पंजाबी बीएफ वीडियो दिखाओ

छवि स्रोत,सेक्सी बीएफ बीपी

तस्वीर का शीर्षक ,

योगा बीएफ: पंजाबी बीएफ वीडियो दिखाओ, अब राहुल तो कुछ बोल ही नहीं पा रहा था, वो चुपचाप पंकज के साथ बेड पर बैठ गया.

भोजपुरी कामसूत्र

मुझे संजना पर गुस्सा तो बहुत आ रहा था लेकिन किसी भी नतीजे पर पहुंचने से पहले मैं सारी बात की जांच-पड़ताल कर लेना चाहता था. সানিলিওনের ট্রিপল এক্স ভিডিওमैंने पूछा- कितना चार्ज लगेगा?वो बोले- पांच सौ रूपये एक्सट्रा लगेंगे.

पहले तो मुझे गुदगुदी होती रही लेकिन फिर धीरे धीरे लंड में दोबारा से तनाव आना शुरू हो गया. सेक्सी बीएफ दिल्लीबाद में मुझे जानकारी हुई कि उनकी इस लड़ाई का कारण मॉम की शारीरिक भूख का शांत न हो पाना था.

तभी उसने हम दोनों को संबोधित करते हुए कहा- देखो, इसमें रेत के कण हैं.पंजाबी बीएफ वीडियो दिखाओ: मैंने पूछा- क्या सच में अंकल?वो बोले- हां तुम्हारे भी रहे होंगे … ये मुझे भी पता है.

मैंने हल्का झटका लगाया तो वो अपनी जगह से हट गया। उसने फिर लगाया और फिर हट गया।लगभग 2-3 बार के बाद मैंने पुश किया तो इस बार मेरे लंड का सुपारा उसकी चूत में चला गया और उसकी चीख निकल गयी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… आराम से … आह्ह, दर्द हो रहा है बहुत।फिर मैंने थोड़ा विराम दिया और जोर का धक्का दे मारा तो पूरा लंड उसकी चूत में चला गया.अगर तू मुझे इसकी इजाज़त दे तो?परीशा- चलो पापा आज आपको अपनी गांड आपको गिफ्ट में दिया। आप जैसे चाहो मेरी गांड मार लो।मुकुल राय झट से परीशा को अपनी बांहों में ले लेता है और उसके लब चूम लेता है।मुकुल राय- तू सच में बहुत बिंदास है बेटी। मैंने आज तक तेरे जैसे लड़की नहीं देखी.

लड़कियों के सेक्सी बीएफ - पंजाबी बीएफ वीडियो दिखाओ

मैंने उसके कुछ नार्मल होते ही धक्का दे मारा, तो मेरा आधा लंड उसकी चूत को चीरता हुआ अन्दर चला गया.आंटी यहां पुणे में अकेली ही अपनी दो लड़कियों के साथ रहती हैं जिनमें से एक जॉब करती है जो मेरे से बड़ी है और दूसरी मेरे से 1 साल छोटी है वो जीव विज्ञान की पढ़ाई करती है.

लेकिन उसकी चीख सुनने वाला यहां कोई नहीं था … जिस वजह से मुझे कोई डर नहीं था. पंजाबी बीएफ वीडियो दिखाओ इसके बाद हम दोनों हर संडे के दिन चुदाई करते हैं … और खूब मज़े करते हैं.

उसके बाद मैंने उसके हाथ को अपने लंड पर दबा दिया और उसके हाथ से ही अपने लंड को सहलाने लगा.

पंजाबी बीएफ वीडियो दिखाओ?

इस बात पर मैंने कहा- अगर मुझे पहले पता होता कि आपकी चूत चाटने से काम हो जाएगा, तो मैं पहली बार में ही होंठों की जगह चूत पर ही हमला करता. ये मेरे बेटे की बहू है … मुझे शक है, इसलिए तू उसे कुछ मत बताना ओके. कहानी के पिछले भाग में बहू ने अपने ससुर को अपनी चूत चुदाई से मना कर दिया तो वह सीधा अपनी बेटी कमरे में चला गया.

फिर उसने मुझे थोड़ी बातें और बतायीं।कुछ देर बाद आकाश के पास सोनम का फोन आया. एक दिन उसने कहा- यार अगर तुम बुरा ना मानो, तो मैं एक दिन तुम्हारे सामने अपने फ्रेंड से चुदाई करवा लूँ. एक घंटा से रोमांस जो हो रहा था, लग रहा था कि चाची एक बार झड़ चुकी थीं.

अब गांड मराने वाला लौंडा शान्त लेटा था। मेहमान लौंडेबाज गांड में अपना पूरा लंड पेल कर चालू हो गया ‘दे दनादन … दे दनादन … धच्च पच्च धच्च पच्च … अंदर बाहर … अंदर बाहर!वह धक्के पर धक्के लगा रहा था, उसकी सांस जोर जोर से सुनाई दे रही थी ‘हंह हह हूं …’ वह जोरदार तरीके से लगा था. इतना कहकर उसने मेरी दोनों बांहें कलाई के पास से पकड़ लीं और बोली- यह पकड़ ली लगाम और चल मेरे घोड़े टिक टिक टिक. ” मैंने हँसते हुए कहा।उसने कुछ कहा तो नहीं लेकिन मैं उसके मन में चल रही उथल-पुथल का अनुमान अच्छी तरह लगा सकता था।अरे भई मैंने कहा ना डरो मत … कुछ नहीं होगा.

पता नहीं, ये कौन सी क्रीम थी, पर उन्होंने क्रीम निकाल कर पहले अपनी उंगली पर लगाई और फिर उन्होंने धीरे से वो उंगली मेरी गांड के छेद में डाली. काफी देर तक उसके चूचों को चूसने और चाटने के बाद मैं नीचे की तरफ बढ़ा.

जब मुकुल राय पूरी तरह झड़कर शांत हो गया तो परीशा ने जीभ की नोक से सुपारे के छेद से निकल रही वीर्य को भी चाट लिया।मुकुल राय- उन्ह्ह्ह … ह्म्प्फ़्फ़ … उम्म्ह… अहह… हय… याह… ओह यस … ओह्ह बेटी उम्ह्ह.

नीता लड़कियों की सरदार थी, उसने चिप्स कि पांच प्लेट हर एक के पास सरका दीं.

उसके बाद वो मुझे पार्क में घुमाने के लिए ले गया और हम दोनों लोग एक दूसरे को किस करने लगे. लेकिन मैंने उनकी चूत को बदस्तूर चाटना जारी रखा, जिससे भाभी की चूत फिर से गर्म हो गई थी. अनिल उसके दूधों को मुंह में भर कर पीने लगा और मैं उसकी चूत को चाटने लगा.

उन्होंने हमें कहा कि हम उस एक हफ़्ता मोहिनी के साथ उनके घर में रुके. मैंने उसे उसके घर, मेरे ऑफिस में, होटल में, खेत में … हर जगह चोदा था. बाद में जब हमने कॉलेज में दाखिला लिया, तो हम साथ में ही आते और जाते थे.

मैं भी अपने खड़े लंड के साथ उसके पीछे ही किचन में हाथ धोने चला गया.

फिर मैं भी उस कमरे में चला गया, जहां से में भैया भाभी की सुहागरात देख सकता था. तभी वो कमर की मालिश करने लगा उसका लंड पूरा टाइट हो चुका था, जो मालिश करते हुए मेरी कमर पर लग रहा था. वो बोलीं- मैं कब से चुदाई के लिए तैयार थी, लेकिन रिश्तों के लिहाज से चुप बैठी थी.

वहां से मैं बताए हुए होटल में पहुंच गया और होटल में एन्ट्री करके पहले से बुक किए हुए रूम की तरफ चल पड़ा. हंसते हुए बोतल फिर घूमी … अबकी बार रेखा के सामने मुंह आया और नीता के सामने पीछे का हिस्सा … रेखा की ब्रा गयी तो नीता का लोअर. फिर उन्होंने अपना लंड धीरे से निकाल कर मेरे मुँह पर रख दिया … और अपना सारा वीर्य मेरे मुँह पर छोड़ दिया.

नेहा ने कुछ सेकेण्ड तक मुझे देखा और फिर सीधे आंटी के पास भाग गई।मेरे तो होश उड़ गए … बहनचोद ये क्या हुआ!मगर अगले ही पल मैंने मन को समझाया कि मुठ ही तो मार रहा था, कोई चूत तो नहीं चोद रहा था जो उसको दिक्कत हो जाती। वैसे भी वो मुझे पहले से जानती थी.

रेखा और अनीता को उस दिन एक खीरे से चुदाई करते देख नीता की हिम्मत पड़ गयी कि वो अपना वाइब्रेटर इन सबको दिखाए जबकि इसके बारे में तो उसने अंकित को भी नहीं बताया था. फिर मैं उठा और उसको किस करने लगा और उसके मम्मों को चूसते हुए दबाने लगा.

पंजाबी बीएफ वीडियो दिखाओ पंकज तुरंत ही नीचे हुआ और अपना लंड सारिका की चिकनी चूत में घुसेड़ दिया. उसे संकोच हो रहा था पर सीमा को कोई ऐतराज नहीं था, वो तो बस पैर चलाने में मस्त थी.

पंजाबी बीएफ वीडियो दिखाओ मेरी परीक्षाएं आने वाली थीं, इसीलिए मम्मी मुझे अकेले छोड़ कर जा रही थीं. मैंने उनके मम्मों से लेकर उनकी कमर तक अच्छे से मसल मसल के की, जिससे उनकी चुत में चींटियां सी रेंगने लगीं और वो तड़प की वजह से अपनी चुत में अपनी बीच की उंगली देकर अपनी चुदास जाहिर करने लगीं.

मुझे देखते ही ऋतु ने उसकी जांघ से अपना हाथ हटा लिया और मैं भी ऐसे बर्ताव करने लगा जैसे मुझे दिखाई ही न दिया हो.

देसी जंगल सेक्स

चूंकि मैं एम पी पी ई टी की कोचिंग नहीं जाता था, तो मैं अपने डाउट्स उन लोगों से क्लियर करता रहता था. मैंने जगह का इंतजाम करने के साथ उसको नींद की गोलियां दे दी थीं … ताकि वो ये गोलियां अपनी फैमिली को खिला दे. लंड भी 7 इंच लंबा और मोटा भी मस्त है … चूत की धज्जियां उड़ाने के लिए.

मैं उसका सर अपनी चूत में दबाने लगी और वो मेरी चूत को कुत्ते की तरह चाट रहा था. अब दर्द थोड़ा सा कम हो गया था और मुझे गांड मरवाने में मज़ा आने लगा था. वो मेरी चिल्लपौं पर कोई ध्यान ने देते हुए मुझे एक मासूम सी बकरी समझ कर मुझे हलाल करने की अपनी हवस बुझाने में लगा रहा.

गीला अंडरवियर फर्श पर ही छोड़कर भीगे हुए नंगे पैरों को ठंडे फर्श पर आहिस्ता से रखते हुए लटकते-झूलते लिंग के साथ बाहर आ गया.

कभी मुझे उल्टा करके चोदता, कभी मेरी टांगें उठाकर ज़ोर ज़ोर से चुदाई करने लगता. वैसे भी आकाश को तो यही लगेगा कि मैं नशे में कर रही हूँ।कहानी जारी रहेगी. पंकज के मन में क्या था … उसने हंस कर सारिका को अपने और राहुल के बीच बिठा लिया.

यह देख कर शिवानी ने कहा- देखो सागर तुम जिस चूत को चोद रहे हो, वो चूत कोई तुम्हारी बहन की नहीं है, जिस में तुम धक्के मारते हुए डर रहे हो. उसने कहा- हां मोंटू, तू तो इतना स्मार्ट है ही कि इधर कोई भी बंदी सैट हो जाएगी. मैं मदहोश होकर सिसकारियां भरना चाहती थीं लेकिन आवाज बाहर न जाए इसलिए अपनी कामुकता को अंदर ही दबा कर रख रही थी.

पहले क्यों नहीं दिखलाई?उसने कहा- सही कहूँ, तो मुझे लगा कि आज शिवानी ने मेरे आत्मसम्मान को ललकारा है. मैं देखता हूँ कि मोहिनी अपनी सलवार उतार कर कमोड की सीट पर बैठी हुई थीं.

उसने कहा- मैं आपके ठीक पीछे ही जाऊँगी, शालीमार बाग से इस होटल से बस 10 मिनट का ही रास्ता है. हमारे बदन इतने गर्म हो चुके थे कि मानो दोनों के बदन से जैसे अंगारे निकल रहे हों. पता नहीं उसने मेरा लंड देखा या नहीं लेकिन उसके करीब पहुंचने से पहले ही मैंने अपने लंड को अंदर कर लिया था.

फिर बुआ अन्दर आईं और सुमन से बोलीं- बच्चे शाम तक स्कूल से आएंगे तो उन्हें खाना खिला देना, मैं भी अपने ऑफिस जा रही हूं.

वो बोली- कुछ भी बोलते हो आप तो … भला अपनी सास के साथ बैठ कर मूड थोड़े बनता है. मैंने दरवाजे पर हल्का सा जोर लगाया तो पता चला कि दरवाजा अंदर से लॉक था. जिसको मैं सह नहीं सका इसलिए मैंने उसके ब्वॉयफ्रेंड से तेज तुमको चोदा.

चुत ने पानी निकाल के बेड शीट पर भी दाग बना रखा था।मैंने भाभी की एक टांग को उठा लिया और उनके पैर की उंगलियों को बारी बारी से चूसने लगा और एक हाथ से उनकी गोरी टांगों को सहलाता रहा। उनके चिकनी और गुदगुदी टाँगें मुझे रोमांचित कर रही थी. चुम्बन और निप्पल की मिंजाई से उसको राहत सी मिली और गांड के दर्द को भूलने लगी.

वहाँ पर हम बोर हो रहे थे तो हमने सोचा कि चलो घूम के आते हैं कहीं पर. वे मेरी तेज आवाज को सुनकर जैसे ही मुड़ीं, मैंने उनका हाथ पकड़कर उन्हें ज़ोर से अपने ओर खींच लिया और आंटी को अपनी मजबूत बांहों में जकड़ लिया. नित्या- तो फिर क्या प्रॉब्लम है?मैं- प्रॉब्लम ये है कि अगर किसी वजह से हमारी शादी नहीं हो पाई, तो हम दोनों एक दूसरे को बेवफ़ा समझेंगे और मैं नहीं चाहता ऐसा हो.

बीपी ब्लू सेक्सी मूवी

अगले दिन शिवानी ने मुझसे पूछा- पूनम बता सच बताना कि कल जब मैंने सागर को उंगली की थी, उसके बाद की चुदाई कैसी लगी?मैंने कहा- यार, सही में चुदाई का असली मज़ा तो कल ही आया था.

फिर मैंने रजू की पैंटी को भी निकाल दिया और अपनी फ्रेंची को नीचे करके उसकी नंगी गांड को दबाते हुए उसकी चूत में उंगली करने लगा. मैंने उससे कहा- ठीक है, फिर मैं जाता हूं।जैसे ही मैं जाने के लिए अपने कदम उठाए, उसने मेरा हाथ पकड़ लिया. एक दिन वीना आंटी ने मुझसे पूछा- तुम नए आए हो?मैं बोला- हां हम लोग इधर नए आए हैं.

रंग का गोरा था लेकिन मुझसे थोड़ा कम। हमारी दोस्ती काफी समय पहले से थी लेकिन उस वक्त मैंने उस पर कभी ध्यान नहीं दिया था. उसके पूरे बदन में होने वाली झुरझुरी उसकी हवस को बयान कर रही थी, उसका अंग अंग फड़कने लगा था।धीरे धीरे उसकी चूत में रस बहना चालू हो चूका था, वो अपने आप पर काबू खोती जा रही थी, उसकी सांसें गहरी होती जा रही थी और उसका सीना उसकी साँसों के साथ तेज़ी से ऊपर नीचे हो रहा था, बदन में कम्कम्पी सी दौड़ रही थी।इधर मुकुल राय का लंड पूरा कड़क हो चूका था, अब परीशा से और बर्दाश्त करना मुश्किल हो रहा था. ब्लू फिल्म नंगी वाली ब्लू फिल्मइसके बाद मैंने उन्हें अपने नीचे जकड़ कर तेज रफ्तार में जोर जोर से झटके लगाए, जिसके बाद वो बुरी तरह उछल पड़ीं और फिर हम दोनों एक साथ झड़ गए.

मैं कहानी में शायद ये न बता पाऊँ कि मैं कितनी देर किस किया, कितनी देर ओरल किया और कितनी देर शॉट लगाये।बस मेरे लिए मेरी और मेरे पार्टनर की तृप्ति ही सर्वोपरि होती है।आइये ज्यादा बोर न करते हुए आपको अपनी देवर भाभी की कहानी पर ले चलता हूँ। मैं पुणे के खराड़ी एरिया में रहता हूँ यहीं मेरा ऑफिस भी है।मेरे दूर के रिश्ते के भैया भाभी भी इसी एरिया में रहते हैं. जब मैंने खिड़की से झांक कर देखा, तो अन्दर का नजारा देखकर मैं दंग रह गया.

मैं उल्टी पेट के बल लेटी हुई थी जिससे उसको मेरी उभरी हुई गांड दिखी और वह पजामे के ऊपर से ही बिल्कुल आराम से मेरी गांड दबाने लगा. ’उसकी चुदास भरी आहें सुनकर सारिका बोली- राज तेज चोद साली कुतिया को. ” समीर ने गुस्से से कहा और अपने कमरे से निकलकर अपनी बहन के कमरे में आ गया।नीलम ने भी अपने पति के जाते ही सुख का साँस लिया और वह लेटे हुए ही अपने ससुर का इंतज़ार करने लगी।समीर अपनी बहन के कमरे में जाते ही सीधा होकर बेड पर लेट गया.

जब वो नहाने के लिए जाती थी तो मैं उसकी पैंटी पर मुठ मार कर अपना माल गिरा देता था लेकिन वो सब कुछ देखने के बाद भी कुछ नहीं बोलती थी. फिर रात के 12 बजे तक चैटिंग का दौर चला और जब धीरे-धीरे सबके रिप्लाई आने बंद हो गये तो मैंने भी मैसेंजर बंद कर दिया. मेरा मन कर रहा था कि उसकी चूत में लंड को घुसा दूं लेकिन उसके प्रेमी के उठने का भी डर था इसलिए हम दोनों लेटे हुए मजे ले रहे थे.

यह सुनकर मेरा जोश बढ़ गया और मैं उनके लंड को और भी जोर के साथ चूसने लगा.

दोस्तो, आप खुद ही सोचो कि रात के 12 बजे बिना तैयारी के कोई गांड की चुदाई करेगा तो लंड में स्मैल तो होनी ही थी. मगर उस वक्त मैं इतनी गर्म हो चुकी थी कि सोनू अगर बिना कॉन्डम के भी मेरी चूत में लंड को डाल देता तो मैं उसके लंड से चुदने के लिए तैयार थी.

मैं बोला- लेकिन मैं तो लेकर ही नहीं आया … मुझे कुछ पता ही नहीं था कि ऐसा भी होता है. मैंने काफी सारे ब्लू फिल्म डाउनलोड कर ली थीं और उसको हमेशा ही दिखा कर गर्म करता रहता था. कुछ देर बातें की और खाना खाकर अपने कमरे में चले गयी।मैंने अपने कपड़े बदले और अपने पति से कुछ देर बाते करने के बाद सोने की तैयारी करने लगी.

वैसे तो मैं उसकी काफी इज्जत करता था लेकिन जब कभी उसके चूचों की दरार दिख जाती थी तो मन बहकने लगता था. मैं पूरा दिखावा कर रहा था कि मैं अब उसकी चूत को हाथ नहीं लगाने वाला. थोडी देर के बाद जब मेरा लंड झड़ने को आया तो मैंने उसे चाची के मुँह से निकाल कर मेरा वीर्य उनके मुँह पर ही गिरा दिया.

पंजाबी बीएफ वीडियो दिखाओ मैंने थोड़ी देर तक रुकने के बाद फिर से उसकी चुत में एक बड़ा धक्का दे मारा और अपना पूरा लंड उसकी चुत में पेल दिया. मैं जब टीचर थी, तब भी सूट ही पहनती थी और चंडीगढ़ में भी सूट ही पहनती थी.

गांव की देसी लुगाई की चुदाई

महेश ने सेक्स से परहेज़ करने वाली अपनी उस बहू को चोद-चोद कर अपनी रंडी बना दिया था. वे अपने हाथों को मेरे पेट से लगा कर मुझे पीछे की और धकेलने लगीं, पर मैं कहां मानने वाला था. हां अगर आपकी इच्छा है, तो नेकी और पूछ पूछ!यह कहते हुए मैंने उसकी पेंटी को पकड़ा और फाड़ दिया.

उसके होंठों पर एक मुस्कान आ गयी ये सोचते हुए की अगर यही सब अंकित उसके साथ कर रहा होता. दरअसल वो तबियत खराब होने का बहाना कर रहा था क्योंकि उस दिन भी घर पर प्रशांत, सुमन और मेरे सिवाय कोई नहीं था. गुजराती भाभी के सेक्सीवो पीछे बिस्तर पर लेट गया और उसके चेहरे पर एक मुस्कान आ गयी जैसे उसको पूरी संतुष्टि मिल गई हो.

करीब दस मिनट बाद मैंने देखा, वो लड़का मेरे पास वाली बेंच पर आके बैठ गया.

मैंने अपनी पूर्व की कहानी का लिंक दिया है, जो दोस्त मेरी जवानी से परिचित न हों, वे प्लीज़ मेरी इस लिंक को खोल कर मुझसे परिचित हो लें. ” सरिता ने गुस्से में अपने पति की तरफ देखते हुए कहा।अगर किसी रंडी को चोदना होता तो तुमसे शादी क्यों करता?” महेश ने सरिता को मनाते हुए कहा।शादी के इतने साल जो करना था कर लिया। अब हमारे बच्चों की शादी हो गई है। हमें यह सब शोभा नहीं देता.

फिर उसने अपनी बड़ी सी हथेली पर ढेर सारा थूक लेकर मेरी छोटी सी चुत पर लगा दिया. आज मुझे तुम्हारे चूचे देखने का और तुमको मेरे लंड का स्वाद चखाने का मौका मिला है. मॉम मेरे लंड पर ऐसे कूद रही थीं, जैसे वह घोड़े की सवारी कर रही हों.

मैंने भी ऑफ़िस का कोई काम ख़त्म करने का बहाना बनाके ख़ुद घर रहने का पक्का कर दिया है.

तभी उसने तेल अपने हाथों में लिया और मेरी चिकनी टांगों पर लगाने लगा. मैं अपने घर जा रहा था, तो उन्होंने मुझे रोका और पूछा- कहां जा रहे हो?मैं बोला- अभी कपड़े बदल कर आता हूँ. बार-बार दिमाग में काजल के साथ हुई आज की घटना की कामुक तस्वीरें उभर कर आ रही थीं.

ससुर ने बहु को चोद दियाअंधेरे का फायदा उठा हम दोनों सहेलियां मैदान वाले गेट से कॉलेज से बाहर निकल आई जहां दिलावर और मंजू का आशिक युवराज खड़े थे. फिर मैं वहां 3 दिन रुका और बुआ के ऑफिस जाते ही हम दोनों की रासलीला चालू हो जाती.

سیکس ویڈیو سیکس

इससे पहले भी लड़के मुझ पर लाइन मारते थे लेकिन मैं उन पर इतना ध्यान नहीं देती थी. क्योंकि डॉक्टर ने उनकी जांच करके उन्हें कभी पिता न बन पाने का कहा है. तभी भाभी ने तौलिया से मम्मों को ढकते हुए कहा- क्या देख रहे हो?मैंने कहा- सॉरी भाभी … मैं चलता हूँ.

फिर मैंने पति की जांघों पर अपने हाथों का सहारा लेते हुए अपनी गांड को उनके लंड पर उछालना शुरू कर दिया. उन्हें देख कर मुझे लग रहा था कि खाना पीना बाद में देखा जाएगा … इस साली को पहले यहीं पर पटक कर चोद दूं. मैं फ़ोन देखने लगा, तो उसमें मुझे वो एसएमएस मिल गए, जो मुझे भेजे हुए थे.

”वो त्या चीज होती है?” गौरी ने अधीरता से पूछा।ओह… कैसे समझाऊं?”त्या हुआ बताओ ना?”ओह… यार मुझे शर्म भी आ रही है और झिझक सी भी हो रही है. मैं जोर से नेहा की चूत को चोदने लगा और सोनम आंटी नेहा के चूचों को दबाने लगी. इनाम में उन्होंने अपनी बहन की बेटी की सील भी मुझसे तुड़वायी, जिसको मैं अगली कहानी में लिखूंगा.

प्रीति मुझसे बोली- रीतिका इतनी सेक्सी लड़की है, तो क्या उससे तुम्हारा मन भर गया?मैंने कहा- मैं तुमको पाने की चाहत शादी से पहले से लेकर बैठा हूँ. उसने ही अपने लिये यह नाम चुना था क्योंकि वो मेरे नाम पर ही अपना नाम रखना चाह रही थी इसलिए उसने मेरे कहने पर उसने अपना नाम रजू रख लिया.

मैं उसके सामने ही बैठ कर क्लिप को उठाने लगी तो मैंने उसको अपनी चूत के दर्शन करवा दिये क्योंकि मैंने तौलिये के अंदर कुछ भी नहीं पहना हुआ था.

भाई का तना हुआ लंड मेरे बूब्स के बीच में आ गया और उसने अपने लंड से मेरे बोबों को चोदना शुरू कर दिया. क्सक्सक्स हिंदी देहातीउन्होंने कहा- बेटा, तुम्हें अकेले डर लगता है, तो तुम यहां मेरे पास ही सो जाओ. செக்ஸி பிஎஃப் தமிழ்” परीशा के मुँह से ज़ोर की चीख निकल गयी।मुकुल- बेटी, ऐसे चिल्लाओगी तो आवाज बाहर तक जाएगी. उस फिल्म में एक लड़का दूसरे लड़के का लंड अपने मुँह में लेकर चूस रहा था.

रीना ने कहा- यार मैं थक गई हूँ … कुछ देर सो जाऊं?मैंने कहा- ठीक है सुबह एक बार और सेक्स करेंगे.

पूरा कमरा सुगंध से भरा था और कमरे में हल्की लाल रोशनी के साथ म्यूजिक चल रहा था. मेरी उम्र 28 साल है और मेरा शरीर भी काफी भरा हुआ है लेकिन शेप में है. लेकिन मेरे अंदर की चुदास फिर से जाग चुकी थी इसलिए मैंने उनके लंड की तरफ अपना मुंह कर लिया और अपनी चूत को उनके मुंह की तरफ कर दिया.

जिस वजह से उसकी सफ़ेद शर्ट से उसकी ब्रा और निप्पल के उभार साफ़ साफ़ दिख रहे थे. शादी के बाद कभी जरुरत ही नहीं पड़ी, रमेश का लंड हर समय चढ़ाई के लिए तैयार रहता. मैंने उससे पूछा- पहले कभी लंड देखा है?उसने कहा- हाँ मूवी में देखा है.

बीपी पिक्चर सेक्सी

फिर मैंने दीदी के पेट पर किस करते हुए उनकी पेंटी उतार दी और उनकी चुत पे अपने होंठ लगा दिए. दस मिनट बाद मैंने दीदी से बोला- मैं आने वाला हूँ, रस कहां डालूँ?दीदी ने जल्दी से कहा- मेरी चुत में डाल दो. मेरे चूतड़ देख कर वह मस्त हो गया- यार, तेरे तो चूतड़ क्या हैं … लौंडियों को मात करते हैं.

मैंने उसकी कमर को हल्का सा उठा दिया और उसकी गांड हल्की सी ऊपर आ गयी.

मैंने फिर से देखा तो अब वो लड़की फिर से लडके के लंड को मुँह में लेने लगी थी.

फिर बॉस ने दोनों हाथों से मेरे मम्मों को कसकर पकड़ लिया और ज़ोर ज़ोर से चूत में धक्के मारने चालू कर दिए. मेरे बगल वाला कमरे में तुम्हें चलेगा?मैंने हां बोला … और हम दोनों अपने अपने रूम में आ गए. गोवा की बीएफ वीडियो”हओ … माफ तल दिया”ना ऐसे नहीं?”तो फिल तैसे?”तुम्हें बोलना होगा कि मैंने आपको माफ कर दिया”गौरी कुछ सोचने लगी और फिर उसने रहस्यमयी मुस्कान के साथ कहा- मैंने आपतो माफ तल दिया.

अब आगे:लखनऊ से वापस आये हुए एक हफ्ता बीत चुका था, डॉली दिखती तो रोज थी लेकिन मेल मुलाकात का कोई जरिया नहीं बन पा रहा था. अब आगे की कहानी …बाम की शीशी देकर वो वापस अपने कमरे में चली गई लेकिन मुझे अभी भी नींद नहीं आ रही थी. हम हॉस्पिटल एक घंटे रुके, फिर मरीज देखने का समय खत्म हुआ, तो मैं और अंकल वापस घर आने को निकले.

साथ ही साथ यह भी कह दिया कि जब मम्मी जी टॉयलेट से निकलीं, तो मुझसे कंट्रोल नहीं हुआ और मैंने उन्हें किस कर लिया. साइड में दो हैण्ड टॉवल रखे थे, एक से शबनम ने अपनी चूत साफ़ करी और एक राजीव के लंड पर डाल दिया.

स्मायरा बोली- कोई बात नहीं … दीपक को कुछ काम भी था मुंबई … तो उनके साथ मेरा बेटा भी चला गया.

मैं- थोड़ा सा दर्द होगा … बस फिर तुम्हें अच्छा लगेगानित्या- नहीं मत डालो … तुम्हारा लंड बहुत बड़ा है. अभी पूरा अंधेरा नहीं हुआ था तो वह मुझसे बात करने लग गया।हर्ष- आज काफी दिनों बाद बहुत अच्छा लगा।मैंने गुस्से में कहा- तुम्हारा तो हो गया था पर मेरा क्या?हर्ष बात को काटते हुए बोला- दीदी, आज आपकी सारी ख्वाहिश पूरी कर दूँगा।मैंने उसकी तरफ देखते हुए कहा- देखते हैं … तुम क्या कर सकते हो।बातों बातों में अंधेरा भी हो गया था. मैंने अपने जीवन की इस सच्ची घटना को लिखने में एक भी गलत शब्द का इस्तेमाल नहीं किया है.

ब्लू पिक्चर दीजिए सेक्सी आंटी की मैक्सी हवा में और सरक कर आंटी की चूत को बेपर्दा करने में लगी हुई थी. मैं दिल्ली पहली बार आया था और क्योंकि मैं यहां नया था तो मेरे दोस्त ने कहा- तू मेरी बहन के यहां रुक जा, जीजा वहां पे जॉब करते हैं.

आधी रात के बाद मुझे पेशाब का प्रेशर महसूस हुआ तो मैं टॉयलेट में जाने के लिए उठ गया. ”शराब शुरू हो गयी, हल्की फुल्की बातें चलती रही।सबको थोड़ा नशा हो गया तो अंशु बोली- उपिंदर, अब आगे क्या प्रोग्राम है?प्रोग्राम क्या, हम दोनों के पास बीवी भी है, साली भी है, मज़े लेंगे. मैंने डॉली को कॉल करके आने को कहा तो बोली- आज मैं नहीं आऊंगी, आप आयेंगे, वो भी अभी नहीं, रात को आठ बजे.

সেক্সি ভিডিও সানি

उसने खुद मुझे पानी दिया, खाना खिलाया और वहीं मेरे पास बैठ कर मेरी ही थाली में मेरे साथ खाना खाया. पर रास्ते भर मेरे दिमाग में एक ही बात चल रही थी कि इतनी सुंदर होने के बाद भी उनके पति उनके चोदते क्यों नहीं हैं. मैं मम्मी पापा को बोल दूँगा कि हम दोनों फिल्म देखने जाने वाले हैं और रात को आने में थोड़ी देर भी हो सकती है.

मैंने बाइक रोक कर उनसे पूछा- क्या हुआ?आंटी बोलीं- कुछ नहीं ऐसे ही मुझे अपने पति की याद आ गई क्योंकि वो भी मुझको ऐसे ही घुमाने लेकर जाते थे. अनीता ने मुझे कस कर अपनी बांहों में भींचते हुए मेरा मुंह अपने चूचों में दबाना शुरू कर दिया.

उन्होंने बड़े प्यार से मेरे होंठों को अपने होंठों में भर के चूसा और बोले- तुझे छोड़ने का मन नहीं कर रहा.

मैंने उनके मम्मों से लेकर उनकी कमर तक अच्छे से मसल मसल के की, जिससे उनकी चुत में चींटियां सी रेंगने लगीं और वो तड़प की वजह से अपनी चुत में अपनी बीच की उंगली देकर अपनी चुदास जाहिर करने लगीं. तो मैंने अपने दोनों हाथ उसके गाल पर रखे और मुँह ऊपर करके पूछा- क्या हुआ … उदास क्यों हो गईं?उसने बताया- मेरे पति हमेशा काम के सिलसिले में बाहर ही रहते हैं. कहीं ऐसा न हो कि कोई और ही मामला हो और मेरी इज्जत मिटटी में मिल जाए.

इतने में मैंने जोश में आकर अपने पाँव उठाके अपना पूरा लंड उनकी फुद्दी में डाल दिया और गांड उछालकर धक्के मारने लगा. मैंने पूछा- अंकल, आंटी का टिफिन बनाना है?तो अंकल ने बताया- अरे नहीं बेटा, वहां हॉस्पिटल में सब उसे मिलता है और रात में वहां किसी को रुकने की भी अनुमति नहीं है. उसने कहा- मैं तुमसे प्यार करती हूँ … इसलिए आज तुम्हें मेरी आग शांत करनी होगी … मैं कब से तुम्हारा इंतजार कर रही थी.

माल को गिराने के बाद उसने मेरी गांड से लंड को निकाल लिया और मुझे लंड चूसने के लिए कहा.

पंजाबी बीएफ वीडियो दिखाओ: वो पीछे बिस्तर पर लेट गया और उसके चेहरे पर एक मुस्कान आ गयी जैसे उसको पूरी संतुष्टि मिल गई हो. मैंने चाची को पिछले 10 दिनों से चोदा नहीं था, तो मैं पहले चाची को अपने पास खींच लिया.

हालांकि खेल का पीरियड होने के कारण एक घंटे तक इधर किसी को आने की संभावना नहीं थी। मैं उसे बांहों में भर कर चुम्बन करने लगा। वह सिसकारियां भरने लगी।मेरा लंड खड़ा हो चुका था, मैंने झट से उसकी सलवार खिसका कर दीवाल के सहारे झुका दिया। उसकी बुर की फांक को अलग कर लंड को अपने थूक से चिकना कर हल्का झटका मारा. ऊपर से शावर की बौछार, नीचे धक्कम पेल … क्या नजारा था!राजीव ने दुबारा सारा माल शबनम की कमर पर निकाल दिया. लेकिन अब उसमें पहले जितना मजा नहीं आता इसलिए मुझे नए लंड की तलाश जारी है.

दोस्तो, जब से हम आपस में मिले थे, हम दोनों के ही दिल में पत्नी की अदला बदली का ख्याल था.

मेरे पीछे से कोई कहता कि गीता रानी मुझमें क्या कमी है, कभी मौका तो दे दो … हाय क्या मस्त माल लग रही हो. इस प्रकार आंटी के कहने पर मैं उनके घर पर ही खाना खाने के लिए जाने लगा. उस वक़्त मुझे एहसास हुआ कि अगर दुनिया में कहीं जन्नत है, तो यहीं है … यहीं है … यहीं है.