गुरिंदर सीगल जीएफ बीएफ सुनें

छवि स्रोत,राधे मां की बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

उर्मिला की सेक्सी बीएफ: गुरिंदर सीगल जीएफ बीएफ सुनें, पर मंसूर भाई समझ गए कि रज़िया भाभी ने किसी और से चूत मरवाई है और प्रेग्नेंट हो गई है.

सेक्सी बीएफ सेक्सी बीएफ सेक्सी मूवी

मगर फिलहाल मेरी चूत में इतनी गर्मी भरी हुई थी कि बस चाह रही थी कोई उसके अंदर लंड को डाल दे, चाहे लंड छोटा हो या बड़ा. सेक्सी वीडियो बीएफ फिल्म भेजोमैं उनके मुँह से चादर निकाल कर उनको किस करने लगा … और उनकी कमर में हाथ चलाने लगा.

यह सुनकर मैं बेकाबू हो गया, मैंने दूध का गिलास पिया और माँ को अपनी बांहों में भर लिया. दिल्ली के बीएफ हिंदी मेंउस दिन शाम तक मैं उसके घर पर ही रहा और हमने साथ में खाना खाया और उसके बाद दो बार फिर से सेक्स किया.

उनकी उंगलियां सोनल की पैंटी के बॉर्डर पर घूम रही थीं और एक उंगली उसकी चूत की दरार पर पैंटी के ऊपर घूम रही थी.गुरिंदर सीगल जीएफ बीएफ सुनें: मैंने उससे झल्लाकर कहा- मुझसे ऐसे नहीं होगा, करना है आगे … तो कुछ करो वरना जाओ.

वो अपने पैरों को फ़ैलाने लगी, जिससे उसकी सफाचट चुत उभर कर मेरे सामने आ गयी.दो मिनट बाद वो अकड़ उठीं और बोलीं- आअहह … मैं छूटने वाली हूँ, प्लीज़ रुकना मत… और तेज चोदो मुझे.

फुल एचडी बीएफ वीडियो फुल एचडी - गुरिंदर सीगल जीएफ बीएफ सुनें

दुकान से बाहर निकलते समय मैंने ध्यान दिया कि सुखबीर मुझे कुछ अलग नजरों से छुप छुप कर देख रहा था.स्कूल से आते ही उसने कॉल किया कि आज मुझको स्कूल से लेने क्यों नहीं आए?मैंने कहा- आज अच्छे से रात को ही मिलेंगे.

ये झंडे गाड़े हैं तुमने?कटरीना सी सारा शर्म से पानी पानी हो गयी और वापिस भाग गयी. गुरिंदर सीगल जीएफ बीएफ सुनें तभी एक लड़के का फोन बजा, तो फोन उठा कर बोला- हम तो उस मंदिर वाली रोड से 10 किलोमीटर आगे हैं, यहां एक लड़की पकड़ ली थी, बस उसे ही चोद रहे थे.

मैंने उसे अपने पास खींचा और उसके गले में बांहें डाल उसकी आँखों में देखते हुए पूछा- ऐसा क्या है मुझमें, जो प्रीति में नहीं है?सुखबीर ने उत्तर दिया- वो आपकी तरह खुले विचारों की नहीं है और न ही उसे कामक्रीड़ा का कोई अनुभव है.

गुरिंदर सीगल जीएफ बीएफ सुनें?

तांत्रिक गुस्से में बोला- यदि तूने ऐसा नहीं किया, तो तेरे बेटे की मृत्यु निश्चित है. मैंने कमरे को अन्दर से बंद किया और पूनम को अपनी बांहों में भर लिया. तभी मैंने एक हाथ से मीना के बालों को अपने हाथ में कसके पकड़ा और दूसरे हाथ से लंड उसकी चुत में थोड़ा सा फंसा दिया.

इस प्रोफेशन में चूंकि हमें मसाज भी देना होता है तो मैंने बोला- ओके मैडम … पहले आप अपने गाउन को उतार कर साइड में रख लीजिये. जब कुछ देर के बाद मैंने अपनी सलवार के ऊपर अपनी पैंटी पर हाथ लगाया तो मेरे बदन में एक सरसरी सी दौड़ गई. थोड़ी ही दूर चले थे कि एक बड़ी सी गाड़ी बगल से निकली उसमें कुछ लौंडे बैठे थे.

रात को मामा जी आ गए और उन्होंने मुझे समझा दिया कि कैसे मुझे अपने परीक्षा केन्द्र तक जाना है. तब मेरे एक दोस्त ने बताया कि मैं खाली टाइम पर ट्यूशन पढ़ाया करूं जिससे मेरा टाइम पास भी हो जाएगा और कुछ पैसे भी आ जाएंगे।उसके दूसरे दिन मेरे दोस्त ने बताया कि उसके एक जान-पहचान वाले को होम ट्यूटर की जरूरत है और मुझे वहां जाने के लिए बोला और वहाँ का पता दे दिया. यह सब सोच कर मैंने तुरंत ही टैक्सी बुलायी और अपने दामाद जी के घर की तरफ निकल पड़ी.

स्स्स् … आह्ह् … स्स्स … और वह अपनी गांड उठाकर मेरे मुंह में लंड को धकेलने लगा था. दही पीने के बाद मैं मामी की तरफ देखने लगा और सोचने लगा कि ये मुझे किस नहीं करेंगी क्या?मामी मेरी तरफ देख कर अपनी भौं को ऊपर करके इशारा किया- अब क्या?मैं मुस्कराते हुए कहने लगा- मुझे किस नहीं मिलेगी क्या?मामी ने उसी समय मुझे किस कर दिया- अरे मेरे बाबू को भी किस्सी चाहिए.

तो मैं एकदम से बोला- भाभी, आपने मुझे क्यों नहीं बताया?यह सुनकर भाभी हंसने लगी और बोली- तू अभी बच्चा है.

अब कैसी तबियत है आपकी?मैं- अब ठीक है कल इलाज के लिए चंडीगढ़ ही आ रहा हूँ.

रात को करीब 11 बजे जब मैं अकेला कमरे में लेटा अपनी सोनी को याद कर रहा था. ”उन्होंने मेरे हाथ में एक बड़ी कैडबरी रखी, उसे देख कर मैं भी पिघल गयी. मैंने उससे झूठ बोला, तभी मेरी सहेली सोनम आ गई और मुझसे बोली- चल यार मेरे साथ … मैंने जीजा के जूते चुराए हैं.

मामा मेरे ऊपर आ गए और जोर से मेरी चूचियाँ मसलते हुए बोले- छोड़ ही तो नहीं सकता मेरी रानी। आज रात मैं तुझे चोद कर ही रहूँगा।मामा मेरे बदन के साथ जोर से खिलवाड़ करने लगे, वो मेरी सलवार के ऊपर से ही मेरी बुर सहलाने लगे। लेकिन मैं दिखावे के लिए थोड़ा बहुत विरोध करती रही मामा का!मामा मुझे समझा रहे थे- रानी, मान जा ना! अगर तेरी मामी होती तो ये दिन ही ना आते. उन्हीं दिनों एक दिन वो सफेद रंग का सूट पहनकर आयी और अन्दर उसने पिंक कलर की ब्रा और पेंटी पहन रखी थी. मैंने उसे फिर अंग्रेजी में लिखा कि हम दोस्त ही रहेंगे लेकिन मेरे लिए अपने आप को उसके सामने कण्ट्रोल करना बहुत मुश्किल होगा.

उसने मुझे फिर से थैंक्स बोला और मैं वहाँ से अपने काम के लिए निकल गया.

योजना के अनुसार मैं अगले दिन रात को उसके मोहल्ले में था, मैंने उसको कॉल किया. ठीक है वो पूरी ईमानदारी से मेरे साथ रही और वासना तो वासना है, सबकी जरूरत होती है. अंतत: शाम में उन्होंने मामी को बोल ही दिया- कब तक सुधा नाराज रहेगी मामी? जब वो मिलेगी तब न सारी बात बता पाऊंगा कि हुआ क्या था! मामी बोली- इंतजार करिये, रात में उसको खींच कर तुम्हारे पास ही ले आऊंगी.

उसके बाद जाने मुझे क्या हुआ कि मैं भी उसे बार बार देखने लगी … और वह तो मेरी तरफ बस देखे ही जा रहा था. मैंने अपने दोनों हाथों से उसका चेहरा पकड़ कर अपने चेहरे के सामने किया. रमेश- हां मालिक, मैं जानता हूँ और मरते दम तक आपके परिवार और आपका वफादार रहूंगा.

कभी कभी मेरे सगे मामा ट्रेक्टर में आलू या प्याज़ के बोरे चढ़वाने में मदद के लिए उन्हें बुला लेते और जब रवि मामा बोरों को उठाते, तो उनका जिस्म और भी कस जाता और उनकी छाती और बाजुओं के उभार और भी गहरे हो जाते.

जवानी में क़दम रखता हुआ एक लड़का, जिसने सिर्फ चूत का नाम ही सुना हो, जिसके यार दोस्तों ने भी कभी चूत के दर्शन न किये हों, उसके हाथ अगर चूत के जूस से तरबतर हो जाएँ तो उसका क्या हाल हुआ होगा. मैं बोली- मैं कभी आप पे गुस्सा हो सकती हूं क्या, आपने मेरी इतनी मदद की है.

गुरिंदर सीगल जीएफ बीएफ सुनें थोड़ी देर बाद उसने करवट ली और अपना पैर हटा दिया, लेकिन अब हाथ मेरे ऊपर रख दिया. पर उसने अपना फिगर अच्छा मेन्टेन किया हुआ था, कमर तो 26″ भी मुश्किल से थी और गोरी भी बहुत थी.

गुरिंदर सीगल जीएफ बीएफ सुनें हमारी सांसें अभी धीरे-धीरे धीमी हो रही थी तभी अनुष्का मैडम को कोई बुलाने आ गया. मेरी जांघों की थाप जब उसके चूतड़ों पर पड़ती तो उस आवाज़ से वातावरण कामुक हो उठता.

मैं उसके गोल सुडौल मम्मे चूसने दबाने लगा, तो वो खुद ब खुद मेरे लंड पर ऊपर नीचे होने लगी.

सेक्सी बीएफ चाहिए सेक्सी बीएफ सेक्सी

मेरी मेल आईडी है[emailprotected]मुझे अन्तर्वासना के पाठक पाठिकाओं के मेल और कमेंट्स का दिल की गहराई से इंतजार रहेगा. मैंने अपने पति को बहुत समझाया, लेकिन वो नहीं माने और उसने शराब पीना शुरू कर दी. मैं मदहोशी से ज़ोर ज़ोर से सिसकियां लेने लगी- आआहहह स्टीव खेलो मेरे साथ.

वह मेरे पूरे लिंग को अपने मुँह में लेना चाह रही थी और उसे चूम रही थी बीच-बीच में अपनी जीभ से मेरे पूरे लिंग को चाट रही थी. थोड़ी देर बाद 9 बजे सुबह सोनम की दीदी की विदाई हो गई और मैं अपने घर चली आई. मेरी ये कहानी स्मिता (बदला हुआ नाम) जैसी उन सभी लड़कियों को समर्पित है जिन्होंने अपनी सीमा रेखा से ऊपर उठ कर कुछ करने की ठानी है!आपको मेरी यह आपबीती पसंद आई या नहीं, मुझे ईमेल करें.

दोस्तो, इस बार इस कहानी का नायक दिलदार सिंह है कहानी उसी की जुबानी सुनिये.

पर मैं आशीष को देख रही थी, तभी आशीष बाहर से आया और आते ही बस जहां हम लोग बैठे, वहीं आ गया और बैठ गया. अब तो बताएं मालिक … आखिर क्या कारण है जो आपको अपनी मामी हमारी छोटी मालकिन बहू के साथ संबंध बनाना पड़ा?मैं- आपको तो मालूम है काका मामा जी का पूरा ध्यान बिजनेस में ही है, वह दिन भर, तो कभी कभी हफ्तों तक बाहर रहते हैं और मामी जी को ज्यादा वक्त नहीं दे पाते. मैंने कहा- मरवाओगी क्या … कोई गाड़ी आ गई तो लेने के देने पड़ जाएंगे.

वो बोली- ये मेरी चूत में नहीं जाएगा?मैंने बोला- बस तुम देखती जाओ, ये कैसे आराम से अन्दर जाता है. जब मैंने अंदर की तरफ दोबारा देखा तो विनय ने अपना लंड कुसुम दीदी के मुंह में डाल रखा था. जब राजन अंदर आ गया तो मैंने उससे पूछा- यहां पर मेरे पहनने के लिए कुछ है क्या?राजन ने कहा- मेरे पास एक शर्ट है.

भाई ने पूछा- ये क्या होता है?तो मैंने और अम्मी ने कहा- हम सब एक साथ नंगे हो जाएंगे और आपस में एक दूसरे की चुदाई करेंगे, जिसको जैसे चोदना है चोद सकता है. इतनी सुन्दर गुलाबो को मुझे अता फरमाने के लिए मैंने ऊपर वाले का शुक्रिया अदा किया और बोला- मेरी जान, अपनी आँखें खोलो और अपने आमिर को देखो!उसने आँखें खोली और हल्की से मुस्करायी मैंने उसका ओंठों पर एक नर्म सा चुम्बन ले लिया.

दो मिनट बाद वो अकड़ उठीं और बोलीं- आअहह … मैं छूटने वाली हूँ, प्लीज़ रुकना मत… और तेज चोदो मुझे. मैंने भी तुरंत हाँ कर दी और बोला- रितिका, मैं तुम्हें भरपूर प्यार दूंगा. सीमा ने मेरे लंड को अपने मुंह में ले लिया और नीचे से मैं उसकी चूत को चाटने लगा.

उस नाशुक्री ब्रा ने कल्पना भाभी की चुचियों पर अपना कब्जा जमाया हुआ था.

उसने मुझे अपने हसबैंड के शॉर्ट्स और टी-शर्ट दिए और चेंज करने को कहा. तब मैंने अपना मुँह उसकी दोनों जांघों के बीच में डाल कर उसकी जांघों को किस करने लगा. मेरी हाइट लगभग 5 फुट 7 इंच है। मुझे सुन्दर लड़कियाँ और भाभियां बहुत पसंद है मेरे लंड का साइज 6 इंच लंबा व 3 इंच मोटा है.

जैसा कि मैंने आप लोगों को बताया कि मैं कंप्यूटर में तेज़ हूँ तो मैं मात्र 15 दिन में ही सब स्टूडेंट्स के बराबर में आ गया. जिस दिन मामा सामने होते, उस दिन हम दोनों सादा मालिश करते और बाकी दिन चुदाई वाली मालिश होती.

मैं जितना हो सकता था, अपनी जीभ से उसके दाने को छूने की कोशिश कर रही थी, जिसकी वजह से उसकी मुनिया थरथरा उठती थी. अगर उन्हें तुम्हारा काम पसंद आया, तो तुम्हारी पार्ट टाइम जॉब कल से स्टार्ट हो जाएगी. तुम समझ रही हो या नहीं? तलाशी तो तुम्हें देनी ही पड़ेगी अगर तुम यू.

सेक्सी बीएफ जबरदस्ती बीएफ

कोई मर्द किसी कमसिन कली को पहली बार नंगी देख कर जिस तरह बांहों में लेकर मसलेगा, उसी तरह वह भी मुझे मसल रही थी.

इधर नीना अपनी चूत में ठसाठस लंड के धक्के खाकर करीब पांच मिनट के भीतर ही पसीने से तर-बतर हो गई और उसके शरीर का हर हिस्सा सिहरन से भर उठा. वो कामवासना में कह रही थी- आह … मेरी योनि को मसलो … उसे प्यार करो …लेकिन मैं उसे और तड़पाना चाहता था. जिस वजह से उसके स्तन मेरे मुँह पर कभी दबाव बनाते, तो कभी दबाव हटाते.

वो अपने साथ एक क्रीम की शीशी लिए हुए था, उसने उसमें से बहुत सी क्रीम निकाल कर मेरी बुर के अंदर अपनी उंगली डाल कर अच्छी तरह से लगा दी. मैंने उसे बातों ही बातों में पूछा- अब तो तुम बड़ी हो गयी हो, कोई बॉयफ्रेंड बनाया या नहीं. हिंदी बीएफ एक्स एक्स व्हिडीओजीजू के साथ तो मैं भी सहज महसूस कर रही थी। फिर एक ही बेड पर हम चारों लोग मस्ती में लीन होने लगे। दीदी अजय के साथ और मैं जीजू के साथ।मेरे साथ ये सब पहली बार था तो मैंने कुछ खास नहीं किया क्योंकि मैं कुछ शर्म भी कर रही थी.

कहानी कैसी लग रही है आपको इसके बारे में मुझे जरूर मेल करें और कमेंट भी करें. उनके यहां पर रहने पर मम्मी को भी कोई ऐतराज नहीं था, क्योंकि उनका पढ़ाने का विषय इंग्लिश था.

जीजाजी मेरी इस हरकत से खुश हो कर जोरों से मेरे रसीले होंठों को पीने लगे. मेरी हिम्मत और भी बढ़ गई मैंने जल्दी से उसकी सलवार का नाड़ा खोला और फटाफट सलवार और पेंटी को नीचे कर दिया. उसने मुझसे कहा- क्या फिर से मेरी चूत मारनी है?तो मैंने हां कहा और उसे डॉगी बना कर फिर से चुदाई करने लगा.

मेरी भाभी जैसी चुड़क्कड़ भाभियों के साथ आजकल मैं बहुत चैटिंग करता हूँ. वो बोली- तुम सिगरेट भी पीते हो?तो मैंने कहा- मैं तो और भी बहुत कुछ पीता हूँ. दोस्तो, यहां कल्पना की स्टोरी खत्म होती है, उसके बाद हम दोनों के बीच जो कुछ हुआ, वो सब आप कहानी के पिछले भाग में पढ़ चुके हैं.

मेरा लंड उनकी चूचियों के बीच से निकल कर भाभी के मुंह तक पहुंच रहा था.

पापा तो सबको लेकर गांव जाने का प्लान बना रहे थे, पर माँ यह बोलकर मुझे नहीं ले गईं कि त्योहार में घर पे दिया-बाती कौन जलाएगा. पहले तो मैं सिसकारती हुई, उससे चूमती हुई उसके ऊपर लेटी रही और वो मेरी कमर से पकड़ कर मुझे नीचे से धीमे और तेज झटके देता रहा.

इसी के साथ मुझे चाचाजी की धोती में कुछ हरकत सी होती दिखी, जिससे मेरे होंठों पर एक कातिलाना मुस्कान बिखर गई. चिन्टू की बात पर मीना बोल पड़ी- चाहने लगा है? तेरा क्या मतलब है? और चाहने का मतलब जानता है? अपनी और मेरी उम्र में अंतर तो देख ज़रा … मैं रिश्ते में तेरी मौसी हूं. आहना कहने लगी- मैंने उन्हें बहुत समझाया, लेकिन वो मेरी कोई बात नहीं सुनते हैं.

मेरी कमर फिर से उछलने लगी और फिर अजय का बीज मेरे अन्दर गिरने लगा जिसकी गर्मी से मैं भी पानी छोड़ने लगी. आरती ने मुझे इन दो लंडों के अलावा दो और भी लंड दिलवाये जिनसे वो चुदवाती थी. तो रास्ते में इमरान मिल गया, इमरान ने मुझसे पूछा तुमने श्रीनगर और कल रात ऐसा क्या किया कि झंडे गड़ गए?मैंने पूरा हाल तफ़्सीर से बता दिया.

गुरिंदर सीगल जीएफ बीएफ सुनें फिर बोली- जो बात वहां बोल रहे थे, उसे साबित कर सकते हो?मुझे उसके इस बर्ताव से बहुत हैरानी हुई. तब वो सब उसके पास आकर उसे चूमने लगे और कोई कहीं बैठ गया, तो कोई कहीं हो गया.

बीएफ हरियाणा के

”अच्छा जी … समझ रही हूँ मैं … लड़की देख कर नीयत ख़राब हो रही है जनाब की. उसने हां में सर हिलाया तो मैंने उससे इधर उधर की बातें करना शुरू कर दीं. कुसुम दीदी बुरी तरह तड़पने लगी। तब मैं नहीं समझ पाई थी कि अनन्त क्या कर रहा है.

भाभी एकदम मस्ती से अपने सिर को इधर-उधर मारने लगी और बोली देवर जी- करो … ज़ोर … ज़ोर … से करो … ठोको!मैंने भाभी की चूत में पीछे से लंड चलाना जारी रखा, कभी मैं उनको कमर से पकड़ता, तो कभी उनके चूतड़ों पर हाथ रखता, कभी उनके चूचों को पकड़ता, तो कभी उनकी जांघों में हाथ डालकर ज़ोर ज़ोर से चुदाई करने लगा।सारा कमरा फच … फच … की आवाज़ से गूंजने लगा, यहां तक की हर धक्के पर बेड आवाज़ करने लगा था. ये देख कर मैं चिल्लाया- साली रांड में कब से तेरी चूत के लिए तरस रहा था. एचडी बीएफ जापानउसकी गांड क्या मस्त थी … मेरा मन कर रहा था कि अभी अपना लंड उसकी गांड में डाल दूँ.

मेरी तरफ से कोई विरोध ना पाने पर उसने मेरी जांघों को सहलाना शुरू कर दिया.

उसको मेरी बात सही लगी लेकिन वो शंका जताते हुए बोली- अजनबियों से चुदाई में किसी किस्म का मार पिटाई का खतरा तो नहीं रहेगा?मैंने कहा- यार थ्रिल करने के लिए कुछ डिफरेंट करने में थोड़ी रिस्क तो उठानी हो पड़ेगी. लगभग दस मिनट तक उसके होंठों को चूसने के बाद मैंने उसकी टांगों के बीच में आकर चुत पे किस कर लिया, जिससे वो एकदम से गनगना उठी और मेरे बाल पकड़ कर मेरे सर को अपनी चुत पे दबाने लगी.

खड़े-खड़े चूचीपान करते हुए प्रशांत ने अगली तैयारी में एक झटके से नीना को लंगड़ी मारकर बेड में डाल दिया और साथ ही पैंटी भी निकाल फेंका. ज्यादा ज़िद करने पर मामाजी और नानाजी से बोल देने की धमकी देते हुए उन्होंने बात को टाल दिया. तभी अचानक आहना का बच्चा रोने लगा, तो आहना ने कहा- लगता है, उसे भूख लग आयी.

ये सुनकर एक से रुका ही नहीं गया और उसने रिया की ब्रा खींच कर फाड़ दी और उसकी बॉडी से अलग कर दी.

उसे देख कर मैं भी उसकी हिलती चूचियों को दबोच कर मसलता हुआ, पूरा मजा ले रहा था. मेरे मुँह से लंड निकाल कर आशीष मुझसे बोला कि तुम कुतिया की तरह बन जाओ. तभी मामा बोले- कौन हो तुम?वह बोला- पंडित जी का लगुआ हूं … मवेशियों को भूसा डालने आया हूं.

बीएफ सेक्सी चुदाई वीडियो चुदाईमैंने आहना को थोड़ा और मदहोश करना चाहा, तो मैं उसके पैरों को चूमने लगा और अपने हाथों से उसकी योनि को पैंटी के ऊपर से छूने लगा. मैंने उससे कहा- क्या देख कर ही मन भर लेना है आज?उसने उत्तर दिया- सारिका जी, आप इतनी सुंदर और कामुक लग रही हो कि देखते ही रहने का मन कर रहा.

सेक्सी बीएफ वीडियो हिंदी हिंदी

ननकू ने दो-एक बार चिन्टू को कहा भी कि मौसी के घर में पड़े रहने से बेहतर है वो कोई कामधंधा करे, दो पैसे कमा कर अपने माँ बाप का सहारा बने. लेकिन मुझे अपनी बहन पर यकीन था कि वह उसके हाथ नहीं आने वाली और इसी बीच उसका ग्रेजुएशन कंपलीट हो जायेगा।मैंने ऐसा ही किया. मैं उन्हें सहारा देकर वाशरूम तक लेकर गया और वॉशरूम का दरवाजा खोल कर उन्हें इशारे से अन्दर जाने को बोला.

मामी मेरे लिए क्रिकेट का बल्ला और गेंद लायी थीं तो ये देखकर मैं सीधे मामी के गले से लग गया और मामी ने मुझे चूम लिया. अपने बिस्तर से उठकर जब मैं पानी पीने जा रहा था कि मुझे बगल वाले कमरे से कुछ आवाज आ रही थी. हिना ने अपने बारे में बताया और कहा कि यदि उसको भी इस फ्लैट में रख लो, तो रोज ही समूह में चुदाई का मजा आएगा.

हम दोनों ने कुछ देर बात की और उसके बाद हम दोनों लोग साथ में डिनर करने लगे. मैं इंग्लिश में थोड़ी कमजोर थी, तो मम्मी को लगा कि उनकी ट्यूशन का मुझे फायदा होगा. फिर मैंने उसके ऊपर लेटकर उसको होंठों पर किस करना शुरू किया और उसके चूचों को भी दबाता रहा.

पहले तो मैंने धीरे धीरे उसके पैरों की उंगलियों से मसाज की शुरुआत की और फिर ऊपर की तरफ बढ़ने लगा. उसका लंड मेरे मुंह में जब पूरा तन गया तो मेरी सांस भी रुकने लगी थी.

जैसे ही उसकी चूत से रस बाहर आता मैं उसको अपने होंठों से चूसकर पी जाता था.

संजीव ने मुझे जूते उतारने को कहा तो मैं भी जूते निकालकर गद्दे पर चढ़ गया. भोजपुरी सुपरहिट बीएफउसकी बहुत तेज चीख निकल गयी- आई … मम्मी … मररर … गईई … छोड़ोओ … छोड़ दो प्लीज … बहुत दर्द हो रहा है … निकालो इसे … मैं मर जाऊँगी. पेट का बीएफउसके होंठों के पास ले गया और बहुत ही धीरे से अपने होंठों को उसके होंठों से लगा दिया. बड़े-बूढ़े तो उसे पसंद करते ही थे, नौजवान और बच्चे भी उससे काफी प्यार करते थे.

जिस दिन मामा सामने होते, उस दिन हम दोनों सादा मालिश करते और बाकी दिन चुदाई वाली मालिश होती.

वो रशीद का सामान कितना गंदा और बड़ा था, मैं तो हमेशा से ही आपके लिए रेडी थी. उसकी चूत में लंड को डाल कर मुझे इतना मजा आ रहा था कि मैं बता नहीं सकता. हम दोनों कुछ देर ऐसे ही एक दूसरे से चिपके पड़े रहे और मेरा लिंग उसकी योनि से बाहर आ गया.

उसके मुंह में जब मेरा लंड जा रहा था तो मुझे बहुत ज्यादा मजा आ रहा था. उसने निक्कर के नीचे नीले रंग की पैंटी पहनी हुई थी जो पहले से पानी छोड़ रही चूत पर रगड़ खाकर गीली होने लगी थी. उसके बाद अनन्त ने दीदी के हाथों को अपने हाथों से हटा दिया और एक तरफ आकर दीदी के मुंह में अपने लंड को पेल दिया.

बीएफ हिंदी भारतीय

अब मैं उसको उसी जोश के साथ चोद रहा था; उसके बूब्स हिल रहे थे झटकों के साथ साथ! आह आह आह की भी आवाजें आ रही थी।बहुत शानदार मूड था कमरे का भी. फिर मैंने भी उसके सामने ही पेशाब कर दिया। फिर हमने एक दूसरे को पानी से साफ किया और नहलाया. जब चुदाई खत्म हुई तो दोनों बहुत बुरी तरीके से पसीने से भीग चुके थे.

उसकी आँखों से आंसू आ गए, उसकी चूत बिल्कुल फट गयी थी और उसकी सील टूट गयी। उसकी चूत में से खून आने लगा.

मेरी तो खुद की आंखों पर यकीन ही नहीं हुआ, जो कुछ मैंने देखा उस वीडियो में … खुद को भरोसा दिलाने के लिए मैंने एक एक करके सब वीडियो देखे.

उन्होंने बड़ी अच्छी स्माइल दी और कहने लगी- ठीक है, आज का खाना मैं ही आपके लिए भिजवा देती हूँ, कल से आप अपना कोई इंतजाम कर लेना. शॉवर में चोदते वक्त मैंने दीदी से पूछा- दीदी बता ना … तेरी सासू माँ क्या बोली थी और तुम दोनों हंस पड़े थे?दीदी ने कहा- उसने मुझे चाबी दी और जड़ी बूटी वाला पावडर हाथ में थमाकर कहा था कि इस बार दो चम्मच ज्यादा डालना … आज रात तुम्हारी असली सुहागरात है … पलंगतोड़ कबड्डी होनी चाहिये … मैं देखने आऊंगी. बीएफ सेक्सी चाइनीस मेंमेरे हिसाब वो चुदी नहीं होंगी, इसलिए अंकल भी जल्दी में उनके साथ चले गए.

उसने कोई धक्का भी नहीं मारा और ना ही अपने लंड को अंदर बाहर करने की कोई कोशिश की. बस अब तुम पेपर की बात भूल जाओ थोड़ी देर” उन्होंने कहा और मेरी कच्छी के अंदर हथेली डाल कर मेरी चूत की दरार को उंगलियों से कुरेदने लगे. हम दोनों ने उस रात में पूरे 5 राउंड लिए थे और चुदाई का पूरा मजा लिया था.

”हालाँकि मैं जिन लौंडों की गांड मारा करता था उनको कई बार किस कर चुका था परन्तु किसी लड़की का किस कभी नहीं लिया था. उस वक्त मैं बहुत दुबली पतली सी थी, पर नैन नक्श शरीर के बहुत सुंदर थे.

मैंने अब उसे पेलना शुरू किया, वो भी हर धक्के का भरपूर मजा ले रही थी.

मेरे शरीर में भी रेस के कारण और अधिक मजबूती और गठीलापन आ गया, जिससे मैं और आकर्षक बन्दा बन गया था. प्यार से उसके आसूँ को अपने होंठों से पी गया और उसके होंठों को अपने होंठों से चूसने लगा. चुदाई के आखिरी दौर में मेरी भाभी अन्दर आ गयी और चुदाई के बाद बैडमैन का लंड चूसने लगी.

फिल्म बीएफ फुल एचडी पहले तो मुझे बुरा लगा, फिर मैंने भी सोचा कि ठीक है, मेरा बेटा नहीं है … बहू भी अकेली है … वासना की इच्छा सबको होती है. उसने मेरे हाथ में कंडोम का पैकेट थमा दिया और बोली- पहन लो और तैयार हो जाओ मेरी सवारी करने के लिए.

क्या शरीर था … बहुत चिकने हाथ, चिकनी साड़ी में उनका हर अंग बहुत कोमल, चिकने फर्श की तरह कड़क माल के जैसी गर्म भाभी. उसने पूछा- तू संजीव को कैसे जानता है?मैंने उसे बताया कि इंटरनेट पर हमारी बात हुई थी और मैं ऐसे ही उससे मिलने के लिए आ गया. एक लौंडे ने मेरी जीएफ रिया को खींच कर गाड़ी से निकाल कर उसे दरी पर बिठा दिया और बोला- चल कपड़े उतार … वरना फिर हम कपड़े फाड़ेंगे, तो तुझे यहां से नंगी ही घर जाना पड़ेगा … सोच ले.

बीएफ चुदाई वाली पिक्चर दिखाइए

मैंने कहा- तुम क्या मुझे पागल समझती हो जो इस तरह की बात किसी को बताऊँगी? मैं मिल बाँट कर खाने वाली हूँ. मैंने पूछा- क्या हुआ?तो उन्होने कहा- तबीयत ठीक नहीं, सारा बदन दर्द कर रहा है, सिर चक्कर खा रहा है. हम चल पड़े और रास्ते में एक-दूसरे के बारे में बातें करते हुए जा रहे थे.

फोन पे हमारी बातें होने लगी और कुछ दिन बाद हम दोनों एक दूसरे को जोक, सेक्सी मैसेज भेजने लगे. उन्होने मेरी पैंट के ऊपर से मेरे लंड को पकड़ कर दबाया, उसे लोहे की तरह सख़्त देख हँसने लगी.

अपने साथ क्यूँ चिपका रखा है?मैंने कहा है सर … पर वो कह रही है कि मेरे साथ ही जाएगी … अब बाकी बच्चे भी जा चुके हैं … मैं उसको फिर से बोल कर देखती हूँ.

उन्होंने मेरे कन्धों पर हाथ रख के दबाया तो मैं उनको लिपटाए लिपटाए दीवान पर आ गया. लेकिन मैं मामी जी की गांड में अभी भी दीवानों की तरह अपने लंड को अन्दर बाहर कर रहा था. उसके छाती को किस करने लगा, ब्रा के ऊपर से उसके रसीले मम्मों को बाईट करने लगा.

मेरे परिवार में मैं मम्मी सुमन, पापा रघुनाथ सिंह और मेरी पत्नी माया रहते हैं. आखिर में मैंने एक बहुत ही ज़ोरदार झटका मारा, तो मामी जी के मुँह से फिर से चीख निकल गई- अहहहहाआ … मररर्रर गईई. चलो यह काम तो मैंने ठीक कर दिया।मैं- ठीक है घोष बाबू, आशा करता हूँ आज आपकी रात अच्छे से गुजरे! और एक बात … सेक्स की कोई गोली खा लीजियेगा, क्या पता जरूरत पड़ जाए… हे हे हे।घोष बाबू- अरे जरूर सर, थंक्स फॉर दी सजेशन, आपको जरूर बताऊंगा कि रात कैसी गुजरी।फिर हम दोनों ने एक दूसरे को अपना नंबर दिया और थोड़े नशे की हालत में हम दोनों अपनी आइटम के पास आ गए.

कितने दिनों से बृजेश के साथ सम्बन्ध नहीं बना था तो मेरा जी भी मचल गया, सोचा कि अगर वो छू लेता है तो मज़ा भी तो आता है तो चलो छू लेने दो.

गुरिंदर सीगल जीएफ बीएफ सुनें: तकरीबन आधे घंटे बाद भाभी भी एक सेक्सी सा गाउन पहन कर आ गईं और वहीं बैठ कर टीवी देखने लगीं. मैंने उसे बलिष्ठ हाथों से गांड के बल उठाया और अपने लंड पर खींच लिया.

अति सुन्दर चेहरा, मलाई जैसी गोरा रंग, बड़ी बड़ी आँखें और मादक हल्के से थरथराते हुए गुलाबी होंठ. मेरी जांघों के बीच में लंड था बस, वरना मैं पूरी तरह से लड़की बन चुका था. थोड़ी देर में ही काफ़ी समय से खड़ा, बेचैन लंड बेक़ाबू हो गया और मेरे रोकते रोकते भी मेरे लंड से सफेद वीर्य की पिचकारी निकल गई, जो पहले उनके बिस्तर के पार की दीवार से टकराई, फिर उनके शरीर पर गिरी.

उसके बाद रीना ने मेरे लंड के टोपे को पीछे खिसका कर अपने मखमली होंठों को मेरे लंड के टोपे पर लगा कर छूआ तो मेरी सिसकारी निकल गई.

मेरी दीदी विनय के चूतड़ों को पकड़ कर उसके लंड को अपने मुंह की तरफ धकेल रही थी. मैंने एक बार फिर लंड बाहर निकाला औऱ फिर दूसरे जोरदार झटके के साथ पूरा लंड अन्दर उतार दिया. अपनी विचलित बीवी की बात सुन ननकू बोला- कैसी बतिया कर रही हो? तुम पगला गई हो का … अपनी उम्र तो देखो.