भोजपुरी एचडी सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी फिल्म बीएफ फिल्म बीएफ फिल्म

तस्वीर का शीर्षक ,

जबरदस्ती वाली बीएफ सेक्स: भोजपुरी एचडी सेक्सी बीएफ, सोनम अन्दर से आई और मुझसे बोली- बंध्या अब तुम चली जाओ, नहीं मम्मी कुछ बोले ना.

सेक्स बीएफ पिक्चर सेक्सी बीएफ

विलियम ने दोबारा से मेरी पैंटी के ऊपर से मेरी चूत को अपने हाथों में भर लिया. संजय दत्त बीएफबातों बातों में उसने बताया कि अगले दिन मेरा जन्मदिन है, पर मैं किसके साथ मनाऊंगी … हस्बैंड तो ड्यूटी पे है.

किस करते करते मैंने उसकी टांगों को खोला और उसकी गीली हो चुकी चुत पर अपना लंड रख दिया. चुदाई ब्लू फिल्म बीएफआह्ह … पूजा तेरे चूचे … ओह्ह पूजा नंगी … और ये गया पूजा की चूत में.

देखते ही देखते मेरे हाथ उसके स्तनों पर चले गये और उनका मर्दन करने लगे.भोजपुरी एचडी सेक्सी बीएफ: सुबह 7:00 बजे नींद टूटी तो मेरी महबूबा के आने की खुशी में मैं अलग ही तरह से झूम रहा था.

मम्मी ने कहा- आआह … अगर तुम मुझे पति की तरह सुख दे सकते हो तो … मुझे सुख दे दो … मुझे चोद दो.मैंने अपना मुँह उसकी टांगों के बीच में घुसाया और जोर जोर से उसकी चुत को चाटने लगा.

एक्स एन एक्स एक्स सेक्सी बीएफ - भोजपुरी एचडी सेक्सी बीएफ

इससे मम्मा के मुँह से कामुक सिसकारियां निकल रही थीं, जिनसे मैं और भी ज्यादा उत्तेजित होकर तेज़ सपीड से झटके दे रहा था.क्योंकि चाची ने अपने चूतड़ों को कुछ जुम्बिश देकर मेरे लंड को और अन्दर आने की जगह सी दी थी.

उसने झट से अपना हाथ मुझसे छुड़ाते हुए मेरे उस किस वाली जगह को अपने होंठों से लगा कर मेरे प्यार पर अपनी मुहर लगा दी. भोजपुरी एचडी सेक्सी बीएफ उस समय में पूरा नंगा था और फिर मैं बाहर खड़ी हुई चाची को देखकर एकदम हैरान रह गया, क्योंकि वो अपने एक हाथ से अपने मम्मों को दबा रही थीं और दूसरे हाथ से अपनी चूत में उंगली कर रही थीं.

मोनी का पति बहुत अधिक शराब पीता था जिसकी वजह से वो कुछ करने की बजाय सो जाता होगा और वैसे भी मोनी अपने पति के साथ इतना रहती भी तो नहीं थी, तभी तो मोनी को अभी तक कोई बच्चा नहीं हुआ था … उसकी शादी को दो साल से भी ज्यादा का समय हो गया था मगर अभी तक उसको कोई बच्चा नहीं था.

भोजपुरी एचडी सेक्सी बीएफ?

मैंने उसको सहज करने के लिए उसके होंठों को फिर से चूसना शुरू कर दिया. जब भाई तो यह सब बताया तो उसने मुझे 3-4 और वैसे ही मॅगज़ीन दी और साथ में कुछ चुदाई वाली कहानियाँ भी दी जिनको मैंने आरती को देते हुए कहा- तुम आराम से देखो और पढ़ो. अगले साल से कॉलेज का मैनेजमेंट इस कोर्स के बैच बढ़ाना चाहता था, शायद इसीलिए ये सब सुविधाएं दी जा रही थीं.

मैं मम्मा के नाम की मुठ मारकर खुद को मम्मा के साथ कुछ भी करने से रोक लेता था लेकिन ऐसा कब तक करता. मैं- ह्म्म्म …मैं- कॉटन का कपड़ा है यहां?कल्पना ने मुझे एक रूमाल दे दिया. मैंने उसकी आंखों में देखते हुए कहा- पीरियडस तो एवरी मन्थस होता है? तो क्या आपने इस पीरियडस के वजह से छुट्टी ली?वो- नहीं पीरियडस के वजह से नहीं, घर में कुछ फंक्शन था, जिसके वजह से मुझे छुट्टी लेनी पड़ी.

फिर उसने मेरा लौड़ा चाट चाट कर साफ कर दिया और मेरे लौड़े पर एक चुंबन भी रख दिया. बुर के निचले छेद वाला हिस्से से थोड़ा थोड़ा हल्का सफेद पानी निकल रहा था. पहले तो मेरी तरफ देख कर कल्पना मुस्कुराईं, फिर छत की तरफ देखते हुए कहने लगीं- नीचे …मैंने अनजान बनते हुए कहा- पेट पर या नाभि पर?इस बार उन्होंने मेरी तरफ गुस्से से देखा और छत की तरफ देखते हुए कहा- पेट और नाभि से थोड़ा और नीचे.

कार में घर जाते वक्त या उसके घर में कुछ वक्त रुकने के समय वो जब तब मुझे टच कर देती थी. पर जैसे ही मेरा हाथ मेरी साड़ी के अन्दर घुसा, चुत पर उगे हुए हल्के हल्के बालों ने मेरा रास्ता रोक दिया.

दस मिनट तक मैंने अंजलि को किस किया और उसके मादक जिस्म से खेला, तो मुझे लगने लगा कि मैं तो जन्नत में आ गया.

एक दिन किसी काम के चलते मैंने उससे उसका मोबाइल नंबर मागा, उसने तुरंत अपना नंबर मुझे दे दिया.

जब भी वो बहुत चुदासी होती है, उसकी चुत में जब ज्यादा खुजली होती है, तो वो मेरा लंड ऐसे ही जोर जोर से चूसती है. टेस्ट करने वाली लड़की ने अपने गोरे-गोरे नर्म हाथों को मेरे लण्ड पर कई बार फेर कर देखा तो उसके स्पर्श से मेरा लण्ड और तन गया. मतलब मेरे लंड की खालपर छोटे छोटे फुंसी सी दिख रही थीं, जैसे चेहरे पर दाने से आ जाते हैं.

उन्होंने अपनी आंखें बंद कर लीं और सोफे पर एक साइड सर टिका कर पैर दबवाने लगीं. वैसे तो मैं पढ़ाई में भी बहुत अच्छा हूँ पर सेक्स के बारे में भी सब कुछ जानता हूँ. मैं कोई भी जल्दबाजी करने के मूड में नहीं था इसलिए ना मैंने उनका मोबाइल नंबर मांगा, ना ही कोई सोशल आईडी मांगी.

दोस्तो, हरियाणा की जाटनी की चुदाई की मेरी सेक्स कहानी कैसी लगी, मेल करके जरूर बताना.

मेरा लिंग वसुन्धरा की योनि में करीब डेढ़ इंच प्रवेश कर चुका था कि वहीं अटक गया. मैं बोली- आशीष तू बहुत बड़ा कुत्ता गांडू है … और जोर से मार मेरी चुत … पूरा लंड अन्दर घुसा भोसड़ी के … आशीष और तेज चोद … चोद आशीष … अहहभ ऊंहह आशीष और अन्दर लंड डाल उंहहह और जमकर चोद आशीष!मैं उसके नाम की माला जपने लगी और उसके जीभ को मैं अपने होंठों से निकाल कर चूसने लगी. लंड का सुपारा गांड में घुस गया तो मेरी प्यारी बीवी ने दोनों हाथ मेरे सीने पर रखकर अपनी गांड नीचे दबाकर मेरा पूरा लंड अपने गांड में घुसवा लिया.

हम हर रोज तो चुदाई करके ही सोते हैं, लेकिन रात में हमारी चुदाई नहीं हो सकी थी. इसी ख्याल से ही मैं रोमांचित हो गई, इसीलिए चुत पर सिर्फ हाथ रखने से ही चुत ने पानी छोड़ दिया. उन सभी को आगे आने वाले किसी स्टेशन पर उतरना था, जिस वजह से उन सभी ने शाम से ही अपने बिस्तर जमा लिए थे और वे सब सो गए थे.

मेरे मुंह से आह के पीछे आह के पीछे आह निकली और लौड़े से वीर्य का ढेर झड़ता हुआ रानी की चूत में चला गया.

बहुत दिनों के बाद मेरी आग उगलती चूत को ऐसा ठंडे पानी का झरना मिलने वाला था मैंने तो अनुमान भी नहीं लगाया था इसका. बाद में कल्पना ने बताया कि नेक्स्ट टाइम वो अपना अधूरी फैंटसी पूरा करना चाहेंगी.

भोजपुरी एचडी सेक्सी बीएफ जैसे ही मैं अपना लिंग, अपने लिंग-मुण्ड तक उसकी योनि से बाहर खींचता, वसुन्धरा अपनी कमर को ख़म दे कर थोड़ा पीछे ले जाती. शारदा चाची- सब जानती हूं मैं, चलो जाकर धर्मशाला में व्यवस्था देखो और अपने चाचा का हाथ बटाओ.

भोजपुरी एचडी सेक्सी बीएफ मैं उस धक्के से जोर से कराह उठी और बोल पड़ी- ओह माँ … सरदार जी इतनी जोर न मारो … बच्चेदानी तक जा रहा है. मैंने एक दो बार देखा था कि पापा मम्मी को दारु के नशे में बुरी तरह से चोदते हैं और यह बुरी तरह से चोदना ही मम्मी को बहुत अच्छा लगता है.

उसके चेहरे पर संतुष्टि का भाव था।यह कहानी तीसरे भाग में जारी रहेगी। आशा करता हूँ कि मेरी बहन के साथ आपको मेरी यह कामुक कहानी पसंद आ रही होगी.

सेक्सी वीडियो हिंदी भाषा सेक्सी

अब तक मेरा लंड भी पूरा तन चुका था जो उसकी गांड को ऊपर से ही महसूस होने लगा था. इतना कहकर सरिता मेरे होंठ चूसने लगी और नीचे हाथ डालकर मेरा लंड पकड़ कर अपनी चूत की दरार में रगड़ने लगी. कल्पना- पैरों की सिकाई करोगे आप?मैं- अगर दर्द पैरों में है, तो पैरों की ही सिकाई कर दूंगा.

उसकी चूत पर हल्के हल्के बाल थे, मैंने उसकी चुत को बड़े मजे से चूसा और फिर उसको अलग कर दिया. ऐसे में जब नीचे जोर से पटेल मेरी चुत चाटना शुरू रखा, तो मेरी चुत में कुछ हरकत सी होने लगी और अब मेरे बदन में आज पहली बार एक नई फीलिंग आई. जीजू का लंड पिस्टन की तरह मेरी चूत में भीतर बाहर भीतर बाहर हो रहा था.

मैं धीरे धीरे उसके करीब जाने लगा और उससे बात करने की कोशिश करने लगा.

एक काम करो पहले मुझे चोद लो ताकि वह चुदाई देख कर अच्छे से गर्म हो जाए और फ़िर वह अपने आप करने को कहेगी. तीन मर्दों से एक साथ चुदने में इतना मजा हो सकता है मैंने कभी सोचा नहीं था. वहां मुझे एक तीस बत्तीस के सज्जन दिखे, वे मुझे ध्यान से देख रहे थे.

वो बोला- मैं तुम्हारे बिना नहीं जी पाऊंगा और मैं तुम्हीं से शादी करूंगा. कभी हम उनको तो कभी अपने घर को देखते हैं!जूली शरमाते हुए बोली- अंदर आने के लिए नहीं बोलोगे?मैंने कहा- सॉरी … अंदर आ जाओ! आज तक तुम इतनी सुन्दर नहीं लगी. लंड बाहर निकलते ही वो बुरा से मुँह बना कर बोली- अंकल ये आपने क्या कर दिया … आपने तो मेरे मुँह में ही सुसु कर दिया.

मेरे परिवार में मैं, मेरे पापा और मेरी मां, मेरे बड़े भैया, भाभी और एक बहन भी है जिसकी शादी हो गई है. मैं भाभी की तरफ से हरी झंड़ी पाकर एकदम खुश हो गया और उन्हें झट से पकड़ कर वहीं सोफे पर किस करने लगा.

वह हटने लगी तो मैंने कहा- बस मैं ज्यादा कुछ नहीं करूंगा, सिर्फ ऊपर से ही चूत पर रगड़ दूंगा. तभी साली बोली- जीजू नहाने जा रहे हैं क्या?मैंने कहा- हां, तेरी दीदी का वेट कर रहा था. जैसे ही वह बेड से उठी, वीर्य उसकी चूत से निकल कर उसके दोनों पटों पर बहने लगा.

उसने मुझे नहीं देखा चूंकि शाम का अंधेरा गहरा चुका था और मैं चारपाई पर लेटा था.

बहुत दिनों से तमन्ना थी एक बार इशहाक भाई से गांड मरवाने की, वे बड़ी मुश्किल से मेरी मारने के लिए तैयार हुए थे. तभी उसी के नीचे एक वीडियो की लिंक दिखने लगी जिसमें सुहागरात की बात लिखी थी. मैंने हल्के से अपने लंड को उसकी गांड की दरार पर ऊपर नीचे फिराना शुरू किया.

लेडी डॉक्टर, जो मेरी स्कूल की क्लासमेट थी, से बात की तो वो बोली- चूंकि लंड की नसें खड़े रहते समय दबी लगती हैं इसलिए ये बैठ नहीं रहा है बाकी तो पूरी गहन जांच के बाद ही कुछ कहा जा सकता है. दिशा मेरे पास आई और मैंने उसे अपनी गोद में उल्टा बैठाकर उसके मम्मे दबाने लगा.

एक बात की ख़ुशी है मुझे कि आशा भाभी के मुकाबले मैं ज्यादा बड़ा, ज्यादा मोटा और ज्यादा काला लंड चूसती भी हूँ और अपनी चूत और गांड में लेती भी हूँ. राधिका और दिशा को ब्रा पेंटी में देखा कर सोनल ने भी अपना लंहगा निकाल दिया अब वो भी ब्रा पेंटी में मेरे सामने थी. वो इस बार का मेरा हमला बर्दाश्त नहीं कर पाई … औऱ अपने होंठ मेरे होंठों से छुड़वाकर वो चिल्ला उठी- आई मां … आई अअअअअ … मर गई मैं … बस निकालो … उम्म्ह… अहह… हय… याह… जल्दी निकालो प्लीज.

पोरींचे सेक्सी व्हिडीओ

उसकी मुनिया का रंग हल्का सांवला था पर बिल्कुल छोटी सी प्यारी सी चूत थी.

अपने काम के सिलसिले में मैं चंडीगढ़, जालंधर, अमृतसर, हिसार, दिल्ली तक आता-जाता रहता हूं. गरम भाभी बस सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे चलती बस में एक देसी भाभी और एक गोरे टूरिस्ट की आपस में सेटिंग हुई. उसके लंड के मुंह पर पानी लगा हुआ था जो उसके सुपारे पर चिकनाहट पैदा कर रहा था.

तू खुद ही चली आई, वो भी ऐसा मौका दे दिया कि मैं अपनी इच्छा पूरी कर लूं. फिर उसने मेरा लण्ड पकड़ कर बुर के छेद में लगा दिया और बोली- राजा, अब तो अन्दर घुसा दो. हिंदी में सेक्सी बीएफ नई!!! ” एक गगनभेदी चीख़ वसुन्धरा के मुंह से फ़ूट पड़ी और वसुन्धरा मुझे अपने ऊपर से हटाने के लिए संघर्षरत हो उठी.

उसके बाद मैंने श्वेता को शुभी के ऊपर पेट के बल लेटा दिया और श्वेता की चूत मेरे लंड की तरफ आ गई. कल्पना- ह्म्म्म, बाकी का तो पता नहीं, पर तुमने मुझे पूरी तरह से खुश कर दिया.

अपनी बहन की चूत में उंगली डाली मैंने तो वो मचल उठी- आआ अहह!मैंने प्रिया की चूत को जीभ से चाटा … बहुत नमकीन थी. कल जब मैं तुम्हें प्यार कर रहा था तो तुम्हें मजा नहीं आया क्या?वह बोली- हाँ, आया तो था. वो भी मेरा पूरा साथ दे रही थी। आँखें बंद करके होंठ चुसाई का मजा ले रही थी। वो इतने उत्तेजक तरीके से मेरा होंठ चूस रही थी कि मैं रोमांचित हो गया था.

फिर वो उठ कर मेरे ऊपर आ गया और मुझे अपनी बांहों में कस के जकड़ लिया और एक हाथ से लंड को चुत में सेट किया. उसके बाद मैंने खुद को और कल्पना ने अपने आपको अच्छे से साफ किया और हम दोनों कपड़े पहन कर तैयार हो गए. अब उसने धीरे धीरे नीचे झुक कर साड़ी को कमर तक ऊंची करके अपनी चूत की दर्शन करवाए.

यूं ही दिन बीतते गए और मेरा आकर्षण बढ़ता ही जा रहा था और शायद आग उधर भी लगी थी, क्योंकि जितनी तवज्जो वो मुझे देती थी, किसी और को नहीं देती थी.

मादक सीत्कारें भरते हुए अपने दांतों को भींच कर और चूतड़ों को उचकाते हुए वो झड़ने लगी. बात करते करते मैं श्वेता को किस करने लगा और शर्ट के ऊपर से उसकी चूचियाँ दबाने लगा जिसे देखकर शुभी हंसने लगी और बोली- तुम लोग बेशर्म हो.

वह मेरी तरफ पलटना चाहती थी मगर मैंने उसको अपनी बांहों में जकड़ रखा था. उस दिन ज्यादा समय न मिलने की वजह से मैं उसे उसके घर के पास ड्रॉप कर आया. उस समय मेरा दिल जोर-जोर से धड़क रहा था क्योंकि ऐसा हसीन नजारा मैंने पहली बार देखा था.

मैं तो वसुन्धरा के ऊपर से क्या उठता पर इस ज़ोर-आज़माईश में मेरे होंठों की पकड़ से वसुन्धरा के दोनों होंठ छूट गए. मैं धीरे-धीरे उसकी चूत पर अपना लंड रगड़ने लगा और उसको जल्दी ही मजा आने लगा. फिर उसने मुझे वहीं बस स्टैंड के पास सवेरा होटल के नीचे पहुंचा दिया, वहीं पर मेरी सहेली नीलू मिल गई.

भोजपुरी एचडी सेक्सी बीएफ उस दिन के बाद भी हमें कई मौके मिले जब मेरी चूत की कुटाई हुई, एक दो बार तो सुबह सवेरे मोर्निंग वाक पर पेड़ से टिक कर चुदी मैं!कहानी जारी रहेगी. कल तो रात भर छोड़ नहीं रहे थे, अब मैं यहाँ रुक भी नहीं सकती?मैंने उससे कहा- मुझे कोई एतराज़ नहीं है, परन्तु तुम्हारे रहते, तुम्हारी बहन के साथ मैं कुछ कर नहीं पाऊंगा.

बिहार का सेक्सी साड़ी वाली

उस रात की चुदाई के बाद माया मुझे जानू बोलने लगी, लेकिन सबके सामने जानू नहीं बोल सकती थी, तो उसने मेरा नाम जॉन रख दिया. मैंने कहा- क्या घुसा दूँ?वो बोली- अपना लण्ड मेरी बुर में घुसा कर फाड़ दो. खैर, हम दोनों में यह सब बातें हुईं और कुछ देर बाद नफीसा भाभी वहाँ से चली गईं.

उनसे बात करके पता चला कि वो एक 29 साल के मर्द थे और मुझसे बहुत ही अच्छे से बातें कर रहे थे. मेरे हाथ पकड़े, ये सब इतना जल्दी हुआ कि मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था. बीएफ चोदा चोदी बीएफ चोदासाथ ही वो अपने दांतों से मेरा कभी गाल पकड़ रही थीं तो कभी कान काट रही थीं.

दोस्तो, मैं अंतर्वासना का पुराना पाठक हूँ और इस साइट की कहानियाँ पढ़ता रहता हूँ.

हम दोनों कॉलेज पहुंचे, तो मेरे दोस्तों ने पूछा- यह कौन है?मैंने कहा- यह मेरी गर्लफ्रेंड है. अब मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ जमाए और हल्के हाथ से उसके चुचे को दबाना शुरू कर दिया.

मेरी पैंट पर हाथ ले जाकर उसने मेरे लंड को टटोला और उस पर हाथ रख कर रगड़ते हुए मुझे चूमती रही. अरे यार, पर ये तो बता कि अगर मैं प्रेग्नेंट हो गयी तो?”तू उसका टेंशन मत ले. वो अकेला है, उसको कोई परेशानी ना हो, इसलिए में उसके पास रुक जाऊंगी.

मुझे लगने लगा कि भाभी तो चुदने को तैयार हैं, बस मुझे ही हिम्मत करके भाभी को चोदना है.

पिंकी कसमसा उठी- सर … प्लीज़!”करो ना … तुम आराम से पेपर करो … मैं तुम्हारे लिए ही तो बैठा हूँ यहाँ … चिंता की कोई बात नहीं!” सर ने उसको याद दिलाने की कोशिश की कि वो हम पर कितना ‘बड़ा’ अहसान कर रहे हैं. कुछ पांच मिनट तक मैं उसके होंठों को चूस चूस कर खाने के बाद उसे नंगी करने लगा. अब मैंने अपने हाथ आगे करके उनके मम्मों को ज़ोर से दबा दिया तो उन्होंने मेरे हाथों को दूर हटाकर चादर से बाहर निकाल दिया.

इंडियन सेक्सी बीएफ हिंदी वीडियोफिर हमने बैठ के पढ़ाई और दूसरी इधर की बातें की … और इसके बाद मैं घर लौट गयी. अब जब कभी मौसी बाथरूम जातीं या पेशाब करने जातीं या फिर कपड़े बदलने जातीं, मैं भी उनके पीछे पीछे दरवाजे के छेद से उन्हें देखने लगता.

सेक्सी देसी वीडियो चुदाई

मैंने पूछा- क्या हुआ बाबू?उसकी नजर मेरे लंड पर रुक गई थी और आंखें फाड़ कर उसे देखे जा रही थी. मैंने आंटी को दिलासा दी, उनको समझाया और कहा कि आपको किसी भी समय कोई जरूरत हो तो आप मुझे अपने बेटे की तरह समझकर बुला सकती हैं. चाची ने भी एक स्लीबलैस मैक्सी पहनी हुई थी, जो पानी से थोड़ी भीग गई थी.

कुछ देर बाद मैंने उससे कहा- थोड़ी देर के लिए मेरे घर पर चलो, फिर तुम अपने घर चली जाना. उसको मेरे लंड का साइज बहुत अच्छा लगता था और मुझे वो पूरी की पूरी काफी मस्त माल लगती थी. उसने मेरी चुत को हाथ से सहलाया और चुत के नीचे से अपना हाथ डाल के मेरी गांड तक ले गया.

उसके बड़े बड़े बूब्स देखकर मेरे मन में भी चुदाई का कीड़ा कुलबुलाने लगा. अब तो मुझे यह डर सताये जा रहा था कि कहीं मैं खुद ही भूखे भेड़िये की तरह वसुंधरा पर टूट ना पडूँ. अगले ही पल मैंने उसकी शर्ट के सारे बटनों को खोल दिया और उसके एक चुचे को अपने मुँह में ले लिया.

तो उसने हम दोनों से पूछा कि कुछ दिक्कत है क्या?मिनी ने ही उसे समझाया कि कोई दिक्कत नहीं है, बस हम लोग एक दूसरे को समझ रहे हैं. मैंने पूछा- कैसी अधूरी इच्छा?तो नम्रता बोली- जो मैं चाहती थी, वो मैंने अपने पति से बोला, लेकिन वो माने नहीं.

मुझे चरमसुख की प्राप्ति हो रही थी, मेरे मुँह से कामुक सिसकारियां निकल रही थीं.

उसकी ब्रा जैसे ही मैंने उतारी, मैं उसकी नीबू जैसी चुचियों को देख कर पागल हो गया था. सुहागरात बीएफ इंडियनउसके एप्रेन के बटन खुले ही थे, जिस वजह से मुझे उसके ब्लाउज के स्लीबलैस होने का अंदाजा हो गया था. बस्ती का बीएफबैचलर डिग्री लेने के बाद मैंने अपने इन्टरेस्ट के चलते एक कोर्स ज्वाइन किया, जो दो साल का था. होटल चुदाई कहानी में पढ़ें कि एक रिसोर्ट में दो कपल में बीवियों ने आपस में तय कर लिया कि वे आपस में अपने पति बदल कर चुदाई का मजा लेंगी.

ऐसा ही एक मेल मुझे मिला अजय का जो अपनी वाइफ के साथ पंजाब में रहता है, एक प्यारी सी बच्ची का बाप है.

वह बोली- तो फिर रोका किसने है?इतना कहते ही हम दोनों ने एक दूसरे के कपड़े उतारने शुरू कर दिये. इसके बाद मैंने अपनी गांड को हिलाया, तो मेरे पति ने अपना लंड मेरे चुत से बाहर निकाल दिया. रूपा ने इस पहली चुदाई में अब तक तीन बार पानी छोड़ दिया और मेरा भी पानी निकलने वाला हो गया था.

उसके बाद मैंने भाभी को सोफे पर बैठाया और खुद नीचे बैठ कर उसकी टांगों को ऊपर उठा दिया. थोड़ी देर तक जब मैंने कोई हरकत नहीं की, तो उन्होंने अपनी आंखें खोलीं. भाभी तिरछी नजरों से मुझे देख रही थीं, साथ साथ जब मैं भैंस को आवाज देते हुए सैट कर रहा था, तो भाभी मुस्कुरा रही थीं.

डॉग और लड़की की सेक्सी पिक्चर

जिस समय भी मौका मिलता, मैं उसकी चूत चाट कर उसे मजा देता और वो मेरा लंड चूस कर मुझे मजे करवाती. मेरी साली दौड़कर किचन में गयी और अपनी दीदी से बोली- दीदी जीजू नहाने को खड़े हैं. शारदा चाची – मैं गई … गई … गईई राजा … ओह बुर चोदू … देख मेरी बुर … पी मेरे पानी को, हाय पी जा इसे! ओह पी जा मेरी बुर से निकले रस को … सीईईई … भाई मेरे.

मैंने उसका हाथ पकड़ कर उसको कमरे से बाहर निकाल दिया और अपने बेड पर आकर लेट कर रोने लगी.

फ्लाइट में सारा ज़िद करके मेरे साथ हो चिपक कर बैठी और पूरी फ्लाइट में उसका हाथ मेरे लंड को दबाता सहलाता रहा.

रानी ने अब हाथ मेरी छाती पर जमा के उछल उछल के धक्के लगाने शुरू कर दिए थे. जैसे ही वो एकदम सीधी हो गयी, तो उसने मुझे देखा और अपने पैर फैला दिए. बीएफ ब्रदर एंड सिस्टरमेरे चूचे इस तरह तन गए थे कि लगने लगा था कि बस अब उनमें से दूध निकलने ही वाला है.

इस तरह से मैंने कैसे भी करके आशीष को समझाया और उसने मुझ पर बड़ी मुश्किल से भरोसा किया. आह … क्या मस्त नज़ारा था वो … गोरी गोरी जांघों के बीच गुलाबी कलर की पैंटी. मैंने उसकी आंखों में आंखें डाल कर इशारे से रिक्वेस्ट की और फिर धीरे से उसके गले लगते हुए उसके कान में ‘प्लीज’ बोलकर उसका लण्ड खाने के लिए मिन्नत करी.

वो चिल्लाई- अअअअअ मर गई बाबू हटो …मैं उसको हिलने भी नहीं दे रहा था. दीपक अंकल ने मुझे बांहों में जकड़ लिया, मैंने बहुत इंकार किया, पर वो नहीं माने.

मैंने कहा- चूस कर प्यार नहीं करोगी भाभी!भाभी तो जैसे लंड चूसने को मरी जा रही थीं.

मैं- फिर कहां दर्द कर रहा है?कल्पना ने झल्लाते हुए कहा- अभी थोड़ी देर पहले जहां आप मुँह मार रहे थे. ऊषा के साथ हुई घटना को केंद्र बनाकर मैंने अपने पति को मामी के सामने नंगा करवा दिया और मामी ने भी इसमें मेरा पूरा साथ दिया. सोनिया ने कहा- हां … पहले तो मुझे लगा था कि तू मेरा भाई है, तेरे साथ सेक्स कैसे करूंगी.

बीएफ डॉग लड़की मैं सोच में पड़ गयी कि यह लड़का आखिर गया तो गया कहाँ?हमारे घर की बगल में चाचा की छत जुड़ी हुई थी. मैंने कहा- क्या पूछ रहे थे?रोहन- वो बोले, यार अगर तेरी बीवी के साथ एक बार सेक्स करने को मिल जाए तो मजा आ जायेगा!मैं रोहन की तरफ देख रही थी.

वो जोर-जोर से सीत्कारने लगीं- हां आह आह मजा आ गया … औरजोर से चोदो मुझे… आंह और तेज और तेज़. जिन लोगों ने इस आसन में चुदाई की है उनको पता है कि इस आसन में चुदाई करने का अपना अलग ही मजा होता है. फिर उन्होंने सब कुछ जानते हुए भी तुम्हारी शादी ऐसे लड़के के साथ तय क्यों कर दी?सुषी ने बताया कि उसके माता-पिता ने लड़के की नौकरी को देखकर यह रिश्ता पक्का किया है.

ब्ल्यू फिल्म सेक्सी हिंदी

मैं उन दोनों को पहले से जानती थी लेकिन यह नहीं जानती थी कि वो आज घर पर आने वाले हैं. मैंने कहा- आगे आगे देखो, भाभी होता है क्या … आज मुझे अपने हथियार का उद्घाटन समारोह करना है. मैंने लण्ड पर थोड़ा और दबाव दिया तो लण्ड चूत की दीवार को चौड़ा करके अंदर घुसा.

उसने मेरी तरफ देखा और धीरे से अपनी जीभ मेरे गुलाबी नुकीले टोपे पर फेरी. दोस्तो, मैं अन्तर्वासना साईट पर हिंदी सेक्स कहानियां पिछले 2010 से पढ़ रहा हूं.

आख़िर में मैंने भी लास्ट झटके मार के नफीसा की चुत में माल निकाल दिया.

दोस्तो, मेरा शरीर भी अकड़ रहा था, मैंने तुरंत मम्मी के गुलाबी होंठों पर अपने होंठ रख दिए. मैंने उसके चूचों के निप्पलों को अपने दांतों में पकड़ कर काट लिया और उसकी जोर से एक कामुक सिसकारी निकल गई- उई मां … आह्ह् … मर गई. वो कुछ समझ पाती, इससे पहले ही मेरा हाथ उसके लोअर के अंदर डाल दिया!उसने अपनी चूत को किसी दूसरे मर्द से न छूने देने की एक कोशिश फिर से की किन्तु इस बार मेरा दांव अनुभव से किया गया था.

अमीषी भी पूरी मस्ती में अपने पैर मेरी कमर पर लेकर ‘अअअह अअअह अअअओह … आप पहले क्यों नहीं मिले … इतना मजा मुझको पहली बार मिला … अअअअअ ईईई ओईई … डालते रहो डालते रहो … फ़क मी फ़क मी. मैंने मोटा लंड अपने हाथ में पकड़ा और उसे उसकी चूत के छेद पर रख कर अन्दर धक्का दे मारा. मेरी चूत से खून निकलने लगा था जिसे देख कर पापा की खुशी का ठिकाना न रहा.

10 मिनट तक ऐसे से चोदने के बाद वो उठा और मुझे खींच के बिस्तर के बाहर ले गया मेरे होंठों को चूमते हुए उसने मेरे दोनों हाथ अपने गले में फंसा लिए और झटके से मेरे दोनों पैरो को पकड़ के उठा के अपनी कमर में फंसा लिए और लंड चुत में टिका कर एक बार में पूरा लंड अंदर पेल दिया.

भोजपुरी एचडी सेक्सी बीएफ: मैं तो चुदते हुए मन ही मन कहने लगी थी- आया नया उजाला, जबरदस्त धक्कों वाला … जमाई जी मेरी चूत को अपने लंड से घायल कर रहे थे और मैं उनके हथौड़े को पूरा मौका दे रही थी कि वह अंदर तक मेरी चूत की ठुकाई कर दे. मैंने उनसे ऊंची आवाज में पूछा- क्या हुआ चाची?उनके मोबाइल में कुछ समस्या आ गई थी, जिसे वो मुझे दिखाना चाहती थीं.

क्या बताऊं दोस्तो एकदम टाइट कड़क दूध, मक्खन जैसा बदन, मम्मी की चूत पर छोटे छोटे बाल, होंठ एकदम लाल, पेट अन्दर की तरफ ऐसा हल्का सा दबा हुआ मानो उर्वशी रौतेला का शरीर हो. शाम को मैं उसके घर पर पहुंच गया और उसने दरवाजा खोला तो मेरी नजर उससे हट ही नहीं पाई. मतलब अगर आपके नजरिए से बोलूं, तो उनमें हॉट जैसा कुछ नहीं था, परंतु मुझे तो अपना काम करना था.

जागृति मेम ने मेरी जींस का बटन खोला और चड्डी के अन्दर हाथ डाल कर लंड हिलाने लगीं.

पर साली ने मेरे नीचे आने में अब तक जितने नखरे किए थे … उससे मैं बहुत गुस्से में था. मैंने अपनी अधखुली नजरों से देखा तो डाक्टर की आंखों में और चेहरे पर कामुकता नजर आ रही थी. मैंने सोनू के दोनों चूचों को अपने हाथ से दबाया और एक झटके में पूरा लंड अंदर बैठा दिया.