेरी पिछली कहानी थी:उम्रदराज भोसड़े की ठरकये बात दिसंबर के मध्य की है, जब मेरी सेक्स कहानी पढ़कर एक पाठिका ने मुझे ईमेल किया कि मुझे आपकी सेक्स कहानी पसंद आयी है.

दोस्तो, अपनी इस फोरप्ले सेक्स की कहानी के अगले भाग में मैं आपको नीता की अनचुदी बुर की चुदाई की कहानी विस्तार से लिखूंगा.

बाद में तो आपने जो कलाकारी दिखाई, वाह यह आर्ट तो यहां किसी के पास नहीं. मुझे विश्वास है कि तुम इस परीक्षा में भी सुपर साबित होगी, इसलिए साहसी बनो और आगे बढ़ो. मैंने उससे पूछा कि क्या तुम पढ़ाई कर रही हो?उसने कहा कि नहीं, अब मैंने पढ़ना छोड़ दिया है.

मैंने समझ गया कि मैडम का पति का लंड किसी काम का नहीं है और चुदाई में बेकार का कबाड़ी किस्म का है. मेरी पिछली कहानी थी:उम्रदराज भोसड़े की ठरकये बात दिसंबर के मध्य की है, जब मेरी सेक्स कहानी पढ़कर एक पाठिका ने मुझे ईमेल किया कि मुझे आपकी सेक्स कहानी पसंद आयी है. वो ये देख कर गुस्से में बोली- ये क्या तरीका है किसी बीमार आदमी के साथ व्यवहार करने का?उसने पानी टेबल पर रख दिया.

जैसे पानी की बूंदें उसके जिस्म पर पड़तीं, उसकी मदमस्त जवानी को देखकर मैं घायल हो गया.

सेक्सी फुल बीएफ एचडी: कहानी के पहले भागदोस्त की साली के साथ सेटिंग हो गयीमें अब तक आपने पढ़ा था कि मैं सो रहा था कि मुझे महसूस हुआ कि मेरे लंड पर कोई दबाव डाल रहा है और एक मादक महक आ रही है. इस बार मैंने बहुत ज्यादा ताकत लगाई थी जिस वजह से मेरा पूरा लंड एक बार में ही घुस गया.

साथ ही जब लंड अन्दर नहीं जा पाता तो मैं उसके बड़े बड़े आंड चूसने लगती थी. उसने अपनी दुल्हन वाली पोशाक दुबारा से पहन ली और बोला- इस बार तुम मेरे पूरे कपड़े मत उतारना. फिर रियान ने मुझे रुकने के लिए कहा, तो मैंने मजाकिया अंदाज में कहा कि यार इस सौंदर्य सागर के दर्शन को छोड़ कर भ्रमण करने कौन जाएगा?इस पर सना ने इसका अर्थ पूछा, क्योंकि सना को हिंदी इतनी अच्छी नहीं आती थी.

वो मुझे गाली देते हुए बोला- साली रंडी … मेरे होते हुए उसका लंड भी लोगी क्या?मैं बोली- पहले उसे ले तो आओ आप, फिर बात करते हैं ओके.

दोनों अपनी अपनी स्पीड में लगे हुए थे और आनन्द के साथ चुदाई का तालमेल बनाए रखे थे. धीरे धीरे मालिश करते हुए अब उसने वीरू का सीना, पीठ, गर्दन सब तेल से चमका दिया।इस दौरान जब भी मौका मिलता था, वीरू उसके चूचों को आँखे फाड़-फाड़कर देख रहा था और शब्बो चाची भी अपने यौवन को वीरू के सामने परोस रही थी. तभी अचानक भाभी मुड़ी और मेरे पास आकर बोली- भैया, उस दिन की बात आप किसी को मत बताना.