हिंदी बीएफ चुदाई में

छवि स्रोत,मां चामुंडा

तस्वीर का शीर्षक ,

सुहागरात की देसी सेक्सी: हिंदी बीएफ चुदाई में, फिर जब मैंने थोड़ी सी जबरदस्ती दिखाई तो उसने अपना मुंह खोल दिया और मेरी जीभ को भी अपने मुंह में अंदर जाने का रास्ता दे दिया.

महिला खतना की फोटो

आज भी वो दोनों एक साथ होने या मौका मिलने पर खुल कर चुदाई या कई बार तो साड़ी ऊपर उठा कर फटाफट वाली चुदाई कर लेते हैं. देहाती सेक्स ब्लू पिक्चरउन्होंने आंखें बन्द की, मैं ऊपर की तरफ आकर उनके होंठों को चूमने लगा और बोला- अब आप अपना आंख खोलिए.

जैसे जैसे मौसी अपनी चूत में उंगली करती जातीं, वैसे वैसे मेरा लंड अकड़ने लगा. हिंदी में चोदा चोदी दिखाइएमेरा मन कर रहा था कि अभी पटक कर चोद डालूं साली को, लेकिन जोश में होश खोने से गड़बड़ हो सकती थी.

यह सुन कर रिया ने कहा- हां जी, आप भी आइए ना!मुझे तो रिया की बात पर हंसना आ रहा था.हिंदी बीएफ चुदाई में: पहले गले पर, फिर और भी नीचे और फिर उसकी उभरी हुई छाती पर चूमने लगा.

सिर्फ थोड़ी ऊपर सरकाऊँगा … नहीं तो तुम्हारे आमों की चुम्मी कैसे ले पाऊंगा?”अंकल ने मुझे निरुत्तर कर दिया और ऊपर से उन्होंने मेरे स्तनों को आम कहा था.ये लो सोनम … मेरी जान … मेरी रानी … ये ले मेरा लण्ड!”आह अंकल राजा … हां … ऐसे ही … फाड़ डालो इसे आज बहुत सताया है इसने मुझे … बस कुचल कर रख दो इस हरामन को!”तो ये ले गुड़िया रानी …” अंकल जी बोले और मेरे दोनों पैर उन्होंने अपने कन्धों पर रख लिए और दनादन चोदने लगे मुझे.

बच्चे को ऊपर का दूध कैसे पिलाना चाहिए - हिंदी बीएफ चुदाई में

उसके साथ मेरी सेटिंग कैसे हुई?नमस्कार दोस्तो, मैं देवराज शर्मा राजस्थान के हनुमानगढ़ जिले के एक छोटे से ग्राम से हूं.एक हाथ का अंगूठा पहले मेरी चूत में डालकर गीला कर लिया और फिर मेरी गांड में घुसा दिया.

तेरी फुद्दी के दर्शन किए बगैर नहीं जाने देता तुझे!तब मैंने एक हाथ उसकी कमर पर रखा और उसे अपनी तरफ खींचा. हिंदी बीएफ चुदाई में इस हॉट भाभी Xxx चुदाई कहानी के अगले भाग में सरिता भाभी की मजेदार चुदाई लिखूंगा.

स्टूल दिख तो मजबूत रहा था, पर जब मैं उस पर चढ़ा, तो वो काफी हिलने लगा, शायद उसके जोड़ पुराने हो गए थे.

हिंदी बीएफ चुदाई में?

उम्म्ह… अहह… हय… याह… वो दर्द के मारे रोने लग गयी, उसकी आंखों में आंसू और मुँह से झलकती पीड़ा से साफ पता लग रहा था कि बहुत डर रही है. रितेश ने मीरा की ब्रा उतार कर उसके भूरे निप्पल को पागलों की तरह चूसने लगा. नए पाठकों की जानकारी के लिए बता दूँ कि मेरा नाम राहुल श्रीवास्तव है.

मैं ऐसे ही एक हाथ से पीठ और दूसरे हाथ से उसकी गांड सहलाता रहा और उसे शांत होने दिया. जब मैं उसकी दोनों टांगों के बीच में आया तो उसने मेरा लन पकड़ कर अपनी फुद्दी पर सेट कर लिया. मगर उसकी बात सुन कर मैं पहले तो हैरान सा हुआ और फिर साथ ही खुश भी हो गया.

उसके बाद मैंने फिर से मैंने उसकी चूत से लंड को निकाला और उसकी गांड पर लगा दिया तो वह एकदम उठ गई और घूम गई. ऐसी चुत चुदाई में मुझे इतना मजा आया कि मेरी चुत ने दो बार पानी छोड़ दिया था. ’‘जी मैं समझी नहीं?’आंटी ने साड़ी खींच के मम्मी को नंगी कर दिया- चीज़ अच्छी है.

मुझे उनकी हवस देख कर समझ आ गया कि ये खेली खाई हैं और इस वक्त मेम को अपनी चुत में मेरा लंड चाहिए. हम जब पटना उतरे तो वहां से सीधे एक ऑटो पकड़कर अपने घर पर पहुंचे मतलब कि चाची के मायके में आ गए.

मैंने उनकी तरफ सवालिया निगाहों से देखा तो वो मुझे रुकने का इशारा करके चली गईं.

मैं थोड़ी ओट में थी तो उन दोनों ने ध्यान नहीं दिया और मैं पूरी फिल्म देखने लगी.

वो मस्त हो गई और बोली- बस रवि जो करना है … जल्दी करो … मुझसे रहा नहीं जाता. मैं उन्हें चूसते हुए उसकी चूत और जाँघों में सहलाते हुए उसकी लोवर को नीचे खिसकाता जा रहा था और आगे होने वाले कार्यक्रम के लिए जगह बना रहा था. फिर अचानक ही वसुन्धरा की योनि ने काम-ऱज़ की जम कर बौछार कर दी और इस के साथ ही उसकी आँखें उलट गयी और वसुन्धरा बेहोश सी हो गयी.

मैं उसे बोलती रही- और करो आशीष … मुझसे रहा नहीं जा रहा, प्लीज और चोदो मैं तुम्हारी चुदासी होने वाली बीवी हूं … घुसा दो अपना लौड़ा जोर से … ऐसे मुझे तड़पते हुए मत छोड़ो … नहीं तो मैं कहां जाऊंगी … क्या करूंगी … प्लीज आशीष चोदो … तुम्हारे पैर पड़ती हूं, हाथ जोड़ती हूं … मुझे मसल दो, मेरी तड़प मिटा दो डालो अपना लंड … और चोदो जमकर अपनी चुदक्कड़ बंध्या को. मुझे पता था कि एक बार अगर किसी औरत के बदन में आग लग जाए, तो लंड लिए बिना नहीं बुझती. अचानक हम दोनों के शरीर एकदम से कांपने लगे और जीजू ने पूरी ताकत से लंड को आखिरी बार मेरी चूत में धक्का मारा और मेरी चूत के अंदर ही अपने लंड से पिचकारी मारने लगे.

इससे पहले उनकी ट्रेनिंग होती रहती थी, जिसके लिए उन्हें आस पास में ही जाना होता था.

भाभी को सब मिनी बुलाते हैं तो अब मैं भी मिनी नाम से सेक्स कहानी को आगे बढ़ा रहा हूँ. उसकी चूत से कामरस बह रहा था, जिससे मेरा लंड पूरी तरह से गीला हो गया था. फिर उन्होंने सब कुछ जानते हुए भी तुम्हारी शादी ऐसे लड़के के साथ तय क्यों कर दी?सुषी ने बताया कि उसके माता-पिता ने लड़के की नौकरी को देखकर यह रिश्ता पक्का किया है.

हम दोनों मस्ती में पूरी तरह खो चुके थे और हम दोनों को बहुत मजा आ रहा था. मैंने कुनमुनाते हुए कहा- हां ठीक है, आप जाओ … अब मुझे बहुत तेज से नींद आ रही है. मैं आज आपके लिए एक गर्मागर्म ऐक्ट्रेस की चुदाई की हॉट बॉलीवुड सेक्स कहानी लेकर हाजिर हूँ.

फिर पूजा के चूतड़ फैला कर गांड में वैसलीन डालकर अपनी उंगली गांड में अन्दर बाहर करने लगा, जिससे पूजा की गांड चिकनाई से थोड़ी ढीली हो गई.

उसके हाव भाव से पता लग रहा था कि उससे बात करते हुए वो बहुत चहक रही थी. मुठ मारते हुए मुझे अपनी बहन की नमकीन जवानी और उसके भरे हुए दूध ही नजर आ रहे थे.

हिंदी बीएफ चुदाई में अब आगे:कुछ देर बाद मैं उस पर से हटा, गुलाबो की चुची फूल गई थी और उसके नर्म मुलायम बूब्स टाइट हो गए थे. फिर मैंने दिलिया की जम कर चुदाई की और उनको जन्नत की सैर कराई।मैं दिलिया के ओंठ चूस रहा था.

हिंदी बीएफ चुदाई में अरे अभी तो कह रही थी चोद दो!धीरे-धीरे शारदा चाची ने दर्द कम होने का नाटक करते हुए अपनी गांड को उछालते हुए अपने भाई के लंड को अपनी बुर में लेना शुरू कर दिया. उसकी बुर अभी भी टाईट थी, जिसके कारण रूपा फिर से बोलने लगी- दर्द हो रहा है भैया, प्लीज़ धीरे धीरे से चोदो.

सच बताऊं दोस्तो, इस हालत में अगर कोई भी हवस या फिर और नजरों से देखेगा, तो मैं उसको जानवर ही मानूँगा.

ब्लू सेक्सी पिक्चर फिल्म वीडियो

जिसके कारण मैं पूरी ताकत के साथ उसकी चूत में अपने लंड को धकेलने लगा. उसका तो मन रुककर आपसे मिलने का था, पर शादी की डेट भी नजदीक आ रही है और काम बहुत ज्यादा है. जब उसकी ब्रा के हुक तक पहुंच गया तो मैंने धीरे से उसका हुक खोल दिया और उसकी ब्रा को उसकी चूचियों से अलग कर दिया.

हर बार मेरा लिंग जैसे ही वसुन्धरा की योनि के दीर्घतम छोर को जाकर छूता, वसुन्धरा का मुंह भी इसी अनुपात में खुल जाता. com/teen-girls/hot-ladki-sex-kahani/सऊदी में रहने वाली एक लड़की को पढ़ने मिल गयी थी. उन्होंने मेरे को खड़ा किया और अन्दर वाले रूम में उठा कर ले जाने लगे.

मैं इस बार उसको अपने कमरे में ले जाकर तौलिया से पौंछ कर बुर में महलम लगाकर कर उसे लेटने के लिए कह दिया.

तो उसने मना कर दिया कि हट पगली इससे कुछ नहीं होता, फालतू हमारी ही बदनामी होगी … सब लोग हम दोनों पर हंसेंगे और घर से बाहर निकलना मुश्किल हो जाएगा. मैं नहीं चाहता था कि अजय मीना के सामने आये और अजय को देख मीना बिना चुदे ही चली जाए. मैंने अपनी मम्मा सौम्या के गले में मंगलसूत्र पहना दिया और उनकी मांग भर दी.

वे बोलीं- मैं भी देखूं क्या पढ़ता है तू?मम्मी ने नाइटी के ऊपर स्वेटर पहना हुआ था. जब पहले दिन उनके अंडरवियर के अंदर से ही चूत ने उनके टोपे के अहसास को महसूस किया था, मेरी हालत तो उसी पल से खराब होने लगी थी. मैं अपना लिंग-मुण्ड वहीं टिका छोड़ कर वसुन्धरा के जिस्म के ऊपरी भाग पर छा गया.

कुछ देर तक उसकी चूत को चाटने के बाद मैंने उसकी कमर के नीचे एक तकिया लगा दिया. फिर घस्से मारते मारते मैंने उसकी फुद्दी का दाना भी सहलाना जारी रखा.

जैसे ही मैं अपना लिंग, अपने लिंग-मुण्ड तक उसकी योनि से बाहर खींचता, वसुन्धरा अपनी कमर को ख़म दे कर थोड़ा पीछे ले जाती. मुझे पता था कि एक बार अगर किसी औरत के बदन में आग लग जाए, तो लंड लिए बिना नहीं बुझती. एक दिन किसी काम के चलते मैंने उससे उसका मोबाइल नंबर मागा, उसने तुरंत अपना नंबर मुझे दे दिया.

फिर एक दिन उन्होंने मुझे ऐसा कुछ ऐसा बताया कि मेरे पैरों तले से जमीन निकल गयी.

उन दिनों मैं छुट्टी में घर आया था तो मैं अपने घर की छत पर धूप में बैठा था. वो अंडकोष पर मलहम लगाते लगाते मेरी गांड के छेद पर अपनी उंगलियां ले जा रही थी. फिर अपने हाथ ऊपर ले जाकर मैंने उनके दोनों मम्मे पकड़ लिए और चूत का दाना, वो छोटा सा भागंकुर अपनी जीभ से टटोलने लगा.

मेरा शरीर अकड़ने लगा अपना पूरा जोर लगाकर लंड पूजा के गांड में जड़ तक घुसा दिया. मगर मैं कभी उसके ऊपर के होंठ को चूम रहा था तो कभी नीचे वाले होंठ को.

उसने दो तीन कलर्स की ब्रा उठाईं और मुझसे पूछने लगी कि इनमें से कौन सी वाली अच्छी है. वो अपना लंड मेरी चूत में डालने के लिए पोजीशन बदलने ही लगे थे कि मैंने अपने पैरों को सिकोड़ लिया. हम सबने कहा- हैप्पी बर्थडे!अंकल का तूफानी लौड़ा मेरी मम्मी की चूत में अन्दर तक घुस गया.

सेक्सी वीडियो की जानकारी

रात में निशा गुलाबी रंग वाली सिल्की शर्ट और पजामा पहन कर लेटी थी, वो बहुत प्यारी लग रही थी.

चूत में पानी भर जाने से मेरे पति का लंड मेरी नाजुक कोमल गुलाबी चुत में आसानी से अन्दर बाहर होने लगा था. थोड़ी देर के बाद मैं उसके ऊपर आ गया और उसकी टी-शर्ट और पिंक ब्रा भी खोल दी, फिर मैंने उसके लबों में लब डाल दिए और चूसने लगा और एक हाथ से उसके मम्मे दबाने लगा. ऐसे ही रोज भाभी आतीं, ऐसे ही देखतीं … वो कोई इशारा भी नहीं करतीं और ना ही मुस्करातीं.

कोई 20 मिनट के संभोग के बाद सुखबीर ने मुझसे पूछा- सारिका जी क्या आप झड़ने वाली हैं, अगर हों, तो मुझे बता देना. कुछ पल रुकने के बाद मैंने अपनी स्पीड थोड़ी तेज कर दी और जोर जोर से निशा की चुदाई करने लगा. மலையாள செக்ஸ் மூவிमैं जैसे जैसे नीचे को पेंटी सरकाता गया, वैसे वैसे उनकी चूत के आसपास का एरिया दिखना शुरू हो गया.

फिर मैंने उसकी पतली कमर से पकड़ कर उसे बेसिन पर बिठाया और सामने से उसकी चुत चोदने लगा. उस वक्त ऐसा लग रहा था कि मेरी बहन कितनी मादक है जो अपने भाई को इतना मजा दे रही है.

मेरे पति ने इस्त्री को बाजू में रखकर अपने दोनों हाथ मेरे गांड पर रख दिए और मेरे चूतड़ों को प्यार से मसलते हुए हाथ फेरने लगे. करीब 10 बजे जोन्स रूम में आया और तुरंत मुझे नंगी करके चुदाई चालू कर दी. फिर सरिता मेरा सर बाहर खींचकर बोली- हर्षद बस करो अब … और नहीं सह सकती मैं … अब डाल दो अपना लंड मेरी चूत में … आंह जल्दी से चोदो मुझे!मैं खड़ा हो गया और सरिता को जोर से अपनी बांहों में कसकर उसके होंठों को चूसने लगा.

वसुंधरा ने सारे हालात पर कुछ क्षण सोचा, फिर बोली- नया नाड़ा कहाँ से मिलेगा? नाड़ा कौन काटेगा? आप रिपेयर कर के मुझे लहंगा कितने समय में लौटायेंगे? मैं लहंगे के बिना कहाँ रहूंगी?”हे भगवान्! फिर से वही पुरानी सड़ियल वसुंधरा जागने क़ो थी. अगले दिन सुबह से ही मेरी चूत फुदकने लगी थी चुदने के लिए तो स्कूल जाने के टाइम मैं घर से निकल ली और शुरू के दो पीरियड टाइम पास करके निकल ली और सबकी नज़रों से बचते बचाते मैं अंकल जी के घर जा पहुंची. मैं भी थक गया था, पूजा की हालत तो बहुत ही खराब हो गई थी, अब मैं गांड की चुदाई खत्म करना चाहता था.

जितनी अंदर तक मैं अपनी जीभ उसमें डाल सकता था मैंने डालने की कोशिश की.

भाभी मेरे लंड पर हाथ ले जाकर उसे हिला रही थीं और दूसरा हाथ सर पर घुमा रही थीं. आपकी याद ताजा करने के लिए बता देता हूँ कि मेरी पहली गरम सेक्स कहानीसौतेली मां की चुदाई की लालसाआप सभी ने पढ़ी और सभी को बहुत पसंद आयी.

जब मैं उससे बहुत ज्यादा क्लोज हो गई, तो मालूम हुआ कि उसके भी बहुत ब्वॉयफ्रेंड थे. एक घंटे बाद हम दोनों फिर से चुदाई में लग गए और उस दिन मैंने अपनी बहन की 3 बार चुदाई की. उसकी नशीली आँखों में झाँक कर मैंने पूछा- क्या बात है, बड़ी बेचैन हो? तुम्हारे चूचे इतने उफान पर कम ही होते हैं.

ये वाकया करीब डेढ़ एक साल पुराना है, इसको मैंने अप्रैल में लिखना शुरू किया था मगर अपनी व्यस्तता के कारण पूरा नहीं कर पाया. वो हर चुदाई के बाद मुझे गर्भनिरोधक की गोली खिला देता था जिससे कुछ नहीं होता था. मैंने हंसते हुए उसे फिर से पकड़ लिया और उसके गले और उसके पूरे चेहरे पर किस करने लगा.

हिंदी बीएफ चुदाई में फिर मैंने उसके कान के नीचे से आते हुए अपने होंठों से उस भाग को चूमने लगा. गांव के एक डॉक्टर के पास भी सहेली के साथ गई, तो रास्ते में मैंने जब उसे बताया.

सेक्सी बीएफ व्हिडीओ

मैं उम्मीद करता हूँ कि मेरी बाकी कहानियों के जैसे ही आप सब इस कहानी को भी अपना प्यार देंगे. मगर असलियत तो यही है कि वो मेरी चूत का और मैं उसके लंड की दीवानी हूँ. मैंने उसे काफी बार वीडियोकॉल पर देखा था पर आज तो वो अलग ही रूप में थी.

आंटी ने मम्मी की चुचियां दबाईं और कहा- अच्छा मज़ा दिया तूने! अब मेरे पति से चुदवा ले. उसके बाद मैंने दूसरे मम्मे को दबाना शुरू किया और तुरंत ही मैंने अपने होंठों को उसके होंठों पर रखकर बहन को चूमने लगा. रायली रीडमैं बेडरूम में चला गया अन्दर का नजारा बहुत ही सेक्सी और लंड खड़ा कर देने वाला था.

कुछ दिन और लण्ड लेती रहोगी तो और भी ज्यादा निखार आ जाएगा क्योंकि जैसे ही कोई कुंवारी लड़की चुदवाने लग जाती है और चूत में लंड का रस पीने लग जाती है तो उसमें एक खास प्रकार के हार्मोन डेवलप होते हैं जिससे लड़की के रूप रंग पर अलग ही निखार आ जाता है.

जब भाई तो यह सब बताया तो उसने मुझे 3-4 और वैसे ही मॅगज़ीन दी और साथ में कुछ चुदाई वाली कहानियाँ भी दी जिनको मैंने आरती को देते हुए कहा- तुम आराम से देखो और पढ़ो. देसी कॉलेज सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरे दोस्त की बहन मेरे कमरे के पास ही कमरा लेकर रहती थी.

मैं अपनी गांड की खुजली खत्म करने के लिए किसी अजनबी लंड को ढूँढने लगा और एक गे साइट में जाकर मैंने फिर से एक नया अकाउंट बना लिया. उसने सारे रास्ते अपनी बाइक को ब्रेक मार मार कर पिंकी को अपनी पीठ से चिपकाने का कोई मौक़ा नहीं छोड़ा था. रिम्पी के मम्मी पापा दोनों लोग जॉब करते थे इसलिए वो बस अपने भाई से बचती थी.

अब मैंने उसकी गांड के छेद पर अपना लंड टिका कर हल्के से धक्का मारा, तो उसकी चीख निकल गयी.

रूम में घुसते ही मैंने उसे गले से लगा लिया और उसको काफी देर तक महसूस करता रहा. मैंने उसके बूब्स को दबाये और उसके निपल्स को अपनी जीभ से हिलाने लगा. इसके बाद तो चाची और मुझे एक दूसरे को चोदे बिना चैन ही नहीं मिलता था.

राजस्थान की नंगी वीडियोअंकल जी मेरे भीतर ही झड़ गए थे मुझे कुछ होगा तो नहीं ना?” मैंने चिंतित स्वर में पूछा. पहले मेरी छाती लगभग सपाट ही थी मगर मेरे भाई धीरज ने मेरे चने जैसे निप्पल को खींच खींच कर चूसना शुरू किया और वहाँ पर जोर ज़ोर से दबा कर वहाँ का मांस खींचता था जिसका परिणाम यह हुआ कि मेरे मम्में भी अब जोरशोर से निकलने लगे और जो दाना पहले चने के बराबर था अब किशमिश की तरह का बन गया.

तेलुगू बीएफ

मैंने उसे नीचे उतारा और कहा- क्या तुम ठीक हो … और सॉरी तुम्हें मैं गिरने से नहीं बचा पाया. लेकिन आशा भाभी की चूचियां मेरी चूचियों से बड़ी हैं, तुम इन पर कम ध्यान देते हो!राशि एक ही साँस में बोल गई. हमने दोनों ने ही साथ में खाना खाया और खाना खाकर फिर से टीवी देखने लग गए.

वह लगातार मेरे लंड को चूसती ही जा रही थी, शायद उसका मूड भी दोबारा बन गया था. कोई दो-तीन मिनट बाद वो चुपचाप मेरे पास आयी और कटोरी देते हुए बोली- लो दूध. अब निशा ने मेरे लोअर को नीचे कर दिया और मेरे लंड को पकड़ कर आगे पीछे करने लगी.

आंटी मेरी मम्मी को समझाकर मेरे पास बाहर आ गईं और बोलीं- तुम्हारी मम्मी एकदम घबराई हुई है, वो कांप भी रही है. मैंने भी खुद को पहनने के लिये साड़ी और ब्लाउज निकाला, उनको भी प्रेस करना जरूरी था. लंड पर हाथ जाते ही मेरी आंखों के सामने भावना के बड़े-बड़े चूचे उछलने लगे.

अब जब कभी मौसी बाथरूम जातीं या पेशाब करने जातीं या फिर कपड़े बदलने जातीं, मैं भी उनके पीछे पीछे दरवाजे के छेद से उन्हें देखने लगता. मैं उसके चूचों को और ज्यादा जोर से काटने लगा और बच्चे की तरह पीने लगा.

हाँ इतना जरूर था कि मेरे पहल करने पर उसने मुझे कभी मना भी नहीं किया। वो दिन में तो मुझसे दूर ही रहती थी मगर रात को चुपचाप मेरे पास पलंग पर ही आकर सो जाती थी।इस हफ्ते भर में वैसे तो मैंने मोनी के साथ सब कुछ किया मगर न जाने किस संकोच के कारण वो मुझसे खुल नहीं पाई.

मैं अपने शौहर के साथ सही से बात नहीं करती क्योंकि उसने मुझे कभी ऐसा एहसास ही नहीं दिया. सेक्सी वीडियो मोटा लंडमेरी आपा जो अब मेरी दुल्हन थी, उसकी चूत बुरी तरह से सूज चुकी थी लेकिन मेरा लण्ड तना हुआ खड़ा था. लिंग कैसे बड़ा करेंमैंने सोचने लगा कि अगर सफल हो गया, तो मौसी की चुत मिल जाएगी और अगर फेल हो गया था, तो देखा जाएगा. पम्मी आंटी ने भी, मैं गिर ना जाऊं, इसके डर से जल्दी से मेरे पैर पकड़ लिए.

हम दोनों कराह रहे थे ‘आआह ह ऊऊह्ह …’कुछ देर में वह फिर घूमी और अपनी पीठ मेरी ओर कर दी.

वो सिसकारियाँ भरने लगी- आअहह … आआहह … मम्म्मम … आआ आआआ … आआआ … अह्ह।चाची सिसकारते हुए बोल रही थी- ओह भाई, ऐसे ही, ऐसे ही अपनी दीदी की चूत चुदाई कर, हाँ-हाँ और जोर से, इसी तरह से ज़ोर-ज़ोर से धक्का लगाओ भाई, इसी प्रकार से चोदो. उसने कहा- तुम अपने दोस्त से मेरी बात कब करवा रहे हो?मैंने कह दिया- मेरा दोस्त अभी कहीं बाहर गया हुआ है. सलोनी- रियली? ऐसा क्या देखा आप ने मेरे में जो किसी ने नहीं देखा? और आपने देख लिया? आप झूठ बोल रहे हैं.

वह जल बिन मछली के जैसे तड़पने लगी और मेरा सर पकड़ कर अपने मम्मों पर दबाने लगी. ये मुझे इसलिए मालूम हो गया था क्योंकि मुझे कई बार बाथरूम में मूली और गाजर मिलती थी. इसी ख्याल से ही मैं रोमांचित हो गई, इसीलिए चुत पर सिर्फ हाथ रखने से ही चुत ने पानी छोड़ दिया.

वीडियो देसी सेक्स वीडियो

उनकी इस हरकत से मैं चकित हो गई, अब अंकल धीरे धीरे मेरी चुत सहलाने लगे. मैंने पूछा- आप कौन?तो भाभी ने अपना बताया- देवर जी मैं आपकी पड़ोस वाली भाभी बोल रही हूँ. अजय बोला- बस राज भाई, आज मेरा सपना साकार कर दो, बहुत तमन्ना है मेरी अपनी बीवी को किसी और से चुदवाते हुए देखने की! उसकी मस्त सिसकारियाँ सुनते हुए अपना लंड हिलाने का मेरा सपना आज पूरा कर दो.

इस बीच कई बार मैंने नम्रता से वही खेल दोहराने के लिये कहा, लेकिन वो साफ मना कर देती.

यही सब बोलते हुए कल्पना भाभी एक बार और झड़ गईं … और उनकी चूत भी धड़कने लगी.

मैंने सोनू के कान में पूछा- मजा आ रहा है?उसने कहा- हां, बहुत मजा आ रहा है, करते रहो. फिर मैं अपने होंठों से सरिता के दोनों मम्मों के आस-पास किस करने लगा और फिर दोनों दूध बारी बारी से चूसकर मैं उसके पेट पर अपनी जीभ फिराने लगा. मिया खलीफ़ामुझे पश्चाताप हुआ कि कोई ब्वॉयफ्रेंड बनाया होता, तो आज काम बन जाता.

मैंने कहा- तुमने पहले कभी सेक्स किया है?वह बोली- यह कैसा सवाल है?मैंने कहा- मैं तो बस ऐसे ही पूछ रहा था. चाची के घर में केवल तीन ही कमरे थे, जिसमें एक में छोटे चाचा चाची और उनका बेटा यानि मेरा छोटा भाई सोता था और दूसरे में ये दो बहनें सोती थीं. वह काफी माहिर थी चुदाई करवाने में और साथ में इस बात का भी ध्यान रख रही थी कि कहीं वह प्रेग्नेंट न हो जाए.

मैंने जिद करते हुए कहा- प्लीज अंकल मुझे आज ही सुनना है, प्लीज आप बताइए न. सहलाते समय उसका सेक्सी बदन भी हिल रहा था तो मेरा हाथ अब सीधे उसकी चुत पर लग रहा था, जिसे मैं हटा नहीं रहा था और वो भी मना नहीं कर रही थी.

मैंने भी डर का बहाना बनाते हुए आव देखना ना ताव … आंटी के कंधों को पीछे से पकड़ने के बहाने सामने की ओर ज़ोर से अपने आपको धकेला कि उनका मुँह अब सीधे मेरे लंड पर चला गया.

वो जैसे मेन डोर के अन्दर घुसीं, मैंने उन्हें आवाज़ दी और बाइक खड़ी करके गेट के पास चला गया. अंतर्वासना के सभी दोस्तों, भाभियों, आंटियों और लड़कियों को नमस्ते के साथ-साथ उनकी चूत को भी ढेर सारा प्यार और चूत में उंगली!मैं अन्तर्वासना का रेगुलर पाठक हूं. सरिता मेरे माथे पर अपने होंठों से किस करती हुई बोली- हर्षद, आज से हम दोनों पति पत्नी हैं.

होटल का सेक्स मैंने किसी तरह से उसको मनाया और वह संडे को सुबह 10:00 से 10:30 के बीच मेरे कमरे पर आने को राजी हो गई. तभी उसने पूछा- सेक्स किए हुए कितने दिन हो गए?मैंने इस बार बिंदास कहा- सात महीने हो गए हैं डाक्टर.

मैं उसके ऊपर 69 की स्थिति में लेट गया और उसकी चुत को चूसना शुरू कर दिया. तीसरी बार में उन्होंने मुझे बेड पर नीचे लटका कर चोदा और इस प्रकार उस रात चार बार पापा ने मेरी चूत को पेला. फिर मैं उसकी नाभि में गीली जीभ डालकर अन्दर बाहर करने लगा तो सरिता अपने दोनों हाथों से मेरा सर सहलाने लगी.

बीएफ वीडियो सोंग लिरिक्स २ २०१७ डाउनलोड

भाभी के मम्मों पर हाथ रखते ही मैंने किस करना बंद कर दिया और अपना चेहरा ठीक उनके चेहरे के सामने करके रुक गया. मैं भाभी की तरफ से हरी झंड़ी पाकर एकदम खुश हो गया और उन्हें झट से पकड़ कर वहीं सोफे पर किस करने लगा. फिर मुझे लगा कि एक बार पकड़ कर देखूँ, मैंने मुट्ठी खोली तो उसने मेरी हथेली में अपना लंड पकड़ा दिया.

फ़िर जब चूत ढीली हो गई, वो भी अब बहुत गर्म हो गई थी और बार-बार बोल रही थी- अब डाल दो. उसने कहा- क्या आप मुझसे मिल सकते हैं? आपसे कुछ काम है।ये बात सुन कर मैं घबरा गया.

मैं ज़ोर ज़ोर से धक्के लगाने लगा ताकि मामू भी चुदाई की आवाज़ सुन लें और समझ जाएं कि हम जाग रहे हैं.

नम्रता ने मुझे चिकोटी काटी थी, मेरे इस तरह सकपका कर देखने से वो बोली- जनाब कहां खो गए थे आप?मैं- सच कहूँ तो आपकी चूत चुदाई की याद में खो गया था. कुछ दिन बाद उसने मुझसे बोला- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है क्या?मैंने मना कर दिया- मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है. मैं तो खुद उसकी चूत घाटी में अपने लंड को रगड़ कर जन्नत की सैर कर रहा था.

मैंने आंटी को फोन किया कि आप लोग कहां हो?तो आंटी बोलीं- हम दोनों होटल पहुंच चुकी हैं. दूध जैसी गोरी-चिट्टी, लाल-गुलाबी होंठ वाली वो अप्सरा शरमाते हुए और भी हसीन लग रही थी!मैंने उसके कान में कहा- तुम तो बेहद हसीं हो हो मेरी जान …धीरे से मैंने उसके चेहरे को ऊपर किया. कुछ देर तक भैंस यूं ही गर्माती रही और भाभी उसे काबू करने के चक्कर में मेरी तरफ देख कर 4-5 बार मुस्कराईं.

कार में घर जाते वक्त या उसके घर में कुछ वक्त रुकने के समय वो जब तब मुझे टच कर देती थी.

हिंदी बीएफ चुदाई में: हालांकि वो मिडिल क्लास की लड़की है लेकिन उसने खुद को बहुत मेंटेन करके रखा हुआ है. मैंने दूसरे ही दिन मेरी फ्रेंड को कॉन्फ्रेंस में लेकर पापा से बात भी करा दी कि मैं उसके घर पर ही हूँ.

पहले तुम बताओ, तुमने अब तक कितनी लड़कियों की ली है?मैंने बताया- चार की. वो बोली- तुम मेरे लिए क्या गिफ्ट लाए?मैंने अपने बैग से एक ब्लैक कलर की बिकिनी निकाल कर उसे दी. मुझे बहुत मजा आ रहा है तुम्हें चोदने में! मैं तो तुम्हें कब से चोदने की सोच रहा था.

मगर मैं तो जानती थी कि हमारे बीच भाई-बहन वाली साधारण लड़ाई नहीं हुई है.

मैं ऐसे ही एक हाथ से पीठ और दूसरे हाथ से उसकी गांड सहलाता रहा और उसे शांत होने दिया. मैंने अपनी चैन खोलकर अंडरवियर से अपना लंड बाहर निकाला और उसको दिखाने लगा. मैंने फिर पूछा- रात को ऐसा क्या देखकर आई हो?सोनू कहने लगी- पापा ने मम्मी की बहुत जबरदस्त चुदाई की.