बीएफ विदो

छवि स्रोत,भौजी के सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ सेक्स चुदाई फिल्म: बीएफ विदो, दोस्तो, हुआ यूं कि हमारे पड़ोस में 2 साल पहले एक परिवार रहने के लिए आया था।वह एक अंकल और आंटी थे.

सेक्सी वीडियो एचडी बिहार वाला

मेरे ज़ोरदार झटकों से गुलजान मचल रही थी और उधर गुलजान हेलीमा की ज़ोर से चूत चाट रही थी. सेक्सी पिक्चर छोडा छोड़ामैंने हेलीमा को अपना लंड चूसने को कहा और खुद गुलजान के चूचे चूसने लगा.

अशोक ने कहा- मेरे आते ही जो भी पहली तारीख निकलेगी, मैं उसी में शादी कर दूंगा. తెలుగులో సెక్స్ ఫిలింफिर मैंने भी उनके होंठ पर काट लिया जिससे उनकी भी हल्की सी चीख निकल गयी।अब उन्होंने मेरी साड़ी पीछे से उठानी शुरू कर दी और अब वो पैंटी के ऊपर से मेरी गांड सहला रहे थे.

उसके हर फ़ोटो को सेव करना, स्टेटस पर कमेंट देना शुरू कर दिया।उसने मुझसे व्हाट्सएप पर बातचीत शुरू कर दी.बीएफ विदो: मेरी बेटी की चुत की कहानी के पहले भागमेरा दोस्त मेरी बेटी की चूत का प्यासामें अब तक आप पढ़े चुके थे कि मेरे ठरकी दोस्त सुरेश ने पैसे उधारी देने के बदले में मेरी बेटी की चूत मांग ली थी.

फिर उसको पलटाकर मैंने दीवार से चिपका दिया और पीछे से उसके चुचों को जोर जोर से मसलने लगा.कुछ देर बाद मनोज ने मेरे टॉप को उतारा और मैंने मनोज की टी-शर्ट निकाल दी, फिर उसका बरमूडा निकाल दिया.

सेक्सी पिक्चर ब्लू टोका - बीएफ विदो

हमारी गर्मी बढ़ने लगी तो मैंने आंटी के मम्मों के ऊपर हाथ फिराना शुरू कर दिया और एक दूध दबाने लगा.बाकी मर्ज़ी आपकी।फिर मैं बिना कुछ सोचे बोली- ठीक है, फिर नॉर्मल कर दो।लेकिन वो मानने वाला कहाँ था। उसको तो मेरी चुदाई करनी थी.

उसने मुझसे पूछा कि क्या हुआ … कुछ पता चला?मैंने उससे तुरंत ही कह दिया कि वो प्रेत आपका शरीर मांग रहा है. बीएफ विदो आज उसी अर्चना के साथ रीना, रंजू और अनु दीदी को दोनों भाई आंखें फाड़कर देख रहे थे.

ताई- आह मेरे राजा … चोदो मुझे चोदो मुझे … आज प्रेग्नेंट कर दो आह मैं तो मर ही गयी थी … आज मुझे चोद कर फिर से जिन्दा कर दो.

बीएफ विदो?

वह घुटने के बल बैठ गयी और अपने हाथों से खींचकर उसने मेरा बॉक्सर उतार दिया. अपने हाथों से उसने मेरी पैंटी को उतार दिया और मुझे पूरी तरह से नंगी कर दिया. मैंने कहा- इनाम बाद में दे देना, लेकिन पहले ये पैंटी बदल लो, नहीं तो दाग पड़ जाएगा.

वो बोलीं- अरे सीधे मिल कर बात करते हैं न!मैंने मुस्कुरा कर कहा- ये तो वही मिसाल हुई कि अंधा क्या चाहे … दो आंखें. हिंदी सेक्स सेक्स Xxx कहानी में पढ़ें कि मुझे रात दिन सेक्स ही सेक्स की सूझती थी. छटी मंजिल पर एक होटल था जिसके दो कमरे हमारी कंपनी ने अपने गेस्ट हाउस यूज़ के लिए ले रखे थे, मैं वहीं रह रहा था.

यह प्रस्तुत कहानी मेरे जीवन की ही एक घटना है।यद्यपि यह पत्नी की चुदाई कहानी शत प्रतिशत सत्य नहीं है मगर पूरी तरह से झूठ भी नहीं है. यह कह कर मैंने अनन्या को अलग से कहा कि अगर मनोज कुछ करना चाहे, तो थोड़ी नानुकर करके कर लेने देना. अब आगे थ्रीसम चुदाई की कहानी:कुछ देर की चुदाई के बाद प्रियंका की एक कसक भरी आवाज निकली- आह … जीजू मेरी चुत टपकने वाली है.

अगले दिन पति ने मुझसे कहा कि अपनी सहेली और उसकी बहन से मेरी बात कराओ. पांच मिनट के बाद हम लोग उठकर बाथरूम में आ गए और बढ़िया शॉवर लेने लगे.

अब वह मेरे ऊपर आ गया था और मेरी टांगें उठाकर मेरी गांड में लंड घुसा दिया.

मैं वैसा ही उनके ऊपर लेट गया, उन्होंने बड़े जोर से मुझे अपने हाथों से और पांवों से जकड़ लिया.

ये सुनते ही मैंने भाभी की पैंटी भी निकाल दी और लेट कर हॉट देसी भाबी की चिकनी चूत को चूसने लगा. हम दोनों ही एक दूसरे को पसंद करते थे लेकिन कभी हमारी आमने सामने बात नहीं हुई थी. इस दौरान न तो मैंने उसके साथ किसी तरह की सेक्स सम्बन्धी चर्चा की और न ही उसके साथ किसी तरह की छेड़छाड़ की.

अदिति घुटनों के बल बैठ गयी और उसने तकिया का कवर निकालकर इससे अपनी चूत पौंछकर साफ कर दी. अगले भाग में इस जवान लड़की की सेक्सी कहानी में क्या हुआ, वो लिखूंगी, आप मेल जरूर कीजिएगा. अदिति मेरे होंठों को चूमती हुई बोली- हर्षद, अब डाल दो अपना लंड मेरी चूत में.

किसी तरह मुझे मुंबई में एक आलीशान फ्लैट मिल गया था वो भी बिना पैसों के।फ्लैट के साथ ही वो सब सुख सुविधा जो मैं अपनी कमाई से नहीं ले सकती थी, वो भी मिल गयी थीं.

चाहता तो मैं आम लड़कों की तरह सीधे लौड़ा उसकी चूत में पेल सकता था, पर मैं इस खेल का कोई नौसिखिया नहीं … बल्कि एक शातिर खिलाड़ी था. वो टॉप और एक शॉर्ट्स पहन कर नीचे आ गई, जहां पहले से उसके जीजू मनीष अखबार पढ़ रहे थे. मगर प्रियंका ने अपनी चुत उसके मुँह पर दबा रखी थी तो उसकी आवाज घुट कर रह गई.

फिर चूत चाट कर मन भरने के बाद उसने कहा- चलो, अब तुम मेरे कपड़े उतारो. फिर वो मुझसे बोलीं- क्या आप यहीं कहीं नजदीक में रहते हो?मैंने कहा- हां. मैं उस दिन कॉलेज आया … तो पता चला कि एक दो दिन में दस दिनों का एक हिस्टोरिकल टुअर जा रहा है.

मैंने कहा- गन्ने के खेत में ये काम भी होता है?विपिन बोला- अरे दीदी, आपको क्या पता गांव में कहां कहां और कैसे कैसे काम होता है.

मैं भी अब फुल मूड में आ चुकी थी।इतने में उसने मेरी चूत में उंगली डाल दी जिससे मैं और बैचेन हो गयी और तड़पने लगी।वो अपनी उंगली को आगे पीछे करने लगा था।मैं भी अपना आपा खोने लगी थी। मेरे मुँह से हल्की हल्की सिसकिया निकल रही थी।इसी दौरान मैं बोली- सन्नी जो करना है जल्दी करो. वो बड़े प्यार से सब करेंगे, मुझे भी वो भी बहुत बार प्यार से चोद चुके हैं.

बीएफ विदो मेरी पिछली कहानी थी:जेठ जी ने मेरा काण्ड कर दियाअब मैं आपको देसी लड़की चुदाई कहानी बताता हूं. ठीक चार दिन बाद उन्होंने मुझे फिर फ़ोन किया और कहा कि वो उस शाम को वापस आ रहे हैं और सीधे मेरे यहाँ ही आएंगे.

बीएफ विदो विजय के सब्र का बांध अब टूट चुका था, उसने तुरंत मेरे नंगे बूब्स को अपने हाथों से पकड़ लिए और जोर से मसल दिए. फिर धीरे धीरे अपने होंठों को बिना अलग किए उसके मम्मों तक ले जाने लगा.

मैंने उससे बोला- मुझे तुमको अभी और चोदना है, अगर तुम्हारा मन हो, तो मेरे फ्लैट पर आ जाना.

बीएफ फिल्म करते हुए

अब घर में किसी एक का रुकना जरूरी था तो मम्मी ने मुझे रुकने को बोला और वो तीनों मतलब पापा मम्मी और मेरा छोटा भाई, जाने की तैयारी करने लगे. मित्रो, आप इस सेक्स कहानी के पिछले भागमेरी बीवी ने अपनी भाभी को मुझसे चुदवायामें मेरी बीवी और सलहज के साथ सेक्स का मजा ले रहे थे. इधर मेरे 7 इंच लम्बे और 2 इंच मोटे लंड को अर्चना बहन ने चूस चूस कर गहरा लाल कर दिया था.

हॉट गर्ल सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने एक कमसिन पहाड़ी लड़की को ब्लू फिल्म दिखा कर उसकी वासना जगायी फिर उसकी सील बंद चूत को चोदा. ”जान तुम्हें मुझ पर विश्वास है ना! मैं तुम्हारी चूत को ज्यादा दर्द नहीं दूंगा, बस तुम मेरी आंखों में देखती रहना. ”मैं आगे बोली- मैं चाहती हूं कि हमारे इस प्यार को तुम कैमरे में कैद कर लो … और मुझे जब भी जयपुर में तुम्हारी याद आएगी और तुम मेरे पास नहीं होंगे तो मैं हमारे इस प्यार के पलों को देखकर तुम्हें अपने पास महसूस किया करूंगी!विजय बोला- शालू, तुमने मेरे दिल की बात कह दी.

मैं उसके पास गया, तो वो दूसरी तरफ पलट कर कंबल अपने सर तक खींच लिया.

ये देख कर उसकी साथ वाली ने उससे कुछ कहा तो आंटी ने मुझे आवाज लगाई- एक्सक्यू मी. उसने कहा- तुम चिंता ना करो, मैं उसको पूरी चुदक्कड़ बना दूंगा, फिर वो लंड के बिना रह ही नहीं सकेगी. उसकी आवाज से मैं पहचान चुका था कि लेक्चरर साहब मेरी गांड मार रहे हैं.

ललिता भाभी को मेरे लंड की सख्ती का जैसे ही अहसास हुआ, उसका हाथ लंड पर आ गया और वो सहलाने लगी. नमन को अचानक से अपने सामने देख आकर मॉम पहले तो चौंक गईं फिर वो नमन से चिपक कर चूमाचाटी करने लगीं. मेरी देसी मेड सेक्स कहानी आपको कैसी लगी मुझे आप अपने फीडबैक में लिखें.

कुछ तो आगे बोलिये?उधर से एक लड़की की आवाज आई- आप कौन हैं और कहां के रहने वाले हैं?उसने मेरा नाम और शहर का नाम पूछा तो मैंने उसको बता दिया. मैंने उसके हाथ को दबाते हुए कहा- आप परेशान मत हो, मैं आपसे कल बात करता हूँ.

आज की यह Xxx भाबी चुदाई कहानी मेरे और सोनिया भाभी (काल्पनिक नाम) के बीच की चुदाई की है. सुबह जब नेहा मुंबई पहुंची, तो उसने देखा कि उसकी दीदू और जीजू उसको लेने स्टेशन आए हैं. इसी बीच मेरे गर्भ में एक बीज रुका, वो किसका था, मुझे पता नहीं चला क्योंकि मैं 7 मर्दों का लंड तो नियमित लेती ही थी तो उसी में से किसी के बीज से मुझे एक संतान का सुख भी मिला.

बेचारे आखिरी बटन पर उसके भरे हुए आमों का इतना ज्यादा दबाव आ गया था कि वो उसी दबाव से ही टूट गया और उसके दोनों गोल गोल गोरे मुलायम मम्मे मेरे सामने झूलने लगे.

मैं भी कुछ ऐसे ही बड़बड़ा रहा था- हाय मेरी रानी … तेरी चूत … आह्ह … कितनी गर्म है … बहुत मजा आ रहा है तेरी चूत चोदने में. मैंने रमा से कहा- यार, देख ले कि वो सोनी के साथ क्या करता है?उसने कहा- तुम्हारा दिमाग ख़राब है? अपनी बेटी को पराये मर्द के साथ देखोगे? तुम ही देखो … मैं तो नहीं देखती।जैसे ही सोनी अंदर गयी तो सुरेश ने दरवाजा बंद कर लिया. करीब 15 मिनट बाद उन दोनों ने चूत में से लंड निकाला और सारा माल मॉम के मुँह में टपका दिया.

इसके बाद मैंने 69 की पोजीशन ले ली और हम दोनों लंड चूत चुसाई का मजा लेने लगे. मेरी ईमेल या कमेंट बॉक्स में आप अपने सुझाव और अपनी ख्वाहिशें और फंतासी जरूर शेयर करें.

पता नहीं मैं इतनी ज्यादा चुदासी कैसे हो चुकी थी क्योंकि मैंने आज तक इतनी ज्यादा खुजली अपने अन्दर कभी भी महसूस नहीं की थी. लण्ड पता नहीं कहाँ समा गया था और फिर दोनों कुछ देर तक बुत की तरह खड़े रहे. उन्होंने लंड को हाथ में भरा और उनके मुंह से पहले शब्द ये ही निकले- आह्ह … बहुत मोटा है।फिर उसको मरोड़ते हुए बोले- ये तो सख्त भी बहुत जल्दी हो गया.

सेक्सी हिंदी वीडियो में बीएफ

मैंने मुँह मोड़ कर नीता से पूछा- क्या करें, रुकें या चलते चलें?मेरा गाल नीता के कोमल होंठों पर सट गया तो उसने मुझे चूमकर कहा- अब नहीं रुकना हर्षद … आहिस्ता आहिस्ता चलते चलो.

मैंने दो तीन मिनट का विराम दिया और फिर मैं भी चुपके से अंदर घुस गयी. वो बोला- वो मेरी स्पेशल वाली कोल्डड्रिंक है, बाजार में नहीं मिलती है. वो भी बड़ी इठला कर बात कर रही थी और अपने दूध दिखा दिखा कर मेरे लंड में आग लगा रही थी.

कहीं वो जाग न रही हो!वो बाहर निकल कर कमरे के दरवाजे पर खड़ी हो गयी. मैंने सोचा कि शायद ये अब तो उसे छोड़ देगा मगर उसे पता नहीं क्या जोश चढ़ा था. गाव की लडकी सेक्सी व्हिडिओफिर मैंने भाभी को ये बात बताई तो उसने अपनी दोस्त पूजा को अपने घर बुलाया.

मैंने कुछ पल देखा और लंड की पुरजोर मांग पर तय कर लिया कि आज लौंडिया का काम उठा देना चाहिए. इतने में नीता ने पीछे से आकर मुझे अपनी बांहों में कस लिया और बोली- चलो हर्षद, खाना तैयार हो गया है.

आप ही बता दो कि आपने अब मुझे क्यों फोन किया है?वो बोली- ठीक है, मैं थोड़ी देर के बाद चैट पर आपसे बात करती हूं. ऑफिस लेडी सेक्स कहानी में मैंने बताया है कि मैं बदली पर कम्पनी के बैंगलोर ऑफिस में गया तो वहां कई लड़कियां थी. एक दिन मोनिका ने मुझे कहा- अब मुझसे रहा नहीं जाता, प्लीज मुझे चोद दो … निचोड़ दो मेरी जवानी का रस … मैं चुदाई का असली मजा लेना चाहती हूं.

शर्ट को फाड़कर बाहर झांकते 34 साइज के चूचे, गदरायी कमर और बाहर निकली हुई लण्ड खड़ा कर देने वाली 36 साइज की गाँड. अब वो हिंसक होकर अपने नितंबों से मेरी जांघों पर प्रहार कर रही थी।एक वो क्षण आया … जब दोनों का गर्म लावा एक साथ निकला। रेनू निढाल होकर मेरे ऊपर लेट गयी. तब मैंने अनन्या से कहा- तुम खुद कपड़े उतारोगी या कोई तुमको उतारने वाला चाहिए?वो मेरी तरफ देखती रह गई और तभी रोहन ने उसके भी कपड़े उतार कर उसे भी नंगी कर दिया.

बस तभी लंड ने अपना मुँह खोल दिया और चुत के अन्दर अपना फुआरा छोड़ दिया.

उधर मैंने अनन्या से कहा कि जैसे ही मनोज ऑफिस चला जाए, तुम मेरे घर आ जाना. अगर मेरा मोटा लंड एक बार में ही मैं उसकी चुत में पेल देता, तो वो चिल्ला पड़ती और चलती बस में बवाल हो जाता.

ब्रा और पैन्टी न पहनने के कारण मामी की चूचियां और चूतड़ उछाल मार रहे थे. मैंने 6-7 करारे शॉट मारे और अपने लंड का सारा माल कशिश दीदी की चूत के अन्दर छोड़ दिया. भाभी फिर से गर्म हो गयी थी, फिर हम 69 की अवस्था में आ गए और मैंने फिर से उनकी चूत में जीभ डाल दी.

लेकिन उन्होंने समय समय पर हमारी काफी मदद की थी, यह जानकर वह अंकल का सम्मान करने लगा था. जल्द ही वो झड़ गई मगर मैं लंबी दूरी का घोड़ा था … मैं बस उसे चोदे जा रहा था. हम दोनों ही एक दूसरे के होंठों व जीभ को जोरों से चूम-चाट रहे थे और पूरा मजा ले रहे थे.

बीएफ विदो ममता के ऊपर लेटकर मैंने एक बार फिर से अपना सिर उनकी जांघों के बीच घुसा दिया और उनकी चुत को‌ चाटने लगा. नहीं तो मैं मैक्सी ऊपर कर चड्डी निकाल कर मेरा लौड़ा अन्दर डाल दूंगा!”फिर वे मेरे घर आए तो मैंने उन्हें दूध पिलाते हुए अपने शरीर पर ले लिया.

xxx.iii बीएफ वीडियो

मैंने उसकी अंडरवियर निकाली, तो उसका लंड एकदम खड़ा था और एकदम तना हुआ व मोटा. और दोस्ती में इतना कर दिया तो कोई भी ज्यादा नहीं है।आपने मेरे लिए इतना कुछ किया है. अपने कमेंट्स में जरूर बतायें या फिर मुझे मेरी ईमेल में लिखें।[emailprotected]जीजा साली चुदाई की वीडियो देखें:दीदी ने बहन को अपने पति से चुदवाया.

जिससे पता ही नहीं चला कि कब मेरा एक हाथ उसकी पीठ पर से रेंगते हुए उसके सीने पर आ गया और उसके एक उभार को अपनी गिरफ्त में भर लिया. नूपुर देखने में भोजपुरी मोनालिसा की तरह 34-30-36 के साइज़ की सेक्स की मूरत की तरह थी. नई दुल्हन के सेक्सीअब आगे ऑफिस गर्ल Xxx स्टोरी:मैंने धीरे धीरे से उसके पेट को सहलाना शुरू किया और हल्की मसाज करना शुरू कर दिया.

अगर आप इस सेक्स कहानी से जुड़ा और कोई किस्सा सुनना चाहते हैं तो मुझे अपने ईमेल या मैसेज के माध्यम से बतायें.

मैंने चूत के दाने को चूसना शुरू कर दिया और 5 मिनट में ललिता भाभी की चूत का झरना बहने लगा, जिसे मैं पी गया. उस दिन मैं कॉलेज तो गया, मगर एक घंटे बाद ही ममता को साथ लेकर अपने कमरे पर आ गया.

जाते जाते उन्होंने मेरी गांड पर थप्पड़ मारा और बोले- रात को अपनी चूत और गांड चिकनी करने रखना. मैंने अपने पैंट के बटन और चैन खोली और अपने मोटा लंड निकाल कर उसके हाथ में दे दिया जिसे वो बहुत प्यार से सहलाने लगी. अब हम दोनों जल्द ही 69 की पोजीशन में आ गए और एक दूसरे के गुप्तांगों को चुम्बन करने और चाटने लगे.

मैंने उनसे पूछा- क्या हुआ आज बहुत खुश हो!तो वो बोले- हां, आज मैंने एक बड़ी डील की है.

मैंने कहा- क्यों पहले किसी ने नहीं किया?वो बोलीं- सच में तेरी कसम आज … पहली बार तूने ही नीचे किस की है. गाँव की लड़की की सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैंने बारिश में एक लड़की को लिफ्ट दी, उसे घर छोड़ने गया तो उसने घर में बुला लिया. मुझे शेखर का लंड लड़के की गांड में अंदर बाहर होता हुआ दिखाई दे रहा था.

हिंदी सेक्सी वीडियो खेत मेंकुछ सेकेन्ड्स के खेल में ही उन दोनों ने मेरे बदन में झनझनाहट पैदा कर दी. मैं उनके होंठों पर चुंबन लेती थी, यही मेरा उनके प्रति के प्यार का सबूत था.

बीएफ बीएफ सेक्सी चुदाई

कुछ देर की चुसाई के बाद प्रियंका ने थोड़ी चॉकलेट अपने चूचों में गिरा दी और अनामिका के ऊपर पलट कर बैठ गई. बस इसी के साथ अंकल ने पूरे हैवानियत के साथ बड़े जोरदार और बहुत ही भयंकर शॉट मारने शुरू कर दिए. निर्मला जी से कुछ देर बातें करके ये पता चला कि ये भी निर्मला जी सेकंड मैरिज है … और उनके पहले पति बाइक एक्सीडेंट में गुज़र गए थे.

उसने रोहण को पता नहीं कैसे मेरे और सोनी के होटल में रहने के लिए मना लिया था. रात के एक बजे मुझे पीहू ने उठाया और बोलने लगी- बिजली चली गई है, मुझे ऐसी गर्मी में नींद नहीं आ रही है. उन्होंने इतने साल से किसी के साथ सेक्स नहीं किया था तो वो कांप रही थीं.

शाम के समय मैं घूमने के लिए बाहर निकला और लौटते समय चार फालूदा कुल्फी ले आया. उसने लंड की गर्मी पाकर अपनी टांगें फैला दीं और लंड चुत की फांकों में सैट हो गया. जोश अब मुझे भी चढ़ गया था और मैं हवस में चूर होकर बोला- हाय … भाभी … ऊपर से ही दबाओगी या बाहर भी निकालोगी इसे?कहते हुए मैंने भाभी की चूची को निप्पल के पास से कसकर भींच दिया.

मैंने कहा- इस लॉलीपॉप में से दूध भी निकलता है?उन्होंने कहा- हां इसमें से दूध निकलता है और वह दूध तुम्हें पीना है, जिससे तुम्हें नींद आ जाएगी. चुदाई का दौर पूरी मस्ती से चला और आधी रात तक उसने तीन बार चोद कर मेरी चुत की पूरी हजामत कर दी.

तभी उसने मेरी तरफ देखा और मैंने उसकी तरफ!उसकी आंखें कह रही थीं कि मुझे चोद कर संतुष्ट कर दो, मुझे आज अपना बना लो.

एक दिन मैंने अखबार में सेक्स प्रश्नोत्तरी में एक पाठक की समस्या पढ़ी कि वो क्रॉसड्रेसिंग करता है और लड़कियों की तरह रहता है।ये पढ़कर मुझे अपना भी ध्यान आया कि मैं भी ऐसा ही करना चाहती रही हूं. village सेक्सी वीडियोमेरा लंड उनके एक हाथ से तो पकड़ा ही नहीं जा रहा था इसलिए वे दोनों हाथ से मेरे लंड को पकड़ कर ऊपर नीचे करने लगी. 2 साल की लड़की सेक्सी वीडियोचुत में लंड जाते ही हॉट चाची सेक्स का जोरदार खेल फिर से शुरू हो गया. मैंने उसकी बातों पर ध्यान नहीं दिया और उसके दोनों निप्पलों को बारी-बारी से चूसने लगा.

पता नहीं मुझे क्या हुआ कि मैंने भी चाचा का लंड पकड़ लिया और वैसे ही करने लगा जैसे वो मेरे लंड के साथ कर रहे थे.

उसने मेरे चूतड़ों पर हाथ लगाया और मुझे अपनी ओर खींचा।मेरी चूत लार और कामरस से एकदम गीली और चिकनी हो रही थी।उसने अपने लंड को मेरी चूत पर सटा दिया. बेबी क्या हुआ, कहां जा रहे हो?”मैं कुछ नहीं बोला और जाकर 4 रस्सी लेकर आ गया. उस कपल में जो भैया थे … वो मार्केटिंग की जॉब में थे ओर कंपनी के काम से दूसरे सिटी जाते रहते थे.

मेरी हॉट देसी भाबी सेक्स कहानी में किसी तरह की काल्पनिक भावनाओं का समावेश नहीं है. एक दिन जब हम बाहर टहल रहे थे तो वो ऑफिस की चुगलियों की बातें बताते हुए रोने ही लगी. इससे मुझे अब तकलीफ होने लगी तो मैं उन्हें रोककर बोली- अंकल मुझे तकलीफ हो रही है.

बीएफ वीडियो स्कूल गर्ल

मैंने उसके मजबूत कंधों को अपने हाथों से पकड़कर उसकी गर्दन पर चुम्बन अंकित कर दिए।वो चुम्बनों से सिहर उठी और पलट कर मेरे सीने से चिपट गयी और सीने के बालों में उंगलियां फिराने लगी।मेरे हाथ उसके सौंदर्य के पर्वतीय स्थलों का भ्रमण करने लगे और उसके माँसल नितंबों को पहली बार सहलाया।चाय और कामुकता दोनों ही उफान पर थे. यह मॉम हॉट फ्रेंड सेक्स कहानी पढ़ते पढ़ते आप लोगों ने मुठ मार ली होगी और लड़कियों ने चूत में उंगली कर ली होगी. कुछ देर तक ऐसे ही करने के बाद मेरा लंड अंदर ही अंदर उसकी चूत में तन गया और मैंने एक बार फिर से उसकी चूत चोद डाली.

इस दौरान बीच में जब हम दोनों थक कर एक दूसरे को प्यार करने लगते थे तब उसने मुझसे अपनी बहुत सारी बातें साझा की थीं.

पहले वैभव और मैं ज्यादा नहीं मिलते थे क्योंकि उसके पापा मेरे सगे चाचा नहीं थे.

वो मेरी चुदाई में इतनी खो गयी थी कि शाईस्ता हम दोनों की चुदाई देख रहा है, वो इस बात को भूल ही गई थी. फिर वो चले गए और मैं भी फिर से नंगी होकर नहाने चली गयी।उस दिन मैं खूब रगड़ रगड़ कर नहाई. इंडियन हॉट सेक्सी गर्लइधर दिल्ली में तो मुझे और ममता जी को मिलने की कोई जगह नहीं मिल रही थी, इसलिए हमने इस टुअर पर ही जाकर चुदाई का प्लान बनाया.

उन्हीं कहानियों से प्रेरित होकर आज मैं भी अपनी प्रथम सेक्स कहानी सेक्सी ताई की चुदाई की लिखने जा रहा हूँ. इस घर्षण से हम दोनों इतने मदहोश हो गए थे कि हर दर्द हमें खुशियां दे रहा था. मैं उसे रूकने के लिए कहने लगा क्योंकि मेरा पेशाब ऐसे बाहर नहीं निकल रहा था.

Xxx CD सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं एकदम गोरा चिकना लौंडा क्रॉसड्रेसर हूं. वो इस दौरान सनसनी से पागल हो गई थी तथा उसने अपनी एक टांग हवा में उठाने की कोशिश भी की थी.

उधर वो दूसरी आंटी अगर वापस लौट आतीं तो फिर पारो की चुदाई शायद नहीं हो पाती इसलिए मैं जल्दी से उस नौकरानी की चूत के मजे लेना चाहता था.

उसका लंड उसकी पैंट में खड़ा होकर फुंफकारें मारने लगा था।इतने जवान लंड का स्पर्श मैंने पहली बार महसूस किया था।पैंट में से देखने पर लंड काफी मोटा भी लग रहा था. मैं उसका हाथ छोड़कर दोनों हाथों से उसके दूध को थाम लिया और बारी बारी से दोनों निप्पलों को चूसने लगा. जिस दिन बुआ के लड़के को आना था उसी दिन अशोक को 10 दिनों के लिए बाहर जाना था.

राजस्थानी स्कूल सेक्सी वीडियो उसने घुंडियों को चूसना छोड़ दिया और फिर से कुछ चुम्बन मेरे गालों पर दे दिए. मैंने कहा- छत पर कैसे करेंगे … कोई प्राब्लम हुई … मतलब आपके पति जाग गए तो क्या होगा?उन्होंने कहा- मैंने पति को खाने में नींद को गोली मिला कर दी है.

दोस्तो, मैं मानता हूँ कि पतली कमर … पतली फिगर का अलग मजा है मगर मोटे और भरे हुए फिगर का मजा कुछ ज्यादा ही अलग होता है. मगर पति को देख कर उसके लंड से चुदने की कामना दिल में आ गई और सोचा कि एक बार तो इससे चुद ही लूं. मैंने सोचा मौका है, पर जैसे वो मुझे घूर कर देखती थीं, उससे मेरी उनसे कुछ बात करने की हिम्मत ही नहीं हुई.

मद्रासी में बीएफ फिल्म

वीर्य की कुछ बूंदें प्रियंका के चूचों पर गिरते हुए उसकी नाभि तक गिरती चली गईं. पता नहीं उसे मैंने झटक तो दिया था, पर मेरे अन्दर एक अजीब सी सनसनाहट पैदा हो गयी थी. मैंने कहा- यहां कौन आएगा?वो मुस्कुराती हुई बोलीं- कोई नहीं आएगा तो तू क्या करेगा?मैंने थोड़ी हिम्मत करके मम्मी के दोनों कंधे पकड़ लिए.

उसके बाल जो नहाने से हल्के गीले थे, उनमें पसीने से थोड़ी और नमी सी आ गई, जिस से वे घुंघराले लगने लगे और वह और प्यारी लगने लगी. रचना मेरे मजबूत शरीर को देख कर बोली- राज, क्या मजबूत जिस्म है तुम्हारा … तुम्हारा सीना मेरे जिस्म को मेरे मन को तुम्हारी ओर खींच रहा है.

अब तक आपने मेरी इस सेक्स कहानी के पिछले भागकॉलेज गर्ल की अन्तर्वासनामें पढ़ा था कि मनीष ने अपनी बीवी की चूचियां दबा कर उसे बाय बोला और ऑफिस निकल गया.

मेरे पूछने पर वो शर्माती हुई बोली- मुझे बहुत जोरों से बाथरूम लगी है. दूसरे दिन मैंने उन्हें उनके घर छोड़ा तो उन्होंने चाय के लिए बुला लिया. बाथरूम में चुदाई करने के बाद हम दोनों ही थोड़े थक से गए थे।हालांकि भाभी की चूत का पानी झड़वाने के चक्कर मे मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया था मगर उसकी हालत देख मैंने सोचा कि थोड़ा आराम करना ही बेहतर होगा।फिर हम दोनों वापस बेडरूम में आ गए और टॉवल से खुद को सुखाकर वापस नंगे ही बेड पर लेट गए। इतनी बेहतरीन चुदाई के बाद उनकी आंखों में एक खुशी साफ़ नज़र आ रही थी.

उसके पति व्यवसाय में व्यस्त रहते थे और भाभी काफी खालीपन महसूस करती थी. अब जब बंगलौर में भाई रहता हो तो बहन हॉस्टल में क्यों रहे?मैं और सोनल एक ही फ्लैट में रहते हैं, दिन में वो कॉलेज में रहती है और मैं अपने ऑफिस!रात हमारी एक ही बिस्तर पर कटती है. संगीता किचन से हाथ में ट्रे उठाए बाहर आई और बोली- अब देर हो रही है … जब उठा रही थी, तो कह रहा था कि थोड़ी देर और सोने दो.

फिर उन्होंने कहा- चल वो सब छोड़, आज तू मेरे शरीर की अच्छी से मालिश कर दे.

बीएफ विदो: मैंने तो पहले भी गांड मरवाई हुई थी इसलिए मुझे किसी बात का कोई डर नहीं था. मैंने उसके मुंह को चोदने की स्पीड और तेज कर दी और तेजी से उसके मुंह में लंड को अंदर बाहर करने लगा.

मैं भी एक अनजानी सी खुमारी में डूबने लगा; मस्त आनन्द की गहराई में खोने लगा. कुछ देर बाद रोहन ने उसकी चुत को चाटना शुरू कर दिया और मेरे मम्मों को दबाना शुरू कर दिया. और मैं तेरी अम्मी नहीं तेरी बुरचोदी अम्मी जान हूँ!बस मैं उसी दिन से लण्ड की जबरदस्त शौक़ीन हो गयी।मुझे लण्ड बहुत अच्छे लगने लगे।मैं लण्ड से मोहब्बत करने लगी।अपने कुनबे के लड़कों के लण्ड पकड़ने लगी और कॉलेज के कुछ लड़कों को पटा लिया और उनके भी लण्ड का मज़ा लेने लगी.

वो बोला- रीना मेरी जान, बहुत मस्त चूचे हैं तुम्हारे!मैं इठला कर बोली- तो लो आज जो मन हो, वो करो.

मैं समझता था कि शराब तो रेशमा ने कभी पी नहीं होगी क्यूंकि उनके मज़हब में ये सब वर्जित था. रूबी- अब और कुछ न कर … कोई आ गया … तो क्या होगा!मैं- चोद तो लेने दे … अभी तक पता नहीं कितने लोल्ले लिए होंगे तूने इस चूत में … आज मेरा लौड़ा भी घुस जाएगा तो क्या फर्क पड़ने वाला. मगर मैं सजग था, अपनी तरफ से कुछ भी ऐसा जाहिर नहीं कर रहा था कि मुझे बुआ के साथ कुछ करने का मन है.