बीएफ गांव की लड़की की चुदाई

छवि स्रोत,मारवाड़ी सेक्सी चुटकुले

तस्वीर का शीर्षक ,

नर्स और मरीज की सेक्सी: बीएफ गांव की लड़की की चुदाई, मैं अपनी फुटकर की दुकान के लिए आफरीन भाभी की थोक की दुकान पर सामान लाने रोज़ जाता हूँ.

सेक्सी वीडियो का फिल्म

बहुत दर्द होगा!किशन- दर्द गया भाड़ में … आप बस मेरी गांड में लंड डालो. सपने में भूरा कुत्ता देखना कैसा होता हैओह माय गॉड … कितना बड़ा और कड़क लंड था उसका … कम से कम 8 इंच लंबा और 3 इंच मोटा रहा होगा.

इस बार और ज्यादा फटफट की आवाज आने लगी और इस बार कुछ मिनट बाद झड़ गया. सेक्सी सेक्सी videoइसलिए एक दिन बड़ी हिम्मत करके मैं भाभी के घर गया और उनको समझाने की कोशिश की- जो हो गया, उसके बारे में ज्यादा मत सोचो.

अचानक से उसे मज़ा आने लगा और वो बिना कुछ बोले नीचे से अपनी गांड हिला गीला कर लंड को चूत में लेने लगी.बीएफ गांव की लड़की की चुदाई: वो बोला- यार, तेरा लंड तो मस्त खड़ा होता है, फिर भी तुझे गांड मारने की इच्छा नहीं होती, कमाल है?मैं बोला- मेरा लंड गांड मराते समय झड़ता भी है.

अब उसने अपने लंड को मेरी गांड में सही से सैट किया और अपना हाथ आगे लाकर मेरी कमर पकड़ कर दूसरे हाथ से मेरा लंड पकड़ लिया.मैंने कहा- हां मेरी जान, आज हम सब कुछ मस्ती से करेंगे … लेकिन जल्दबाजी का काम अच्छा नहीं है.

पजाबी सेकसी विडियो - बीएफ गांव की लड़की की चुदाई

मैं चाची के ऊपर टूट पड़ा और उनके पूरे मुँह पर, गर्दन पर किस करने लगा.मैंने उससे कहा- तुम बताओ कब फ्री होती हो, तब तो मैं तुमसे फिर से मिलने के लिए आने का प्रोग्राम बनाऊं.

चाची ने मुझे ऊपर से हटाकर बेड पर धक्का दे दिया जिससे पक की आवाज के साथ मेरा मुरझाया हुआ लंड चाची की गांड से बाहर निकल आया. बीएफ गांव की लड़की की चुदाई अरुणिमा पूरी तन्मयता से मेरा लंड चूसती रही और लगभग बीस मिनट में मैं उसके मुँह में झड़ गया.

मित्रो, मेरी निम्फ़ो यंग वाइफ हार्डकोर सेक्स कहानी पर आप किसी भी प्रकार की राय देने के लिए स्वतंत्र हैं और मेल पर मुझसे संपर्क कर सकते हैं.

बीएफ गांव की लड़की की चुदाई?

अयाना ने मेरा चेहरा ऊपर करते हुए कहा- शरमाओ मत चाचा!और मेरा लन्ड को टच करते हुए कहा- इसी से आप मुझे मजा दोगे ना!मैंने कहा- हाँ बेटा!तब वो बोली- ये तो मुझसे बात ही नहीं कर रहा!क्योंकि मेरा लन्ड खड़ा नहीं हुआ था।अयाना ने मुझे घुमाकर मुझे पीछे से हग किया और लन्ड को पकड़ लिया. मुझे पूरा अहसास हो रहा था कि लंड का सुपारा मेरी चूत की लाइन को फैला रहा है और अब वो चूत के छेद के पास आ गया था. तो मैंने आखिरी पैंतरा अपनाया ‘इमोशनल अत्याचार’ मैंने कहा- ठीक है, तुम्हें नहीं करना तो मैं अभी वापस जा रहा हूँ।दिव्या- अर्जुन प्लीज मत जाओ, मैं भी चाहती हूँ तुम्हारे साथ सेक्स करना! पर वो दर्द …मैंने कहा- देखो, कभी तो वो दर्द सहना ही पड़ेगा.

मैंने उसको बाथरूम से उठाकर बेड पर ले गया और उसको कुतिया बना कर खूब चोदा।और इस बार लंड का पानी उसके नंगे बूब्स पर डाला और मालिश करके, उसके बूब्स मसलने लगा. वरूण को जैसे ही उन्होंने कपड़े दिए तो वरूण बोला- मां, मुझको इस ब्रांड के कपड़े ज़्यादा पसंद नहीं हैं, लेकिन आप लाई हैं, तो पहन लूंगा. दस मिनट तक किस करने के साथ-साथ राजेश बीच-बीच में मेरे मम्मे भी दबा रहा था और ऐसे चूस रहा था, जैसे कोई आम चूस रहा हो.

रोहित बोल रहा था- रवि, आज हर तरह से नए से नए तरीके के साथ चोदेंगे साली को!मैं भी कह रहा था- बिल्कुल, आज हमारी हिरोइन का हम हर सपना पूरा करेंगे. राजेश- क्या सच में वो इतनी बड़ी चुदक्कड़ है?शर्मा अंकल- और क्या … तभी तो मैं उसे चुदवाने तुम लोगों के पास लाया हूं ताकि उसके जिस्म की सारी हवस और गर्मी निकल जाए. डिब्बे में जालीदार ब्रा पैन्टी का सैट रखा था और एक गुलाबी हाफ नाईटी!बुआ बोली- राज ये सब क्या है? मैं इस तरह के कपड़े नहीं पहनती हूं।मैंने कहा- बुआ, ये मेरी पसंद के हैं.

अब तो शायद उनको खुद मेरे साथ रह कर मजा नहीं आता … और वो साथ रह कर, कर भी क्या सकते हैं. रोहित बैड पर चला गया, राहुल अब उसके मम्मों को सहलाने लगा और कभी कभी वो उसके मम्मों को चूस भी लेता था.

उस दौरान चाची ने एक बार भी ‘ऊईई याह ऊहहह …’ की आवाज नहीं निकाली बल्कि एकदम शांत होकर और आंखें बंद करके बस मेरे लंड को अपनी चूत में अन्दर लेती रहीं.

थोड़ी देर ऐसे ही चोदने के बाद उसने मुझे घोड़ी बनने के लिए कहा और मैं झट से घोड़ी बन गई.

मेरे इस तरह से करने से भाभी चुदवाने के लिए बेचैन होने लगी थीं और मेरे सिर को पकड़कर अपनी चूत पर दबाए जा रही थीं. उंगली से सफेद चादर में भी खून लगा दिया, जिससे घरवालों को भी लगे कि मेरी सील विजय ने ही फाड़ी है. उसी पल विक्रम ने मेरी तन्द्रा भंग करते हुए मॉम से कहा- चल रंडी, अब अपनी आंखें खोल!मॉम ने आंखें खोलीं तो उन्होंने विक्रम को नंगा देखा.

मुझे उनका पसीना इतना नशा दे रहा था कि मैं अपनी जीभ से उनकी कांख के बालों को चूसने लगा. शादी सम्बन्ध के लिए आजकल हरेक समाज सोशल मीडिया का उपयोग करने लगा है. उसी बीच एक मुस्टंडे ने अपना लंड निकालकर मेरी चूत के मुँह पर लगा दिया और तीसरे ने मुझको खड़ा कर दिया.

वो बिन पानी की मछली की तरह मचलने लगी और खुद ही मेरा लंड पकड़ कर अपनी चूत में डालने की कोशिश करने लगी.

मेरी जान मेरी रंडी ये चूत इतनी गोरी और चिपकी हुई क्यों है और इस पर झांटों के नाम पर तो कुछ है नहीं है. भाभी की इस तरह की बात सुनने के बाद मैंने उनके सामने अपनी बात रखते हुए कहा- नम्रता मुझे हर रोज तुम्हारी चुदाई करना है, हर रोज मुझे चूत चोदने मिलेगी या नहीं?उन्होंने तुरंत कहा- हां ठीक है, मैं हर रोज तुमको चोदने को दूँगी, लेकिन पहले अभी मुझे चोदना शुरू करो. जब वैशाली को चाची ने मुझसे बात करते हुए पकड़ लिया, तो वैशाली उनसे माफ़ी मांगने लगी.

पहले भी उससे मेरी हाय हैलो हुई है पर अपने दोस्त की बहन होने के नाते उससे कुछ कह नहीं पाता था. मैंने कोल्डड्रिंक लेते हुए पूछा- क्या हुआ भाभी, भईया कहीं दिख नहीं रहे?वो बोली- वो अपने काम के कारण एक महीने के लिए बाहर गए हैं. बड़े भैया इन सब बातों से अनजान थे कि मेरा लंड घर की सभी औरतों की फुद्दी का स्वाद ले चुका है.

तेल लगाने के बाद मैं कंडोम पहनने लगा तो किशन बोला- बिना कंडोम के ही डालो.

पानी की किल्लत के चलते हम दोनों ने पूरी गर्मियों भर हर दूसरे दिन न्यूड सेक्स का मज़ा लिया है. मैंने उनकी गांड की चुदाई करने के लिए इस बार उनको बेड के एक सिरे पर लेटा दिया, उनकी टांगों को फैलाया और उनकी गांड के नीचे तकिया लगा दिया.

बीएफ गांव की लड़की की चुदाई 10- 15 झटकों में मैं उनके बदन पे गिर गया और झटके ले लेकर माल चूत में छोड़ने लगा. ” वे दोनों दीपक से इजाजत मांगते हुए बोले।दीपक ने अनजान बनने का नाटक करते हुए पूछा- क्या तुम इसका कमरा जानते हो? क्योंकि ये तो बताने की हालत में नहीं लग रही!नहीं सर … आप सही कह रहे हैं, तो फिर अब क्या करें … इसकी हालत तो बिगड़ती सी लग रही है?” वो दोनों बोले.

बीएफ गांव की लड़की की चुदाई तो वो बहुत तेज़ रोने लगी- आआआ आआ … माँ … आ!उसको काफी तेज़ दर्द हुआ और वो 2 मिनट तक सिर्फ रोती रही. तभी मैंने बाथरूम की तरफ से आवाज़ आती सुनी तो मुझे मालूम हो गया कि आंटी चुदने से पहले फ्रेश हो रही हैं.

मैंने इसके बाद अपने होंठों को उनकी गर्दन की तरफ किया और किस करने लगा.

रानी चटर्जी का सेक्सी

पिछले भागहोटल के कमरे में आई चाची चुदाई के लिएमें अब तक आपने पढ़ा था कि चाची ने मेरे लंड से खेल कर उसे चूम चाट कर उसका रस निकाल लिया था और वीर्य चाट लिया था. मैं अपने रूम में आ गया।आप मुझे ईमेल करके बताना कि मेरी आपबीती कपल थ्रीसम सेक्स कहानी आपको कैसे लगी, आप नीचे कमेन्ट भी कर सकते हो।आपका दोस्तरवि स्मार्ट[emailprotected]. उनके जाते ही राजेश ने फिर से अपना लंड मेरे मुँह में घुसा दिया, जिसे मैं चूसने लगी.

दोस्तो, मैं अपनी चाची की देसी चुदाई की कहानी के अगले भाग को जल्द ही आपके सामने पेश करूंगा. मुझे आया देख कर चाचा बोले कि यहां खाना खा लेना और रात में भी यहीं पर सो जाना. फिर दीदी बोलीं- तुम्हारे जीजा बहुत मोटे हो गए हैं ना … वो अब मेरी अच्छे से नहीं कर पाते हैं.

आधा घंटा बाद हर लड़के के पास दो पुरुष परीक्षक और हर लड़की के पास दो स्त्री परीक्षक पहुंचे.

मैं पहली बार किसी इस तरह अधनंगी लड़की को अपने आगोश में महसूस कर रहा था. वो बोली- अरे नहीं, तुम सोफे पर क्यों सोते हो … तुम भी मेरे पास यहीं बेड पर सो जाओ. मैंने भी देर ना करते हुए प्रिया भाभी की दोनों टांगें खोल दीं और गांड के नीचे तकिया लगा दिया.

मैं अपने दांतों में उसकी पैंटी को पकड़ कर धीरे धीरे उसकी टांगों की तरफ़ खिसकाने लगा. एक हाथ से उसके एक कंधे को पकड़ा और दूसरे हाथ से लंड को स्थिर रखने के लिए सहारा दिया. मेरी बहन की शादी की उम्र हो गई थी लेकिन उसे कोई पसंद नहीं कर रहा था.

फिर मेरे चाचा जी ने बड़ी दीदी को एक स्मार्टफोन खरीद दिया जिससे वह पढ़ाई किया करती थी. मैं किसी कुत्ते की तरह कामिनी की पकौड़ी सी फूली चूत को चाटे जा रहा था.

शमशुद्दीन जी उसकी कमर को पकड़ कर ताबड़तोड़ उसके चूत का भुर्ता बना रहे थे और अरुणिमा पूरा ध्यान राजशेखर के लंड पर केंद्रित करके चूस रही थी. उसने बारी बारी से दोनों निप्पल को बड़े प्यार से चूमते हुए दोनों ही चूचों को जमकर दबाया. उनसे रहा नहीं गया और उन्होंने मेरी चड्डी उतारी और मेरे लंड को देख कर बोलीं- तुम्हारे भैया का इतना बड़ा और मोटा नहीं है.

रात को मैं उनसे गेम खेलने के बहाने फोन लेकर उसमें ब्लू फिल्म देखा करता था और उसी फोन के ऊपर मुट्ठ मार लिया करता था.

कुछ देर बाद भाबी गर्मा गई और बदहवास होती हुई बोलीं- अब तुम मुझे अपने लंड से चोदो. मैंने भी दीदी से पूछा कि आज मां ने आपसे मेरे लंड के लिए क्या बात की थी और कैसे की थी?दीदी ने हंस कर कहा- मेरे ब्वॉयफ्रेंड के साथ मैंने और मां ने एक साथ चुदाई का मजा लिया था, जिस वजह से मां मेरे साथ खुली थीं. वो बिन पानी की मछली की तरह मचलने लगी और खुद ही मेरा लंड पकड़ कर अपनी चूत में डालने की कोशिश करने लगी.

वो बस लंड अन्दर गाड़ कर चोदे जा रहा था और पानी के अन्दर जोर-जोर से झटके मारे जा रहा था. दीदी कमरे में आईं और बाथरूम में चली गईं, बाथरूम से पानी गिरने की आवाज आने लगी.

कमरे में लाते ही मैंने आंटी को बेड पर पटक दिया और झट से उल्टी करके गांड को चाटने लगा. कुछ देर बाद मुझे लगा, जैसे उसने मेरी गांड के छेद में भी अपनी उंगली डाल दी हो. आंटी सेक्स की उत्तेजना में बोलने लगी- उफ्फ आंह … चाट ले साले … भोसड़ी के पैंटी में लंड हिलाने से क्या होगा … आज चूत में घुस जा मादरचोद.

सेक्सी नंगी ब्लू पिक्चर दिखाएं

भाभी भैया से बोल रही थीं- आप से जब कुछ होता ही नहीं है, तो मत किया करो.

संगीता भाभी उसी दिन मुझसे अब बार बार कह रही थीं- यार, तुमने तो मेरा सबकुछ देख लिया है, अब तुम अपना हथियार भी मुझे दिखा दो न!मैंने कह दिया कि अरे यार सामने से देख लेना. कैसे मेरी जिंदगी में वो घटना घटी कि मुझे एक साथ तीन लोगों ने मिलकर चोदा … और उसके बाद जब तक मेरी शादी नहीं हुई, तब तक मैं लगभग रोज किसी न किसी से चुदती ही रही. इसके बाद बेड पर हम दोनों सिर्फ पैंटी में थीं और हम दोनों एक दूसरे के मम्मे टकरा रही थीं.

मैंने अन्तर्वासना में कई कहानिया पढ़ी हैं, तो आज मेरा भी मन किया कि अपनी एक सेक्स कहानी आपके लिए प्रस्तुत करूं. मगर ये तभी संभव हो सकता था जब प्रिया अपने आपको पूरी ख़ुशी और पूरे मन से मुझे सौंप देती. फुल ओपन ब्लू पिक्चररास्ते से मैंने भाभी को कॉल करके बोला कि मुझे फलां जगह से पिक कर लो.

” वे दोनों दीपक से इजाजत मांगते हुए बोले।दीपक ने अनजान बनने का नाटक करते हुए पूछा- क्या तुम इसका कमरा जानते हो? क्योंकि ये तो बताने की हालत में नहीं लग रही!नहीं सर … आप सही कह रहे हैं, तो फिर अब क्या करें … इसकी हालत तो बिगड़ती सी लग रही है?” वो दोनों बोले. मैडम मेरे लंड को चूसे जा रही थी और मैं कामोत्तेजना के चरम को पहली बार महसूस कर रहा था.

तब मैं दरवाजे के पास गई, मेरे पीछे-पीछे मॉम भी आकर थोड़ा फासला बना कर खड़ी हो गईं. अभी भाभी ने सलवार सूट पहन रखा था इस पोजीशन में चुदाई करने में थोड़ी मुश्किल आ सकती थी. जब भाभी प्रेगनेंट थीं तो मैंने उन्हें छेड़ते हुए कहा था- कितने महीने की गाभिन हो?मुझे लगा था कि भाभी नाराज होकर कुछ नहीं कहेंगी मगर वे मेरी तरफ देख कर हंस कर बोली थीं कि सात महीने की.

फिर कुछ देर में हम दोनों ही झड़ गए मैंने भाभी की चूत में ही सारा माल छोड़ दिया और भाभी के ऊपर ही सो गया. फिर दस मिनट बाद मैंने उसकी गांड से लंड बाहर निकाला तो लंड के साथ वीर्य भी बाहर निकलने लगा और गांड से बाहर टपकने लगा. उसका एक कारण ये भी था कि मैं अपने दादा जी और दादी जी के रूम में सोती थी.

अब तक मेरी फैक्ट्री भी खुल गयी थी तो मैं फिर से फैक्ट्री में आ गया.

बस उसे तुम अपनी बीवी समझ कर चोदना, फिर चाहे किसी भी पोजीशन में चोद लेना. दीदी बोलीं- मैंने कभी गलत कदम नहीं उठाया, ये मत सोचना कि मैं ऐसी वैसी हूं.

एक दिन वह सुबह नाश्ता तैयार कर मेरे रूम में आई तो मैं सोने का नाटक करने लगा. अब मॉम ने स्पीड बढ़ा दी और तेजी से अपनी उंगलियां अन्दर बाहर करने लगीं. जब जोगी सर का लंड झड़ने वाला था तो उन्होंने मुझे नीचे लेटाया और मेरी टांगों को छाती तक मोड़ कर अपना लौड़ा चूत को फाड़ते हुए अन्दर तक पेल दिया.

इस बार वो चिहुंक गई और उसकी आवाज आई- भैया धीरे धीरे धक्के मारिए … मुझे दर्द हो रहा है. फिर मुझको पता ही नहीं चला कि मैं कब उनके चूचों से उनकी चूत पर आ गया. फ्रेंड्स, मैं उन्नीस साल की मदमस्त और सीलपैक मीना अपने भाई के लंड से चुदने की चाहत सेक्स कहानी सुना रही थी.

बीएफ गांव की लड़की की चुदाई लंड एडजस्ट हो जाने के बाद मैंने जोर से धक्का लगाया तो लंड का सुपारा गांड में दाखिल हो गया. ” वे दोनों दीपक से इजाजत मांगते हुए बोले।दीपक ने अनजान बनने का नाटक करते हुए पूछा- क्या तुम इसका कमरा जानते हो? क्योंकि ये तो बताने की हालत में नहीं लग रही!नहीं सर … आप सही कह रहे हैं, तो फिर अब क्या करें … इसकी हालत तो बिगड़ती सी लग रही है?” वो दोनों बोले.

सहामस्तर लाइव

मैं जल्द ही उसके घुटनों तक पहुंच गया और उसकी मस्त गोरी जांघों तक आ गया. दस मिनट तक चूत चटवाने का आनन्द लेने के बाद अचानक से मुझे अपनी चूत से कुछ गर्म-गर्म सा लावा बाहर निकलता हुआ महसूस हुआ. उन्हें लंड सहलाने में मजा आने लगा था तो वो दोनों नीचे आकर मेरे लंड को चूमने लगीं.

शाम को किशन की मम्मी ने डोरबेल बजाई तो हम दोनों ने फटाफट कपड़े पहने और दरवाजा खोला. साथ ही उसने ये भी कह दिया- अगर हमारा ब्रेकअप ना हुआ होता तो आज हमारी सुहागरात हो रही होती!तो मैंने भी मस्ती में कह दिया- सुहागरात के लिए शादी होना जरूरी है क्या?जिसके रिप्लाई में उसने हंसने वाला इमोजी भेज दिया. कश्मीरी मूवी फिल्मउसके बाद मैं दो दिन तक अपनी दादी के यहां रहा और भाभी फक़ का मजा लेता रहा.

Xxx क्रेजी गर्ल सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि अंकल ने मुझे चोदने के बाद अपने साले और उसके तीन दोस्तों से मेरी चूत और गांड कैसे मरवायी.

उनकी गांड दरवाजे की तरफ थी तो मैं भी भाभी के पास आया और उनसे चिपककर सो गया. उसने मैनेजर से कहा कि एक ऐसा कमरा चाहिए, जहां शोर कम हो और वो कमरा कुछ अलग को हो क्योंकि उसकी एक सहेली की तबियत खराब हो रही है वो कुछ देर वहां आराम करना चाहती है.

एक तरफ मैं उदास भी थी कि मैंने भाई को नाराज कर दिया, दूसरी तरफ से मुझे कैसे ना कैसे करके उसके साथ सेक्स भी करना था. मेरे लंड का साइज़ 3 इंच मोटा है, इसलिए वो पहली चोट में थोड़ा सा ही अन्दर जा पाया. भाभी बाथरूम में बेसिन पकड़ कर कुतिया बनी हुयी थीं और मैं पीछे से भाभी की चूत में धक्का दिए जा रहा था.

मैडम को थोड़ा आराम मिलने के बाद मैंने फिर से एक जोरदार झटका दे दिया.

मैं सोच रहा था कि काश ये पल कभी खत्म ही ना हो … लेकिन ऐसा हो नहीं सकता था. फिर एक एक करके सारे एमसीबी आन कर दीं, जिस एमसीबी के आन करने से मेन फिर से गिरा, तो मैंने उसको डाउन कर दिया. इस पर भाभी ने मुझे रोकते हुए कहा- मेरे पति का कमरा ये नहीं है, मेरे पति का कमरा वो है.

फुल सेक्स एचडी वीडियोलंड अन्दर चला गया, तो मुझे मीठे दर्द के कारण अपने जिस्म में हल्की सी सिहरन महसूस हुई. कुछ समय बाद प्रिया अकेली ही खेतों की तरफ़ टहलने चली गई और मैं कमरे में आराम करने लगा.

सेक्सी ब्लू बप

अब विक्रम नीचे मॉम के पैरों की तरफ आ गया और हाथों में तेल लेकर मॉम के पैरों में लगा कर मालिश करने लगा. अबकी बार मैं आंटी की चूत को ऐसे चाट रहा था जैसे कुत्ता मलाई खाता है. एक बार ऐसी चूत को अगर कोई देख ले, तो उसे चाटे बिना रह ही नहीं पाएगा.

उसने हंसते हुए मुझे लिटाया और डालना चाहा, लेकिन उससे नहीं बन रहा था. हमें अब आगे नहीं बढ़ना चाहिए अगर वैशाली को पता चला कि मैं तुमसे ये बातें करती हूं, तो मैं कहीं मुँह दिखाने लायक नहीं रहूँगी. मामी को सांस लेने में काफी दिक्कत आ रही थी, वो गों गों करने लगी थीं.

मैं पागल सा हो गया था उसकी कुंवारी बुर देखकर!उसने मुझे देखते हुए देखा और बोली- आज ये सिर्फ तेरे लिए है, देख आराम से करियो प्लीज़!मैंने उसकी पेंटी उसके मुंह में घुसा दी और एक हाथ उसके मुंह के ऊपर रख दिया ताकि उसकी चीख निकल न पाए. मैंने घूम कर अपने पीछे खड़ी श्रीमती वर्मा से कहा- क्या आपके पास कोई मोमबत्ती है?तो वह बोलीं- हां मैं देखकर लाती हूँ. जैसे ही हम कमरे में घुसे, वह किसी से टकरा कर आगे की ओर को गिर गईं और मैं भी उनके साथ ही गिर गया.

उसने मेरे लंड को फिर से अपने मुँह में ले लिया और वो तब तक लंड चूसती रही, जब तक लंड वापस खड़ा नहीं हो गया. थोड़े देर बाद बेडरूम से आवाज आने लगी- ठीक से क्रीम लगा, हां चूतड़ फैला कर रख, हां हां जा रहा अन्दर, थोड़ा धैर्य रख … घुस जाएगा.

अब तक हम दोनों ने एक दूसरे को देखा भी नहीं था लेकिन तब भी हमारे बीच एक अच्छी दोस्ती सी हो गई थी.

जब वो चाबी उठाकर उठी, तब उसके पेट से साड़ी हट गई और मैंने उसकी नाभि को देख लिया. रक्षाबंधन की राखीफिर मैं धीरे धीरे भाभी के चूचों से नीचे सरकते हुए उनकी नाभि को किस करने लगा. पति पत्नी का रिश्ता जोक्सभाई ने फिर से जोरदार धक्का लगाया और इस बार उसने अपना पूरा लंड एक ही बार में मेरी चूत में पेल दिया. हॉट लेडी मैरिड सेक्स कहानी शुरू करने से पहले मैं एक बार फिर से अपने बारे में बता देना चाहता हूँ.

अब यह कहानी में प्रमोद के बताए अनुसार उसके शब्दों में लिखूंगा।मैं (प्रमोद) अपनी लाइफ में ज्यादा खुश नहीं था पत्नी के जाने के बाद सेक्स का नामोनिशान जीवन से जा चुका था.

लेकिन उनका हाथ वहां नहीं पहुंच रहा था तो मैंने कहा- मैं आपकी मदद कर देता हूं. मिशनरी पोज में चुदाई के बाद मैंने अपनी बहन को कुतिया बना कर चोदा, फिर उसे अपने लंड की सवारी भी करवाई. उन्होंने मेरी मम्मी को सपरिवार आने का न्यौता दिया और कहा कि आपके भाई साहब (शर्मा अंकल) शादी में एक-दो दिन पहले ही आएंगे.

एक बार लड़का जब गांड मारना शुरू करेगा, वह झड़ने तक तुम्हें नहीं छोड़ेगा. मुझे यकीन हो गया कि भाभी की चूत मारने के लिए सुरक्षित जगह और ज्यादा समय की जरूरत है. चाची तड़फ कर बोलीं- रुके क्यों?मैं बोला- सांस तो लेने दे साली रंडी …चाची पलट कर बोलीं- हां मादरचोद … ले ले पूरी सांस … और फिर से शुरू हो जा.

जीजा साली वाला सेक्सी वीडियो

मेरे भैया भाभी ने मेरी दास्तान सुनकर ख़ुशी जाहिर की और मुझे चोदने के लिए बिस्तर पर खींच लिया. ट्रेनर- बी डी एस एम … इसमें तुमको ग्राहक का गुलाम बनने का अभिनय करना है. लड़कियों को नौकरानी, कोरियर वाला लड़का, इलेक्ट्रीशियन लड़के आदि का मेकअप करने को कहा गया.

मेरी भाभी हुसैना, जो मेरे कजिन की पत्नी हैं और वो बहुत ही खूबसूरत हैं.

मैं बस में खड़ा था, पब्लिक बहुत ज्यादा होने के कारण सब एक दूसरे से चिपके हुए खड़े थे.

रोशनी आंटी ने अब अपनी चूत अलग हटाई और उस पर लिक्विड चॉकलेट गिराकर अंकल को इशारा किया. जब मैं वापस आया तो वो मेरी एक टीशर्ट पहनकर पेंटी में घूम रही थी, बहुत सेक्सी और माल लग रही थी।फिर हमने कई बार चुदायी की जब जब घर पर कोई था नहीं!अभी तो मैं वापस कॉलेज आया हुआ हूँ. पंजाबी हॉट सेक्सीफिर उन्होंने दोबारा से एक जोरदार झटका मारा और बचा हुआ आधा लंड भी मेरी चूत को चीरता हुआ अन्दर तक जा घुसा.

थोड़ी देर बाद गुरबचन जी ने उसे अपनी गोद में खींच लिया और अब वो उसके बदन से खेलने लगे. फाइल देख ली हो, तो कल निगम जाकर जरूरी दस्तावेज जमा कर देना और काम तुझे आबंटित हो जाएगा. मैंने कहा- क्या हुआ मामी?मामी बोलीं- इतना बड़ा यार … तू तो जवान से भी ज्यादा जवान हो गया.

उसकी चुदाई की भूख इतनी ज्यादा बढ़ गई थी कि मैं अकेला उसे ठंडी कर पाने में असमर्थ था. और ज्योति भी जोर जोर से सिसक रही थी और बोल रही थी- उफ … अह्ह … गयी … चुद … गयी … मैं … अह्ह्ह्ह … साले … बस.

मैं पहले से ही जोश में था, तो मैं भाभी को भी पूरे जोश में लाना चाह रहा था.

मैंने भी बता दिया कि मेरा प्रवीण कुमार है और मैं एक विद्यार्थी हूँ. अपनी गांड मैंने ऊपर उठाई और इमरान के लंड पर चूत को रखकर धीरे से बैठ गयी. ’‘अब मैं तुम्हारी चूत को अपनी जीभ से चाट रहा हूं, तुम्हारी चूत एकदम गीली हो गयी है.

मराठी वीडियो सेक्सी पिक्चर मैं पूरी ताकत से भाबी की टाईट चूत में झटके लगा रहा था … वो भी बेहाल हो गई थीं. मैंने अपना लंड भाभी की साड़ी के ऊपर से ही उनकी गांड में सैट कर दिया और पीठ पर किस करने लगा.

किशोर का लंड भी चड्डी के अन्दर तनकर खड़ा हो गया था और मेरे पेट में नाभि को सहला रहा था. अयाना अपना टॉप स्कर्ट उतार कर ब्रा पैंटी में आ गई पर मैं देख नहीं पाया।ब्रा पैंटी में ही वो मेरे ऊपर लेट गई, उसने मेरे हाथ पकड़ के फैला दिए और ऐसे मेरे ऊपर लेट गई कि हाथ के ऊपर हाथ, सर के ऊपर सर पीठ के ऊपर पीठ और पैर पर पैर थे।उसने मेरे गाल पर किस किया. अगले दिन सुबह 10 बजे सभी सीखने वाले नंगे होकर गले में बेल्ट पहनकर हॉल में आ गए.

आंटी आंटी सेक्सी

एक बार चाची सास ने पूछा- तुमने वैशाली के साथ कुछ किया है?मैंने कहा- क्या कुछ किया है … साफ साफ बोलो न!चाची सास- कभी तुमने वैशाली के साथ सेक्स किया है?ये सुन कर मेरा लंड खड़ा हो गया. अब मेरा 4 इंच का लन्ड कितना अंदर जाता!आंटी आंखें बंद करके मज़ा ले रही थी।फिर वे घोड़ी बन गईं. फिर थोड़ी सफाई की और मैम ने बाजार खुलते ही मुझे शेयर बाजार सिखाना शुरू कर दिया.

मैंने घबरा कर उसके मुँह को अपने हाथ से बंद किया और रुक कर चूची चूसने लगा. मेरी पिछली सभी कहानियों को पसंद करने के लिए आप सभी का दिल से धन्यवाद.

भाबी भी इतने में काफी गर्म हो गयी थी उनके मुँह से ‘आह … आह …’ की कामुक आवाज निकल रही थी.

किशोर ने भी मेरी भावनाओं को समझा था और हम दोनों कुछ देर रुकने के बाद उधर से चले आए थे. तो रोहित ने कहा- ठीक है डीयर रवि, हम भी थोड़ा फ्रेश हो लें, फिर एक साथ ही डिनर करेंगे. साथ ही साथ किस करते हुए हम दोनों कामुक सिसकारियां भर रही थीं- उफ्फ … ओह … माई गॉड … यू आर सो हॉट बेबी … ओह … ओह!हमारे मुँह से ऐसी ही सेक्सी आवाजें निकल रही थीं.

वो मेरे लंड को किसी पोर्नस्टार जैसे चूस रही थी और मुझे बहुत मज़ा आ रहा था. मैंने कहा- हां पर मेरी सहेलियां बताती हैं कि बॉयफ्रेंड बनने के बाद लड़के अजीब-अजीब हरकतें करते हैं. अगर तुम्हारी हां है, तो ठीक … नहीं तो तुम कमरे में जा सकती हो, मुझे बुरा नहीं लगेगा.

यह घटना मैं फिर किसी कहानी में लिखूँगी।आज के लिए इतना ही।तो दोस्तो, कैसी लगी आपको मेरी कहानी? मुझे आप मेल करके बताइए।ऐसे ही अपनी सच्ची कहानी लेकर फिर आपके सामने हाजिर होऊंगी।[emailprotected].

बीएफ गांव की लड़की की चुदाई: नाश्ते के दौरान भी मेरी नजरें अपनी साली के आधे दिख रहे मम्मों पर ही टिकी थीं. मैं- अच्छा अन्दर देखूंगी सालो, कितने मोटे लंड है तुम्हारे … जल्दी से आ जाना और ख्याल रखना कि कोई देखे ना.

मैं सोच में पड़ते हुए आंटी से बोला- तू इतने दिनों तक बिना लंड के रही हो क्या … मुझे लगता है कि साली तू न जाने कितनों से चुदवाती होगी. तभी मुझे ध्यान आया और मैंने कहा- यार, दवा के साथ अच्छे से फ़्लेवर वाले दो पैकेट कंडोम भी ले आना. बाद में हम दोनों अलग हुए और भाभी लंगड़ाती हुई उठ कर रसोई में चली गईं.

गांड की दीवारों से मेरा लंड घिस कर वापस आ रहा था और अन्दर घुस रहा था.

मैं ऐसे में ही बहुत पैसे कमाने लगा था और सिर्फ कहने के लिए गार्ड की नौकरी करता था।लेकिन मैं था एक जिगोलो।कुछ समय बाद मैंने अपनी बहन की भी एक अच्छे घर में शादी कर दी और अब मैं भी एक अच्छा जीवन जी रहा था।आपको यह Xxx जिगोलो सेक्स स्टोरी कैसी लगी?[emailprotected]. जिसे देख भाभी एकदम घबरा गई और उनके मुंह से एक वासना भरी आह आह निकल गई. मैं इस नई स्टाइल में चाची को पहली बार चोद रहा था, ये बहुत अच्छा स्टाइल था.