बीएफ फिल्म सेक्सी बीएफ फिल्म

छवि स्रोत,दीपिका की सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी पिक्चर 2021 वाली: बीएफ फिल्म सेक्सी बीएफ फिल्म, मैं अभी भी उसकी गर्दन पर किस कर रहा था।चुदते चुदते वो फिर से गर्म हो गई और अपनी गांड आगे पीछे करने लगी।मैंने लन्ड उसकी चूत से निकाल लिया।वो मेरी तरफ आश्चर्य भाव से देखने लगी।मैं उसी बेड पर लेट गया।रुबैया को कुछ भी समझाना नहीं पड़ा। वो दोनों तरफ टांगें करके चूत को लन्ड पर रखकर एक झटके में ही पूरा लंड चूत में डालकर उछलने लगी.

चोदा चोदी चोदा चोदी पिक्चर

उसने मेरी दोनों टांगों के बीच उसका मुंह डाला और मेरी चूत को बेतहाशा चूसने और चाटने लगा. एक्स एक्स वीडियो 2021मगर अंकल जी मेरी बात को अनसुना करते हुए मेरा एक चुचा अपने मुँह में लेकर चूसने लगे और दूसरे को हाथ से दबाने लगे.

मेरी मंजिल बस एक कदम दूर थी लेकिन यह दूरी अब बर्दाश्त नहीं हो पा रही थी, मेरी चूत बुरी तरह से गीली हो चुकी थी. मम्मी बेटे की सेक्सीवो आह … आह … की तेज आवाज़ के साथ एकदम से शांत हो गई।धर्मपाल पूरा लन्ड चूत में डालकर हरदीप के ऊपर लेट गया।अब कमरे में से दोनों की सांसों की आवाज़ आ रही थी।कुछ देर बाद दोनों की सांसें नार्मल हुईं.

थोड़़ी देर बाद मैंने उसके संतरे छोड़कर अपनी हथेली पर ऑलिव ऑयल लिया और मनमीत की पैन्टी नीचे खिसकाकर उसकी बुर पर मसाज करने लगा.बीएफ फिल्म सेक्सी बीएफ फिल्म: उसके बाद मैंने रूम का दरवाजा बंद कर लिया और फिर से सोनी की बुर में लंड को पेल दिया.

लेकिन मैंने उनको हैंगआउट पर आने की विनती की लेकिन उन्होंने मुझसे 4 से 5 मेल में कुछ औपचारिक पूछताछ की.कुछ ही देर में वो वापिस आकर नीचे लेट गयी और चिल्लाने लगी और उल्टी सी करने का नाटक करने लगी.

সেক্স অ্যাডাল্ট ভিডিও - बीएफ फिल्म सेक्सी बीएफ फिल्म

मॉम ने भी मेरे होंठों से अपने होंठ चिपका दिए, तो मैं अपनी मॉम को पागलों की तरह चूमने लगा.फिर 25 दिन बाद दीदी के एग्जाम खत्म हुए तो दीदी कॉलेज से आने के बाद रेस्ट कर रही थीं.

इसमें ज्यादातर मेरी सोच से लिखी हुई है।सुमन एक जवान लड़की थी। उसके घर में उसकी छोटी बहन तनु भी थी।तनु अभी जवान होने लग रही थी। उसके शरीर के अंग नए पेड़ पर उगती टहनियों की तरह फैल रहे थे।उसकी लम्बी गर्दन किसी संगमरमर की तरह बिल्कुल गोरी थी. बीएफ फिल्म सेक्सी बीएफ फिल्म तुम मुझे मेरे कपड़े लाकर दे सकते हो क्या?मैं बोला- मेरे पास मेरा तौलिया है.

कई बार ऐसा होता था कि उसके घरवाले रिश्तेदारों के यहां गये हुए होते थे तो दीपू घर पर अकेली ही होती थी.

बीएफ फिल्म सेक्सी बीएफ फिल्म?

इस पर संजय ने उससे मज़ा लेते हुए कहा- क्यों तेरी होने वाली बीवी खराब है क्या … फ़ोन लगाऊं अभी क्या?उसका दोस्त हंस कर कहने लगा- अरे रहने दे यार … शादी कैंसिल करवाएगा क्या!अब हम दोनों अन्दर आ गए और कुछ देर बैठे. दरअसल उसे लंड चूसने का मन तो था, मगर वो शर्मा रही थी कि कहीं मैं उसे लंड चूसने वाली रांड न समझ लूं. मैंने भाभी को किस किया और बोला- बिगड़े हुए लोगों की दुनिया में आपका स्वागत है.

अंजलि भी अपनी गांड हिलाने लगी।उसकी गांड और चूत की धार को मैं अपने लण्ड पर महसूस कर रहा था।मैंने कहा- चलो … जल्दी से निपटा लेते हैं. मैंने भाभी के मुँह से लंड चुत चुदाई शब्द सुने, तो मैं भी खुल कर बोला- मेरी क्या जरूरत है … आपके पति तो हैं. लेकिन अब हम दोनों भाई बहन के जिस्मों के अंदर चुदाई की आग भड़क चुकी थी पर दोनों किसी भी तरह अपने घर आ गए.

और मैं मन ही मन में बोला कि बुआ आपको क्या पता … आपके लिए मैंने कितनी बार मुठ मारी है. लंड गहराई सीमा से अधिक अन्दर घुस चुका था, चुत में रस निकालने के लिए भी जगह नहीं बची थी. फिर मैंने जैसे ही लोशन जाँघों में लगाया तो वो बोली- बस इतना ही?बोल करके आंटी ने अपने दोनों पैरों को फैला दिया और मेरे हाथों को अपनी चूत में ले जाकर कहने लगी- यहां कौन करेगा?और वो अपने टॉवल को निकालकर पूरी तरह से नंगी हो गयी.

कुछ देर लंड चुसवाने के बाद मैंने उसकी टांगों को फैला दिया और उसकी मैक्सी उसकी चूचियों तक चढ़ा दी. मेरे पूछने पर महिला ने बताया कि दो दिन से बुखार है, हरारत है, कुछ खाने का मन नहीं कर रहा.

लेकिन जैसे आपा को मेरी इस हरकत से कुछ भी नहीं हुआ … वो अब भी बालकनी से बाहर झाँक रही थी.

मैंने भी देर ना करते हुए अपने लंड का सुपारा उसकी चूत के मुहाने पर रख दिया और एक तेज धक्के के साथ बुर चीरने की कोशिश की.

मैं पच पच … की आवाजों का मजा लेते हुए उसकी चूत में लंड को पेलता रहा. हॉट सेक्सी आंटी के चॉकलेटी रंग के निप्पल चूसने में मुझे बड़ा मजा आ रहा था. इस बार मैं उसके स्तनों को भी भी ताबड़तोड़ मसलने लगा जिससे उसकी चीख निकल गई और वह सिसकारियां लेने लगी- आह … आह … अभिमन्यु … थोड़ा और ज़ोर से दबाओ.

मेरे मुंह से कराह फूट रही थी, हर झटके से मेरे मुंह से कराह निकल जाती थी. मैंने अपनी क्लासमेट गर्लफ्रेंड की चुदाई कैसे की?मेरी कॉलेज लाइफ की इस सेक्स कहानी के पहले भागटीचर की चुदाई देखकर मुझे कुंवारी चूत मिली-1में अब तक आपने पढ़ा कि मेरी टीचर की चुदाई स्कूल के प्रिन्सिपल सर ने बाथरूम में की थी, जिसे मैंने और मेरे साथ पढ़ने वाली आकांक्षा ने देखा था. इतने में ही उसके लंड से भी वीर्य निकल गया और वो झटके दर झटके मेरी चूत में स्खलित हो गया.

तभी उसकी बेटी वहां पर आई और उसने अपने पापा को सांत्वना देकर चुप करवाने की कोशिश की.

मैं बोला- ओके मैं कब आऊं?जिया बोली- पहले 3 लाख का लोन तो पास करा दो और चाहो तो आज ही आ जाओ. मैंने दिल्ली में एडमिशन के लिए कहा तो पापा अपने दोस्त से बात कर ली. मेरी मंजिल बस एक कदम दूर थी लेकिन यह दूरी अब बर्दाश्त नहीं हो पा रही थी, मेरी चूत बुरी तरह से गीली हो चुकी थी.

ये सुनकर वो खुश हो गया और मेरे पास आकर उसने फिर से मुझे नीचे गिरा लिया. और ये सुनते ही हम 69 की पोजिशन में आ गए। मैं संगीता की चूत चाटने लगा जिस पर एक भी बाल नहीं था. जब संजय की नज़र मेरी पैंटी पर पड़ी, तो पहले उसने बाथरूम के दरवाजे को देख कर ये अंदाज़ा लगाया कि मुझे अभी बाहर निकलने में देर लगेगी.

आगे मेरे साथ क्या हुआ और कैसी रही मेरी पहली चुदाई, ये जानने के लिए आप इस सेक्स कहानी का अगला भाग जरूर पढ़ें.

कुछ ही मिनट में चाची ने मेरे लंड का पानी निकाल दिया जिसे वो पी गयी. उस दिन के बाद से फिर हम दोनों के बीच में बात करने का सिलसिला शुरू हुआ.

बीएफ फिल्म सेक्सी बीएफ फिल्म फिर मैंने धीरे से उसकी जींस का बटन खोला जिसका उसको बिल्कुल भी अंदाजा नहीं लगा और उसकी पैंटी के ऊपर से उसकी चूत को सहलाने लगा. मेरी दीदी और मम्मी की चुदाई की कहानी आपको कैसी लगी मुझे मेरे ईमेल पर मैसेज करके बतायें जो मैंने कहानी के अंत में दिया हुआ है.

बीएफ फिल्म सेक्सी बीएफ फिल्म मैंने कहा- मैंने तुम्हें तैरना सिखाया है, मुझे कुछ गिफ्ट नहीं दोगी क्या?वो बोली- क्या चाहिए तुम्हें?मैंने कहा- मैं बस एक बार तुम्हें बिना कपड़ों के देखना चाहता हूं. फिर मेरी बीवी के भोसड़े में एक उंगली को अन्दर घुसा दिया और जोर जोर से उंगली से चोदने लगा.

मैं वहाँ से पीछे हट गई और फिर वहां आने की आवाज़ करते हुए ऐसे बिहेव किया जैसे मैंने कुछ नहीं देखा हो.

पल्सर न्यू

परिवार में चुदाई की कहानी के अगले भाग में मैं अपने दामाद के साथ कैसे चुद गयी, इसका बखान करूंगी. मैंने उसके क्लिटोरिस को अपने होंठों से पकड़ कर खीँच लिया और हल्का सा काट भी लिया जिससे वो बहुत चुदासी हो गयी. उंगली को चूत में डालकर मैं बाकी उंगलियों को चूत के ऊपर ही फिराने लगा.

उसने फिर से मेरी मम्मी से पूछा- तुमको अन्दर से गर्मी लग रही या बाहर से?मेरी मम्मी ने उसकी तरफ हंस कर देखा और पूछा- तुमको अन्दर से गर्मी लग रही है क्या?वो बोला- हां मुझे तो अन्दर से आग सी लग रही है. गर्मियों के दिन थे और बगल की छत पर मेरा चचेरा भाई अक्सर मुझे शाम को टहलते हुए दिख जाया करता था. मैंने कहा- क्यों किसी बाबा से छेद के लिए गंडा लिया है क्या?वो समझ न सकी और बोली- किस गंडे की बात कर रहे हो … मुझे समझ नहीं आ रहा है.

मामी- आप मुझे वीडियो कॉल करो, पहले मैं आपको देखूंगी … पर खुद को नहीं दिखाऊँगी.

मुझे पता था कि जो भी करना है, मुझे ही करना है … क्योंकि आकांक्षा शर्मा रही थी. सबसे एक रिक्वेस्ट कर रही हूं कि मुझे बार बार मिलने के बारे में ईमेल न करें. मैंने पैग को एक घूंट में ही खाली कर दिया और जिया को पीछे से पकड़ लिया.

उसके बाद मैंने वीडियो के लिए कुछ नहीं कहा और टी टी वापस मेरे ऊपर लेट कर मुझे झटके देने लगा. इधर मेरी हालत एकदम खराब हो गयी। मेरी आँखों के सामने अंधेरा छाने लगा और सब कुछ घूमने लगा।अब कुछ ही देर में मैं बेहोश हो गयी. पिछली बार कानपुर गया था, तो वहां मात्र कुछ मिनटों के लिए हेमा चाची से मुलाकात हो पाई थी.

जब ज़ोहरा ओर शनाज़ का पेट फूल कर आगे निकलने लगा तो शनाज़ की अम्मी ताहिरा मौसी शनाज़ को अपने घर ले गई. सहेली की चूत पर हाथ रखते ही खुद ही मेरा हाथ उसकी चूत को सहलाने लगा.

मैं रूम में गया तो मौसी के हाथ पीछे उनकी पीठ पर नहीं पहुंच पा रहे थे. उसकी चूचियों को मुंह में भरकर पीने लगा; जोर जोर से दबाते हुए उनका दूध निचोड़ने लगा. मैंने बाहर आकर अपनी कार को ले जाकर एक सुनसान जगह पर लगा दिया और मोबाइल में कैमरे देखने लगा.

फिर उसने मॉम को वहीं बेड पर गिरा लिया और उसकी टांगों से पैंटी खींच ली.

फिर उसने किसी से लड़ने झगड़ने कोर्ट कचहरी करने के बजाय खुद अपने पैरों पर खड़े होकर आने वाली संतान का भविष्य संवारने का फैसला किया. अब मुझे समझ आया कि मामी हमेशा चुदासी रहती होंगी … क्योंकि मामा को चुदाई के लिए टाइम ही नहीं है … तो क्यों न मैं ही ट्राई करूं. मैं जानती हूं कि शाम को जब मैं सैर के लिए जाती हूं तो तुम्हारे बिहारी दोस्त मुझे ऐसे घूरते हैं जैसे अभी कच्चा खा जायेंगे.

फिर मेरी बीवी ने अमित से मजाक में कहा- लगता है आपने सुसु कर दिया है. वरना ये डर जाएगी और मम्मी को बता दिया तो मम्मी मेरी गांड तोड़ देंगी।अब मैंने उसकी चोली में से लाल वाली उठाई और उसे पहनाने लगी।फिर पीछे से हुक बंद कर दिए.

उसने मुझे घर वापिस आने के बारे में पूछा, मैं बोला- मामी जी आने नहीं दे रही हैं, कह रही हैं कि खाना खाकर जाना. मुझे दर्द तो हुआ लेकिन मैं बर्दाश्त कर गयी क्योंकि भाई का लंड भी औसत ही था. मैं तब भी नहीं रुका तो उसने सोनाली का कंधा पकड़ लिया और उस चुदास को बर्दाश्त करने की कोशिश करने लगी.

शिल्पा शेट्टी के सेक्स

वो कह रही थी- चोद सनी चोद! उईई … उफ् … उफ्फ … जोर से! मजा आ रहा है और जोर से बेटा …फच-फच कर रही थी मौसी की चूत चुदाई के वक्त! बहुत मजे से हम दोनों चुदाई कर रहे थे.

मुझे लगा कि जरूर ज़ोहरा आपा की डेट निकल चुकी होगी और उनकी कोख भी शनाज़ की तरह भर गयी होगी. अब उसकी चूत लंड के लिये तड़प गयी थी और उसकी हरकतें इस अहसास को दर्शा रही थीं कि वो अब चुदने के लिए तड़प रही है. [emailprotected]मां की चुदाई की कहानी का अगला भाग:पापा ने भाभी और दीदी को चोदा.

मैंने उसकी चूचियों को फिर से दबाया और कहा- अब तो नहीं डरी न?वो हंसने लगी और बोली- बड़े नॉटी हो!मैंने कहा- अभी नॉटीनैस देखी किधर है मेरी बुलबुल … अब देख. उस जवान लड़की मनमीत का एक संतरा मैं चूस रहा था और दूसरा सहला रहा था. इंग्लंड सेक्सी बीपीवो रात को बहुत देरी से घर पर आता है, कभी कभी तो आता ही नहीं है, जिसके कारण उन दोनों का झगड़ा होता है.

मैंने ब्लाउज के दोनों पल्ले दायें बाएं किये तो नीचे पहिनी हुई सफ़ेद रंग की ब्रेजरी में कैद उसके सुडौल स्तनों का दिलकश नज़ारा मेरे सामने था. उसे मेरा माल पीने में काफी दिक्कत हुई थी।फिर हम घर की तरफ निकल पड़े।अब हमारे बीच चूत चुदाई की काफी बातें होने लगी थी और मेरे फोर्स करने पर संगीता चुदाई के लिए मान गई।हमेशा की तरह मैं संगीता को लेने रिवाड़ी पहुँचा और वहाँ से सीधे दिल्ली मेरे दोस्त के फ्लैट पर गए। रूम में जाते ही मैंने संगीता को नंगी कर दिया.

हम दोनों भाई बहन के जिस्मों के अंदर चुदाई की आग भड़क चुकी थी लेकिन आँख की शर्म अभी थोड़ी बाकी थी. रजक लाल ने अपने मूत की धार रोहन के चेहरे पर मारते हुए उसके पूरे पूरे बदन को मूत से सान दिया. मेरी और राहुल की जान पहचान ज्यादा पुरानी नहीं थी … बस पांच छह माह पुरानी दोस्ती थी.

मेरी इस सेक्स कहानी में अभी मेरी चुदाई की कहानी की दास्तान बाकी है. कुछ दिन बाद मामा को बाहर जाना है, तब मैं तुम्हें रात में बुला लूंगी. मैंने मनजीत को लम्बी सी किस की और अपने कपड़े पहन कर वापिस अपने घर आ गया.

कुछ देर बाद लंड में कड़कपन आने लगा, तो मैंने भाभी को लंड चूसने को कहा.

जैसे ही मैंने पलट कर उसकी छाती की ओर देखा तो मैं उसके सफेद और गोल चूचे देख कर खुद को रोक ही नहीं पाया. ट्रेन के हिलने का फायदा लेकर मैंने एक हाथ उनकी गांड पर रख दिया, वो कुछ नहीं बोलीं.

फिर एक बार मेरी चूत को अपने थूक से गीला करके अपना लन्ड ठेलने लगा।अबकी बार जब मैं चिल्लाई तो सागर ने मेरी पैंटी मेरे मुंह में ठूँस दी. पर मेरा अभी हुआ नहीं था, तो मैं थोड़ी देर रुक गया और फिर शुरू हो गया. हम लोग अब रात रात भर बातें करने लगे और हम लोगों के बीच हर तरह की बात होने लगी थी.

करीब 20 मिनट में मंजू का संघर्ष अंतिम चरम पर आ गया और उसकी चुत का ज्वालामुखी फूट पड़ा. मैं दीदी को देखने लगा, तो दीदी मुझसे कहने लगी- मूवी क्यों नहीं देख रहा, मुझे क्यों देख रहा है?मैंने कहा- मैं बहुत बार देख चुका हूं … कुछ और करते हैं. फिर मुझे ध्यान आया कि कहीं नहाने तो नहीं गयी है?दरअसल हम लोगों का बाथरूम कॉमन ही था जो ऊपर वाली मंजिल पर बना था.

बीएफ फिल्म सेक्सी बीएफ फिल्म मैं उसके ऊपर झुक गया, उसके तने हुए एक निप्पल को मुँह में लेकर चूसने लगा. बाबूजी ने डियो और तेल की शीशी अपनी साइड टेबल पर रखी और बाथरूम चले गये.

प्रियंका सेक्सी फोटो

हॉट फैमिली Xxx स्टोरी में पढ़ें कि गर्मियों में सब एक दूसरे पर पानी डाल रहे थे. मुझे मां के बारे में यह सब तब पता चला जब मैंने उसकी मेल आईडी यहां पर पढ़ी थी क्योंकि वह आईडी मैंने ही उसको बनाकर दी थी. मैंने पूछा- कहां चोदते हो?वो बोला- अपने क्वार्टर में ले जाता हूं, जो बेसमेंट में है.

आप लोगों को कोई ऐतराज तो नहीं है?यही बातें हो रही थीं कि इतने में ही मां भी बाहर आ गयी. प्रियंका मेरी बेस्ट फ्रेंड थी और हम लोगों में सेक्स को लेकर भी बातें होती थीं. लिंग बड़ा करने की दवाइस वक्त मेरा मूड इतना मस्त हो गया था कि लौड़े से हाथ हटाने का मन ही नहीं कर रहा था, बस ऐसा लग रहा था कि काश ये पल यहीं रुक जाए.

वो तेजी से सिसकार रही थी- आह्ह … प्रिया … ओह्ह … रुकना मत मेरी रानी … आह्ह … ओ माई गॉड … ओह्ह … आह्ह … और अंदर तक चाट … आह्ह … बड़ा मजा आ रहा है … आह्ह।थोड़ी देर यूं ही प्रियंका मेरे मुंह पर बैठी हुई मेरी जीभ से चुदती रही.

इससे गुरप्रीत चिहुंक गई, उसने मेरी पैन्ट की चेन खोलकर मेरा लण्ड बाहर निकाल लिया और चूसने लगी. अब मैं पहली वाली चूची को जोर देकर दबा रहा था और दूसरी को सक् कर रहा था.

उसकी पैंट उतरते ही नीचे अंडरवियर में उसका लंड देख कर मैं तो खुशी से भर गयी. जो भाभी लंड चूसने में ना बोलती हैं … तो उन्हें थोड़ा सा ही समझाने पर, वो लंड चुसाई के लिए मान जाती हैं. मेरे पति के जाने के बाद मुझे कितनी परेशानियों का सामना करना पड़ा, मेरी आपबीती को मैं विस्तार से आपको लिख रही हूँ.

इस पर वो बोलीं कि ठीक है, मैं थोड़ी देर में टीटी से अपने लिए सीट पक्की करवा लूंगी, अभी भीड़ ज्यादा है.

उसकी ब्रा के अंदर कैद उसके उभारों की मस्त सी शेप देख कर कोई भी पागल हो सकता था. मैंने भोले स्वर में कहा- ओह शिफ़ा?वो बोली- हां, मेरे कपड़े कहीं गिर गये हैं. कार पार्क की मैंने और कार का गेट खोल कर मैडम से बोला- प्लीज़ मैडम आइये … दिखाता हूँ.

गन्ना की खेतीअब दोनों ही पसीने से लथपथ हो गये थे लेकिन फिर भी चुदाई करने में लगे हुए थे क्योंकि पहली बार चूत और लंड का मिलन हुआ था. मैंने उससे बातों बातों में बोला- तुम्हारे दोस्त ने नीरजा को नहीं देखा हैं क्या?वो बोला- नहीं.

मोती माला की डिजाइन

एक घंटे तक मसाज करने के बाद मैंने मनमीत से कपड़े पहनने को कहा और पूछा- कैसा लग रहा है?मनमीत ने कहा- फ्रेशनेस और चुस्ती फील कर रही हूँ. मैंने देखा कि चाची के रूम की लाइट जल रही थी और चाची अपने पेटीकोट में ही लेटी हुई थी. मेरे मन में यही चल रहा था कि अगर इसने हां कर दिया है, तो शायद आगे की बात भी बन सकती है.

मैंने श्वेता की दोनों टांगों को कस कर पकड़ा और उसकी चूत पर अपना मुंह लगा दिया। उसकी चूत की खुशबू मेरी नाक में जाने लगी. मेरे लंड ने चुत की चुम्मी लेना शुरू कर दी थी और भाभी की गांड ने ऊपर को उठ कर मेरे लंड के सुपारे को चुम्बन का जबाव देना शुरू कर दिया था. फिर मैंने थोड़ा सा घी लेकर उसकी गांड में लगा दिया फिर सुपारे को गांड के छेद से सटा कर उसकी कमर मजबूती से पकड़ ली और लंड की मुण्डी को गांड के छेद से सटा दिया और धक्का मार दिया.

उसके बाद सोनी ने चाची के बूब्स को पकड़ लिया और उसके बूब्स को पीने लगी. काफी देर की चूमा चाटी के बाद अब बारी लंड डालने की थी, जिससे वो घबरा रही थी और चाहते हुए मना भी कर रही थी. कोई दस मिनट बाद जब मेरा होने वाला था, तो मैंने लंड चुत से बाहर निकाल लिया और उसके पेट पर अपना वीर्य निकाल दिया.

मम्मी के गोरे चूचे बड़े ही मस्त लग रहे थे तथा किसी मर्द के हाथों से मसले जाने के लिए उतावले हो रहे थे. फिर अचानक से मुझे मेरा स्खलन नजदीक आता मालूम पड़ा और मैंने गरिमा को चेताया.

जिसको मैंने भी स्वीकार कर लिया और उसका नतीजा ये हुआ कि आज मेरी बेटी बहुत सुखी है और अपनी ज़िंदगी सुख से जी रही है.

मैंने झट आँखें खोल कर कहा- तुम लोग यहां, क्या कर रहे हो, छोडो़ मेरे शौहर आ जाऐंगे. कृष्ण वॉलपेपर hdदीपू के जिस्म को अपने हाथों में थाम कर मैं उसको तैरना सिखाने लगा जिसके दौरान मेरा लंड बार बार उसके बदन को छू रहा था. श्रीदेवी के सेक्सीहां, सर जी, अब मुझे तो यहीं गुवाहाटी में ही रहना है तो सोचती हूं कल शक्ति पीठ दरबार में जाकर उनके दर्शन कर उनका आशीर्वाद ले लूं. जब मैं नहा कर नंगी बाहर कमरे में आकर अपना जिस्म पौंछ रही थी, तभी मेरे दामाद का छोटा भाई विजय उधर से गुज़र रहा था.

मैं फिर से उसको लिपकिस करने लगा और उसके मम्मों को मुँह में भर कर काटने व चूसने लगा.

आपा ने सारी गोलियां शनाज़ से लेकर फेंक दी और उसको डांटा कि वो गोली क्यों खा रही है, सब घर वाले तो शनाज के पैर भारी होने का इन्तजार कर रहे हैं. इन सबके साथ मसाज बहुत जरूरी है प्रीति जी!” आप इनको सोमवार, बुधवार, शुक्रवार हफ्ते में तीन दिन लाइये, मसाज करेंगे. अब बलदेव ने सास के दोनों निप्पलों को अपने दोनों हाथों की दो दो उंगलियों से मसलना आरंभ कर दिया.

दो मिनट के अंदर ही कल्लू अनु को नंगी कर चुका था और खुद भी नंगा हो चुका था. फिर मैंने कहा- तो फिर और कहां निकालूं? बाहर कहीं निकालूंगा तो सारे कपड़े गंदे हो जायेंगे. मेरी दीदी और मम्मी की चुदाई की कहानी आपको कैसी लगी मुझे मेरे ईमेल पर मैसेज करके बतायें जो मैंने कहानी के अंत में दिया हुआ है.

बॉलीवुड क्सक्सक्स

तब मैं अपने प्रियतम सागर का इंतजार करने लगी।अब आगे की गांड मारी कहानी:ठीक 8:00 बजे सागर का फोन आया. मैंने भी उसे बांहों में बांध कर खूब प्यार किया और फिर शिवांश को चूम कर उसे आशीर्वाद देकर निकल लिया. उन्होंने बोला- माला मुझे एक बात बोलनी थी … अगर तुम बुरा ना मानो तो कहूँ.

वो थोड़ा शांत लगने लगी तो मैंने फिर दूसरा धक्का मारा और बाजी कराह उठी।मैंने उनका मुंह अपने मुंह में दबा लिया.

मैंने श्वेता के सिर को पकड़ लिया और उसके मुंह को तेजी से चोदने लगा.

आ … ऊऊऊ … मॉआआ …” इस बीच मैं अपने लंड को आपा की गांड की दरार में दबा रहा था. मैं भी उनके पीछे ही चल दिया।नीचे आकर बाजी टॉयलेट में घुस गई तो राबिया बोली- इमरान, मुझे पता है कि तुम्हें अजीब लगेगा, मगर मैं तो रोज़ तुम दोनों को चुदाई करते देखती हूं. 12 साल की लड़की की फोटोमतलब बेडरूम में डबल बेड पर ही कुंवारी बुर की सील तोड़ने का पूरा मजा आयेगा.

अब आपका ज्यादा समय न लेते हुए मैं अपनी कहानी आप लोगों के सामने रख रहा हूं. देसी इंडियन लड़की चुदाई कहानी में आपको मजा आया? कमेंट्स और मेल से बताएं. उसने मादक से स्वर में कहा- बर्फ तो अभी नहीं है, अगर तुम्हें कुछ और चाहिए तो बता दो.

मेरे मुंह से एकदम से सीत्कार फूट पड़े- आह्ह … आह्ह … ओह्ह … समर … मेरे बच्चे … ओह्ह … यही तो चाहती थी मैं … आह्ह … हाह्ह … हाये … ओह्ह … स्स्स … आह्ह और जोर से चूस … आह्ह … मेरी चूत की प्यास मिटा दे … आह्ह … चोद दे … फाड़ दे … आह्ह।उसके चाटने की वजह से मेरी चूत एकदम से धधक उठी. उसने अपना हाथ सीधे मंजू के चूचों पर रख दिया और उसके दोनों मम्मों को हल्के हाथ से मसलने लगा.

प्लीज आप थोड़ा कष्ट और कर लीजिये मेरे लिए!” वो अत्यंत मीठी आवाज में बोली.

मंजुला आगे बोली- शार्ट में बताती हूं कि उनका बेटा आया था दिवाली पर … बस हम दोनों एक दूसरे को पसंद करने लगे. मेरी इस सेक्सी फिगर को देख कर बाहर हर कोई मुझे ही ऐसे घूर रहा था … मानो अपनी आंखों से ही मुझे चोद लेगा. किस करते करते मेरे हाथ कब उनकी चूचियों पर चले गए पता ही नहीं चला।उसकी मुलायम और रूई जैसी नर्म चूचियों को मैं जोर जोर से कपड़ों के ऊपर से ही भींचने लगा.

मुट्ठी मारने का वीडियो कुल मिलाकर अगर मुझे कोई पहली बार देखे तो उसके मुंह से माल ही निकलेगा. फिर मैंने उसे वहीं गोद में उठाया और सोफे पर पटक दिया जिससे उसकी नाइटी जो पहले से ही घुटनों तक थी और भी ऊपर हो गई.

मैंने एक रात को चाची को मैसेज किया, तो थोड़ी देर में चाची का रिप्लाई आया. ये कहते हुए बुआ ने मेरे हाथ को अपनी छाती के ऊपर हाथ रख कर दबा दिया. जिया एकदम से चीख उठी- आह … अम्मा … मर गई … मुझे मार ही डालेगा क्या!मैं लंड ठोकने लगा और बोला- साली, चुत चुदवाने से आज तक कोई लौंडिया नहीं मरी.

नेपाल का नंबर

इस तरह दो दिन और मंजुला के तन को सब तरह से भोगने के बाद मैं चलने को हुआ तो वो बहुत उदास लग रही थी. तो डर कैसा?मैं सोचने लगी और हल्के से बोली- हहह्म्म!फिर उन्होंने मुझे खींचा और एकदम से अपने गले से लगा लिया. चूंकि मैं एक लड़की थी और दूसरे राज्य की रहने वाली थी इसलिए हॉस्टल भी जल्दी ही मिल गया.

जब भी वो मेरे करीब होती थी तो मेरे लंड में हलचल होना शुरू हो जाती थी. पर उसको फिर से ज्यादा दर्द हुआ और उसने मेरी पीठ में फिर से नाखून गड़ा दिये.

मेरा उदास सा चेहरा देख कर पापा ने मुझे अपने पास बैठाया और बोले- तुम्हारा मुंह क्यों लटका हुआ है? हम दोनों कहीं बाहर घूमने के लिए चले जायेंगे.

मैं आँखें बंद करके लेटी थी लेकिन मिचमिचाती आँखों से मिरर में सब देख रही थी. जैसे ही उसका ध्यान चूत की ओर से हटा, मैंने एक जोर का धक्का लगा दिया. उसकी चीख निकल गई और तब तक मेरी गर्लफ्रेंड ने सोनाली के हाथ को मेरे लंड पर से हटा दिया और उसने मेरी पैंट को थोड़ा नीचे खींच दिया जिससे मैं केवल गांड तक नंगा हो गया.

आप भाई की चुदाई कहानी पर अपनी राय कमेंट बॉक्स में छोड़ सकते हैं अथवा मेरी ईमेल पर भी मुझे कॉन्टेक्ट कर सकते हैं. एक एक पेग हाथ में पकड़कर जाम टकराये तो किरण बोली- विजय बाबू, दारू पिलाकर तुम करना क्या चाहते हो?कुछ नहीं, भाभी. मैंने कई बार डिम्पी की चुदाई उसके घर में ही की थी और सोनू इस बात को जानता था इसलिए कोई परेशानी वाली बात नहीं थी.

तभी मैंने उसकी ब्रा हटा दी और मेरी वाइफ के ढीले बूब्स मेरी आँखों के सामने आ गए और मैं उनसे खेलने लगा.

बीएफ फिल्म सेक्सी बीएफ फिल्म: मुझे नहीं पता कि उसने पहले किसी लड़की की चूत चोदी थी या नहीं लेकिन उस दिन उसका जोश देखने लायक था. चलने लगे तो थोड़ी दूर चलने के बाद मौसी ने मुझसे पूछने लगी- तुम्हारी शादी हो गई है क्या?मैंने कहा- नहीं मौसी.

मैंने कहा- अगर अंदर के नजारे मिल जायें तो मैं दुनिया का सबसे भाग्यशाली व्यक्ति बन जाऊंगा. झड़ने के बाद मैं हाथ पैर फैलाये चित पड़ा था लेकिन हेमा चाची अपनी चूत के ऊपर हाथ रख कर हल्का हल्का दबा रही थीं. उसने जल्दी ही हमारा स्कूल भी बदलवा दिया और हमें प्राइवेट स्कूल में दाखिला दिला दिया.

दादी और भाई के जागने तक अरमान ने तीसरी बार मेरी चुत की चुदाई की और उसी में अपने लंड का पानी छोड़ा.

बाजी ने मुझे रुकने को बोला और कमर सीधे करते हुआ बोली- इमरान कमर टूट गई. जब से उसके मम्मी पापा ने उसे मेरे साथ स्कूल भेजना शुरू किया था, तब से मुझे तो जैसे स्वर्ग का सुख ही मिल गया था. आप लोग सोच रहे होंगे कि हम दोनों की उम्र में इतना ज्यादा फर्क क्यों है, तो मैं आपको बता दूं कि मैं अपने पति की दूसरी पत्नी हूँ.