इंडिया एचडी बीएफ

छवि स्रोत,इंग्लिश बीएफ एचडी डाउनलोड

तस्वीर का शीर्षक ,

हॉट रोमांस सेक्स: इंडिया एचडी बीएफ, कुछ देर चोदने के बाद मैंने चाची को घोड़ी बना दिया और पीछे से लंड पेल कर उनकी चुत को चोदा.

बीएफ एक्स ब्लू

मैंने अपनी दोनों टांगें खोल कर राहुल से कहा- चल मेरे कुत्ते … मेरी चुत चाट. अफगानिस्तान का बीएफअब जल्दी से कॉमेंट बॉक्स में जाओ और बताओ कि आज की हाउस मेड सेक्स स्टोरी कैसी लगी.

वो ऐसे बर्ताव करने लगीं, जैसी रात को उनके साथ मेरा कुछ हुआ ही नहीं था. बीएफ भेज दो हिंदी मेंतू … ये सब क्या बोल रही है तू … सच्ची तुझे कोई दिक्कत नहीं है? और इधर तेरे पास कौन से कली आ गई.

मैंने उसको अपने मजबूत हाथों से पकड़कर बिस्तर पर लिटा दिया और बोला- अरे लड़की! लन्ड की चाहत है तुमको, तब इतना नाटक क्यूं करती हो?वह हंसते हुए बोली- हमको तो आपको सताने में बड़ा मज़ा आया, खुद को कंट्रोल करके हमने आपकी खूब खबर ली.इंडिया एचडी बीएफ: लेकिन जैसे ही मैं छत पे पहुँचने वाली थी तभी मुझे ‘ओह्ह आह’ की आवाज़ सुनाई दी.

वो धीरे से फुसफसाकर बोली- क्या कर रहा है … अंजलि देख लेगी तो?मैं- इसीलिए तुझे आगे देखने को बोला है.शालू के पास जो थोड़े बहुत पैसे जमा थे वो उसने प्रमोद को दे दिये और उसको घर का कुछ सामान लाने को कहा.

सेक्सी वीडियो बीएफ बीएफ बीएफ सेक्सी - इंडिया एचडी बीएफ

वो भी कुछ ज्यादा पी लेने की वजह से बेसुध सोई पड़ी थी और मेरी हालात उसकी चुत की आवाज़ और हल्की सी झलक देखने के बाद खराब हो रही थी.सन्नो- नहीं तुम पहले मेरे सर की कसम खाओ कि उस कली का नाम सुनकर ठंडे दिमाग़ से सोचोगे और गुस्सा तो बिल्कुल भी नहीं करोगे.

अब आगे की कुवारी लड़की की चुदाई कहानी:इधर जेनिल डरते हुए मुझसे बोली- नहीं, मुझे छोड़ दो, प्लीज मैंने आज तक अपनी चुत में एक पेन भी नहीं डाला है, तुम्हारा ये तो काफी बड़ा और मोटा है … प्लीज मुझे जाने दो. इंडिया एचडी बीएफ ये सुन कर वो बोली- अरे यार, तो मैं हूं ना … अपन दोनों भी तो फ्रेंड हैं.

वह फिर मेरी छाती पर उगे घने बालों पर अपने कोमल हाथों से सहलाने लगी।उसके कोमल हाथ मेरे बदन में बिजली पैदा कर रहे थे.

इंडिया एचडी बीएफ?

हमने एक दूसरे को किस किया और एक एक सिगरेट और पीकर अपने अपने घर चले गए. अब हम सब हॉलिडे का प्लान बना रहे थे कि हॉलीडेज में कौन क्या क्या करने वाला है. अब धीरे-धीरे उसने मेरी चूत में उंगली अंदर बाहर करना चालू कर दिया और जीभ लगा करके चाटने लगा.

जब उसके बोलने से मेरा ध्यान टूटा, तो मेरे कंधे पर हाथ मार कर बोली- अरे भाई सुन भी रहा के … या चूची देख देख के ही खा जाएगा. चूंकि मैंने भी अब तक न जाने कितनी आंटियों भाभियों और लड़कियों को चोदा है, इसलिए मुझे भी अनुभव था. दोनों हल्की आवाज में शोर मचा रहे थे, मुझे डर लग रहा था कि कोई आ न जाए.

कुछ मिनट तक मैंने आशी से अपना लंड चुसवाया … फिर उसके मुँह में ही पानी निकाल दिया. फिर उन्होंने टेबल पर बैठकर कोल्ड कॉफी का ऑर्डर दिया।वो मेरे बूब्स की तरफ देखे जा रहा था. लेकिन साहिल उस टाइम झड़ने वाला था तो वो तेज़ तेज़ मेरे मुंह में लन्ड ठूस कर झटके मारने लगा.

हम दोनों ने किस किया और जो मैंने ऑनलाईन सामान मंगवाना था, वो सब राहुल को नेट पर दिखाया. उनको लगा मैं दीदी हूं।उनका पैर हाटने के मकसद से मैं थोड़ी हिली तो उन्होंने नींद में ही मेरा मुंह दीदी की ओर करवा दिया और मेरी छाती पर हाथ लाकर मेरे बूब्स को पकड़ कर सोने लगे.

इसके बाद जब चाची ने अपना बुरका निकाला, तो मैं तो उन्हें बस देखता ही रह गया.

निकिता मैडम 48 साल के आस पास की थीं और कॉलेज के बाद अपनी कार में बैठ कर चली जाती थीं.

उनकी छाती के ऊपर से थोड़ी सी ब्रा दिख रही थी, तो भाभी ने मुझे फिर पकड़ लिया और बोली- अब कौन सा घास देख रहा है तू!मैं चुप हो गया कि कहीं भाभी गुस्सा ना हो जाए. फिर वहां से उठकर हम दोनों साथ में बाथरूम में चले गए और एक दूसरे को नहलाने लगे. मेरा मन किया कि सीधा उनकी चूत खोल के अपना लंड पेल दूँ और उन्हें गपागप चोद डालूँ।अब मैंने पीछे से ही उनकी नंगी चूचियों को सहलाना-मसलना शुरू किया।मैम सेक्स से गर्म होने लगी थी।धीरे-धीरे हाथ फिराते हुए मैंने आगे से पेटीकोट के अंदर हाथ डाल दिया.

अब मैंने सायली को कैसे चोदा, ये अगले भाग में बताऊंगा, तब तक आप मुझे बताओ कि आपको मेरी ये कॉलेज स्टूडेंट्स सेक्स स्टोरी कैसी लगी. अभी तक उसके इस यौवन को भोगने वाला उसे मिला न था और मिला भी तो आज आंनद मेहता।मेरे दिल में ख्वाबों के घोड़े दौड़ने लगे- मैं इसे आज सेक्स के चरम उत्कर्ष की अनुभूति कराऊंगा. बलराम उसके पैरों के पास बैठ गया और दोनों पैरों को मोड़ कर उसकी चुत के उभार को देखने लगा.

इसी ने सेटिंग करवाई थी वो! और आज तेरे लिए मैं तोहफा ले कर आयी हूँ।तो साहिल कुछ ठीक हुआ.

मैंने कहा- तो इतनी सी बात थी? इसके लिए तो आप मेरे ऑफिस में आ जातीं?उसने कहा- अगर मैं बार बार ऐसे आपके ऑफिस में जाऊंगी तो आपके साथियों और स्टाफ को शक हो जायेगा. धीरे से लंड उसकी चूत में उतर गया और उसकी चूत के होंठ मेरे झांटों से आ सटे. मैंने जल्दी करते हुए भाभी के बदन से उनकी नाइटी को निकाल कर फेंक दिया.

दीदी भी अपनी चूत को अलग अलग लौड़ों से चुदवाती है इसलिए मैंने भी दीदी को नहीं बताया कि मैं भी जीजू का लंड ले चुकी हूं. अभी तक भाभी ने मेरा जेन्टलमेंट वाला स्वरूप देखा था, अब वो मेरा कमीने वाला स्वरूप देखने वाली थीं. दो मिनट के बाद जब मेरा दोस्त बाहर आया, तो उसके साथ एक लड़का भी बाहर आ गया.

उसने समता को बेड पर पटक लिया और उसकी चूत को उसकी पैंटी के ऊपर से ही खाने लगा.

उसके फिगर की बात करूं तो वो 32-30-34 के साइज के साथ एक भरे हुए बदन की मालकिन है. फिर अंकित झटके से स्टेप्स से उठा और सायली के नीचे वाली स्टेप पर आ गया.

इंडिया एचडी बीएफ हालांकि मेरे लंड का साइज औसत से कुछ ज्यादा मोटा और लम्बा होने के कारण उसकी बुर से खून आने लगा था. संगीता मुझसे दूर खिसकी और थोड़े पल बैठकर अपने बेडरूम की ओर जाने लगी.

इंडिया एचडी बीएफ निकिता मैडम मुझसे कहने लगीं- आह रिची धीरे धीरे आह … मैं झड़ चुकी हूँ अब मुझे जलन हो रही है. चाची ने थोड़ी खुलते हुए पूछा- वो क्या दिख रहा था … बोल न!ये कहते हुए चाची मुझे अपनी चूचियां उठा कर दिखाने लगीं- ये देख रहे थे न?मैं कुछ नहीं बोल सका.

इससे कासिब मस्त हो गया और आगे सुनाने लगा- गुलचीन बोली कि मजहर अपने यार का लंड अपनी बहन की चूत से अच्छे से लगा दे.

తిరుపాల్ ఎక్స్ వీడియో బిఎఫ్

मैंने उनसे उनकी उम्र और उनकी फोटो मांगी, तो उन्होंने कहा कि जब हम एक ही शहर के हैं … तो पहले कहीं एक साधारण मुलाकात कर लेते हैं. कुछ देर बाद मेरे लंड ने अकड़ना चालू कर दिया, तो मैंने भाभी से कहा- भाभी हट जाओ … मैं आ रहा हूँ. झांटें साफ होने के बाद इशिका की चुत गोरी मक्खन की तरह दिखाई देने लगी.

उन्होंने कहा- तुम अगर मुझे अपना समय दोगे और उसे मुझे मानसिक खुशी मिलेगी तो मैं भी तुम्हारे खुशी का ख्याल रखूंगी. फिर मेरी टांग अपने कंधे पर रखकर के मेरी चूत पर लोड़ा रख दिया और एक ही झटके में पूरा लौड़ा अंदर तक उतार दिया. उसने कॉफी का छोटा पैकट गिरा दिया और वो उसको उठाने के लिए नीचे झुकी.

उनकी मस्त चुदाई देख कर मैं अपने लंड को हिलाए बिना रह ही नहीं पाता था और मुठ मार कर खुद को शांत कर लेता था.

हालांकि हमारे पास अगला दिन भी था और अब तो जेनिल भी साथ में थी, जो कि अब कुंवारी चुत नहीं थी. उसके लंड का सुपारा ही मेरी गांड में घुसा था कि मुझे बहुत दर्द होने लगा था. उसके कुछ देर बाद उसने फिर से धक्का मारा और एक बार फिर से जैसे मेरी जान निकल गयी.

फिर वो कुछ देर के बाद दोबारा से मुझे बुलाने आयी और उसके रूम में चलने के लिए कहने लगी. वो मेरी निगाहों को समझ गईं और बोलीं- मैं तुम्हारी गर्लफ्रेंड बनूंगी. जैसे कि अधिकांशत लोग जानते होंगे थाईलैंड में गर्म गोश्त, जवानी की कमी नहीं है, और मैं भी कई बार इसका मजा ले चुका था।हम सब दोस्त बैंकॉक के सुवर्णभूमि हवाई अड्डे पर शाम को उतरे.

ये कहते हुए मैडम ने मुझे खड़ा होने के लिए कहा और मेरी बांहों में बांहें डालकर मुझ पर लद गईं. फिर वहां से उठकर हम दोनों साथ में बाथरूम में चले गए और एक दूसरे को नहलाने लगे.

लकी सिंह[emailprotected]आगे की कहानी:बहन की सहेली और उसकी बहन संग मजा- 6. कभी ऊपर मुँह ले जाकर उनके होंठों को चूमने लगता … उनसे छेड़छाड़ करने लगता. राज ने मम्मी की गांड में लंड पेल दिया और पापा ने चुत में लंड चलाना शुरू कर दिया.

आह्ह … दोस्तो, क्या बताऊं आपको मैं! ये बड़ी उम्र की औरतें बहुत गर्म होती हैं.

भाभी जी मुझे चाय पिलाने के लिए रोक लेती थीं तो मैं भी उनके घर में टीवी देखते हुए चाय पीता रहता था. सेक्सी भाभी चुदाई करके मैं भी आनंदित हो गया था और वो भी खुश हो गयी थी. हम दोनों ही तेज तेज अपनी अपनी कमर हिला हिलाकर चुदाई का मज़ा लेने लगे। अब मैंने एकदम से लंड की रफ्तार बढ़ा दी और रेखा भी समझ गई.

मैं- जब मैंने तुम्हें पहली बार देखा था, तब से मैं उसे भी भूल चुका हूँ. जिससे अगर साहिल का हाथ लगे तो सीधे मेरी चूचियों को वो अपने हाथ पर महसूस करे.

ये सोचते और देखते हुए मेरा पागलपन और बढ़ गया था कि आज मेरी अम्मी फिर से बहुत जबरदस्त तरीके से लंड से मज़े लेंगी. उसने कासिब से कहा- भाई, क्या तुम आपा को ही चोदोगे या मुझे भी मजा दोगे!कासिब मेरी चूत में धक्के लगाता हुआ बोला- अस्मा मेरी डार्लिंग बहना … पहले मैं दिलकश को अच्छे से चोद लूं, फिर जब तेरी बारी आएगी, तब तेरी चूत की सील तोड़ कर अच्छे से तेरी चूत फाडूंगा. मैंने आंटी को नमस्ते बोला और अपना डिब्बा आगे करते हुए कहा- आंटी दूध चाहिए था.

हिंदी सेक्सी मूवी राजस्थानी

जिसको पहनने के बाद मैंने काले रंग का ऊपर से दुपट्टा डाल कर अपने 36 की चूचियों को छलकते हुए दादी से छुपा लिया.

मैंने मुँह में दूध लिए ही अपनी दो उंगलियां उनकी पैंटी पर रख दीं और पैंटी के ऊपर से ही भाभी की चुत को रगड़ने लगा. जैसे ही मैंने अन्दर झाँका, तो देखा कि भाई साहब का कच्छा नीचे गिरा हुआ था और वो मुठ मार रहे थे. वो मेरी आँखों में देख रहा था। मैं शर्म से लाल हो रही थी।मैंने उसे कहा- हाथ हटाओ।तब उसका ध्यान उसके हाथ पर गया और वो मेरे ऊपर से उठा।उसके हाथ का दबाव मेरे दूध पर बढ़ गया। और उठते उठते उसने मेरी चूची को दबा दिया.

भाभी अब शांत हो कर दूध निकाल रही थी और वो अपने घुटने हल्के से आगे पीछे कर रही थी, जिससे मेरे लंड पर उसकी गांड का दबाव बन रहा था. मेरी नजर उसकी आंखों को पढ़ने में थी कि उसने मेरी जांघ पर कुछ बूंद चाय की गिरा दीं. सेक्सी बीएफ पंजाबी पंजाबीचूंकि राहुल ने थोंग पहनी हुई थी, जो उसके चूतड़ों की दरार के बीच में से निकली हुई थी और गांड का छेद खुल गया था.

आह … मेरा निकलने वाला है, किधर निकालूं?”भोसड़ी के चूत में डाल दे पूरा का पूरा माल, मेरे पास गोली है. अब मैं जिम के वक़्त मैडम को सोचते हुए खूब जोश के साथ जिम किया करता था.

दस मिनट तक भाई साहब ने मेरे होंठों को चूसते हुए चुदाई की, फिर मैं और भाई साहब एक साथ झड़ गए. ऐसे ही हमें इस कक्षा में पूरा साल हो गया और हमारे फाइनल पेपर हो गए. मेरे हाथ में फोन पकड़ाते हुए आंटी बोली- रोहण, तुमने अपने फोन में मूवी तो बहुत अच्छी रखी हुई हैं.

फैमिली चुदाई वाली कहानी में पढ़ें कि मेरे भाई ने मेरे अब्बू अम्मी के साथ मिल कर मेरी कुंवारी चूत को फाड़ा. मैं वहां से निकला और चुपके से अपने रूम में आ गया।उस दिन मैं थक गया था तो दिन में ड्यूटी नहीं गया। रात को मैंने फिर से रेखा आंटी को अपने रूम में बुलाया. कुछ देर में ही नूपुर भी नीचे से अपनी कमर उठा कर चुत चुदाई के मज़े लेने लगी.

थोड़ी देर लंड रगड़ते रहने के बाद मैंने उसके होंठों को किस करते हुए चुदाई का आगाज किया.

तब मेरी बहन बोली- अच्छा, जब तू मुझे घूरता है, छुप छुप कर मेरे मम्मों पर नजर डालता था, वो सब क्या था. वो आनन्द के स्वरों के साथ चुदाई के पलों का पूर्णरूपेण आनन्द ले रही थीं और ‘आहह … ऑह … ईस्स.

कुछ मिनट सोने के बाद वो उठ भी नहीं पा रहा था और उसका लंड मेरी गांड के अन्दर फंसा हुआ था. रणजीत- देख सन्नो, सिर्फ मैं ही नहीं, सभी मर्दों को कच्ची कलियां अच्छी लगती हैं. पर जैसे ही मेरी उंगली आगे बढ़ी, मैंने पाया कि उसने अन्दर पैंटी पहन रखी थी.

उन्होंने अपने कच्छे का नाड़ा खोल कर अपना लंड बाहर निकाल लिया और उसे सहलाने लगे. थोड़ी देर बाद पुष्पा को मज़ा आने लगा और वो लंड को लोलीपॉप के जैसे चूसने लगी. मामी- उसकी निगाहों ने तेरे लंड का साइज़ नाप लिया था और तू भी तो उसकी चूचियों को कच्चा खा जाने वाली नजरों से देख रहा था.

इंडिया एचडी बीएफ कुछ मिनट बाद मैंने उनके मुँह से लंड निकाला और उनको अपने नीचे लेटा लिया. मैंने भाभी के बाल पीछे से पकड़ लिए और अपना लंड उनके मुँह में डाल कर अड़ा दिया.

सेक्सी इंग्लिश सेक्सी इंग्लिश सेक्सी

फिर उन्होंने मेरी पैंटी उतार दी और मेरी चूत के चीरे पर अपनी जुबान फिराने लगे. मैं इशिका की चुत में धीरे धीरे उंगली करते हुए उसे होंठों पर किस करने लगा. फिर वो दोनों झटपट नग्न हो गये और डॉक्टर साहब ने सोनाली को मेरे बगल में बेड पर कुतिया बना लिया.

भाभी शाम को मौसी के पास आईं और बोलीं- मौसी, मेरी तबियत ठीक नहीं है, आप आज रात मेरे कमरे में आ जाएंगी, तो मुझे काफी सहायता हो जाएगी. मैंने प्रिंस से पूछा- मैं तेरे लंड को पकड़ रहा हूँ … उससे खेल रहा हूँ, तो क्या तुझे अच्छा नहीं लग रहा है?प्रिंस बोला- अच्छा तो लग रहा है … लेकिन लड़की होती, तो सही में मजा आता … तुम मत करो. सेक्सी बीएफ सुहागरात सेक्सी”इतना कहकर प्रिंसिपल साहब उठे, उन्होंने दरवाजा बंद किया ओर मुझे लेकर अपने बेडरूम में आ गये.

संजय मुझसे बोला- शिवम जा … ट्रैक्टर में तेल लाकर गेर दे, मुझे आज मिल में जाना.

अब मैं इंतजार करने लगा कि कब मेरा दोस्त एक दिन के लिए कहीं बाहर जायेगा और मुझे भाभी कीचुदाई का मौकामिलेगा. [emailprotected]Xxx मॉम कहानी का अगला भाग:मम्मी के साथ चेन्नई यात्रा- 5.

मैंने तुरंत भाभी के मुंह पर हाथ रख दिया और उसकी चीख अब अंदर ही दबने लगी. फिर वो पूछने लगा कि चूत मारने में उसे कोई कमजोरी तो नहीं होगी?मैंने बताया कि आमतौर पर पुरूष इस उम्र में रोज 3 बार चूत मारतें हैं. फिर उसने कुछ ऐसा किया कि जिससे मेरी रूह तक उत्तेजना का झोंका जा लगा.

ये सब सोचकर मैंने थोड़ी राहत की सांस ली और कहा- आप जाकर गेंद दे दीजिए.

बीस मिनट तक मुझे चोदने के बाद जब कासिब झड़ने के करीब आया, तो बोला- आंह अम्मी … मैं झड़ने वाला हूँ … बोल कहां झड़ जाऊं!अम्मी ने कहा- कासिब मेरे बेटे, मेरे बलमा, मेरे शौहर … तू अपनी मनी अपनी बहन की चूत में ही छोड़ दे. मैं निकिता मैडम को देख इतना तड़पता था कि रात में तकिए को अपने लंड से रगड़ कर चोद देता था और झड़ कर उसे गीला कर देता था. कुछ देर तक वो मेरे सीने पर हाथ फेरती रहीं और मुझसे प्यार की बातें करने लगीं.

बीएफ पानी वालीमैंने कहा- तो ये काम सिर्फ मैं ही पूरी तरह से कर सकता हूँ … मगर पहले तुम मेरे लंड को चूसो. मैं नीचे होकर उनके दूध के निप्पल को अपने होंठों में दबा कर चूसने लगा.

लौंडिया लंडन चलाएंगे रातभर डीजे बजाएंगे

कभी जरूरत ही नहीं पड़ी, बस प्यार से एक दूसरे से बातें करने में मशगूल रहते थे. मगर भाभी ने मेरा लंड नहीं छोड़ा और वो मेरे लंड से निकले हुए रस को पी गईं. उसे देख कर तो मैं एकदम से डर गया और हुक्का को उठा कर अलग को रख दिया.

उसकी क्या मदद करूं!मैंने स्वरा की जांघों पर हाथ फिराते हुए कहा- स्वरा तुम उसके साथ दिल भरकर खेलो और उसे हराभरा कर दो. दीपक ने अपने लंड को मेरी चूत में थोड़ा हिलाया और दीपक अपने धक्के मरने में व्यस्त हो गया. अब जब तुम दोबारा आओगे तो मैं दिखाऊंगी कि चुदाई में मर्द को कैसे मजा दिया जाता है.

फिर वो बेड से उठे और मेरी टांगों को पकड़ कर अपनी तरफ खींचा।फिर वो अपना लंड मेरी चूत के होंठों के बीच रगड़ने लगे।मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा था. किसी कारण से हमें वो घर छोड़ना पड़ा और हम सभी को एक दूसरे किराए के घर में जाना पड़ा. उन्होंने मेरी तरफ लाइटर उछाला और बिस्तर पर बैठते हुए मुझसे इशारे से सिगरेट जलाने की कहने लगीं.

उसने कहा- मैं रात के लिए खाना मंगाती हूँ, तब तक हम दोनों नहा लेते हैं. प्रोडक्ट की प्रोमोशन के लिए तीनों लड़कों और लड़कियों को एक दूसरे के साथ जोड़ीदार बनाया गया था.

आंटी- जब से तेरे फोन में पोर्न सेक्स विडियो देखी है तब से सब्र ही करती आ रही थी.

जोरदार चुदाई की कहानी का पिछला भाग:मेरी जवानी और सेक्स की प्यास- 4>साहिल ने तकरीबन 10 मिनट तक मेरी चूचियों को चाटा होगा जिससे मेरी पूरी चूची में जलन होने लगी. बीएफ ब्लू पिक्चर विदेशीमैंने कहा- चलिए, ईश्वर की कृपा से ऐसा ही हो … लेकिन अगर आप मुझे दोस्त मानती हैं, तो प्लीज़ मुझे हर बात बताइएगा. देसी चूत की बीएफउसके बाद हमारी कभी कभी फोन पर बात हो जाती है, वक्त होता है, तो मुझे बुलाती भी लेती हैं. कॉलेज की लड़की की सेक्सी कहानी आपको कैसी लगी, अपने विचार जरूर बतायें.

सौरभ ने उसका पेटिकोट उतार दिया और उसकी पैंटी भी! श्रेया की चूत पूरी तरह से गीली हो गई थी और रोटी की तरह फूल गई थी.

पैंट को नीचे करके वो घुटनों पर आई और मेरे लंड को बेतहाशा चूसने लगी. मैंने आंटी से कहा- अच्छा, अब मैं जाऊं?उसने नीचे की ओर आकर मेरे लंड को मुंह में ले लिया और चूसने लगी. मैं कब से तुमसे यही बात करना चाहती थी, पर तुम बात ही बहुत कम करते हो.

थोड़ी देर बाद मैंने दूसरे हाथ से मामी के ब्लाउज के बटन खोल दिए और उनके मम्मों को ब्लाउज से आजाद कर दिया. वो लंड पर जैसे ही बैठी तो मेरा गीला लंड फच्च … करके अंदर तक घुस गया।उसके मुंह से कामुक सिसकारियां निकलने लगीं- आह्ह … आह्ह … उईई … आह्ह … चोदो अब … आह्ह।वो अब उछल उछल कर चुदने लगी. दरोगा ने उसकी चूत कैसे पेली?हैलो फ्रेंड्स, मैं आपकी चहेती पिंकी सेन, एक बार फिर से आपको सेक्स कहानी का मजा देने आ गई हूँ.

इंडियन सेक्सी वीडियो इंडियन सेक्सी

मुझसे भी अब रहा नहीं जाता था, इसलिए मैंने संगीता के दायें स्तन को अपने मुँह में लिया और दूसरे स्तन को मेरे हाथ से मसलने लगा. पावस और सारिका बहुत गर्म हो चुके थे और निश्चित बात थी कि वो दोनों आज चुदाई का पूरा मजा लेना चाह रहे थे. उसके उस आठ इंच लौड़े को कोई मेरे जैसे भरी और बहुत गर्म चूत वाली लड़की संभाल सकती है.

कोई आ गया तो क्या होगा?वो बोला- कुछ नहीं होगा, हम लोग छत पर चलते हैं.

शॉवर से गिरता पानी और भाई साहब के धक्के दोनों ही मेरे बदन को सुखद अहसास करा रहे थे.

क्या ये बात सही है?रणजीत- तू भी कहां छिनाल औरतों की बातों में आ गई. भाई साहब की चुदाई से मेरा रोम रोम खिल उठा था और कुछ ही देर में मेरा पानी निकल गया. बीएफ वीडियो चुदाई दिखाइएउन्होंने लिखा- मेरा मतलब सेक्स न हो, तो कैसे संतुष्ट कर सकते हो?मैंने न जाने कौन सी धुन में लिख दिया कि सेक्स तो एक क्रिया है.

फिर अब्बू ने अम्मी की जांघें खोलीं और अपने लंड की टोपी अम्मी की चूत में सैट कर दी. मैं खाना खाकर फिर से सो गयाशाम को 6 बजे मधु ने मुझे कॉल किया- घर आ जाईए, मम्मी पापा चले गए हैं. नीचे अब्बू अम्मी की गांड को मसलते रहे और गांड की दरार में उंगली फेरते रहे.

जब मैंने टोपे को मुंह में भरा तो लगा कि किसी ने जंपर बॉल मेरे मुंह में दे दी हो. वह मेरे पास आकर बोली- आप सिर्फ किचन का सामान बता दीजिए, मैं बना लूंगी.

यह उसकी मुझसे रिक्वेस्ट थी, क्योंकि एक मैं ही उसका बेस्ट फ्रेंड था.

मेरे इसी कामुक फिगर की वजह से मेरा बॉस मुझे देख देख कर अपनी वासना बुझाया करता था. कासिब- गुलचीन ने मेरी पैंट के ऊपर से मेरा लंड पकड़ लिया और मेरा हाथ अपने चूचे पर रख कर बोली कि कासिब आज से मेरे जिस्म का तू मालिक है … और जब भी तेरा मन चाहे, तू मुझे कभी भी कहीं भी … और जैसे तेरा मनचाहे मुझे चोद सकता है. मैं उसकी तरफ देखा और कहा- निचोड़ने का एक बढ़िया तरीका है मेरे पास, इससे डबल मेहनत नहीं होगी.

ब्लू पिक्चर वीडियो बीएफ ब्लू पिक्चर पापा ने मेरे मुँह में अपने लंड का रस टपका दिया और राज ने अपनी सास के मुँह में पानी छोड़ दिया. मैंने अपने कपड़े उतार दिए और लंड हाथ में पकड़ कर उसे इशारा किया तो वो बैठ कर चूसने लगी।मैंने उसका सिर पकड़ लिया और उसके मुंह में जोर जोर से चोदने लगा।थोड़ी ही देर में मेरा पानी निकल गया उसके मुंह में मैंने उसका सिर छोड़ दिया.

और इधर मेरी बहन भी बहुत गर्म हो जाती और चुदने का बहुत को तड़पती रहती थी।कुछ दिनों बाद मेरे मम्मी पापा दो दिनों के लिए बाहर जाने वाले थे; घर में मैं और मेरी बहन दोनों ही रहने वाले थे. चुत पर झांटें न देख कर मैंने चाची से पूछा कि क्या बात है मेरी जान … तेरी चुत तो एकदम साफ है. अब बताओ तुम्हें जो लड़की पसंद थी वो कैसी दिखती थी?मैं- सच बताऊं?संगीता- हां.

हॉलीवुड मूवी सेक्स वीडियो

कभी जरूरत ही नहीं पड़ी, बस प्यार से एक दूसरे से बातें करने में मशगूल रहते थे. उसकी सांसें तेज हो गयीं और भानू ने उसकी चूचियों को दबाना शुरू कर दिया. मैंने एक बात पर गौर किया कि औरतों को चोदने के लिए ज़बरदस्त स्टैमिना और हट्टा कट्टा होना बहुत ज़रूरी है.

यह जानकर संगीता ने मुझसे अपने हाथ छुड़ाए और थोड़ा ऊपर उठकर अपनी मैक्सी उतारने लगी. वो बोली- उस बूढ़ी की चूत में ज्यादा मज़ा आया या मेरी चूत में!मैं बोला- तेरी चूत में.

वो मेरी तरफ देख कर मुस्कुराई और बोलीं- मुझे भी एक खूंटे से बंधना पसंद नहीं है.

मैंने लंड चूसना शुरू कर दिया और दो मिनट बाद ही अंकल का माल मेरे मुंह में आने लगा. वर्ना तेरी मां फोन करती ही होगी अब!मैंने फोन में टाइम देखा तो घंटा भर बीत गया था. पुष्पा एक काल्पनिक नाम है क्योंकि मैं उसका वास्तविक नाम यहां नहीं बता सकता हूं.

मगर कुछ दिनों बाद से मुझे लगने लगा था कि अंकिता और ज्योति को चोदने के लिए उनको इसी तरह से तड़फाने की स्कीम कारगर साबित होगी. मेरे साथ ही चाची भी दोबारा झड़ गईं और हम दोनों एक दूसरे से चिपक कर अपने स्खलन का मजा लेने लगे. उसकी ड्रेस मैंने उतार दी ताकि चुदाई के बाद किसी को उसकी ड्रेस देख कर यह न लगे कि ये ऐसी हालत में कैसे हो गई.

करीब सवा दस बजे डॉटेड कॉण्डोम का पैकेट लेकर मैं कुलजीत के घर पहुंचा तो हनी ने दरवाजा खोला.

इंडिया एचडी बीएफ: थोड़ा तुम्हारा शरीर सहलाना पडेगा और थोड़े तुम्हारे बूब्स दबाने होंगे. आंटी उसी पल वापस पलटीं और अपनी गांड मटकाते हुए दूध लाने अन्दर चली गईं.

मैंने पूरा लंड अन्दर तक घुसेड़ा हुआ था और मेरी पिचकारियां उसके गर्भाशय को नहला रही थीं. ये सुनकर मैं भौचक्की हो गई थी कि मेरे रूम में स्पाई कैमरे लगे थे, जिसके माध्यम से पापा मम्मी हम दोनों की चुदाई देखते हैं. वो थोड़ा ऊपर उठी और अपनी गीली हथेली से मेरे लंड को फिर से गीला कर दिया.

दो दोस्तों को छोड़ कर बाक़ी सब पहली बार थाईलैंड आये थे तो उन सबको पताया पहुँचने की जल्दी थी, उन्होंने पताया की जिस्म की मंडी के बारे में काफी सुन रखा था.

मैंने उसके कमीज को ऊपर उठाया, तो वो बोली- तू अपना पजामा उतार दे … कमीज में उतार दूंगी. मैंने प्रिंस से पूछा- मैं तेरे लंड को पकड़ रहा हूँ … उससे खेल रहा हूँ, तो क्या तुझे अच्छा नहीं लग रहा है?प्रिंस बोला- अच्छा तो लग रहा है … लेकिन लड़की होती, तो सही में मजा आता … तुम मत करो. भाई साहब मेरी आहट पाकर बोले- अनुराधा मुझे बाथरूम में छोड़ दो और मेरे कपड़े भी वहीं टांग देना.