मुस्लिम बीएफ फिल्म

छवि स्रोत,सोई हुई बहन की चुदाई

तस्वीर का शीर्षक ,

पिक्चर बीएफ मूवी: मुस्लिम बीएफ फिल्म, मैंने चुपके से अपने बाएं हाथ की चारों उंगलियाँ वसुन्धरा के ढीले इज़ारबंद में से पेटीकोट के अंदर सरका दी और धीरे-धीरे वसुन्धरा के पेट के परले सिरे की ओर खिसकानी शुरू कर दी.

सेक्सी फिल्म ब्लू बीएफ सेक्सी

बाकी तेरी मर्जी…ठीक है … जैसा तू कहे।” काजल ने सुमिना की ज़िद के सामने घुटने टेक दिये. बीएफ हिंदी में देहाती बीएफवो रुक गयी और बोली- बताओ क्या करना है?मैंने कहा- मुझे और पीनी है … तुमने मेरा सारा नशा ही उतार दिया.

वो आंखें बंद किये, मेरे सर पर हाथ फेर रही थी और बीच बीच में अपने पैग का सिप मार रही थी. बीएफ वीडियो सेक्सी अंग्रेजीकीर्ति की सिर्फ चूत में लंड नहीं गया … बाकी ऐसी कोई चीज़ नहीं रह गई थी, जो हमने न की हो.

जिसकी इतनी सुन्दर भाभी हो वो भला किसी और लड़की की तरफ कैसे देख सकता है!”ओह हो! अब तुझे कैसे समझाऊं? देख रामू जिन बातों के बारे में तुझे अपनी बीवी से पता लग सकता है और जो चीज तुझे तेरी बीवी ही दे सकती है वो मैं नहीं दे सकती, इसलिए कह रही हूं कि तू शादी कर ले।”भाभी ऐेसी भी क्या चीज है जो सिर्फ मेरी बीवी मुझे दे सकती है और आप नहीं दे सकती?” मैंने अनजान बनते हुए पूछा.मुस्लिम बीएफ फिल्म: दोस्तो, ऐसे ही कुछ बातों के बाद मैंने अगले दिन बात करने का बोल कर उससे बाय बोल दिया.

मुझे अच्छे से याद है कि वो इतवार का दिन था जब सुबह सुबह मेरे साले का फोन आया- सीमा (साले की पत्नी) को नर्सिंग होम छोड़ दिया है, दीदी (मेरी पत्नी कामिनी) को लेने आ रहा हूँ.उसके बाद मुझे जब भी मौका मिलता तो मैं आंटी की प्यास बुझाने लगा।दोस्तो, आपको मेरी यह कहानी अगर पसंद आई हो तो कहानी पर नीचे कमेंट करके बताना जरूर ताकि मैं अगली बार भी आपके लिए ऐसी ही कोई गर्म कहानी लिख सकूं.

सेक्स दिखा दो - मुस्लिम बीएफ फिल्म

मैंने ये देख कर अंकल को कॉल करके बता दिया कि अंकल अम्मी आ रही हैं, आप तैयार रहना.फिर हम लोग एक रेस्तरां में लंच को गए, तो उन्होंने बताया कि मैं यह सब अपने पति के साथ भी कर चुकी हूँ, इसलिए ये सब मुझे अच्छी तरह करना आता है.

आते ही मैंने उसे अपनी बांहों में भरकर होंठों पर होंठ रखकर चुम्बन करना शुरू कर दिया. मुस्लिम बीएफ फिल्म हो सकता है कि भैया ने शायद भाभी की गांड भी मारी हो। मुझे ऐसी औरत की गांड मिल जाये तो मैं स्वर्ग जाने से भी मना कर दूँ.

दीदी ने मुझसे खाना खाते हुए कहा कि तेरे जैसा लंड मैंने आज तक नहीं लिया.

मुस्लिम बीएफ फिल्म?

उसने झटके से पैंटी को अपने मुँह से निकाल कर मेरा लौड़ा मुँह में ले लिया और पूरे जोश में चूसने लगी. असली कहानी यहीं से शुरू होती है क्योंकि मेरी बुआ जी की लड़की बचपन से ही मेरी दोस्त रही है. मैंने अंजान बनते हुए पूछा- मतलब भाबी?भाबी- अब लंड दिखा रहा है या वहीं आकर निक्कर के ऊपर से पकडूं इसे?मैं भाबी के बेड के करीब आ गया.

कभी कभी मन में एक अपराधी सी भावना पैदा होने लगती, एक बार लगता के मैं यह ना करूं … अंकल शादी शुदा हैं … आंटी को कैसा लगेगा … मम्मी पापा क्या सोचेंगे … पर जब भी फ़िल्म देखते वक्त हीरो हेरोइन को गले लगाने का सीन आता, तब हीरो के रूप में मुझे अंकल दिखाई देते और हीरोइन में मैं खुद को महसूस करने लगती. वो भी मुझे ऐसे देख रही थी मानो कह रही हो कि बस यही इच्छा थी तुम्हारी? तो पूरी कर लो अब. कुछ मिनट तक हमने उनके आने का इंतज़ार किया लेकिन वो लोग कहीं दिखाई नहीं दे रहे थे.

भाभी ने मेरा लिंग अपने हाथ में लेकर उसे अपनी योनि के ऊपर रखा तथा धक्का लगाने का इशारा किया. मैं और मेरे अब्बू दिखने में एक जैसे ही हैं।बात करीब चार माह पहले की है जब मैं, मेरी बीवी, मेरे अब्बू, मेरी अम्मी के साथ गाँव गये हुए थे। हम साल में तीन चार बार अपने गाँव जाते ही हैं. अब मैं तेजी से उसकी चूत मारने लगा और अचानक ही शान्ति की बुर ने पानी छोड़ दिया.

तेजी से उसकी चूत में जीभ को अंदर-बाहर करते हुए मैंने उस हसीना को फिर से गर्म कर दिया. मैंने चाची की तरफ लंड को हिलाते हुए कहा- क्या हुआ चाची?वो बोली- देव, तुम्हारा ये लंड तो किसी की भी चूत का भोसड़ा बना देगा.

साहिल- कहीं प्यार-व्यार का चक्कर तो नहीं?हीना- नहीं मामा, ऐसी कोई बात नहीं है.

ज़ायरा के बारे में क्या बताऊं दोस्तो … जब मैंने उसे पहली बार देखा, तो देखता ही रह गया.

इसी बीच नम्रता ने अपनी उंगली पर बहुत सारा थूक उड़ेला और फिर अपने चूत की मालिश उसी थूक से करने लगी. हम लोग उसे प्यार से बाबा बुलाते थे, क्योंकि उसके घर का नाम ऋषभ बाबा था. बदन मैं अजीब सी सुरसुरी हो रही थी और पहली बार चुत से कुछ बह रहा है, ऐसा अहसास हो रहा था.

जीतू ने मेरी कसी चूत को खोल दिया था और मेरी चूचियों को चाट चाट कर बहुत आराम से मुझे चोद रहा था. यात्रा बस संचालक के साथ मैं कई बार यात्रा कर चुका था इसलिए वो मुझसे आग्रह करने लगा. मैं सामने खड़ा होकर उनको निहारने लगा, तो वो शर्मा कर अपने हाथ से चेहरा छुपाने लगीं.

पर बुरा हो इस जवानी का इस निगोड़ी बुर का जो हमें इस रास्ते पर चलने को मजबूर कर देती है.

मैं उसके कमरे में जब सफाई करने गई तो वो अपने लैपटॉप में कुछ देख रहा था. संगीता हंस पड़ी और उसने अगले ही पल अपनी ब्रा उतार फेंकी और राहुल के हाथ अपने उरोजों पर रख दिए. दस मिनट तक चुची दबाने के बाद मैं अपना हाथ उसके पेट पे फिराने लगा और वो मचलने लगी.

मैंने उन एक सालों में जो मज़े किए, जो प्यार मुझे मिला, वो दिन मैं कभी भूल नहीं सकता. मैंने शर्ट को ठीक किया और जाने लगी तो अंकल ने वापस मुझे पीछे से पकड़ा- नीतू … एक बार फिर से पास आओ ना. धीरे-धीरे करके मैंने अपनी पूरी जीभ चुत के अन्दर डाल दी और चूत को पूरी शिद्दत से चाटने लगा.

इसके कुछ पल बाद ताऊ जी ने कोमल के टॉप को खोल दिया और तुरंत ही उसकी ब्रा को भी खोल दिया.

मेरी बुआ जी का लड़का मेरे साथ ही पढ़ता है और सरकारी नौकरी की तैयारी भी कर रहा है। नवप्रीत मेरी सबसे अच्छी सहेली है जो मेरे साथ मेरी ही कक्षा में पढ़ती है. चाची- आगे क्या प्लान बनाया है?मैं- अब तो आगे की पढ़ाई के लिए बैंगलोर जाने का सोचा है.

मुस्लिम बीएफ फिल्म आह्ह … बेजन्ता आंटी की चूत … आह्ह … आंटी के चूचे … ऐसी कल्पनाओं के साथ मैं लंड को लोअर के अंदर ही हिलाने लगा. मेरी शादी को दो साल हो गए थे और मैं और मेरी पत्नी रश्मि अपनी शादी की सालगिरह मना रहे थे.

मुस्लिम बीएफ फिल्म मतलब अगर मेरी दोस्ती उस घर के किसी मर्द से हुई, तो उस मर्द की इज्जत करते हुए वह खुद भी उस घर की औरतों को अपनी बहन बेटी जैसा समझेगा. पुष्पिका इस कहानी की मुख्य नायिका है।पुष्पिका की उम्र उस समय 21 वर्ष थी। उसका फिगर कयामत था.

उसको मैंने घोड़ी बनाकर पीछे से उसकी चूत में पूरा लंड एक बार में ही डाल दिया.

बीएफ सेक्सी अच्छी वाली

आपसे कभी दूर न होती, पता नहीं जब से मैंने आपको देखा है, आपका नशा मुझ पर हो गया है. उसको दर्द होने लगा तो वो बोली- आराम से करो साजिद… दर्द हो रहा है … आह्ह … उई …मैंने कहा- बस, कुछ नहीं होगा, मैं बिल्कुल आराम से तुम्हारी चूत में अपना लंड सेट कर दूंगा. पर नितिन थोड़ा शर्मीला था और कम पहल करता। नितिन मुझे लोगों के बीच छूता भी नहीं था.

छोटा साइज होने के कारण हुक बन्द नहीं हुआ तो मैंने उतार दी और 38 साइज पहना. दो-तीन चक्कर लगाने के बाद नम्रता बैठ गयी और फिर मुझे छत का चक्कर लगाने को बोली. वैसे वो बिल्कुल सुरक्षित जगह थी क्योंकि लोग लिफ़्ट ज़्यादा इस्तेमाल करते थे और हमने लाइट भी बुझाई हुई थीं.

अब जब राहुल को पैसे मिलने ही थे तो उसने भी काम को बखूबी से अंजाम देना शुरू किया.

”ये तो कोई बात न हुई?”कुछ नहीं, मैं यह सोच रही थी कि जब जवानी थी तो भगवान ने पति छीन लिया और अब बुढ़ापे में ऐसा शेर दे दिया है कि जान निकाल लेता है. मैंने अपने हाथ से ब्लाउज के हुक खोल दिए और ऊपर से ब्लाउज को निकाल फेंका. काफी देर तक चुम्बन के साथ साथ मैं उसके स्तन को भी दबा दबाकर उसका दूध निकालता रहा.

जिसे जो लगे, लगने दो।मैं उदास हो गया और डर भी रहा था तो भाभी हँसने लगी और बोली- जानेमन, घर में तेरे और मेरे अलावा कोई नहीं है. किरायेदार का परिवार जबसे हमारे घर में आया था, तब से मैं भाभी से कम बात करता था, ऐसा नहीं था कि मेरा उनसे बात करने का मन नहीं होता था, दिक्कत ये थी कि घर में सब होते थे इसलिए उनसे बात करने का मौका नहीं मिल पाता था. हमारे घर से आठ दस किलोमीटर दूर एक नया इण्डस्ट्रियल एरिया डेवलप हुआ था, चौड़ी चौड़ी नई सड़कें और दूर दूर तक कोई आदमी नहीं.

उस घर में मेरी शादी करवा कर आज वो भी पछता रहे हैं, पर मैं उन्हें खुश हूँ, ऐसे दिखा देती हूँ. क्या तुम मुझे कॉलेज से पिक कर सकते हो?मैंने उसे हां बोला और कार लेकर अपनी अदिति को लेने निकल गया.

धत् पागल … अच्छा ये बता कि तू घर में कितनी देर से है?”भाभी शायद जानना चाहती थी कि कहीं मैंने उसे नंगी तो नहीं देख लिया है. मैंने एक दिन पहले ही सभी सामान पैक कर लिया था जाने के लिए, तो दिन में दो बजे जयपुर से अपने पीहर के लिए मेरी कार लेकर निकल पड़ी अपनी पीहर की तरफ. फिर उन्होंने मुझे इशारों में कहा की यह डील जरूरी है, नहीं तो आपका यह नौकरी का आखिरी महीना हो सकता है.

मैं जिस दिन अपनी मौसी के घर आया, उसी दिन शाम को मेरी बहन भी वहां आ गई.

मैं ज्यादा तारीफ नहीं करता औरत की तो बस इतना बोला- जैसा आपने खुद को फोन पे बोला था आप वैसी ही हैं. मैं तो सोच रहा था कि पता नहीं भैया इस सेक्स की प्यासी भाभी के सामने कैसे टिक पाते होंगे. मैंने उनका नाम पूछा तो उन्होंने अपना नाम अक्षिता बताया और मैंने पूछा कि इस सुनसान जंगल में आप अकेली वो भी इतने बड़े घर में?तो उन्होंने मुस्कुरा कर कहा- ये मेरे पति के पुरखों की हवेली है और वो एक वन विभाग में अफसर हैं उनकी पोस्टिंग इसी जंगल में हो गयी तो हम यहाँ आ गये.

जीभ की नोक से मेरे लंड के छेद को सहलाती और गप से पूरा लंड मुँह में ले लेती. फिर उसने अपने लंड को मेरे चूचों के बीच में फंसा कर मेरे चूचों को चोदा.

ये सुन कर वो चुप हो गई फिर बोली- चाचू सॉरी, मेरे से गलती हो गई, अब नहीं होगा. एक बार मैं गर्मियों के दिनों में छोटी मौसी के यहां दस दिनों के लिए गया था और मेरी बहन भी उन दिनों वहीं पर थी. उसने कहा- इतना क्या देख रहे हो? वही हूँ पुरानी पूजा!मैंने कहा- मैं पूजा नाम की लड़की को जानता था, आज पूजा भाभी से मिल रहा हूँ।वो थोड़ा शरमा सी गई और बोली- चलो भी अब अंदर … या यहीं करोगे सब?और उसने आंख मार दी।उसने कहा- बैठो, मैं कॉफी बना लूं।कॉफी पीते हुए बातें हो रही थी तो उसने बताया- यार तेरी चुदाई के लिए तरस रही हूँ।मैंने कहा- इतनी तड़फ थी तो गुजरात बुला लेती.

सेक्सी हिंदी बीएफ चुदाई वाली

मैंने एक ही झटके में पूरा लंड अन्दर पेल दिया, जो उसकी बच्चेदानी पे जाके लगा, उसकी चीख निकल गई- रॉबी, धीरे प्लीज़ आह … आह … यस … मजा आ गया … चोद दे.

उसने एक साड़ी का पैकेट मुझे दिया और कहा कि मायके में कोई परेशानी तो नहीं होगी ना?मैंने कह दिया कि कोई परेशानी नहीं, मायके में मैं मेरी ज़िंदगी अपने हिसाब से जी सकती हूँ, शादी के बाद थोड़ी आज़ादी हो गयी है मायके में. मुझे भी अब ये खेल थोड़ा थोड़ा समझने आ रहा था, लेकिन नशे के वजह से मैं ज्यादा सोच नहीं रहा था. पहली बार में तो उसने मेरी बात नहीं मानी लेकिन मेरे बहुत समझाने के बाद फिर वह इस शादी के लिए तैयार हो गई.

फिर एक दिन भाभी का मैसेज आया कि उनके पति बाहर मीटिंग में जा रहे हैं, अगले दिन देर से ही लौटेंगे इसलिए उन्होंने मुझे रात 9 बजे के बाद तैयार रहने के लिए बोल दिया. सुबह मेरी नींद अपने समय पर खुल गयी और घड़ी की तरफ देखते हुए मैं जल्दी जल्दी तैयार होने लगा, क्योंकि स्कूल में नम्रता से मुलाकत होगी. खुल्लम खुल्ला बीएफफिर मैंने उससे पूछ ही लिया- तुम्हारी सेक्स लाइफ कैसी चल रही है?उसने बताया कि मेरे हस्बैंड को सेक्स में ज्यादा इंटरेस्ट नहीं है और वो सेक्स सिर्फ ड्यूटी के तौर पर करते हैं.

जैसे ही उसका सुपाड़ा मेरी बीवी की गांड में घुसा तो वो चीखने लगी उम्म्ह… अहह… हय… याह… लेकिन अजय ने अपना दबाव बनाना जारी रखा. तभी भाभी का मैसेज आया और उसने मैसेज के जरिये सीधे मुझे लिखा- तुम्हारा लंड का साइज काफी मस्त है.

आह उम्म्ह… अहह… हय… याह… आआह … करते हुए हम दोनों ही चुदाई का मजा लेने लगे. फिर दो मिनट बाद वो हुआ जिसने अंदर मेरे अंदर काम की ज्वाला एकदम से ही भड़का दी. मेरी चूत के पानी की गर्मी से उनके लंड का भी पानी निकलने को हो गया था.

मैंने कहा- कोई पाप नहीं है, मैं आपसे सच्चा प्यार करता हूं और आपके लिए कुछ भी कर सकता हूं. सबकी खुशी और मजे के लिए था। लेकिन मुझे डर था कि विक्रम मेरे और रीना के बारे में क्या सोचेगा? अगर विक्रम ने इसे सामान्य सामाजिक जीवन के नज़रिये से देखा तो उसका भाई और भाभी दोनों ही उसकी नजरों से गिर जाएंगे। किंतु मैं अब उसे क्या जवाब दूं. मैंने ध्यान से देखा कि उसने अन्दर ब्रा भी नहीं पहनी थी जिससे मुझे उसके कड़क निप्पल की नोकें ऊपर से ही साफ़ दिख रही थीं.

रीना- फिर एक दिन उन्होंने कंपनी की कोई डील बताई और मुझे साथ में शिमला चलने को कहा.

इसके बाद वह मेरे पास आकर खड़ी हो गयी और पूछा- कैसा लगा सरप्राइज़?मैं क्या बोलता … मैंने कहा- तुम्हें पहले बताना चाहिए था. फिर मैं ज्योति के टमाटर जैसे गालों पर किस करने लगा और उसे पूरे चेहरे पर चुम्बन किए.

दिन में तो पापा भी जॉब पर चले जाते हैं, किसी का कोई डर ही नहीं रह गया था. फिर मैंने देर न करते हुए लंड को उसकी चुत पर सैट किया और एक जोर का धक्का दे मारा. कोई 5 मिनट ऐसे ही पड़े रहने के बाद मैं उठा अपने सारे कपड़े उतार कर आंटी के पैरों के बीच में आ गया.

वैसे भी सीमा भाबी का फिगर नताशा भाबी जितना सेक्सी तो नहीं था, जिसे देख कर मेरा लंड भी सलामी दे दे. वो- जब सब कुछ देख लिया, तो क्या शर्माना … वैसे तुम भी तो सब देखना चाहते थे ना … अब जी भर के देख लो. ओह उसके कोमल हाथों का स्पर्श पाते ही मेरे भुजंग ने फुंफकारना शुरू कर दिया.

मुस्लिम बीएफ फिल्म फिर एक दिन हिम्मत करके मैंने उससे हैलो कहा … और फिर उसने भी हैलो बोला. मैंने सोचा कि भाभी को देखने का कल वाला समय ही सही रहेगा क्योंकि रात में जाने में खतरा था.

सेक्स करते सेक्स वीडियो

मैं मुस्कुरा दिया, फिर मैंने कहा कि नैना ऐसे बैठ के करने में तू थक जाएगी. मैंने वैसलीन उठाई और अपने लंड और उसकी गांड पर लगाकर उसकी गांड में लंड को पेल दिया. चूंकि दिल्ली में ट्रैफिक बहुत होता है इसलिए जितना टाइम दिल्ली से निकलने में लग जाता है उतने टाइम में तो आदमी चंढीगढ़ पहुंच जाता है.

मेरा खड़ा लंड देखकऱ वो हैरान हो गईं और बोलने लगीं- हाय रब्बा … तुहाडा किन्ना वड्डा ए जी. मैंने उसे एक हजार रुपये दे दिए और कहा- जब भी जरूरत हो, मांग लिया करो. सेक्सी नंगी चालूराधिका ने एक मिनट के लिए सोचा और फिर वो मेरे पास आकर मेरी जांघ पर बैठ गई.

डर और आशंका के मारे मेरा बुरा हाल था जैसे किसी पेशेंट को ऑपरेशन थिएटर में जाने के पहले होता है.

जब ऐसा दो-तीन बार हो चुका तो चाची मुझसे पूछने लगी- देव, तुम्हारा ध्यान कहाँ है?मैं- कुछ नहीं चाची, बस ऐसे ही!मैंने हड़बड़ाहट में जवाब दिया. और करन अगर सच में तुझसे प्यार करता होगा तो उसे इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ेगा कि तू कितनों से चुदी है। क्या उसने पूछा था कि तू वर्जिन क्यूँ नहीं है जब तुमने सेक्स किया था तो?उसकी बात सही थी … करन ने मुझसे कभी नहीं पूछा इस बारे में।मैंने कहा- नहीं, ऐसा तो कुछ नहीं पूछा उसने।तन्वी बोली- बस फिर … प्यार में ये सब मायने नहीं रखता, बस प्यार सच्चा होना चाहिए.

सेक्सी नंगी चालू. हम वासना की आग में सब कुछ भूल चुके थे कि हम कहां हैं और क्या कर रहे हैं. उसका फीगर लगभग 34-30-34 के आस-पास रहा होगा जिसको देख कर किसी बूढ़े लंड में भी जवानी का जोश भर जाये.

जब उसके हाथ में मेरे फुदकता हुआ लंड पकड़ में आ गया, तो रेखा उसे उमेठने लगी और मेरे चूचुक को दांतों से काटने लगी.

कुछ ही पल की चुसाई के बाद मैंने भी सारा पानी उसके मुंह में छोड़ दिया. मैंने कमल के लंड के बारे में सोच कर अपनी लुल्ली को सहलाना शुरू कर दिया. नेहा- कोई नहीं, मैं तुम्हारे लिए भी बना दूंगी, आ जाना खाने के लिए … मैं बुला लूंगी.

सेक्सी गर्ल सेक्स व्हिडीओमैं रजाई के अंदर ही था इसलिए मैं उसके लंड को अभी तक देख नहीं पाया था. तुम लड़कों का सही है, कुछ भी पहन लिया, हम औरतों और लड़कियों की फिटिंग का हमेशा प्रॉब्लम होता है, ब्लाउज का एक इंच भी कम ज्यादा हो गया तो दिक्कत हो जाती है।”चलो टीशर्ट ही सही है, यह भी काफी लंबा है.

एक्स एक्स एक्स वीडियो चोदा चोदी बीएफ

दीदी बोली- अब क्या होगा?तो मैंने कहा कि बाइक खींच कर पैदल ही चलना पड़ेगा. मैंने फिर दरवाजा बंद किया और ट्राउजर पहनने की कोशिश की, मगर ट्राउज़र मुझे फिट नहीं आया, बहुत लंबा था. चूंकि उस समय सर्दियां थीं, तो मैं और भाभी अलग अलग रज़ाई में लेटे थे.

माँ और पापा आगे बैठे हुए थे और काजल हम दोनों भाई-बहनों के बीच में थी. जब मैंने कोई हरकत नहीं की तो कमल ने खुद ही मेरा हाथ पकड़ कर अपने लंड पर मेरे हाथ से दबाव बनाना शुरू कर दिया. लेकिन मैं कुछ कर नहीं पाया, क्योंकि मैं अभी उन्हें किस का जबाव देने लायक स्थिति में नहीं था.

फिर मैंने धीरे-धीरे अपनी गति बढ़ाई और तेजी के साथ उसकी चूत की चुदाई करने लगा. सुनते ही बेबी उठी और मेरे लण्ड को चाट कर, चूस कर गीला कर दिया और लेट गई. गांव के पास पहुंच कर मैंने गाड़ी की लाइट बन्द की और धीमी स्पीड में घर पहुंच कर गाड़ी खड़ी की.

उन्होंने मेरे लंड का साइज़ पूछ लिया, तो मैंने बताया आठ इंच लम्बा है. मैंने मोबाइल एक तरफ किया और अपनी जीभ उस सुराख के अन्दर डालकर चलाने लगा.

”अईं … ऐसा कह रही थीं?”हां बिल्कुल ऐसा … साफ साफ!”चलो कोई बात नहीं, पड़ोसी हैं, सुन डालो.

जब भाभी ने मेरे कपड़े उतार दिए, तो मैं भाभी के साथ रज़ाई में आ गया और उनको बांहों में लेकर किस करने लगा. डब्लू डब्लू डॉट कॉम सनी लियोनवह शांत हो गया और दीवार के साथ सट कर हांफते हुए खुद को शांत करने लगा. बीएफ सेक्सी सनी लियोन के बीएफउसकी नंगी पीठ पे चूमते हुए मैं उससे चिपक गया और अपना लौड़ा उसकी चुत में पेल दिया. वहाँ से आने के बाद भी कभी होटल में तो कभी उनके फार्महाऊस में मेरी चुदाई होती रही.

उसने झटके से पैंटी को अपने मुँह से निकाल कर मेरा लौड़ा मुँह में ले लिया और पूरे जोश में चूसने लगी.

अन्तर्वासना के सभी पाठकों को मेरा नमस्कार! चूत की रानियों को मेरे लण्ड का प्यार भरा चुम्बन. मैंने भाभी के सिर को पकड़ लिया और अपनी गांड को उठा-उठा कर तेजी से अपने तने हुए लंड को भाभी के मुंह पर मारने लगा. अब वो मेरी माँ के सामने सिर्फ लुंगी में थे जो उन्होंने अगले ही पल निकाल कर अलग कर दी.

आपने मेरी पहली सेक्स कहानीमस्त गदरायी लड़की संग सेक्सी मस्तीपढ़ी होगी. भाभी के किचन में हमारी चुदाई की ‘फच्च … फच्च …’ की मधुर ध्वनि आ रही थी. वहीं उसके चूतड़ एकदम परफेक्ट शेप में पीछे को निकले हुए थे, जो खुद जैसे कह रहे थे कि आओ और हमको मसल दो.

बीएफ सरदार वाली

येलो कलर का लॉन्ग कुरता, उसके नीचे ऊंचा प्लाज़ो पैन्ट टाइप और बालों में फंसा धूप का चश्मा. मैंने पर्दे को थोड़ा खिसका कर अन्दर झांका, अन्दर झांकते ही मेरी गांड फट गई. तभी अचानक भाभी की आवाज़ आयी- राज खाना खा लिया तुमने?मैंने उठ कर पीछे देखा, तो भावना भाभी ब्लू साडी में खड़ी थी.

भाभी- अह्ह … अम्म … रोमी … और जोर से करो मेरे प्यारे … तुम्हारा लंड तो बहुत ही गर्म और मस्त है.

मेरे सामने ठीक वैसी ही लड़की खड़ी थी, जिसकी कल्पना मैं हमेशा मुठ मारते वक्त करता था.

बहुत देर लगा दी? कहाँ रह गयी थी?वो … संजीवनी आंटी?”कौन संजीवनी?”वो … सामने वाली बंगालन आंटी”ओह … क्या हुआ उसे?”हुआ तुछ नहीं”तो?”उसने मुझे लोक लिया था?”क्यों?” मेरी झुंझलाहट बढ़ती जा रही थी।वो … वो मुझे घल पल ताम तलने ता पूछ लही थी?”फिर?”मैंने मना तल दिया. भाभी गर्मागर्म सिसकारियां ले कर मज़ा ले रही थीं- आह … और चूसो … ओऊऊन … और जोर से यस यस … उईईई. सेक्स वीडियो बीएफजबकि उसके पति के लंड को तो उसको ही हाथों से हिला हिला कर खड़ा करना पड़ता है.

उसका फ़ोन 11:35 बजे आया और बोली- मैं धीरे से दरवाजा खोलती हूँ, आप धीरे-धीरे सीढ़ियों से ऊपर चले जाओ. मैंने भी पहली बार उसके लंड को इतने पास से देखा था … तो मैं भी लंड देखकर पगला गया. उन्होंने मुझे दिवाल से सटा दिया और अपने लंड को मेरी गांड की तरफ से मेरी ताजी फटी चुत में डालने लगे.

उसने मुझे बाहर आने को बोला और खुद अपने रूम की तरफ गया, बाहर बरामदे की लाइट ऑन की और रूम का ताला खोलने लगा. बाहर झमझमाती बारिश के शोर और कमरे में शमा की पीली झिलमिलाती रोशनी में मुझे वसुन्धरा की गोरी, पुष्ट जाँघों के ऊपरी सिरे पर छोटी सी डिज़ाईनर किसी हल्के रंग की पैंटी (गुलाबी या पीली) में बंद नारी के अन्तरंग और गुप्त अंग की झलक मिली.

आई मम्मी रे … मर गयी … मैं!” मेरे मुंह से चीत्कार निकली जिसे दबाने का उन्होंने कोई प्रयास नहीं किया.

मैं चूस-चूस कर उनके लंड को खड़ा करती हूं तब जाकर हमारे बीच में सेक्स होता है. कुछ देर बाद जब उसने बेड पर खून देखा, तो बोली- ये खून कहां से आया?मैंने उसको समझाया- येपहली बार सेक्सकरने के कारण निकला खून है, तुमने आज सेक्स किया है, तो आज तुम्हारी सील टूट गई है. मैंने बाथरूम के अन्दर खिड़की से झांकने की कोशिश की कि यह दरवाजा खुल क्यों नहीं रहा है.

बीएफ इंग्लिश वीडियो दिखाइए मैं बोला- अरे यार इतनी शर्मा क्यों रही हो … तुम्हें चोदने के लिए उतारा है. वे हर बात एक दूसरे से शेयर करते थे, यहाँ तक की पहली बार सेक्स भी एक दूसरे को बता कर किया था.

तभी मैंने मौका देख कर नैना को पलट दिया और अब मैं ऊपर और नैना मुँह में लंड लिए मेरे नीचे आ गई. कुछ देर यूं ही होता रहा फिर मेरी चूत एकदम से सिकुड़ गयी और उसने उनके लण्ड को बाहर धकेल दिया. सबसे पहले मैंने तौलिया हटाया, अपने नंगे बदन पर परफ्यूम लगाया और गुलाबी रंग की ब्रा और पेंटी पहनी, फिर गुलाबी रंग का पेटीकोट और ब्लाउज़, फिर मैंने गुलाबी रंग की साड़ी पहनी.

अनिता भाभी के सेक्सी वीडियो

उसकी बात सुन कर वो भी नीचे बैठ गया और मेरी चूत में जीभ डाल कर फिर से मेरी चूत को टंग फक करने लगा. तभी उसने मेरी तरफ पलट कर देखा, मैं उसकी गांड को मटकते हुए बड़ी ही वासना से देख रहा था. उसके गोरे हाथ को जब मेरी नजरों ने देख लिया तो मेरा अधसोया सा लंड टन्न से फिर तनकर उछल पड़ा.

वो मेरे पास आ के बैठ गईं और कहने लगीं- कल हमारे बीच जो कुछ भी हुआ, वो गलत था, तुम अभी छोटे हो. पहले बुरके के ऊपर से वो मेरी गांड दबाने लगा, फिर अन्दर हाथ डाल दिया.

इसी तरह आप लोगों का प्यार मिलता रहा, तो जल्द ही मैं मेरी अगली कहानी में बताउंगी कि किस तरह उसने और उसके दोस्त दोनों ने मिलकर मुझे रंडी बनाकर चोदा.

मैं मधु के पास जाकर उसके हाथ को अपने हाथ में लेकर बोला- अब बताओ क्या बोल रही थी?मधु- काश आप मेरे पति होते, मैं आपको जीवन भर बहुत प्यार करती. मुस्कान भी बहुत खुले विचार वाली लड़की थी, इसलिए मेरी और उसकी गहरी दोस्ती हो गई. हालांकि मुझे उसकी बहुत याद आने लगी थी और मैं उसकी यादों में ही खोया रहता.

भाभी भी मेरे लंड को ऊपर से हल्का हल्का सहला रही थी और मादक सिसकारियां ले रही थी- ऑईईई …तभी भाभी बोली- पहले दरवाजे को कड़ी लगा दो. मैं रोजाना रात को बाहर घूमता और सुमन भी अपनी बहनों के साथ घर के बाहर बैठ जाती थी. मैंने कभी भी उसे चुदाई की नजर से देखा ही नहीं था और कभी उसके नाम की मुठ भी नहीं मारी थी.

मैंने उसे कुछ देर ऐसे चोदने के बाद उसके बाएं पैर को उठा लिया और चोदने लगा.

मुस्लिम बीएफ फिल्म: मॉल में जाकर भी मुझे काजल से अकेले में बात करने के कुछ लम्हे नसीब हो ही गये. अब ऐसे ही कुछ दिन बीत गए, कभी कभी उससे व्हाट्सैप पर थोड़ी बहुत बात हो जाती.

उसने मेरे मुँह पर हाथ रखा और बोला- रितिका, मैं हूं सौरव!कहकर उसने हाथ हटा लिया।मैंने बिना मुड़े और बिना उसकी पकड़ से छूटे बिना ही कहा- ठीक है … लेकिन तुमने मुझे यहाँ बुलाया क्यों हैं और मुझे ऐसे क्यों पकड़ा हुआ है?वो बोला- मैं तुमसे बहुत प्यार करने लगा हूं. पेशाब की तेज़ और गर्म धार छूट गई, पेशाब के साथ साथ बॉस का वीर्य भी बाहर आ रहा था, गर्म गर्म पेशाब मेरी जांघों से होता हुआ नीचे गिर रहा था. बोली- नहीं, रूको नहीं भोसड़ी वाले, चीर दे इसी तरह मेरी गांड, बड़ा इठलाती थी … आह मेरे राजा आह.

मेरे मन में चोर था कि कहीं आंटी ने मेरे वीर्य से सनी हुई पेंटी को देख लिया और उनको पता लग गया कि मैंने बाथरूम में आकर कुछ गड़बड़ की है तो पता नहीं क्या होगा.

मेरी चूत की प्यास आज तक नहीं बुझी है अच्छी तरह से। एक तुम ही हो जो मेरी प्यास बुझा सकते हो. आह्ह आह आह आह्ह्ह … मर गई … साले भोसड़ी के जरा धीरे धीरे गांड मार न … मादरचोद … फाड़ कर ही मानेगा. अब मुझे एक पल के लिए लगा कि यार ये क्या हो गया एक ही बिस्तर पर सुमन भाभी के साथ कैसे लेटा जाएगा.