सोफिया लियोन बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी ब्लू बीएफ देहाती

तस्वीर का शीर्षक ,

वीडियो ओपन सेक्सी पिक्चर: सोफिया लियोन बीएफ, हमारा आफिस हमारे रूम से तकरीबन 2 किलोमीटर लम्बा पड़ता है … और वहां लाईट की व्यवस्था नहीं थी.

फिल्म दिखाओ ब्लू फिल्म

दोपहर का खाना खाने के बाद ताऊ जी घर की छत पर बने ऊपर वाले कमरे में आराम कर रहे थे. हिंदी में देहाती बफलोअर के अन्दर लण्ड और पैन्टी के अन्दर चूत लेकिन बेबी उनको मिला कर मजा ले रही थी.

एक दिन हम दोनों साथ बैठ कर एक फ़िल्म देख रहे थे, तो उसमें एक सेक्स सीन आया. बीएफ बीएफ बीएफ वीडियो बीएफवह बोली कि उसके कोई रिलेटिव अभी आने वाले हैं तो इसलिए अब तुम्हें यहाँ से चले जाना चाहिए.

गर्म सांसों के साथ आंटी का पेट अन्दर बाहर हो रहा था, साथ ही आंटी और उत्तेजित होती जा रही थीं.सोफिया लियोन बीएफ: उसने मेरी गोरी गोरी कमर पर गर्म तेल लगाया और अपने काम्पते हाथ से मालिश करने लगा.

तब शुरु हुई हमारी कहानी!मेरी बातचीत तो मोनिका से होती ही रहती थी पर इतनी ज्यादा भी नहीं!उसकी माँ और बाप दोनों काम पर जाते थे और भाई आवारा गर्दी करते थे.मुझे बिल्कुल यक़ीन नहीं हो रहा था कि मैं किसी नए इंसान से बात कर रहा हूँ.

सेक्सी बीपी वीडियो नंगी - सोफिया लियोन बीएफ

मैंने अपनी गर्लफ्रेंड और उसकी फ्रेंड के साथ एक ही बेड पर दोनों के साथ एक ही समय में सेक्स किया है और उसके बारे में मैंने अपनी पहली कहानीपहला आनन्दमयी अहसासमें जिक्र किया है। मुझे तो बेहद आनन्द आया था और उस आनन्द की कल्पना करूँ तो कई बार मन में आया भी कि काश एक बार फिर से वैसा ही करने का मौका मिले।5.मैं शर्मा गई और कहा- वो कैसी मूवी होती है?उसने कहा- तुमने अभी तक कभी ऐसी मूवी नहीं देखी?मैंने कहा- नहीं!वो बोला- क्या तुम देखना पसंद करोगी?मेरे हां या ना बोलने से पहले ही वो अपना लैपटॉप लेने चला गया.

तुम कितनी देर में पहुंच रही हो?मैंने कहा- ठीक है, अभी तो मैं जीजा के साथ चित्रकूट के लिए निकल रही हूं. सोफिया लियोन बीएफ शाम 6 बजे बारात आने वाली थी, तो सभी बारात के स्वागत के लिए तैयार हो रहे थे.

इस कहानी को पढ़ कर आप लोगों को मजा आया या नहीं, आप कहानी पर कमेंट करके बताना और अगर आप मैसेज करना चाहते हैं तो मुझे मेल भी कर सकते हैं.

सोफिया लियोन बीएफ?

मेरी सोशल नेटवर्किंग साइट के अकाउंट पर एक कोरबा की आंटी थी जिनसे मैं कभी-कभी बात करता था. मैंने बहाने पर बहाने बनाये और आखिरकार सुमिना को उसी दिन शॉपिंग पर चलने के लिए मजबूर कर दिया. मैं कई बार राकेश की कजिन को चोद चुका हूँ।मैंने उसे स्माइल दी और उसके कपड़े उतार दिए.

नम्रता बोली- यार, तुम्हारी गांड कितनी टाईट है, मेरी उंगली तुम्हारी गांड के अन्दर जा ही नहीं रही है. जवाब: सुहानी आप बहुत छोटी आयु की तो नहीं हैं परंतु बहुत बड़ी भी नहीं। सेक्स के बारे में इतना क्यों सोचती हैं आप अभी से इस उम्र में? समय अनुसार सेक्स करना सही होता है. सामने वाले टोयलेट में भी कोई है, इसलिए चैक कर रहा था।फिर कुछ देर बाद सामने वाले टॉयलेट के गेट की खुलने और बन्द होने की आवाज आयी तब हम दोनों को थोड़ी शांति मिली.

मैंने कहा- मैं इसे कैसे चूसूं?इस पर उन्होंने मेरी साड़ी ब्लाउज आदि सब कपड़े निकाल दिए और मुझे नंगा कर दिया. मैं डरती थी कि अगर मेरे भैया कहीं मुझे अपने दोस्त के साथ बाइक पर देख लेंगे तो बहुत डांटेंगे और इस वजह को सोच कर मैं उसके साथ कहीं बाहर घूमने नहीं जाती थी. खैर वो भी पियक्कड़ थी इसलिए उसके लिए बियर पीकर कार चलाना कोई नई बात नहीं थी.

शाम को सब लोगों ने खाना खाया और साथ में हॉल में बैठ कर मूवी देखने लगे. जो औरत मेरी जांघ पर हाथ फेर रही थी, उससे मैंने सवालिया निगाहों से पूछा कि ‘आप ये क्या कर रही हैं?’तो उस औरत ने मुझे चुप रहने का इशारा करते हुए मेरा लंड बाहर निकाल लिया और लंड हिलाने लगी.

मगर लंड तो अब गांड में जा चुका था इसलिए बाहर निकालने का तो सवाल ही नहीं था.

मुझे लेटे हुए तीन-चार मिनट ही हुए थे कि जीजा जी चुपके से मेरे कमरे में आ गए.

एक ओर मुझे ऐसा लग रहा था कि ये सब ग़लत है और एक तरफ लग रहा था कि अब पूरे मज़े कर ही लूँ. अपना लोअर और चड्डी दोनों एक साथ नीचे करके अपना लंड सीधे उसके मुँह में डाल कर उसके सर को पीछे से पकड़ के चोदने लगा. बस फिर क्या था … वो धीरे-धीरे अपने उस कोमल अंग से बियर की धार बनाने लगी और वो धार सीधा मेरे मुँह के अन्दर गिरने लगी.

मैंने बेड से नीचे उतर कर अपने पैर भी बेड के इधर उधर कर लिए और अपना लंड को भाभी की चूत पर रगड़ने लगा. बंध्या के लिए भी यह लॉज एकदम से सुरक्षित है और जिसे चाहे यहां पर लेकर आ सकती है और अपनी चुदाई करवा सकती है. उसके बाद उसने मुझसे बातचीत शुरू की- कहां खो गए थे? कभी लड़की को नहा के आया नहीं देखा क्या?मैं- नहीं … इतना करीब से आज ही देखा है.

जीजा ने कहा- आप यहां क्या कर रहे हो?वो दोनों बोले- हमने सब सुन लिया है.

हेतल ने कहा- तो फिर तेरा क्या जाता है इसमें … अगर मैंने राज से चुदवा भी लिया तो वो हम दोनों के बीच की बात है. सुपारे पर खुजली और चूत की गर्मी रोकना मुश्किल हो रहा था, धक्के लगने ही थे, सो मैं अपनी कमर चलाने लगा. उसके चिल्लाने की आवाज सुनकर भाभी ने बाहर से पूछा- अब क्या हुआ?वो रोते हुए कहने लगी- दीदी, मुझे बचा लो … नहीं तो मैं मर जाऊंगी.

मैं अनुमान लगा रहा था कि अब मेरी बहन यही सोच रही होगी कि मैं उसको अब यहीं पर चोदने वाला हूँ. अनुषी ने अपने हाथ मेरी पीठ पर बांध लिए और मेरा पूरा लंड चूत के अन्दर लेने की कोशिश करने लगी. दो-तीन मिनट में ही मेरे लंड ने पिचकारी छोड़ दी और मैं भी शांत हो गया.

मैंने धीरे से उनके पैरों पर हाथ फिराना शुरू किया और बाद में तेजी से मसलने लगा.

इस तरह से रात भर उन्होंने मुझे लगभग बीस बार चोदा और इतनी ही दफा मेरी गांड भी मारी. तभी अंकल भी मेरे पास आकर बैठ गए और मेरी टी-शर्ट के ऊपर से ही मेरे मम्मों को मसलने लगे.

सोफिया लियोन बीएफ जब भाभी ने मुझसे पूछा- तुम क्या कर रहे हो?तो मैंने कहा- बस मैं मूवी देख रहा था. मैंने देखा कि जब वो मुझे साड़ी देने के लिए उठे, तो उनकी लुंगी में तंबू सा कुछ बन गया था.

सोफिया लियोन बीएफ उसके 2 दिन बाद जैसा कि मैंने आपको बताया था कि भाबी को चोद कर वापस आने के बाद एक दिन उनका कॉल मेरे पास आया था, जिसमें भाबी ने मुझसे 6 महीने बाद दिल्ली आने की कहा था. उन्होंने मुझे जबरन अन्दर बुलाया और कहा- तुम बैठो, मैं तुम्हारे लिए कोक लेकर आती हूँ.

इतने में मारव आया और उसने भी मेरी गांड में लंड लगाने की कोशिश की, पर मैंने मना कर दिया.

বাংলা এইচডি বিএফ ভিডিও

जिसने पहनी है, मैं तो उसी से ही पूछूंगा ना!इतना बोलकर मैं उसकी दोनों चूचियों के बीच की जगह पर चूमने लगा. पति देव की बात खत्म होते ही नम्रता ने मुझे आंख मारकर कहा- मेरे प्यारे पति देव तुम भी मुझे माफ कर दो, मैं भी कल तुमसे बात करने के बाद बहुत बेचैन हो गयी थी और नींद नहीं आ रही थी, सो मैंने भी तुम्हारा नाम लेकर अपनी उंगली से ही अपने बुर की चुदाई कर ली. चूंकि पूजा मेरे घर काफी बार आती जाती रहती थी, उसे मेरे और सौरव के बारे में सब पता था.

राधिका ने कहा- सबसे पहले दिशा थी, फिर मैं आई थी और आखिर में सोनल थी. मौसी ने भी अपनी चुत पसार दी और इशारा कर दिया कि चुत में अपना लंड पेल दे. फिर मैंने उनको पूछा तो उन्होंने बोला- तुम्हारे पास तो कमी नहीं है तो मुझे क्यों बात कर रहे हो?मैंने उनको बोला- ग़लत मत समझो.

वो मस्ती से चिल्ला रही थी- आआहह ओह प्लीज़ अब छोड़ दो … मुझसे सहन नहीं हो रहा है.

भाबी की टाइट चुत भी आज मेरे लंड को ऐसे चबाए जा रही थी कि जैसे मेरे लंड को पूरा निगल ही जाएगी. हमेशा की तरह मेरा साजन मेरी गोद में सर रख कर सो रहा था और मेरे स्तनों को चूस रहा था. यूं तो हमारे दोनों के ही ब्वॉयफ्रेंड हैं किंतु हम में से कोई भी अपने पार्टनर को इस तरह से शेयर नहीं करना चाहती है.

वह मुझे काफी पसंद थी लेकिन उससे दिल की बात कहने की कभी मेरी हिम्मत नहीं हुई. कभी कभी लगता था कि वह भी मुझे पसंद करती है, लेकिन कह नहीं पा रही है. मुझे रिदम के बारे में तो नहीं पता था कि उसने पहले कभी किसी की चुदाई की थी या नहीं मगर मेरी तो यह पहली चुदाई थी.

आपने पिछली कहानी में पढ़ा था कि रिश्ते में मेरी भाभी लगने वाली अनुषी (काल्पनिक) को उसके घर के पीछे चोदने के बाद मैं बस इन्तजार कर रहा था कि कब अनुषी रात को घर में अकेली हो और मैं अनुषी को पूरी रात जी भरकर चोद सकूँ. जितना भी मुँह में जा सकता उतना ले लेता फिर जीभ की नोक बना कर निप्पल पर ठोकर मारता तो कभी निप्पल पर गोल गोल जीभ घुमाता.

जितना भी मुँह में जा सकता उतना ले लेता फिर जीभ की नोक बना कर निप्पल पर ठोकर मारता तो कभी निप्पल पर गोल गोल जीभ घुमाता. भाबी जी क्या जम कर मेरे लंड पर कूदीं जिस मैं शब्दों में तो बयान ही नहीं कर सकता. मेरा लंड तो एक जोर का झटका लगा, मेरे हाथ खुद ही उसके चुचों पर चले गये.

पेपर देने में भी पापा मुझे बाहर तक छोड़ कर जाते थे और पेपर खत्म होने के बाद घर ले जाते थे.

उसने फोन उठाया तो पता चला कि गीता मौसी अपनी बहन यानि कि मेरी स्वर्गवासी मां के यहां कुछ दिन रहने के लिए आ रही है. तो वे बोलीं- तो तुम यहाँ पर आए क्यों?मैं बोला- एक काम करो, लगे हाथ दर्शन कर लो और पाँच बजे की ट्रेन से वापस चलते हैं. मैंने कहा- क्यूं, सुमिना आपकी सहेली नहीं है क्या? आप हमारे साथ भी तो शॉपिंग कर सकती हैं.

मैंने उससे पूछा- हाव इज इट?(कैसा लगा)वो सांसें सम्भालते हुए कांपती सी आवाज में बोली- ईट्स वंडरफुल मास्टर (ये बहुत ही अच्छा था)मैंने दूसरी बार में व्हिप को सामने से उसके पेट वाले हिस्से पे मारा, वो फिर से चिहुंकी. मैं अपनी दोनों टांगों को फैलाकर मैंने मेरी चूत सरला के मुँह पर रख दी और दोनों हाथ उसके चूतड़ों के नीचे डालकर अपना मुँह उसकी चूत में घुसा दिया.

वो काम वासना में गांड उठाते हुए बड़बड़ाने लगी कि आह मन्नी … मजा आ रहा है … तुम करते रहो … रुकना नहीं डियर … मैं इसी दिन का कब से वेट कर रही थी. क्योंकि पहले मैं इधर काम कर चुका था, तो काफी लोगों से पहले से पहचान थी. वो खुद भी पूल में आ गया और मेरे साथ मस्ती करने लगा, कभी दूध दबाता कभी चुत में उंगली करता.

ஸ்கூல் பெண்கள் செக்ஸ் வீடியோ

वो मर्चेंट मेरी चुदाई से इतनी अधिक संतुष्ट ही गई थी कि उसने मुझसे आगे भी चुदाई करवाने का बोला.

कल रात से पहले तो मैं ही उसके पीछे पड़ा हुआ था मगर कल रात तो मोनी ने भी मेरे लंड से चुदाई का मजा लिया इसलिए आज मेरे मन में कुछ डर भी नहीं था. मैंने कहा- ठीक है तू मुझे जम के चोद, मेरी टांगें उठा कर चोद, फाड़ दे मेरी चूत को आह्ह …इधर मैं जीजा को भी इशारे कर रही थी. उस दिन क्लास शुरू होते ही प्रिया मेरे पास आई और उसने अपनी नोटबुक में एक सवाल लिखा हुआ था.

या खुदा!! उसका नर्म गर्म हाथ पकड़ते ही मेरे तनबदन की आग और भड़क गयी और मेरा लंड सनसनाता हुआ पूरा 8 इंची बड़ा हो गया और सलामी देने लगा. कुछ देर तक पॉर्न वीडियो देखने के बाद वो बेड से उठी और उसने अपने ड्राअर से एक डिल्डो निकाला. सेक्स बीएफ इंडियनअपनी अस्त-व्यस्त साड़ी को अपनी ओर से व्यवस्थित कर के वसुन्धरा ने अपने दोनों हाथों से मुझे अपने आलिंगन में कस लिया.

मैंने अपने दोस्त को कॉल किया कि हम दोनों फ्री हो चुके हैं, तुम आ जाओ. फिर आज मैंने भी सोचा कि अपनी आप बीती एक सच्ची घटना को अन्तर्वासना पर लिखूँ.

उसने कहा- पंकज अब आप नहा के आ जाओ … फिर मैं अपना काम शुरू करती हूं. बिल्कुल साफ … एक भी बाल नहीं, एकदम गोरी। मेरी बहन किसी मॉडल से कम नहीं है. एक बार लास्ट ईयर मैं अपने परिवार के साथ दिल्ली में एक शादी में गयी थी.

फिर मैं उसके नाभि को चाटने लगा और चाटते चाटते उसकी चूत तक पहुंच गया. मैं दोनों टांगें डाल कर बाइक पर बैठ गई और उससे बिल्कुल चिपक कर बैठ गयी. उसकी ब्रा और टॉप दोनों ही मैंने दूर फेंक दिए और उसकी चुचियों को मुँह में लेके चूसने लगा.

अब मैंने धक्के देने शुरू किये जोर जोर से …और वो चिल्लाने लगी- चोद मेरे विक्रम चोद चोद चोद चोद … मैं तो निहाल हो गयी आपको पाकर!अब मेरे धक्को की स्पीड बढ़ती जा रही थी.

रीना की इस बात पर विक्रम हंसने लगा और बोला- वाह यार भाभी, सेक्स में आपकी होशियारी का कोई जवाब नहीं. शरद ने मेरी खूबसूरत जिस्म का जबर्दस्त इस्तेमाल किया था, इसलिए अब मैं दिमाग से उसके पैसे का इस्तेमाल कर रही थी.

मेरे हाथ को कुछ नर्म नर्म लगा तो कुछ फूल हटाए तो वहां फूलों में छुपी हुई दिलिया का चेहरा नज़र आया. मैं उसके काले बदसूरत जिस्म पर बहुत प्यारे और मीठे चुम्बन से उसके चेहरे को चूमती रही. कभी कभी तो दीदी लंड को बाहर निकाल देती थी और तेजी से हाँफने लगती थी.

मैंने पूछा- तो कितने दिन में करते हैं भैया आपके साथ?भाभी- महीने में मुश्किल से बस एक या दो बार ही करते हैं. मैंने पीछे से उनकी चूत में लंड डाल दिया और काफी देर चोदने के बाद खुद को चरम पर आता हुआ महसूस किया तो मैंने आंटी से कहा- मेरा निकलने वाला है. जब दो-तीन बार ऐसा ही हो गया तो भाभी ने खुद ही मेरे तने हुए लौड़े को अपने हाथ में लेकर अपनी चूत के मुंह पर सेट करके मुझे अपने ऊपर खींचा और लंड अंदर उनकी चूत में चला गया.

सोफिया लियोन बीएफ कुछ देर बाद उन दोनों ने एक एक करके सीधे दारू की बोतल से मुँह लगाया और लम्बे लम्बे घूँट खींच लिए. एक मिनट ही बीता था कि डॉली खिसककर मेरे पास आई और अपना हाथ मेरे सीने पर फेरने लगी, थोड़ी देर में उसने मेरा हाथ पकड़कर अपनी चूत पर रख दिया.

ब्लू मूवी सेक्स मूवी

उसने खुद ही मेरे लंड को पकड़ कर अपनी चूत पर लगा दिया और मैंने बिना देर किये उसकी चूत में लंड को धकेल दिया. उसके बाद मैंने सायमा की चूत में जीभ डाल दी और उसकी चूत को अपनी जीभ से ही चोदने लगा. वो बोले- क्या हुआ? क्या देख रही हो?कुछ नहीं … मैंने कभी ऐसा नहीं देखा.

अब मैं आंटी की ड्रेस पर ध्यान दिया तो उसकी नाईटी तो एकदम ट्रांसपैरेंट थी. मैं अभी भी उसकी चूची को एक हाथ से दबा रहा था और मेरा हाथ उसकी दूसरी चूची की घुंडी के इर्द गिर्द चूम रहा था. इंग्लिश सेक्सी पाठवाएक हम और एक शर्मा अंकल की फैमिली। शर्मा अंकल की बेटी की डेस्टिनेशन वेडिंग हो रही थी तो वो एक महीने के लिए शहर से बाहर गये हुए थे। ये बात मुझे पता थी। लेकिन शायद मेरी बहन को ये बात नहीं पता थी।पूरे फ्लोर पर मैं और मेरी नंगी बहन ही थे। मैंने सामान वहीं रखा.

तीन चार दिन के बाद रानी को मासिक धर्म हुआ तो लगातार पांच दिन न सिर्फ रक्तामृत पीने को मिला बल्कि रक्त-सुरा का मज़ा भी लूटा.

मैंने उसकी चूत में तेजी से जीभ को तीन-चार बार अंदर-बाहर किया तो वह अपने चूचों को मसलते हुए सिसकारने लगी. उसके गर्म गर्म होटों में जब मेरा लंड गया तो लगा जैसे दहकती भट्टी में डाल दिया हो.

तभी चलते-चलते अचानक से वो टीवी बन्द हो गया। उस दिन भारत और पाकिस्तान का क्रिकेट मैच आ रहा था जिसको मैं मिस नहीं करना चाह रहा था. मैंने अपना दूसरा हाथ भी काजल से सटी अपनी जांघ पर रख लिया और अपने दोनों हाथों की उंगलियों को अपने अंडकोषों के ऊपर मिलाकर इस तरह से रख लिया कि कहीं से भी काजल को मेरी उत्तेजना के बारे में भनक न लगे. एक तेज आवाज ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ करती हुई वो मेरे मुँह पर ही छूट गई.

यदि ऐसा न होता तो वह आपको सेक्स करने के लिए बाध्य नहीं करता। फिर भी यदि आपको लगता है कि वह इस मामले में अनाड़ी है तो आप भी अनाड़ी हैं.

सेक्स सम्बन्धी विषयों में डॉली के पास ज्ञान का असीमित भण्डार था, उसे हर सवाल का जवाब आता था जैसे कि हम लड़कियां पीरियड्स से क्यों होती हैं, चुदाई कैसे होती है, बच्चे कैसे पैदा होते हैं इत्यादि. उसके बाद आहिस्ता से उसकी नाइट पैंट को खींचने लगा लेकिन उसकी गांड बहुत भारी थी. वो छटपटा रही थी। मैं उसकी कोमल पीठ को फील कर सकता था। मैं ऊपर गर्दन की तरफ बढ़ा.

इंडियन हॉट गर्ल बीएफईवेंट खत्म होने के बाद मैं ओडियन्स में अपनी सहेलियों के साथ बैठी थी. मैंने कहा- मैं कुछ हेल्प करूं क्या?भाभी बोली- तुम क्या हेल्प करोगे?भाभी ने मेरे कंधे से सिर उठाते हुए पूछा.

सेक्सी पिक्चर ओपन ब्लू

शायद हम दोनों को घूमने में मजा ही नहीं आ रहा था, बस यूं लग रहा था कि किसी तरह एक दूसरे से चिपक कर अपनी गर्म सांसें एक दूसरे से लड़ा लें. अब वो वैसा ही करती और मैं भी थोड़ा सा अपने पेट को हल्का करते हुए गांड को फुला-पिचका रहा था ताकि उसकी उंगली अन्दर चली जाए. मगर मेरी हेतल दीदी ने उसे अपने रूम में भेज दिया और खुद उसके रूम में आकर अपनी चूत चुदवा ली.

टेंडर खुलना था 28 नवंबर, वीरवार शाम 4 बजे और उसके बाद एल-1 और एल-2 के साथ नेगोसिएशन. मैं ज़ोर ज़ोर से उसके लंड को ऐसे अपने मुँह में अन्दर बाहर करने लगी, जैसे वो कोई मीठी सी लॉलीपॉप हो. पिछली तीन रात जो मैंने सारा और ज़रीना के साथ गुजारी थी और जो जलवा देखा था उसके बाद सोचने लगा अगर सारा ज़रीना मीठी और सीधी थी तो नमकीन कैसी होगी?फिर सारी बहनें मुझसे मेरी सुहागरात का किस्सा पूछने लगी तो मैं हिचकिचाया.

उसने दो-तीन बार अपने लंड से चूत को रगड़ा और फिर सुमिना की गांड को पकड़ कर एक जोर के धक्के के साथ पीछे से सुमिना की चूत में लंड को पेल दिया. उसने अपने पैरों को मेरी कमर में फंसा दिया और मैंने उसके मम्मे को अपने मुँह में लेकर बारी-बारी से चूसने लगा. इसलिये मेरा उत्तेजित लंड अब सीधा ही उसके नितम्बों की गहराई में घुस गया जिससे मोनी अब सहम सी गयी।शर्म‌ के कारण मोनी ना तो कुछ बोल‌ रही थी और ना ही मुझे हटाने की कोशिश कर रही थी इसलिये मेरा हौसला और जोश भी अब बढ़ता जा रहा था। मोनी के पीछे चिपक कर अब मैंने धीरे से अपनी निक्कर को नीचे करके अपने लंड को बाहर निकाल लिया और उसे धीरे-धीरे मोनी की पेंटी के उपर से ही उसके नितम्बों पर घिसना शुरू कर दिया.

बाजू में देवर का बेडरूम, फिर ऊपर छत पे जाने के लिए बाथरूम के पास से सीढ़ियां हैं. वो बोला- क्या बोल रही है मादरचोदी … आज तो तुझे चोद चोद कर मस्त कर देंगे … साली रांड.

पहले तो उसने अपने हाथों मेरे निक्कर से मेरे लंड को बाहर निकाला, जो कि एकदम तनकर 8 इंच का हो गया था.

भोला के कहने पर मेरे जीजा ने मेरी गांड से अपना लंड निकाल लिया और मेरी कमर को पकड़ कर थोड़ा ऊपर करके मेरी दोनों टांगों को अपने कंधे पर रख लिया और एक जोर की चुम्मी मेरी चूत में ली और बोले- क्या गजब चूत है तेरी बंध्या. एक्स एक्स एक्स ब्लू देसीजीजा को मेरी चूत में लंड पेलते हुए चार-पांच मिनट ही हुए थे कि पता नहीं मेरी चूत में एकदम से क्या भूचाल सा आ गया. नेपाली चोदा चोदी बीएफअब उन्हें क्या पता कि ये भोला भांजा उन्होंने चोदने की फिराक में है. मैंने कहा- मैं इसे कैसे चूसूं?इस पर उन्होंने मेरी साड़ी ब्लाउज आदि सब कपड़े निकाल दिए और मुझे नंगा कर दिया.

हां शादी के बाद मैंने कभी किसी परपुरुष से सम्बन्ध नहीं बनाए (इस सत्य कथा के लेखक सुकांत जी को छोड़कर)मुझे अपने पति से सिर्फ एक शिकायत थी कि वो मेरी चूत कभी नहीं चाटते थे और न ही कभी अपना लण्ड चूसने के लिए मुझसे कहते थे जबकि चूत चटवाने की मेरी बहुत इच्छा होती पर मैं लाज के मारे उनसे कभी कह न सकी.

तू अब तक कहाँ था, सोनू? सोनू मेरे राजा, अन्दर बाहर करना शुरू कर और आज अपनी आंटी को चोद दे. उसने मेरी टांगों को उठाया और अपने लंड को अपने हाथ में लेकर मेरी गांड के छेद पर सेट किया और अंदर धकेलने लगा. मैंने कहा- विक्की तुम निहारिका के साथ सेक्स क्यों नहीं करते?तो विक्की ने बताया- मैं तो करना चाहता हूँ, लेकिन वो खुद मना करती है … जबकि अपने बॉयफ्रेंड से खूब मजे से सेक्स करती है.

मेरे पापा काम के चक्कर में ज़्यादातर बाहर ही रहते हैं, तो घर में मैं, भाई और मम्मी ही थे. उसने मेरे मुँह को अपनी चूत पर दबा दिया और झड़ने लगी, जिसको मैंने पूरा चाट लिया. ”अरे हाँ!”हम बाथरूम में गए। मैं, ब्रा पैंटी में घुटनों पे बैठी। दोनों मेरे सामने खड़ी हुई नंगी और फिर सुनहरी रंग का फव्वारा शुरू हो गया, मेरे चेहरे गर्दन पूरे जिस्म, ब्रा और कच्छी को भिगाने लगा।मैंने अपने भीगे जिस्म पर जीन्स और टॉप पहना। अंशु भी तैयार हो गयी।जब हम चलने लगे तो डॉक्टर आशा ने कहा- कामिनी बड़ा मज़ा आया तेरे साथ, आती रहा कर!जी ज़रूर!”और हम दोनों घर आ गए.

बीएफ इंडिया वाले

रानी वासना के ज़बरदस्त तूफ़ान में घिरी थी और यह बात मेरे जैसे अनाड़ी को भी समझ में आ रही थी. मन नहीं लग रहा है क्या करूं?इस पर उसने रिप्लाई किया कि मन क्यों नहीं लग रहा है … गर्लफ्रेंड नाराज है क्या?मैंने कहा- ऐसा कुछ नहीं है और वैसे भी मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है. हम दोनों सिनेमा हॉल में कॉर्नर वाली सीट पर एक साथ मूवी देख रहे थे, वो मुझे अपनी बाँहों में लेकर मुझे मूवी दिखा रहा था.

क्यूंकि आज बुधवार था और दोपहर का शो था तो सिनेमा हॉल लगभग पूरा खाली ही था आगे की सीटों पर कुछ ही लोग बैठे थे.

फिर मैंने कहा- हिना जी आपको आपकी ब्रा और पेंटी भी खोलनी होगी, नहीं तो मसाज अच्छी नहीं होगी और तेल आपकी ब्रा पेंटी पर लग जाएगा.

महेश को उसकी कंपनी ने दिल्ली में फ्लैट दिया था, जिसमें वो अपनी बीवी और दो बच्चों के साथ रहता था. उन्होंने पहले कश कम्बा खींचा और मेरे खड़े लंड की तरफ धुंआ फेंका और हंसने लगीं. इंग्लिश बीएफ ब्लूआपकी राय के बाद मुझे आगे भी आपके लिए कहानी लिखने के लिए प्रेरणा मिलेगी.

भोला सिंह यह बात सुनकर खुश हो गया और बोला- तुमने तो दिल खुश कर दिया भाई, बंध्या के साथ ही तुम भी यहां पर आ सकते हो. मुझे चूसने के बारे में नहीं पता और मेरा मन भी नहीं कर रहा था उनके लिंग को अपने मुंह में लेने का मगर वो चाहते थे कि मैं उनके लिंग को मुंह में ले कर चूस लूँ. ये सेक्स स्टोरी मेरी अपनी छोटी बहन आतिशा के साथ किए गए सेक्स की है.

मैंने हैलो किया तो वहाँ से आवाज आई- सर, मैं मनमीता बोल रही हूँ, प्रिया की सहेली. लंड को डाल कर मैंने पूछा- पहले भी किसी का लंड ले चुकी हो क्या दीदी?वो बोली- नहीं, बैंगन डाल लेती थी जिससे मेरी सील पहले ही टूट चुकी है.

मैं आगे की तरफ जाकर आंटी के चूचों को दबाने लगा और वरूण ने आंटी की चूत की चुदाई शुरू कर दी.

मनमीता नाम सुनते ही मेरे मन में लड्डू से फूट पड़े और मैंने फटाक से उठ कर दरवाजा बंद कर लिया और उससे बात करने लगा. भाभी के मुंह से अंदर ही उम्म्ह… अहह… हय… याह… की दबी हुई सी आवाज आ रही थी. हसरत होगी भी क्यों नहीं, बेचारी पिछले 10-12 साल से लंड के लिए तरसी जो थीं.

बीएफ बाप बेटी की लगता था वसुन्धरा के लिए वैक्सिंग तो जैसे अभी ईज़ाद ही नहीं हुई थी … रही-सही कसर बोरीनुमा कपड़े की ड्रैस पहन कर निकलती थी. मैंने उसे अपने ऊपर से हटाने की बहुत कोशिश की, पर उसने बिल्कुल एक रांड की तरह मुझे दबोच रखा था.

लंड को चूत पर सेट करके बुआ ने अपना पूरा वजन ताऊ जी के लंड पर धीरे-धीरे छोड़ना शुरू कर दिया और ताऊ का लंड लेटे हुए ही बुआ की चूत में उतरने लगा. लेकिन इस बीच उसके पापा आ गए, तो बस हमेशा की तरह उन दोनों का दिखना मुहाल हो गया. मास्टर ने क्या कहा था? भूल गयी?”क्या कहा था मास्टर ने?” वो मुस्कुराते हुए मेरी तरफ आते हुए बोली.

भोजपुरी बीएफ हिंदी वीडियो

ये सब मेरी ही आउट डोर फैंटेसी थी। जो मैंने उसे पहले बता रखा था।फ्लोर की बात याद आते ही मेरा ध्यान टूटा. मैं बोली- यस हनी ही कहना … मम्मी नहीं … बल्कि तू मुझे कविता डार्लिंग बोल. वो जोर से चिल्लाने लगी- पंकज इसको बाहर निकालो प्लीज़ … दर्द हो रहा है.

फिर जब उसने मेरी चूची को दबाने के बाद मेरे निप्पल को दबाया तो मेरी सिसकारियाँ निकल गयीं. जब से मैंने अपनी माँ के चूचों को पहली बार देखा था उसके बाद से ही मैं उसके चूचों को दबाने और चूसने के लिए बेताब हो उठा था.

मैंने हैलो किया तो वहाँ से आवाज आई- सर, मैं मनमीता बोल रही हूँ, प्रिया की सहेली.

एक लड़का मेरी बहन पूनम के बूब्स पकड़ कर दबा रहा था और दूसरा उसकी जांघों को सहला रहा था. लेकलान मेरे नीचे लेट गया और उसने थूक लगाते हुए मेरी गांड में अपना लौड़ा घुसा दिया. मैंने सोचा कि आंटी की चूची इतना चिकनी हैं तो पूरी की पूरी नंगी आंटी कितनी चिकनी होगी!मगर जल्दी ही मेरे अरमानों पर आंटी ने तब पानी फेर दिया जब उन्होंने मुझे उनकी चूचियों को घूरते हुए देख लिया.

हेतल ने मानसी को सलाह देते हुए कहा- तू चाहे तो तू भी अपने ऑफिस में चुदवा सकती है. इसमें बदनामी भी नहीं है और किसी प्रकार की चिंता भी नहीं रहेगी और धोखे का तो फिर सवाल ही नहीं उठता।4. मैंने कुछ देर तक उसकी चूत की पिलाई की और फिर अपने लंड को बाहर निकाल लिया.

आशीष बोला- क्या बताया है तुमने उनको हमारे बारे में?मैंने आशीष से झूठ ही कह दिया कि मैंने कुछ नहीं बताया है.

सोफिया लियोन बीएफ: मैं तो उस कर्मचारी की बात सुन कर शांत बैठ गया, पर वह महिला बोली कि मैं 3 घंटे तक क्या करूंगी?वो आदमी उससे कुछ नहीं बोला और वापस चला गया. बेताब तो मैं भी बहुत हो रहा था लेकिन मैं उसकी बेताबी देखना चाहता था.

मुझे ऐसा लगने लगने लगा था, जैसे मुझे जिन्दगी में कोई अपना ही मिल गया था. कैसा लंड है राज का। तुमने उसको तुम्हारी चूत चुदाई के लिए उकसाया कैसे?हेतल ने मानसी को राज की कहानी सुनानी शुरू की:राज पर मेरी नजर बहुत पहले से थी. इसके बारे में तुम्हें पता नहीं था। तुमने सोचा घर पर केवल रीना और तुम ही हो। तुमने अपने स्तनों पर टॉवल लपेटकर अपने कूल्हे व स्तन ढक रखे थे। उस वक्त मैं ऊपर वाले कमरे में ही था.

मुझे देखते ही भाबी की आंखों में चुदाई की चमक और मुख पर सेक्स से भरी हुई रौनक दिखने लगी.

तभी मेरे दिमाग में बिजली सी कौंधी और एक ही पल में वसुन्धरा की झगड़ालू तबियत, सारी दबंगई, सारी बदतमीज़ी और इस वक़्त सहमी और छुई-मुई हो कर बैठी होने का राज़ समझ में आ गया. वो अपने हाथों से मेरी गर्दन को पकड़ कर अपने लंड पर मेरे मुंह को ऊपर-नीचे करने लगा. मेरे साथ यह पहली बार था कि मैं किसी के लिंग को मुंह में लेकर चूस रही थी इसलिए मुझे नहीं पता था कि लिंग से कितनी देर में वीर्य निकलता है.